News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Tue Jun 27, 2017 13:05:16 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Tue Jun 27, 2017 13:05:16 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 289009
  
ऑन लाइन होती पीढ़ी को मोबाइल पर सुविधाएं देने के नाम पर चलाया जा रहा इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईआरसीटीसी) एवं रेलवे के तमाम ऑन लाइन जानकारी देने वाले एप इस समय लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गए हैं। टे्रनों की गलत पोजीशन बताने के लिए बदनाम ये एप इस समय शाम के पीक टाइम 05 से 08 बजे ठप चल रहे हैं। टे्रनों की पोजीशन जानने के लिए जैस ही इन एप पर सूचनाएं डाली जाती है एप इरर अथवा अंडर मेंटिनेंस बताना शुरू कर देता है।
उल्लेखनीय है कि सर्दी के मौसम के चलते उत्तर भारत से आने वाली लगभग 90 प्रतिशत टे्रनें देरी से चल रही हैं। इसके चक्कर में टे्रनों की पोजीशन जानने
...
more...
अथवा उनसे जुड़ी जानकारी के लिए अधिकांश रेल यात्री इन एप्स का उपयोग कर रहे हैं, लेकिन उन्हें सहूलियत की जगह समस्याएं ही अधिक मिल रही हैं।
टे्रन एक घंटे लेट, एप बता रहा टे्रन स्टेशन पहुंची
हबीबगंज से हजरत निजामुद्दीन को चलने वाली गाड़ी संख्या 12155 शान-ए-भोपाल एक्सप्रेस का निजामुद्दीन स्टेशन पर सुबह 08 बजे पहुंचने का समय है। यह टे्रन शनिवार को सुबह 11.50 पर पहुंची, लेकिन आईआरसीटीसी का एप नेशनल टे्रन इंक्वायरी सिस्टम इसे 2.49 घंटे की देरी से सुबह 10.49 बजे पहुंचना दिखा रहा था।
जानकारी से आधा घंटा लेट मिलेगी टे्रन
यह बात इस समय आम हो चुकी है कि यदि ट्रेन की पोजीशन नेशनल टे्रन इंक्वायरी सिस्टम (एनटीईएस) से देखी है तो उसके द्वारा बताए गए समय से कम से कम आधा घंटे की देरी से ही टे्रन स्टेशन पर मिलेगी। हालांकि वर्तमान में हालत यह है कि टे्रनों की पोजीशन ही इस एप पर अपडेट नहीं हो रही।
इनका कहना है
एप से जुड़ी हुई शिकायत अभी मेरे पास नहीं आई है। आप ने बताया है तो मैं इसकी जानकारी करवा लेता हूं।
कृष्ण कुमार सिंह, एजीएम टूरिज्म आईआरसीटीसी भोपाल

  
1769 views
Dec 18 2016 (19:37)
Poll on Fares in Indian Railways entry 2332591^~   82803 blog posts   5299 correct pred (78% accurate)
Re# 2095543-1            Tags   Past Edits
यह बात इस समय आम हो चुकी है कि यदि ट्रेन की पोजीशन नेशनल टे्रन इंक्वायरी सिस्टम (एनटीईएस) से देखी है तो उसके द्वारा बताए गए समय से कम से कम आधा घंटे की देरी से ही टे्रन स्टेशन पर मिलेगी। हालांकि वर्तमान में हालत यह है कि टे्रनों की पोजीशन ही इस एप पर अपडेट नहीं हो रही।
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.