Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
Forum Super Search
 ↓ 
×
HashTag:
Freq Contact:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Blog Category:
Train Type:
Train:
Station:
Pic/Vid:   FmT Pic:   FmT Video:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    Topics:    

Search
  Go  
dark mode

Vaigai வந்துருச்சு, ஆசையில் ஓடி வந்தேன்

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Thu Dec 2 12:32:07 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRAdvanced Search

Blog Entry# 5098560
Posted: Oct 19 (12:17)

6 Responses
Last Response: Oct 19 (12:54)
Rail News
22175 views
IR Affairs
Oct 19 (12:17)   नेताओं के लिए गले की फांस बनी 153 एक्ट की कार्रवाई, भागलपुर के कई नेता को बनाया आरोपित

tanu1995^~   682 news posts
Entry# 5098560   News Entry# 467924         Tags   Past Edits
1 compliments
Initiative Step by BGP RPF👍👍
रेलवे कांग्रेस राजद छात्र यूनियन के कई नेताओं को आरपीएफ ने गैर जमानती धारा में बनाना शुरू कर दिया है आरोपित। पांच साल की सजा होने के डर से रेलवे को निशाना बनाने से परहेज करने लगे हैं प्रदर्शनकारी।
भागलपुर [आलोक कुमार मिश्रा]। 153 एक्ट की कार्रवाई नेताओं और प्रदर्शनकारियों के गले की फांस बन गई है। दरअसल, जब भी कहीं कोई आंदोलन या प्रदर्शन होता है तो प्रदर्शनकारियों का सबसे साफ्ट टारगेट रेलवे होता है। राजनीतिक पार्टियां हों या छात्र यूनियन, सभी अपनी मांगों को मनवाने के लिए रेलवे को निशाना बनाते हैं। इंजन पर या उसके आगे पटरी बैठकर ट्रेनों का परिचालन बाधित कर देते हैं।
चूंकि
...
more...
अक्सर ट्रेन रोकने वाले प्रदर्शनकारियों पर धारा-145 (न्यूसेंस उत्पन्न करना), धारा-146 (सरकारी कार्यों में बाधा डालना), धारा-147, धारा-174 (रेल रोकना, ट्रेनों का परिचालन बाधित करना) आदि जमानतीय धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया जाता है। धारा 174 में केस करने पर आरोपितों को दो हजार जुर्माना या फिर दो साल की सजा होती है। धारा-174 सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज करने पर इसमें थाने से भी जमानत मिल सकती है। दो हजार जुर्माना राशि देने के बाद केस से मुक्त हो जाते हैं। लेकिन योगदान देने के बाद आरपीएफ इंस्पेक्टर अनिल कुमार ङ्क्षसह द्वारा रेलवे को निशाना बनाने वाले प्रदर्शनकरियों पर शिकंजा कसने की दिशा में कार्रवाई की गई। ट्रेनों का परिचालन बाधित करने वाले प्रदर्शनकारियों पर अन्य धाराओं के साथ 153 एक्ट (आपकी हरकतों से यात्रियों पर खतरा होता है, खतरे की अंदेशा रहता है) भी लगाया गया है। गैर जमानती धारा में केस करने पर आरोपितों को पांच साल की सजा हो सकती है। इस धारा में जुर्माना देकर आरोपित केस से मुक्त नहीं हो सकता है। इस एक्ट में पांच साल की सजा होती है। कांग्रेस नेता प्रवीण सिंह कुशवाहा, विपिन बिहारी यादव, मुजफ्फर अहमद, अनामिका शर्मा, राजद नेता चक्रपाणि हिमांशु के अलावा ङ्क्षमटू कुरैशी, अशोक कुमार आलोक, प्रशांत बनर्जी, अमित आनंद, सियाराम दास, रंजन दास, त्रिवेणी दास, नंदन दास, रितेश रंजन कुमार व शब्द कुमार सहित राजनीतिक दलों, छात्र यूनियन के नेताओं व गैर राजनीतिक संगठनों के नेताओं को नामजद करते हुए कई अज्ञात को इस एक्ट में आरोपित बनाया गया है।
आरपीएफ का दावा है कि 2018 के बाद भागलपुर में आंदोलन के दौरान रेलवे को निशाना नहीं बनाया गया है। 153 एक्ट की कार्रवाई के डर से पिछले सप्ताह कृषि कानून को वापस लेने की मांग के दौरान भागलपुर में रेल रोको प्रदर्शन नहीं किया गया। पांच-छह नेता स्टेशन पर आए जरूर थे, लेकिन वीआइपी कक्ष में कुछ देर बैठने के बाद चले गए।

बांका में भी आरपीएफ ने रेल रोकने वाले नेताओं पर कसा शिकंजा
आरपीएफ ने भागलपुर ही नहीं बल्कि भागलपुर आरपीएफ क्षेत्र में आनेवाले बांका में भी रेल रोको प्रदर्शन करने वाले प्रदर्शनकारी नेताओं पर शिकंजा कसने की दिशा में 153 एक्ट के तहत कार्रवाई की है।
आरपीएफ थाना में दर्ज मुकदमा (कांड संख्या-936/18, दिनांक 10.9.2018) में कांग्रेस नेता संजय सिंह, सुनील यादव, युवा छात्र नेता जाफर हुदा के अलावा 50 अज्ञात को आरोपित बनाया गया है।
रेलवे को निशाना बनाने वाले प्रदर्शनकारी फिर चाहे वे राजनीति दलों के नेता हों, छात्र यूनियन के नेता हों या राजनीतिक पार्टियों के समर्थक, सबों पर जमानतीय धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया जाता था। इसके कारण अपनी मांगों को मनवाने के लिए प्रदर्शनकारी हर बार रेलवे को निशाना बनाने लगते थे। उनकी हरकत से यात्रियों पर खतरा या खतरे का अंदेशा रहता है। ऐसे प्रदर्शनकारी नेताओं पर शिकंजा कसने के लिए 153 एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है। इस धारा में दर्ज मुकदमा के आरोपितों को पांच साल की सजा होती है। फिलहाल आरोपित जमानत पर हैं। गैर जमानती धारा में केस करने के कारण अब रेलवे को निशाना बनाने से नेता भी परहेज कर रहे हैं। - अनिल सिंह, आरपीएफ इंस्पेक्टर

1 Posts

18519 views
Oct 19 (12:42)
Proud Bihaari
Railfan_bihari~   5000 blog posts
Re# 5098560-2            Tags   Past Edits
It's just political vengeance..If this act is so scary why people who pelt stones at trains don't get booked under the same law ?

18240 views
Oct 19 (12:44)
Start 13131 via NGRH
aniket~   376 blog posts
Re# 5098560-3            Tags   Past Edits
Much required in ddu-jaj line

18001 views
Oct 19 (12:49)
Rang De Basanti^   48703 blog posts
Re# 5098560-4            Tags   Past Edits
are u sure they dont get booked?

17996 views
Oct 19 (12:53)
Proud Bihaari
Railfan_bihari~   5000 blog posts
Re# 5098560-5            Tags   Past Edits
Nope..

17918 views
Oct 19 (12:54)
Proud Bihaari
Railfan_bihari~   5000 blog posts
Re# 5098560-6            Tags   Past Edits
In just a matter of weeks 3 incidents of stone pelting have been reported between ara-ddu and if people were booked then who is doing that..

Leading Polls

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 5148000
    Nov 29 (06:40AM)


    A new feature will be released soon, whereby you can follow blogs tagged with specific Trains & Stations. If you have already posted blogs tagged with some Train/Station, then you will be set to automatically follow that Train/Station. Thereafter, any future news/blogs tagged with those Trains/Stations will be marked to your...
  • Entry# 5093784
    Oct 13 2021 (07:04AM)


    These days, every other day, we are getting requests from members to allow email login to their FB-based IRI account. 10 years ago, we had given the option for users to login through FaceBook - in retrospect, this was a mistake. These days, apparently, users are quitting FaceBook in droves because...
  • Entry# 4906979
    Mar 14 2021 (01:12AM)


    Followup to: Fmt Changes The new version of FmT 2.0 will soon be here - in about 2 weeks. As detailed in the previous announcement, many of the old FmT features like Train TT, Speedometer, Geo Location, etc. will be REMOVED. It will be a bare-bones simple app, focused on trip blogging. It...
  • Entry# 4898771
    Mar 06 2021 (10:33PM)


    There are some changes coming to FMT. Many of the features of FMT, like station arrival, TT, speed, geo, passing times, station time, etc. are ALREADY available in OTHER railway apps. So all of these features will be REMOVED. We'll have ONLY BLOGGING - quick upload of pics/videos/audio, etc. You may attach...
  • Entry# 4785432
    Nov 21 2020 (02:51AM)


    We are unifying the Bookmark scheme for Blogs & PNRs. Previously, we had different systems of "Followed Blogs", "PNR History", "My PNR Posts", "My PNR Post Predictions", "Stamp Alerts", etc. which were somewhat confusing. Hereafter: For PNRs: 1. You may add ANY PNR to your bookmarks through the "Add Bookmark" link in the...
  • Entry# 4680754
    Aug 03 2020 (10:10PM)


    In the next few days, we shall introduce a "Personal Gallery". This will consist of your own personal pics - no restrictions. You can upload any number of pics to your personal gallery - with with or without trains. This personal gallery will be part of your Member Profile. Thanks.
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy