Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Wed Apr 26, 2017 05:36:53 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Wed Apr 26, 2017 05:36:53 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   

News Posts by विश्व नाथ*^

Page#    Showing 1 to 10 of 3552 news entries  next>>
  
Jan 18 2017 (21:18)  इंदौर-पटना ट्रेन दुर्घटना में बड़ा खुलासा, ISI ने इस तरह लिखी 164 लोगों के मौत की दास्तान (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291566     
   Tags   Past Edits
Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Rura/RURA added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Ghorasahan/GRH added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Raxaul Junction/RXL added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Adapur/ADX added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Chauradano/CAO added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Bapudham Motihari/BMKI added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ ने कानपुर रेल हादसे की साजिश रची थी. यह खुलासा नेपाल व मोतिहारी पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में पकड़े गये आइएसआइ एजेंट मोती पासवान ने किया है. मंगलवार को आइएसआइ के कुल छह एजेंटों को गिरफ्तार किया गया. इनमें तीन को नेपाल व तीन को मोतिहारी पुलिस ने पकड़ा. गिरफ्तार एजेंटों में एक आदापुर बखरी के मोती पासवान ने खुलासा किया है कि कानपुर में ट्रैक का फिश प्लेट खोल कर ट्रेन को दुर्घटनाग्रस्त कराया गया था. फिश प्लेट उसने खुद खोला था. कुछ और भी साथ थे. इसके लिए नेपाल के ब्रजकिशोर गिरि ने उसे आदेश दिया था. ब्रजकिशोर दुबई में बैठे समसूल होदा से गाइड होता है. इस खुलासे के बाद एटीएस व रॉ के अधिकारी मोतिहारी के लिए रवाना हो चुके हैं. बुधवार को वे मोतिहारी पहुंचेंगे.21 नवंबर, 2016 की आधी रात...
more...
को कानपुर के पास इंदौर-पटना एक्सप्रेस बेपटरी हो गयी थी, जिससे 164 यात्री मारे गये थे.आइएसआइ के एजेंटों ने ही घोड़ासहन में ट्रैक पर आइइडी लगाया था. गिरफ्तार एंजेटों का आका नेपाल का समसूल होदा है. फिलहाल वह दुबई में छुपा हुआ है. पूर्वी चंपारण के एसपी जितेंद्र राणा ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि समसुल का साथी ब्रजकिशोर गिरि उर्फ बाबा को नेपाल पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार किया. उसकी गिरफ्तारी के बाद नेपाल पुलिस ने शंभु उर्फ लड्डू व मुजाहिद्दीन अंसारी को पकड़ा. नेपाल पुलिस की जानकारी पर मोतिहारी पुलिस ने रक्सौल गम्हरिया से उमाशंकर पटेल, आदापुर झिटकहिया के मुकेश यादव व आदापुर बखरी के मोती पासवान को गिरफ्तार किया है. समसुल होदा के इशारे पर काम करनेवाले गजेंद्र शर्मा व राकेश यादव की तलाश में छापेमारी की जा रही है. दोनों आदापुर बखरी के हैं.

एसपी के अनुसार, समसुल होदा आइएसआइ के इशारे पर भारत में हमला करने के फिराक में था. इसके लिए उसने नेपाल व उसके सीमावर्ती इलाकों के युवाओं को संगठन से जोड़ने की जिम्मेवारी नेपाल के ब्रजकिशोर गिरि को सौंपी. इस दौरान घोड़ासहन में ट्रैक को उड़ाने के लिए उसने लक्ष्मीपुर पोखरिया के दीपक राम व अरुण कुमार को तीन लाख रुपये का लालच दिया. दोनों ने ट्रैक पर आइइडी तो लगाया, लेकिन उसे ब्लास्ट नहीं करा पाये. घटना के बाद दोनों नेपाल गये.

जुबैर व शफीक ने फोटो देख मोती को पहचाना था

मोतिहारी. पाक आतंकी संगठन के लिए जुबैर व शफीक भी काम करते हैं. दिल्ली में एटीएस ने कुछ दिन पहले दोनों को गिरफ्तार किया था. उनके मोबाइल में मोती पासवान का फोटो था. पूछताछ में दोनों ने फोटो दिखा कहा कि इसी ने कानपुर में ट्रैक का फिश प्लेट खोला था. इस खुलासे के बाद जांच एजेंसियों के कान खड़े हुए. मोतिहारी व नेपाल पुलिस से संपर्क किया गया.
  
