News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Fri Jun 23, 2017 18:03:49 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Fri Jun 23, 2017 18:03:49 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
Page#    19683 news entries  <<prev  next>>
  
जागरण संवाददाता, गोरखपुर : पूवरेत्तर रेलवे वाराणसी मंडल के कुसम्ही स्टेशन स्थित रेल लाइन नंबर चार पर रविवार की रात मालगाड़ी की दो बोगियों के पटरी से उतर जाने के कारण छह मालगाड़ी सहित 27 ट्रेनों का संचलन प्रभावित हुआ। अधिकतर गाड़ियां लेट चलीं, जबकि दो को मार्ग बदलकर चलाया गया। रेलवे प्रशासन ने कड़ी मशक्कत के बाद सोमवार को सुबह 6.50 बजे के आसपास मेन रेल लाइन को सही कर लिया, लेकिन इसके बाद भी कुछ ट्रेनों का संचलन प्रभावित रहा। दोपहर बाद ट्रेनों की स्थिति सामान्य हो सकी।1 प्रथम दृष्टया जांच में बोगी के पहिए में लगा ईएम (रबर पैड) का निकल जाना दुर्घटना का कारण माना जा रहा है। फिलहाल जांच के लिए सहायक स्तर के अधिकारियों की कमेटी गठित कर दी गई है। जांच के बाद ही दुर्घटना के सही कारण का पता लग पाएगा। कुसम्ही रेलवे स्टेशन पर रात 9:56 बजे के आसपास लाइन नंबर चार...
more...
में प्रवेश करते समय सीमेंट लदी मालगाड़ी अप कुसम्ही डीसी के दो वैगन (बोगी) पटरी से उतर गए थे। इसके चलते रेल लाइन पूरी तरह ब्लाक हो गई। देवरिया से गोरखपुर के जो गाड़ियां जहां थीं, वहीं खड़ी हो गईं। रेलवे प्रशासन के अनुसार रात एक बजे के आसपास अप लाइन को सही कर लिया गया। उसके बाद मैनुअल पर ट्रेनों को नियंत्रित कर पास कराया गया। डाउन लाइन भी सुबह 6:50 बजे सही हो गई। लाइन सही होने के बाद भी गाड़ियों को कासन (पांच किमी प्रति घंटा की रफ्तार) पर चलाया गया। ओवरहेड इलेक्टिक वायर को सुबह छह बजे तथा प्वाइंट्स को नौ बजे सही कर लिया गया। रात में ही गोरखपुर पहुंचने वाली 12566 बिहार संपर्क क्रांति डाउन एक्सप्रेस और 22412 नई दिल्ली-नाहरलागून सुपरफास्ट एसी एक्सप्रेस को निर्धारित मार्ग गोरखपुर-देवरिया सदर-छपरा की बजाए गोरखपुर-कप्तानगंज-थावे-सिवान-छपरा के रास्ते चलाया गया।प्रभावित होने वाली गाड़ियां 1’15007 कृषक एक्सप्रेस चौरीचौरा में 2.45 घंटे रुकी रही। यह ट्रेन 4.15 की देरी से गोरखपुर पहुंची। ’ 15909 अवध-असम को देवरिया में 3.00 घंटे रोका गया। यह ट्रेन 3.30 घंटे की देरी से गोरखपुर पहुंची। ’ 15003 चौरीचौरा अप एक्सप्रेस नियंत्रित करते हुए चलाई गई। यह ट्रेन 3.30 घंटे की देरी से गोरखपुर पहुंची। ’ 15203 बरौनी-लखनऊ एक्सप्रेस 3.30 घंटे की देरी से गोरखपुर पहुंची। ’ 11123 बरौनी-ग्वालियर एक्सप्रेस 3.30 घंटे की देरी से गोरखपुर पहुंची। ’ 15910 अवध-असम डाउन एक्सप्रेस गोरखपुर में तीन घंटे रुकी रही। छह घंटे की देरी से देवरिया पहुंची। ’ 55149 गोरखपुर-वाराणसी सवारी गाड़ी 2.30 घंटे की देरी से रवाना हुई। ’15004 चौरीचौरा एक्सप्रेस लगभग दो घंटे की देरी से इलाहाबाद के लिए रवाना हुई। ’15204 लखनऊ-बरौनी एक्सप्रेस लगभग तीन घंटे गोरखपुर में रुकी रही। ’ 55020 गोरखपुर-छपरा सवारी गाड़ी 2.45 घंटे की देरी से रवाना हुई।

  
1470 views
Jun 20 2017 (18:27)
GKP LKO Section 120kmph Sucessful Trail Done~   3449 blog posts   6 correct pred (100% accurate)
Re# 2327079-1            Tags   Past Edits
Bsk, ac sf ka loco phir Gkp mein change hua hoga?

  
1442 views
Jun 20 2017 (18:34)
☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   13920 blog posts   3056 correct pred (65% accurate)
Re# 2327079-2            Tags   Past Edits
Ha....bju exp bhi wdm se chali thi
  
Jun 20 2017 (07:30)  Trains stranded on GT route (www.thehindu.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsSCR/South Central  -  

News Entry# 305909   Blog Entry# 2326728     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  129995 news posts
The train services on the busy Grand Trunk (GT) route between Kazipet and Balharshah railway stations were disrupted for more than two hours as the signalling system was damaged in a lightning incident in Pothakapalli railway station limits of Odela mandal in the district on Monday. Following the rains, a thunderbolt struck the railway signalling system damaging it. As there was no signalling system, the railway authorities stopped the trains proceeding on either side at Peddapalli and Raghavapur railway stations causing serious inconvenience to the passengers for about two hours. The Swarna Jayanthi Express, AP Sampark Express, Kranthi Super Fast trains were stopped at Peddapalli railway station, and Bhagyanagar Express at Raghavapur railway station. The train services were restored on the route after the authorities rectified the signalling system on war-footing.

  
755 views
Jun 20 2017 (10:31)
BMTIR*^~   21422 blog posts   7514 correct pred (63% accurate)
Re# 2326728-1            Tags   Past Edits
Haha..AP sampark express & Kranthi express

  
728 views
Jun 20 2017 (10:35)
कर्नाटक संपर्क क्रांति^~   4270 blog posts   3558 correct pred (68% accurate)
Re# 2326728-2            Tags   Past Edits
LOL
  
Jun 19 2017 (22:05)  Darjeeling unrest: The story till now (www.thehindu.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNFR/Northeast Frontier  -  

News Entry# 305901   Blog Entry# 2326445     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  129995 news posts
With continued unrest being reported in Darjeeling, here is a look at the causes and consequences of the protest
The Gorkha Janmukti Morcha (GJM), last week called for an indefinite shutdown in the northern West Bengal hills. Principally targeting public offices to press for a separate state of Gorkhaland, the call for a shutdown has caused fresh uncertainty in the region which earlier seemed to be returning to normalcy with the Army deployment.
The Jan Andolan Party (JAP) and the Gorkha National Liberation Front (GNLF) on June 19 mounted pressure on the Gorkha
...
more...
Janmukti Morcha (GJM) to sever its ties with the West Bengal government, even as the situation on the fifth day of the indefinite strike called by the GJM remained tense with a near-total shutdown in the Darjeeling hills.
The protesters blocked the national highway 31A at some places in Darjeeling district to protest the death of three GJM activists.
Pro-Gorkhaland protesters raised slogans at Chowk Bazaar and burnt an effigy of Chief Minister Mamata Banerjee. All mobile Internet services remained down in Darjeeling for the second consecutive day on Monday.
The political parties in the hills hope that some relaxation in the shutdown may be announced after a local party meeting on June 20.

  
1255 views
Jun 19 2017 (22:08)
Raja lare Raja se Praja jaye jaan se~   1476 blog posts   1 correct pred (100% accurate)
Re# 2326445-1            Tags   Past Edits
NSCN, NSCN[K], ULFA KLO joined hands with GJM. GJM is now Hurriyat Conference of Kashmir.
1947 mein jab british Darjeeling ko Nepal ke pass wapas karna chaha, yeh GJM waleon ki dada pardada WB ke saath rehna chaha
  
Jun 19 2017 (20:28)  मालगाड़ी बेपटरी हुई, कई ट्रेनें फंसीं (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNER/North Eastern  -  

News Entry# 305889     
   Tags   Past Edits
Jun 19 2017 (20:28)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Jun 19 2017 (20:28)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5867 news posts
ये ट्रेनें हुईं प्रभावित
Click here to enlarge image
मालगाड़ी के पटरी से उतरने के कारण मंडुवाडीह-लखनऊ (कृषक) एक्सप्रेस को गौरीबाजार में आधा घंटा और फिर चौरीचौरा में रोकना पड़ा। लखनऊ-बरौनी एक्सप्रेस को गोरखपुर में रोकना पड़ा। इसी प्रकार अवध असम एक्सप्रेस को देवरिया सदर स्टेशन पर रोकना पड़ा।
गोरखपुर वरिष्ठ संवादाताकुसम्ही रेलवे स्टेशन के लाइन नंबर चार पर रविवार रात करीब 10 बजे
...
more...
शंटिंग के दौरान सीमेंट लदी मालगाड़ी के दो डिब्बे पटरी से उतर गए। इससे अप और डाउन ट्रैक ब्लॉक हो गये और कई यात्री ट्रेनों को अलग-अलग स्टेशनों पर रोकना पड़ा। रात एक बजे तक ट्रेनों का संचलन शुरू नहीं हो सका था। रेलवे कर्मचारी ट्रैक को खाली करने में लगे थे। रविवार रात करीब 10 बजे देवरिया की ओर से सीमेंट लदी मालगाड़ी कुसम्ही पहुंची। गाड़ी को स्टेशन के लाइन नंबर 4 पर खड़ा होना था। शंटिंग के दौरान गाड़ी का 7वां और 8वां वैगन पटरी से उतर गया। मालगाड़ी का पिछला हिस्सा मेन लाइन पर होने के कारण अप एवं डाउन लाइनें बाधित हो गईं। समाचार लिखे जाने तक मेन लाइन पर खड़े मालगाड़ी के पिछले हिस्से को काटकर लाइन क्लीयर करने की तैयारी चल रही थी। इस हिस्से के हटने के बाद दोनों मेन लाइनें और लाइन नंबर एक क्लीयर हो जाएगी। सीपीआरओ संजय यादव ने बताया कि कुछ घंटो में लाइन क्लीयर कर लिया जाएगा। परेशान रहे यात्री
कुसम्ही स्टेशन पर रविवार रात शंटिंग के दौरान मालगाड़ी पटरी से उतर गई
  
Jun 19 2017 (20:21)  देर रात घंटों खड़ी रहीं ट्रेनें, यात्री हुए परेशान रात दो बजे तक ठप रहा ट्रेनों का संचलन, चौरीचौरा स्टेशन पर रोकी गई कृषक का इंजन काटकर लाया गया कुसम्ही (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNER/North Eastern  -  

News Entry# 305887     
   Tags   Past Edits
Jun 19 2017 (20:22)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Jun 19 2017 (20:22)
Train Tag: Krishak Express/15007 added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5867 news posts
1
रात दो बजे तक ठप रहा ट्रेनों का संचलन, चौरीचौरा स्टेशन पर रोकी गई कृषक का इंजन काटकर लाया गया कुसम्ही 1
Click here to enlarge image
जागरण संवाददाता, गोरखपुर : कुसम्ही रेलवे स्टेशन पर मालगाड़ी के दो वैगन के रेल ट्रैक से उतरने के चलते रविवार की देर रात तक मुख्य रूट पर ट्रेनों का संचलन ठप रहा। आधा दर्जन से अधिक
...
more...
ट्रेनों को जहां-तहां रोकना पड़ा। विभिन्न स्टेशनों पर ट्रेनों को रोक दिए जाने से यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। देवरिया, चौरीचौरा, गोरखपुर एवं डोमिनगढ़ स्टेशनों पर रुकी ट्रेनों के यात्री गर्मी से बेहाल रहे। पानी की समस्या तो रही ही, उन्हें मच्छरों ने भी परेशान किया। उनका सफर मुश्किल भरा हो गया। 1अप व डाउन दोनों लाइनों पर ठप रहा आवागमन: कुसम्ही रेलवे स्टेशन के लाइन नंबर चार पर रात में लगभग दस बजे सीमेंट लदी मालगाड़ी के दो वैगन पटरी से उतर गए। इस दुर्घटना के बाद अप एवं डाउन लाइन पर लगभग आधा दर्जन ट्रेनों का आवागमन प्रभावित हुआ। कई ट्रेनों का मार्ग परिवर्तन भी करना पड़ा। सूचना मिलते ही पूवरेत्तर रेलवे मुख्यालय गोरखपुर से अधिकारी एवं कर्मचारी दुर्घटना सहायता यान के साथ मौके पर पहुंच गए। देर रात तक वे ट्रैक खाली कराने के प्रयास में जुटे रहे। इस रूट पर देवरिया की ओर से आ रही 15007 कृषक एक्सप्रेस को पहले गौरीबाजार में रोका गया, फिर उसे चौरीचौरा स्टेशन पर लाया गया। यहां फिर रोककर उसका इंजन कुसम्ही स्टेशन लाया गया, जिसके जरिये ट्रैक खाली कराने का प्रयास देर रात तक चला। 1बैक करने के दौरान डिरेल हुई मालगाड़ी : रविवार की रात करीब 10 बजे देवरिया की ओर से मालगाड़ी सीमेंट लेकर कुसम्ही पहुंची। उसे स्टेशन के लाइन नंबर 4 पर प्लेस होना था। प्लेस होने के दौरान कतिपय गड़बड़ी से बैक करते हुए ट्रेन का सातवां व आठवां वैगन पटरी से उतर गया। मालगाड़ी का पिछला हिस्सा मेन लाइन पर होने के कारण अप एवं डाउन लाइन बाधित हो गई। 1परेशान यात्रियों ने कहा1मुङो देवरिया जाना है। काफी देर से ट्रेन यहां खड़ी है। कुछ समझ नहीं आ रहा। बच्चे बहुत परेशान हैं। गौरव, यात्री1सुबह 10 बजे तक लखनऊ पहुंचना है। रात के एक बज रहे हैं। कृषक एक्सप्रेस कब आएगी कुछ स्पष्ट पता नहीं चल रहा। रेलवे प्रशासन भी कुछ नहीं बता पा रहा है। -राजन, यात्री 1बार-बार पूछताछ काउंटर पर जा रहा हूं। कृषक आएगी या निरस्त हो गई। कोई कुछ बता नहीं रहा। बहुत परेशान हूं। 1रामसमुझ, यात्री।जागरण संवाददाता, गोरखपुर : कुसम्ही रेलवे स्टेशन पर मालगाड़ी के दो वैगन के रेल ट्रैक से उतरने के चलते रविवार की देर रात तक मुख्य रूट पर ट्रेनों का संचलन ठप रहा। आधा दर्जन से अधिक ट्रेनों को जहां-तहां रोकना पड़ा। विभिन्न स्टेशनों पर ट्रेनों को रोक दिए जाने से यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। देवरिया, चौरीचौरा, गोरखपुर एवं डोमिनगढ़ स्टेशनों पर रुकी ट्रेनों के यात्री गर्मी से बेहाल रहे। पानी की समस्या तो रही ही, उन्हें मच्छरों ने भी परेशान किया। उनका सफर मुश्किल भरा हो गया। 1अप व डाउन दोनों लाइनों पर ठप रहा आवागमन: कुसम्ही रेलवे स्टेशन के लाइन नंबर चार पर रात में लगभग दस बजे सीमेंट लदी मालगाड़ी के दो वैगन पटरी से उतर गए। इस दुर्घटना के बाद अप एवं डाउन लाइन पर लगभग आधा दर्जन ट्रेनों का आवागमन प्रभावित हुआ। कई ट्रेनों का मार्ग परिवर्तन भी करना पड़ा। सूचना मिलते ही पूवरेत्तर रेलवे मुख्यालय गोरखपुर से अधिकारी एवं कर्मचारी दुर्घटना सहायता यान के साथ मौके पर पहुंच गए। देर रात तक वे ट्रैक खाली कराने के प्रयास में जुटे रहे। इस रूट पर देवरिया की ओर से आ रही 15007 कृषक एक्सप्रेस को पहले गौरीबाजार में रोका गया, फिर उसे चौरीचौरा स्टेशन पर लाया गया। यहां फिर रोककर उसका इंजन कुसम्ही स्टेशन लाया गया, जिसके जरिये ट्रैक खाली कराने का प्रयास देर रात तक चला। 1बैक करने के दौरान डिरेल हुई मालगाड़ी : रविवार की रात करीब 10 बजे देवरिया की ओर से मालगाड़ी सीमेंट लेकर कुसम्ही पहुंची। उसे स्टेशन के लाइन नंबर 4 पर प्लेस होना था। प्लेस होने के दौरान कतिपय गड़बड़ी से बैक करते हुए ट्रेन का सातवां व आठवां वैगन पटरी से उतर गया। मालगाड़ी का पिछला हिस्सा मेन लाइन पर होने के कारण अप एवं डाउन लाइन बाधित हो गई। 1परेशान यात्रियों ने कहा1मुङो देवरिया जाना है। काफी देर से ट्रेन यहां खड़ी है। कुछ समझ नहीं आ रहा। बच्चे बहुत परेशान हैं। गौरव, यात्री1सुबह 10 बजे तक लखनऊ पहुंचना है। रात के एक बज रहे हैं। कृषक एक्सप्रेस कब आएगी कुछ स्पष्ट पता नहीं चल रहा। रेलवे प्रशासन भी कुछ नहीं बता पा रहा है। -राजन, यात्री 1बार-बार पूछताछ काउंटर पर जा रहा हूं। कृषक आएगी या निरस्त हो गई। कोई कुछ बता नहीं रहा। बहुत परेशान हूं। 1रामसमुझ, यात्री।गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर परेशान यात्री ’ जागरणपटरी से उतरा मालगाड़ी का वैगन ’ जागरणढाई से तीन घंटे तक खड़ी रहीं ये ट्रेनें1’ 15007 कृषक एक्सप्रेस ट्रेन चौरीचौरा स्टेशन पर। ट्रैक खाली कराने केलिए इसी का इंजन काटकर कुसम्ही लाया गया। 1’ 15909 गोरखपुर आने वाली अवध असम देवरिया स्टेशन पर रोकी गई1’ 15004 चौरीचौरा एक्सप्रेस गोरखपुर जंक्शन पर खड़ी रही। 1’ 15204 लखनऊ -बरौनी पहले डोमिनगढ़ फिर गोरखपुर जंक्शन पर रोकी गई। 1’ 15910 अवध असम एक्सप्रेस गोरखपुर जंक्शन पर रोकी गई।जैसे ही दो वैगन के पटरी से उतरने की जानकारी मिली रेलवे प्रशासन ने लाइन खाली कराने का काम शुरू करा दिया। कुछ ट्रेनों का संचलन प्रभावित हुआ, लेकिन देर रात रेल यातायात सुगम हो गया। 1संजय यादव 1मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, पूवरेत्तर रेलवेकृषक के यात्रियों को हुई सर्वाधिक परेशानी 1कृषक एक्सप्रेस ट्रेन के यात्री सबसे अधिक परेशान हुए। पहले गौरीबाजार और उसके बाद चौरीचौरा में उसे रोक देने से यात्रियों को घंटों दिक्कत का सामना करना पड़ा। इसी तरह लखनऊ-बरौनी एक्सप्रेस को डोमिनगढ़ में तथा चौरीचौरा एक्सप्रेस ट्रेन को गोरखपुर में रोक दिया गया। अवध- असम एक्सप्रेस को देवरिया सदर स्टेशन पर रोकना पड़ा। 1वैगन को पटरी पर लाने का प्रयास करते रेलकर्मी ’ जागरण
Page#    19683 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.