Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Tue Apr 25, 2017 16:28:19 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Tue Apr 25, 2017 16:28:19 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 288479
  
Dec 13 2016 (09:59)  दरभंगा में ट्रैक पर बैठकर मोबाइल देख रहे तीन युवक कटे, दो की मौत (epaper.livehindustan.com)
back to top
Other NewsECR/East Central  -  

News Entry# 288479   Blog Entry# 2089368     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: ©The Dark Lord™~  34 news posts
लहेरियासराय (दरभंगा) संवाद सूत्ररेलवे ट्रैक पर बैठ मोबाइल देखते तीन युवक सोमवार देर शाम 8:15 बजे ट्रेन की चपेट में आ गए। दो की कटने से मौत हो गयी। तीसरा युवक भी गंभीर रूप से घायल है। उसे डीएमसीएच में भर्ती कराया गया। घटना दोनार रेलवे गुमटी से सौ मीटर दक्षिण स्थित जामा मस्जिद के पास की है। मृतकों में सदर थाने के भेलुचक निवासी मो. उस्मान का पुत्र मो. उमर (20) व दोनार निवासी मो. शुयैब का पुत्र मो. सुहैल (20) शामिल हैं। बहादुरपुर थाने के मिलकीचक निवासी मो. शमीम के पुत्र मो. सागर (20) को गंभीर हालत में उसके परिजन निजी अस्पताल में ले गए। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, देर शाम समस्तीपुर से दरभंगा की तरफ डीएमयू पैसेंजर ट्रेन आ रही थी। इस बीच तीनों युवक दोनार गुमटी से सटी जामा मस्जिद के पास रेलवे ट्रैक पर बैठकर मोबाइल पर इंटरनेट सर्फिंग कर रहे थे। कुहासे व आसपास में लाउडस्पीकर...
more...
बजने के कारण उन्हें ट्रेन आने की आवाज सुनाई नहीं दी और तीनों ट्रेन की चपेट में आ गए। इसमें मो. उमर के शरीर के टुकड़े-टुकड़े हो गए। उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई। इस हादसे में घायल मो. सुहैल व मो. सागर को गंभीर हालत में डीएमसीएच में भर्ती कराया गया। वहां पर मो. सुहैल की मौत इलाज के दौरान हो गई। हादसे की सूचना मिलते ही मृतक के परिजनों में कोहराम मच गया। सभी बदहवास हाल में अस्पताल परिसर में भागते-भागते पहुंचे। मो. सागर को उसके परिजन निजी अस्पताल में ले गए, जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। बेता ओपी की पुलिस व जीआरपी अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की जांच शुरू कर दी है। आसपास के लोगों की मानें तो इन युवकों की प्रतिदिन रेल ट्रैक पर बैठकर मोबाइल देखने की आदत थी। रोज की भांति सोमवार को तीनों ट्रैक पर बैठे मोबाइल देख रहे थे। देखें ले

12 posts - Tue Dec 13, 2016 - are hidden. Click to open.

  
989 views
Dec 14 2016 (01:04)
For Better Managed Indian Railways~   1933 blog posts
Re# 2089368-13            Tags   Past Edits
Vaise lote wale mobile walon ki tulna mein kaafi alert rehte hain aur apna kaam fatafat nibta ke bhagne ki phiraak mein rehte hain. Mobile wale mobile screen/ sound mein poori tarahram jaate hainaur unhe hatne kibhi koi jaldi nahin hoti. Isi liye lote sankhya mein sau gunajyaada hote huve bhi rarely accident ka shikaar hote hain!

  
1032 views
Dec 14 2016 (01:14)
Indian Railways the life line of our Nation   14106 blog posts   137 correct pred (81% accurate)
Re# 2089368-14            Tags   Past Edits
Lota leke jaane waale to dead tracks par jayda jaate hai jaha train ka operation nahi hota.Aisa maine suna hai

  
1056 views
Dec 14 2016 (01:20)
Indian Railways the life line of our Nation   14106 blog posts   137 correct pred (81% accurate)
Re# 2089368-15            Tags   Past Edits
Bandar ke haath me Naariyal doge to kya hoga,wahi case in larko ke saath hai.

  
799 views
Dec 14 2016 (14:00)
For Better Managed Indian Railways~   1933 blog posts
Re# 2089368-16            Tags   Past Edits
So lota wallahs are actually smarter than mobile wallahs!!

  
789 views
Dec 14 2016 (14:05)
Indian Railways the life line of our Nation   14106 blog posts   137 correct pred (81% accurate)
Re# 2089368-17            Tags   Past Edits
Ha
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site