Jan 18 2017 (16:30)  असफल होने पर अरुण राम व दीपक राम को नेपाल में बुलाकर हत्या कर दी (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsECR/East Central  -  

News Entry# 291536   Blog Entry# 2131566     
   Tags   Past Edits
Jan 18 2017 (16:30)
Station Tag: Ghorasahan/GRH added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
घोड़ासहन के पश्चिमी सिग्नल के समीप 01 अक्टूबर 16 को रेलवे ट्रैक को बम से उड़ाने के प्रयास में असफल होने पर अरुण राम व दीपक राम को नेपाल में बुलाकर हत्या कर दी गयी। दोनों युवक आदापुर थाने के लक्ष्मीपुर पोखरिया गांव के निवासी थे। आईईडी विस्फोट की जिम्मेवारी दोनों युवकों को दी गयी थी। दोनों युवकों की लापरवाही से विस्फोट नहीं हो सका तो दोनों को सजा ए मौत दी गयी। दोनों आपस में चाचा भतीजा थे। सफल विस्फोट करने के लिए दस लाख रुपये दिये गये थे। विस्फोट नहीं होने के बाद दोनों को फोन कर नेपाल बुलाया गया और 27 दिसम्बर को हत्याकांड को अंजाम दिया गया। दोनों के पॉकेट से बरामद आईडी के आधार पर पहचान हुई। चाचा-भतीजे की हत्या को अंजाम देने के बाद महागढ़ी माई नगरपालिका के सेमरा तेगछिया के निवासी बृजकिशोर गिरि अपनी ससुराल पर्सा जिले के बिजबनिया गढैया में अजय गिरि के...
more...
यहां छिपकर रहने लगा। छापेमारी अभियान का नेतृत्व कर रहे नेपाल के डीएसपी चक्रराज जोशी के अनुसार इस मामले में पर्सा व बारा जिला के पुलिस टीम ने अपराधियों की खोज में छापेमारी की। छापेमारी के दौरान बदमाशों के साथ मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में बृजकिशोर गिरि को पैर में गोली लगी। नेपाल पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। उसके निशानदेही पर कलेया के मुजाहिदीन अंसारी व शंभू गिरि उर्फ लड्ड को भी नेपाल पुलिस ने गिरफ्तार किया। जख्मी बृजकिशोर को वीरगंज के नारायणी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। तीनों बदमाशों की नेपाल में गिरफ्तारी के बाद भारतीय पुलिस वहां पूछताछ के लिए गयी थी तो मोती पासवान का सुराग मिला। मोती पासवान की गिरफ्तारी के बाद कानपुर बम ब्लास्ट का खुलासा हुआ।बृजकिशोर गिरि का है आतंकी कनेक्शन: नेपाल का बृजकिशोर गिरि का आतंकी संगठन से कनेक्शन है। नेपाली बदमाशों से पूछताछ के आधार पर भारतीय पुलिस ने आदापुर थाने के गम्हरिया रक्सौल के उमाशंकर पटेल उर्फ राजू पटेल, मुकेश यादव व मोती पासवान को भारतीय पुलिस ने गिरफ्तार किया। मोती पासवान ने पूछताछ में खुलासा किया है कि बृजकिशोर गिरि का दुबई के शमसुल होदा से कनेक्शन है। शमसुल ने बृजकिशोर गिरि को रेलवे ट्रैक पर बम प्लांट करने के लिए उमाशंकर पटेल को 20 लाख रुपये व बम प्लांट करने में शामिल सभी सदस्यों को स्कॉर्पियो देने का प्रलोभन दिया। उमाशंकर पटेल ने अरुण राम, दीपक राम, मुकेश यादव, गजेन्द्र शर्मा, राकेश यादव,मुजाहिदीन अंसारी व शंभू गिरि को मिलाकर एक टीम बनायी। घोड़ासहन रेल ट्रैक पर आईईडी फिट कर अरुण राम व दीपक राम को ब्लास्ट करने की जिम्मेवारी दी गयी थी। यह ब्लास्ट उस समय करना था जब क ोई यात्री ट्रेन गुजरने वाली हो। 01 अक्टूबर 16 को ब्लास्ट करना था। ऐसी चर्चा है कि अरुण व दीपक का विस्फोट करने का हृदय स्वीकार नहीं किया। वह दोनों युवक ब्लास्ट नहीं कर सके। जब ब्लास्ट नहीं हुआ तो इसकी सूचना बृजकिशोर गिरि को मिली, तो वह आक्रोशित हो गया। उमाशंकर पटेल को फोन पर कई तरह की धमकी दी। शीघ्र रुपये वापस करो नहीं तो अंजाम खराब होगा। फोन का रेकाडिंग भारतीय पुलिस के पास उपलब्ध है। इसी बातचीत के दौरान कानपुर में भी बम प्लांट करने की बात का खुलासा हुआ था। फिर नयी योजना बनी और मोती पासवान को कानपुर में बम प्लांट करने के लिए बुलाकर ले जाया गया। कानपुर हादसे के बाद बृजकिशोर गिरि जब लौट कर नेपाल आया तो दीपक व अरुण को बुलकार हत्या कर दी।

  
2373 views
Jan 18 2017 (17:42)
For Better Managed Indian Railways~   1933 blog posts
Re# 2131566-1            Tags   Past Edits
Aatankiyon ki kayra paddhati- "Karo ya maro"!
  
