Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Sep 26 04:23:57 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    23993 news entries  <<prev  next>>
  
Yesterday (17:52) झारखंड में हावड़ा-मुंबई रूट पर दर्जनों ट्रेनें रद, हजारों यात्री परेशान (www.jagran.com)
Major Accidents/Disruptions
SER/South Eastern
0 Followers
518 views

News Entry# 360549  Blog Entry# 3840131   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
सरना धर्म व संताली भाषा को संवैधानिक स्वीकृति समेत विभिन्न मांगों को लेकर आदिवासी संगठनों के रेल रोको आंदोलन का सोमवार को ट्रेनों पर व्यापक असर पड़ा। दक्षिण पूर्व रेलवे की कई ट्रेनें जहां-तहां खड़ी हो गई, कई को रद भी करना पड़ा। आदिवासियों की हड़ताल सोमवार देर रात करीब तीन बजे खत्म हो गई। मंगलवार को भी कई ट्रेनों का परिचालन रद रहा। इस कारण यात्रियों का बुरा हाल है। झारखंड में हावड़ा-मुंबई रूट पर दर्जनों ट्रेनें और हजारों यात्री प्रभावित हैं। संथाल लोग अपनी मांगों को लेकर ट्रैक पर बैठ गए थे। मंगलवार तड़के साढ़े तीन बजे प्रशासन ने उन्हें हटा तो दिया लेकिन इससे इस सेक्शन पर रेल परिवहन बुरी तरह चरमराया। अपनी मांगों को लेकर आदिवासी संगठनों ने सोमवार से रेल ट्रैक जाम कर रखा था। 
आधा
...
more...
दर्जन पैसेंजर ट्रेनें रही रद, एक दर्जन से भी ज्यादा ट्रेनों का मार्ग बदलाभारत जकात माझी परगना महाल की ओर से सोमवार को रेल चक्का जाम करने का असर मंगलवार को भी ट्रेनों के परिचालन पर दिखा। मंगलवार को टाटा से छूटने व गुजरने वाली करीब आधा दर्जन पैसेजर ट्रेनें रद रहीं, जबकि एक दर्जन से भी ट्रेनों को परिवर्तित मार्ग से चलाया गया। वहीं, कुछ ट्रेनों को रिशिड्यूल कर दिया गया। सोमवार की ही तरह टाटा-खड़गपुर रेल मार्ग पर ट्रेनों का परिचालन अस्त-व्यस्त रहा। रेलवे के अधिकारी के अनुसार ट्रेनों के परिचालन को सामान्य होनें में दो से तीन दिन लग जाएंगे। परिचालन बाधित होने के कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। टाटा से खुलनी वाली पैसेंजर ट्रेनों के रद किए जाने से नाराज यात्रियों ने टाटानगर स्टेशन पर हंगामा भी किया। रेल पुलिस व आरपीएफ के जवानों ने यात्रियों को समझा-बुझाकर दूसरे ट्रेनों ने रवाना किया।

ये ट्रेनें हुई रद-चक्रधरपुर-टाटा सवारी गाड़ी-टाटा-चक्रधरपुर सवारी गाड़ी-बरकाखाना-टाटा सवारी गाड़ी-झारग्राम-पुरुलिया सवारी गाड़ी-पुरुलिया-झारग्राम सवारी गाड़ी-टाटा-चाकुलिया सवारी गाड़ी-चाकुलिया-टाटा सवारी गाड़ी
परिवर्तित मार्ग से चलने वाली ट्रेंने-पुणे-हावड़ा आजाद हिन्द एक्सप्रेस चांडिल, पुरुलिया, आसनसोल होकर रवाना हुई-पुरी-नईदिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस कटक, जरुली, डंगवापोशी, टाटा होकर रवाना हुई-पुरी-हरिद्धार उत्कल एक्सप्रेस कटक, जरुली, डंगवापोशी, टाटा होकर रवाना हुई-सिकंदराबाद-हावड़ा फलकनुमा एक्सप्रेस कटक, जरुली, डंगवापोशी, टाटा, खड़गपुर होकर रवाना हुई-पुरी-आनंदबिहार नंदनकानन एक्सप्रेस कटक, जरुली, राजखरसंवा, टाटा, चांडिल, अनारा, गोमो होकर रवाना हुई-भुवनेश्वर-नईदिल्ली राजधानी एक्सप्रेस डांगवापोशी, टाटा, बोकारो, गोमो होकर रवाना हुई-मुंबई-हावड़ा दुरंतो एक्सप्रेस चांडिल, आसनसोल होकर रवाना हुई-मुंबई-हावड़ा गीतांजली एक्सप्रेस टाटा, चांडिल, आसनसोल होकर रवाना हुई-अहमदाबाद-हावड़ा अहमदाबाद एक्सप्रेस टाटा, चांडिल, आसनसोल होकर रवाना हुई-पोरबंदर-हावड़ा एक्सप्रेस चांडिल, पुरुलिया, आसनसोल होकर रवाना हुई-गोरखपुर-शालिमार साप्ताहिक एक्सप्रेस आसनसोल, हावड़ा होकर रवाना हुई

विलंब से चलने वाली ट्रेनें-पुरी-नईदिल्ली निलांचल एक्सप्रेस को पुरी से रिसिड्यूल कर दिया गया। यह ट्रेन पुरी स्टेशन से सुबह 10.55 के बजाए शाम 5.15 बजे पुरी स्टेशन से रवाना हुई।-हावड़ा-पुरुलिया एक्सप्रेस को खडगपुर स्टेशन पर टर्मिनेट कर दिया गया। यह ट्रेन खडगपुर स्टेशन से पुरुलिया-हावड़ा बनकर वापस लौट गयी। -हावड़ा-टिटलागढ़ इस्पात एक्सप्रेस करीब तीन घंटे विलंब से डेढ़ घंटे विलंब से दोपहर बारह बजे के बाद टाटानगर स्टेशन पहुंची।-टिटलागढ़-हावड़ा इस्पतात एक्सप्रेस करीब दो घंटे विलंब से शाम चार बजे के बाद टाटानगर स्टेशन पहुंची।-हावड़ा-मुंबई गीतांजली एक्सप्रेस करीब दो घंटे विलंब से शाम सात बजे के बाद टाटानगर स्टेशन पहुंची।-टाटा-एल्लेपी एक्सप्रेस को एक घंटे विलंब से शाम 4.30 बजे टाटानगर स्टेशन से रवाना किया गया।इन ट्रेनों के अलावा कई अन्य ट्रेनें अपने निर्धारित समय से घंटो विलंब से चलीं।
रेल रोको आंदोलन से जहां-तहां खड़ी हुई ट्रेनें, कई रदगौरतलब है कि भारत जकात माझी परगना महल की ओर से मांगों के समर्थन में सोमवार को देर शाम तक बंद समर्थकों के रेल पटरी पर बैठने के कारण ट्रेनों का परिचालन बुरी तरह प्रभावित हुआ। कई ट्रेनों में पानी खत्म होने और एसी बंद होने से यात्रियों को परेशानी हुई। हालांकि दोपहर में एक बार परिचालन की कोशिश हुई, लेकिन उसे रोकना पड़ा। बार-बार यात्रियों द्वारा परिचालन संबंधी जानकारी लेने और हंगामा किए जाने से रेल कर्मचारी भी परेशान रहे। टाटानगर स्टेशन के पूछताछ केंद्र, परिचालन विभाग व स्टेशन निदेशक के कार्यालय में यात्रियों ने जमकर हंगामा किया।

हंगामे से परेशान रेलकर्मी कई बार अपने कार्यालय से अंदर-बाहर होते रहे। अहमदाबाद-हावड़ा एक्सप्रेस सुबह से ही टाटानगर स्टेशन में रुकी रही। हावड़ा-शिवाजी महाराज टर्मिनल ट्रेन हावड़ा स्टेशन में रुकी रही। इस्पात एक्सप्रेस खड़गपुर में रुकी रही। उधर, मुंबई-हावड़ा गीतांजलि एक्सप्रेस जैसे ही घाटशिला स्टेशन पहुंची, आंदोलनकारियों ने उसे रोक दिया। यहां यह ट्रेन घंटों रुकी रही, जिसके कारण ट्रेन के एक कोच के एसी ने काम करना बंद कर दिया। जबकि स्लीपर कोच का पानी खत्म होने के बाद बाद यात्रियों ने जमकर हंगामा किया।
  
Yesterday (17:37) Kolkata schoolkids stranded on train in Odisha through the day (timesofindia.indiatimes.com)
Major Accidents/Disruptions
SER/South Eastern
0 Followers
574 views

News Entry# 360545  Blog Entry# 3840082   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
KOLKATA: Disruptive politics left around 73 Class XII students and 12 teachers of The BSS School, Ballygunge, along with three kids aged below five, cooped up inside a compartment of the stranded Chennai-Santragachhi Superfast Express at Odisha’s Basta, 250km from Kolkata, for more than 15 hours since Monday morning.
The students’ parents made frantic calls to their daughters, while the 12 teachers on board, including the principal and vice-principal, desperately tried to arrange for meals.
The parents also contacted the railway authorities expressing concern about their daughters’ safety. Thereafter, Railway
...
more...
Protection Force jawans were deployed around the coach.The students had left for Visakhapatnam on Friday on an educational excursion.
Three of the 12 teachers also took their toddlers along, taking the team’s strength to 88. On the way back, they took the Chennai-Santragachhi Superfast Express, which left Visakhapatnam at 8.25pm on Sunday and was scheduled to reach Santragachhi at 10.30pm on Monday.When the train stopped at Odisha’s Rupsa Junction around 7.30am on Monday, the group thought it was just another halt. But it turned out to be the beginning of a long ordeal.
“When the train remained stalled at Rupsa, we got worried and started making inquiries about the cause of delay. The ticket checker told us that a rail roko by tribals in Bengal was holding us up. He couldn’t tell us when the train would start moving. We ate whatever food we had boarded the train with. There were only biscuits and cakes for the girls. We managed to contact the railway staff who arranged for a non-vegetarian lunch in the pantry car,” said BSS principal Sunita Sen.
“But there was another local bandh in the Rupsa area and all shops around the railway junction were closed. So there was no option to buy food or water from outside,” said teacher Sarmistha Sarkar. Around 3pm, the train moved to Basta, the next station. And after a few hours, it left that station too and stopped in the middle of nowhere, said a teacher. Till reports last came in, the train was taken back to Balasore.
“We enjoyed our trip, but we never imagined that we would have to go through such an ordeal,” said Disha Sarkar, a student who lives in Tangra.
  
BHUBANESWAR: Train services in West Bengal and Odisha were hit on Monday due to a blockade by an umbrella organisation of Adivasis who are demanding recognition of their language.
The Kharagpur division of the South Eastern Railway (SER) was affected since 6 am after members of the Bharat Jakat Majhi Marwa squatted on tracks at several West Bengal stations, including Balichak, Nekusini, Salboni, Chattna and Khemasuli, an official said.
A number of mail, express and local trains were stuck at various stations of Kharagpur-Howrah, Kharagpur-Tatanagar, Kharagpur-Bhadrak and Kharagpur-Adra sections,
...
more...
said SER spokesperson Sanjay Ghosh said.
Several express trains, including 18645 Howrah-Hyderabad East Coast Express, 12262 Howrah-Mumbai CSMT Duronto Express, 22863 Howrah-Yesvantpur AC Express, 18030 Shalimar-LTT Express and 06009 Santragachi-Puducherry special have been cancelled, the spokesperson said.
The services of the 22841 Santragachi-Chennai Central Antyodaya Express, 18409 Howrah-Puri Sri Jagannath Express and 18007 Shalimar-Bhanjpur Express were also cancelled for the day, Ghosh said, adding that many other trains were short-terminated at different stations.
The agitators also blocked roads at different places of Salboni, Khemasuli, Nekusini and Khirpai in West Midnapore district, said Superintendent of Police Alok Rajoria.
In Odisha, at least four trains were cancelled and 14 others hit as traffic on the Howrah-Chennai main line, especially at Bhadrak, was affected, an East Coast Railway (ECoR) release said.
Trains to be cancelled on Tuesday are 12074 Bhubaneswar-Howrah Jan Shatabdi Express from Bhubaneswar and 12278 Puri-Howrah Shatabdi Express from Bhubaneswar/Puri, due to cancellation of the connecting trains on Monday.
Similarly, 58007 Kharagpur-Bhadrak Passenger from Kharagpur and 58030 Bhadrak-Balasore Passenger from Bhadrak were cancelled on Monday, it said. At least 14 other trains were controlled at different places enroute in ECoR jurisdiction, it added.
  
दक्षिण-पूर्व रेलवे प्रखंड के खड़गपुर में आदिवासी समाज के रेल रोको आंदोलन के चलते मंगलवार को छत्तीसगढ़ में भी कई ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ। कुछ ट्रेनों को रद्द कर दिया गया तो कुछ को परिवर्तित समय से चलाया गया। भारत जकात माझी परगना महल की ओर से नौ सूत्री मांगों के समर्थन में यह आंदोलन किया जा रहा है।
मंगलवार को हावड़ा से आने वाली दूरंतो समेत पांच एक्सप्रेस ट्रेनें रद रहीं। वहीं दूसरी दिशा की आधा दर्जन ट्रेनें दो से 10 घंटे विलंब से चल रही है। इस समस्या ने यात्रियों की मुसीबत बढ़ा दी है। जोनल स्टेशन में यात्री ट्रेनों के इंतजार में परेशान हो रहे हैं। इंक्वायरी में समय की जानकारी लेने कतार लगी हुई है।
ये
...
more...
ट्रेनें है रद्द
12810 हावड़ा - सीएसटीएम मेल एक्सप्रेस
12130 हावड़ा- पुणे आजाद हिंद एक्सप्रेस
12102 हावड़ा- एलटीटी ज्ञानेश्वरी सुपरडीलक्स
18030 शालीमार- कुर्ला एक्सप्रेस।
- इन ट्रेनों के रद्द होने से 26 सितंबर को मुंबई से भी यह ट्रेनें रवाना नहीं होंगी। 27 सितंबर को बिलासपुर नहीं पहुंचेंगी।
देरी से चल रहीं ये ट्रेनें
पुणे-सांतरागाछी हमसफर एक्सप्रेस- दो घण्टे
छपरा-दुर्ग सारनाथ एक्सप्रेस- चार घण्टे 30 मिनट
हीराकुंड एक्सप्रेस- छह घण्टे
नांदेड़-सांतरागाछी एक्सप्रेस- तीन घण्टे
अमृतसर-बिलासपुर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस- 10 घण्टे
  
Yesterday (15:44) कोलकाताः आदिवासियों का 'रेल रोको' प्रदर्शन 22 घंटे बाद खत्म, शुरू हुआ ट्रेनों का संचालन (navbharattimes.indiatimes.com)
Major Accidents/Disruptions
SER/South Eastern
0 Followers
484 views

News Entry# 360520  Blog Entry# 3839732   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
अपनी भाषा को मान्यता देने की मांग को लेकर 'रेल रोको' प्रदर्शन कर रहे आदिवासियों के एक प्रमुख संगठन ने सोमवार देर रात के बाद अपना प्रदर्शन खत्म कर दिया। बंगाल के पश्चिमी हिस्सों में यह प्रदर्शन करीब 22 घंटों तक चला, जिसके कारण हजारों यात्री फंसे हुए थे।
रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि आदिवासी भाषा को मान्यता देने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों ने क्षेत्र के कुछ राजमार्गों को भी जाम कर दिया था जिससे आम लोगों की समस्या और ज्यादा बढ़ गई थी।
उन्होंने बताया कि भारत
...
more...
जकत माझी मड़वा के सदस्यों ने सोमवार देर रात के बाद 2:16 बजे और 3:40 बजे के बीच नेकुसिनी, खेमासुली, बालीचक और सालबोनी स्टेशनों पर 'रेल रोको' प्रदर्शन खत्म किया।
यह प्रदर्शन सोमवार को सुबह छह बजे शुरू हुआ था। दक्षिण-पूर्वी रेलवे के प्रवक्ता संजय घोष ने बताया कि प्रदर्शन खत्म होने के बाद ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया। प्रदर्शन के कारण हजारों यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा था, क्योंकि देश के दक्षिणी, पश्चिमी और मध्य क्षेत्रों की कई ट्रेनें दक्षिण-पूर्व रेलवे के प्रभावित खड़गपुर मंडल से आती-जाती हैं ताकि हावड़ा और ओड़िशा के कुछ हिस्सों में पहुंच सकें।
मुंबई, चेन्नै, नागपुर और अहमदाबाद से हावड़ा को जोड़ने वाली ट्रेनों सहित कई एक्सप्रेस ट्रेनें इस प्रदर्शन के कारण सोमवार को रद्द कर दी गई थीं या अपने निर्धारित गंतव्य से पहले ही उन्हें अपनी यात्रा खत्म करनी पड़ी थी। घोष ने कहा कि प्रदर्शन के कारण खड़गपुर-टाटानगर, खड़गपुर-भद्रक, खड़गपुर-हावड़ा और खड़गपुर-आद्रा रेल खंडों पर ट्रेनों की आवाजाही रोकनी पड़ी थी।
Page#    23993 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy