News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Thu Jan 18, 2018 14:02:34 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Thu Jan 18, 2018 14:02:34 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
Page#    21758 news entries  <<prev  next>>
  
Jan 10 2018 (07:39)  पीली लाइन पर व्यस्त समय में मेट्रो का परिचालन प्रभावित (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsDMRC/Delhi Metro  -  

News Entry# 326612     
   Past Edits
Jan 10 2018 (07:39)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by NZM SRC Weekly SF Is My Dream Train😍😊^~/1421836
Stations:  New Delhi/NDLS  
 
 
राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : दिल्ली मेट्रो के पीली लाइन (हुडा सिटी सेंटर-समयपुर बादली) पर यात्रियों को मंगलवार शाम को व्यस्त समय में परेशान होना पड़ा। तकनीकी खराबी के कारण इस मेट्रो लाइन पर मेट्रो रेल का परिचालन करीब डेढ़ घंटा प्रभावित रहा। मेट्रो स्टेशनों पर 5-10 मिनट रुक रुक कर ट्रेनों का परिचालन हुआ। इससे केंद्रीय सचिवालय, राजीव चौक, नई दिल्ली, चांदनी चौक, कश्मीरी गेट सहित कई स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ बढ़ गई। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) का कहना है कि हुडा सिटी सेंटर से बादली की ओर जाने वाली मेट्रो लाइन पर जहांगीरपुरी मेट्रो स्टेशन के पास शाम करीब 7:30 बजे ओएचई (ओवर हेड इक्यूपेंट) वायर टूट गया। इससे कुछ समय के लिए मेट्रो का परिचालन ठप हो गया। बाद में सिंगल लाइन पर रुक-रुक कर मेट्रो का परिचालन शुरू किया गया।। ब्लू लाइन (नोराज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : दिल्ली मेट्रो के पीली लाइन (हुडा सिटी सेंटर-समयपुर...
more...
बादली) पर यात्रियों को मंगलवार शाम को व्यस्त समय में परेशान होना पड़ा। तकनीकी खराबी के कारण इस मेट्रो लाइन पर मेट्रो रेल का परिचालन करीब डेढ़ घंटा प्रभावित रहा। मेट्रो स्टेशनों पर 5-10 मिनट रुक रुक कर ट्रेनों का परिचालन हुआ। इससे केंद्रीय सचिवालय, राजीव चौक, नई दिल्ली, चांदनी चौक, कश्मीरी गेट सहित कई स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ बढ़ गई। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) का कहना है कि हुडा सिटी सेंटर से बादली की ओर जाने वाली मेट्रो लाइन पर जहांगीरपुरी मेट्रो स्टेशन के पास शाम करीब 7:30 बजे ओएचई (ओवर हेड इक्यूपेंट) वायर टूट गया। इससे कुछ समय के लिए मेट्रो का परिचालन ठप हो गया। बाद में सिंगल लाइन पर रुक-रुक कर मेट्रो का परिचालन शुरू किया गया।। ब्लू लाइन (नो
  
Jan 09 2018 (21:47)  कोहरे और आंदोलन से कई ट्रेनें घंटों लेट (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsSER/South Eastern  -  

News Entry# 326598     
   Past Edits
Jan 09 2018 (21:47)
Station Tag: Bokaro Steel City/BKSC added by Divert ShalimarGorakhpur Express via BKSC*^~/55092
 
 
बोकारो प्रतिनिधिघने कोहरे के कारण एक तरफ जहां लंबी दूरी की ट्रेनें घंटों लेट चल रही हैं, वहीं झारखंड दिशोम पार्टी के भूमि अधिग्रहण बिल के विरोध में आंदोलन के कारण और स्थिति बिगड़ गई। फंसे हुए यात्रियों को स्पेशल ट्रेनों से भेजा गया।बोकारो से गुजरने वाली राजधानी, नीलांचल, हटिया पटना समेत ज्यादातर ट्रेनें सोमवार को अपने निर्धारित समय से घंटों लेट पहुंचीं। 12875 नीलांचल एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय 11:20 बजे की जगह 12: 30 बजे बोकारो पहुंची। सोमवार को आने वाली भुवनेश्वर राजधानी रद्द कर दी गई, वहीं रविवार को पहुंचने वाली राजधानी 24 घंटे बाद शाम 06 बजे बोकारो पहुंची। वहीं शताब्दी एक्सप्रेस 04 बजे की जगह 16:45 बजे बोकारो रेलवे स्टेशन पहुंची। कोहरे के कारण पटना से चलकर हटिया को जाने वाली पटना-हटिया एक्सप्रेस नहीं खुली। वाया खड़गपुर बोकारो पहुंची राजधानी : झारखंड दिशोम पार्टी के आंदोलन के कारण आद्रा मंडल के मधुकुंडा, कांटाडीह और इंद्राबली में आंदोलनकारियों...
more...
ने घंटों ट्रेन रोककर आवागमन बाधित कर दिया, जिससे आद्रा मंडल के विभिन्न ट्रेनों में ट्रेनों का आवागमन ठप हो गया। कोहरे के कारण भुवनेश्वर नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस पहले से ही लेट चल रही थी, आंदोलन के कारण राजधानी एक्सप्रेस झांटी पहाड़ी में चार घंटे तक रुकी रही, जिससे यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ी। स्पेशल ट्रेन से बोकारो पहुंचे राजधानी के पैसेंजर : आवागमन बाधित होने के कारण आद्रा मंडल के डीआरएम ने राजधानी एक्सप्रेस को पुन: खड़गपुर-टाटा होते हुए बोकारो रेलवे स्टेशन पहुंचाया। वहीं आद्रा समेत बीच में पड़ने वाले सभी यात्रियों के लिए 11:20 बजे आद्रा से बोकारो तक स्पेशल ट्रेन चलाकर उन्हें बोकारो पहुंचाया गया। बोकारो के वीआइपी कक्ष में विश्रम के बारे यात्री राजधानी से शाम छह बजे रवाना हो गये। इन ट्रेनों को किया गया डायवर्ट : 12801 पुरी नई दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस, 12802 नई दिल्ली पुरी पुरुषोतम एक्सप्रेस, 12811 भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस व 13301 धनबाद-टाटा स्वर्णरेखा एक्सप्रेस को डायवर्ट कर चलाया गया।
  
Jan 09 2018 (21:08)  अमरनाथ एक्सप्रेस का अचानक बदला रूट यात्रियों का हंगामा (www.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 326595     
   Past Edits
Jan 09 2018 (21:08)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Jan 09 2018 (21:08)
Station Tag: Barabanki Junction/BBK added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Jan 09 2018 (21:08)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Jan 09 2018 (21:08)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964
 
 
बाराबंकी में मालगाड़ी हादसे के बाद ट्रेनों की जानकारी के लिए रात भर भटके यात्री
यात्रियों की मदद के लिए नहीं खोला गया कंट्रोल रूम
गोरखपुर से जम्मू जाने वाली अमरनाथ एक्सप्रेस का मंगलवार को अचानक रास्ता बदल दिया गया। ट्रेन को लखनऊ लाने के बजाए उसे सीतापुर से ही शाहजहांपुर के लिए रवाना कर दिया गया। इसकी जानकारी जब यात्रियों को हुई तो उन्होंने हंगामा करना शुरू कर दिया। इसके अलावा बाराबंकी में मालगाड़ी पटरी से उतरने के बाद रेल संचालन ठप हो गया। इसके बाद पूरी रात चारबाग में अफरा तफरी
...
more...
का माहौल रहा। यात्रियों को उनकी ट्रेनों की स्थिति तक पता नहीं चल पा रही थी। इसको लेकर भी यात्रियों ने हंगामा किया। यही नहीं यात्रियों की मदद के लिए कंट्रोल रूम तक नहीं खोला गया। इसे लेकर यात्री नाराज नजर आए।
गोरखपुर से जम्मूतवी जाने वाली अमरनाथ एक्सप्रेस गोरखपुर से वाया बाराबंकी, लखनऊ होकर जम्मू जाती है। सोमवार को बाराबंकी में मालगाड़ी के 8 कोच पटरी से उतरने के बाद ट्रेन को गोण्डा से सीतापुर होते हुए शहाजहांपुर रवाना कर दिया गया। इसकी जानकारी भी लखनऊ में ट्रेन का इंतजार कर रहे यात्रियों को नहीं दी गई। काफी समय बाद जब यात्रियों को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने स्टेशन पर हंगामा करना शुरू कर दिया। काफी हंगामे के बाद यात्रियों को किसी तरह से समझाबुझा कर शांत किया गया।
पूरी रात ट्रेनों के इंतजार में बैठे रहे यात्री
रेलवे की लापरवाही का खामियाजा यात्रियों को उठाना पड़ा। यात्रियों को जमा देने वाली ठंड में पूरी रात प्लेटफार्म पर गुजारना पड़ गई। असल में मालगाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद एक लाइन पूरी तरह से ठप हो गई थी। इसकी वजह से कई ट्रेनों को बीच में ही रोक दिया गया। हादसे के बाद रेलवे ने कंट्रोल रूम तक स्टेशन पर नहीं खोला। इससे यात्रियों को ट्रेनों की सही जानकारी नहीं मिल सकी। धनबाद से फिरोजपुर जाने वाली गंगा सतलुज एक्सप्रेस दोपहर में लखनऊ आती है। मालगाड़ी हादसे के बाद ट्रेन को बीच में रोक दिया गया। ये ट्रेन सुबह करीब 4 बजे लखनऊ पहुंची। इसके अलावा बिहार सम्पर्कक्रांति समेत कई ट्रेनों के यात्री पूरी रात अपनी ट्रेनों को खोजते रहे लेकिन उनकी मदद के लिए कोई भी रेल अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा।
कोहरे ने बढ़ाई यात्रियों की मुश्किलें
कोहरे की वजह से भी यात्रियों की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। सोमवार को दिल्ली से पुरी जाने वाली नीलांचल एक्सप्रेस निरस्त रही। इसके अलावा करीब 4 दर्जन से अधिक ट्रेनें आठ से दस घंटे की देरी से चल रही। वीआईपी ट्रेन शताब्दी एक्सप्रेस कोहरे की वजह से दोपहर 12.30 के बजाए शाम 4 बजे लखनऊ पहुंची जबकि लखनऊ मेल भी करीब 4 घंटे देरी से लखनऊ आई।
ये ट्रेनें रही लेट
11123 बरौनी-ग्वालियर एक्सप्रेस 25 घंटे
12512 राप्तीसागर एक्सप्रेस 23 घंटे,
13019 बाघ एक्सप्रेस 14 घंटे,
12541 गोरखपुर-एलटीटी एक्सप्रेस 10 घंटे
12587 अमरनाथ एक्सप्रेस 17 घंटे
19166 साबरमती एक्सप्रेस 16 घंटे
22419 सुहेलदेव एक्सप्रेस 15 घंटे
12553 वैशाली एक्सप्रेस 16 घंटे
12565 बिहार संपर्कक्रांति एक्सप्रेस 15 घंटे
11016 कुशीनगर एक्सप्रेस 14 घंटे
13307 गंगा-सतलुज एक्सप्रेस 18 घंटे
15708 अमृतसर-कटिहार एक्सप्रेस 14 घंटे
12529 पाटलीपुत्र-लखनऊ एक्सप्रेस 12 घंटे
  
Jan 09 2018 (21:03)  बड़ा हादसा : फिर रेलवे प्रशासन की लापरवाही हुई उजागर, मंत्रलय की सख्ती बेअसर (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 326594     
   Past Edits
Jan 09 2018 (21:03)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Jan 09 2018 (21:03)
Station Tag: Barabanki Junction/BBK added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964
 
 
तेज आवाज के साथ रेल पटरी के परखच्चे उड़े
Click here to enlarge image
शहर के निकट सफीपुर गांव के पास रेलवे लाइन के किनारे खेतों में रहे किसानों के लिए सोमवार सुबह भी अन्य दिनों की तरह सामान्य रहा। इसी बीच रेलवे ट्रैक से एक मालगाड़ी गुजरी तो किसी ने कोई खास ध्यान नहीं दिया। लेकिन ट्रेन रेठ नदी को पार करती इससे पहले ही तेज आवाज से किसान व चरवाहे डर गए। उनकी नजरे मालगाड़ी को गई तो देखा कि मालगाड़ी के पीछे के डिब्बे एक ओर झुक गए हैं और
...
more...
मालगाड़ी के घिसटने से तेज चिंगारी निकल रही है और थोड़ी देर बाद मालगाड़ी रुक गई। मालगाड़ी के बेपटरी होते ही आस पास रहे ग्रामीण व चरवाहे घटना स्थल पर पहुंच गए। देखते ही देखते लोगों की भीड़ भी जमा हो गई। ट्रेन के गार्ड ने दुर्घटना की सूचना कंट्रोल रूम को दी। एक-एक कर पहुंचे अधिकारी: ट्रेन हादसे की जानकारी मिलते ही लखनऊ से वरिष्ठ अधिकारी एक-एक कर पहुंचने लगे। बाराबंकी रेलवे स्टेशन के विभिन्न अनुभागों से भी अधिकारी मौके पर पहुंचे। दिल्ली में अधिकारियों को करते रहे रिपोर्ट: रेल हादसे की सूचना से लखनऊ से लेकर दिल्ली तक हड़कंप मचा रहा।मौके पर मौजूद अधिकारी अपने-अपने अधिकारियों को पल-पल की सूचना देते रहे। मौके पर पहुंचे अधिकारियों में डीसीएम प्रथम रिचा, सीनियर डीएनसी अनिल कालरा, सीनियर डीओएम जी वाईके त्रिपाठी, डीएसओ एके यादव, सीनियर ईएमई कौशतुभमणि सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। एआरटी से मंगवाए गए स्लीपर व उपकरण: अधिकारियों के पहुंचने के कुछ देर बाद ही एआरटी (दुर्घटना राहत ट्रेन) बुलाई गई। साथ ही रेलपथ के कई कर्मचारी भी मौके पर पहुंचे। कर्मचारियों ने एआरटी से लोहे के स्लीपर के अलावा राहत कार्य के अन्य उपकरण उतारे। इसके बाद एआरटी को हटा कर रुट खाली कराया गया। उधर ट्रैक को खाली कराने के लिए क्रेन भी बुलवाई गई। डिब्बों से उतरवाई गई टाइल्स, क्रेन से हटवाए गए डिब्बे: मौके पर एआरटी से पहुंच कर्मचारियों ने अपना कार्य शुरू कर दिया। इसी बीच रेलवे अधिकारियों ने भारी डिब्बों को हटवाने के लिए उसमे लदी टाइल्स को श्रमिकों से उतरवा कर पास ही उसके चट्टे लगवा दिए। इसके बाद इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के लोगों ने क्रेन बुलवा कर डिब्बों को हटवाया। जिसके बाद पटररियों के बदलने व मरम्मत का कार्य शुरू किया जा सका। की मैन ने भी नहीं देखी दरार: रेल हादसे को लेकर सभी में चर्चा रही। कोई पटरियों में आई खराबी को हादसे के लिए जिम्मेदार बताता रहा तो कई चुप्पी साधे रहा। ताज्जुब की बात है कि जहां पर पटरी टूटी है उसके एक हिस्से पर ऐसे स्पॉट भी दिखाई दे रहे है जो इस बात की चुगली कर रहे थे कि वहां पर पटरी पहले सक ही दरकी थी।लेकिन की कैन भी ध्यान नहीं दिया न ही अधिकारी ट्राली करने के दौरान इस खामी का े पकड़ सके। अब इस लापरवाही के लिए कौन दोषी है यह तो जांच रिपोर्ट में ही सामाने आएगा।कई जगहों पर निकली मिली चाभी: जिस स्थान पर मालगाड़ी के डिब्बे उतरे हैं। वहीं पर कुछ दूरी पर पटरी से चाभी निकली मिली।
बाराबंकी हिन्दुस्तान संवाद
सोमवार को हादसे के बाद घटना स्थल पर पहुंचे डीआरएम ’ हिन्दुस्तान
हादसे के बाद रेलवे पटरी की मरम्मत के लिए जुटाए गए उपकरण ’ हिन्दुस्तान
  
Jan 09 2018 (21:01)  ठंड से चटकी पटरी मगर लोड पड़ने से हुआ हादसा (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 326593     
   Past Edits
Jan 09 2018 (21:01)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Jan 09 2018 (21:01)
Station Tag: Barabanki Junction/BBK added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964
 
 
ठंड से चटकी पटरी मगर लोड पड़ने से हुआ हादसा
Click here to enlarge image
टूटी पड़ी पटरी ’ हिन्दुस्तान
बाराबंकी हिन्दुस्तान संवाद
जिस तरह से रेल पटरी टूटी है उसे लेकर कई तरह के
...
more...
कयास लगाए जा रहे हैं। रेलवे कर्मचारियों ने बताया कि बोगी में टाइल्स व पाउडर भरा हुआ है। लोगों का कयास है कि कहीं रेलवे पटरे पहले से तो नहीं दरकी थी या फिर बोगी ही ओवर लोड है। यह भी संभव है कि यह दोनों कारण हों। जिसके चलते यह रेल हादसा हुआ। इस संबंध में डीआरएम सतीश कुमार ने बताया कि टीम गठित कर दुर्घटना के कारणों की जांच कराई जाएगी। रिपोर्ट मिलने पर कार्रवाई होगी। जजर्र पटरी से 20 किमी की रफ्तार से गुजरने के थे निर्दश: रेलवे सूत्रों की माने तो यह रेलवे लाइन काफी जजर्र हो गई थी। जिसके चलते इस रुट से ट्रेनों के गति 20 किमी प्रति घंटा पहले से निर्धारित की गई थी। स्थानीय लोगों ने बताया कि जिस स्थान पर रेल दुर्घटना हुई है। वहां पर मालगाड़ी की गति काफी अधिक थी। इस संबंध में रेलवे अधिकारियो का कहना है कि इसकी भी जांच होगी। रेल इंजन के पास ही गति रिकार्ड करने के लिए एक बाक्स में मीटर लगा होता है। गति अधिक रही होगी तो इसकी डिटेल मिल जाएगी।
Page#    21758 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.