Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Oct 17 23:48:26 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    343904 news entries  <<prev  next>>
  
Today (22:15) rrb group d exam date 2018 details: 19 अक्टूबर को जारी होगी 29 अक्टूबर के बाद की रेलवे ग्रुप डी परीक्षा तिथि व शहर की डिटेल्स (www.livehindustan.com)
0 Followers
448 views

News Entry# 365166  Blog Entry# 3910967   
  Past Edits
Oct 17 2018 (22:16)
Station Tag: Khagaria Junction/KGG added by Jeetendra Kumar~/1461395

Oct 17 2018 (22:16)
Station Tag: Patna Junction/PNBE added by Jeetendra Kumar~/1461395

Oct 17 2018 (22:16)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by Jeetendra Kumar~/1461395

Oct 17 2018 (22:16)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by Jeetendra Kumar~/1461395

Oct 17 2018 (22:16)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by Jeetendra Kumar~/1461395
RRB Group D Admit Card 2018, exam date, city, shift details: आरआरबी ग्रुप डी परीक्षा का 29 अक्टूबर के बाद का शेड्यूल शुक्रवार 19 अक्टूबर 2018 को जारी होगा। जिन परीक्षार्थियों की एग्जाम डिटेल्स (परीक्षा तिथि, परीक्षा का शहर व शिफ्ट संबंधी जानकारी) अभी जारी नहीं हुई है, शुक्रवार को उनका इंतजार खत्म हो जाएगा। अभी तक रेलवे ने 26 अक्टूबर तक होने वाली परीक्षा का कार्यक्रम ही जारी किया है। गौरतलब है कि 17 सितंबर से रेलवे ग्रुप डी सीबीटी का दौर चल रहा है। परीक्षा तिथि से चार-चार दिन पहले उम्मीदवारों के एडमिट कार्ड जारी हो रहे हैं। परीक्षा हर दिन तीन-तीन शिफ्टों में हो रही है। RRB group d exam 2018: रेलवे ग्रुप डी में पूछा SBI से जुड़ा सवालपरीक्षा तिथि के अलावा SC/ST उम्मीदवारों के लिए ट्रेन ट्रैवल अथॉरिटी के लिंक भी एक्टिव किए जाएंगे। यह सिर्फ यात्रा प्रबंध के लिए है। RRB Group D CBT का स्वरूप कैसा है...
more...
इसके लिए उम्मीदवार मॉक लिंक पर प्रैक्टिस कर सकते हैं। उम्मीदवारों को सीबीटी परीक्षा क्वालिफाई करने के लिए कम से कम 40 प्रतिशत मार्क्स लाने होंगे। ये क्वालिफाइंग मार्क्स ओबीसी के लिए 30 प्रतिशत, एससी के लिए 30 प्रतिशत और एसटी के लिए 25 प्रतिशत रखे गए हैं। rrb group d exam 2018: रेलवे ग्रुप डी परीक्षा में पूछे GK के ये प्रश्नRRB Group D Exam 2018: रेलवे ग्रुप डी परीक्षा में पूछे गए ये सवालरेलवे ग्रुप डी (लेवल 1 ट्रैक मेंटेनर्स, असिस्टेंट पॉइंट्समेन आदि) की करीब 63 हजार वैकेंसी है। इसके लिए करीब 1 करोड़ 90 लाख उम्मीदवार मैदान में हैं। RRB के Direct Link जिस पर क्लिक कर आप अपने एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।Ahmedabad, Ajmer, Allahabad, Bangalore, Bhopal. Bhubaneshwar, Bilaspur, Chandigarh, Chennai, Gorakhpur. Guwahati, Jammu. Kolkata, Malda, Mumbai, Muzaffarpur, Patna, Ranchi, Secunderabad, Siliguri, Trivendrmग्रुप सी के रिजल्ट का इंतजारउधर, ग्रुप सी असिस्टेंट लोको पायलट व टेक्नीशियन की परीक्षा देने वाले उम्मीदवार अपने रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं। आंसर-की जारी हो चुकी है। अब फर्स्ट स्टेज सीबीटी के रिजल्ट का इंतजार है।63000 पदों के लिए आयोजित हो रही है परीक्षाrrb group d के 63000 पदों के लिए 1 करोड़ 90 लाख उम्मीदवार परीक्षा दे रहे हैं। ये परीक्षाएं (सीबीटी- कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट) 17 सितंबर से शुरू हो चुकी हैं।  इस बीच रेलवे ने 05 अक्टूबर शुक्रवार को 16 अक्टूबर के बाद का ग्रुप डी भर्ती परीक्षा का शेड्यूल जारी कर दिया था। लेकिन अभी भी ये पूरा जारी नहीं किया गया है। 17 अक्टूबर से 26 अक्टूबर तक की परीक्षा तिथियों, शहर और शिफ्ट की डिटेल्स जारी की गई थी। 27 और 28 अक्टूबर को परीक्षा नहीं होगी। 29 अक्टूबर को और उसके बाद किस उम्मीदवार की परीक्षा किस दिन होगी, ये जानकारी 18 अक्टूबर को जारी होनी थी। लेकिन रेलवे ने अब ये तिथि एक दिन आगे बढ़ाकर 19 अक्टूबर कर दी है। यानी 29 अक्टूबर और उसके बाद की परीक्षा तिथि, शहर और शिफ्ट की डिटेल्स 19 अक्टूबर को जारी होगी।
  
Today (22:13) अब रेल मंत्री के सैलून में कोई भी कर सकेगा सफर (www.jagran.com)
0 Followers
490 views

News Entry# 365165  Blog Entry# 3910959   
  Past Edits
Oct 17 2018 (22:13)
Station Tag: Patna Junction/PNBE added by Jeetendra Kumar~/1461395

Oct 17 2018 (22:13)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by Jeetendra Kumar~/1461395

Oct 17 2018 (22:13)
Station Tag: Malda Town/MLDT added by Jeetendra Kumar~/1461395

Oct 17 2018 (22:13)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by Jeetendra Kumar~/1461395

Oct 17 2018 (22:13)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by Jeetendra Kumar~/1461395
नई दिल्ली, प्रेट्र। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आइआरसीटीसी को उनके लिए निर्धारित दो सैलून का भी आम लोगों के लिए इस्तेमाल करने को कहा है। रेल मंत्री ने रेलवे की कैटरिंग शाखा से ऐसे सैलून जिनका इस्तेमाल सुरक्षा या संचालन में नहीं हो रहा है, उनका भुगतान के आधार पर वाणिज्यिक उपयोग करने को कहा है। इसी वर्ष मार्च में आइआरसीटीसी ने देश के पहले सैलून कोच को सार्वजनिक इस्तेमाल में लाया। केवल रेल अधिकारियों के लिए आरक्षित इस सैलून में वातानुकूलित कक्ष, अटैच बाथरूम और वालेट सर्विस भी है। सूत्र ने कहा, 'मंत्री का अनुभव है कि सैलून उपनिवेश कालीन मानसिकता है। आधुनिक भारत में इसके लिए कोई जगह नहीं है। उन्होंने न केवल अपने लिए निर्धारित दो सैलून का त्याग किया है, बल्कि आइआरसीटीसी से ऐसे सैलूनों को भी त्यागने के लिए कहा है जिनका इस्तेमाल रेलवे द्वारा नहीं किया जा रहा है। उनका वाणिज्यिक इस्तेमाल करने को...
more...
कहा है।' सैलून या निरीक्षण कार में दो परिवार रह सकते हैं। पांच दिनों तक इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें दो बेडरूम, एक लाउंज, एक पैंट्री, एक टायलेट और एक किचन होता है। रेलवे के विभिन्न जोन के पास कुल 336 सैलून हैं। इनमें से 62 वातानुकूलित हैं। प्रगाढ़ होते जा रहे हैं रूस-पाक सैन्य संबंध, 21 अक्बूटर से 4 नवंबर तक करेंगे सैन्य अभ्यास यह भी पढ़ें Posted By: Ravindra Pratap Sing
नई दिल्ली, प्रेट्र। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आइआरसीटीसी को उनके लिए निर्धारित दो सैलून का भी आम लोगों के लिए इस्तेमाल करने को कहा है। रेल मंत्री ने रेलवे की कैटरिंग शाखा से ऐसे सैलून जिनका इस्तेमाल सुरक्षा या संचालन में नहीं हो रहा है, उनका भुगतान के आधार पर वाणिज्यिक उपयोग करने को कहा है।
इसी वर्ष मार्च में आइआरसीटीसी ने देश के पहले सैलून कोच को सार्वजनिक इस्तेमाल में लाया। केवल रेल अधिकारियों के लिए आरक्षित इस सैलून में वातानुकूलित कक्ष, अटैच बाथरूम और वालेट सर्विस भी है।
सूत्र ने कहा, 'मंत्री का अनुभव है कि सैलून उपनिवेश कालीन मानसिकता है। आधुनिक भारत में इसके लिए कोई जगह नहीं है। उन्होंने न केवल अपने लिए निर्धारित दो सैलून का त्याग किया है, बल्कि आइआरसीटीसी से ऐसे सैलूनों को भी त्यागने के लिए कहा है जिनका इस्तेमाल रेलवे द्वारा नहीं किया जा रहा है। उनका वाणिज्यिक इस्तेमाल करने को कहा है।'
सैलून या निरीक्षण कार में दो परिवार रह सकते हैं। पांच दिनों तक इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें दो बेडरूम, एक लाउंज, एक पैंट्री, एक टायलेट और एक किचन होता है। रेलवे के विभिन्न जोन के पास कुल 336 सैलून हैं। इनमें से 62 वातानुकूलित हैं।

Posted By: Ravindra Pratap Sing
पीएचडी के लिए लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के अंकों को मिलाकर बनेगी पात्रता सूची
प्रगाढ़ होते जा रहे हैं रूस-पाक सैन्य संबंध, 21 अक्बूटर से 4 नवंबर तक करेंगे सैन्य अभ्यास
नीति आयोग ने 'नॉन कम्युनिकेबल डिजीज' के इलाज के लिए दिशानिर्देश जारी किए
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
  
Today (22:00) बिना गार्ड के ही 12 किलोमीटर तक दौड़ी फरक्का एक्सप्रेस (www.livehindustan.com)
Major Accidents/Disruptions
NR/Northern
0 Followers
558 views

News Entry# 365164  Blog Entry# 3910919   
  Past Edits
Oct 17 2018 (22:00)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
दिल्ली से मालदा टाउन जाने वाली ट्रेन 13484 फरक्का एक्सप्रेस गुरुवार को बिना गार्ड के ही कानुपर से मगरवारा तक दौड़ गई। मामले की जानकारी होने पर कंट्रोल रुम ने इसकी सूचना लोको पायलट का दी। फिर ट्रेन को मगरवारा में रोक कर मालगाड़ी से गार्ड को भेजा गया। इस दौरान ट्रेन करीब एक घंटे तक आउटर पर खड़ी रही।हरचंदपुर रेल हादसे के बाद रेलवे सीख नहीं ले पा रहा है। बुधवार को कानुपर सेंट्रल से बिना गार्ड के ट्रेन दौड़ने की सूचना पर रेल अधिकारियों में हड़कंप मच गया। जानकारों के मुताबिक दिल्ली से चल कर फरक्का एक्सप्रेस सुबह 6 बजे कानपुर सेंट्रल पहुंची थी। कानुपर से गार्ड की ड्यूटी बदलना थी। यहां से गार्ड जेके वर्मा को ट्रेन लेकर लखनऊ तक आना था। जानकारी के अनुसार गार्ड को प्लेटफार्म पर अपना बाक्स नहीं मिला। गार्ड जेके वर्मा बाक्स चोरी होने की सूचना दर्ज कराने जीआरपी थाने चले गए। इसी...
more...
दौरान ट्रेन का सिग्नल हो गया। वहीं, लोको पायलट ने ट्रेन चलाने से पहले न तो गार्ड से वाकी टॉकी पर बात की और न ही हरी झंडी देखी। सिग्नल होते ही लोको पायलट जवाहर ने ट्रेन को चला दिया। इसकी जानकारी पर जब कंट्रोल रुम पर दी गई तो ट्रेन को मगरवारा में रोका गया। रेलवे ने मामले की जांच के आदेश दिए है।
  
Today (21:58) इलेक्ट्रिक ट्रैक पर खामियां देख बिफरे सीआरएस, जौनपुर-शाहगंज रूट पर हुए विद्युतीकरण में खामियां देख सीआरएस शैलेष कुमार का पारा चढ़ गया (www.jagran.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
551 views

News Entry# 365163  Blog Entry# 3910916   
  Past Edits
Oct 17 2018 (21:58)
Station Tag: Tanda/TD added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Oct 17 2018 (21:58)
Station Tag: Akbarpur Junction/ABP added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Oct 17 2018 (21:58)
Station Tag: Jaunpur Junction/JNU added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Oct 17 2018 (21:58)
Station Tag: Shahganj Junction/SHG added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
जागरण संवाददाता, जौनपुर: जौनपुर-शाहगंज रूट पर हुए विद्युतीकरण में खामियां देख सीआरएस शैलेष कुमार का पारा चढ़ गया। अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कमियों को जल्द से जल्द ठीक करने का निर्देश दिया। सीआरएस बुधवार सुबह साढ़े नौ बजे जौनपुर जंक्शन से खेतासराय स्टेशन पहुंचे थे। यहां कंट्रोल रूम का उद्घाटन करने के बाद वह ट्राली से शाहगंज की ओर रवाना हो गए। उनके साथ उत्तर रेलवे के डीआरएम सतीश कुमार समेत रेलवे के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। इलेक्ट्रिक से ट्रेनों की शुरूआत अगले कुछ दिनों में होने की संभावना है। रायबरेली में हरचंदपुर स्टेशन के करीब न्यू फरक्का एक्सप्रेस के बेपटरी होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी इसकी जांच चल रही है। साथ ही शाहगंज स्टेशन के करीब लगातार दो बार ट्रैक टूटने की घटना से सबक लेने को कहा। पुलिस की पिटाई...
more...
से ट्रक चालक घायल यह भी पढ़ें निरीक्षण के पहले सीआरएस ने मुख्य विद्युत अभियंता समेत रेल पथ से जुड़े सभी विभागीय अधिकारियों से जानकारी ली। आधा-अधूरा रिपोर्ट पेश करने पर फटकार भी लगाई। उन्होंने इंटेंसिव ट्रे¨नग मास्टर ड्राइव के बारे में संबंधित अधिकारी से जानकारी मांगने समेत यातायात निरीक्षक से भी जवाब मांगे। सीईई को भी फटकार लगते हुए कहा कि एसीटी चे¨कग किए बगैर 75 फीसदी कार्यों को ओके कैसे बता दिया। रेल संरक्षा आयुक्त ने दिल्ली, अंबाला, आसनसोल, डेहरी समेत अन्य स्थानों पर हुए कार्यों का हवाला देते हुए सीख लेने की नसीहत दी। शाहगंज रेलवे स्टेशन पर निरीक्षण के दौरान वह रिले रूम पहुंचे तो यहां ताला बंद देख उप मुख्य अभियंता संकेत शर्मा पर भड़क गए। इसके बाद उन्होंने पावर हाउस पहुंच अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। जफराबाद से अकबरपुर टांडा के 121 किलोमीटर की इस महत्वपूर्ण परियोजना पर बीते डेढ़ वर्ष से कार्य चल रहा था। जौनपुर-शाहगंज रूट पर तकरीबन 35-40 ट्रेनें चलती हैं। इसमे 30 एक्सप्रेस व मेल ट्रेन शमिल हैं। इलेक्ट्रिक लाइन से ट्रेनों को रफ्तार तो मिलेगी ही यात्रियों को लेटलतीफी के झंझट से भी छुटकारा मिलेगा। जफराबाद, जौनपुर जंक्शन, मेहरावां, महगांवा, खेतासराय, शाहगंज, बेलवाईं व मालीपुर समेत अकबरपुर व टांडा तक तकरीबन 121 किलोमीटर पर विद्युतीकरण का कार्य काफी समय से चल रहा था। मुख्य परियोजना निदेशक सुधाशु कृष्ण दुबे समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे। ------------------------ डीआरएम ने सुनाई खरी-खरी करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने निकाली शोभायात्रा यह भी पढ़ें सीआरएस स्पेशल सुबह ही जौनपुर जंक्शन पहुंच गई थी। सुबह तकरीबन पौने नौ बजे डीआरएम सतीश कुमार ने स्टेशन पर चले रहे कार्यों की समीक्षा किया। इस दौरान धीमे निर्माण पर अधिकारियों को लताड़ा भी। उन्होंने प्लेटफार्म समेत सर्कुले¨टग एरिया कर निरीक्षण किया। प्लेटफार्म पर जगह-जगह गड्ढों को देख मुख्य कार्य निरीक्षक को चेतावनी दी। कहा कि ऐसा नहीं चलेगा। इसके अलावा उन्होंने निर्देश के बाद भी पुरानी बि¨ल्डगों को अबतक नहीं तोड़े जाने को लेकर भी अधिकारियों को तलब किया। तकरीबन आधे घंटे निरीक्षण के दौरान उन्होंने प्लेटफार्म विस्तार समेत अन्य रूके हुए लंबित परियोजनाओं की जानकारी ली। साथ इन्हें प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने का निर्देश दिया।Posted By: Jagran
जागरण संवाददाता, जौनपुर: जौनपुर-शाहगंज रूट पर हुए विद्युतीकरण में खामियां देख सीआरएस शैलेष कुमार का पारा चढ़ गया। अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कमियों को जल्द से जल्द ठीक करने का निर्देश दिया। सीआरएस बुधवार सुबह साढ़े नौ बजे जौनपुर जंक्शन से खेतासराय स्टेशन पहुंचे थे। यहां कंट्रोल रूम का उद्घाटन करने के बाद वह ट्राली से शाहगंज की ओर रवाना हो गए। उनके साथ उत्तर रेलवे के डीआरएम सतीश कुमार समेत रेलवे के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। इलेक्ट्रिक से ट्रेनों की शुरूआत अगले कुछ दिनों में होने की संभावना है। रायबरेली में हरचंदपुर स्टेशन के करीब न्यू फरक्का एक्सप्रेस के बेपटरी होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी इसकी जांच चल रही है। साथ ही शाहगंज स्टेशन के करीब लगातार दो बार ट्रैक टूटने की घटना से सबक लेने को कहा।

निरीक्षण के पहले सीआरएस ने मुख्य विद्युत अभियंता समेत रेल पथ से जुड़े सभी विभागीय अधिकारियों से जानकारी ली। आधा-अधूरा रिपोर्ट पेश करने पर फटकार भी लगाई। उन्होंने इंटेंसिव ट्रे¨नग मास्टर ड्राइव के बारे में संबंधित अधिकारी से जानकारी मांगने समेत यातायात निरीक्षक से भी जवाब मांगे। सीईई को भी फटकार लगते हुए कहा कि एसीटी चे¨कग किए बगैर 75 फीसदी कार्यों को ओके कैसे बता दिया। रेल संरक्षा आयुक्त ने दिल्ली, अंबाला, आसनसोल, डेहरी समेत अन्य स्थानों पर हुए कार्यों का हवाला देते हुए सीख लेने की नसीहत दी। शाहगंज रेलवे स्टेशन पर निरीक्षण के दौरान वह रिले रूम पहुंचे तो यहां ताला बंद देख उप मुख्य अभियंता संकेत शर्मा पर भड़क गए। इसके बाद उन्होंने पावर हाउस पहुंच अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। जफराबाद से अकबरपुर टांडा के 121 किलोमीटर की इस महत्वपूर्ण परियोजना पर बीते डेढ़ वर्ष से कार्य चल रहा था। जौनपुर-शाहगंज रूट पर तकरीबन 35-40 ट्रेनें चलती हैं। इसमे 30 एक्सप्रेस व मेल ट्रेन शमिल हैं। इलेक्ट्रिक लाइन से ट्रेनों को रफ्तार तो मिलेगी ही यात्रियों को लेटलतीफी के झंझट से भी छुटकारा मिलेगा। जफराबाद, जौनपुर जंक्शन, मेहरावां, महगांवा, खेतासराय, शाहगंज, बेलवाईं व मालीपुर समेत अकबरपुर व टांडा तक तकरीबन 121 किलोमीटर पर विद्युतीकरण का कार्य काफी समय से चल रहा था। मुख्य परियोजना निदेशक सुधाशु कृष्ण दुबे समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
------------------------
डीआरएम ने सुनाई खरी-खरी

सीआरएस स्पेशल सुबह ही जौनपुर जंक्शन पहुंच गई थी। सुबह तकरीबन पौने नौ बजे डीआरएम सतीश कुमार ने स्टेशन पर चले रहे कार्यों की समीक्षा किया। इस दौरान धीमे निर्माण पर अधिकारियों को लताड़ा भी। उन्होंने प्लेटफार्म समेत सर्कुले¨टग एरिया कर निरीक्षण किया। प्लेटफार्म पर जगह-जगह गड्ढों को देख मुख्य कार्य निरीक्षक को चेतावनी दी। कहा कि ऐसा नहीं चलेगा। इसके अलावा उन्होंने निर्देश के बाद भी पुरानी बि¨ल्डगों को अबतक नहीं तोड़े जाने को लेकर भी अधिकारियों को तलब किया। तकरीबन आधे घंटे निरीक्षण के दौरान उन्होंने प्लेटफार्म विस्तार समेत अन्य रूके हुए लंबित परियोजनाओं की जानकारी ली। साथ इन्हें प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने का निर्देश दिया।
Posted By: Jagran
बदमाशों ने पिटाई कर लूटे 80 हजार
पुलिस की पिटाई से ट्रक चालक घायल
करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने निकाली शोभायात्रा
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
  
Today (17:37) Allahabad Renamed as ‘Prayagraj’; Rechristening of Railway Station, High Court Likely Soon (www.india.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
1097 views

News Entry# 365108  Blog Entry# 3910090   
  Past Edits
Oct 17 2018 (17:37)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739
Stations:  Allahabad Junction/ALD  
Allahabad Renamed as 'Prayagraj'; Rechristening of Railway Station, HC Likely Soon
Lucknow: A day after the Uttar Pradesh Cabinet adopted a proposal to rename the historic city of Allahabad as Prayagraj, reports are doing rounds that other institutes that consists the name of the district will also be renamed soon. The proposal will now go to the Centre before the city is officially renamed.
Speaking to The Indian Express, Government spokesperson and Cabinet minister Siddhartha Nath Singh indicated that the names of Allahabad High Court and Allahabad Railway Station may also be changed soon. “There are
...
more...
some central institutes, organisations named after Allahabad… There is the high court, railway station… letters would be sent to them for the same and to take the process forward,” he told IE.
On Tuesday, Uttar Pradesh Chief Minister, while announcing the Cabinet decision, said, “Keeping in view the feelings and emotions of the people, Allahabad has been renamed Prayagraj by our government. Five hundred years ago the name of the place was Prayagraj as it is at the `Triveni Sangam’ (a confluence of three rivers).”
“Those who are opposing this are not aware of their history, culture and traditions and we can’t have hopes from them. There are many Prayags on the bank of the sacred rivers coming from the Himalayas but this place is Prayagraj (the leading one among them),” he added.
The move was however, opposed by the Congress and Samajwadi Party. Congress spokesperson Onkar Singh said the region where Kumbh Mela is held is already called Prayagraj. The state government can make that a separate city but Allahabad’s name should not be changed, he added.
The proposal to change the name was floated by Bharatiya Janata Party (BJP) leader and UP Health Minister Siddharth Nath Singh a few months ago. As per some reports, banners for the 2019 Kumbh Mela mention the name of the city as Prayagraj instead of Allahabad so the renaming might just happen before the Mela begins on January 15 next year.
Page#    343904 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy