Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Mon Mar 27, 2017 06:50:16 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Mon Mar 27, 2017 06:50:16 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 288718
  
Dec 15 2016 (18:25)  200 की स्पीड से दौड सकेगी प्रयागराज एक्सप्रेस (www.livehindustan.com)
News Entry# 288718   Blog Entry# 2091931     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: WDP4 is King of Tracks^~  944 news posts
दिल्ली रूट पर प्रयागराज एक्सप्रेस से सफर करने वाले मुसाफिरों के लिए खुशखबरी। अप और डाउन प्रयागराज एक्सप्रेस में अब आधुनिक एलएचबी कोच लगाए जाएंगे। लिंक हॉफमन बुश (एलएचबी) कोच लगने से ट्रेन की औसत स्पीड को भी भविष्य में बढ़ाया जा सकेगा। वर्तमान में ट्रेन की औसत स्पीड 110 किलोमीटर प्रतिघंटा है। नए कोच सफर में अधिक आरामदायक और सुरक्षित होंगे। प्रयागराज में दूरंतो की तर्ज पर कोच लगाए जाएंगे। नए कोच तैयार कर लिए गए हैं। इसे ट्रेन में 18 दिसंबर से लगाया जा सकेगा। एलएचबी कोच लगने से ट्रेन की औसत स्पीड 160 किलोमीटर प्रतिघंटे होती है जबकि स्पीड को बढ़ा कर 200 किलोमीटर की रफ्तार किया जा सकता है। हालांकि रेलवे ने स्पीड बढ़ाने का निर्णय नहीं लिया है, लेकिन भविष्य में स्पीड को बढ़ाई जाएगी। स्लीपर कोच होंगे कमवर्तमान में प्रयागराज एक्सप्रेस में एसी फर्स्ट का एक, एसी थ्री के चार, एसी टू के तीन और...
more...
स्लीपर के 12 कोच होते हैँ। इसके साथ दो जनरल कोच और दो एसएलआर कोच होते हैं। ट्रेन कुल 24 कोच की रहती है। एलएचबी कोच की लंबाई अधिक होने के कारण ट्रेन में स्लीपर के दो कोच कम किए जाएंगे। यानी अब एसी फर्स्ट का एक, एसी टू के तीन, एसी थ्री के चार और स्लीपर के दो कोच होंगे। हालांकि सामान्य कोच की लंबाई कम होने के कारण स्लीपर में 72 मुसाफिर रहते थे लेकिन एचएलबी कोच लगने से 80 बर्थ होंगी।

  
859 views
Dec 15 2016 (18:26)
WDP4 is King of Tracks^~   79645 blog posts   5092 correct pred (78% accurate)
Re# 2091931-1            Tags   Past Edits
Laughing at news headline....200kmph....are you serious?

  
859 views
Dec 15 2016 (18:49)
Akshay Gupta~   399 blog posts   4 correct pred (44% accurate)
Re# 2091931-2            Tags   Past Edits
express train hai naaki talgo :P

  
794 views
Dec 15 2016 (18:54)
Indian Railways the life line of our Nation~   13073 blog posts   137 correct pred (82% accurate)
Re# 2091931-3            Tags   Past Edits
Ye Baat,,,tab to Gatimaan 220kmph ki speed se dauregi

  
786 views
Dec 15 2016 (18:55)
WDP4 is King of Tracks^~   79645 blog posts   5092 correct pred (78% accurate)
Re# 2091931-4            Tags   Past Edits
wo to fully ac hai...250 bhi ker sakti hai..
non ac ki limit crs ne 130 ki hai.

  
Dec 15 2016 (18:56)
Abhishek Jaiswal*^~   45226 blog posts   18374 correct pred (70% accurate)
Re# 2091931-5            Tags   Past Edits
This is the reason why aliens never take us!! _/\_

  
1005 views
Dec 15 2016 (18:58)
Indian Railways the life line of our Nation~   13073 blog posts   137 correct pred (82% accurate)
Re# 2091931-6            Tags   Past Edits
Stupid Idiots Paper Waale.Ye bol to aise rahe hai jaise inhone hi CRS ko 200kmph ki permission di ho

  
996 views
Dec 15 2016 (19:00)
Abhishek Jaiswal*^~   45226 blog posts   18374 correct pred (70% accurate)
Re# 2091931-7            Tags   Past Edits
AC me mamla nhi dasta just see nhln ac 2nd 3rd run se hi 130 krti aa rhi h.. coz AC me load distribution uniform hota hai but Sleeper me non uniform hota hai due boarding of WL pax and Gs ka aur b bura hota hai isiliye in trains me time lagta hai.

  
1055 views
Dec 15 2016 (19:00)
Take a bow Kuldeep Yadav~   2351 blog posts   73 correct pred (62% accurate)
Re# 2091931-8            Tags   Past Edits
Up Prayagraj aur down Prayagraj dono jab cross karegi ek doosre ko 100kmph se tab relative velocity 200kmph ho jaayegi.

  
1008 views
Dec 15 2016 (19:00)
WDP4 is King of Tracks^~   79645 blog posts   5092 correct pred (78% accurate)
Re# 2091931-9            Tags   Past Edits
ye log apna paper bechne ke liye kuch bhi likh dete hain..
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site