News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Tue Jun 27, 2017 09:19:40 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Tue Jun 27, 2017 09:19:40 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
Page#    288844 news entries  <<prev  next>>
  
Today (08:47)  चार घंटे अंधेरे में डूबा रहा नागदा रेलवे स्टेशन (www.patrika.com)
News Entry# 306629     
   Tags   Past Edits
Jun 27 2017 (08:47)
Station Tag: Nagda Junction/NAD added by The Phenomenal One~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
नागदा. शहर के रेलवे स्टेशन को 4 घंटे में अंधेरे में रहना पड़ा। कारण स्टेशन की विद्युत व्यवस्था ठप होना है। बिजली गुल होने से स्टॉल संचालकों को हजारों रुपए की आर्थिक क्षति उठानी पड़ी। दरअसल नागदा रेलवे स्टेशन पर गैस सिलेंडरों के उपयोग की मनाही है। विडंबना यह है, कि सिलेंडरों की मनाही और विद्युत व्यवस्था बार-बार ठप होने के कारण स्टॉल संचालाकों को आर्थिक नुकसान हो रहा है। ऐसा नहीं है, कि विद्युत कटौती की शिकायत स्टॉल संचालकों ने विद्युत वितरण कंपनी और स्टेशन प्रबंधन को नहीं की। स्टॉल संचालकों ने विविकं में फोन भी लगाए, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।
यह है परेशानी: रेलवे स्टेशन पर विद्युत प्रदाय विविकं द्वारा किया जाता है। हल्की सी हवा चलने पर
...
more...
स्टेशन की बिजली काट दी जाती है। साथ ही स्टेशन पर इमरजेंसी लाइट भी नहीं दी जाती। स्टॉल संचालकों का कहना है, बिजली गुल होने से यात्रियों के साथ लूट की घटना होने की आशंका बनी रहती है।
बारिश के दौरान असुविधा से बचने के लिए बिरलाग्राम क्षेत्र में सप्लाय रोक दी जाती है। बिरलाग्राम व रेलवे स्टेशन में एक ही ग्रिड से विद्युत प्रदाय किया जाता है। रविवार को तेज हवा चलने के कारण सप्लाय रोका गया।
एके जोशी, सहा. अभियंता बिजली कंपनी
  
ग्वालियर/ डबरा।लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। कविता की यहं पक्तियां डबरा स्टेशन पर कार्यरत राजू प्रसाद गौड़ के लिए एक दम सटीक हैं। राजू डबरा स्टेशन पर स्वीपर के पद पर पदस्थ हैं। स्टेशन की साफ-सफाई करते हुए मेहनत से पढ़ाई की। परिणाम टीसी की विभागीय परीक्षा मंे उन्होंने 270 अभ्यर्थियों में से झांसी मंडल में टॉप किया। अब स्टेशन पर सफाई करने वाला राजू, कोर्ट पहनकर टिकट चैक करेगा।
राजू प्रसाद गौड़ पुत्र सर्वदेव गौड़ उत्तरप्रदेश के बलिया शहर के रहने वाले हैं। वर्ष 2013 में रेलवे में स्वीपर के पद पर पदस्थ हुए। डबरा से पहले वह मुरैना रेलवे स्टेशन पर सफाई कर्मचारी के रूप में कार्य किया। लेकिन कुछ
...
more...
महीने पहले डबरा में ट्रांसफर हो गया। डबरा में सफाई के साथ-साथ उन्होंने नियमित तैयारी की। समय-समय पर विभागीय परीक्षाएं दी, बुकिंग कलर्क की परीक्षा में भी पास हो गए थे। लेकिन उनका लक्ष्य टीसी बनने का था, उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी। जनवरी माह में टीसी की विभागीय परीक्षा दी, जिसका 21 जून को रिजल्ट घोषित हुआ। जिसमें उन्होंने झांसी मंडल में टॉप किया है। राजू की सफलता पर स्टेशन मास्टर केएस मीना सहित अन्य कर्मचारियों ने बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।
बीए से ग्रेज्युएशन किया
राजू प्रसाद ने बताया कि उन्होंने आर्ट से ग्रेज्युऐशन किया है। ग्रेज्युऐशन के बाद नौकरी की तैयारी की, इस बीच 2013 में उनका सिलेक्शन रेलवे में सफाई कर्मचारी के रूप में हो गया। परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। माता-पिता के अलावा परिवार में तीन भाई एक बहिन है, सभी पढ़ाई कर रहे हैं। आिर्थक स्थिति अच्छी नहीं होने की वजह से उन्होंने ज्वाइन कर लिया। पिछले चार सालों से सफाई कर्मचारी के रूप में रेलवे में अपनी सेवाएं दी।
बुकिंग कलर्क में तीसरा स्थान आया था
टीसी के पहले राजू प्रसाद ने बुकिंग कलर्क की विभागीय परीक्षा दी थी। परीक्षा नवंबर 2016 में आयोजित हुई थी। जिसका रिजल्ट जनवरी 17 में आया। जिसमें राजू ने झांसी मंडल में तीसरा स्थान प्राप्त किया था। लेकिन राजू का उद्देश्य टीसी बनने का था, इसलिए उन्होंने बुकिंग कलर्क की ज्वाईनिंग नहीं की, और कड़ी मेहनत से तैयारी में जुटे रहे, जिससे उन्हें सफलता मिली। इस संबंध में पीआरओ मनोज कुमार का कहना है कि विभागीय टीसी की परीक्षा का रिजल्ट 21 जून को घोषित किया है। जानकारी में पता चला कि जिस अभ्यर्थी ने मंडल में टॉप किया है वह डबरा स्टेशन पर स्वीपर के पद पदस्थ था।
  
Today (08:46)  लेह में बनेगी दुनिया की सबसे ऊंची रेल लाइन (www.patrika.com)
News Entry# 306626     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के लेह में रेलवे इसी हफ्ते 498 किलोमीटर लंबी बिलासपुर-मनाली-लेह लाइन के अंतिम लोकेशन सर्वे की शुरुआत करेगा। करीब 3,300 मीटर की ऊंचाई पर बनने जा रही यह लाइन सामरिक तौर पर अहम रेल परियोजना होगी और इसे दुनिया की सबसे ऊंची रेल पटरी का दर्जा हासिल होगा। अभी दुनिया की सबसे ऊंची रेल पटरी चीन की क्विंघाई-तिब्बत रेलवे है। यह रेल नेटवर्क हर मौसम में चालू रहेगा। रक्षा मंत्रालय ने चीन सीमा के पास रेल संपर्क के लिए जिन चार अहम लाइनों की पहचान की है, यह उनमें से एक है।
27 जून को होगा अंतिम लोकेशन सर्वे के काम का उद्घाटन
रेलमंत्री
...
more...
सुरेश प्रभु अंतिम लोकेशन सर्वे के काम का उद्घाटन 27 जून को करेंगे। इस सर्वे की अनुमानित लागत 157.77 करोड़ रुपये होगी। सर्वे का वित्तपोषण रक्षा मंत्रालय करेगा। प्रस्तावित नई रेल लाइन बिलासपुर और लेह के बीच के सभी अहम स्थानों- सुंदर नगर, मंडी, मनाली, टंडी, केलोंग, कोकसर, दर्छा उप्शी और कारू- को जोड़ेगी।
अभी सिर्फ पांच महीने खुला रहता है सड़क मार्ग
अंतिम लोकेशन सर्वे की जिम्मेदारी रेल मंत्रालय के तहत आने वाले सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम राइट्स को दी गई है। रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सर्वे तीन चरणों में किया जाएगा और 2019 तक इसे पूरा किया जाना है। अभी सड़क मार्ग साल में सिर्फ पांच महीने खुला रहता है।
  
Today (08:43)  अपडेट--राजधानी, शताब्दी ट्रेनों का हुलिया बदला जाएगा (m.jagran.com)
back to top
New Facilities/Technology

News Entry# 306624     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Tushar Shandilya~  491 news posts
पहले पेज का एंकर। संदेश में बदलाव। खबर की नई कॉपी।
फ्लैग------------
रेलवे ने स्वर्ण परियोजना के तहत शुरू किया तीन महीने का कार्यक्रम
---------------
क्रॉसर-----------
-30
...
more...
प्रीमियर गाड़ियों को संवारने में खर्च होंगे 25 करोड़ रुपये
-कोच को आकर्षक बनाने से लेकर सफाई तक पर दिया जाएगा ध्यान
----------------
नई दिल्ली, प्रेट्र : रेल विभाग राजधानी और शताब्दी जैसे प्रीमियर ट्रेनों का कायाकल्प करने की योजना पर तेजी से काम कर रहा है। इसके तहत इस अक्टूबर से ट्रेनों में कैटरिंग के लिए ट्रॉली सर्विस, यूनिफॉर्म पहने विनम्र स्टाफ और यात्रा के दौरान मनोरंजन के इंतजाम किए जाएंगे। रेल यात्रा को मनोरंजक और आरामदायक बनाने के लिए रेलवे 30 प्रीमियर ट्रेनों का हुलिया बदलने जा रहा है। इनमें 15 राजधानी और 15 शताब्दी ट्रेनें शामिल हैं। इन ट्रेनों के मेकओवर पर 25 करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान है।
अक्टूबर से शुरू होनेवाले त्योहारी मौसम में ज्यादा-से-ज्यादा यात्रियों को लुभाने के लिए रेलवे ने स्वर्ण परियोजना के तहत तीन महीने का कार्यक्रम शुरू किया है। इसके तहत कोच के अंदरूनी हिस्से को आकर्षक बनाने, शौचालय व्यवस्था में सुधार और कोचों की सफाई पर ध्यान दिया जा रहा है। दरअसल, इन ट्रेनों में कैटरिंग, लेटलतीफी और शौचालय की गंदगी समेत कई तरह की शिकायतें मिलती रही हैं।
मंत्रालय ने जिन 15 राजधानी ट्रेनों का चयन मेकओवर के लिए किया है, उनमें मुंबई, हावड़ा, पटना, रांची और भुवनेश्वर जाने वाली गाड़ियां शामिल हैं। इसके अलावा हावड़ा-पुरी, नई दिल्ली-चंडीगढ़, नई दिल्ली-कानपुर, हावड़ा-रांची, आनंद विहार-काठगोदाम जैसी शताब्दी ट्रेनों को भी इसके लिए चुना गया है।
--------------
इनसेट
--------------
ट्रेनों में दिखेंगे ये बदलाव
--रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन ट्रेनों की लेट-लतीफी दूर कर इन्हें समय से चलाने के लिए विशेष कदम उठाए जाएंगे।
--इस परियोजना के तहत ट्रेनों में सुरक्षा व्यवस्था भी मजबूत करने का विचार है। इसके लिए आरपीएफ जवानों की पर्याप्त तैनाती की जाएगी।
--रेल कर्मचारियों को स्वच्छता के लिए विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। इन ट्रेनों के कर्मचारियों के लिए नया यूनिफॉर्म तैयार किया गया है।
--यात्रियों को खाना देने के लिए ट्रॉली का इस्तेमाल किया जाएगा। यात्रियों के लिए सफर के दौरान फिल्म, सीरियल और संगीत का भी इंतजाम होगा।
----------
  
Today (08:42)  जब डिब्बों को छोड़कर दौड़ने लगा ट्रेन का इंजन (www.patrika.com)
News Entry# 306623     
   Tags   Past Edits
Jun 27 2017 (08:42)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by The Phenomenal One~/1469143

Jun 27 2017 (08:42)
Train Tag: Gorakhpur - Yesvantpur SF Express/12591 added by The Phenomenal One~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
लखनऊ. गोरखपुर से लखनऊ होते हुए यशवंतपुर जा रही सुपरफास्ट ट्रेन आज लखनऊ मवैया के पास दो टुकड़ों में बंट गई। घटना के बाद हड़कंप मच गया। हालाँकि घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। कपलिंग खुलने को घटना का कारण बताया जा रहा है।
बताया जा रहा है कि लखनऊ से कानपुर की ओर जैसे ही ट्रेन रवाना हुई तो मवैया के पास ट्रेन के डिब्बे पीछे रह गए जबकि इंजन काफी आगे निकल गया। इसके बाद हड़कंप की स्थिति बन गई। तकनीकि टीम को सूचना देने के बाद उनकी मदद से ट्रेन को इंजन से जोड़कर रवाना किया गया।
बताया
...
more...
जा रहा है कि ट्रेन की कपलिंग खुल जाने से ट्रेन दो हिस्सों में बट गयी। ड्राइवर को जब पता चला तो वह इंजन को वापस लेकर आया और ट्रेन को बैक करके कपलिंग को जोड़ा गया। ट्रेन अपने निर्धारित समय से करीब 45 मिनट बाद रवाना हो सकी।
Page#    288844 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.