Timeline UpdatesTrip UpdatesNews PostsPvt Posts♥♥Travel TipsAdmin PostsConv PostsFollowed PostsChat RequestsBlog PostsPNR Posts

Disclaimer
Search
 
 
Fri Dec 19, 2014 15:36:53 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsMembersLoginFeedback
Trains in the News **new    Stations in the News **new

News Super Search        show english news only

News Posts by विश्व नाथ**

Page#    Showing 1 to 10 of 2659 news entries  next>>
  
पूर्व रेलमंत्री ललित नारायण मिश्रा हत्याकांड मामले में कड़कड़डूमा कोर्ट ने गुरुवार को चारों दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई। जिला जज विनोद गोयल ने करीब चालीस साल से चल रहे मुकदमे में दोषी करार दिए गए एडवोकेट रंजन द्विवेदी(66), संतोषानंद अवधूत(75), सुदेवानंद अवधूत(79) और गोपाल जी(73) को उम्रकैद की सजा सुनाई। इस हत्याकांड में 39 साल 11 महीने और 16 दिन बाद अपराधियों को सजा सुनाई गई है। बीते 8 दिसंबर को ही अदालत ने चारों को मर्डर, आपराधिक साजिश रचने समेत आईपीसी की कई धाराओं के तहत दोषी करार दिया था। चारों दोषी आनंद मार्ग संगठन के सदस्य बताए जाते हैं।चारों दोषियों ने मिलकर रची हत्‍या की साजिश: जज
जिला जज ने सजा सुनाते हुए कहा कि सबूतों और परिस्थितियों के आधार पर अदालत एलएन मिश्रा हत्या मामले में चारों दोषियों को उम्रकैद की सजा देती है। अभियोजन पक्ष
...
Read more...
की ओर से दी गई दलीलें साक्ष्यों और स्थितियों को स्पष्ट करती हैं कि चारों दोषियों ने मिलकर हत्या की साजिश रची गई थी। दरअसल, मामले में 15 दिसंबर को हुई सजा पर बहस के दौरान जांच एजेंसी सीबीआई ने आरोपियों को मृत्युदंड दिए जाने का फैसला अदालत पर छोड़ दिया था। इसके बाद कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलों पर गौर करने के बाद सजा सुनाए जाने पर फैसला सुरक्षित कर लिया था और गुरुवार को चारों आरोपियों के लिए उम्रकैद की सजा मुकर्रर की।

दि‍ल्ली में 22 जजों ने की सुनवाई, पड़ीं 720 से ज्‍यादा तारीखें
वैसे, इस केस में अब तक कुल 720 से ज्‍यादा तारीखें पड़ीं। अगर बिहार की अदालतों की बात छोड़ दें, तो केवल दिल्ली की निचली अदालत में ही 22 जजों ने इस केस की सुनवाई की। मामले में 200 से अधिक गवाह थे और अभियोजन पक्ष की ओर से 161 और बचाव में 40 गवाहों को अदालत में पेश किया गया था। इस मामले में सीबीआई पर हमेशा आरोप लगता रहा कि सीबीआई ने इस मामले की ठीक से जांच नहीं की। आरोपों की अंगुलियां तत्कालीन केंद्र सरकार पर भी उठी थी।

भीड़ में से किसी ने फेंका था ललित बाबू पर बम
2 जनवरी, 1975 को समस्तीपुर में ब्रॉड गेज रेल लाइन का उद्घाटन करने गए एलएन मिश्र के ऊपर भीड़ में से ही किसी ने बम फेंक दिया था, जिसमें वे गंभीर रूप से घायल हो गए थे। हमले में घायल होने के करीब 12 घंटे बाद तक मिश्र जिंदा रहे। कहा जाता है कि अस्पताल में उचित इलाज नहीं मिलने की वजह से अगले दिन उन्होंने दम तोड़ दिया था।
  
Dec 17 (5:48PM)  अब चलती ट्रेन में भी काटे जा सकेंगे टिकट (www.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyER/Eastern  -  

