Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

IRI - चाहे कितने भी हों मतभेद, फिर भी हम परिवार एक - Dr. Abhishek Rai

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Apr 3 10:47:29 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Stream
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 401523
  
Feb 20 (13:56) IRCTC E-Ticket SCAME NEWS; गुजरात में हुआ देश का सबसे बड़ा रेल इ-टिकट घोटाला (www.patrika.com)
Crime/Accidents
WR/Western
0 Followers
912 views

News Entry# 401523  Blog Entry# 4569892   
  Past Edits
Feb 20 2020 (13:57)
Station Tag: Bharuch Junction/BH added by महाँकाल एक्सप्रेस^~/1084688

Feb 20 2020 (13:57)
Station Tag: Surat/ST added by महाँकाल एक्सप्रेस^~/1084688
Stations:  Bharuch Junction/BH   Surat/ST  
भरुच. भरुच जिले के अंकलेश्वर में पश्चिम रेलवे ने बड़ी कार्रवाई करते हुए देश के सबसे बड़े 7.97 करोड़ रुपए के रेल इ- टिकट जब्त कर एक साफ्टवेयर इंजीनियर को गिरफ्तार किया है। आरोपी आइआरसीटीसी की वेबसाइट पर 50568 यूजर आइडी बनाकर लंबी दूरी की यात्रा की टिकटें निकालकर यात्रियों को ब्लैक में बेचता था। आरोपी से आरपीएफ पूछताछ कर रही है। पश्चिम रेलवे आरपीएफ की इस बड़ी कार्रवाई से खलबली मच गई। मुम्बई रेलवे सुरक्षा बल के आइजी ए. के. सिंह ने अंकलेश्वर में दर्ज अमित प्रजापति केस की जांच सूरत रेलवे सुरक्षा बल निरीक्षक ईश्वर सिंह यादव को दी है। इसके अलावा मुम्बई से बुधवार को डीएससी देवांश शुक्ला भी सूरत पहुंचे और अमित तथा सुपर सेलर इरफान से पूछताछ की। click here I tried booking tatkal ticket but every time I tried booking it just logged me out even though everything was entered right. And suddenly all the...
more...
booking is done. Can I know what was wrong? Or it is also a scam we will know later? #scame #irctc— SHAIKH ISLAM (@Shaikh_ca) August 8, 2019साफ्टवेयर इंजीनियर अमित प्रजापति इ-टिकट का गोरखधंधा कर रहा थारेलवे सुरक्षा बल के अनुसार अंकलेश्वर निवासी साफ्टवेयर इंजीनियर अमित प्रजापति (34) आइआरसीटीसी की साइट पर 50568 यूजर आइडी बनाकर इ-टिकट का गोरखधंधा कर रहा था। अमित ने आरपीएफ को बताया कि वह हवाला के जरिए रुपए लेता था। आरपीएफ आइआरटीसी के पास से पीएनआर डेटा को एकत्र कर रही है। 7.97 करोड़ रुपए के जब्त इ-टिकटों में से कई टिकटों का उपयोग हो चुका है, जबकि उपयोग नहीं हो पाई 8569 इ-टिकटों को जब्त कर लिया गया है। इनका मूल्य 2.59 करोड़ रुपए आंका गया। आरपीएफ ने साफ्टवेयर इंजीनियर के पास से कुल 29227 इ-टिकट जब्त किए हैं। इ-टिकट के राष्ट्रीय नेटवर्क में और कौन-कौन लोग शामिल हैं, इसकी विवेचना आरपीएफ कर रही है।हग मैक सॉफ्टवेयर के जरिए बनाए टिकटग्रीष्मावकाश के दौरान इ-टिकट एजेंटों ने अलग-अलग जगहों से लाखों यात्रियों के इ टिकट इस सॉफ्टवेयर की सहायता से बुक किए थे। एक वरिष्ठ रेलवे अधिकारी ने बताया कि हमें एक एजेंट के संदिग्ध आइपी एड्रेस के बारे में टिप मिली, जिसके माध्यम से विभिन्न लंबी दूरी की ट्रेनों में आरक्षित कन्फर्म टिकटों की बुकिंग की गई थी। अमित प्रजापति (34) के पास हग मैक सॉफ्टवेयर का सिर्फ बीस दिन का रिकार्ड बैकअप से मिल सका है। इसमें करीब 55 हजार से अधिक यूजर आइडी मिली हैं, जो अलग-अलग व्यक्तियों के नाम से पर्सनल आइडी बनाकर लाखों यात्रियों की टिकटें बुक कर रहे थे।सुपर सेलर इरफान को रिमांड पर लियासॉफ्टवेयर को प्रोपराइटर, एडमिन कम प्रोग्रामर, एडमिन, सुपर सेलर, सेलर और आईडी प्रोवाइडर मतलब इ टिकट एजेंट के तरीके से तैयार किया गया है। रेलवे सुरक्षा बल ने सुपर सेलर इरफान को बुधवार शाम को कोर्ट में पेश करके रिमांड पर लिया है। सॉफ्टवेयर को बनाने वाले प्रोपराइटर अमीन कागजी की तलाश की जा रही है।यात्रियों के सफर पर संकट इस बीच लाइव टिकटों के रद्द होने से ग्रीष्मावकाश के दौरान ई टिकट एजेंटों से बुक करने वाले यात्रियों के सफर पर संकट छा गया है।
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy