Timeline UpdatesTrip UpdatesNews PostsPvt Posts♥♥Travel TipsAdmin PostsConv PostsFollowed PostsChat RequestsBlog PostsPNR Posts

Disclaimer
Search
 
 
Thu Nov 27, 2014 23:56:03 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsMembersLoginFeedback
Trains in the News **new    Stations in the News **new

News Super Search        show english news only
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 76795  
  
Jun 09 2012 (6:16PM)  कच्छप गति से चल रहा आमान परिवर्तन का कार्य 9347400 (www.jagran.com)
back to top
Other NewsECR/East Central  -  

News Entry# 76795     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Ranjeet*^  4014 news posts  
लगता है कि प्रखंड की जनता 2013 के जनवरी माह से पूर्व रक्सौल-दरभंगा रेलखंड पर ट्रेन का सफर नहीं कर पाएगी, क्योंकि जिस गति से रक्सौल-छौड़ादानों के बीच पुल-पुलिया तथा स्टेशन निर्माण का कार्य कराया जा रहा है, उससे रेल विभाग द्वारा निर्धारित समय अवधि में पूरा होने की संभावना नजर नहीं आ रही है। वहीं दूसरी ओर छौड़ादानों से बैरगनिया तक आमान परिवर्तन होने के बाद भी निर्धारित समय सीमा में रेल परिचालन नहीं होने से उक्त क्षेत्र के लोगों में भारी निराशा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 2011 के 31 मार्च से आमान परिवर्तन को लेकर रक्सौल-बैरगनिया रेलखंड पर सवारी ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया। साथ ही विभाग द्वारा यह तय किया गया कि अगस्त 2012 तक रक्सौल-बैरगनिया रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन शुरू करा दिया जाएगा। इधर बैरगनिया से छौड़ादानों होते हुए झिटकहिया गांव तक आमान परिवर्तन हो चुका है, परंतु पुल संख्या 31, 33...
Read more...
पसाह नदी पुल व 36 कड़िया नदी पुल तथा आदापुर स्टेशन का निर्माण कार्य हो रहा है। निर्माण कार्य की गति देख ऐसा नहीं लगता है कि दिसबंर 2012 तक निर्माण कार्य पूरा हो सकेगा। जानकारों का कहना है कि 13 जून से जब मानसून बिहार में प्रवेश करेगा और बारिश शुरू होगी, तो पुल-पुलिया का जहां निर्माण कार्य बाधित होगा, वहीं सभी खेतों में फसल लगने के बाद मिट्टी मिलना असंभव हो जाएगा। इतना ही नहीं मजदूरों का भी अभाव हो जाएगा। इस संबंध में उप मुख्य अभियंता(निर्माण) संजय कुमार ने दूरभाष पर बताया कि डीआरएम हर हालत में इस रेलखंड पर अक्टूबर माह तक रेल परिचालन कराना चाहते है। हालांकि हमने छौड़ादानों से बैरगनिया तक रेल परिचालन के लिए सीआरएस के पास आवेदन दे दिया है। उनकी जांच के बाद ही रेल परिचालन होगा। घोड़ासहन में किए जा रहे अनशन को डीआरएम के अक्टूबर माह से रेल परिचालन कराने के आश्वासन पर समाप्त किया गया है। इससे उम्मीद जगी है कि अक्टूबर से रेल परिचालन होगा।
Scroll to Top
Scroll to Bottom