Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
 
Wed Aug 31, 2016 00:20:04 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Wed Aug 31, 2016 00:20:04 IST
Modify Search
Trains in the News    Stations in the News   

News Posts by विश्व नाथ*^

Page#    Showing 1 to 10 of 3382 news entries  next>>
  
भारत मेंस्पेनिश कंपनी टैल्गो की हाई स्पीड ट्रेनों के ट्रायल चल रहे हैं, जिन्हें सफल माना जा रहा है। हालांकि, इस माह के शुरू में चौथा और अंतिम ट्रायल अचानक रोक दिया गया। एक वजह बारिश की दी गई है तो यह भी कहा जा रहा है कि स्पेन की टीम विश्राम चाहती थी। जो भी कारण रहा हो अब निर्णायक ट्रायल सितंबर में होने की संभावना है। अब तक आजमाई गई किसी अवधारणा को आजमाने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन उसे पूरी तरह सिद्ध हो चुके विकल्प पर आंख मूंदकर तरजीह देना चिंता की बात है। रुड़की आईआईटी का प्रोफेशनल होने तथा रेलवे टेक्नोलॉजी का जीवनभर का अनुभव होने के अलावा न्यूक्लियर इंजीनियरिंग, ओशन थर्मल एनर्जी कनवर्जन जैसे विविध क्षेत्रों के अनुभव के साथ मैकेनिकल इलेक्ट्रिकल ट्रेन टेक्नोलॉजी दोनों क्षेत्रों में काम कर चुकने के कारण मेरा फर्ज है कि इस संबंध में सावधानी की कुछ बातें कहूं, जिनकी...
more...
ओर फैसला लेने से पहले ध्यान देना चाहिए।
टैल्गो ट्रेन लाने का घोषित उद्‌देश्य मौजूदा रेल कॉरिडोर पर ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने का है, जिसके लिए दुनियाभर में ट्रेन सेट टेक्नोलॉजी अपनी अहमियत साबित कर चुकी है। इसका उपयोग भारतीय रेलवे की उपनगरीय सेवाओं में इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट्स (ईएमयू) तथा भारत सहित दुनियाभर की मेट्रो रेल सेवाओं में किया जा रहा है। जापान, फ्रांस, दक्षिण कोरिया, चीन आदि सहित दुनियाभर में हाई स्पीड और सेमी-हाई स्पीड ट्रेनों में इसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल हो रहा है। भारत में मेट्रो रेलवे सिस्टम का व्यापक विस्तार होने के कारण अब पूरी तरह स्वदेशी ट्रेन सेट्स का निर्माण संभव है। रेलवे में मेरे पूर्व के वर्षों से लेकर मैंने देखा है कि 1980 से ही इस बारे में घोषणाओं के बावजूद कुछ गैर-तकनीकी बातों के कारण ट्रेन सेट्स का ट्रायल तक नहीं किया गया है। एनडीए के पिछले कार्यकाल के दौरान 2002 में इसकी घोषणा हुई, लेकिन उसे कभी अमल में नहीं लाया गया। यूपीए युग के लगभग सारे बजट भाषणों में ट्रेन सेट लाने का इरादा जाहिर किया गया, लेकिन बार-बार टेंडर जारी करने के बाद कैंसल कर दिए गए। वास्तविकता यह है कि भारतीय रेलवे की निर्माण इकाइयों के पास मौजूद संसाधनों को देखते हुए यह विश्वस्तरीय ट्रेन सेट बिना किसी बाहरी मदद के बहुत ही कम समय में बनाया जा सकता है।
सवाल है कि यह ट्रेन सेट है क्या? यह ईएमयू जैसी ट्रेनें ही होती हैं, जिनमें बिजली से खुद चलने वाले डिब्बों की यूनिट होती हैं। ईएमयू में किसी अलग लोकोमोटिव यानी इंजन की जरूरत नहीं होती, क्योंकि एक या अधिक डिब्बों में बिजली से चलने वाली ट्रैक्शन मोटर लगी होती हैं। टैल्गो ट्रेन कोच में सामान्य ट्रेन कोच में लगने वाले 8 पहियों की बजाय सिर्फ 4 पहिये होते हैं। फिर इसमें दो पहियों को जोड़ने वाला एक्सल भी नहीं होता। इस तरह एक ही बोगी के दो पहिये स्वतंत्र रूप से घूम सकते हैं। इन्हें एक स्टील फ्रेम जोड़कर रखती है। इसका द्वितीय सस्पेंशन एयर स्प्रिंग का बना होता है, जो कोच के गुरुत्व केंद्र के ऊपर स्थित होता है ताकि मोड़ पर झुकाव के जरिये संतुलन वाला बल लाया जा सके और मोड़ पर भी तेज रफ्तार कायम रह सके। इस तरह समान ट्रैक पर मौजूदा ट्रेनों से अधिक औसर रफ्तार हासिल की जाती है। विचार तो शानदार है, लेकिन इसमें कई सवाल हैं, जिन पर ध्यान देने की जरूरत है।
पहली बात तो दुनिया की किसी भी अनुभवी रेल व्यवस्था में इसे आजमाया नहीं गया है यानी यह कसौटी पर खरी उतरी टेक्नोलॉजी नहीं है। चूंकि यह स्पेन की कंपनी है तो वहां यह उपयोग में लाई जा रही है, लेकिन वहां डिब्बों और यात्री ले जाने की क्षमता बहुत कम है, जबकि भारत में तो 22 मीटर लंबाई वाली 26 बोगियों की ट्रेन की जरूरत है। ट्रेल्गो कोच की लंबाई सिर्फ 13 मीटर है। अमेरिका, अर्जेंटीना और कजाकिस्तान में कुछ ट्रायल की खबरें हैं, लेकिन खबर है कि अर्जेंटीना में तो टेल्गो की जगह सीएनआर डेलियन रोलिंग स्टॉक लाई गई है और टेल्गो का भविष्य अनिश्चित है।
ट्रेन सेट टेक्नोलॉजी दुनियाभर में अपनी काबिलियत साबित कर चुकी है और भार में उपलब्ध है। वह अधिकतम गति पर बेहतर औसत के समान परिणाम देती है और मोड़ के अलावा भी रफ्तार के हर अवरोध पर अच्छे एक्सीलरेशन के कारण बेहतर समय निकालती है। टेल्गो पूरी एक ट्रेन मुफ्त क्यों दे रही है? वजह यह है कि भारतीय रेल न्यूनतम किराये के साथ दुनिया की सबसे बड़ी यात्री रेल सेवा है। यहां तक कि चीन में भी रेल किराया भारत की तुलना में तीन गुना ज्यादा है। संबंधित लोगों से अनौपचारिक चर्चा में पता चला कि चीन में सर्वोच्च स्तर पर निर्णय लिए जाते हैं, जिन्हें नीचे बता दिया जाता है। इस तरह वहां खरीद की सामान्य प्रक्रिया लागू नहीं होती। भारत जैसी लोकतांत्रिक व्यवस्था में जमीनी स्तर पर साबित करके दिखाना होता है और विकास की संभावना भी यही है। अब सवाल यह है कि क्या हम कंपनी की इस दरियादिली विदेशी टेक्नोलॉजी से अभिभूत हो जाएंगे या नफा-नुकसान भी देखेंगे? बेशक एक ट्रेन आरडीएसओ द्वारा तय प्रोग्राम पर खरी उतरेगी। पहली कुछ यूनिट, जिनका रखरखाव स्पेनिश कंपनी पांच साल देखेगी, वह संभव है ज्यादा दिक्कत दें। समस्या तब शुरू होगी जब पांच साल बाद रख-रखाव भारतीय रेल के पास आएगा। डिजाइन की सरलता के सिद्धांत के विपरीत इसका तंत्र बहुत जटिल है और सावधानियां बहुत ज्यादा हैं, जिन्हें बनाए रखना कठिन होगा। तब तक इतनी देरी हो चुकी होगी कि आर्थिक रूप से इसे बदलना नामुमकिन हो जाएगा। यह कन्सेप्ट ट्रेन सेट पर लागू नहीं किया जा सकता। चूंकि ज्यादातर विकसित देशों में ट्रेन सेट टेक्नोलॉजी पर यात्री ट्रेनें चलाई जा रही हंै, भारत जैसे लंबी ट्रेनों के लिए इंजन से खींचे जाने वाली ट्रेन टेक्नोलॉजी विकसित नहीं हुई है। अब उल्टी दिशा में चलने के उत्साह में हम अपनी यात्री ट्रेनों में मालगाड़ी के कपलर्स का उपयोग कर रहे हैं। इसी कारण यात्रियों को झटके सहने पड़ते हैं, जिनसे दुनियाभर के यात्रियों को बचाया जाता है। फिर डिब्बे छोटे होने से ज्यादा डिब्बे लगाने पड़ंेगे तथा यह समस्या और बढ़ जाएगी। मेरी गुजारिश है कि कोई फैसला लेने के पहले ट्रेन सेट टेक्नोलॉजी का भी ट्रायल ले लिया जाए। खबरों के मुताबिक शायद टेल्गो को अन्य टेक्नोलॉजी से तुलना किए बिना अपना लिया जाएगा। कीमत की तुलना करना जरूरी है। मीडिया हाइप में शायद ऊपर बताए तकनीकी बिंदुओं की अनदेखी हो रही है, कृपया उन्हें भी आजमा लिया जाए और उसके बाद ही कोई फैसला लिया जाए।
(येलेखक के अपने विचार हैं)
विजय कुमार दत्त
रेलवेबोर्ड के पूर्व सदस्य

3 posts - Yesterday - are hidden. Click to open.

  
45 views

Enter ChatRoom
You need to be logged in to enter ChatRooms. Please click here to sign up.
Today (12:03AM)
12570 jan rajdhani express~   3097 blog posts   32 correct pred (65% accurate)
Re# 1976666-4            Tags   Past Edits
This feature shows the full history of past edits to this Blog Post.
And btw Argentina me talgo 4 use hone wali thi jo ki 80's ki train hai jabki India me talgo 9 ka trial hua jo ki latest model hai aur Russia me successfully operate ho rahi hain..
  
Yesterday (7:51PM)  ट्रेन पर पथराव, चालक गार्ड को बंधक बना पीटा, घायल (epaper.bhaskar.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 278589   Blog Entry# 1976600     
   Tags   Past Edits
Aug 30 2016 (7:51PM)
Station Tag: Pahlejaghat Junction/PHLG added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (7:51PM)
Station Tag: Parmanandpur/PMU added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (7:51PM)
Station Tag: Patliputra Junction/PPTA added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (7:51PM)
Train Tag: Gorakhpur - Patliputra Passenger/55008 added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3342 news posts
स्थानीयसमस्याओं को लेकर प्रदर्शन कर रहे सैकड़ों लोगों ने रविवार की शाम परमानंदपुर के निकट 55008 गोरखपुर-पाटलिपुत्र ट्रेन पर जम कर पथराव किया। ट्रेन को रोक चालक, सह चालक और गार्ड को बंधक बना लिया और तीनों की बुरी तरह पिटाई कर दी। जिससे तीनों को गंभीर चोट पहुंची है। सूचना पाकर पहुंची सारण जिले की पुलिस भी काफी देर तक प्रदर्शनकारियों के सामने मूकदर्शक बनी रही। इस दौरान कई ट्रेनें अलग-अलग स्टेशनों पर रुकी रहीं। काफी देर तक हंगामा करने के बाद प्रदर्शनकारी खुद ही रेलकर्मियों को छोड़ कर चले गए। ट्रेन को किसी तरह पाटलिपुत्रा लाने के बाद चालक मो आफ़ात अलाम खान , सहायक चालक इंद्रमणि भारती और गार्ड एमके श्रीवास्तव को इलाज के लिए दानापुर रेल मंडल अस्पताल ले जाया गया। नए पाटलिपुत्र रेल थाने की पुलिस ने तीनों का बयान दर्ज किया है। घटना में जख्मी रेलकर्मियों ने बताया कि ट्रेन परमानंदपुर पहुंचने पूर्व नागरिक रेल...
more...
ट्रैक पर प्रदर्शन कर रहे थे। सुरक्षाकर्मियों के आश्वासन पर ट्रेन को खोला गया, पर थोड़ी दूर बढ़ते ही सिग्नल लाल हो गया और हंगामा कर रहे लोगों ने पथराव करते हुए ट्रेन के इंजन में चढ़ जबरन बंद करवा दिया।

  
629 views

Enter ChatRoom
You need to be logged in to enter ChatRooms. Please click here to sign up.
Yesterday (8:12PM)
Swachh Rail Swachh Bharat   1321 blog posts   4 correct pred (66% accurate)
Re# 1976600-1            Tags   Past Edits
This feature shows the full history of past edits to this Blog Post.
What is the fault of the loco pilots and the guard in this case? They fell victim to the agitating goons. These injured guys must be compensated by the railway with free medical treatement...

  
623 views

Enter ChatRoom
You need to be logged in to enter ChatRooms. Please click here to sign up.
Yesterday (8:15PM)
rajeevame   1206 blog posts   67 correct pred (70% accurate)
Re# 1976600-2            Tags   Past Edits
This feature shows the full history of past edits to this Blog Post.
Rlys have always remained a soft target for the goons and wrong doers. However what's the point in beating the lp,alp and guard who were at no fault but still came under such inhuman action

  
543 views

Enter ChatRoom
You need to be logged in to enter ChatRooms. Please click here to sign up.
Yesterday (8:41PM)
Indian Railways the life line of our Nation~   2266 blog posts   2 correct pred (100% accurate)
Re# 1976600-3            Tags   Past Edits
This feature shows the full history of past edits to this Blog Post.
Samajh me nahi aata logo ki bheer ko tracks par dekh ke LP train kyu rok deta hai.Train rokne ki bajaaye uski speed barha do log apne aap hat jaayenge aur jo nahi hatenge vo engine me crush ho jaayenge.
  
Yesterday (5:09PM)  विक्रमशिला एक्सप्रेस का इंजन फेल, हंगामा (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsECR/East Central  -  

News Entry# 278577     
   Tags   Past Edits
Aug 30 2016 (5:09PM)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (5:09PM)
Station Tag: Bihta/BTA added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (5:09PM)
Train Tag: Vikramshila Express/12367 added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3342 news posts
सोमवार की देर शाम दानापुर रेल मंडल के बिहटा स्टेशन पर अप भागलपुर आनंदबिहार विक्रमसिला एक्सप्रेस का इंजन फेल हो जाने पर यात्रियों ने जमकर हंगामा किया। हंगामा देख मौके वारदात पर स्टेशन मास्टर और जीआरपी पुलिस ने पंहुचकर समझा बुझा कर दानापुर से दूसरी इंजन मंगा करीब दो घंटे के बाद ट्रेन को रवाना किया। इंजन फेल के होने चलते अप लाइन पर करीब दो घ्ांटे तक परिचालन बाधित रहा। भिन्न भिन्न स्टेशनों पर कई गाड़ी खड़ी रही। मिली जानकारी के अनुसार बिहटा स्टेशन पर विक्रमशिला एक्सप्रेस करीब शाम 6.26 में पहुंची तो अचानक इंजन में खराबी आ गयी। चालक गाड़ी को बिहटा स्टेशन के मेन लाईन पर खड़ी कर इंजन में खराबी होने की सूचना बिहटा स्टेशन को दी। बिहटा स्टेशन मास्टर ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दानापुर मंडल से दूसरी ट्रेन की मांग की।
  
Yesterday (5:07PM)  नरकटियागंज सवारी गाड़ी के गार्ड व चालक को जमकर पीटा तीनों को जख्मी हालत में रेलवे अस्पताल में कराया गया भर्ती (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 278576     
   Tags   Past Edits
Aug 30 2016 (5:07PM)
Station Tag: Pahlejaghat Junction/PHLG added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (5:07PM)
Station Tag: Parmanandpur/PMU added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (5:07PM)
Station Tag: Patliputra Junction/PPTA added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (5:07PM)
Station Tag: Narkatiaganj Junction/NKE added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (5:07PM)
Train Tag: Gorakhpur - Patliputra Passenger/55008 added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3342 news posts
नरकटियागंज से पाटलिपुत्र स्टेशन आ रही 55008 डाउन सवारी गाड़ी के गार्ड एवं लोको पायलट व सहायक लोको पायलट की उपद्रवी तत्वों ने परमानंदपुर व पहलेजा स्टेशन के बीच जमकर पिटाई कर दी। किसी तरह गार्ड व लोको पायलट जख्मी हालत में ही ट्रेन को लेकर पाटलिपुत्र स्टेशन पहुंचे। यहां पहुंचने के बाद तीनों ने पाटलिपुत्र रेल थाना में इस घटना की लिखित शिकायत की है। तीनों को जख्मी हालत में इलाज के लिए रेलवे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामला सोनपुर रेल थाने का है। इसे वहीं स्थानांतरित किया जा रहा है। लगभग सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। 1मिली जानकारी के मुताबिक स्थानीय कारणों से पहलेजा व परमानंदपुर के बीच लोगों ने रेलवे ट्रैक को जाम कर रखा था। जाम के कारण शीतलपुर में नरकटियागंज सवारी गाड़ी 11.19 बजे से 16.10 बजे खड़ी थी। यहां से जब इसे खोला गया तो यह ट्रेन...
more...
16.38 बजे परमानंदपुर से आगे पहलेजा के पहले 4 एसपीएल के पास सिग्नल लाल रहने के कारण यह ट्रेन रुक गई। यहां पहले से ही लोगों ने रेलवे ट्रैक को जाम कर रखा था। अचानक ट्रेन के रुकते ही स्थानीय लोगों ने ट्रेन के गार्ड एमके श्रीवास्तव, लोको पायलट अशफाक आलम एवं सहायक लोको पायलट इंद्रमणी भारती की जमकर पिटाई कर दी। गार्ड श्रीवास्तव को गंभीर चोट लगी है। सिग्नल हरा होते ही किसी तरह ट्रेन को पाटलिपुत्र तक लेकर आए। यहां रेल थाने में इस घटना की लिखित शिकायत कर दी गई है।6तीनों को जख्मी हालत में रेलवे अस्पताल में कराया गया भर्ती
  
बिरौल स्टेशन की स्थापना के ग्यारह साल बीत जाने के बावजूद भी स्टेशन की दयनीय स्थिति बनी हुई है। अधिकारीयों की टीम ने रेल की गति बढाने की पहल शुरू कर दी है। लेकिन,स्टेशन के विकास की गति बढाने में किसी ने रूचि नहीं ली है। जिस कारण बिरौल स्टेशन को छोड़कर सकरी से लेकर बिरौल रेलखंड के बीच पड़ने वाले सभी स्टेशनों पर पीसीसी प्लेटफॉर्म का निर्माण हो चुका है।लेकिन, बिरौल स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को वहीं गड्ढानुमा खरंजा पर ठहरने को विवश रहना पड़ता है। स्टेशन पर शौचालय की व्यवस्था नहीं रहने से यात्री को कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। खासकर महिला यात्रियों को अधिक परेशानी होती है। स्टेशन व पदस्थापित रेल र्किमयों को भी शौच करने के लिये खुले मैदान में जाना पड़ता है। स्टेशन मास्टर जीतेन्द्रनारायण मिश्र ने बताया कि कर्मी के लिए बने शौचालय में पानी नहीं रहने के कारण शौचालय में शौच करना...
more...
दुर्लभ है। स्टेशन मास्टर सुभाष कुमार ने कहा कि स्टेशन के आरक्षण काउंटर में दराज नहीं रहने के कारण किराए का पैसा रजिस्टर में रखना पड़ता है। जिस कारण पैसे की चोरी हो जाती है। जिसे जेब से भरना पड़ता है। स्टेशन मास्टर केदारनाथ प्रसाद ने कहा कि स्टेशन कार्यालय में अलमीरा नहीं रहने के कारण कागज व रजिस्टर यत्र-तत्र रखना पड़ता है। कुर्सी के अभाव में बेंच पर बैठना पड़ रहा है। वही दस वर्ष बीत जाने के बावजूद स्टेशन को जेनरेटर नसीब नहीं हुआ है। स्टेशन भवन की मरम्मत नहीं होने से यात्रियों को टिकट कटाने के लिये जान-जोखिम में डालकर स्टेशन पर चढना पड़ता है। आरक्षण काउंटर इसी वर्ष मार्च में चालू किया गया।लेकिन, स्टाप नहीं रहने के कारण लोगों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। स्टेशन पर पूर्व में बना यात्री शेड खंडहर में तब्दील हो गया है।
  
