Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Wed Feb 22, 2017 14:51:41 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Wed Feb 22, 2017 14:51:41 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 287361
  
लखनऊ में मेट्रो का मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, उनकी पत्नी सांसद डिंपल यादव, सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव और वरिष्ठ नेता आजम खां की मौजूदगी में ट्रायल गुरुवार को शुरू हो गया। चार कोच की इस मेट्रो को सुबह करीब सवा 11 बजे सीएम ने हरी झंडी दिखाई।
लखनऊ में हुए भव्य कार्यक्रम में मुलायम सिंह ने दीप जलाकर ट्रायल का शुभारंभ किया। लखनऊ मेट्रो को ट्रायल के दो महिला पायलेट प्रतिभा और प्राची चलाएंगी। दीप प्रज्जवलित करने के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, मुलायम सिहं और सभी वरिष्ठ नेता मेट्रो पर सवार हुए।
भीतर
...
more...
जाकर उन्होंने मेट्रो के डिब्बे देखे और उसकी खासियत के बारे में जानकारी की। करीब तीन महीने तक ट्रायल के बाद लखनऊ मेट्रो मार्च के अंतिम सप्ताह में लखनऊ के बाशिंदों के लिए इस्तेमाल की जा सकेगी। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनकी सरकार के लिए लखनऊ मेट्रो प्रोजेक्ट एक बहुत की महत्वाकांक्षी योजना थी जिसे समय पर शुरू करने की पहली सीढ़ी कामयाबी से हासिल कर ली गई है। करीब तीन महीने तक मेट्रो का ट्रायल चलेगा। आम लोग 26 मार्च 2017 से ट्रांसपोर्टनगर से चारबाग तक मेट्रो में सफर कर सकेंगे।
एक जनवरी 2017 से ट्रायल रन ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग़ के बीच होगा। इसमें कुल 8 स्टेशन होंगे। मेट्रो में कुल 1100 लोग सफर कर सकेंगे। 186 लोगों को बैठने व बाकि के लोग खड़े होकर सफर करेंगे
..हर जगह सिर्फ मेट्रो के चर्चे
मेट्रो चली और हर शहरवासी के दिल पर छा गई। खुशियों के इस पल के जो गवाह बने और जो नहीं बन सके, दोनों के चेहरे पर मेट्रो शहर का बाशिंदा होने का फक्र था। एचएएल पर मोबाइल की दुकान पर टॉपअप भराने आए युवा परमुल बोले, चलिए, हमारा शहर भी अब दिल्ली के बराबर हो गया। अब बस 26 मार्च का इंतजार है जब सवारी करने का मौका मिलेगा। गोमतीनगर के पत्रकारपुरम में वरिष्ठ नागरिक एसएन शर्मा कहने लगे कि टीवी पर उसके दीदार हो गए, अब बस उसमें सवारी करने के पलों की प्रतीक्षा है। गोमतीपार के इलाकों जैसा ही जश्न का माहौल चौक में भी था। गोल चौराहे पर चर्चा कर रहे एक राजनैतिक दल के नेता अन्नू मिश्र बोले, इस सरकार ने यकीनन एक बड़ा काम किया है। लखनऊ अब वाकई में मेट्रो शहरों की श्रेणी में शामिल हो गया है। अमीनाबाद में डाकघर में पैसा निकालने आए सुशील श्रीवास्तव बोले कि हमारी भी बड़ी तमन्ना थी कि सामने से मेट्रो के दर्शन करें मगर नोटबंदी ने ऐसा फंसाकर रखा है कि यह हसरत दिल में ही रह गई। देर से आए मगर धमाका कर छा गए। सबसे अधिक खुशियां आलमबाग व सिंगारनगर में रहने वाले के चेहरे पर थीं। यहां पर हर कोई सिर्फ मेट्रो की तारीफ के पुल बांधता ही नजर आया। सदैव से लखनऊ की हर गतिविधि का गवाह रहने वाला हजरतगंज के काफी हाउस में भी मेट्रो के आने के ही चर्चे थे। लंच में जवाहर भवन से काफी पीने आए शंकर सिंह बोले कि, हमें तो 2019 का इंतजार का रहेगा जब मेट्रो हजरतगंज में दौड़ती दिखेगी।
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site