News Entry# 205155     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: विश्व नाथ**  2659 news posts  
अब टीटीई चलती ट्रेन में टिकट जांच के अलावा यात्रियों की टिकट भी काट सकेंगे। इसके लिए रेलवे उन्हें हैंडहेल्ड मशीन उपलब्ध करा रही है। फिलहाल राजधानी व शताब्दी एक्सप्रेस में चलने वाले टीटीई को यह मशीन दी जा रही है। धीरे-धीरे अन्य महत्वपूर्ण ट्रेनों में भी यह व्यवस्था उपलब्ध कराने की योजना है। इसकी खरीदारी के लिए बजट भी आवंटित कर दिया गया है। इसकी सूचना महाप्रबंधक स्तर के अधिकारियों को दे दी गई है।हैंडहेल्ड मशीन वाइ-फाइ के माध्यम से रेलवे के मुख्य सरवर से जुड़ी होगी। नई व्यवस्था लागू होने से टीटीई की मनमानी पर भी काफी हद तक रोक लग सकेगा। यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने कई ट्रेनों में वाइ-फाइ सेवा शुरू की है। इससे यात्री बिना किसी कनेक्शन के चलती ट्रेन में लैपटाप या टैबलेट पर इंटरनेट का प्रयोग कर सकते हैं। इंटरनेट के माध्यम से आम यात्रियों के लिए सुविधा बढ़ाने की भी...
Read more...
रेलवे ने योजना बनाई है। नई व्यवस्था से रेलवे के काम में पारदर्शिता आएगी।
इस संबंध में मालदा रेल मंडल के डीआरएम राजेश अर्गल ने बताया कि फिलहाल राजधानी व शताब्दी एक्सप्रेस में टीटीई को हैंडहेल्ड मशीन उपलब्ध कराई जा रही है। फेज वाइज काम चल रहा है। दूसरी महत्वपूर्ण ट्रेनों में चलने वाले टीटीई को भी हैंडहेल्ड मशीन उपलब्ध कराई जाएगी।
मिलेगी किस-किस तरह की सुविधा
- हैंडहेल्ड मशीन से सीट की उपलब्धता व टिकट जांच के अलावा चलती ट्रेन में टिकट भी काटा जा सकेगा।
- टीटीई जुर्माने की रसीद बना सकेंगे।
- चलती ट्रेन में यात्रियों की टिकट का यात्रा विस्तार हो सकेगा।
- ट्रेन में ही यात्रियों को वापसी का सामान्य टिकट भी मिल जाएगा।
- आरक्षित यात्रियों की सूची व खाली बर्थ की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे टीटीई
  
Dec 17 (5:16PM)  आक्रोशित लोगों ने रोकी ट्रेन (www.jagran.com)
back to top
PoliticsECR/East Central  -  

News Entry# 205133     
   Tags   Past Edits
Dec 17 2014 (5:16PM)
Station Tag: Sitamarhi Junction/SMI added by विश्व नाथ**/31233

Dec 17 2014 (5:16PM)
Train Tag: Muzaffarpur - Sitamarhi - Samastipur Passenger/55506 added by विश्व नाथ**/31233

Posted by: विश्व नाथ**  2659 news posts  
सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर रेल खंड के मेहसौल के पास आरओबी बनाने को लेकर रेलवे द्वारा प्रताप नगर की सड़क को बंद किए जाने से आक्रोशित लोगों ने सवारी गाड़ी 55506 को करीब सवा दो घंटे तक रोके रखा। इस दौरान लोगों ने जमकर हंगामा किया। सूचना के बाद पहुंचे रेलवे के अधिकारियों को लोगों ने बैरंग लौटा दिया। बाद में एसडीओ सदर संजीव कुमार व नगर कोतवाल रामाकांत सिंह ने मौके पर पहुंचकर लोगों को आश्वासन देकर जाम समाप्त कराया। इसके बाद 12.05 बजे ट्रेन मुजफ्फरपुर के लिए रवाना हुई।
मालूम हो कि आरओबी निर्माण जारी है। मंगलवार को रेलवे ने सड़क को बंद कर दिया। रेल रोको आंदोलन के बाद तत्काल सड़क से मिट्टी काटने का कार्य बंद कर दिया गया है। आगे रेलवे व सिविल के अधिकारी बैठकर मसले का समाधान निकालेंगे।
  
Dec 16 (9:41PM)  भागलपुर में सरिया लदे ट्रक से टकराई ट्रेन जमालपुर रेलखंड पर 5 घंटे परिचालन बाधित (epaper.bhaskar.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsER/Eastern  -  

News Entry# 205037     
   Tags   Past Edits
Dec 16 2014 (9:41PM)
Station Tag: Kahalgaon/CLG added by विश्व नाथ**/31233

Posted by: विश्व नाथ**  2659 news posts  
डाउनजमालपुर-रामपुर पैंसेजर ट्रेन की चपेट में आने से एक ट्रक के परखच्चे उड़ गए। ट्रक दो हिस्सों में बंट गया। ट्रक का चालक कूद कर भाग निकला। घटना कहलगांव से दो किमी दूर बभनगामा के समीप सोमवार की शाम करीब पांच बजे घटी। ट्रेन के चालक द्वारा आपात ब्रेक लगाने से दर्जन भर यात्रियों को चोटें आईं। ट्रक पर सरिया लदा था। टक्कर के बाद पटरी पर सरिए बिखर जाने और ट्रेन के चक्कों में फंस जाने से साहेबगंज-जमालपुर रेलखंड पर करीब पांच घंटे रेल परिचालन बाधित रहा। हादसे की खबर मिलते ही एडीआरएम समेत रेलवे के वरीय अधिकारी घटनास्थल पर घंटे भर के भीतर पहुंच कर राहत बचाव कार्य में जुट गए।
इनट्रेनों पर असर: हादसेके बाद अप वर्धमान पैंसेजर, हावड़ा-जमालपुर सुपर, गया हावड़ा ट्रेनों के परिचालन पर खासा असर पड़ा। करीब पांच घंटे बाद ट्रेनों को गंतव्य के
...
Read more...
लिए रवाना कर दिया गया।
^ट्रेन के इंजन का सेल काउ कैचर डैमेज हुआ है जिसे काट कर हटा दिया गया। हादसे में कोई भी यात्री हताहत नहीं हुआ है। ट्रक चालक फरार है। परिचालन बहाल कर दिया गया है। हादसे की जांच के आदेश दे दिये गए हैं। दोषियों पर कार्रवाई होगी। एस.एस.श्रीवास्तव, एडीआरएम,मालदा डिविजन
जमालपुर-रामपुर पैंसेजर ट्रेन की चपेट में आने से ट्रक दो हिस्सों में बंट गया।
  
Dec 14 (3:03PM)  यात्र में सुरक्षा के लिए रेलवे जिम्मेदार (epaper.livehindustan.com)
back to top
Commentary/Human Interest

News Entry# 204695     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: विश्व नाथ**  2659 news posts  
एक उपभोक्ता शादी तय करने के ¶िए ट्रेन से सफर कर रही थी। साथ ही वह खुद रे¶वे कमचारी भी थीं। रास्ते में सफर के दौरान रात के 2 बजे ट्रेन के उस कोच में कुछ शरारती तत्व चढ़ गए और उनसे छीना-झपटी करने ¶गे। छीना-झपटी में बदमाश उनका पस झपट कर भाग गए। उपभोक्ता के मुताबिक उस पस में करीब 1.63 लाख रुपये और कुछ आभूषण भी थे। उपभोक्ता ने हादसे के वक्त शोर मचाया और मदद की अपील की। साथ ही उपभोक्ता ने ट्रेन की जंजीर भी खींची, ¶ेकिन उनकी मदद के लिए कोई नहीं आया। आखिरकार उपभोक्ता ने रे¶वे पु¶िस में प्राथमिकी दज कराई।इधर, रे¶वे की ¶ापरवाही के आधार पर उपभोक्ता ने जि¶ा उपभोक्ता फोरम में शिकायत की, जिसमें 1.63 ¶ाख रुपये का मुआवजा मांगा। फोरम ने शिकायत मंजूर कर ली। जि¶ा उपभोक्ता फोरम ने सुनवाई के बाद अपने फैस¶े में रे¶वे को 75,000 रुपया मुआवजा, 3,000...
Read more...
रुपये मानसिक प्रताड़ना और 2,000 रुपये वाद खच के रूप में रे¶वे को चुकाने का आदेश दिया और निश्चित समयसीमा में रकम नहीं देने पर नौ प्रतिशत ब्याज भी चुकाने का आदेश जारी किया। फैस¶े के खिलाफ रे¶वे ने राज्य उपभोक्ता फोरम में अपील की। यहां भी रे¶वे को दोषी मानते हुए राज्य उपभोक्ता फोरम ने सिफ मुआवजे की राशि को 75,000 रुपये से घटाकर 65,000 रुपये कर दिया और बाकी फैसला पूववत रखा। रे¶वे ने राष्ट्रीय उपभोक्ता फोरम में रिवीजन याचिका डा¶ी। सुनवाई के दौरान रे¶वे ने यह दली¶ दी कि उपभोक्ता रे¶वे का ग्राहक नहीं है, बल्कि वह रे¶वे का कमचारी है और वह यात्र रे¶वे के पास पर कर रही थीं। इस पर फोरम ने रे¶वे को कहा कि कमचारी होने के बावजूद रे¶वे अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकता। सफर के दौरान कोच की सुरक्षा और आने-जाने वा¶े पर नजर रखने की जिम्मेदारी ट्रेन के साथ चल रहे टीटीई की है। टीटीई अपनी जिम्मेदारी को नकार नहीं सकता। इस¶िए यह पूरी तरह से रे¶वे की ¶ापरवाही है और उपभोक्ता की शिकायत सही है। आखिरकार राष्ट्रीय उपभोक्ता फोरम ने रे¶वे की रिवीजन याचिका को खारिज कर दिया और राज्य उपभोक्ता फोरम के फैस¶े को बहा¶ कर दिया और साथ ही रे¶वे को 10,000 रुपये दंड के रूप में जमा कराने का भी आदेश दिया।यूनियन ऑफ इंडिया और अन्य बनाम अंजना सिंह चौहान, वॉल्यूम-4, 2014, सीपीजे, पेज संख्या - 198(एनसी)
उपभोक्ता मामलों के जानकार
  
बाढ़ रेल हादसे में तरह-तरह की लापरवाही सामने आ रही है। स्टेशन पर अनाउंसमेंट व वॉकी-टॉकी पर संवादहीनता की बात भी कहीं जा रही है। दरअसल, बाढ़ स्टेशन पर रुकी किउल पटना पैसेंजर ट्रेन ने किसी और को भेजी गई सूचना को खुद के लिए माना और ट्रेन को बढ़ाता गया। घने कोहरे के कारण नाथ ईस्ट के ड्राइवर को जो सूचना दी गई उस सूचना को डेमू पैसेंजर ट्रेन का ड्राइवर खुद के लिए समझ बैठा। न तो डेमू ड्राइवर शंकर ने सिग्नल पर नजर डाली और न वॉकी टॉकी से दोबारा कुछ जानने की कोशिश की। शंकर ने ट्रेन को सीधे आगे के लिए बढ़ा दिया। इधर चेन पुलिंग होने के कारण नाथ ईस्ट धीरे-धीरे स्टेशन की ओर सरक रही थी। सबकुछ इतना अचानक हुआ कि जब तक दोनों ड्राइवर व गाड संभलते, दोनो ट्रेन हादसे के लिए दूसरे के करीब आ चुके थे। अब पूरे मामले में...
Read more...
संवादों की रिकॉडिंग पर भी जांच अधिकारियों की नजर है।बाढ़ रेल हादसे को लेकर एक नया खुालासा सामने आया है। ट्रेन के टकराने से पहले ड्राइवर ने केवल सिग्नल ही नहीं तोड़ा बल्कि सेफ्टी के त्रिस्तरीय घेरे को धत्ता बताते हुए ट्रेन का परिचालन जारी रखा। रेलवे के सेफ्टी सिस्टम के अनुसार अगर कोई ड्राइवर सिग्नल तोड़ता है तो ट्रैक पर बना प्वाइंट ट्रेन को आगे जाने की इजाजत नहीं देता। ड्राइवर शंकर ने इसके बाद भी ट्रेन के ऑपरेशन में जबदस्ती की। सिग्नल तोड़ने के बाद जब ट्रेन को ड्राइवर बढ़ाता रहा तो फेसिंग प्वाइंट के पास आकर ट्रेन डिरेल हो गई। पैसेंजर ट्रेन के ड्राइवर शंकर की सनक कहें या कोई और वजह शंकर ने ट्रेन के डिरेलमेंट को नजरंदाज कर दूसरी बड़ी गलती की। जिस जगह ट्रेन का पहिया उतरा उसके बाद 100 मीटर तक ट्रेन को ड्राइवर शंकर ले जाता रहा। ट्रैक के आसपास पहिए के घसीटे जाने के निशान बताते हैं कि जहां रेल डिरेल हुई वहां भी ड्राइवर सचेत हो जाता तो ट्रेन आपस में नहीं टकराती।गाड भी हुआ देर से अलट: शंकर का ट्रेन के डिरेलमेंट के बाद आगे बढ़ते जाना नाथ ईस्ट से ट्रेन के टकराने का कारण बना। अब तक घटना से ट्रेन का गाड शौकत अली भी बेपरवाह था लेकिन जैसे ही उसे मोटरकोच के रगड़ खाने का और ट्रेन के गलत दिशा में जाने का अनुमान लगा तो उसने इमरजेंसी ब्रेक लगा दी। तफ्तीश में यह भी खुलासा हुआ कि ट्रेन फेसिंग प्वाइंट से सौ मीटर दूर ट्रेलिंग प्वाइंट तक पहुंच चुकी थी। ऐसे में सवाल यह है कि त्रिस्तरीय संरक्षा घेरे को तोड़ने के पीछे ड्राइवर की कोई साजिश थी या फिर हादसा? डीआरएम श्री गुप्ता ने जांच कमिटी की रिपोट आने का इंतजार करने को कहा है और इसे साजिश मानने से इनकार किया है।
पटना। बाढ़ स्टेशन पर दो ट्रेनों में टक्कर होने के बाद रेलवे ने जांच टीम गठित की है। रेलवे सूत्रों की मानें तो पांच सदस्यीय जांच टीम अपनी रिपोट 15 दिसंबर को रेल मुख्यालय को सौंपेगी। एक रेलवे अधिकारी ने बताया तीन कमियों के निलंबन के बाद भी यदि कोई जांच में दोषी पाया जाता है तो उसपर भी गाज गिरेगी। जांच टीम की नजर उन कमियों पर भी है जो ऑन ड्यूटी होने के बावजूद मौके से नदारद थे। (का. सं)
पटना। बाढ़ हादसे में रेलवे की जांच जहां तकनीकी पहलुओं को लेकर आगे बढ़ी है वहीं रेल पुलिस की जांच कुछ और इशारे कर रही हैं। घटना के बाबत रेल एसपी प्रकाश नाथ मिश्र ने कहा कि घटना के चार घंटे बाद तक ड्राइवर का लापता रहना भी जांच के घेरे में है। रेल एसपी ने बताया कि पहली दृष्टि में ही आपराधिक चूक का मामला सामने आया है। ड्राइवर नशे में था कि नहीं इसकी भी जांच की जा रही है।
डिरेलमेंट के बाद ट्रेन को सौ मीटर तक ड्राइवर ने जबरन घसीटा। यही वजह थी डिरेलमेंट के बाद ट्रेन दाहिनी ओर झुकी और सामने से आ रही नाथ ईस्ट की बोगियों से टकरा गई। रेलवे की जांच गलतियों के साथ-साथ उन कमियों को तलाशने की दिशा में है जिससे संरक्षा को और बेहतर बनाया जा सके। -एन के गुप्ता, डीआरएम, दानापुर
  
Dec 14 (2:52PM)  पूर्वा एक्सप्रेस पटरी से उतरी, कोई घायल नहीं (www.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsER/Eastern  -  

News Entry# 204692     
   Tags   Past Edits
Dec 14 2014 (2:52PM)
Station Tag: Kolkata Howrah Junction/HWH added by विश्व नाथ**/31233

Dec 14 2014 (2:52PM)
Station Tag: Liluah/LLH added by विश्व नाथ**/31233

Dec 14 2014 (2:52PM)
Train Tag: Poorva Express (via Gaya)/12381 added by विश्व नाथ**/31233

Posted by: विश्व नाथ**  2659 news posts  
नई दिल्ली जा रही पूर्वा एक्सप्रेस हावड़ा स्टेशन से रवाना होने के बाद आज लिलुआ में पटरी से उतर गई।
रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि कोई भी यात्री हताहत या घायल नहीं हुआ है।पूर्वा एक्सप्रेस (12381 अप) आज सुबह 8 बजकर 15 मिनट पर हावड़ा से रवाना होने के बाद 8 बजकर 25 मिनट पर पटरी से उतर गई,अधिकारियों ने बताया कि जिस समय ट्रेन पटरी से उतरी, उस समय उसकी गति कम थी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस दुर्घटना के कारणों की जांच की जा रही है।
  
Nov 20 (3:21PM)  नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर होंगी तीन नई सुविधाएं (www.livehindustan.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 201837     
   Tags   Past Edits
Nov 20 2014 (3:21PM)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by विश्व नाथ**/31233

Posted by: विश्व नाथ**  2659 news posts  
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर माह के अंत तक तीन नई सेवाएं शुरू हो जाएंगी। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर वाईफाई सेवा की शुरुआत महीने के अंत तक कर दी जाएगी। इस सेवा को शुरू करने के लिए रेल मंत्री का समय मिलने का इंतजार किया जा रहा है। वहीं देश की पहली सेमी हाईस्पीड गाड़ी को चलाने की तैयारी भी लगभग पूरी की जा चुकी है। हाल ही में इस गाड़ी के लिए ऑटोमेटिक सिग्नलिंग प्रणाली का परीक्षण भी पूरा कर लिया गया है। वहीं रेल यात्रियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधा देने के लिहाज से एक शताब्दी गाड़ी में बैठने वाली सीटों के पीछे एलसीडी स्क्रीन लगाने की तैयारी भी पूरी की जा चुकी है। माह अंत तक एक गाड़ी में यह सेवा शुरू कर दी जाएगी।
वाईफाई के लिए कूपन बेचने को तैयार काउंटर
...
Read more...
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर महीने के अंत तक वाईफाई सेवा शुरू कर दी जाएगी। इस सेवा के उद्घाटन के लिए रेल मंत्री का समय मिलने का इंतजार किया जा रहा है। स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर एक और 16 पर इस सुविधा को प्रयोग करने के लिए काउंटर शुरू कर दिए गए हैं। इन काउंटरों पर यात्रियों को सेवा को प्रयोग करने के लिए रीचार्ज कूपन उपलब्ध कराए जाएंगे। रेलवे स्टेशन पर वाईफाई सेवा आधे घंटे के लिए मुफ्त में उपलब्ध होगी। इसके बाद आधे घंटे लिए आपके 25 रुपये देने होंगे। यदि आप एक घंटे से ज्यादा सेवा का प्रयोग करना चाहते हैं तो प्रत्येक घंटे के लिए आपको 35 रुपये देने होंगे।
ऐसे प्रयोग किया जा सकेगी सेवा
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर फोन या लैपटाप पर वाईफाई ऑन करते ही सिस्टम पूछेगा की क्या आप रेलवे वाईफाई सेवा का प्रयोग करना चाहते हैं। आप इस विकल्प को चुनते हैं। इसके बाद आपको मोबाइल नम्बर डालना होगा। मोबाइल पर मैसेज के जरिए वन टाइम पासवर्ड दिया जाएगा। इस पासवर्ड को डालने पर आप वाईफाई सेवा के लिए लॉगइन कर सकेंगे।
गाड़ी में एलसीडी स्क्रीन लगाने की तैयारी पूरी
जल्द ही शताब्दी गाड़ियों में आप अपनी पसंद के कार्यक्रम देख सकेंगे। सबसे पहले यह सुविधा दिल्ली से चंडीगढ़ की ओर जाने वाल शताब्दी गाड़ी में शुरू की जाएगी। इस सुविधा के लिए यात्रियों से फिलहाल कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। गाड़ी के डिब्बों में लगाने के लिए ताइवान से एलसीडी स्क्रीन मंगाई जा चुकी हैं। यह सुविधा दिवाली के पहले शुरू की जानी थी। एलसीडी टीवी ताइवान से आने में देरी के चलते इस सुविधा को शुरू करने में देरी हुई। इन्हें जल्द ही गाड़ी के एक डिब्बे में लगा दिया जाएगा। प्रायोगिक तौर पर इसे लगा कर जांचा भी जा चुका है। रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार महीने के अंत तक एक गाड़ी में यह सेवा शुरू हो जाएगी। यात्री अपना पीएनआर नम्बर डाल कर ही एलसीडी स्क्रीन को ऑन कर सकेंगे।
सेमी हाईस्पीड गाड़ी भी चलाने की भी है तैयारी
नई दिल्ली से आगरा के बीच सेमी हाईस्पीड ट्रेन को चलाने की तैयारी भी लगभग पूरी की जा चुकी है। गौरतलब है कि रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने कुछ दिनों पूर्व इस गाड़ी को 30 नवम्बर के चहले चलाने की घोषणा की थी।
हाल ही में इस गाड़ी को चलाने के लिए ट्रेन प्रोटक्शन वार्निग सिस्टम (टीपीडब्लूएस) के तहत 160 किलोमीटर प्रति घंटा की गति पर परीक्षण भी पूरा किया जा चुका है। इस तकनीक के तहत यदि ड्राइवर कोई सिग्नल देखने से चूक जाता है तो गाड़ी अपने आप रुक जाएगी। रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार सेमी हाईस्पीड गाड़ी को चलाने के लिए कपूरथला स्थित रेल कोच फैक्ट्री में शताब्दी का एक नया रेक बनाया जा रहा है। इसका काम लगभग पूरा हो चुका है। यह गाड़ी दिल्ली पहुंचने के बाद दो दिन में इसे चलाने की तैयारी पूरी कर ली जाएगी।
  
Nov 14 2014 (10:24PM)  रेलवे को सुधारने के लिए प्रभु ने लिया श्रीधरन का साथ (www.jagran.com)
back to top
IR Affairs

News Entry# 201254     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: विश्व नाथ**  2659 news posts  
रेलवे के कामकाज में पारदर्शिता लाने, भ्रष्टाचार दूर करने तथा अफसरों की जिम्मेदारी तय करने के लिए रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने मेट्रोमैन ई. श्रीधरन की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया है। समिति से दो हफ्ते में अंतरिम और तीन महीने में अंतिम रिपोर्ट देने को कहा गया है।
नए रेल मंत्री सुरेश प्रभु रेल परियोजनाओं का तेजी से क्रियान्वयन चाहते हैं। उनका मानना है कि अफसरों की कार्यकुशलता बढ़ाए और कामकाज में पारदर्शिता लाए बगैर यह संभव नहीं है। इसलिए उन्होंने आते ही सबसे पहले यह निर्णय लिया है कि अब किसी भी टेंडर की फाइल रेल मंत्री की मेज पर नहीं आएगी। टेंडर तथा उससे संबंधित सभी प्रक्रियाओं पर महाप्रबंधक तथा उनके मातहत अफसरों के स्तर पर निर्णय लिए जाएंगे।
इसके लिए उपयुक्त प्रक्रिया व प्रणाली तय करने
...
Read more...
की जिम्मेदारी उन्होंने अनुभवी श्रीधरन को सौंपी है। इसके पीछे एक मकसद प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया व ई-गवर्नेस के मिशन को अमली जामा पहनाना भी है। प्रभु ने सभी अधिकारियों से कहा है कि मामलों को समय पर निपटाने के लिए वे मैनेजमेंट इन्फारमेशन सिस्टम (एमआइएस) का व्यापक रूप से उपयोग करें। यही नहीं, उन्होंने रेलवे बोर्ड से परियोजनाओं को जल्द पूरा करने वाले अफसरों को पुरस्कृत करने तथा ढिलाई बरतने वाले अफसरों को दंडित करने को भी कहा है। इसमें भी श्रीधरन मदद करेंगे।
किसी जमाने में रेलवे बोर्ड में सदस्य, इंजीनियरिंग रहे श्रीधरन का नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं है। दिल्ली मेट्रो रेल तथा कोंकण रेलवे के प्रबंध निदेशक के रूप में उनके काम को देश-विदेश में सराहा गया है। दिल्ली मेट्रो में पारी पूरी करने के बाद भी 82 वर्षीय श्रीधरन को फुरसत नहीं है। उन्हें लखनऊ तथा कोच्चि मेट्रो रेल परियोजनाओं में विशेष सलाहकार के रूप जोड़ा गया है। उनकी क्षमताओं को देखते हुए रेल मंत्रालय समय-समय पर उनकी सेवाएं लेता रहता है। इससे पहले उन्हें डा. अनिल काकोदकर की अध्यक्षता में गठित रेलवे संरक्षा समिति में भी सलाहकार बनाया गया था।
  
Nov 14 2014 (12:53PM)  Sreedharan set to return to Railways (indianexpress.com)
back to top
IR Affairs

News Entry# 201211   Blog Entry# 1276349 **new     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: विश्व नाथ**  2659 news posts  
E Sreedharan — popular as the ‘Metro man’ — is set to make a comeback to his erstwhile parent organisation, Indian Railways. Railway Minister Suresh Prabhu has named Sreedharan as the head of a “one-man committee” to chalk out for the national transporter a proper system and procedure to ensure accountability and transparency.The order for the 82-year old Sreedharan was issued by Rail Bhawan on Thursday. In his individual capacity, Sreedharan is free to co-opt anyone he chooses to work out strategies/procedures for General Managers and other functionaries for taking all commercial decisions, including that of tendering.
This comes right after Prabhu made it categorically clear to the Railway Board that files for tendering and procurement should not come to the minister at all. One of the terms of reference for the Sreedharan “committee” is to help Railways put in place
...
Read more...
a system that enables delegation of such responsibilities to GMs.
Sreedharan has been asked to give an interim report in two weeks and then a final report within a period not exceeding three months. The committee has also been empowered to recommend a professional organisation to be engage, if necessary, to achieve this goal.
“The committee would suggest the system and procedure and a manual of instruction to be followed to implement the above. The Management Information System to be used for proper and time-bound disposal of the cases,” the order says.
Sreedharan’s last assignment with Railways was as one of the members of the High-Level Safety Review Committee headed by Anil Kakodkar in 2012. As the first Managing Director, he is best known for building the Delhi Metro and running it as an efficient transport system. He was awarded the Padma Shri in 2001, and the Padma Vibhushan in 2008.
- See more at: click here

  
1311 views
Nov 14 2014 (1:45PM)        

Paurav Shah   1916 blog posts   8 correct pred (53% accurate)    
Re# 1276349-1               Tags   Past Edits
This is a new feature showing the full history of past edits to this Blog Post. All members will now be able to Edit and refine their past and future Blog Posts with NO time limit.
Very good move by new RM. It will help a lot to railways.

  
Nov 14 2014 (2:13PM)        

Venkat వెంకట్   8292 blog posts   8 correct pred (89% accurate)  
Re# 1276349-2               Tags   Past Edits
This is a new feature showing the full history of past edits to this Blog Post. All members will now be able to Edit and refine their past and future Blog Posts with NO time limit.
Finally one good move. Hope to see reforms in railways soon. I think first he will look after railway board.

  
1170 views
Nov 14 2014 (2:34PM)        

arjuntemp   445 blog posts   24 correct pred (75% accurate)  
Re# 1276349-3               Tags   Past Edits
This is a new feature showing the full history of past edits to this Blog Post. All members will now be able to Edit and refine their past and future Blog Posts with NO time limit.
I m sure , new RM Suresh Prabhu is behind this.
Very good move.
Lets see what this wonderful man from Indian Engg Services will deliver this time

  
1144 views
Nov 14 2014 (2:42PM)        

knkprasad956   881 blog posts     Ph:+919449002288
Re# 1276349-4               Tags   Past Edits
This is a new feature showing the full history of past edits to this Blog Post. All members will now be able to Edit and refine their past and future Blog Posts with NO time limit.
A good decision by the Railways.

  
1101 views
Nov 14 2014 (2:53PM)        

नल में ठंडा पानी आ रहा है   6307 blog posts   42321 correct pred (75% accurate)  
Re# 1276349-5               Tags   Past Edits
This is a new feature showing the full history of past edits to this Blog Post. All members will now be able to Edit and refine their past and future Blog Posts with NO time limit.
good decision by Suresh Prabhu ..not by any1 else as all the other officials are the same ...
Page#    2659 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site