News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Fri Jul 28, 2017 04:24:44 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Fri Jul 28, 2017 04:24:44 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 288789
  
Dec 16 2016 (09:27)  जेब को चुभेगा हमसफर ट्रेन का किराया (epaper.jagran.com)
back to top
New/Special TrainsNER/North Eastern  -  

News Entry# 288789     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  6169 news posts
जेब को चुभेगा हमसफर ट्रेन का किराया
6फ्लेक्सी फेयर की खाली सीटें भरने को रेलवे ने निकाला उपाय16मेल/एक्सप्रेस के यात्री अब प्रीमियम ट्रेनों में पा सकेंगे आरक्षण1
6गोरखपुर-आनंद विहार हमसफर को आज हरी झंडी दिखाएंगे प्रभु16अन्य एक्सप्रेस ट्रेन के मुकाबले किराया डेढ़ गुना तक ज्यादा1
‘विकल्प’ में राजधानी, शताब्दी, दूरंतो का भी सफर 20
जागरण
...
more...
ब्यूरो, नई दिल्ली : गोरखपुर से शुक्रवार शाम चार बजे आनंद विहार के लिए रवाना होने वाली हमसफर उद्घाटन ट्रेन (नंबर 12595) का सफर आपके लिए कैसा होगा यह तो बाद में पता चलेगा। लेकिन इसके टिकट की आंच आपकी जेब को पहले ही महसूस हो जाएगी। दरअसल, इस ट्रेन का बेस किराया आम मेल एक्सप्रेस ट्रेनों के मुकाबले 1.15 गुना जबकि अधिकतम किराया डेढ़ गुना है। 1रेल मंत्री सुरेश प्रभु शुक्रवार को दिल्ली से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हमसफर ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे। इसकी भीतरी साजसज्जा और सुविधाएं तो बहुत बेहतर हैं लेकिन कीमत शायद ही आपको पसंद आए। गोरखधाम और वैशाली एक्सप्रेस में गोरखपुर से दिल्ली आने पर थर्ड एसी के लिए आपको 960 रुपये का बेस फेयर देना होता है, वहीं हमसफर (पूरी ट्रेन थर्ड एसी है) में शुरू की 50 फीसद बर्थ के लिए आपसे 1104 रुपये बेस किराये के अलावा आरक्षण शुल्क, सुपरफास्ट सरचार्ज, सर्विस टैक्स आदि अलग से वसूले जाएंगे। खाना वैकल्पिक है। लेकिन यदि खाने का आर्डर देते हैं तो उसके पैसे भी अलग देने होंगे। 1फ्लेक्सी फेयर : इस ट्रेन की शुरुआती 50 फीसद बर्थ के बाद बाकी 50 फीसद बर्थ पर राजधानी, शताब्दी, दूरंतो की तरह फ्लेक्सी फेयर स्कीम लागू होगी। जिसके तहत 50 फीसद बर्थ के बाद हर 10 फीसद बर्थ की बुकिंग पर किराये में 10 फीसद की बढ़ोतरी होगी। आखिरी दस फीसद बर्थ डेढ़ गुना किराये पर आवंटित होंगी। 1इस लिहाज से बाद की पचास फीसद बर्थ क्रमश: 1214 (1.1 गुना), 1325 (1.2 गुना), 1435 (1.3 गुना), 1546 (1.4 गुना) और 1656 रुपये (1.5 गुना) के बेस फेयर पर बुक होंगी। बाकी शुल्क अतिरिक्त होंगे। बेस किराये में केवल बेडरोल की कीमत शामिल की गई है। 1कम तत्काल कोटा : हमसफर में केवल 10 फीसद तत्काल कोटा रखा गया है। इसके अलावा हेडक्वार्टर कोटा, ड्यूटी पास कोटा भी होगा। इसके बाद बची बर्थ सामान्य यात्रियों को उपलब्ध होंगी। चूंकि राजधानी, शताब्दी, दूरंतो में फ्लेक्सी फेयर स्कीम ज्यादा कामयाब नहीं रही है और डेढ़ गुना तक किराये के कारण हर ट्रेन में कुछ बर्थ खाली रह जाती हैं, लिहाजा हमसफर में खाली रह जाने वाली बर्थ को टीटीई के हाथों दस फीसद डिस्काउंट पर बेचने की व्यवस्था भी की गई है। यह डिस्काउंट आखिरी टिकट के किराये पर मिलेगा। यदि आखिरी टिकट डेढ़ गुना किराये (1656 रुपये) पर बुक हुआ है तो 166 रुपये की छूट मिलेगी। यदि आखिरी टिकट 1.4 फीसद किराये (1546 रुपये) पर बुक होगा तो इसके 10 फीसद के हिसाब से 155 रुपये की छूट मिलेगी।1दो रूट : गोरखपुर-आनंद विहार हमसफर ट्रेन के दो रूट रखे गए हैं। 12595 नंबर ट्रेन मंगलवार और गुरुवार को गोरखपुर से शाम आठ बजे चलेगी और बुधवार व गुरुवार को सुबह 8:50 बजे आनंद विहार पहुंचेगी। वापसी में 12596 नंबर ट्रेन आनंद विहार से बुधवार व शुक्रवार को शाम आठ बजे चलकर गुरुवार व शनिवार को साढ़े आठ बजे गोरखपुर पहुंचेगी।1संजय सिंह, नई दिल्ली 1रेलवे ने अल्टरनेट ट्रेन एकोमोडेशन स्कीम विकल्प को 1 जनवरी, 2017 से सभी श्रेणी की ट्रेनों और सभी रूटों के लिए खोलने का निर्णय लिया है। यानी विकल्प अपनाने वाले मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों की प्रतीक्षा सूची के यात्रियों को अब राजधानी, शताब्दी या दूरंतों में भी आरक्षण मिल सकता है। इसके लिए उन्हें कोई अतिरिक्त किराया नहीं देना होगा। 1विकल्प स्कीम सबसे पहले 1 नवंबर, 2015 को प्रयोग के तौर पर उत्तर रेलवे के दो रूटों पर लागू की गई थी। इसके तहत ऑनलाइन टिकट बुक कराने वाले मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के प्रतीक्षा सूची के यात्रियों को उसी रूट की दूसरी मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों में आरक्षण का विकल्प दिया गया था। इसमें न तो उनसे कोई डिफरेंस लिया जाता है और न ही रिफंड दिया जाता है। स्कीम की कामयाबी के बाद इसे कई और रूटों पर लागू कर दिया गया था। जबकि अब इसे सभी रूटों और सभी ट्रेनों पर लागू करने का निर्णय लिया गया है। विकल्प के तहत दूसरी ट्रेन में जगह पाने वाले यात्रियों का चार्ट मूल ट्रेन के चार्ट के साथ अलग से लगाया जाता है और एसएमएस से नई ट्रेन और नए पीएनआर नंबर की सूचना भी दी जाती है। 1रेलवे बोर्ड के सूत्रों के अनुसार ऐसा सामान्य मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों में आरक्षण की बढ़ती मांग और राजधानी, शताब्दी व दूरंतो में फ्लेक्सी फेयर स्कीम लागू होने के कारण खाली रह जाने वाली सीटों को भरने के मकसद से किया गया है। अर्थात अब किसी सामान्य मेल/एक्सप्रेस ट्रेन के यात्री टिकट कंफर्म न होने की स्थिति में उसी रूट की राजधानी, शताब्दी या दूरंतो में बिना किसी अतिरिक्त खर्च के कंफर्म बर्थ पा सकते हैं। क्रिस से इसके लिए साफ्टवेयर में परिवर्तन करने को कहा गया है। किसी ट्रेन के विकल्प के तौर पर किन-किन वैकल्पिक ट्रेनों का प्रस्ताव किया जाना है, इसका फैसला जोनल महाप्रबंधक करेंगे।
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.