News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Fri Aug 18, 2017 16:35:19 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Fri Aug 18, 2017 16:35:19 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
Page#    294110 news entries  <<prev  next>>
  
Today (12:37)  Soon, you'd be able to travel from Delhi to Amritsar by train in just 2 hours (www.google.co.in)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 312140     
   Tags   Past Edits
Aug 18 2017 (12:37)
Station Tag: Amritsar Junction/ASR added by Railfan Aryan Kapoor~/945861

Aug 18 2017 (12:37)
Station Tag: Jalandhar City Junction/JUC added by Railfan Aryan Kapoor~/945861

Aug 18 2017 (12:37)
Station Tag: Ludhiana Junction/LDH added by Railfan Aryan Kapoor~/945861

Aug 18 2017 (12:37)
Station Tag: Chandigarh Junction/CDG added by Railfan Aryan Kapoor~/945861

Aug 18 2017 (12:37)
Station Tag: Ambala Cantt. Junction/UMB added by Railfan Aryan Kapoor~/945861

Aug 18 2017 (12:37)
Station Tag: Panipat Junction/PNP added by Railfan Aryan Kapoor~/945861

Aug 18 2017 (12:37)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by Railfan Aryan Kapoor~/945861

Posted by: Railfan Aryan Kapoor~  10 news posts
Adding to the list of latest trains with advanced technology is also a bullet train, set to be launched in a few years, between Delhi and Amritsar.
The train, to be launched by Indian Railways, will run between the two destinations via Chandigarh, at a speed of 300km/hr. The bullet train will reportedly cover the 458-km journey in just two hours and three minutes, thus reducing the train-travel time from Delhi to Amritsar to one-third of the current duration.
Besides Chandigarh, the train will also have stops at Panipat, Ambala and Ludhiana.
The
...
more...
feasibility study of the corridor has been done by France's Systra. "The feasibility study report of high-speed rail corridor between Delhi-Chandigarh-Amritsar had been submitted to the Ministry of Railways in 2016. The report has been accepted by the Ministry of Railways and is currently under consideration," an official was quoted as saying by Financial Express.
The base fare has been recommended at Rs 4.5 per km, as per the 2015 price level. If that is followed, then the price of travelling in the bullet train, from Delhi to Amritsar, will be a minimum of Rs 2061.
Also Read:6 reasons Indians are now choosing air travel over railways
According to reports shared with Financial Express Online, the total cost of the project has been estimated at Rs 61,412 cr, at the 2015 price level. And the project could take anywhere between six to eight years to be completed.
Besides the Delhi-Amritsar route, another bullet train is also in the pipeline, for travelling from Delhi to Varanasi. This train, likely to be launched by 2031, will reduce the train-travel time to just two hours and 37 minutes.
The Ministry of Railways has set up High Speed Rail Corporation of India (HSRC) to monitor the proposed high-speed rail corridors. Among these are Delhi-Mumbai, Mumbai-Chennai, Delhi-Kolkata, Delhi-Nagpur-Chennai, Mumbai-Nagpur and Chennai-Bengaluru-Mysore.
  
Today (12:23)  रांची में रेलवे का जाेनल अॉफिस खाेलें (www.prabhatkhabar.com)
back to top
IR AffairsSER/South Eastern  -  

News Entry# 312139     
   Tags   Past Edits
Aug 18 2017 (12:24)
Station Tag: Hatia/HTE added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Aug 18 2017 (12:24)
Station Tag: Ranchi Junction/RNC added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Posted by: जोहार झारखंड🙏😊^~  1698 news posts
रांची: रांची में गुरुवार को 3425 करोड़ की रेल परियोजनाओं का उदघाटन व शिलान्यास किया गया. नयी दिल्ली से रेल मंत्री सुरेश प्रभु वीडियो कांफ्रेंसिंग से आैर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने हटिया रेलवे स्टेशन में खुद उपस्थित होकर उदघाटन-शिलान्यास किया.

कार्यक्रम में सीएम रघुवर दास ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग से झारखंड में विकास के कई कार्य किये जा रहे हैं. रेल के मामले में झारखंड काफी पीछे था, लेकिन केंद्र में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार आने के बाद से झारखंड में रेल
...
more...
परियोजनाओं के काम में तेजी आयी है. इसी का एक उदाहरण आज देखने को मिल रहा है. झारखंड में रेल परियोजनाओं के विकास के लिए 3425 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया जा रहा है.
मुख्यमंत्री श्री दास ने रेल मंत्री से रांची में रेलवे का जोनल कार्यालय खोलने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि इसके खुलने से झारखंड के रेल परियोजनाओं के कार्यों में तेजी आयेगी. इसके लिए झारखंड के सभी सांसदों को रेल मंत्री के साथ लगातार वार्ता करनी चाहिए. उन्होंने रेलवे बोर्ड से आग्रह किया कि जमशेदपुर में प्रस्तावित रेल ओवरब्रिज के निर्माण पर शीघ्र निर्णय लें. उन्होंने टाटा-यशवंतपुर को सप्ताह में तीन दिन करने, टाटा-दानापुर एक्सप्रेस का स्टॉपेज आदित्यपुर में करने तथा रांची-जयनगर ट्रेन फिर से आरंभ करने की मांग की. श्री दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ता संभालने के साथ ही कनेक्टिविटी पर काफी जोर दिया है. चाहे लोग जनता के साथ संवाद हो, एयर कनेक्टिविटी हो, रोड कनेक्टिविटी हो, इलेक्ट्रिक कनेक्टिविटी हो या रेल कनेक्टिविटी. इसी का नतीजा है कि देश में आधारभूत संरचना को मजबूत करने की दिशा में काफी काम हुआ है.

राज्य से मिल कर काम कर रहे हैं
रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि देश को विकसित बनाने में झारखंड का एक महत्वपूर्ण स्थान है. उन्होंने कहा कि यहां की राज्य सरकार रेल के साथ मिल कर चल रही है, जिस कारण यहां की अधिक अधिक परियोजनाओं को चलाया जायेगा, जिससे रेल व राज्य का विकास होगा. उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं के पूरा होने से यहां के लोगों को फायदा होगा. इस अवसर पर रेल मंत्रालय, नयी दिल्ली में रेल मंत्री के साथ नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा अौर रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष भी उपस्थित थे. श्री सिन्हा ने भी अपनी बातें रखी.

उठायी कई मांगें
इधर, हटिया स्टेशन में उपस्थित केंद्रीय मंत्री सुदर्शन भगत ने भी कहा कि रेलवे का जोनल अॉफिस खुले. इसके अलावा आइआरसीटीसी का क्षेत्रीय कार्यालय भी खाेला जाये. सांसद रामटहल चौधरी ने श्री भगत की मांगों का समर्थन किया. साथ ही रांची-जयनगर ट्रेन का परिचालन जल्द से जल्द शुरू करने का आग्रह किया. कहा कि इसके लिए संसद में भी आवाज उठायी है. कार्यक्रम में सांसद सह प्रदेश भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, सांसद विद्युत वरण महतो अौर हटिया विधायक नवीन जायसवाल ने भी अपनी बातें रखी. इससे पूर्व एजीएम ए दत्ता ने अतिथियों का स्वागत किया. संचालन नीरज कुमार व धन्यवाद ज्ञापन डीआरएम विजय कुमार गुप्ता ने किया. मौके पर रेलवे के सीपीटीएम सौमित्र मजमूदार, पीआरअो संजय घोष, एडीआरएम विजय कुमार व अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

पतरातू में चंद्रप्रकाश, तो गढ़वा में थे चंद्रवंशी
पतरातू रेलवे स्टेशन पर आयोजित समारोह में जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्र प्रकाश चौधरी, विधायक जय प्रकाश पटेल एवं धनबाद मंडल के मंडल रेल प्रबंधक एमके अखौरी सहित अन्य उपस्थित थे. गढ़वा रोड स्टेशन पर आयोजित समारोह में स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, सांसद विष्णु दयाल राम एवं धनबाद मंडल के अपर मंडल रेल प्रबंधक डीके सिन्हा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

इन परियोजनाओं का शिलान्यास व उदघाटन
हटिया-बंडामुंडा दोहरीकरण परियोजना (159 किमी) का कार्यारंभ
चक्रधरपुर-गोइलकेरा तीसरी लाइन परियोजना (34 किमी) का कार्यारंभ
अादित्यपुर-खड़गपुर तीसरी लाइन परियोजना (132 किमी ) का शिलान्यास
गम्हरिया-आदित्यपुर तीसरी लाइन (6.5 किमी ) को लोकार्पण
रांची रोड-पतरातू रेलखंड के दोहरीकरण का कार्यारंभ
गढ़वा रोड पर रेल ओवर ब्रिज के निर्माण का शिलान्यास कार्यारंभ
  
Today (12:23)  NE rail link still cut off (www.assamtribune.com)
back to top
IR AffairsNFR/Northeast Frontier  -  

News Entry# 312138     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Biplob Kagyung~  397 news posts
GUWAHATI, Aug 17 - Even as rail link between the Northeast and rest of the country remained snapped for the fifth consecutive day today, Northeast Frontier Railway (NFR) today said it has started restoration work at many locations.
“While the overall flood situation continues to be grim in most parts of Bihar and railway track remains breached in many locations, NFR has started restoration work in all the locations on a war footing,” Pranav Jyoti Sharma, Chief Public Relations Officer of NFR said. However, train services will remain suspended till at least August 20.
“In
...
more...
Alipurduar Division track connection from Fakiragram to Dhubri has been restored from this morning after completion of work at Bridge No. 28. Train connection from Dhubri will be restored and DEMU services will be started from tomorrow. In Lumding Division also the flood affected track between Silghat and Jakhalabandha stations has been attended and restored for movement of traffic at restricted speed,” he said. A health camp was conducted at the Guwahati station today for passengers waiting due to cancellation of services.
“We are running special trains from Guwahati to Dalkhola and from Dibrugarh to Guwahati for clearance of rush caused by cancellation of trains due to the unprecedented flood,” said the NFR CPRO.
He said that at Bridge No. 3, located between Kuretha and Manian stations in the Katihar-Kumedpur section which was breached yesterday morning, workers have been able to mobilize a 45 feet girder along with a 140 tonne crane which has reached site from Eastern Railway.
“Boulders for restoration have been mobilized from Pakur, Bakudi and Sakrigli. This bridge, which is crucial for connectivity from Katihar to Malda, is being attended by more than 600 labourers working round the clock and it is expected that if flood condition does not deteriorate further the bridge will be restored by tomorrow,” Sharma said.
Similar exercises are also under way at Bridge No. 133 which is located in the New Jalpaiguri-Malda section, at bridges No. MK 8, 9 and 11 located in the Malda Town-New Jalpaiguri section, and in the rail track between Forbeshganj and Jogbani stations.
  
धनबाद :" देश के पावर प्लांटों में भारी मात्रा में कोयला की कमी को देखते हुए बीसीसीएल सहित कोल इंडिया की सभी सहायक कंपनियों में रोड ट्रांसपोर्टिंग के बजाय रैक ट्रांसपोर्टिंग से कोयला डिस्पैच होगा. यह निर्देश पिछले दिनों कोयला सचिव के साथ ऊर्जा सचिव व अन्य अधिकारियों की बैठक में दिया गया.

रैक डिस्पैच में तेजी के निर्देश : कोल सचिव ने बीसीसीएल सहित सभी कोल कंपनियों के सीएमडी को रैक डिस्पैच में तेजी लाने के साथ-साथ उत्पादन बढ़ाने पर भी जोर दिया है. कोयला मंत्रालय एवं कोल
...
more...
इंडिया प्रबंधन द्वारा जारी निर्देश के बाद सभी एरिया के महाप्रबंधकों को उक्त निर्देश जारी कर दिया है. बीसीसीएल के सभी एरिया महाप्रबंधकों को आवश्यकता के अनुसार जल्द ही रैक डिस्पैच बढ़ाने को कहा गया है.

पावर कंपनियों के पास पर्याप्त स्टॉक नहीं : बताते हैं कि मार्च-अप्रैल तक पावर कंपनियों के पास पर्याप्त मात्रा में कोयला का स्टॉक था, लेकिन वर्तमान में देश के कई पावर प्लांटों के पास कोयला का स्टॉक खत्म हो गया है. इसलिए सचिव स्तर पर हुई वार्ता के बाद इसे गंभीरता से लेते हुए रेलवे रैक से कोयला डिस्पैच बढ़ाने का निर्देश जारी किया गया है. इधर, पिछले एक माह से बरसात के कारण बीसीसीएल में कोयला उत्पादन में भी काफी गिरावट आयी है, जिसके कारण डिस्पैच भी बुरी तरह से प्रभावित है.

मंत्रालय व कोल इंडिया प्रबंधन से रैक के माध्यम से कोयला डिस्पैच में तेजी लाने का निर्देश मिला है, ताकि पावर कंपनियों को पर्याप्त मात्रा में कोयला की आपूर्ति हो सके. वर्तमान समय में बीसीसीएल प्रतिदिन 17-18 रैक डिस्पैच कर रहा है, जबकि लक्ष्य 21-22 रैक का है.
  
Today (12:19)  बड़ी दुर्घटना टली, गोइलकेरा-टुनिया सेक्शन के डलाइकेला रेल फाटक पर घटी घटना, कुर्ला के सामने आया ट्रक (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsSER/South Eastern  -  

News Entry# 312136     
   Tags   Past Edits
Aug 18 2017 (12:19)
Station Tag: Tatanagar Junction/TATA added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Aug 18 2017 (12:19)
Station Tag: Goilkera/GOL added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Aug 18 2017 (12:19)
Train Tag: Ahmedabad - Howrah SF Express/12833 added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Aug 18 2017 (12:19)
Train Tag: Mumbai LTT - Shalimar Kurla Express/18029 added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Posted by: जोहार झारखंड🙏😊^~  1698 news posts
गोइलकेरा/जमशेदपुर. लोकमान्य तिलक टर्मिनल-शालीमार कुर्ला एक्सप्रेस गुरुवार तड़के हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बच गयी. गोइलकेरा-टुनिया के सेक्शन के डाउन लाइन पर कुर्ला और अप लाइन पर अहमदाबाद एक्सप्रेस को सिग्नल दिया गया था.
सुबह लगभग 5.16 बजे पासिंग सिग्नल मिलने पर तेज रफ्तार से आगे बढ़ रही कुर्ला एक्सप्रेस के चालक को डलाईकेला क्रॉसिंग से ट्रक पार करता दिखाई पड़ा. चालक ने इमरजेंसी ब्रेक लगाया, लेकिन ट्रेन तीन सिग्नल पार करते हुए क्रॉसिंग पार करने के बाद जाकर रुकी. यह संयोज ही था कि ट्रेन के फाटक पर पहुंचने से पूर्व ट्रक पटरी से आगे निकल गया था वरना बड़ा हादसा तय था. बताया जाता है कि अहमदाबाद एक्सप्रेस के डलाईकेला फाटक पार होते ही गेटमैन गणेश महाली ने
...
more...
ट्रक को पार कराने के लिए फाटक खोल दिया.
उसी समय डाउन लाइन पर कुर्ला आ रही थी. टुनिया स्टेशन पहुंचने पर ट्रेन के चालक ने स्टेशन मास्टर को मेमो देकर संरक्षा से लापरवाही पर आपत्ति जतायी. इस सूचना के बाद रेलमंडल परिचालन विभाग में अफरा-तफरी मची रही. आला अधिकारी यह पता करने में लगे हुए थे कि आखिर कुर्ला को सिग्नल दिये जाने के बावजूद गेट कैसे खुल गया.
Page#    294110 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.