Forum Super Search
 ♦ 
×
HashTag:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Train Type:
Train:
Station:
ONLY with Pic/Vid:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    RailFan Club:    

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Wed Dec 13, 2017 12:52:40 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Wed Dec 13, 2017 12:52:40 IST

Blog Entry# 2326673
Posted: Jun 20 2017 (09:07)

17 Responses
Last Response: Jun 20 2017 (13:53)
  
Rail News
0 Followers
1537 views
IR AffairsECR/East Central  -  
Jun 20 2017 (07:30)   पाथरडीह होकर चल सकतीं हैं कई रद ट्रेनें

Aaditya^~   3808 news posts
Entry# 2326673   News Entry# 305910         Tags   Past Edits
विकल्प तलाश रही रेलवे ने शुरू किया रेलखंड का सर्वे, साप्ताहिक टेनों के परिचालन को लेकर कवायद
कोडरमा-बरकाकाना होकर चल सकती है सिकंदराबाद और मालदा सूरत एक्स.1
Click here to enlarge image
तापस बनर्जी, धनबाद 1धनबाद से खुलने और गुजरने वाली चार टेनों को वाया गोमो के बाद अब रद हुईं कुछ और टेनों के परिचालन की वैकल्पिक संभावनाएं तलाशी जा रही हैं। इस
...
more...
बाबत रेलवे ने धनबाद से पाथरडीह वाले रेल मार्ग का सर्वे शुरू कर दिया है। सर्वे के माध्यम से यह अध्ययन किया जा रहा है कि पाथरडीह से होकर भोजुडीह व बोकारो वाले रूट पर कितनी टेनों का परिचालन मुमकिन हो सकेगा। सर्वे रिपोर्ट सकारात्मक रही तो कुछ और टेनों का परिचालन शुरू होगा। प्रतिदिन एक साप्ताहिक टेन के पाथ की तलाश : धनबाद-चंद्रपुरा रेलखंड बंद होने से कई टेनें रद हुई हैं जिनमें नियमित के साथ-साथ काफी संख्या में साप्ताहिक और सप्ताह में दो या तीन बार चलने वाली महत्वूपर्ण टेनें भी हैं। साप्ताहिक टेनों को पटरी पर वापस लाने के लिए ही रेलवे पाथ तलाश रही है। पाथ उपलब्ध हुआ तो प्रतिदिन एक साप्ताहिक टेन का परिचालन हो सकेगा जो अलग-अलग रूट की होगी। धनबाद-पाथरडीह रूट पर कई तकनीकी पेंच : धनबाद से पाथरडीह होकर वर्तमान में धनबाद-टाटानगर स्वर्ण रेखा एक्सप्रेस और धनबाद-बांकुड़ा मेमू टेनें चलती हैं। पाथरडीह के बाद सुदामडीह व भोजुडीह होकर वाया बोकारो रांची पहुंचा सकता है। पर धनबाद-पाथरडीह रेलखंड पर लंबी दूरी की टेनों के परिचालन में तकनीकी अड़चन आ सकती है क्योंकि इस रेलखंड पर कम कोच वाली टेनें ही चलती हैं। लंबी दूरी की साप्ताहिक टेनों के परिचालन के लिए आधारभूत संरचना विस्तार करने की आवश्यकता होगी। पाथरडीह का करना होगा विस्तार : धनबाद से पाथरडीह पहुंचने के बाद वहां से टेनें दक्षिण पूर्व रेलवे की ओर मुड़ती हैं। मौजूदा कम कोच वाली टेनों के लिए इसकी व्यवस्था है पर कोच अधिक होने से तकनीकी अड़चन आएगी। इसके लिए पाथरडीह में रेलवे लाइन का विस्तार भी करना होगा। तीन बार बदलना होगा इंजन : धनबाद से पाथरडीह होकर चलने वाली लंबी दूरी की टेनों के परिचालन के लिए तीन बार इंजन बदलना होगा। रांची से आनेवाली टेनें पहले भोजुडीह, फिर पाथरडीह और उसके बाद धनबाद में इंजन बदलकर चल सकेंगी। धनबाद और पाथरडीह में इस पर सहमति बन चुकी है। अब भोजुडीह के लिए दक्षिण पूर्व रेलवे के साथ बातचीत की जाएगी। रेलवे के गार्डो से लिया फीडबैक : वैकल्पिक मार्ग पर परिचालन को लेकर सोमवार को परिचालन विभाग ने रेलवे के गार्डो के साथ विमर्श भी किया। इस दौरान उनसे फीडबैक भी लिया गया। 1तापस बनर्जी, धनबाद 1धनबाद से खुलने और गुजरने वाली चार टेनों को वाया गोमो के बाद अब रद हुईं कुछ और टेनों के परिचालन की वैकल्पिक संभावनाएं तलाशी जा रही हैं। इस बाबत रेलवे ने धनबाद से पाथरडीह वाले रेल मार्ग का सर्वे शुरू कर दिया है। सर्वे के माध्यम से यह अध्ययन किया जा रहा है कि पाथरडीह से होकर भोजुडीह व बोकारो वाले रूट पर कितनी टेनों का परिचालन मुमकिन हो सकेगा। सर्वे रिपोर्ट सकारात्मक रही तो कुछ और टेनों का परिचालन शुरू होगा। प्रतिदिन एक साप्ताहिक टेन के पाथ की तलाश : धनबाद-चंद्रपुरा रेलखंड बंद होने से कई टेनें रद हुई हैं जिनमें नियमित के साथ-साथ काफी संख्या में साप्ताहिक और सप्ताह में दो या तीन बार चलने वाली महत्वूपर्ण टेनें भी हैं। साप्ताहिक टेनों को पटरी पर वापस लाने के लिए ही रेलवे पाथ तलाश रही है। पाथ उपलब्ध हुआ तो प्रतिदिन एक साप्ताहिक टेन का परिचालन हो सकेगा जो अलग-अलग रूट की होगी। धनबाद-पाथरडीह रूट पर कई तकनीकी पेंच : धनबाद से पाथरडीह होकर वर्तमान में धनबाद-टाटानगर स्वर्ण रेखा एक्सप्रेस और धनबाद-बांकुड़ा मेमू टेनें चलती हैं। पाथरडीह के बाद सुदामडीह व भोजुडीह होकर वाया बोकारो रांची पहुंचा सकता है। पर धनबाद-पाथरडीह रेलखंड पर लंबी दूरी की टेनों के परिचालन में तकनीकी अड़चन आ सकती है क्योंकि इस रेलखंड पर कम कोच वाली टेनें ही चलती हैं। लंबी दूरी की साप्ताहिक टेनों के परिचालन के लिए आधारभूत संरचना विस्तार करने की आवश्यकता होगी। पाथरडीह का करना होगा विस्तार : धनबाद से पाथरडीह पहुंचने के बाद वहां से टेनें दक्षिण पूर्व रेलवे की ओर मुड़ती हैं। मौजूदा कम कोच वाली टेनों के लिए इसकी व्यवस्था है पर कोच अधिक होने से तकनीकी अड़चन आएगी। इसके लिए पाथरडीह में रेलवे लाइन का विस्तार भी करना होगा। तीन बार बदलना होगा इंजन : धनबाद से पाथरडीह होकर चलने वाली लंबी दूरी की टेनों के परिचालन के लिए तीन बार इंजन बदलना होगा। रांची से आनेवाली टेनें पहले भोजुडीह, फिर पाथरडीह और उसके बाद धनबाद में इंजन बदलकर चल सकेंगी। धनबाद और पाथरडीह में इस पर सहमति बन चुकी है। अब भोजुडीह के लिए दक्षिण पूर्व रेलवे के साथ बातचीत की जाएगी। रेलवे के गार्डो से लिया फीडबैक : वैकल्पिक मार्ग पर परिचालन को लेकर सोमवार को परिचालन विभाग ने रेलवे के गार्डो के साथ विमर्श भी किया। इस दौरान उनसे फीडबैक भी लिया गया। 1धनबाद : दरभंगा-सिकंदराबाद, रक्सौल-हैदराबाद और मालदा से सूरत जानेवाली टेनों को चलाने के लिए भी वैकल्पिक मार्ग सुझाए गए हैं। इन टेनों को धनबाद से कोडरमा होकर वाया बरकाकाना गंतव्य तक चलाया जा सकता है। कोडरमा से हजारीबाग टाउन होकर नई रेल लाइन पर चंद माह पूर्व ही परिचालन शुरू हुआ है। इस रूट पर केवल दो जोड़ी पैसेंजर टेनें हैं। उत्तर बिहार से दक्षिण भारत तथा बिहार, पश्चिम बंगाल और झारखंड से गुजरात को जोड़ने वाली टेन का परिचालन इस रूट पर संभव है। धनबाद से भुवनेश्वर के बीच चलने वाली गरीब रथ का परिचालन भी कोडरमा रूट पर मुमकिन है। कोडरमा से बरकाकाना के बाद रांची होकर इसका परिचालन भुवनेश्वर तक किया जा सकता है।

12 posts - Tue Jun 20, 2017

  
1482 views
Jun 20 2017 (11:47)
In a relationship with poorva exp😎😎^~   2690 blog posts   429 correct pred (86% accurate)
Re# 2326673-13            Tags   Past Edits
Even the LR at DHN can be avoided as pradhankunta has a bypass line to sindri cabin. Instead of LR at DHN, a halt can be given at pradhankunta for DHN pax and the train can use the bypass line avoiding the LR

  
1351 views
Jun 20 2017 (12:55)
Guest: 84a35012   show all posts
Re# 2326673-14            Tags   Past Edits
This will never happen.. no zone would want triple loco reversal within a space of 30 kms.. SER would promptly reject this... I am one hundred percent sure

  
1315 views
Jun 20 2017 (13:14)
Guest: 84a35012   show all posts
Re# 2326673-15            Tags   Past Edits
ECR has had its say once.. now nobody is going to pay heed to their non sense anymore.. ECR claimed that GC was congested and therefore the train shouldn't go via GMO GAYA but is now keen to divert trains via KQR? Is Koderma on main line?
Their hypocritical bluff has now been exposed and their sheer duplicity will be SNUBBED tomorrow at Garden Reach.. This mayhem will not last long and Dhanbad will now have to pay for its unsolicited adversarial relations with both SER and ER.. The end is nigh

  
1272 views
Jun 20 2017 (13:51)
Divert ShalimarGorakhpur Express via BKSC*^~   5349 blog posts   5034 correct pred (76% accurate)
Re# 2326673-16            Tags   Past Edits
ECR does not have any issue as long as the train is touching DHN. It has agreed for LR at DHN and PEH. It is time for SER to reject this proposal because it will increase the travel time and lots of technical glitch.

  
1266 views
Jun 20 2017 (13:53)
Divert ShalimarGorakhpur Express via BKSC*^~   5349 blog posts   5034 correct pred (76% accurate)
Re# 2326673-17            Tags   Past Edits
The main point in all this is the train to touch DHN anyhow . If it bypasses DHN, ECR will simly reject the proposal because it is not fulfilling DHN criteria.

ARP (Advanced Reservation Period) Calculator

Reservations Open Today @ 8am for:
Trains with ARP 10 Dep on: Sat Dec 23
Trains with ARP 15 Dep on: Thu Dec 28
Trains with ARP 30 Dep on: Fri Jan 12
Trains with ARP 120 Dep on: Thu Apr 12

  
  

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 2547009
    Oct 16 2017 (10:21PM)


    As per the recent post , the new Pax Login feature has now been introduced. Here are the details of the feature set. . 1. Now you may login to the site as a Member or a Passenger, or BOTH Member & Passenger at the same time. Passenger login is called "Pax Login"...
  • Entry# 2517609
    Oct 11 2017 (09:33AM)


    As detailed here , last month, some changes were made to the PNR section. In the next phase of this rollout, we shall be further separating "Passengers" from "Members". . 1. "Passengers" will be able to login using ONLY their PNRs (no password). We shall have a Pax Login above the current...
  • Entry# 2418661
    Sep 25 2017 (07:09AM)


    @all: There are some changes coming to the PNR Forum. 1. All PNRs will be anonymized, i.e. you won't see who posted the PNRs or search PNRs by Traveller. This is to better protect the confidentiality of travelling members and their travel plans. However, members will still be able to search their OWN...
  • Entry# 2409730
    Sep 15 2017 (11:46PM)


    In recent times, the number of FM Complaints regarding "targeting me", "offensive content", "sarcastic comment", "bashing", etc. have been increasing. This has led to increased censorship and throttling of open discussions. . This is a clarification that this site is meant for a FREE EXCHANGE of ideas. Some arguments/debates/disagreements/jokes/sarcasm are ALLOWED and are...
  • Entry# 2390218
    Aug 25 2017 (12:59PM)


    There has been a partial rollout of a modification to Timeline entries. The implementation will be complete within a week. 1. Void & RAC buttons have been removed. . 2. TL Entries can now be Edited and Fixed by the original updater, if there are errors. So there is no need to Void TLs...
  • Entry# 2175399
    Feb 23 2017 (01:22PM)


    There has recently been a lot of frustration among RFs when their Station Pics, Loco Pics, Train Pics get rejected because the "number is not showing", "shed is not visible", the loco/train is at a distance, Train Board is too small, "better pic available", etc. . To address this issue, effective tomorrow, ALL...
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.