Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Nov 19 17:16:48 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    2732 news entries  <<prev  next>>
  
Jun 13 (15:29) शिलान्यास के बाद भी नहीं बन रहा ओवरब्रिज (m.jagran.com)
Rail Budget
ECR/East Central
0 Followers
1344 views

News Entry# 340979  Blog Entry# 3525531   
  Past Edits
Jun 13 2018 (15:29)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by सहरसा नई दिल्ली श्वेत क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस~/1872250
Stations:  Saharsa Junction/SHC  
सहरसा: शहर के अति व्यस्ततम मार्ग बंगाली बाजार में अब तक रेल ओवर ब्रिज नहीं बन सका है। शहर की ह्दयस्थली कही जानेवाली शंकर चौक चौराहा रेल ओवर ब्रिज नहीं रहने के कारण हर हमेशा जाम से त्रस्त रहता है। शहर को दो भागों में बांटनेवाली रेल पटरी के ऊपर रेल ओवर ब्रिज बनाने के लिए देश के राजनीतिज्ञों द्वारा चार-चार बार शिलान्यास किया जा चुका है। लगातार शिलान्यास के बाद भी इस ओवरब्रिज का निर्माण नहीं हो पाया। सरकार की नई पालिसी के तहत अब इसका निर्माण एनएचआई करेगी। इसके निर्माण के लिए एनएचआई ने कई बार टेंडर भी निकाला लेकिन किसी संवेदक ने इसमें हिस्सा नहीं लिया।
---
वर्ष
...
more...
2014 में मिट्टी जांच
---
वर्ष 2014 में ही राइटस कंपनी एजेंसी ने बंगाली बाजार में रेल ओवर ब्रिज बनाने के लिए मशीन लगाकर काम शुरू किया गया। उस समय मिटटी जांच के लिए दस लाख रूपये दिए। लेकिन कुछ ही दिनों बाद मशीन कहां गयी पता ही नहीं चल सका है। इधर हाल के दिनों में एनएचआई ने ओवरब्रिज बनाने के लिए टेंडर निकालने की प्रक्रिया की लेकिन काम आगे नहीं बढ़ पाया है।
----------------------------
चार बार हो चुका है शिलान्यास
शहर के बंगाली बाजार में रेल ओवर ब्रिज बनाने के लिए चार-चार बार शिलान्यास हो चुका है। लेकिन आज तक रेल ओवर ब्रिज नहीं बन सका है। सबसे पहले वर्ष 1997 में तत्कालीन रेल राज्यमंत्री दिग्विजय ¨सह ने सहरसा में रेल ओवर ब्रिज का शिलान्यास किया था। इसके बाद वर्ष 1998 में तत्कालीन केन्द्रीय रेल मंत्री रामविलास पासवान ने सहरसा में ओआरबी का शिलान्यास किया। 12 जून 2005 को बड़ी रेल लाइन के उद्घाटन के अवसर पर तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद ने रेल ओवर ब्रिज का शिलान्यास तीसरी बार हुआ। इसके बाद 22 फरवरी 2014 को तत्कालीन रेल राज्य मंत्री अधीर रंजन चौधरी ने ओवरब्रिज का शिलान्यास किया। चार-चार शिलान्यास के बाद अब तक रेल ओवर ब्रिज का निर्माण अब तक नहीं हो पाया है।
--------------------
रेल ओवर ब्रिज बनने से मिलेगी जाम से मुक्ति
शहर के बंगाली बाजार में रेलवे ढाला पर बैरियर हर हमेशा लगा रहता है। स्टेशन पास होने के कारण रेलवे ढाला दिन भर गिरा ही रहता है। रेलवे ढाला का बैरियर गिरे रहने से हर हमेशा यहां घंटो जाम लगा रहता है। करीब दो दर्जन से अधिक इंजन का सें¨टग दिन भर होता रहता है। बंगाली बाजार में जाम लगने के कारण दोनों ओर लोग वाहन के साथ घंटों फंसे रहते हैं। अगर रेल ओवर ब्रिज बन गया तो जाम से शहरवासियों को मुक्ति मिलेगी।
------------------
एनएचआई बनाएगी ओवरब्रिज
शहर के बंगाली बाजार रेलवे ढाला पर ओवर ब्रिज एनएचआई बनाएगी। रेलवे ने इस संबंध में अपनी सहमित एनएचआई को दे दी है। रेल ओवरब्रिज बनाने की जिम्मेवारी एनएचआई की है।
आरके जैन, मंडल रेल प्रबंधक, पूर्व मध्य रेल
  
Jun 13 (02:16) मुंगेर रेल सह सड़क पुल एप्रोच पथ भूमि अधिग्रहण को विशेष शिविर (m.jagran.com)
Rail Budget
ECR/East Central
0 Followers
2381 views

News Entry# 340902  Blog Entry# 3523394   
  Past Edits
Jun 13 2018 (02:17)
Station Tag: Sahibpur Kamal Junction/SKJ added by सहरसा नई दिल्ली श्वेत क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस~/1872250

Jun 13 2018 (02:17)
Station Tag: Begusarai/BGS added by सहरसा नई दिल्ली श्वेत क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस~/1872250

Jun 13 2018 (02:17)
Station Tag: Khagaria Junction/KGG added by सहरसा नई दिल्ली श्वेत क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस~/1872250

Jun 13 2018 (02:17)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by सहरसा नई दिल्ली श्वेत क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस~/1872250
बेगूसराय। मिश्रीलाल मध्य विद्यालय शालीग्रामी के परिसर में मुंगेर रेल सह सड़क पुल से संबद्ध एप्रोच पथ निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण की समस्याओं के निदान के लिए अंचल एवं भू अर्जन विभाग द्वारा विशेष शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें अधिग्रहित भू स्वामियों को राशि भुगतान में आने वाली समस्याओं का निदान सीओ मनोरंजन कुमार मधुकर एवं जिला भू अर्जन पदाधिकारी मो. राजिक ने ऑन द स्पॉट किया। जानकारी देते हुए सीओ ने बताया कि शिविर में सिर्फ शिवचंदपुर मौजा के वैसे भू स्वामियों की जमीन संबंधी कागजातों की जांच की गई जिनकी जमीन एप्रोच पथ एलायनमेंट के लिए अधिगृहित की जाएगी। उन्होंने बताया कि एलायनमेंट अंतर्गत कुल रैयतों की संख्या 102 है। जिसमें सीधे जमाबंदी कायम रैयतों की संख्या 35 है। जिन्हें मुआवजे की राशि भुगतान की प्रक्रिया में शामिल किया गया है। शिविर में वैसे भू स्वामी जिनके नाम से जमाबंदी कायम नहीं है और पूर्वज के नाम...
more...
से जमाबंदी कायम है, वैसे लाभुकों को शीघ्र बंटवारानामा पेपर के साथ दाखिल खारिज के लिए ऑनलाइन आवेदन देने को कहा गया है। ताकि उन्हें भी जमीन का मुआवजा देने का रास्ता साफ हो सके। इस अवसर पर लगभग एक दर्जन आवेदन दाखिल खारिज के संबंध में प्राप्त हुए। शिविर में भू अर्जन कार्यालय के प्रधान लिपिक कुमार विभूति, नाजिर मनोज रंजन, अमीन रामचंद्र प्रसाद, परमानंद भारती, मयंक, राम प्रकाश आदि मौजूद थे।
  
Jun 12 (19:32) तीन वर्षों में तैयार हो जाएगा मोकामा-बरौनी के बीच नया रेल पुल, PM ने किया था शिलान्‍यास (m.jagran.com)
Rail Budget
ECR/East Central
0 Followers
4008 views

News Entry# 340831  Blog Entry# 3522365   
  Past Edits
Jun 12 2018 (19:32)
Station Tag: Pirpainti/PPT added by amishkumar~/1702584

Jun 12 2018 (19:32)
Station Tag: Naugachia/NNA added by amishkumar~/1702584

Jun 12 2018 (19:32)
Station Tag: Sonpur Junction/SEE added by amishkumar~/1702584

Jun 12 2018 (19:32)
Station Tag: Patliputra Junction/PPTA added by amishkumar~/1702584

Jun 12 2018 (19:32)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by amishkumar~/1702584

Jun 12 2018 (19:32)
Station Tag: Mokama/MKA added by amishkumar~/1702584
पटना [जेएनएन]। मोकामा और बरौनी के बीच डबल रेल लाइन वाला नया पुल तीन वर्षों में तैयार हो जाएगा। इसके निर्माण का कार्य इरकॉन को दिया गया है। इसमें 1491 करोड़ रुपये खर्च होंगे। 2015-16 वित्तीय वर्ष में इस ब्रिज के निर्माण के लिए राशि स्वीकृत की गई थी। यह जानकारी रेल मंत्री पीयूष गोयल के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर रहे रेल राज्यमंत्री मनोज कुमार सिन्हा ने दी।
केंद्रीय मंत्री ने पत्रकारों को बताया कि नए पुल का निर्माण राजेंद्र सेतु के समानांतर कराया जा रहा है। रेल पुल सहित 14 किमी रेल लाइन का निर्माण होगा। इसके बनने से दक्षिण और उत्तर बिहार के बीच रेल यातायात और सुगम हो जाएगा। अभी मोकामा-बरौनी के लिए सिंगल रेल लाइन ही है। उन्होंने
...
more...
कहा कि रेल पुल के शिलान्यास के बाद इसमें कुछ शिकायतें मिलीं थीं, इसकी जांच के कारण निर्माण कार्य शुरू होने में देरी हुई।
रेल राज्यमंत्री ने कहा कि रेल मंत्रालय का बिहार पर विशेष ध्यान है। मोकामा-बरौनी रेल पुल ऐतिहासिक होगा। पैसेंजर ट्रेनों के विलंब से जुड़े मुद्दे में भी सुधार हो रहा है।
251 करोड़ से पटना-सोनपुर के बीच दोहरीकरण
पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि पटना-सोनपुर के बीच दोहरीकरण का कार्य पुल के दोनों छोर से शुरू कर दिया गया है। पाटलिपुत्र स्टेशन से दीघा ब्रिज होते हुए पहलेजा स्टेशन तक दिसंबर 2019 तक दोहरीकरण पूरा हो जाएगा। इसमें 251 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।
24 किमी लंबा होगा नया गंगा पुल
उन्होंने बताया कि विक्रमशिला-कटरिया गंगा ब्रिज (पीरपैती-नवगछिया) का डीपीआर तैयार हो रहा है। इस पर 4379 करोड़ रुपये खर्च होंगे। 2016-17 में यह ब्रिज स्वीकृत हुआ है। रेल पुल 24 किमी लंबा होगा। वाई आकार में ब्रिज के दोनों तरफ से रेल लाइन मिलेगी। उत्तर में कटरिया और नवगछिया तथा दक्षिण में विक्रमशिला और शिवनारायणपुर स्टेशन की तरफ लाइन जुड़ेगी।
सीपीआरओ ने बताया कि मुंगेर रेल ब्रिज पर अभी यातायात का भार नहीं है। इस पर धीरे-धीरे ट्रैफिक बढ़ाया जाएगा। सहरसा-भागलपुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन कराया जा रहा है। पहले से चल रही ट्रेनों के रूट में बदलाव करना काफी कठिन है। कम स्टॉपेज वाली ट्रेनों को इस ब्रिज से पार कराया जा रहा है।
  
मोकामा-बरौनी के बीच गंगा नदी पर अगले तीन साल में नया रेल पुल बनकर तैयार हो जाएगा। यह पुल राजेंद्र सेतु के नजदीक होगा। इसपर 1491 करोड़ रुपये खर्च होंगे। यह जानकारी रेल मंत्री पीयूष गोयल और रेल राज्य मंत्री मनोज कुमार सिन्हा ने सोमवार को एक सवाल के जवाब में दी।

रेल राज्यमंत्री ने काम में देरी की शिकायत पर कहा कि इस पुल के टेंडर में कुछ गड़बड़ी की शिकायत मिली थी। उसकी जांच की जा रही है। जल्द ही जांच पूरी कर ली जएगी। इसके बाद इसका निर्माण
...
more...
कार्य शुरू होगा। कहा कि पिछले तीन साल में बिहार में गंगा पर तीन रेल सह सड़क पुल का निर्माण कराया जा चुका है। जल्द ही पाटलिपुत्रा से पहलेजा घाट के बीच दीघा ब्रिज के लाइन का दोहरीकरण का काम भी पूरा हो जाएगा।
इसके अलावा भागलपुर के आगे बिक्रमशिला-कटरिया के बीच भी गंगा पर रेल सह सड़क पुल बनेगा। 4379.10 करोड़ की लागत वाली इस पुल का डीपीआर तैयार किया जा रहा है। एप्रोच रोड समेत 14 किलोमीटर लंबा यह पुल बिक्रमशिला-पीरपैंती स्टेशन को उत्तर बिहार के कटरिया-नवगछिया को जोड़ेगा।
पैसेंजर व एक्सप्रेस ट्रेनों की लेटलतीफी जल्द होगी दूर रेल मंत्री ने कहा कि ईसीआर के पैसेंजर ट्रेनों की लेटलतीफी भी जल्द दूर हो जाएगी। पैसेंजर ट्रेनों की औसत स्पीड 44 से बढ़ाकर 69 किलोमीटर प्रति घंटा की जायेगी। उसी तरह मालगाड़ी की गति भी दोगुनी की जा रही है। इससे पैसेंजर ट्रेनों की टाइमिंग सुधरेगी। कहा कि पूरे देश में रेल आधारभूत संरचनाओं और पटरियों का मरम्मतीकरण का काम चल रहा है। इस कारण भी ट्रेनें कुछ लेट हो रही हैं। लेकिन अगले एक साल में इसका सकारात्मक असर ट्रेनों के परिचालन पर पड़ेगा।
रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे का मुख्य जोर इस समय सुरक्षा पर है। हर स्टेशन पर व ट्रेनों के कोचों में सीसीटीवी कैमरे लगाये जा रहे हैं। सुरक्षा बढ़ाने के लिए तकनीक का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। कहा कि वर्ष 2013-14 में 118 ट्रेन हादसे हुए थे जबकि 2017-18 में यह घटकर केवल 73 रह गया।
नहीं होगा रेलवे का निजीकरण रेल मंत्री ने रेलवे के निजीकरण की बात को एकदम से नकार दिया। कहा कि रेलवे की ऐसी कोई योजना नहीं है।
एक सावाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जीआरपी और आरपीएफ को मिलाकर एक करने की भी योजना नहीं है। मौके पर उन्होंने रेल मदद और मेन्यू ऑन रेल नामक दो ऐप भी लांच किये। साथ ही उन्होंने रेलवे की चार साल की उपलब्धियों पर एक पुस्तिका भी जारी की। उन्होंने कहा कि रेलवे ने यह साल महात्मा गांधी को समर्पित करने की योजना बनायी है। जिसमें फोकस यात्रियों की सुविधाएं बढ़ाने और रेलवे को बेहतर बनाने पर होगा। पिछले चार साल में विभाग के वरीय पदाधिकारियों की सोच भी बदली है और वे एकजुट होकर रेल और रेल यात्रियों की बेहतरी के लिए कार्य कर रहे हैं। 6000 स्टेशनों पर लगेगा वाई-फाईरेलमंत्री ने कहा कि यात्रियों की सुविधा के लिए 675 स्टेशनों पर नि:शुल्क वाई-फाई सुविधा दी जा चुकी है। अगले कुछ महीने में इसका विस्तार छह हजार स्टेशनों तक होगा। इससे न सिर्फ यात्रियों को फायदा होगा और सीसीटीवी फीड की रीयल टाइम निगरानी की जा सकेगी, बल्कि आसपास के गांवों के छात्र और गरीब किसान भी रेलवे स्टेशन पर जाकर डिजिटल प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि रेल लाइन के विद्युतीकरण का काम तेजी से हो रहा है। इससे प्रदूषण कम हो रहा है, वहीं रेलवे को सलाना 12-13 हजार करोड़ रुपये की बचत भी होगी। अधिकतर ट्रेनों और रेलवे स्टेशनों पर बायो-टॉयलेट लग गए हैं। साथ ही'वैक्यूम'शौचालय लगाने की योजना पर भी काम चल रहा है।
  
May 30 (19:45) Indian Railways to add electrification to increase speed of train travel and reduce environmental issues (www.dnaindia.com)
Rail Budget
NR/Northern
0 Followers
2062 views

News Entry# 338923  Blog Entry# 3469318   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Railway Minister Piyush Goyal on Wednesday said that the Indian Railways are working on a mission to add electrification to increase the speed of rail travel and reduce the impact on the environment.
"We are making rapid strides in our efforts to double and expand capacity on busy rail routes and working on a mission mode to add electrification both to increase the speed of rail travel and reduce the impact on the environment," Goyal said while addressing a press conference in Delhi.
Further speaking on the holistic plan, Goyal stated that the
...
more...
Indian Railways is working to improve the efficiency both for passengers and financial operators.
"We have had a very engaging set of discussion during the day where several subjects have been taken up like to improve punctuality of trains and safety issues. We are working on a holistic plan to unlock the true potential of Railways and improve the efficiency both for passengers and financial operators," the Railway Minister added.

  
1741 views
May 30 (21:17)
manager3se   382 blog posts
Re# 3469318-1            Tags   Past Edits
When railway finishes Daund - Gulbarga line electrification and doubling works?
Page#    2732 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy