News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Tue Jul 25, 2017 14:26:03 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Tue Jul 25, 2017 14:26:03 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 289031
  
Dec 18 2016 (22:25)  अब ‘विकल्प’ में राजधानी शताब्दी, दूरंतो का सफर (epaper.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 289031   Blog Entry# 2096306     
   Tags   Past Edits
Dec 18 2016 (10:25PM)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Dec 18 2016 (10:25PM)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  6134 news posts
37
संजय सिंह, नई दिल्ली 1रेलवे ने अल्टरनेट ट्रेन एकोमोडेशन स्कीम विकल्प को 1 जनवरी, 2017 से सभी श्रेणी की ट्रेनों और सभी रूटों के लिए खोलने का निर्णय लिया है। यानी विकल्प अपनाने वाले मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों की प्रतीक्षा सूची के यात्रियों को अब राजधानी, शताब्दी या दूरंतों में भी आरक्षण मिल सकता है। इसके लिए उन्हें कोई अतिरिक्त किराया नहीं देना होगा। 1विकल्प स्कीम सबसे पहले 1 नवंबर, 2015 को प्रयोग के तौर पर उत्तर रेलवे के दो रूटों पर लागू की गई थी। इसके तहत ऑनलाइन टिकट बुक कराने वाले मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के प्रतीक्षा सूची के यात्रियों को उसी रूट की दूसरी मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों में आरक्षण का विकल्प दिया गया था। इसमें न तो उनसे कोई डिफरेंस लिया जाता है
...
more...
और न ही रिफंड दिया जाता है। स्कीम की कामयाबी के बाद इसे कई और रूटों पर लागू कर दिया गया था। जबकि अब इसे सभी रूटों और सभी ट्रेनों पर लागू करने का निर्णय लिया गया है। विकल्प के तहत दूसरी ट्रेन में जगह पाने वाले यात्रियों का चार्ट मूल ट्रेन के चार्ट के साथ अलग से लगाया जाता है और एसएमएस से नई ट्रेन और नए पीएनआर नंबर की सूचना भी दी जाती है। रेलवे बोर्ड के सूत्रों के अनुसार ऐसा सामान्य मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों में आरक्षण की बढ़ती मांग और राजधानी, शताब्दी व दूरंतो में फ्लेक्सी फेयर स्कीम लागू होने के कारण खाली रह जाने वाली सीटों को भरने के मकसद से किया गया है। अर्थात अब किसी सामान्य मेल/एक्सप्रेस ट्रेन के यात्री टिकट कंफर्म न होने की स्थिति में उसी रूट की राजधानी, शताब्दी या दूरंतो में बिना किसी अतिरिक्त खर्च के कंफर्म बर्थ पा सकते हैं। 1संजय सिंह, नई दिल्ली 1रेलवे ने अल्टरनेट ट्रेन एकोमोडेशन स्कीम विकल्प को 1 जनवरी, 2017 से सभी श्रेणी की ट्रेनों और सभी रूटों के लिए खोलने का निर्णय लिया है। यानी विकल्प अपनाने वाले मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों की प्रतीक्षा सूची के यात्रियों को अब राजधानी, शताब्दी या दूरंतों में भी आरक्षण मिल सकता है। इसके लिए उन्हें कोई अतिरिक्त किराया नहीं देना होगा। 1विकल्प स्कीम सबसे पहले 1 नवंबर, 2015 को प्रयोग के तौर पर उत्तर रेलवे के दो रूटों पर लागू की गई थी। इसके तहत ऑनलाइन टिकट बुक कराने वाले मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के प्रतीक्षा सूची के यात्रियों को उसी रूट की दूसरी मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों में आरक्षण का विकल्प दिया गया था। इसमें न तो उनसे कोई डिफरेंस लिया जाता है और न ही रिफंड दिया जाता है। स्कीम की कामयाबी के बाद इसे कई और रूटों पर लागू कर दिया गया था। जबकि अब इसे सभी रूटों और सभी ट्रेनों पर लागू करने का निर्णय लिया गया है। विकल्प के तहत दूसरी ट्रेन में जगह पाने वाले यात्रियों का चार्ट मूल ट्रेन के चार्ट के साथ अलग से लगाया जाता है और एसएमएस से नई ट्रेन और नए पीएनआर नंबर की सूचना भी दी जाती है। रेलवे बोर्ड के सूत्रों के अनुसार ऐसा सामान्य मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों में आरक्षण की बढ़ती मांग और राजधानी, शताब्दी व दूरंतो में फ्लेक्सी फेयर स्कीम लागू होने के कारण खाली रह जाने वाली सीटों को भरने के मकसद से किया गया है। अर्थात अब किसी सामान्य मेल/एक्सप्रेस ट्रेन के यात्री टिकट कंफर्म न होने की स्थिति में उसी रूट की राजधानी, शताब्दी या दूरंतो में बिना किसी अतिरिक्त खर्च के कंफर्म बर्थ पा सकते हैं।

  
921 views
Dec 19 2016 (14:42)
For Better Managed Indian Railways~   1933 blog posts
Re# 2096306-1            Tags   Past Edits
Good move, at least the seats remaining vacant in Raj/Shat/Duro trains due to flexifare/ tatkal fares could be allotted to the wait listed passengers of Express/SF trains without any extra cost under the "Vikalp" policy.
It would be better if flexifare policy is softened by selling first 50% seats at normal fare, next 20% at 110% fare, next 20% at 120% fare and last 10% at 130% of normal fare.
Normal fares of acIII/acII are justified and not less even if compared to equivalent facilities given by luxury buses. Flexifares are just making
...
more...
the service overpriced.
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.