Forum Super Search
 ♦ 
×
HashTag:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Train Type:
Train:
Station:
ONLY with Pic/Vid:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    RailFan Club:    

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Thu Aug 24, 2017 05:22:17 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Thu Aug 24, 2017 05:22:17 IST
PostPostPost Trn TipPost Trn TipPost Stn TipPost Stn TipAdvanced Search
Filters:

Blog Posts by Balram Singh
Page#    16 Blog Entries  next>>
  
Rail News
0 Followers
3447 views
New Facilities/TechnologyNWR/North Western  -  
Dec 12 2015 (18:43)   Home Rajasthan दिल्ली-अहमदाबाद के बीच रेलवे विद्युतीकरण अब होगा पूरा
 

Taran~   7 news posts
Entry# 1678189   News Entry# 250764         Tags   Past Edits
हिमांशु शर्मा/अलवर । रेलवे के इलाहबाद स्थित विद्युतीकरण मुख्यालय ने अलवर-जयपुर, जयपुर-अजमेर व अजमेर-रानी रेल खण्डों के विद्युतीकरण की टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। कुल 485 किलोमीटर लम्बे इन रूटों पर जनवरी 2016 में काम शुरू करने की तैयारी है। रेलवे सूत्रों के अनुसार दिल्ली-अहमदाबाद वाया जयपुर और अजमेर रेल खण्ड की कुल लम्बाई 866 किलोमीटर है। अभी दिल्ली से अहमदाबाद पहुंचने में टे्रनें करीब 17 घंटे ले रही हैं। विद्युतीकरण के बाद यह करीब 14 घंटे रह जाएगा। तीन साल में यह सुगमता यात्रियों को मिल सकेगी।
गौरतलब है कि अलवर-रेवाड़ी रेल खण्ड का काम लगभग पूरा हो चुका है। उधर, पालनपुर से अहमदाबाद के बीच कार्य जारी है और 2017 तक यह पूरा हो सकता है। जबकि पालनपुर
...
more...
से रानी के बीच 180 किलोमीटर लम्बे रेलखण्ड को रेल विकास निगम विद्युतीकृत कर रहा है।अब ये काम होगादिल्ली-अहमदाबाद के बीच अब गुजरात में रानी जंक्शन से अजमेर-जयपुर होते हुए अलवर तक का कार्य तीन हिस्सों में 2016 में शुरू होगा। रानी से अजमेर की पूरी करीब 200 किलोमीटर, अजमेर से जयपुर 140 किलोमीटर व अलवर से जयपुर की दूरी करीब 155 किलोमीटर है। कुल 485 किलोमीटर की पूरी का काम 2018 तक पूरा होगा।
सिंगल ट्रेक पर होगा विद्युतीकरण अलवर से बांदीकुई के बीच रेलवे ट्रैक अभी सिंगल है। जबकि बांदीकुई से जयपुर के बीच डबल रेलवे ट्रैक है। अलवर से जयपुर के विद्युतीकरण कार्य में अलवर से बांदीकुई तक सिंगल रेलवे ट्रैक पर विद्युतीकरण होगा। रेलवे ट्रैक डबल होने पर दूसरे ट्रैक पर भी विद्युतीकरण किया जाएगा।कई करोड़ लोग करते हैं सफरइस रूट पर विद्युतीकरण होने से दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान व गुजरात प्रदेश के करोड़ों लोगों को फायदा मिलेगा। क्योंकि उत्तर पश्चिम रेलवे का यह रूट प्रमुख है।
प्रतिदिन इस रूट पर 8 से 10 लाख यात्री सफर करते हैं।प्रधानमंत्री के चलते मिली वरीयताप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भी अहमदाबाद से जुड़ाव है। इसलिए दिल्ली-अहमदाबाद रूट पर रेलवे का खास ध्यान है। इस रूट को वरियता मिल रही है। तेजी से इस रूट पर काम हो रहे हैं।तीन साल में होगा कामपालनपुर अहमदाबाद, रानी से पालनपुर के बीच विद्युतीकरण कार्य चल रहा है। नए साल में अलवर जयपुर, जयपुर अजमेर व अजमेर से रानी जंक्शन के बीच भी विद्युतीकरण कार्य शुरू हो जाएगा। 3 साल में इस पूरे ट्रैक पर विद्युतीकरण कार्य पूरा हो जाएगा।एके जैन, उपमुख्य विद्युत अभियंता, रेल विद्युतीकरण जयपुर

7 posts are hidden.

  
2097 views
Dec 16 2015 (21:45)
Balram Singh   19 blog posts
Re# 1678189-8            Tags   Past Edits
अलवर से रेवाड़ी बिजली वाली ट्रेन कब तक चलेगी?

  
1975 views
Dec 16 2015 (21:46)
Balram Singh   19 blog posts
Re# 1678189-9            Tags   Past Edits
अलवर से रेवाड़ी बिजली वाली ट्रेन कब तक चलेगी?

  
1930 views
Dec 16 2015 (22:34)
Pran Pratim Ghosh   23639 blog posts   100360 correct pred (75% accurate)
Re# 1678189-10            Tags   Past Edits
2018-2019 k pehle k bad hi

1 posts are hidden.

  
5081 views
Jan 07 2016 (18:30)
Balram Singh   19 blog posts
Re# 1678189-12            Tags   Past Edits
नये साल में कब तक चालू होगी कोई ख़बर है क्या ???

  
5108 views
Jan 07 2016 (18:49)
Prabhu must stop Drama^~   84599 blog posts   5303 correct pred (78% accurate)
Re# 1678189-13            Tags   Past Edits
nahi koi khabar nahi hai
actually is line ki importance tab hai jab poora jaipur delhi route electric ho..
sirf alwar rewari electric ka koi importance nahi hai isliye slow progress hai..
  
★  Rail News
0 Followers
6334 views
Jan 04 2016 (14:27)   26 रेलवे स्टेशन होंगे आधुनिक, जयपुर-सवाईमाधोपुर लाइन के विद्युतीकरण के लिए सर्वे
 

Prabhu must stop Drama^~   977 news posts
Entry# 1701165   News Entry# 252814         Tags   Past Edits
राजस्थानमें जयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर समेत प्रदेश के 26 रेलवे स्टेशनोंं को केंद्र सरकार नए सिरे से विकसित करेगी। इसके लिए केंद्र सरकार ने टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। स्टेशनों को निजी साझेदारी के तहत विकसित किया जाएगा। देश भर में 400 स्टेशनों को इस तर्ज पर विकसित किया जाना है। इसके साथ ही रेलवे ने प्रदेश में बांसवाड़ा- रतलाम नई रेलवे लाइन के लिए 120 करोड़ रुपए जारी किए है जबकि टोंक- अजमेर लाइन के लिए अभी कोई राशि स्वीकृत नहीं की है। जयपुर- सवाईमाधोपुर रेलवे लाइन के विद्युतीकरण के लिए रेलवे बजट में घोषणा तो नहीं की, लेकिन सर्वे और स्टडी का काम चल रहा है।
यह जानकारी लोकसभा में रेलवे राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने बुधवार को राजस्थान के
...
more...
सांसदों की ओर से पूछे गए सवालों के जवाब में दी। मनोज सिन्हा के मुताबिक स्टेशनों का चयन इनके महत्व के आधार पर किया गया है। बड़े शहर, तीर्थ स्थल और पर्यटन के लिहाज से महत्वपूर्ण स्टेशनों को इस श्रेणी में शामिल किया गया है। स्टेशनो की की दो श्रेणियां बनाई हैं ए- 1 और ए। उन्होंने बताया कि आधुनिक स्टेशनों को सुंदर बनाने के साथ- साथ व्यावसायिक लिहाज से भी लाभकारी बनाया जाएगा। सात स्टेशनों के आधुनिकीकरण की जिम्मेदारी भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम को सौंपी गई है। एक स्टेशन की जिम्मेवारी रेलवे भूमि विकास प्राधिकरण को सौंपी है।
येस्टेशन बनेंगे आधुनिक : जयपुर,गांधीनगर (जयपुर), जोधपुर, अजमेर, कोटा, सवाईमाधोपुर, आबू रोड, अलवर, बांदीकुई, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, फालना, हनुमानगढ़, लालगढ़, मारवाड़ जंक्शन, नागौर, पाली मारवाड़, फुलेरा, रानी, श्रीगंगानगर, सूरतगढ़, उदयपुरसिटी, जैसलमेर, भरतपुर, चित्तौडगढ आदि है।
बांसवाड़ा-रतलाम लाइन के लिए केंद्र ने दिए 120 करोड़ : सिन्हाने एक सवाल के जवाब में कहा कि बांसवाड़ा के रास्ते रतलाम डूंगरपुर नई लाइन का काम शुरू हो गया है। इस परियोजना पर अनुमानित लागत 3450 करोड़ रुपए है। इस रेलवे लाइन के लिए केंद्र ने वर्ष 2015- 16 के लिए 120 करोड़ की राशि दी गई है और राज्य सरकार द्वारा इसके लिए 100 करोड़ दिए गए है।
दूसरी नई लाइन टोंक के रास्ते अजमेर (नसीराबाद ) सवाईमाधोपुर (चौथ का बरवाड़ा ) परियोजना पर 874 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इस नई रेलवे लाइन के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार ने वर्ष 2015- 16 के लिए अभी तक कोई धनराशि जारी नहीं की है।
जयपुर सवाईमाधोपुर रेलवे लाइन के विद्युतीकरण की घोषणा नहीं की : रेलवे राज्यमंत्री
जयपुर सांसद रामचरण बोहरा के एक सवाल के जवाब में बुधवार को रेलवे राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि 131 किमी लंबे जयपुर- सवाईमाधोपुर खंड के रेलवे लाइन के विद्युतीकरण की रेलवे बजट में घोषणा नहीं की गई है। हालांकि उन्होंने स्वीकारा कि इस लाइन के विद्युतीकरण के लिए सर्वेक्षण एवं व्यावहारिक अध्ययन किया गया है। विद्युतीकरण की समय सीमा को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में मनोज सिन्हा ने कहा कि ट्रांसमिशन एवं वित्तीय आधार पर अंतिम निर्णय लिया लिया जाएगा।
छोटी लाइन को बड़ी लाइन में परिवर्तित का काम : राजसमंद सांसद हरिओम सिंह राठौड़ के सवाल के जवाब में रेलवे राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि राजस्थान में 31 मार्च 2015 तक 916 किमी छोटी रेल लाइन है।
क्रसं. : लाइन का नाम : लंबाई किमी में : टिप्पणी
1. हिम्मत नगर- उदयपुर : 208 : मिट्टी, पुल संबंधी कार्य काम तथा समपारों को बंद करने के लिए काम शुरू कर दिया है।
2. मावली : बडी सादड़ी : 83 : अंतिम स्थान निर्धारण सर्वेक्षण पूरा कर लिया है।
3. जयपुर- सीकर-चूरू और सीकर- लोहारू : 320 : सीकर- लोहारू 122 खंड पर काम पूरा कर इसे यातायात के लिए खोल दिया है। शेष खंड पर मिट्टी संबंधी तथा गिट्टी सप्लाई संबंधी काम शुरू कर दिए गए हैं।
4. रतनगढ़- सरदारशहर : 47 : 41 किमी का रेल मार्ग संपर्क का काम पूरा कर लिया गया है।
5. सूरतगढ़- हनुमानगढ़- श्रीगंगानगर : 241 : हनुमानगढ़-श्रीगंगानगर खंड पर काम पूरा कर लिया गया है। इसे यातायात के लिए खोल दिया गया है। सूरतगढ़- एलीनाबाद- हनुमानगढ़ खंड पर इंजन रोलिंग कर लिया गया है।

25 posts are hidden.

  
2176 views
Jan 04 2016 (19:42)
Balram Singh   19 blog posts
Re# 1701165-26            Tags   Past Edits
अलवर से रेवाड़ी बिजली वाली ट्रेन कब तक चलेगी?

  
2618 views
Jan 04 2016 (19:42)
Balram Singh   19 blog posts
Re# 1701165-27            Tags   Past Edits
अलवर से रेवाड़ी बिजली वाली ट्रेन कब तक चलेगी?

  
2010 views
Jan 04 2016 (21:23)
Prabhu must stop Drama^~   84599 blog posts   5303 correct pred (78% accurate)
Re# 1701165-28            Tags   Past Edits
abhi rewari me technical issue hai..

2 posts are hidden.
  
General Travel
0 Followers
1528 views
Dec 29 2015 (13:40)   AWR/Alwar Junction (2 PFs)
 

Balram Singh   19 blog posts
Entry# 1695162            Tags   Past Edits
  
General Travel
0 Followers
1414 views
Dec 29 2015 (09:10)   AWR/Alwar Junction (2 PFs)
 

Balram Singh   19 blog posts
Entry# 1694830            Tags   Past Edits
90 करोड़ खर्च किए, चली महज एक विद्युत ट्रेन
  
General Travel
0 Followers
1430 views
Dec 29 2015 (09:07)   AWR/Alwar Junction (2 PFs)
 

Balram Singh   19 blog posts
Entry# 1694829            Tags   Past Edits
अलवर-मथुरा रेल मार्ग के विद्युतीकरण से लोगों को पश्चिम बंगाल, पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, झारखण्ड सहित कई बड़े राज्यों के रेल मार्ग से अलवर के जुडऩे की उम्मीद जगी, लेकिन विद्युतीकरण के 9 माह बाद भी रेल मार्ग पर महज एक पैंसेजर ट्रेन का विद्युत इंजन से संचालन संभव हो पाया है।
हालांकि रेल मार्ग के विद्युतीकरण पर करीब 90 करोड़ रुपए का खर्च आया, लेकिन लम्बी दूरी की इलेक्ट्रिक ट्रेनों का संचालन शुरू नहीं हो पाने से न तो यात्रियों को समुचित लाभ हुआ और न ही रेलवे के राजस्व में बढ़ोतरी हो सकी।
करीब
...
more...
124 किलोमीटर लंबे अलवर-मथुरा रेल मार्ग पर नौ स्टेशन हैं। इस रेल मार्ग पर अभी चार सवारी गाडि़यों का संचालन होता है। इनमें तीन पैसेंजर व 1 सुपरफास्ट ट्रेन शामिल है। इनमें से केवल एक पैसेंजर ट्रेन का विद्युत इंजन से संचालन होता है।
मार्ग पर चलती हैं ये ट्रेनें
गाड़ी संख्या 54792 भिवानी-मथुरा पैसेंजर ट्रेन, 12403/12404 इलाहाबाद-जयपुर, इलाहाबाद सुपरफास्ट ट्रेन, 51971 मथुरा-अलवर पैसेंजर ट्रेन, 54791 मथुरा-भिवानी पैसेंजर ट्रेन, 51974 जयपुर-मथुरा पैसेंजर ट्रेन चलती है।
मार्ग में पडऩे वाले स्टेशन
मथुरा रूट पर अलवर से ऊंटवाल, जाडोली का बास, रामगढ़, गोविंदगढ़, नगर, बेडम, डीग, गोवर्धन व भुतेश्वर स्टेशन पड़ते हैं।
मथुरा रेल मार्ग पर 33 फीसदी है यात्री भार
अलवर जंक्शन से गुजरने वाली ट्रेनों में सबसे अधिक सवारी दिल्ली, जयपुर व मथुरा मार्ग से जुड़ी होती है। अकेले जंक्शन के काउंटर से बिकने वाले टिकटों में से 33 प्रतिशत यानि करीब 5500 सवारी प्रतिदिन मथुरा रूट पर सफर करती हैं।
यात्रियों की यह संख्या जयपुर व दिल्ली रूट की तुलना में अधिक है। क्योंकि इन रूटों पर ऐसे भी कई यात्री सफर करते हैं जो दिल्ली व जयपुर से आगे के लिए ट्रेन पकड़ते हैं।
आला अफसरों ने कही ट्रेनों के विस्तार की बात
रेल मार्ग का विद्युतीकरण कार्य पूरा होने पर रेलवे के आला अधिकारियों ने मथुरा जंक्शन तक आने वाली कई लम्बी दूरी की ट्रेनों का अलवर तक विस्तार करने की बात कही थी।
आला अफसरों के आश्वासनों को करीब 9 माह बीच चुके, लेकिन एक ही ट्रेन के विद्युत इंजन से जुड़ पाने से रेल मार्ग से जुड़े यात्रियों की उम्मीदों को झटका लगा है।
अलवर- मथुरा रेल मार्ग के विद्युतीकरण कार्य पर 90 करोड़ रुपए खर्च हुए थे। यह कार्य तीन साल में पूरा हो पाया और इसे मार्च 2015 में ट्रेनों के संचालन के लिए रेलवे को सौंप दिया गया।
फैक्ट फाइल
विद्युतीकरण की कुल लागत ....... 90 करोड़
विद्युत से चलने वाली ट्रेन ....... 1
रूट पर पडऩे वाले स्टेशन ....... 9
प्रतिदिन सफर करने वाले यात्री ....... 4 से 5 हजार
रूट पर कुल सवारी गाड़ी ....... 4
पैसेंजर ट्रेन ....... 3
सुरफास्ट ट्रेन ....... 1
अलवर मथुरा की दूसरी 124 किलोमीटर
बनाई जाएगी योजना
प्रभाष कुमार डीआरएम आगरा रेलवे मण्डल ने बताया कि मथुरा-अलवर मार्ग पर यात्रियों की संख्या अधिक है। ट्रेनों के फेरे बढ़ाने की योजना बनाई जाएगी। यात्री ट्रेनों की संख्या बढ़ाने के लिए बोर्ड को प्रस्ताव भी भेजे जाएंगे।
बढ़ेगी ट्रेनों की संख्या
तरुण जैन जन सम्पर्क अधिकारी उत्तर पश्चिम रेलवे ने बताया कि रेवाड़ी मार्ग पर विद्युतीकरण कार्य पूरा होने से विद्युत ट्रेनों की संख्या में बढ़ोतरी होगी। उसके अलावा अन्य रूटों पर भी विद्युतीकरण कार्य शुरू होगा। पूरे रूट विद्युतीकरण होने से यात्रियों को विद्युत ट्रेनों का फायदा मिलेगा।
Page#    16 Blog Entries  next>>

ARP (Advanced Reservation Period) Calculator

Reservations Open Today @ 8am for:
Trains with ARP 10 Dep on: Sun Sep 3
Trains with ARP 15 Dep on: Fri Sep 8
Trains with ARP 30 Dep on: Sat Sep 23
Trains with ARP 120 Dep on: Fri Dec 22

  
  

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 2175399
    Feb 23 2017 (01:22PM)


    There has recently been a lot of frustration among RFs when their Station Pics, Loco Pics, Train Pics get rejected because the "number is not showing", "shed is not visible", the loco/train is at a distance, Train Board is too small, "better pic available", etc. . To address this issue, effective tomorrow, ALL...
  • Entry# 2165159
    Feb 15 2017 (09:53AM)


    A minor update, but may impact many members: Hereafter, FMs will be able to delete invalid Red Flags on Imaginary trains. Red Flags can be removed by FMs, only against specific complaints filed against the blog. This does not give all members the right to complain against EVERY single red flag they...
  • Entry# 2155798
    Feb 08 2017 (11:40AM)


    -@all members: As of recently, there has been a trend whereby minor name updates of Trains/Stations - whether such and such regional name should be there or not, whether the train should be called "Abc Express" or "Abc Superfast Express", etc. are threatening to take over the majority of Timeline entries. Also,...
  • Entry# 2147631
    Feb 01 2017 (11:05AM)


    A new experimental feature is being introduced called BotD - "Blog of the Day". The rules are: . 1. Replies are not eligible - only the Top Blog. 2. ONLY Blogs posted today (the day of the vote) are eligible. 3. Every member has ONE vote. In the course of the day, you may keep...
  • Entry# 2136570
    Jan 23 2017 (12:25AM)


    Several new features have been introduced recently to the Forum, and we are forever striving to make Member experience here more productive and satisfying. With the recent introduction and success of the new FM System, it has been observed that small groups of highly involved and enthusiastic members are far more...
  • Entry# 2134907
    Jan 21 2017 (02:46PM)


    It has been over 2 weeks since the appointment of the current batch of FMs and 750 Complaints have been handled so far. It gives me immense pleasure in congratulating them for running the team diligently, professionally, competently and above all, without a shred of controversy or bias. The FM position...
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.