Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Nov 17 14:22:53 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    347663 news entries  <<prev  next>>
  
Today (08:31) स्टेशन पर मिली 14 साल की नाबालिग (mnaidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
566 views

News Entry# 368991  Blog Entry# 4013104   
  Past Edits
Nov 17 2018 (08:32)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Jabalpur Junction/JBP  
जबलपुर। मुख्य रेलवे स्टेशन पर नौरोजाबाद से गायब हुई एक 14 साल की नाबालिग जीआरपी के जवानों को मिली। दरअसल रोज की तरह शुक्रवार को भी जवान स्टेशन पर सर्चिंग कर रहे थे, तभी उन्हें गुमशुम से स्टेशन पर बैठी बालिका मिली, जबकि नौरोजाबाद पुलिस, कटनी में इसकी तलाश रही थी। जीआरपी ने नौरोजाबाद की पुलिस को जबलपुर बुलाकर बालिका को उनके सुपुर्द कर दिया गया है।
DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.
  
Today (08:30) हावड़ा मेल चली गई, नहीं खुला रेल फाटक (mnaidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
458 views

News Entry# 368990  Blog Entry# 4013102   
  Past Edits
Nov 17 2018 (08:31)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Jabalpur Junction/JBP  
जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
औद्योगिक क्षेत्र रिछाई से महाराजपुर के बीच आ-जा रहे वाहनों में शुक्रवार की दोपहर 1.30 बजे अचानक ही ब्रेक लग गए। महाराजपुर-रिछाई रेल फाटक बंद होने से दोनों ओर कतार में वाहन खड़े रहे। हालांकि घिरनी में फंसा तार निकलते ही रेल फाटक खुल गया और वाहनों, नागरिकों की आवाजाही बहाल हो गई।
प्रत्यक्षदर्शी उमेश शर्मा, पुष्पेन्द्र सिंह ने बताया कि रिछाई से महाराजपुर जा रहे थे और रेल फाटक बंद होने से सड़क पर रुक गए। कुछ देर में हावड़ा-मुंबई मेल पटरियों से धड़धड़ाती गुजर गई। करीब 10
...
more...
मिनट बाद भी गेटमैन बंद रेल फाटक को खोल नहीं पाया। गेटमैन तेल की कुप्पी हाथ में लेकर रेल फाटक बंद होने की वजह खोज रहा था। करीब 20 मिनट बाद गेटमैन ने बताया कि रेल फाटक के लिए घिरनी में फंसा तार चलाता है। दोपहर का तापमान बढ़ने से एक तार फैलकर दूसरे पर चढ़ गया, जिससे घिरनी नहीं चल रही है। करीब 3 बजे बंद रेल फाटक खोलने में सफल हो गया। इस दौरान कुछ बाइक चालक गेटमैन की चौकी, पटरियों या यहां-वहां से लगातार निकलते रहे।
DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.
  
Today (08:29) स्टेशन से मालगोदाम तक ठेलों की जगह बनेंगी दुकानें, रेलवे जमीन देगा, निगम बनाएगा (mnaidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
466 views

News Entry# 368989  Blog Entry# 4013098   
  Past Edits
Nov 17 2018 (08:29)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Jabalpur Junction/JBP  
जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
मुख्य रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट की तर्ज पर सुंदर और सुविधाजनक बनाने में रेलवे अब नगर निगम के साथ मिलकर काम करेगा। माल गोदाम से मुख्य रेलवे स्टेशन के बीच बनी फोरलेन के दोनों ओर लगे खाने के ठेलों को हटाकर दुकानें बनाने पर नगर निगम और रेलवे के बीच सहमति बन गई है। निगम प्रशासन अपनी खाली पड़ी जमीन पर दुकानें बनाएगा और दुुकानों की संख्या बढ़ाने पर रेलवे इसके लिए जमीन भी देगा।
नगर निगम के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में रेलवे स्टेशन परिसर और इससे
...
more...
लगे आस-पास के क्षेत्र को विकसित किया जाएगा। इसमें दीवारों को सुंदर बनाने से हाईटेक बाथरूम, अतिक्रमण हटाने से लेकर बेहतर पार्किंग सुविधा करने में भी रेलवे की मदद करेगा।
जरूरत हुए तो रेलवे लीज पर देगा जमीन
डीआरएम मनोज सिंह और नगर निगम कमिश्नर चंद्रमौलि शुक्ला ने दोनों विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। दोनों ओर से अधिकारियों ने अपनी बात रखी। इसमें मुख्य तौर पर माल गोदाम से प्लेटफार्म 6 तक जाने वाली सड़क के दोनों ओर ठेलों को हटाने पर चर्चा की गई। रेलवे का कहना है कि यह सड़क निगम निगम क्षेत्र में आती है, इसलिए रेलवे इन अतिक्रमण को नहीं हटा सकता, लेकिन निगम का कहना है कि इन्हें हटाकर यहां दुकानें बनाना चाहता है, पर इसमें रेलवे अपनी जमीन बनाकर आपत्ति कर रहा है। इस पर डीआरएम ने उन्हें आश्वासन दिया कि वे यहां दुकानें बनाएं, जरूरत पड़ने पर रेलवे लीज पर जमीन भी देगा।
हम 24 नहीं 200 दुकानें बना देंगे
निगम निगम के अपर आयुक्त जीएस नागेश ने बताया कि इस सड़क से लगी निगम की सीमा में जमीन का कुछ हिस्सा है, जहां 24 दुकानें बनाने का प्रस्ताव था, लेकिन रेलवे की आपत्ति के बाद फिलहाल इसे रोक दिया गया। हालांकि रेलवे हमें यदि और जमीन लीज पर दे तो हम 24 की जगह 200 शॉप बना सकते हैं। अपर आयुक्त के मुताबिक निगम के स्ट्रीट आर्ट अभियान के तहत रेलवे स्टेशनों की दीवारों पर आर्ट पेंटिंग होगी।
छोटीलाइन रोड पर चर्चा
जबलपुर के छोटी लाइन फाटक से ग्वारीघाट तक रेलवे की जमीन में ग्रीन कॉरीडोर बनने का भी मुद्दा उठा। इस पर निगम प्रशासन का कहना था कि जमीन लेने के लिए अपने स्तर पर सभी प्रक्रिया पूरी कर ली है। इसके बदले में वह रेलवे को डुमना स्थित जमीन देने को भी तैयार है। इस पर अंतिम निर्णय रेलवे को लेना है। नगर निगम कमिश्नर ने बताया कि शहरी विकास मंत्रालय और रेलवे के बीच हुए समझौते के तहत निगम जमीन को लीज पर लेकर इसका उपयोग लोगों की सुविधा बढ़ाने में कर सकते हैं। इस पर रेलवे की ओर से बताया कि प्रस्ताव मंडल स्तर से जोन स्तर पर पहुंच गया है।
वर्जन-
रेलवे स्टेशन और इसके आप-पास के क्षेत्र को विकसित करने नगर निगम और रेलवे के बीच बातचीत हुई है। इसका सकारात्मक पक्ष सामने आया है। रेलवे, निगम की हर संभव मदद करने तैयार है।
चंदमौलि शुक्ला, कमिश्नर, नगर निगम
DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.
  
Today (08:28) आज कुछ ट्रेनें देरी से रवाना होंगी (mnaidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
475 views

News Entry# 368988  Blog Entry# 4013094   
  Past Edits
Nov 17 2018 (08:28)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
जबलपुर। जबलपुर से कटनी की ओर जाने वाली ट्रेन शनिवार को अपने निर्धारित समय से देरी से चलेंगी। दरअसल बीना से कटनी और बीना से गुना के बीच रेलवे का मेंटेनेंट का काम किया जा रहा है, जिस वजह से सात ट्रेनों को री-शेड्यूल किया गया है। शनिवार की सुबह जबलपुर से जाने वाली 11466 डाउन सोमनाथ एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से 6.40 घंटे देरी से रवाना होंगी। वहीं ट्रेन 01707 जबलपुर-अटारी एक्सप्रेस भी 6 घंटे 40 मिनट देरी से जाएगी।
इसके अलावा जबलपुर-निजामुद्दीन गोंडवाना एक्सप्रेस 20 मिनट विलंब से छूटेगी। रेलवे ने बीना-कटनी पैसेंजर, कटनी-बीना पैसेंजर, भोपाल-बिलासपुर एक्सप्रेस व कटनी-चौपन एक्सप्रेस को भी री-शेड्यूल किया है।
DISCLAIMER:
...
more...
JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.
  
Today (08:26) शहर के ऐतिहासिक महत्व को रेलवे स्टेशन पर दिखाने के लिए फिर हो रहा प्रयोग (mnaidunia.jagran.com)
IR Affairs
WR/Western
0 Followers
499 views

News Entry# 368987  Blog Entry# 4013085   
  Past Edits
Nov 17 2018 (08:26)
Station Tag: Indore Junction/INDB added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Indore Junction/INDB  
- रेलवे की स्टेशन की दीवारों पर उकेरा मालवा का इतिहास
- स्टेशन को पैसेंजर फ्रेंडली बनाने की कवायद, मालवा के साथ निमाड़ की ऐतिहासिक धरोहरों को रंगों के माध्यम से दीवारों पर बनाया
इंदौर। शहर के ऐतिहासिक महत्व को रेलवे स्टेशन पर दिखाने के लिए फिर से प्रयोग हो रहा है। पहले भी यहां खूबसूरती के लिए तरह-तरह की कवायद हो चुकी है। बहरहाल, इस बार रेलवे प्रबंधन ने रेलवे स्टेशन के इस प्रयोग को पैसेंजर फ्रेंडली का नाम दिया है। इसकी तैयारी जोर-शोर से चल रही है। लगभग आधा
...
more...
काम तो हो चुका है। स्टेशन की दीवारों पर मालवा और निमाड़ की कलाकृतियों को उकेरा जा रहा है। होलकरकालीन राजवंश का इतिहास हो या फिर देशभक्त रानी लक्ष्मीबाई की कहानी, चित्रों के माध्यम से पैसेंजर के सामने रखा जा रहा है। ऐतिहासिक धरोहरों को भी इसीलिए दीवारों पर जगह दी गई है जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिल सके। रेलवे प्रबंधन का मकसद यही है कि देश-विदेश से आने वाले यात्री जब स्टेशन पर पहुंचे तो वे शहर ही नहीं मालवा और निमाड़ की ऐतिहासिक धरोहरों से भी कनेक्ट हो जाएं। इन धरोहरों को भी दीवारों पर जगह दी गई है। फिलहाल, रेलवे स्टेशन का मुख्य द्वार का काम होना बाकी है। यह पूरी तरह इंदौर के ही राजवाड़ा की तर्ज पर बनाया जाएगा।
रेलवे विभाग द्वारा स्वच्छ अभियान के साथ ही स्टेशन को पैसेंजर फ्रेंडली बनाने की कवायद की जा रही है। प्लेटफार्म 1 की दीवारों पर कलाकृतियां उकेरी जा रही हैं। काफी हद तक उन्हें रंगा गया है। कुछ को लाइनिंग किया गया है जिनमें कलर होना बाकी है। दीवारों पर देवी अहिल्या को पेंटिंग के माध्यम से उकेरा गया। उनके अलावा राजवाड़ा, होलकर राजाओं की छत्रियां, उज्जैन का कुंभ, शिप्रा नदी के तट, नर्मदा नदी, मांडव, ओंकारेश्वर और महेश्वर की ऐतिहासिक धरोहरों से लेकर तो पातालपानी के दृश्यों को दीवारों पर बनाया गया है। सफेद सूनी पड़ी दीवारें अब रंगीन हो गई हैं। यात्री जैसे ही स्टेशन पर पहुंचता है तो बस इन दीवारों को देखते ही रहता है। रेलवे प्रबंधन का खास मकसद स्टेशन की स्वच्छता के साथ सुंदरता को बढ़ाना था। जिससे यात्रियों को स्टेशन के माध्यम से मालवा-निमाड़ से कनेक्ट किया जा सके। रेलवे अफसरों की माने तो वे स्टेशन को पूरी तरह फ्रेंडली बनाना चाहते हैं। यात्रियों को आते ही स्टेशन पर बोरियत न लगे। वे देर तक भी बैठे हैं तो उन्हें इन दीवारों को देखकर सुकून महसूस हो। हालांकि, ऐसा प्रयोग पहले नहीं हुआ यह बात नहीं है। पहले भी स्टेशन को खूबसूरत बनाने की कोशिश होती रही है।
अहिल्या देवी और झांसी की रानी की दिखाई वीरता
दीवारों पर जहां कुंभ के लिए संतों की कलाकृतियां उकेरी गईं। वहीं, अहिल्या देवी और झांसी की रानी की वीरता को दिखाया गया। महेश्वर व मांडव के किलों को खूबसूरती से दिखाया गया है। पातालपानी की वादियों को भी सफेद दीवारों पर रंगों के माध्यम से बनाया। रेलवे प्रबंधन का कहना है कि स्टेशन पर दूर-दूर के लोग आते हैं। जब दीवारों पर इंदौर व उसके आसपास की ऐतिहासिक धरोहर देखेंगे तो वे वहां जाएंगे। पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।
स्टेशन बने दार्शनिक, यात्रियों को न हो बोरियत
रेलवे के अफसरों का कहना है कि स्टेशन को पहले भी खूबसूरत बनाने की कोशिश होती रही है। अभी जो प्रोजेक्ट आया है वह बेहद अच्छा है। मुख्य गेट से लेकर तो स्टेशन को अंदर से भी इस तरह डिजाइन किया जा रहा है कि वह पूरी तरह दार्शनिक लगे। लोग जैसे ही स्टेशन पर नजर घुमाए तो उन्हें खूबसूरती का एहसास हो। कई बार स्टेशन पर बैठकर यात्रियों को ट्रेन का इंतजार करना होता है। ऐसे में यही कलाकृतियां उन्हें बोर नहीं होने देंगी। इन कलाकृतियों और पेंटिंग्स उनकी मनोदशा पर काफी प्रभाव डालेगी।
थाने को भी बना दिया खूबसूरत
रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर रेलवे थाना भी है। इसकी दीवारों को भी बाहर से रंगा गया है। उस पर थाने की छवि को बनाया। सलाखों को बनाया गया और आसपास दो पुलिसकर्मियों को ड्राइंग किया गया। इसका मकसद यही है कि थाने को देखकर जहां लोग डरते हैं। वहीं यात्रियों को भी थाने पर खूबसूरती दिखाई दे। यात्रियों को ये दीवारें थाने से भी फ्रेंडली करने में सहायता करेंगी।
कमल के फूल पर उपजा था विवाद
स्टेशन को खूबसूरत बनाने के लिए रेलवे प्रबंधन ने लाखों रुपए बहाए हैं। पूर्व में भी राजवाड़ा को दर्शाया गया था। रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर पर म्यूरल लगाया गया था जिसमें कमल का फूल भी था। चुनाव के चलते यह कमल का फूल विवाद का बड़ा कारण बन गया। आखिरकार उसे हटाया गया। इसी तरह, स्टेशन के बाहर कैंपस में पुराने इंजन को भी खूबसूरती के हिसाब से रखा गया है। जो आज भी मौजूद है।
राजवाड़ा की तर्ज पर बनेगा मुख्य द्वार, लगेंगे साढ़े सात करोड़
शहर की शान कहे जाने वाले राजवाड़ा की प्रतिकृति रेलवे स्टेशन के बाहर नजर आएगी। 1820 से 1833 के बीच राजवाड़ा बनाने में साढ़े चार लाख रुपए लगे थे। अब इसकी प्रतिकृति सहित अन्य काम करवाने में ही साढ़े सात करोड़ रुपए लगेंगे। इमारत का ज्यादातर हिस्सा सीमेंट कांक्रीट से ही बनेगा।
वर्शन-
स्टेशन पर पहुंचते ही दुुनियाभर के यात्री शहर से हो जाए कनेक्ट
स्टेशन को पैसेंजर फ्रेंडली बनाया जा रहा है। जिससे लोग यहां आकर बैठे तो उन्हें बोरियत महसूस न हो। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यह कवायद की जा रही है। पहले भी समय-समय पर स्टेशन को बेहतर बनाने के प्रयास किए गए थे। इस बार काफी अच्छा मॉडल तैयार किया गया है। जिसमें राजवाड़ा सहित मालवा-निमाड़ की ऐतिहासिक धरोहरों को दर्शाया जाएगा। जैसे ही दुनियाभर के यात्री स्टेशन पर पहुंचे तो वे कलाकृतियों को देखकर शहर व उसके गौरव से कनेक्ट हो जाए।
- आरएन सुनकर, डीआरएम रतलाम मंडल
DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.
Page#    347663 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy