Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
Forum Super Search
 ↓ 
×
HashTag:
Freq Contact:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Blog Category:
Train Type:
Train:
Station:
Pic/Vid:   FmT Pic:   FmT Video:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    Topics:    

Search
  Go  

यमला-पगला-ट्रेन का-दिवाना - कार्तिक

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Jul 15 23:04:06 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

Blog Entry# 4660066
Posted: Jun 30 (22:00)

No Responses Yet
Rail News
2158 views
Other News
Jun 30 (22:00)   प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण पैकेज – अब तक की प्रगति

Rang De Basanti^   137753 news posts
Entry# 4660066   News Entry# 412772         Tags   Past Edits
वित्‍त मंत्रालय
प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण पैकेज के अंतर्गत 42 करोड़ से ज्‍यादा गरीबों को 65,454 करोड़ की वित्‍तीय सहायता प्राप्‍त हुई
प्रविष्टि तिथि: 20 JUN 2020 2:17PM by PIB Delhi
सरकार ने 1.70 लाख करोड़ रुपये के प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण पैकेज के अंतर्गत महिलाओं और गरीब वरिष्‍ठ नागरिकों तथा किसानों को नि:शुल्‍क अनाज और नकद भुगतान की घोषणा की। इस पैकेज के त्‍वरित
...
more...
कार्यान्‍वयन की केंद्र और राज्‍य सरकारों द्वारा निरंतर निगरानी की जा रही है। प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण पैकेज के अंतर्गत 42 करोड़ से ज्‍यादा गरीबों को 65,454 करोड़ की वित्‍तीय सहायता प्राप्‍त हुई है।
पीएमजीकेपी के विविध संघटकों के अंतर्गत अब तक प्राप्‍त की गई प्रगति इस प्रकार है :
पीएम-किसान की पहली किश्‍त के भुगतान के तौर पर 17,891 करोड़ रुपये की राशि 8.94 करोड़ लाभार्थियों के खातों में डाल दी गई।
20.65 करोड़ (100%) महिला जन धन खाता धारकों के लिए पहली किश्‍त के रूप में 10,325 करोड़ रुपये जमा किए गए। 20.62 करोड़ (100%) महिला जन धन खाता धारकों के लिए 10,315 करोड़ रुपये दूसरी किश्त के तौर पर जमा कराए गए। तीसरी किश्‍त के रूप में 10,312 करोड़ रुपये 20.62 करोड़ (100%) महिला जन धन खाता धारकों के लिए जमा कराए गए है।
लगभग 2.81 करोड़ वृद्धों, विधवाओं और दिव्‍यांगों को दो किश्तों में कुल 2814.5 करोड़रुपये वितरित किए गए। सभी 2.81 करोड़ लाभार्थियों को दो किश्‍तों में लाभ हस्तांतरित किए गए।
2.3 करोड़ भवन और निर्माण श्रमिकों को 4312.82 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्राप्त हुई।
अप्रैल के लिए अब तक 36 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों द्वारा 113 लाख मीट्रिक टन अनाज का उठान किया गया। अप्रैल 2020 के लिए 36 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों के 74.03 करोड़ लाभार्थियों को कवर करते हुए37.01 एलएमटी अनाज का वितरण किया जा चुका है। मई 2020 के लिए 36 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों के 72.83 करोड़ लाभार्थियों को कवर करते हुए36.42 एलएमटी अनाज का वितरण किया जा चुका है।जून 2020 के लिए 29राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों के 27.18 करोड़ लाभार्थियों को कवर करते हुए13.59 एलएमटी अनाज का वितरण किया जा चुका है। तीन महीनों के लिए आवंटित की गई 5.8 एलएमटी दालों में से 5.68एलएमटी दालें विभिन्‍न राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों को भेजी जा चुकी हैं। अब तक 19.4 करोड़ लाभार्थियों में से 16.3 करोड़लाभार्थी परिवारों को कुल 3.35 एलएमटी दालें वितरित की गई हैं। 28 राज्यों/संघ शासित प्रदेशों ने अप्रैल के लिए 100% दालों का वितरण किया है, 20 राज्यों/संघशासित प्रदेशों ने मई के लिए 100% दालों का वितरण पूरा किया है, जून के लिए 7 राज्यों/संघ शासित प्रदेशों ने 100% वितरण पूरा कर लिया है।
आत्‍मनिर्भर भारत के तहत, सरकार ने प्रवासियों को 2 महीने के लिए मुफ्त अनाज और चने की आपूर्ति करने की घोषणा की। 19 जून, 2020 तक36 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों द्वारा 6.3 एलएमटी अनाज का उठान किया गया है और योजना के लिए 34,074 मीट्रिक टन चना भी राज्यों/संघ शासित प्रदेशों में भेज दिया गया है।
अप्रैल और मई 2020 के लिए अब तक कुल 8.52 करोड़ पीएमयूवाई सिलेंडर इस योजना के तहत बुक किए जा चुके हैं और पहले ही वितरित किए जा चुके हैं। जून 2020 के लिए 2.1 करोड़ पीएमयूवाई सिलेंडर बुक किए गए और जून 2020 के लिए लाभार्थियों को 1.87 करोड़ पीएमयूवाई मुफ्त सिलेंडर वितरित किए गए।
ईपीएफओ के 20.221 लाख सदस्यों ने ईपीएफओ खाते में से 5767 करोड़ रूपये तक की राशि के गैर-वापसी योग्य अग्रिम की ऑनलाइन निकासी का लाभ उठाया है।
बढ़ी हुई दर को 01-04-2020 से अधिसूचित किया गया है। चालू वित्त वर्ष में, 88.73 करोड़ कार्य दिवसों का सृजन किया गया। इसके अलावा, राज्यों को मजदूरी और सामग्री दोनों के लंबित बकाये का भुगतान करने के लिए 36,379 करोड़ रुपये जारी किए गए।
65.74 लाख कर्मचारियों के खाते में 24% ईपीएफ अंशदान के रूप में 996.46 करोड़ रुपये की राशि हस्‍तांतरित की गई।
डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड (डीएमएफ)के तहत, राज्यों को 30% धनराशि खर्च करने के लिए कहा गया है, जो 3,787 करोड़ की रकम है और उसमें से 183.65 करोड़ रुपये अब तक खर्च किए जा चुके हैं।
सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य सेवा केंद्रों में कार्यरत स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के लिए बीमा योजना का 30 मार्च, 2020 से संचालन किया गया है। न्यू इंडिया एश्योरेंस स्कीम इस योजना को लागू कर रही है। इस योजना को सितंबर तक बढ़ा दिया गया है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण पैकेज
19/06/2020 तक कुल प्रत्‍यक्ष लाभ अंतरण

योजना
लाभार्थियों की संख्‍या
राशि
पीएमजेडीवाई महिला खाताधारकों को सहायता
पहली किश्‍त - 20.65 करोड़ (100%)
दूसरी किश्‍त –20.63 करोड़
तीसरी किश्‍त Ins -20.62 (100%)
पहली किश्‍त –10,325 करोड़ दूसरी किश्‍त – 10,315 करोड़ दूसरी किश्‍त –10,312 करोड़
एनएसएपी (वृद्धों, विधवाओं और दिव्‍यांगों) को सहायता
2.81 करोड़ (100%)
2814 करोड़
पीएम-किसान के अंतर्गत किसानों के खातों में भुगतान किया गया
8.94 करोड़
17891 करोड़
भवन और अन्य निर्माण श्रमिकों को सहायता
2.3 करोड़
4313 करोड़

ईपीएफओ को 24% योगदान
.66 करोड़
996 करोड़
उज्‍ज्‍वला
पहली किश्‍त – 7.48
दूसरी किश्‍त – 4.48
8488 करोड़
कुल
42.84 करोड़
65,454 करोड़

***
एसजी/एएम/आरके/एसएस
(रिलीज़ आईडी: 1632918) आगंतुक पटल : 181

COVID-19

ONLY COVID-19 Specials are running.
As Corona cases are increasing rapidly, Members are advised to TAKE extra CARE these days.
1. AVOID going outdoors even if lockdown is easing.
2. ALWAYS wear a MASK when OUTDOORS.
3. Wash hands frequently. Do NOT touch your face.


REMEMBER: PREVENTION is the ONLY Option. There is NO CURE.

Leading Polls

4669015 ★★★ 30s.r.k_1007~
4557441 ★★★ 35Spark
3949874 ★★★ 31x-under SW-x
4568913 ★★ 22SCoR~
4646135 ★★ 25hariharan326531~
4648298  17Spark
4605182 ★★★ 40TOTAL_RAILFAN01^~
4661812  10Spark
4669309 ★★ 20Spark
2861377 ★★★ 39rctheindianrail~
4668611 ★★ 20deep_rudra_deep~

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 4669324
    Today (10:01AM)


    Today, we are introducing a new Topic called NEWS-CRITIC. These days, everyday, we are bombarded with spam news, exaggerated news, misleading news, fake news, useless celebrity news, click bait with misleading headlines, etc. Also, much of the news is copied and rewritten from other news outlets, instead of being written first-hand. Everyone...
  • Entry# 4665139
    Jul 09 (12:37AM)


    Over the last few days, there have been concerns expressed by many members that politics are being discussed. Well, with 90% of the trains NOT running over the last 3 months, there is not much rail-fanning happening!!! People have to discuss something. Mature political discussions are allowed in the Topics section,...
  • Entry# 4658593
    Jun 28 (12:39PM)


    To help with the issue of mass tagging of members, we shall soon be expanding the RF Club feature to Pvt Clubs: . 1. Any member will be able to create a Pvt Club and invite other members to join. Joining of any Club is voluntary - members cannot be forced to join...
  • Entry# 4653181
    Jun 18 (11:41PM)


    @all: For the last 2 days, I have been putting up some quizzes in the Topics section, with the following design: . 1. Each quiz starts with a statement. . 2. Then a question, followed by 4-6 choices. . 3. AFTER a member makes a choice, all the other choices are revealed, along with the creator's choice and...
  • Entry# 4652396
    Jun 17 (09:59PM)


    This is a notice of a feature soon to be introduced. Currently, we have unique member IDs per member which are hard to remember. We shall soon be introducing "User Handles", as used in Twitter and other social media sites. . 1. "User Handles" are a unique combination of letters/numbers - (at least...
  • Entry# 4649634
    Jun 12 2020 (07:41PM)


    This is a note of some experimental changes that will be rolled out soon. . Since most of our RailFans are also interested in playing Video Games like Rail Simulator, Fortnite, etc. a separate section will soon be introduced to discuss the video games that you are playing. . Thanks.
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy