Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
Forum Super Search
 ↓ 
×
HashTag:
Freq Contact:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Blog Category:
Train Type:
Train:
Station:
Pic/Vid:   FmT Pic:   FmT Video:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    Topics:    

Search
  Go  

Bhrigu Express: बलिया की आन बान और शान , भृगु एक्सप्रेस है तुम्हारा नाम। हर रविवार तुमसे मिलना है मेरा काम। - Shanzil Kabir

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Jan 18 22:29:31 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Filters:

Page#    6 Blog Entries  next>>
Rail News
11566 views
IR Affairs
SECR/South East Central
Dec 16 2020 (14:11)   मंडी ने रोकी नवा रायपुर की रेल:अब केंद्री के पास रोकना पड़ा पटरी बिछाने का काम, प्रोजेक्ट डेढ़ साल लेट, 1 एकड़ जमीन करानी होगी खाली

Saurabhdubey_86^~   3268 news posts
Entry# 4814313   News Entry# 428727         Tags   Past Edits
नवा रायपुर में रेललाइन बिछाने का काम अब शासन-प्रशासन ही नहीं, रेलवे के लिए बड़ा सिरदर्द बन रहा है। प्रोजेक्ट पहले ही डेढ़ साल लेट हो चुका है। करीब 20 किमी पटरियां बिछनी हैं, लेकिन सिर्फ 5 किमी ही बिछ पाई हैं। इस बीच, पटरियों के लिए जमीन समतल करते हुए एजेंसियां नवा रायपुर के सबसे महत्वपूर्ण स्टाॅप केंद्री तक पहुंचनेवाली ही थीं कि बीच में काम रोकना पड़ गया है। वजह ये है कि पटरियों के रास्ते में धान मंडी आ गई है। वहां धान भी स्टोर हो रहा है। अफसरों का कहना है कि अगर धान मंडी की जमीन मिल भी गई तो जब तक पूरा धान नहीं हटता, तब तक काम रुका रहेगा। इसमें छह महीने भी लग सकते हैं। नवा रायपुर में रेललाइन प्रोजेक्ट तीन साल पहले शुरू हुआ था। मंदिरहसौद से केंद्री तक जाने वाली रेललाइन का ड्राइंग-डिजाइन पहले से मंजूर है और इसी पर काम...
more...
चल रहा है, लेकिन धान मंडी शिफ्ट नहीं की जा सकी है। इस वजह से काम रोकना पड़ा है। मौके पर पहुंची भास्कर टीम को बताया गया कि काम फिर शुरू करने के लिए मंडी की एक एकड़ जमीन खाली करवानी होगी। काम इसके तुरंत बाद शुरू हो सकता है क्योंकि यह जमीन शासकीय है और अधिग्रहण की जरूरत नहीं है।
डेढ़ किमी अंडरग्राउंड लाइन बनाने का काम रुक गया
एयरपोर्ट की सुरक्षा को देखते हुए रेलवे ने यहां लगभग डेढ़ किमी अंडरग्राउंड रेलवे लाइन डालने का फैसला किया था। उसके लिए करीब 15 फीट गहरा गड्ढा कर उसे समतल किए हुए लगभग एक साल बीत गया, लेकिन पटरियां नहीं बिछाई जा सकी हैं। यही नहीं, केंद्री के पास एक अंडरपास का निर्माण भी बाकी है। जानकारों का कहना है कि अगर यह सारी बाधाएं कुछ हफ्ते में दूर कर ली जाती हैं, एनआरडीए पर्याप्त फंड उपलब्ध करवा देता है, तब भी यह लाइन 2021 में पूरी नहीं हो पाएगी।
1. मुक्तांगन के पास भी पेंच
मुक्तांगन से होकर गुजरने वाली रेललाइन में भी जमीन का पेंच फंस गया है। इसी रास्ते में एक निजी जमीन पर वर्कशॉप बनी है। नवा रायपुर विकास प्राधिकरण ने इस जमीन मालिक को कई बार नोटिस दी, लेकिन अभी तक इसे खाली नहीं कराया जा सका है।
2. स्टेशन निर्माण भी रुका
नवा रायपुर में अटल नगर, उद्योग नगर और सीबीडी स्टेशन समेत 4 स्टेशन बनाने हैं, लेकिन इनका काम भी डेढ़ माह से बंद है। वजह ये है कि स्टेशनों को बनाने के लिए 89 करोड़ रुपए का बजट तय किया गया है, लेकिन शासन ने सिर्फ 12 करोड़ ही दिए हैं।
3. बड़े हिस्से में काम बाकी
रेललाइन के बीच बनने वाले अधिकांश पुल-पुलियों का खर्च एनआरडीए को उठाना है। यही नहीं, ट्रेन के लिए नेशनल हाईवे पर करीब 20 करोड़ से फ्लाईओवर बनाने का प्रस्ताव है। इसका काम शुरू नहीं हुआ, क्योंकि एनआरडीए से पैसे नहीं मिले।
जिम्मेदार अफसरों से होगी बात
"केंद्री धान मंडी को जल्द शिफ्ट करने का प्रयास करेंगे, ताकि रेललाइन का काम नहीं रुके। इस बारे में जिम्मेदार अफसरों से बात होगी।"
-अयाज तंबोली, सीईओ-एनआरडीए

1 Public Posts - Wed Dec 16, 2020

Rail News
10446 views
Dec 16 2020 (14:40)
njrpr23
Rpr   24 blog posts
Re# 4814313-2            Tags   Past Edits
Chhattisgarh always gets betrayal from centre when it comes to any national projects (be it railway, highway or any other projects)

1 Public Posts - Wed Dec 16, 2020
राजधानी समेत राज्यभर के लोगों को अब कुछ महीने बाद ही रायपुर स्टेशन में बड़ी सुविधा मिलेगी। स्टेशन में पहली बार आधुनिक फुट ओवरब्रिज (एफओबी) का निर्माण तेजी से शुरू हो गया है। इस एफओबी की खासियत है कि इसमें रैंप और एस्केलेटेर के माध्यम से यात्रियों को चढ़ने-उतरने की सुविधा मिलेेगी। करीब 9 करोड़ रुपए की लागत से सभी प्लेटफार्मों को नए एफओबी से जोड़ा जाएगा।
बता दें कि देश के अधिकांश बड़े स्टेशनों में फुट ओवरब्रिज और रैंप बने हुए हैं, लेकिन राजधानी के स्टेशन में यह अब तक नहीं है। सालों बाद अब प्रशासन ने स्टेशन में नया एफओबी मंजूर किया है। हर प्लेटफार्म पर एस्केलेटर लगाने के लिए अलग से ढाई करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। रेलवे अफसरों
...
more...
की मानें तो छह महीने में नए एफओबी और रैंप बनकर तैयार हो जाएगा।
बिलासपुर और दुर्ग स्टेशनों में वर्षों पहले से रैंप की सुविधा है। लेकिन राजधानी व मंडल का स्टेशन होने के बावजूद रायपुर में रैंप नहीं था। रेल अफसरों का तर्क है कि स्टेशन के हर प्लेटफार्म की चौड़ाई कम है, इसलिए रैंप बनाने को लेकर सालों-साल केवल विचार चलता रहा और प्रोजेक्ट आगे नहीं बढ़ सका। अब यात्री बढ़ रहे हैं, लगेज लाने-ले जाने में उन्हें दिक्कत हो रही है, इसलिए रेल प्रशासन ने इसकी जरूरत महसूस करते हुए प्रोजेक्ट को फाइनल किया और पिलर बनाने का काम तेजी से चल रहा है।
इसलिए जरूरी है रैंप : रायपुर स्टेशन में लिफ्ट लगाने के लिए एफओबी के एक तरफ की सीढ़ियों को तोड़ दिया गया। इससे यात्रियों का पूरा दबाव दूसरी सीढ़ी पर है। प्लेटफॉर्म नंबर 2-3 और 5-6 में एक साथ दो ट्रेनों के आने के बाद एफओबी की सीढ़ियों पर ठसाठस भीड़ रहती है। लिफ्ट का उपयोग बुजुर्ग व निशक्त यात्री ही कर सकते हैं।
ऐसे में, सीढ़ियां पार करने में कई बार 15-15 मिनट लग जाते हैं। इसीलिए अब स्टेशन में नया एफओबी बनाकर इसे रैंप व एस्केलेटर से जोड़ने की तैयारी है।
दुर्ग छोर पर बनेंगे रैंप : नया एफओबी फूड प्लाजा से बाजू में बने गार्डन की जगह से शुरू होगा और प्लेटफॉर्म नंबर-7 तक को जोड़ेेगा। एफओबी के तय ड्राइंग डिजाइन के मुताबिक एफओबी के सारे रैंप दुर्ग की ओर रहेंगे तथा बिलासपुर की ओर एस्केलेटर लगेंगे। एफओबी और रैंप से स्टेशन के फुटओवरब्रिज और सीढ़ियों पर व्यस्त समय में होने वाली भीड़ से निजात मिलेगी। सभी प्लेटफार्मों को जोड़ने के लिए तीन एस्केलेटर लगाने का प्लान है।

Rail News
18082 views
Sep 30 2020 (14:38)
njrpr23
Rpr   24 blog posts
Re# 4729262-1            Tags   Past Edits
I think budget has been reduced (from 13 crores to 9 crores) by cutting cost of three escalators bcoz as per earlier plan six escalators were to be installed.
Don't know how will they manage the overgrowing crowd!!
Rail News
19419 views
SECR/South East Central
Sep 24 2020 (09:51)   केंद्री से धमतरी लाइन को ब्रॉडगेज करने में रेलवे पिछड़ा

Chetan~   924 news posts
Entry# 4723915   News Entry# 419402         Tags   Past Edits
रायपुर . रेल डिवीजन की दो महत्वपूर्ण लाइन रायपुर-विशाखापट्टनम और केंद्री से धमतरी लाइन को ब्राडगेज बनाने का काम जैसे-तैसे ही चल रहा है। इन दोनों रेल लाइनों को पूरा कराने में रेलवे दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है। कहने को काम कई वर्षोँ से चल रहा है, लेकिन पूरा होने का नाम ले रहा। वाल्टेयर लाइन का दोहरीकरण भी इसी तरह बीच में अटका हुआ है। रेलवे के निर्माण में तेजी नहीं आई। इन दोनों प्रोजेक्ट का काम काफी पीछे चल रहा है। जबकि धमतरी लाइन ब्राडगेज बन जाने से नवा रायपुर से मंदिरहसौद से कांकेर तरफ का क्षेत्र रेल लाइन से जुड़ जाएगा।रायपुर से धमतरी और राजिम के बीच चलने वाली छोटी ट्रेन अब बीते समय की बात हो चुकी है। क्योंकि छोटी रेल लाइन पर अब स्टेशन से शदाणी दरबार के आगे जगदलपुंर सड़क मार्ग तक समाप्त हो चुंकी है। इस छोटी लाइन की जगह एक्सप्रेस-वे सड़क बन गई...
more...
है, लेकिन बीच में धसक जाने के कारण उस पर यातायात शुरू नहीं हो सका। दूसरी तरफ मंदिरहसौद से 20 किमी रेल लाइन केंद्री तक बन रही है। इसे देखते हुए रेलवे प्रशासन ने छोटी ट्रेन का परिचालन केंद्री से करना शुरू किया और यहीं से धमतरी-बालोद तक बड़ी रेल लाइन बनाने का प्रोजेक्ट चालू हुआ, जो कछुआ गति से चल रहा है। जबकि इस रेल लाइन के लिए 284 करोड़ रुपए की स्वीकृति मिले हुए एक साल से भी अधिक होने जा रहा है। लेकिन निर्माण में तेजी नहीं आई।प्रोजेक्ट रेल विकास निगम के हवालेरेलवे का यह दोनों प्रोजेक्ट रेल विकास निगम के हवाले है। इसलिए रेल डिवीजन के अफसर पीछे हट जाते हैं। वालटेयर लाइन जिस पर आज भी डीजल इंजन से ट्रेनें चल रही है, क्योंकि यह रेल लाइन न तो दोहरीकरण हो पाई न ही विद्युतीकरण। जबकि वर्ष 2007 से यह काम 750 करोड़ रुपए की लागत से शुरू हुआ था, जो आज भी लखौली तक अधूरा है। इसी ही स्थिति धमतरी रेल लाइन को ब्राडगेज बनाने की भी। जबकि लंबे समय से इस रेल लाइन का काम पूरा कराने का मुद्दा धमतरी, कांकेर तरफ के लोगों के साथ ही व्यापारिक संगठनों द्वारा उठाया जाता रहा है।छोटी रेल लाइन की पटरियों को बाहर निकालने का काम हो गया है। सर्वे में कुछ जगहों पर जमीन अधिग्रहण का पेंच सामने आया है, इस वजह से निर्माण प्रक्रियाधीन है।शिव प्रसाद पंवार,सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर, रेलवे

1 Public Posts - Thu Sep 24, 2020

10324 views
Sep 24 2020 (20:50)
njrpr23
Rpr   24 blog posts
Re# 4723915-2            Tags   Past Edits
It is pending from years just bcoz of illegal settlements along the railway lines not bcoz of land acquisition (as nearby lands adjacent to lines belongs to railways).
And also railway is not entitled for their rehabilitation as they are illegally settled.
State govt. knows most of their votes comes from these settlements and also it needs crores of rupees for their rehabilitation (as dislocating them to somewhere else will lead to loss of votes to that particular local constituency and also it's too costly to have them settled in city area for
...
more...
which there is no land govt. land available) which present govt. can't do, as already several basic, important and ongoing projects have been stalled since the new government came to power. They don't have money as the whole money is spent on freebies and purchasing GOBAR that even through taking loans.
So don't expect anything from them. It seems to be remaining pending for years.

1 Public Posts - Thu Sep 24, 2020
Rail News
20108 views
IR Affairs
SECR/South East Central
Mar 14 2020 (06:28)   सांसद ने उठाया मुद्दा, रेल कोच फैक्ट्री के दरवाजे से निकलेगा रोजगार

AdittyaaSharma^~   20578 news posts
Entry# 4591761   News Entry# 402816         Tags   Past Edits
बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
सांसद अरुण साव ने शुक्रवार को लोकसभा में बिलासपुर से जुड़े छह प्रमुख मुद्दों को जबरदस्त तरीके से उठाया। उन्होंने कहा कि रेल कोच फैक्ट्री की स्थापना जल्द की जाए। प्रदेश के युवाओं को इससे रोजगार उपलब्ध होगा। साव ने रेलवे परिक्षेत्र के बुधवारी बाजार के व्यापारियों, हमाल, महिला ट्रैकमैन की समस्या, राजधानी एक्सप्रेस का प्रतिदिन परिचालन, डोंगरगढ़-मुंगेली रेल लाइन में अधिग्रहण को लेकर हो रही लेटलतीफी के मुद्दे को संसद में उठाया। सदन में मंत्रालय से जल्द इन समस्याओं का निपटारा करने की मांग की।
भारतीय रेलवे के
...
more...
अनुदान मामले के समर्थन में सांसद साव ने सबसे पहले अपनी बात रखी। तुरंत बाद बारी बारी से बिलासपुर से जुड़ी तमाम समस्याओं और मांगों को पेश किया। उन्होंने कहा कि लंबे संघर्ष और पूर्व प्रधानममंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के प्रयास से बिलासपुर रेलवे जोन की स्थापना हुई। पूर्व प्रधानमंत्री का बिलासपुर से गहरा नाता रहा है। उन्हें उम्मीद थी कि रेल जोन स्थापित होने के बाद क्षेत्र के युवा बेरोजगारों के सपनों को पंख लगेगा। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। निश्चित रूप से यह दुख की बात है। मांग करता हूं कि युवा बेरोजगारों को ध्यान में रखते हुए बिलासपुर में रेल कोच फैक्ट्री लगाई जाए। ताकि स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार अवसर मिले।
मुद्दा 01-राजधानी एक्सप्रेस का परिचालन रोज हो
तर्क-बिलासपुर से चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस का परिचालन फिलहाल सप्ताह में एक दिन है। इसे प्रतिदिन चलाया जाए।
समस्या-गायत्री परिवार से जुड़े सदस्य और प्रतिदिन यात्रा करते हैं। अस्थि विसर्जन के लिए भी सारनाथ ही एकमात्र विकल्प है।
मुद्दा 02- बुधवारी के व्यापारियों को मिले राहत
तर्क- बुधवारी बाजार के व्यापारियों का लाइसेंस कई साल से नवीनीकरण नहीं होने से परेशान है। आरपीएफ ने दम कर रखा है।
समस्या-रेलवे के अधिकारी उच्च न्यायालय के आदेश का भी पालन नहीं कर रहे हैं। बाजार अस्त व्यस्त हो चुका है।
मुद्दा 03-समस्या से घिरे हैं महिला ट्रैकमैन
तर्क- परिचालन में ट्रैकमैन की अहम भूमिका होती है। विभागीय परीक्षा तक नहीं होती। ट्रैक पर मौत का आंकड़ा भी अधिक है।
समस्या-महिला ट्रैकमैन के लिए शौचालय तक की व्यवस्था नहीं है। अभाव में नौकरी का दायित्व संभालना पड़ रहा है।
मुद्दा-04-हमालों को मिले विभाग में नौकरी
तर्क- बिलासपुर में पार्सल यूनिट के हमालों को साजिश के तहत निकालने प्रयास चल रहा है। सिर्फ 10 दिन का काम दे रहे हैं।
समस्या- मंत्रालय ने अभी तक संज्ञान में नहीं लिया है। हमालों के परिवार दयनीय स्थिति में है। जीवन यापन का संकट है।
मुद्दा-05-मुंगेली रेल लाइन पर राज्य सरकार सुस्त
तर्क- डोंगरगढ़-मुंगेली रेल लाइन को लेकर राज्य सरकार सुस्त है। प्रोजेक्ट की लागत बढ़ना निश्चित है। 73 साल पीछे चले जाएंगे।
समस्या-केंद्र सरकार ने अभी तक जमीन अधिकग्रहण की प्रक्रिया शुरू नहीं किया है। तत्काल इस ओर ध्यान देने की जरूरत है।
प्रमुख मांगों पर भी किया फोकस
सांसद साव ने कहा कि जयरामनगर बिल्हा,करगी रोड़, कोटा और पेंड्रा रोड में सुपरफास्ट ट्रेनों का भी स्टापेज दिया जाए। क्षेत्र के लोग बड़ी संख्या में सफर से वंचित हो जाते हैं। राजनांदगांव बोरतालाब डोंगरगढ़,यूनिट नागपुर मंडल का हिस्सा है। क्षेत्र को रायपुर मंडल में शामिल करने से ना केवल आम जनता की परेशानी दूर होगी। बल्कि प्रशासनिक सुविधा की नजर से उचित होगा। साव ने बताया कि दिव्यांग जनों के लिए भी रेलवे स्टेशनों में पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। तत्काल व्यवस्था किया जाना बहुत जरूरी है।

Rail News
17576 views
Mar 15 2020 (01:26)
njrpr23
Rpr   24 blog posts
Re# 4591761-1            Tags   Past Edits
Kuch nahi milega!!!
Ek MP k demand se, all mp of region should make combined effort.
Aur waise bhi yhan k MP's ki koi Puch parakh nahi hai Delhi me aur nahi koi unki koi pakad hai central government me.
So all in vein
Rail News
Mar 12 2020 (15:25)   पमरे की आपत्ति के बाद अमरकंटक एक्सप्रेस का इंदौर तक विस्तार टला

Vcpl Jbp   1688 news posts
Entry# 4590539   News Entry# 402712         Tags   Past Edits
जबलपुर. इंदौर के वर्तमान सांसद व पूर्व सांसद व पूर्व लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन के लगातार दबाव के चलते दुर्ग-भोपाल -दुर्ग व्हाया जबलपुर अमरकंटक एक्सप्रेस को इंदौर तक विस्तारित किये जाने के निर्णय पर अंतिम समय में पश्चिम मध्य रेलवे द्वारा लगाई गई आपत्ति पर टाल दिया गया.
बताया जाता है कि गत 26, 27 व 28 फरवरी को बेंगलुरू में इंडियन रेलवे टाइम टेबिल को-आर्डिनेशन कमेटी (आईआरटीटीसीसी) की बैठक आयोजित की गई थी, इस बैठक में रेलवे बोर्ड के बड़े अधिकारियों के अलावा सभी जोनों के परिचालन विभाग के आला अधिकारी शामिल हुए थे. इस बैठक में आगामी 1 जुलाई से लागू होने वाली नई समय सारिणी के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई. साथ ही कुछ जोनों द्वारा
...
more...
अपने-अपने जोनों की ट्रेनों के संबंध में चर्चा की.
पश्चिम रेलवे ने अमरकंटक को इंदौर तक चलाने का प्रस्ताव रखा था
रेल सूत्रों के मुताबिक पश्चिम मध्य रेलवे मुंबई से आये आपरेटिंग विभाग के अधिकारियों ने गाड़ी संख्या 12853-12854 दुर्ग-भोपाल-दुर्ग अमरकंटक एक्सप्रेस को इंदौर तक विस्तारित किये जाने का प्रस्ताव रखा और कहा कि इस ट्रेन की जरूरत इंदौर के नागरिकों को काफी है, क्योंकि वहां से सीधे रायपुर के लिए पर्याप्त ट्रेन सुविधा नहीं है.
पमरे ने आपत्ति जताते हुए यह कहा
रेल सूत्रों के मुताबिक पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर के आला अधिकारियों ने अमरकंटक एक्सप्रेस को इंदौर तक विस्तारित किये जाने का यह कहकर विरोध किया कि पमरे के भोपाल व जबलपुर जैसे बड़े शहरों के लिए यही एकमात्र ट्रेन है जो छत्तीसगढ़ के प्रमुख शहरों को यहां से जोड़ती है और यह ट्रेन हमेशा ही फुल रहती है और लंबी वेटिंग बनी रहती है, ऐसी स्थिति में यदि ट्रेन का विस्तार इंदौर तक किया जाता है तो इससे पमरे के जबलपुर, भोपाल के यात्रियों को असुविधा होगी. बताया जाता है कि पमरे ने इस ट्रेन की ऑक्यूपेंसी का डाटा भी मीटिंग मेें रखा, जिसके बाद फिलहाल इस प्रस्ताव को टाल दिया गया है.
इस विकल्प पर हुई चर्चा
सूत्रों के मुताबिक अमरकंटक एक्सप्रेस के इंदौर विस्तार तक फिलहाल कुछ समय के लिए ही आपत्ति लगाई गई है. मीटिंग में यह बात भी सामने आयी कि संभवत: आगामी 1 या दो माह के भीतर जबलपुर-गोंदिया ब्राडगेज परियोजना का पूरा काम कम्पलीट हो जायेगा, जिसके बाद जबलपुर से गोंदिया होकर दुर्ग, रायपुर के लिए शॉर्टेस्ट वैकल्पिक मार्ग उपलब्ध हो जायेगा, तब इस नये मार्ग से छत्तीसगढ़ के लिए नई ट्रेन चलाई जा सकती है, उस स्थिति में अमरकंटक एक्सप्रेस को इंदौर तक बढ़ाया जाना संभव हो सकेगा.

9 Public Posts - Thu Mar 12, 2020

1259 views
Mar 12 2020 (23:32)
njrpr23
Rpr   24 blog posts
Re# 4590539-10            Tags   Past Edits
In my opinion the best option can be to make one among 12914/12924 regular from NGP and extend other one to R, so that NGP does not loose it's qouta while R will get better connectivity to BPL and INDB.
What do you think?

992 views
Mar 12 2020 (23:41)
njrpr23
Rpr   24 blog posts
Re# 4590539-11            Tags   Past Edits
I agree, Indian Railways is service to the people of India. No state or Zone should have exclusive right over it.
But only those Trains should be extended which do not have good occupancy. 😃😀

3 Public Posts - Fri Mar 13, 2020

2 Public Posts - Sat Mar 14, 2020

35196 views
Mar 14 2020 (15:47)
njrpr23
Rpr   24 blog posts
Re# 4590539-17            Tags   Past Edits
I mean that loss of quota to NGP for INDB due to extension of one train(12913/12923) to R can be compensated by increasing other train's (12913/12923) frequency.

1 Public Posts - Sat Mar 14, 2020

35610 views
Mar 15 2020 (00:43)
njrpr23
Rpr   24 blog posts
Re# 4590539-19            Tags   Past Edits
Read the statement carefully, I clearly mentioned about increasing the frequency( biweekly, triweekly or regular as per demands).

1 Public Posts - Sun Mar 15, 2020
Page#    6 Blog Entries  next>>

COVID-19

ONLY COVID-19 Specials are running.
As Corona cases are increasing rapidly, Members are advised to TAKE extra CARE these days.
1. AVOID going outdoors even if lockdown is easing.
2. ALWAYS wear a MASK when OUTDOORS.
3. Wash hands frequently. Do NOT touch your face.


REMEMBER: PREVENTION is the ONLY Option. There is NO CURE.

Leading Polls

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 4785432
    Nov 21 2020 (02:51AM)


    We are unifying the Bookmark scheme for Blogs & PNRs. Previously, we had different systems of "Followed Blogs", "PNR History", "My PNR Posts", "My PNR Post Predictions", "Stamp Alerts", etc. which were somewhat confusing. Hereafter: For PNRs: 1. You may add ANY PNR to your bookmarks through the "Add Bookmark" link in the...
  • Entry# 4680754
    Aug 03 2020 (10:10PM)


    In the next few days, we shall introduce a "Personal Gallery". This will consist of your own personal pics - no restrictions. You can upload any number of pics to your personal gallery - with with or without trains. This personal gallery will be part of your Member Profile. Thanks.
  • Entry# 4671643
    Jul 18 2020 (11:53PM)


    As our Topics & Quiz section gains popularity, the following change will be made to Quizzes. Starting tomorrow, we shall not reveal the names of people who answered correctly/incorrectly. You will still know how many answered the quiz and the percentage of wrong/right responses. But ONLY the person who answered will know...
  • Entry# 4669324
    Jul 15 2020 (10:01AM)


    Today, we are introducing a new Topic called NEWS-CRITIC. These days, everyday, we are bombarded with spam news, exaggerated news, misleading news, fake news, useless celebrity news, click bait with misleading headlines, etc. Also, much of the news is copied and rewritten from other news outlets, instead of being written first-hand. Everyone...
  • Entry# 4665139
    Jul 09 2020 (12:37AM)


    Over the last few days, there have been concerns expressed by many members that politics are being discussed. Well, with 90% of the trains NOT running over the last 3 months, there is not much rail-fanning happening!!! People have to discuss something. Mature political discussions are allowed in the Topics section,...
  • Entry# 4658593
    Jun 28 2020 (12:39PM)


    To help with the issue of mass tagging of members, we shall soon be expanding the RF Club feature to Pvt Clubs: . 1. Any member will be able to create a Pvt Club and invite other members to join. Joining of any Club is voluntary - members cannot be forced to join...
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy