PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
Forum Super Search
 ↓ 
×
HashTag:
Freq Contact:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Blog Category:
Train Type:
Train:
Station:
Pic/Vid:   FmT Pic:   FmT Video:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    Topics:    

Search
  Go  

Tamil Nadu Express - எங்கள் உயிர் துடிப்பு - Vijay Baradwaj

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Nov 28 03:49:14 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Filters:

Page#    134 Blog Entries  next>>
Rail News
Commentary/Human Interest
SER/South Eastern
Nov 16 (06:35)   एचईसी में बनेगा रेलवे का हल्का कोच, डिजाइन तैयार

Anupam Enosh Sarkar^~   14324 news posts
Entry# 4779795   News Entry# 424924         Tags   Past Edits
एचईसी ने रेलवे के लिए हल्के कोच निर्माण की तैयारी शुरू कर दी है। कोच की डिजाइन तैयार कर ली गई है। डिजाइन को मंजूरी मिलते ही निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। एचईसी में बननेवाले कोच अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप होंगे। निर्माण यूरोपियन यूनियन एजेंसी फॉर रेलवे के मापदंडों के अनुसार होगा। इस एजेंसी का प्रमाणपपत्र हासिल करने वाली कंपनियों के साथ ही एचईसी ने काम करने का निर्णय लिया है। एचईसी के अधिकारियों के अनुसार अल्युमिनियम बोगियां पर्यावरण के अनुकूल होती हैं। हल्की होने के कारण ज्यादा शोर भी नहीं होता है। इसमें ऊर्जा की खपत भी कम होती है व इसके रखरखाव में भी काफी कम खर्च आता है। ये आरामदायक होती हैं और दुर्घटना होने पर नुकसान भी कम होता है।
एचईसी
...
more...
ज्वाइंट वेंचर कंपनी भी बनाएगा
रेलवे कोच बनाने के लिए एचईसी ज्वाइंट वेंचर कंपनी भी बनाएगा। इसके लिए टेल्गो कंपनी ने प्रस्ताव दिया है। इस कंपनी के अधिकारियों ने पूर्व में भी एचईसी का दौरा किया था। यहां की आधारभूत संरचना को देखने के बाद कोच निर्माण का प्रस्ताव दिया था। एचईसी को तकनीक देने पर भी सहमति बनी थी। अल्युमिनियम बोगी बनानेवाली विश्व की सबसे अग्रणी स्पेन की टेल्गो कंपनी है। एचईसी ने ज्वाइंट वेंचर के लिए कई और कंपनियों से प्रस्ताव मांगा है।
नया शॉप बनाने के लिए जमीन चिह्नित
इन कोचों के निर्माण के लिए नया शॉप बनाया जाएगा। इसके लिए जमीन भी चिह्नित कर ली गई है। स्पेन की टेल्गो कंपनी के अधिकारी जल्द ही एचईसी का दौरा भी करने वाले हैं। इस टीम के साथ पूरे प्रोजेक्ट की समीक्षा की जाएगी।
दो बड़ी मशीनें भी बना रहा एचईसी
रेलवे ने अपनी उपयोगी यूटीलिटी व्हीकल मशीन (यूटीवी) और टेपिंग मशीन बनाने का काम एचईसी को दिया है। यह 130 करोड़ का कार्यादेश है। इसके निर्माण के लिए 36 माह की समय सीमा तय की गई है। नई रेलवे लाइन बिछाने और ट्रैक की मरम्मत में दोनों मशीनों का उपयोग होता है। यूटीलिटी व्हीकल मशीन बनाने का काम 100 करोड़ और टेपिंग मशीन का निर्माण 30 करोड़ का है। अभी तक इन मशीनों का निर्माण विदेशी कंपनियां कर रही थीं। पहली बार एचईसी ने इसके निर्माण की दिशा में कदम बढ़ाया है।
क्या है यूटीवी और टेपिंग मशीन
रेललाइन बिछाने और बदलने के समय रेल पटरियों और स्लीपर को उठाने का काम यूटीवी करती है। जबकि रेलवे ट्रैक पर लूज गिट्टी को पैकिंग करने का काम टेपिंग मशीन करती है।

1 Public Posts - Mon Nov 16, 2020

Rail News
2134 views
Nov 17 (22:20)
Surjit Basu
surjitbasu~   826 blog posts
Re# 4779795-2            Tags   Past Edits
Jharkhand has the potential to lead the Industrialization in the East, positive political push is required. It can generate huge employment. Bengal lags behind inspite of having the only Metro City in the East due to bad politics.
Even there was a news about Ramkrishna Forgings is capable to build Metro coaches in it Jamshedpur plants.
Rail News
24213 views
New/Special Trains
ECR/East Central
Nov 13 (21:46)   Dhanbad-Alappuzha Express: अलेप्पी एक्सप्रेस पर फंसा पेच, सुपरफास्ट बनाकर 22 कोच के साथ चलाने की योजना

Railway Fan~   434 news posts
Entry# 4777520   News Entry# 424776         Tags   Past Edits
धनबाद-अलेप्पी एक्सप्रेस (Dhanbad-Alappuzha Express) में सफर के लिए यात्रियों को अभी और इंजार करना होगा। इस ट्रेन को सुपरफास्ट बनाने और 22 कोच के साथ चलाने की योजना है। धनबाद से चलने वाली अलेप्पी एक्सप्रेस 12 यात्री कोच के साथ ही चलती थी। शेष हिस्सा टाटानगर से खुलकर राउरकेला में जुड़ता था। अब टाटानगर से एर्नाकूलम और धनबाद से अलेप्पी एक्सप्रेस को फुल रैक यानी 22 कोच के साथ चलाने की मंजूरी मिल गई है। पर जब तक धनबाद को पूरे 22 कोच के रैक नहीं मिल जाते तब तक ट्रेन नहीं चल सकेगी। रेलवे के विभागीय सूत्रों का कहना है कि इस ट्रेन को अब नये टाइम टेबल में शामिल किया गया है।
छह फुल रैक मिलने पर ही चल सकेगी
...
more...
अलेप्पी एक्सप्रेस : धनबाद से अलेप्पी का सफर तीन दिनों का है। इसके लिए छह रैक की आवश्यकता है। धनबाद के पास छह रैक तो हैं पर सभी 12 यात्री कोच वाले हैं। 22 कोच वाले रैक मिलने के बाद ही इस ट्रेन को पटरी पर लाया जा सकता है।
सुपरफास्ट बनते ही ठहराव में भी संशोधन संभव : अलेप्पी एक्सप्रेस अपना सफर तकरीबन 58 घंटे में पूरा करती है। धनबाद से अलेप्पी के बीच इस ट्रेन के 93 ठहराव हैं। सुपरफास्ट बननके के बाद ठहराव में भी बदलाव होगा। कम यात्री और आमदनी वाले स्टेशन से इस ट्रेन का ठहराव वापस ले लिया जाएगा।
22 मार्च से थमे हैं झारखंड की इस महत्वपूर्ण ट्रेन के पहिए : धनबाद-अलेप्पी एक्सप्रेस सिर्फ धनबाद ही नहीं बल्कि झारखंड की महत्वपूर्ण ट्रेनों में से एक है। इस ट्रेन से धनबाद, बोकारो, रांची समेत दूसरे जिलों से न सिर्फ दक्षिण भारत जानेवाले यात्री बल्कि काफी संख्या में मरीज भी सफर करते हैं। चेन्नई और वेल्लोर में इलाज के लिए प्रतिदिन चलने वाली यही एकलौती ट्रेन है। बावजूद 22 मार्च से ही इसके पहिए थमे हैं। सक्षम मरीज हवाईजहाज या दूसरे विकल्प से चेन्नई और वेल्लोर तक पहुंच रहे हैं। पर आम यात्रियों को आठ महीनेसे इस ट्रेन के खुलने का इंतजार है।
नौ जोड़ी ट्रेनों को मंजूरी पर इसमें अलेप्पी एक्सप्रेस शामिल नहीं : त्योहारी सीजन में पूर्व मध्य रेल ने जिन नौ जोड़ी ट्रेनों को चलाने की मंजूरी दी है, उनमें अलेप्पी एक्सप्रेस शामिल नहीं है। इस वजह से दिवाली और छठ से पहले इस ट्रेन के चलने की संभावना कम ही है।
धनबाद-अलेप्पी एक्सप्रेस को फुल रैक के साथ चलाने की अनुमति मिल गई है। रेलवे बोर्ड की मंजूरी मिलने के बाद ही ट्रेन चलेगी। इस ट्रेन को फुल रैक के साथ ही चलाया जाएगा। -राजेश कुमार, सीपीआरओ पूर्व मध्य रेल।

10 Public Posts - Fri Nov 13, 2020

2 Public Posts - Sat Nov 14, 2020

1709 views
Nov 14 (13:01)
Surjit Basu
surjitbasu~   826 blog posts
Re# 4777520-14            Tags   Past Edits
Tata ke paas baki aadha 6 rakes to hai..tata-allp ka....usko dhn dene ki baat kahi hogi...
Tata-ers to lhb hogi with 22 coaches.

5 Public Posts - Sat Nov 14, 2020
Rail News
8448 views
IR Affairs
NER/North Eastern
Nov 13 (20:57)   North Eastern Railway: अब प्राइवेट अस्पतालों में नहीं हो सकेगा रेलकर्मियों का इलाज Gorakhpur News

Anupam Enosh Sarkar^~   14324 news posts
Entry# 4777464   News Entry# 424771         Tags   Past Edits
गोरखपुर, जेएनएन। रेलकर्मियों और उनके परिजनों का इलाज अब निजी अस्पतालों में नहीं हो सकेगा। रेलवे अस्पताल प्रबंधन मरीजों का पहले खुद इलाज करेगा। संसाधनों की अनुपलब्धता पर मरीजों को प्राथमिकता के आधार पर पहले सरकारी अस्पतालों में रेफर किया जाएगा। वहां भी लाभ नहीं मिला तो प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना से जुड़े निजी अस्पतालों में इलाज का प्रावधान होगा। इसके लिए आयुष्मान योजना से जुड़े निजी अस्पताल रेलवे के पैनल में शामिल किए जाएंगे।
रेफर केस की आडिट करेगी थर्ड पार्टी
नई व्यवस्था के तहत रेलवे अस्पतालों से रेफर केस की
...
more...
आडिट (लेखा-जोखा की जांच) थर्ड पार्टी करेगी। उपकरणों की खरीदारी व उनके रखरखाव की भी समीक्षा होगी। सेंपलों की जांच के बाद ही दवाइयों की खरीद होगी। रेलमंत्री के 2 नवंबर को आयोजित वीडियो कांफ्रेंसिंग का हवाला देते हुए दक्षिण पश्चिम रेलवे हुबली के प्रधान मुख्य चिकित्सा निदेशक ने इस आशय का पत्र जारी कर दिया है। जानकारों के अनुसार जल्द ही पूर्वोत्तर रेलवे सहित भारतीय रेलवे के सभी जोन में यह सिस्टम लागू हो जाएगा। चिकित्सा विभाग ने अंदर ही अंदर अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। इससे व्यवस्था में पारदर्शिता तो आएगी ही,
नहीं चलेगी अस्पताल प्रबंधन की मनमानी
दरअसल, निजी अस्पतालों में इलाज के नाम पर रेलवे का अनावश्यक खर्च हो रहा है। रेलवे को जहां नुकसान पहुंच रहा वहीं संबंधित कर्मियों और निजी अस्पतालों की झोली भर रही है। यह तब है जब रेलवे बोर्ड खर्चों में कटौती और आय बढ़ाने को लेकर लगातार दबाव बना रहा है। फिलहाल, इस नई व्यवस्था को लेकर कर्मचारी संगठनों में रोष है। पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ के महामंत्री एके सिंह कहते हैं कि यह रेलवे कर्मचारियों और उनके परिवारीजनों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ है। गंभीर बीमारी होने पर कर्मचारियों का निजी अस्पतालों में ही समुचित इलाज हो पाता है। रेलवे और सरकारी अस्पतालों के भरोसे मरीज ठीक नहीं हो पाएंगे।  रेल मंत्रालय का यह निर्णय अमानवीय है।
एनई रेलवे मजदूर यूनियन के महामंत्री केएल गुप्त कहते हैं कि सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था किसी से छिपी नहीं है। रेल मंत्रालय अस्पतालों को भी बंद करने की साजिश रच रहा है। यूनियन रेलवे प्रशासन से कैशलेस व्यवस्था जारी रखने की मांग करती है। रेलवे अस्पताल के पैनल में गोरखपुर में 9 निजी अस्पताल शामिल हैं। इसके अलावा मेदांता और दिल्ली के भी कुछ प्राइवेट अस्पताल भी हैं। इन अस्पतालों में रेफर मरीजों का कैशलेस इलाज होता है। रेलवे प्रशासन  निजी अस्पतालों को प्रतिपूर्ति देता है।

Rail News
7661 views
Nov 13 (21:16)
Surjit Basu
surjitbasu~   826 blog posts
Re# 4777464-1            Tags   Past Edits
sabko private medical insurance karwalena chahiye...salary bahut achha milti hai sabko.
Rail News
18694 views
New/Special Trains
SER/South Eastern
Nov 08 (13:29)   Kharagpur Local Train Start Date: खड़गपुर डिवीजन में 11 नवंबर से अप व डाउन मिलाकर पटरी पर दौड़ेंगी 81 ट्रेनें

JigyasuSinghRF^~   192 news posts
Entry# 4771719   News Entry# 424240         Tags   Past Edits
Kharagpur Local Train Start Date: हावड़ा (जे कुंदन) : दक्षिण पूर्व रेलवे अंतर्गत खड़गपुर डिवीजन में बुधवार (11 नवंबर, 2020) से कुल 81 लोकल ट्रेनें चलने लगेंगी. 40 ट्रेनें अप व 41 ट्रेनें डाउन में पटरी पर दौड़ेंगी. हालांकि गुरुवार को नबान्न में हुई बैठक में 17 जोड़ी (34 ट्रेनें) चलाने का फैसला लिया गया था. बाद में दक्षिण पूर्व रेलवे (दपूरे) की ओर से ट्रेनों की संख्या बढ़ाने का फैसला लिया गया.
दपूरे की ओर से ट्रेनों की संख्या बढ़ाने को लेकर राज्य सरकार के पास प्रस्ताव भेजा गया, जिसे मंजूरी दे दी गयी है. दपूरे से मिली जानकारी के अनुसार, ट्रेनों की समय सारिणी, स्टॉपेज व ट्रेन नंबर में कोई बदलाव नहीं किया गया है.
अप
...
more...
ट्रेनों के नाम
अप दिशा में कुल 40 ट्रेनें चलेंगी, जिनमें हावड़ा-मिदनापुर के बीच 13 ट्रेनें, हावड़ा-पांसकुड़ा के बीच आठ ट्रेनें, सांतरागाछी-पांसकुड़ा के बीच एक ट्रेन, हावड़ा-आमता के बीच चार ट्रेनें, हावड़ा-हल्दिया के बीच दो ट्रेनें, हावड़ा-खड़गपुर के बीच चार ट्रेनें, हावड़ा-मेचेदा के बीच दो ट्रेनें, शालीमार-मेचेदा के बीच एक ट्रेन, सांतरागाछी-मेचेदा के बीच दो ट्रेनें, पांसकुड़ा-दीघा के बीच एक ट्रेन, मेचेदा-दीघा के बीच एक और शालीमार-सांतरागाछी के बीच एक ट्रेन चलेगी.
डाउन ट्रेनों के नाम
डाउन दिशा में कुल 41 ट्रेनें चलेंगी, जिनमें मिदनापुर-हावड़ा के बीच 12 ट्रेनें, पांसकुड़ा-हावड़ा के बीच आठ ट्रेनें, मेचेदा-हावड़ा के बीच तीन ट्रेनें, हावड़ा-बागनान के बीच एक ट्रेन, आमता-हावड़ा के बीच चार ट्रेनें, खड़गपुर-हावड़ा के बीच पांच ट्रेनें, हल्दिया-हावड़ा के बीच दो ट्रेनें, दीघा-पांसकुड़ा के बीच एक ट्रेन, पांसकुड़ा-सांतरागाछी के बीच एक ट्रेन, सांतरागाछी-शालीमार के बीच दो ट्रेन, दीघा-मेचेदा के बीच एक और मेचेदा-सांतरागाछी के बीच एक ट्रेन चलने की घोषणा की गयी है.
दपूरे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय घोष ने कहा है कि दैनिक टिकट और सीजन टिकट के लिए विभिन्न स्टेशनों पर बुकिंग काउंटर खुले रहेंगे. यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा. यात्रियों से अपील है कि वे यात्रा के दौरान सोशल डिस्टैंसिग का पालन करें.

Rail News
12852 views
Nov 08 (21:08)
Surjit Basu
surjitbasu~   826 blog posts
Re# 4771719-1            Tags   Past Edits
Up down menu lakar train pairs me hona chahiye..matlab even numbers me...ye odd number kaise hogaya...!!

1 Public Posts - Sun Nov 08, 2020
Rail News
6500 views
IR Affairs
SER/South Eastern
Nov 03 (07:06)   सीकेपी रेल मंडल ने अक्टूबर में की 1114.23 करोड़ की आमदनी

Anupam Enosh Sarkar^~   14324 news posts
Entry# 4765691   News Entry# 423625         Tags   Past Edits
जासं, चक्रधरपुर : कोरोना में भी चक्रधरपुर रेल मंडल का जलवा भारतीय रेल में कायम है। चक्रधरपुर रेल मंडल माल लोडिग के क्षेत्र में नित्य नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। वित्त वर्ष 2020-21 के जुलाई से अक्टूबर माह के बीच में चक्रधरपुर रेल मंडल ने 48 मैट्रिक टन माल लोडिग किया है। वहीं अक्टूबर माह में 12.71 मैट्रिक टन माल लोडिग कर 1114.23 करोड़ रुपये राजस्व अर्जित किया है।
चक्रधरपुर रेल मंडल के सीनियर डीसीएम मनीष कुमार पाठक ने बताया कि मंडल ने जुलाई महीने में 11 .49 मैट्रिक टन, अगस्त महीने में 11.44 मैट्रिक टन , सितंबर महीने में 12 .36 मैट्रिक टन तथा अक्टूबर महीने में 12.71 मैट्रिक टन माल लोडिग किया है। अक्टूबर माह में 12.71
...
more...
मैट्रिक टन लोडिग कर 1114.23 करोड़ रुपये राजस्व प्राप्त किया है। यह उपलब्धि मंडल के अधिकारियों के उचित और समयानुसार लिए गए फैसले और कर्मचारियों की मेहनत को समर्पित है। इस तरह चक्रधरपुर मंडल भारतीय रेल में सर्वाधिक लदान करने वाले मंडलों में पहले स्थान पर बना हुआ है। माल लदान की प्रक्रिया के लिए को ग्राहकों को सुगम और सरल बनाने हेतु मंडल प्रशासन बहुत से नए पब्लिक और प्राइवेट साइडिग को मंजूरी दे चुका है जिसमें के कुछ में लदान का काम शुरू हो गया है और कुछ साइडिग में बहुत जल्द ही लदान का कार्य शुरू हो जायेगा। मंडल में 10 नए साइडिग खुलने वाले है, जिसमें सात पब्लिक साइडिग तथा तीन प्राइवेट साइडिग है।

Rail News
4068 views
Nov 03 (22:24)
Surjit Basu
surjitbasu~   826 blog posts
Re# 4765691-1            Tags   Past Edits
The division, staff, colony must get something to mark this achievement., may it be a park, garden or something similar..Taking away all the profit without any visible thing to remember or mark the achievements is a waste on the part of the division.
Page#    134 Blog Entries  next>>

COVID-19

ONLY COVID-19 Specials are running.
As Corona cases are increasing rapidly, Members are advised to TAKE extra CARE these days.
1. AVOID going outdoors even if lockdown is easing.
2. ALWAYS wear a MASK when OUTDOORS.
3. Wash hands frequently. Do NOT touch your face.


REMEMBER: PREVENTION is the ONLY Option. There is NO CURE.

Leading Polls

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 4785432
    Nov 21 (02:51AM)


    We are unifying the Bookmark scheme for Blogs & PNRs. Previously, we had different systems of "Followed Blogs", "PNR History", "My PNR Posts", "My PNR Post Predictions", "Stamp Alerts", etc. which were somewhat confusing. Hereafter: For PNRs: 1. You may add ANY PNR to your bookmarks through the "Add Bookmark" link in the...
  • Entry# 4680754
    Aug 03 2020 (10:10PM)


    In the next few days, we shall introduce a "Personal Gallery". This will consist of your own personal pics - no restrictions. You can upload any number of pics to your personal gallery - with with or without trains. This personal gallery will be part of your Member Profile. Thanks.
  • Entry# 4671643
    Jul 18 2020 (11:53PM)


    As our Topics & Quiz section gains popularity, the following change will be made to Quizzes. Starting tomorrow, we shall not reveal the names of people who answered correctly/incorrectly. You will still know how many answered the quiz and the percentage of wrong/right responses. But ONLY the person who answered will know...
  • Entry# 4669324
    Jul 15 2020 (10:01AM)


    Today, we are introducing a new Topic called NEWS-CRITIC. These days, everyday, we are bombarded with spam news, exaggerated news, misleading news, fake news, useless celebrity news, click bait with misleading headlines, etc. Also, much of the news is copied and rewritten from other news outlets, instead of being written first-hand. Everyone...
  • Entry# 4665139
    Jul 09 2020 (12:37AM)


    Over the last few days, there have been concerns expressed by many members that politics are being discussed. Well, with 90% of the trains NOT running over the last 3 months, there is not much rail-fanning happening!!! People have to discuss something. Mature political discussions are allowed in the Topics section,...
  • Entry# 4658593
    Jun 28 2020 (12:39PM)


    To help with the issue of mass tagging of members, we shall soon be expanding the RF Club feature to Pvt Clubs: . 1. Any member will be able to create a Pvt Club and invite other members to join. Joining of any Club is voluntary - members cannot be forced to join...
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy