Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Tue Apr 25, 2017 10:31:49 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Tue Apr 25, 2017 10:31:49 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 288997
  
गोरखपुर. रेलमंत्री ने बांद्रा-गोरखपुर ट्रेन को बांद्रा से रविवार को हरी झंडी दिखाई। इसके साथ ही उन्‍होंने बढ़नी के रास्ते चलने वाली बांद्रा-एलटीटी एक्सप्रेस को रोजाना चलाने का सौगात दिया। इसके बाद उन्होंने मुंबई-बांद्रा से ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये गोरखपुर-गोंडा विद्युतीकरण का लोकार्पण कि‍या। ठीक उसी समय आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलित कर गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ ने किया। सुरेश प्रभु ने क्‍या कहा...
-मुंबई के बांद्रा में रेलमंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने अपने संबोधन के दौरान योगी आदित्यनाथ आदि का नाम लेते हुए कहा की यदि वे सभी सम्मानित सदस्यों का एक-एक कर नाम गिनाएंगे तो शायद ही यह ट्रेन समय से गोरखपुर पहुंच पाए।
-मुंबई
...
more...
से गोरखपुर और गोरखपुर से मुंबई यात्रा करने वाले पैसेंजर्स के लिए यह ट्रेन सौगात है।
-देश के विकास में सबसे बड़ा योगदान किसी का होगा तो वह रेल का होगा।
-2 साल में हमने रेलवे की लाइफ लाइन के लिए क्या क्या किया है वह बताने की आवश्यकता नहीं है।
योगी ने पूर्वांचल के लिए प्रभु से की मांग
-योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले ढाई साल में गोरखपुर को सर्वाधिक योजनाएं रेल मंत्री सुरेश प्रभु और पीएम नरेंद्र मोदी ने दी है। इसके लिए दोनों बधाई के पात्र हैं।
-फर्टिलाइजर, एम्स, रामगढ़ताल परियोजनाएं आने वाले दो से तीन सालों में पूर्ण तरीके से अस्तित्व में आ जाएंगी।
-योगी ने प्रभु से मांग की कि गोरखपुर से इलाहाबाद एक नई इंटरसिटी ट्रेन चलाई जाए।
-गोरखपुर के नंदानगर रेलवे क्रासिंग पर अंडरब्रिज बनाया जाए।
-गोरखपुर की चिल्लूपार विधानसभा को गोरखपुर-सहजनवां-बांसगांव और मऊ से जोड़ा जाए।
जीएम ने क्‍या कहा
-जीएम एनईआर राजीव मिश्र ने बताया कि नई एक्सप्रेस ट्रेन बढ़नी होते हुए गोरखपुर से मुंबई बीच चलाई जाएगी.
-यह ट्रेन सप्ताह में चार दिन गोरखपुर से पनवेल, एक दिन गोरखपुर से एलटीटी और एक दिन गोरखपुर से बांद्रा के बीच चलेगी।
-रविवार को उद्घाटन के बाद पहले दिन 05067 नंबर की ट्रेन बांद्रा से स्पेशल के रूप में दोपहर 12:30 बजे से चलकर तीसरे दिन भोर में 3:15 बजे गोरखपुर पहुंचेगी।
-20 दिसंबर से यह ट्रेन गोरखपुर से नियमित निर्धारित तिथि और समय के अनुसार चलने लगेगी।
-इस ट्रेन में साधारण श्रेणी के आठ, शयनयान श्रेणी के चार और वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के दो सहित कुल 16 कोच लगाए जाएंगे।
-15065 नंबर की ट्रेन 20 दिसंबर से प्रत्येक रविवार, मंगलवार, गुरुवार और शुक्रवार को गोरखपुर से सुबह 5:30 बजे से चलकर आनंदनगर, बढ़नी, गोंडा, लखनऊ, कानपुर, झांसी, इटारसी और कल्याण होते हुए दूसरे दिन शाम 4:20 बजे पनवेल स्टेशन पहुंचेगी।
-15066 नंबर की ट्रेन 21 दिसंबर से प्रत्येक सोमवार, बुधवार, शुक्रवार और शनिवार को पनवेल से शाम 5:50 बजे से चलकर कल्याण, इटारसी, झांसी, कानपुर, लखनऊ, गोंडा और बढ़नी होते हुए तीसरे दिन सुबह 4:30 बजे गोरखपुर पहुंचेगी।
-15067 नंबर की ट्रेन प्रत्येक बुधवार को गोरखपुर से सुबह 5:30 बजे से चलकर आनंदनगर, बढ़नी, बलरामपुर, गोंडा, लखनऊ, कानपुर, झांसी और भुसावल होते हुए दूसरे दिन रात 8:05 बजे बांद्रा पहुंचेगी।
-15068 नंबर की ट्रेन प्रत्येक शुक्रवार को बांद्रा से रात 12:20 बजे से चलकर भुसावल, झांसी, कानपुर, लखनऊ, गोंडा और बढ़नी के रास्ते दूसरे दिन शाम 5:50 बजे गोरखपुर पहुंचेगी।
-15063 नंबर की ट्रेन प्रत्येक सोमवार को गोरखपुर से सुबह 5:30 बजे से चलकर बढ़नी, गोंडा, लखनऊ, कानपुर, झांसी, इटारसी और कल्याण होते हुए दूसरे दिन शाम 4:20 बजे लोकमान्य तिलक टर्मिनस पहुंचेगी।
-15064 नंबर की ट्रेन प्रत्येक मंगलवार को एलटीटी से शाम 5:50 बजे से चलकर कल्याण, इटारसी, झांसी, कानपुर, लखनऊ, गोंडा और बढ़नी होते हुए तीसरे दिन भोर में 3:15 बजे गोरखपुर पहुंचेगी।
गोरखपुर-गोंडा रेल खंड के विद्युतीकरण का लोकार्पण
-एनईआर के सीपीआरओ संजय यादव ने बताया कि गोरखपुर-गोंडा-गोरखपुर (151 किमी) रेल खंड का विद्युतीकरण का कार्य केंद्रीय विद्युतीकरण संगठन द्वारा कराया गया।
-236 करोड़ की लागत से यह कार्य स्वीकृत था।
-रेल संरक्षा आयुक्त ने 17 फ़रवरी 16 को बस्ती-डोमिनगढ़ रेल खंड का निरीक्षण कर विद्युत् ट्रेनों के संचलन की स्वीकृति प्रदान की थी।
-इसके बाद 26 अगस्त 16 को इस रूट पर 12554 दिल्ली-बरौनी एक्सप्रेस को चलाया गया।
-इस परियोजना के पूर्ण हो जाने पर बाराबंकी-गोरखपुर-छपरा कचहरी खंड (424 रूट किमी) का विद्युतीकरण पूर्ण हो गया है।
-इस लोकार्पण के बाद पूरे रूट पर इलेक्ट्रिक ट्रेनों का संचलन शुरू हो गया।
कि‍ए गए कई शिलान्यास
-इलेक्ट्रिक इंजनों के अनुरक्षण की योजना के तहत इस लोको शेड का निर्माण गोरखपुर में किया जाना है।
-2016-17 के बजट में इस शेड के लिए 89.34 करोड़ की लागत की मंजूरी दी गयी है।
-पूर्वोत्तर रेलवे का मुख्य रेल पथ बाराबंकी-छपरा खंड पर स्थित डोमिनगढ़-गोरखपुर-गोरखपुर कैंट-कुसम्ही खंड वर्तमान में दोहरी लाइन है।
-इस रेल खंड पर ट्रेनों के संचलन का काफी दबाव है।
-गाड़ियों के संचलन के दबाव को देखते हुए डोमिनगढ़-गोरखपुर-गोरखपुर कैंट-कुसम्ही खंड (15.55) किमी तीसरी लाइन एवं गोरखपुर-नकहा (5.6) किमी. दूसरी लाइन का निर्माण होना है।
-इन दोनों कार्यों के लिए सत्र 2016-17 के बजट में 186.9 करोड़ की स्वीकृति दी गई है।
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site