Yesterday (12:51PM)  भागलपुर से साहिबगंज के बीच चलवायी बाढ़ स्पेशल ट्रेन (www.livehindustan.com)
back to top
New/Special TrainsER/Eastern  -  

News Entry# 278522     
   Tags   Past Edits
Aug 30 2016 (12:51PM)
Station Tag: Sahibganj/SBG added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (12:51PM)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3342 news posts
बाढ़ स्पेशल ट्रेन की सेवा शुरू हो गई है। सोमवार को यह ट्रेन जमालपुर से खुली और हर छोटे बड़े स्टेशन पर रुकते हुए दिन के 10.15 बजे पहुंची। स्पेशल डीईएमयू ट्रेन चालाने का आदेश एक दिन पहले सीधे रेल मंत्रालय से हुई है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने रेलमंत्री से मिलकर भागलपुर और आसपास में बाढ़ की स्थिति बताते हुए स्पेशल ट्रेन चलाने का अनुरोध किया था। हालांकि मालदा रेल मंत्रडल के अधिकारी स्पेशल ट्रेन चालाने को तैयार नहीं थे लेकिन रेल मंत्री ने आदेश दिया कि तत्काल प्रभाव से बाढ़ स्पेशल ट्रेन की सेवा शुरू की जाय।
  
Yesterday (12:49PM)  सुविधा स्पेशल के रूप में चलेगी एसी एक्सप्रेस (www.prabhatkhabar.com)
back to top
New/Special TrainsECR/East Central  -  

News Entry# 278521     
   Tags   Past Edits
Aug 30 2016 (12:49PM)
Station Tag: Old Delhi Junction/DLI added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (12:49PM)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (12:49PM)
Train Tag: Delhi - Darbhanga SpecialFare AC Special/04406 added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (12:49PM)
Train Tag: Darbhanga - Delhi SpecialFare AC Special/04405 added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (12:49PM)
Train Tag: Darbhanga - Delhi SpecialFare AC Special/04405 added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3342 news posts
दुर्गा पूजा के दौरान ट्रेनों में बढ़नेवाली भीड़ के मद्देनजर रेलवे की ओर से दी गयी एसी एक्सप्रेस अब सुविधा स्पेशल के रूप में चलेगी. पूर्व मध्य रेल ने इस संसोधन की सूचना जारी की है. जानकारी के अनुसार दरभंगा से दिल्ली के बीच आगामी 29-30 सितंबर से एसी एक्सप्रेस को विशेष ट्रेन के रूप में चलाने की घोषणा की गयी थी.इस गाड़ी का नंबर 04405/04406 रखा गया. पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी अरविंद कुमार रजक के अनुसार ट्रेन के रूप में परिवर्तन के साथ ही इसका नंबर भी बदल दिया गया है. अब यह ट्रेन 82405/82406 नंबर से चलेगी. इसके परिचालन समय को पूर्ववत ही रखा गया है.
  
Yesterday (12:48PM)  रेल मंत्री का आदेश, आज से ही चलेगी बाढ़ स्पेशल ट्रेन, वनांचल एक्सप्रेस 1 अक्टूबर से नए समय पर चलेगी (www.livehindustan.com)
News Entry# 278520     
   Tags   Past Edits
Aug 30 2016 (12:48PM)
Station Tag: Ranchi Junction/RNC added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (12:48PM)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (12:48PM)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (12:48PM)
Train Tag: Ranchi - Jaynagar Express/18605 added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 30 2016 (12:48PM)
Train Tag: Bhagalpur - Ranchi Express/18604 added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3342 news posts
एक अक्टूबर से वनांचल एक्सप्रेस (वाया सैंथिया) नए समय सारिणी पर चलेगी। अब यह ट्रेन भागलपुर से 3.40 की जगह 7.05 में खुलेगी और रांची सुबह 5.15 की जगह 8.40 बजे पहुंचेगी। रांची से वनांचलन एक्सप्रेस दिन में 2.45 की जगह शाम के 7.15 बजे खुलेगी और भागलपुर 5.15 की जगह 10.10 बजे पहुंचेगी। यह जानकारी स्टेशन अधीक्षक ओंकार प्रसाद ने दी है। एक अक्टूबर से कुछ और ट्रेनों की समय सारिणी में बदलाव की संभावना है। हालांकि अभी तक मुख्यालय से सिर्फ वनांचल एक्सप्रेस के बारे में ही जानकारी दी गई है।
बाढ़ स्पेशल की समय सारिणी
जमालपुर
...
more...
से सुबह 7.45 में खुलेगी
भागलपुर पहुंचेगी सुबह 9.30 बजे
साहिबगंज पहुंचेगी दिन के 12 बजे
वापसी
साहिबगंज से 12.30 बजे
भागलपुर पहुंचेगी लगभग 3 बजे
जमालपुर पहुंचेगी शाम 6.15 बजे
जमालपुर से साहिबगंज के बीच स्पेशल डीईएमयू ट्रेन चलेगी। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन के पत्र पर संज्ञान लेते हुए रेल मंत्री सुरेश प्रभु तत्काल प्रभाव से बाढ़ पीड़ितों के लिए यह व्यवस्था करने को कहा है। लिहाजा पूर्व रेलवे ने 30 अगस्त से ही बाढ़ स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। एनएच 80 बाधित होने के मद्देनजर बाढ़ पीड़ितों के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग को हिन्दुस्तान ने प्रमुखता उठाया था।
बाढ़ पीड़ितों के लिए स्पेशल ट्रेन इससे पहले भी चलायी गई थी। लेकिन इस साल बाढ़ की विभीषिका अधिक होने के बाद भी मालदा रेल मंडल प्रशासन ने स्पेशल ट्रेन का प्रस्ताव नहीं दिया था। अलबत्ता डीआरएम ने यह कहकर रेलवे की जिम्मेदारी से मुंह मोड़ लिया था कि बाढ़ राहत कार्य स्टेट इश्यू है। लेकिन भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने हिन्दुस्तान की पहल पर न सिर्फ रेल मंत्री सुरेश प्रभु को भागलपुर और आसपास के जिलों में बाढ़ के कारण आवागमन की समस्याओं के बारे में पत्र से अवगत कराया बल्कि उन्होंने सोमवार को उनसे मिलकर भी स्पेशल ट्रेन की नितांत आवश्यकता बतायी।
रेल मंत्री ने इसपर संज्ञान लेकर तुरंत पूर्व रेलवे को निर्देश दिया। स्पेशल ट्रेन चलाने की औपचारिक सूचना सोमवार की शाम को चीफ पीआरओ और मालदा के डीआरएम मोहित सिन्हा दोनों ने दी है। हालांकि, पूर्व रेलवे ने अभी इस ट्रेन को 30 अगस्त, 31 अगस्त और 1 सितंबर को चलाने का आदेश दिया है। लेकिन अगर जरूरत पड़ी तो ट्रेन की सेवा को विस्तार भी दिया जा सकता है।
  
Aug 29 2016 (3:00PM)  कटिहार-बरौनी के बीच ट्रेनें बाधित बाढ़ से आफत. पानी के दबाव से नवगछिया के पास रेल ट्रैक ध्वस्त, यात्री रहे हलकान (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsECR/East Central  -  

News Entry# 278457     
   Tags   Past Edits
Aug 29 2016 (3:00PM)
Station Tag: Naugachia/NNA added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 29 2016 (3:00PM)
Station Tag: Barauni Junction/BJU added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 29 2016 (3:00PM)
Station Tag: Katihar Junction/KIR added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3342 news posts
गंगा नदी की बाढ़ के कारण रविवार को कटिहार-बरौनी रेलखंड पर नवगछिया स्टेशन के पूर्वी केबिन के समीप मदन अहिल्या कॉलेज-नवगछिया थाना के बीच रेल ट्रैक ध्वस्त हो गया. इसके बाद रेलखंड पर आवागमन ठप हो गया. आपात स्थिति में डाउन ट्रैक पर आ रही महानंदा एक्सप्रेस को नवगछिया स्टेशन से ही लौटा दिया गया. अप ट्रैक पर आ रही पैसेंजर ट्रेन को कटरिया स्टेशन से लौटा दिया गया. कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया और 17 ट्रेनों के मार्ग में बदलाव कर दिये गये. ट्रैक धंसने की सूचना पर सोनपुर रेल मंडल के डीआरएम एनके अग्रवाल मौके पर पहुंचे. कटिहार-बरौनी के... रात 8:55 बजे अप ट्रैक पर राजेंद्र नगर टर्मिनल-कामाख्या कैपिटल एक्सप्रेस का परिचालन कराया गया. डीआरएम ने कहा कि सोमवार तक डाउन ट्रैक पर भी परिचालन शुरू हो सकता है.मालूम हो कि दिन चार दिन पहले नवगछिया अनुमंडल के गोपालपुर प्रखंड स्थित गंगाप्रसाद तटबंध लक्ष्मीपुर के पास...
more...
टूट जाने से बाढ़ का पानी राष्ट्रीय राजमार्ग के भामरा होते हुए रेल लाइन तक आ पहुंचा. करीब दो दिनों से रेल लाइन पर अत्यधिक दबाव था. रविवार को दोपहर दो बजे अप रेल ट्रैक के नीचे से करीब 10 फीट तक जमीन खिसक गयी. स्थानीय लोगों की सूचना पर तत्काल रेल प्रशासन ने ट्रेनों के आवागमन को रोका. सूचना के तुरंत बाद मौके पर रेल के अधिकारी पहुंच गये थे. सीनियर डीसीएम पवन कुमार ने बताया कि डिब्रुगढ़-नयी दिल्ली (12423) का परिचालन कटिहार जंकशन तक ससमय रहा, लेकिन करीब ढाई घंटे विलंब से इस ट्रेन को वाया पूर्णिया और सहरसा, मानसी, खगड़िया कर दिया गया है. 13245 कैपिटल एक्सप्रेस का परिचालन कटिहार से मालदा रूट कर दिया गया है. दूसरी ओर टाटा लिंक को तत्काल प्रभाव से रद्द दिया गया है.
  
Aug 29 2016 (2:56PM)  राजधानी एक्सप्रेस में यात्रियों को परोसा सड़ा समोसा, पेंट्री मैनेजर को देना पड़ा जुर्माना (www.prabhatkhabar.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 278455     
   Tags   Past Edits
Aug 29 2016 (2:56PM)
Station Tag: Sonpur Junction/SEE added by विश्व नाथ*^/31233

Aug 29 2016 (2:56PM)
Station Tag: Barauni Junction/BJU added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3342 news posts
राजधानी एक्सप्रेस जैसे वीआइपी ट्रेन में एक बार फिर से घटिया भोजन और व्यवस्था मिलने का सच सामने आया है. घटना बिहार के बरौनी जंक्शन रूट की है. जहां डिब्रूगढ़ से नयी दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस में घटिया खाना मिलने और टॉयलेट में मिली गंदगी के बाद यात्रियों ने जमकर हंगामा मचाया. जिसके एवज में कार्रवाई की गयी और पेंट्री मैनेजर पर पांच हजार का फाइन किया गया.
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ट्रेन के यात्रियों के हंगामे के कारण बरौनी स्टेशन पर राजधानी एक्सप्रेस में काफी देर तक अफरा-तफरी मची रही और ट्रेन स्टेशन पर खड़ी रही. जानकारी के मुताबिक राजधानी एक्सप्रेस के बी5 में सफर कर रहे यात्री बीएल अग्रवाल और योगेंद्र श्राफ ने पेंट्री कार से घटिया नाश्ता एवं
...
more...
भोजन परोसने की शिकायत वरीय अधिकारियों से की. यात्रियों की शिकायत एवं हंगामें के बाद रेलवे के अधिकारी ने तुरंत कार्रवाई करते हुए ट्रेन के पेंट्री मैनेजर पर पांच हजार रुपये का जुर्माना लगाया. साथ ही भविष्य में ऐसी गलती न करने की चेतावनी भी दी.
वहीं, शिकायत के बाद टीम ने यात्रियों को नाश्ता में दिये गये समोसे को भी सीज कर के सोनपुर रेल मंडल प्रबंधक के पास जांच के लिए भेज दिया. यात्रियों ने घटिया क्वालिटी के खाने के साथ ही ट्रेन में मौजूद गंदगी को लेकर भी शिकायत की जिसके बाद ये कार्रवाई की गयी.
Page#    3382 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site