ईदौर-पटना और सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस ट्रेनें आतंकी साजिश की वजह से दुर्घटनाग्रस्त हुई थीं। इसके पीछे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ सामने आया है। नेपाल और सउदी अरब में बैठे एजेंटों की मदद से आईएसआई ने इसे अंजाम दिया। मोतिहारी से तीन युवकों की गिरफ्तारी के बाद यह सनसनीखेज खुलासा हुआ है। बिहार एटीएस समेत कई एजेंसियां जांच में जुटी हैं। पूर्वी चंपारण के एसपी जितेन्द्र राणा ने मंगलवार को बताया कि सीमा से पकड़े गए मोती लाल पासवान से कई महत्वपूर्ण जानकारी हाथ लगी है। कानपुर ट्रेन हादसे में मोती सक्रिय रूप से शामिल था। इससे पहले पूर्वी चंपारण में भी उसने ट्रैक उड़ाने की साजिश रची थी। इस आतंकी साजिश का खुलासा घोड़ासहन में 1 अक्टूबर को रेलवे ट्रैक पर मिले बम की तहकीकात के दौरान हुआ है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक कुछ माह पूर्व घोड़ासहन के पास एक प्रेशर कुकर बम मिला था। इसे भी रेलवे ट्रैक को...
more...
उड़ाने के लिए लाया गया था। इसकी जिम्मेदारी उमाशंकर, दीपक और अरुण नाम के तीन युवकों को आईएसआई के नेपाल में बैठे एजेंट ने अपने शार्गिदों के जरिए दी थी। हालांकि घटना से ठीक पहले युवकों को गलती का एहसास हुआ और उन्होंने वारदात को अंजाम नहीं दिया। इसके बाद तीनों ने अपना मोबाइल बंद कर लिया और वहां से चले गए। गिरफ्तार युवकों ने किया खुलासा: जितेंद्र राणा ने बताया कि रेलवे ट्रैक पर मिले बम के अनुसंधान के दौरान पुलिस ने मोती लाल , मुकेश और उमाशंकर को गिरफ्तार किया गया है। मोती ने पुलिस को बताया कि घोड़ासहन में ट्रैक उड़ाने के लिए नेपाल के बृजकिशोर गिरि को 20 लाख रुपये दिए गए थे। दुबई में बैठे आईएसआई एजेंट शमशुल होदा ने यह प्लान किया था। ट्रैक उड़ाने का काम उमाशंकर के अलावा दीपक और अरुण को दिया गया था। घोड़ासहन में घटना नहीं होने के बाद मोती को कानपुर में बम प्लांट करने के लिए बुलाया गया। इसके लिए उसे दो लाख मिले। कानपुर में कामयाबी के बाद मोती इंदौर व बाद में दिल्ली गया। वहां से नेपाल चला गया। काफी दिनों बाद वह अपने गांव पहुंचा। देखें ।
बॉर्डर से पकड़े गए अपराधियों के बारे में जानकारी देते मोतिहारी एसपी जितेन्द्र राणा।
घोड़ासहन में सफल नहीं होने पर आईएसआई के एजेंट ने अपने लोगों के जरिए युवकों को नेपाल बुलवाया। उमाशंकर तो नहीं गया पर दीपक व अरुण खाने-पीने के नाम पर वहां चले गए। राजफाश न हो इसके लिए दोनों की आईएसआई एजेंट ने हत्या करवा दी।
एसपी के मुताबिक मोती ने कानपुर हादसे के मामले में दिल्ली से गिरफ्तार जियाउर और जुबैर की तस्वीर से पहचान की है। बताया कि दोनों उसके साथ कानपुर की घटना में शामिल थे। मोती से पूछताछ के लिए एनआईए, रॉ और आईबी की टीम मोतिहारी आ चुकी है। वहीं नेपाल में उसके तीन साथी बृजकिशोर गिरी, मुजाहिदीन अंसारी और शंभू गिरि को गिरफ्तार किया गया है। इनकी गिरफ्तारी के बाद ही मोती और उसके दो साथी पकड़े गए हैं।
नवंबर16 को हुआ था इंदौर-पटना ट्रेन हादसा 149 की मौत हुई थी
ट्रेन हादसों की साजिश में शमशुल होदा नामक के आईएसआई एजेंट की भूमिका सामने आई है। वह नेपाल की नागरिकता ले चुका है। उसने नेपाल के आईएसआई एजेंट का संपर्क बृजकिशोर गिरी उर्फ परमेश्वर गिरी से कराया था। परमेश्वर, नेपाल में बैठे आईएसआई एजेंट और भारत के बेरोजगार युवकों के बीच कड़ी है। परमेश्वर ने ही मोती और उसके साथियों को आतंकी घटनाओं के लिए तैयार किया था। नेपाल में आईएसआई के लिए काम कर रहे एजेंट के नाम का खुलासा गिरफ्तार युवक नहीं कर पा रहे।
दिसंबर 16 को हुआ था सियालदह-अजमेर ट्रेन हादसा, 95 जख्मी हुए थे
  
बीते दिनों कानपुर में हुई ट्रेन दुर्घटनाओं में आइएसआइ की संलिप्तता थी। आइएसअाइ ने बिहार के घाड़ासहन में भी ट्रेन को उड़ाने की साजिश रची थी, जो नाकाम रही। यह सनसनीखेज खुलासा बिहार पुलिस ने मंगलवार को किया।बिहार पुलिस के इस खुलासे के बाद उत्तर प्रदेश एटीएस की टीम बिहार के मोतिहारी पहुंच चुकी है। यह टीम गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ करेगी।उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए रेल हादसों व पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन स्टेशन के पास इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइईडी) लगाने की साजिश के पीछे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ थी। बीते दिन मोतिहारी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर अपराधियों ने यह स्वीकर किया।बताते चलें कि इंदौर से पटना जा रही ट्रेन इंदौर-राजेन्द्र नगर एक्सप्रेस पिछले साल 20 नवंबर में दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। इसमें 142 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद कानपुर में ही रूरा के पास अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी।
गिरफ्तार
...
more...
अपराधियों में शामिल मोती पासवान ने बताया कि दुबई के अप्रवासी नेपाली कारोबारी शमशुल होदा ने उसे ट्रेन को दुर्घटनाग्रस्त करने की जिम्मेवारी सौंपी थी। घोड़ासान में 01 अक्तूबर को ट्रेन दुर्घटना के टल जाने पर के बाद उसने कानपुर में इंदौर-पटना तथा अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस को उड़ाने की जिम्मेवारी दी थी। मोती के अनुसार शमशुल आइएसआइ के लिए काम करता है। उसके नेटवर्क में कई बड़े आतंकवादी भी हैं।
ट्रेन हादसा : जब बूढ़ी मां की छड़ी ने बचा ली पूरे परिवार की जान...जानिए
मोती पासवान ने बताया कि कानपुर में 20 नवंबर 2016 को हुए रेल हादसे की साजिश आइएसआइ ने रची थी। उसे अंजाम देने में उसके साथ ऑर भी लोग थे। उनमें से दो जुबैर व जियायुल दिल्ली में पकड़े जा चुके हैं। पूर्वी चंपारण के एसपी जितेन्द्र राणा के समक्ष उसने दोनों की तस्वीर देखकर पहचान की।
मोती ने बताया कि कानपुर से पहले पूर्वी चंपारण जिले के घोड़ासहन स्टेशन के पास रेल ट्रैक व चलती ट्रेन को उड़ाने की साजिश भी आइएसआइ ने रची थी। इसके लिए नेपाल में गिरफ्तार ब्रजकिशोर गिरी ने आदापुर निवासी अरुण व दीपक राम को तीन लाख रुपये दिए थे।
अजमेर-सियालदह एक्स. दुर्घटनाग्रस्त, हेल्पलाइन नंबर जारी
मोती के अनुसार अरुण व दीपक राम ने आइईडी लगाने के बाद भी रिमोट का बटन नहीं दबाया। इस कारण विस्फोट नहीं हो सका और विध्वंसात्मक कार्रवाई की साजिश नाकाम हो गई थी। मोती ने साफ किया कि घटना को अंजाम नहीं देने के कारण नेपाल बुलाकर ब्रजकिशोर ने अरुण व दीपक की हत्या कर शव को फेंक दिया था।
दाउद की भी संलिप्तता से इंकार नहीं
पूर्वी चंपारण के एसपी जितेंद्र राणा ने पकड़े गए मोती पासवान, उमाशंकर प्रसाद व मुकेश यादव के बारे में बताया कि उनके आइएसआइ से लिंक के प्रमाण मिले हैं। इंटेलिजेंस ब्यूरो की टीम सभी से पूछताछ कर चुकी है। रॉ व एनआइए को इस आशय की सूचना भेजी गई है। एसपी ने इस साजिश के पीछे दाउद इब्राहिम का हाथ होने की आशंका से भी इंकार नहीं किया।
एसपी ने बताया कि इस सिलसिले में तीन लोग नेपाल में भी गिरफ्तार किए गए हैं। उनमें नेपाल के कलेया निवासी ब्रजकिशोर गिरी, शंभू उर्फ लड्डू और मोजाहिर अंसारी शामिल हैं। नेपाल पुलिस से जो जानकारी आई है, उसमें बताया गया है कि आइएसआइ ने बिहार में विध्वंसात्मक कार्रवाई का जिम्मा ब्रजकिशोर गिरी को दे रखा था और उसे इसके लिए 30 लाख रुपये भी दिए गए थे।
रेल राज्यमंत्री ने कहा, पूछताछ जारी
रेलवे राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि मोतीहारी से गिरफ्तार अपराधियों का पुखरायां ट्रेन हादसे में भी हाथ था। उनसे पूछताछ की जा रही है।
  
Jan 17 2017 (22:09)  इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसा बम धमाके से हुआ, ISI की थी साजिश! (www.livehindustan.com)
News Entry# 291468   Blog Entry# 2130705     
   Tags   Past Edits
Jan 17 2017 (22:10)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 17 2017 (22:10)
Station Tag: Ghorasahan/GRH added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 17 2017 (22:10)
Train Tag: Indore - Rajendranagar Express (via Sultanpur)/19313 added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
कानपुर के पास पुखरायां में 20 नवंबर को इंदौर पटना एक्सप्रेस दुर्घटना एक आतंकी संगठन आईएसआई की साजिश थी। भारत-नेपाल सीमा पर गिरफ्तार मोती पासवान ने पूछताछ में यह खुलासा किया है बम विस्फोट से ट्रेन हादसा हुआ। मोतिहारी एसपी जितेन्द्र राणा ने मंगलवार को बताया कि कानपुर ट्रेन हादसे में मोती सक्रिय रूप से शामिल था।एसपी ने बताया कि घोड़ासहन में 01 अक्तूबर 2016 को रेलवे ट्रैक से बरामद आईईडी के मामले में मोती पासवान, मुकेश शर्मा व उमाशंकर पटेल को आदापुर से गिरफ्तार किया गया है। मोती ने खुलासा किया है कि बम प्लांट का नेतृत्व दुबई में बैठे शमशुल ने किया था। नेपाल के बृजकिशोर गिरि को 20 लाख रुपये देकर घोड़ासहन में बम प्लांट की जिम्मेवारी दी गई थी। घोड़सहन में असफल होने पर मोती को कानपुर में बम प्लांट करने के लिए ले जाया गया। इसके लिए उसे दो लाख रुपये मिले। कानपुर में सफल होने...
more...
के बाद इंदौर और उसके बाद दिल्ली गया। दिल्ली के बाद वह नेपाल में भी कुछ दिनों तक छिपकर रहा।

7 posts - Tue Jan 17, 2017 - are hidden. Click to open.

  
2103 views
Jan 18 2017 (09:37)
Guest: 52ad97b9   show all posts
Re# 2130705-9            Tags   Past Edits
aaye din accidents ho rahe hain kya sab mei bomb blast hua sarkar ki ke kaam karne ke tareeqe per hansi aa rahi hai
  
Jan 16 2017 (16:38)  जल्द ही मेट्रो शहरों को टक्कर देगा मुजफ्फरपुर जंक्शन (www.livehindustan.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 291366   Blog Entry# 2129302     
   Tags   Past Edits
Jan 16 2017 (16:38)
Station Tag: Muzaffarpur Junction/MFP added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
मुजफ्फरपुर रेलवे जंक्शन आने वाले दिनों में मेट्रो शहर को टक्कर देगा। जंक्शन को विकसित करने के लिए रेलवे रूपरेखा तैयार की है। जंक्शन पर पीपीपी मोड के तहत अस्पताल, शैक्षणिक संस्थान, कॉर्पोरेट हाउस, होटल, मॉल के साथ सर्विस अपार्टमेंट व ऑफिस बनाए जायेंगे। इसके लिए पेशेवरों की टीम जंक्शन परिसर का सर्वे करेगी।टीम में स्वतंत्र आर्किटेक्ट, रियल एस्टेट विशेषज्ञ व मार्केट एक्सपर्ट शामिल होंगे। टीम गठन को लेकर कवायद शुरू कर दी गयी है। टीम खाली जगहों के अलावा जंक्शन के ऊपरी हिस्से (एयर स्पेस) का सर्वे कर रेलवे को अपनी रिपोर्ट देगी। निर्माण कार्यों पर एक हजार करोड़ रुपये खर्च का अनुमान है। रेलवे ने मुजफ्फरपुर जंक्शन को गुजरात के गांधीनगर स्टेशन की तर्ज पर विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने की योजना तैयार की है।
तैयारी
...
more...
शुरू
-खाली जगहों व एयर स्पेस में खोले जायेंगे मॉल, होटल व कॉर्पोरेट हाउस
-आर्किटेक्ट, रीयल एस्टेट व मार्केट एक्सपर्ट करेंगे जंक्शन परिसर का सर्वे
-पीपीपी मोड के तहत गांधीनगर स्टेशन की तरह जंक्शन का होगा विकास
01हजार करोड़ रुपये खर्च का अनुमान
बहुमंजिलीय टावर पर बनेंगे होटल व मॉल
मुजफ्फरपुर जंक्शन पर कई बहुमंजिलीय टावर बनाये जाने की योजना है। उपरी मंजिल में अस्पताल, शैक्षणिक संस्थान, मॉल व बाजार होंगे। वहीं भूतल में बस स्टैंड व पार्किंग की सुविधा होगी। यहां से आसपास के जिलों के लिए बसें खुलेंगी। ट्रैफिक का दबाव कम करने के लिए कई समानांतर रूट भी तैयार किए जायेंगे।
36स्टेशनों पर पीपीपी मोड से आर्थिक केंद्र
प्रथम चरण में मुजफ्फरपुर समेत तीन शहर शामिल
पूर्व मध्य रेलवे के 36 स्टेशनों पर पीपीपी मोड के तहत आर्थिक केंद्र खोले जाने की योजना है। प्रथम चरण में मुजफ्फरपुर समेत तीन शहरों का चयन किया गया है। इसमें पटना साहिब व बक्सर भी शामिल हैं। उत्तर बिहार की अघोषित राजधानी होने के कारण मुजफ्फरपुर का चयन किया गया है। जंक्शन के आसपास तेजी से खुल रहे अस्पताल, शैक्षणिक संस्थान व होटलों को लेकर भी रेलवे उत्साहित है।
मुजफ्फरपुर जंक्शन पर गांधीनगर की तर्ज पर आर्थिक केंद्र खोले जाने की योजना है। इसके लिए कवायद शुरू कर दी गयी है। स्वतंत्र पेशेवरों की टीम जंक्शन परिसर का सर्वे कर रिपोर्ट देगी।
-दिलीप कुमार, सीनियर डीसीएम

5 posts - Mon Jan 16, 2017 - are hidden. Click to open.

  
2328 views
Jan 16 2017 (17:44)
विश्व नाथ*^   16774 blog posts   268 correct pred (76% accurate)
Re# 2129302-6            Tags   Past Edits
नया टर्मिनल ज़माने से लटका हुआ है और शहर से बाहर है, अगर वहीं से ट्रेन मुजफ्फरपुर आई तो फिर वही ढाक के तीन पात और अगर बाहर गई तो सर मोतिहारी-सीतामढ़ी जायेगी.
वहां जाना भी मुसीबत होगा बाकी शहर के लिए.

  
2645 views
Jan 16 2017 (17:46)
Indian Railways the life line of our Nation~   14106 blog posts   137 correct pred (81% accurate)
Re# 2129302-7            Tags   Past Edits
junction se bas 5km door hoga new term..aur train dono se chalegi,junction se bhi aur terminal se bhi

  
2525 views
Jan 16 2017 (18:25)
विश्व नाथ*^   16774 blog posts   268 correct pred (76% accurate)
Re# 2129302-8            Tags   Past Edits
मैंने देखी है वो जगह.

  
2527 views
Jan 16 2017 (18:27)
Indian Railways the life line of our Nation~   14106 blog posts   137 correct pred (81% accurate)
Re# 2129302-9            Tags   Past Edits
ok theek hai,bhale hi Muzaffarpur se thori doori par terminal station ho but patna jitna 65km door to nahi hoga na.Patna jaake train lene se accha hai 10-15km terminal station jaake train board kare.Nothing big issue

  
2384 views
Jan 16 2017 (20:50)
Danraj Kumar Choudhary   48 blog posts
Re# 2129302-10            Tags   Past Edits
Muzaffarpur junction ki south entrance ke pass bahut khali jaga hai agar bathlar ko kahe sift kar de to woha new waching pitch n sick line bana kar 2 new platfrom bana sakte hai

  
2624 views
Jan 16 2017 (20:55)
विश्व नाथ*^   16774 blog posts   268 correct pred (76% accurate)
Re# 2129302-11            Tags   Past Edits
आपने गौर किया ? की ये जो तथा कथित विस्वस्तरिये वाला पलान है उसमे रेल छोड़ कर सब कुछ है ?
आप बटलर को शिफ्ट करने को कह रहे हो ये तो जोर्ज फर्नांडिस के ख़याल में भी नही आया.
जो जगह है उसमें ज्यादा कुछ नहीं हो सकता इसीलिए नया मुजफ्फरपुर प्लान किया गया था.
अब जब की रेल का विस्तार बोर्डर एरिया
...
more...
तक हो गया है और जो बचे हैं वे भी जुड रहे हैं तो क्यों मुजफ्फरपुर या दरभंगा से ही ट्रेन चले ?
अगर ट्रेन जोगबनी, सहरसा, रक्सौल, जयनगर, कटिहार अदि जाघों से बरास्ता दरभंगा और मुजफ्फरपुर चले तो क्या बुरा है ?
दरभंगा मुजफ्फरपुर से चुनिन्दा और बाकी जाघों से जन साधारण चलनी चाहिए.

  
2663 views
Jan 16 2017 (21:11)
Danraj Kumar Choudhary   48 blog posts
Re# 2129302-12            Tags   Past Edits
Currently butler chal rahe hai ye band hai

  
2661 views
Jan 16 2017 (21:13)
Danraj Kumar Choudhary   48 blog posts
Re# 2129302-14            Tags   Past Edits
Currently butler chal rahe hai ye band hai

  
2559 views
Jan 16 2017 (22:15)
विश्व नाथ*^   16774 blog posts   268 correct pred (76% accurate)
Re# 2129302-15            Tags   Past Edits
मुजफ्फरपुर वाले बताएँगे.

  
2373 views
Jan 16 2017 (22:15)
विश्व नाथ*^   16774 blog posts   268 correct pred (76% accurate)
Re# 2129302-16            Tags   Past Edits
ट्रेन तो दिल्ली से भी एक्सटेंड हुई है.
  
Jan 16 2017 (16:36)  रेलवे ट्रैक पर सेल्फी के चक्कर में ट्रेन की चपेट में आए दो छात्र, मौत (www.livehindustan.com)
back to top
Commentary/Human InterestNR/Northern  -  

News Entry# 291365   Blog Entry# 2129747     
   Tags   Past Edits
Jan 16 2017 (16:36)
Station Tag: Shivaji Bridge/CSB added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 16 2017 (16:36)
Station Tag: Tilak Bridge/TKJ added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 16 2017 (16:36)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 16 2017 (16:36)
Station Tag: Mandawali-Chander Vihar/MWC added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
पूर्वी दिल्ली में सेल्फी के चक्कर में दो छात्रों की मौत का मामला सामने आाय है। आनंद विहार मे रेलवे ट्रैक पर सेल्फी लेने वाले दो छात्रों की ट्रेन की चपेट मे आने से मौत हो गई।इस मामले में पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। इस मामले में दिल्ली पुलिस मरने वाले दोनों छात्रों के दोस्तों से पूछताछ कर रही है।बताया जा रहा है कि दोनों छात्र मयूर विहार में रहते हैं और सोमवार को रोजाना की तरह वह स्कूल के लिए निकले थे। हालांकि इस मामले में अभी परिवार के लोग कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। इस घटना के बाद से दोनों परिवार में मातम का माहौल है।
एक रिपोर्ट के
...
more...
अनुसार, साल 2015 में भारत में सेल्फी लेने के चक्कर में 76 लोगों ने अपनी जान गवांई थी। रिपोर्ट में पाकिस्तान का नंबर दूसरा है। वहां नौ लोगों की मौत इस वजह से हुई। अमेरिका में 8 मौत हुई। वहीं रूस में 6 लोगों ने इस वजह से जान गवां दी। इस तरह ये दोनों देश इस लिस्ट में तीसरे और चौथे नंबर पर हैं। चीन ने सेल्फी के चक्कर में अपने 4 नागरिकों को खोया है।

  
2167 views
Jan 17 2017 (00:11)
KODAIKANAL Princess of Hills*^~   30569 blog posts   3126 correct pred (69% accurate)
Re# 2129747-1            Tags   Past Edits
RIP students.

  
2138 views
Jan 17 2017 (00:43)
19027 Vivek Express^~   3697 blog posts   292 correct pred (53% accurate)
Re# 2129747-2            Tags   Past Edits
so sad. 👏👏👏
  
Jan 16 2017 (16:36)  रेलवे ट्रैक पर सेल्फी के चक्कर में ट्रेन की चपेट में आए दो छात्र, मौत (www.livehindustan.com)
back to top
Commentary/Human InterestNR/Northern  -  

News Entry# 291364     
   Tags   Past Edits
Jan 16 2017 (16:36)
Station Tag: Shivaji Bridge/CSB added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 16 2017 (16:36)
Station Tag: Tilak Bridge/TKJ added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 16 2017 (16:36)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 16 2017 (16:36)
Station Tag: Mandawali-Chander Vihar/MWC added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
पूर्वी दिल्ली में सेल्फी के चक्कर में दो छात्रों की मौत का मामला सामने आाय है। आनंद विहार मे रेलवे ट्रैक पर सेल्फी लेने वाले दो छात्रों की ट्रेन की चपेट मे आने से मौत हो गई।इस मामले में पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। इस मामले में दिल्ली पुलिस मरने वाले दोनों छात्रों के दोस्तों से पूछताछ कर रही है।बताया जा रहा है कि दोनों छात्र मयूर विहार में रहते हैं और सोमवार को रोजाना की तरह वह स्कूल के लिए निकले थे। हालांकि इस मामले में अभी परिवार के लोग कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। इस घटना के बाद से दोनों परिवार में मातम का माहौल है।
एक रिपोर्ट के
...
more...
अनुसार, साल 2015 में भारत में सेल्फी लेने के चक्कर में 76 लोगों ने अपनी जान गवांई थी। रिपोर्ट में पाकिस्तान का नंबर दूसरा है। वहां नौ लोगों की मौत इस वजह से हुई। अमेरिका में 8 मौत हुई। वहीं रूस में 6 लोगों ने इस वजह से जान गवां दी। इस तरह ये दोनों देश इस लिस्ट में तीसरे और चौथे नंबर पर हैं। चीन ने सेल्फी के चक्कर में अपने 4 नागरिकों को खोया है।
  
Jan 16 2017 (15:44)  टला हादसा : जनशताब्दी एक्स बाल-बाल बची डीजल इंजन पायलट 18681 के तीन जोड़े पहिए डीडी तीन हैंड पांइट पर पटरी से उतर गये (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsECR/East Central  -  

News Entry# 291358     
   Tags   Past Edits
Jan 16 2017 (15:44)
Station Tag: Taregna/TEA added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 16 2017 (15:44)
Train Tag: Patna - Gaya MEMU/63243 added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 16 2017 (15:44)
Train Tag: Patna - Ranchi Jan Shatabdi Express/12365 added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
पटना-गया रेलखंड के तारेगना स्टेशन के एडवांस स्टार्टर के पास रविवार की सुबह अप ट्रैक में करीब एक इंच दरार आ गयी . इससे 2365 अप जनशताब्दी एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बच गयी. हालांकि, रेल अधिकारी की सतर्कता से किसी तरह का कोई हादसा नहीं हो सका. सूचना पाकर मौके पर जहानाबाद से पीडब्ल्यूआइ की टीम पहुंची और उस दरार को तत्काल अस्थायी रूप से ठीक किया. इसके बाद ट्रेनों का परिचालन शुरू हो सका. इस बीच 63243 अप सवारी गाड़ी तारेगना स्टेशन पर करीब 45 मिनट खड़ी रही.

जानकारी
...
more...
के मुताबिक रविवार की सुबह तारेगना स्टेशन के एडवांस स्टार्टर के पास अप ट्रैक पर 30-13 किमी व 30-15 किमी के बीच करीब एक इंच दरार आ गयी. इसके कुछ देर पहले ही 2365 अप जनशताब्दी एक्सप्रेस वहां से गुजरी थी. रेल पटरी में दरार आते ही स्टेशन के पैनल में रेड सिगनल होने लगा. इससे पटरी में गड़बड़ी की आशंका होने पर स्टेशन प्रबंधक शीतल प्रसाद चौधरी ने सिगनल मेंटेनर रंजीत सिंह को बुलाया और उससे ट्रैक सर्किट के अंदर कहीं पटरी फ्रैक्चर होने की आशंका जतायी.

इधर, ट्रैक की पेट्रोलिंग कर रहे कीमैन मोहन प्रसाद की नजर पटरी में आयी दरार पर पडी. उसने इसकी सूचना स्टेशन प्रबंधक को दी. इसी बीच 63243 अप सवारी गाड़ी तोरगना स्टेशन पर आ गयी. उसे तारेगना स्टेशन पर ही रोक दिया गया. इधर, ट्रैक फ्रैक्चर होने की सूचना जहानाबाद पीडब्ल्यूआइ को दी गयी. मौके पर पीडब्ल्यूआइ (रेल पथ निरीक्षक) एनके सिन्हा दल-बल के साथ पहुंचे और पटरी के फ्रैक्चर को फीश प्लेट लगा कलैंप व बोल्ट से कस कर अस्थायी रूप से परिचालन लायक बनाया . इसके बाद ही 63243 अप समेत अन्य अप ट्रेनों को कौशन में चलाया गया.

इस बाबत रेल पथ निरीक्षक ने बताया कि दरार पड़ी पटरी को स्थायी रूप से दुरुस्त करने के लिए वहां 20 फुट पटरी बदलनी पड़ेगी. आज नवादा में जीएम का कार्यक्रम होने के कारण बल की कमी है. इस कारण सोमवार को उसे पूरी तरह दुरुस्त कर दिया जायेगा. रेल पथ निरीक्षक ने बताया कि अधिक ठंड अथवा अधिक गरमी पड़ने से पटरी में दरार आ जाती है.

गोरगावां गोदाम के पास की घटना

खगौल. रविवार की रात दानापुर स्टेशन के गोरगावां सीमेंट गोदाम में डीजल इंजन पायलट 18681 के तीन जोड़े पहिए डीडी तीन हैंड पांइट पर पटरी से उतर गये. यार्ड पायलट डीडी शेड से मालगाड़ी का रैक को लाने जा रहा था. इस दौरान इंजन का पहिया गिर गया. घटना में किसी के जख्मी होने की सूचना नहीं है. जानकारी होने के बाद रेलवे और आरपीएफ के अधिकारी घटनास्थल पहुंच जांच में जुट गये. कारणों का पता नहीं चल सका है. देर रात तक इंजन को पटरी पर लाने का प्रयास जारी था . मेन लाइन से अलग होने के कारण ट्रेनों का परिचालन प्रभावित नहीं हुआ. दानापुर मंडल के जनसंपर्क अधिकारी ने बताया की घटना रात 19:45 के करीब हुई है. जांच की जा रही है.
  
Jan 15 2017 (12:58)  रेल फैक्ट्री निर्माण कंपनी के अफसर से मांगी रंगदारी (epaper.livehindustan.com)
back to top
Commentary/Human InterestNER/North Eastern  -  

News Entry# 291281   Blog Entry# 2128150     
   Tags   Past Edits
Jan 15 2017 (12:58)
Station Tag: Marhaura/MEW added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
मढ़ौरा के ताल-पुरैना मिर्जापुर में रेल इंजन फैक्ट्री निर्माण कंपनी एसपीसीएल के प्रोजेक्ट डायरेक्टर से पिस्तौल का भय दिखाकर रंगदारी मांगी गयी है। इस दौरान उनकी पिटाई भी की गयी। फैक्ट्री निर्माण में लगी एसपीसीएल कंपनी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर व हरियाणा निवासी सुभाष सिंह ने इस मामले में मढ़ौरा थाने में एफआईआर दर्ज करायी है। प्राथमिकी में उन्होंने कहा है कि गत 30 दिसम्बर को वे चंदा गांव के पास अवस्थित अपने ऑफिस में जरूरी काम निपटा रहे थे। दोपहर करीब 3 बजे तेजपुरवां निवासी पूर्व मुखिया पति कृष्ण कुमार उर्फ परमात्मा राय व शैलेश राय अपने 20-25 अन्य लोगों के साथ आये। इस दौरान परमात्मा राय ने पिस्तौल निकाली और रंगदारी की मांग की। इस बीच शैलेश राय ने अपने अन्य सहयोगियों के साथ डंडे से प्रहार करते हुए ऑफिस में आग लगाने की धमकी दी और कंपनी के सभी लोगों को भगा देने की बात कही। मारपीट के दौरान...
more...
गंभीर चोट भी आयी। उधर, पूर्व मुखिया पति परमात्मा राय ने बताया कि उनके ऊपर लगाया गया आरोप गलत है।

  
1703 views
Jan 15 2017 (16:29)
For Better Managed Indian Railways~   1933 blog posts
Re# 2128150-1            Tags   Past Edits
Good law and order is an essential condition for choosing any location for setting up new factory. IR is high jacked by vote bank greedy politicians conveniently forgets it.
.
Result delays in land acquisition, project implementation & cost escalation. Even after commissioning of factory, poor productivity and efficiency haunts the factory management for ever. As a result the cost of production (of locos) shall be high and IR is going to suffer this financially for ever.
.
...
more...

No body knows whether (vote greedy) politician deciding (wrong) location for political gains had actually reaped electoral benefits or not, but IR and passengers shall financially suffer for ever!!
Page#    3552 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site