Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Sun Jan 22, 2017 17:55:33 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Sun Jan 22, 2017 17:55:33 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 287399
  
Dec 02 2016 (11:03)  मां ने जान दे बेटे को बचाया (epaper.navbharattimes.com)
back to top
Crime/AccidentsNER/North Eastern  -  

News Entry# 287399     
   Tags   Past Edits
Dec 02 2016 (11:03AM)
Station Tag: Lucknow Junction NER/LJN added by LKO के अच्छे दिन आ गए~/658575

Posted by: ~  828 news posts
निरालानगर में क्रॉसिंग के पास महिला के ट्रेन से कटने के बाद वहां लोगों की भीड़ जुट गई।•एनबीटी, अलीगंज
निरालानगर रेलवे क्रॉसिंग पर छह साल के बेटे को बचाने के लिए मां ने अपनी जान दे दी। जिस समय हादसा हुआ दोनों पटरी क्रॉस कर रहे थे। इसी दौरान ट्रेन आ गई। मां ने खुद पटरी से कूदने की जगह पहले बेटे को किनारे ढकेलने की कोशिश की। बेटा तो पटरी से दूर जा गिरा, लेकिन मां ट्रेन की चपेट में आने से कट गई। सूचना पर पहुंची यूपी 100 की टीम ने बच्चे को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।
देवरिया
...
more...
निवासी रजनीश पांडेय विवेकखंड स्थिति एक निजी बैंक में कार्यरत हैं। वह पत्नी पैजनी पांडेय (35), बेटे सानिध्य (6) और नौ साल की बेटी के साथ निरालानगर पोस्टऑफिस के पीछे किराए के मकान में रहते थे। उनकी बेटी सीएमएस अलीगंज सेक्टर बी में पढ़ती है। गुरुवार दोपहर एक बजे पैजनी बेटे के साथ उसको लेने स्कूल जा रही थीं।
वह निरालानगर फ्लाईओवर के पास पटरी पार कर रहीं थी कि इसी बीच ट्रेन आ गई। बीच पटरी पर होने के चलते पैजनी भाग नहीं पाईं, लेकिन उन्होंने बेटे सानिध्य को धक्का दे दिया। सानिध्य तो ट्रेन की चपेट में आने से बच गया, लेकिन पैजनी उसकी चपेट में आकर कट गईं। उसकी मौके पर ही मौत हो गई और गिरने के चलते बच्चे के सिर में चोट आ गई। हादसा देख लोगों की भीड़ जुट गई। इसकी जानकारी मिलते ही यूपी 100
की गाड़ी पहुंची और पुलिसकर्मी घायल बच्चे को ट्रॉमा सेंटर ले गए, जहां उसका इलाज जारी है।
शव से लिपटकर फफक पड़ा मासूम
हादसे के बाद ट्रेन आगे गुजर गई तो चोटिल सानिध्य किसी तरह मां के पास पहुंचा और शव से लिपटकर फफक पड़ा। रोते-रोते थोड़ी देर में वह बेहोश हो गया। मासूम को शव से लिपट कर रोता देख वहां मौजूद लोगों की आंखें नम हो गईं।
पत्नी की मौत सुन
बेसुध हो गए
पैजनी की मौत की खबर जब पति रजनीश पाण्डेय को मिली तो वह बैंक में बेसुध होकर गिर गए। सहकर्मियों ने उन्हें बच्चे के पास ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया।
स्कूल के गेट पर करती रही मां का इंतजार
पुलिस के मुताबिक रजनीश की बेटी सेक्टर-बी अलीगंज स्थित सीएमएस स्कूल में पढ़ती है। पैजनी बेटे सानिध्य के साथ बच्ची को लेने जा रही थी तभी हादसा हो गया। छुट्टी होने के बाद हादसे से अंजान बच्ची स्कूल के गेट पर करीब दो घंटे तक रोते हुए मां के इंतजार में खड़ी रही। काफी देर तक कोई लेने नहीं पहुंचा तो स्कूल का गार्ड उसे घर छोड़ने आया।
घायल बेटे की
हालत नाजुक
घायल सानिध्य का एक पैर टूट गया और सिर में गंभीर चोट आई है। पैजनी की मौत के शोक में डूबा परिवार ट्रॉमा सेंटर में बच्चे की जिंदगी की दुआ मांग रहा है। परिवार व बच्चे की हालत देख उसे हॉस्पिटल पहुंचाने वाले पुलिसकर्मी अबू तालिब जैदी, शिवशंकर व पीवीआर 0493 के ड्राइवर सचिन भी देर शाम तक ट्रॉमा सेंटर में ही खड़े रहे। डॉक्टरों ने बच्चे के सिर में गंभीर चोट बताई है।
मां ने जान दे बेटे को बचाया
घायल बच्चे को पुलिसकर्मियों ने पहुंचाया अस्पताल, गंभीर है हालत
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site