Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

NTES is the salt of Railfanning. IRI is the sugar. - Kirti Solanki

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Dec 5 04:28:40 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by भारतीय रेल प्रशंसक

Page#    Showing 1 to 5 of 15 news entries  next>>
Nov 21 (18:59) कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ वार्ता में किसान संगठनों का बड़ा फैसला, सभी ट्रेनों के लिए खोला रेल ट्रैक (www.amarujala.com)
0 Followers
15308 views

News Entry# 425463  Blog Entry# 4786108   
  Past Edits
Nov 21 2020 (18:59)
Station Tag: Firozpur Cantt. Junction/FZR added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 21 2020 (18:59)
Station Tag: Patiala/PTA added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 21 2020 (18:59)
Station Tag: Bathinda Junction/BTI added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 21 2020 (18:59)
Station Tag: Amritsar Junction/ASR added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 21 2020 (18:59)
Station Tag: Pathankot Cantt/PTKC added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 21 2020 (18:59)
Station Tag: Jalandhar Cantt. Junction/JRC added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 21 2020 (18:59)
Station Tag: Ludhiana Junction/LDH added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 21 2020 (18:59)
Station Tag: Chandigarh Junction/CDG added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276
तकरीबन डेढ़ माह से किसानों का आंदोलन पंजाब में जारी है। शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसान संगठनों से मुलाकात की और राज्य में सभी ट्रेनों के संचालन का मुद्दा उठाया। इस पर किसान संगठनों ने 23 नवंबर से सभी ट्रेनों के लिए 15 दिन तक ट्रैक खाली करने पर सहमति जताई है।विज्ञापनबैठक में  ट्रेनें के संचालन ठप होने से पंजाब को हो रहे नुकसान का भी कैप्टन ने हवाला दिया। यह बैठक लगभग एक घंटे तक चली। हालांकि इस दौरान किसान संगठनों ने कहा कि केंद्र सरकार को इन 15 दिनों में खुली वार्ता करनी होगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो 15 दिन बाद किसान संगठन अपना आंदोलन फिर शुरू कर देंगे। वहीं किसानों के प्रस्तावित 'दिल्ली चलो आंदोलन' में कोई बदलाव नहीं किया गया है। पंजाब के किसान 26 नवंबर को दिल्ली कूच करेंगे। किसान यूनियनों के साथ एक सार्थक बैठक हुई। यह साझा करते हुए...
more...
खुशी है कि 23 नवंबर की रात से किसान संगठनों ने 15 दिनों के लिए ट्रैक खोलने का निर्णय लिया है। मैं इस कदम का स्वागत करता हूं, क्योंकि यह हमारी अर्थव्यवस्था को सामान्य स्थिति में लाएगा। मैं केंद्र सरकार से पंजाब में रेल सेवाओं को फिर से शुरू करने का आग्रह करता हूं। कैप्टन अमरिंदर सिंह, मुख्यमंत्री, पंजाब। पंजाब में यूरिया की कमीपंजाब में मालगाड़ियों के न चलने का असर यूरिया की आपूर्ति पर पड़ा है। पंजाब में इस समय यूरिया और तापीय विद्युत संयत्रों में कोयले की भारी कमी है। वहीं अवाश्यक वस्तुओं की आपूर्ति भी ठप है। पंजाब सरकार ने किसानों से आग्रह किया था कि वे रेल रोको आंदोलन वापस ले लें लेकिन किसानों का कहना था कि राज्य सरकार यूरिया की आमद की व्यवस्था खुद करे और ट्रकों के जरिए पंजाब तक लाए। आंदोलन से एनएचएआई को 150 करोड़ का नुकसानपंजाब में विभिन्न टोल प्लाजा पर किसान आंदोलन के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग प्रधिकरण (एनएचएआई) को लगभग 150 करोड़ रुपये का राजस्व घाटा हुआ है। यह जानकारी प्रधिकरण के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी। पंजाब में एक अक्तूबर से किसान संगठन केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं और प्रमुख राजमार्गों पर स्थित विभिन्न टोल प्लाजा पर उनका धरना भी जारी है। आंदोलनकारी किसानों ने टोल प्लाजा के कर्मचारियों को वाहनों से टोल वसूलने पर रोक दिया है।इन टोल प्लाजा से सभी वाहनों को बिना टोल के गुजरने दिया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि पंजाब में एनएचएआई के 25 टोल प्लाजा हैं।एनएचएआई के चंडीगढ़ में क्षेत्रीय अधिकारी आरपी सिंह ने बताया कि किसान संगठन टोल प्लाजा पर डेढ़ माह से आंदोलन कर रहे हैं, जिससे करीब 150 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है।

Rail News
14496 views
Nov 21 (19:08)
भारतीय रेल प्रशंसक
Bhartiya_rail~   5319 blog posts
Re# 4786108-1            Tags   Past Edits
Great news for all people of Punjab, HP and J&K. All trains to be allowed to run 23 Nov onwards by Kisan Unions
Nov 11 (11:32) Centre invites protesting farm unions of Punjab for talks on Friday (www.tribuneindia.com)
Politics
NR/Northern
0 Followers
18691 views

News Entry# 424525  Blog Entry# 4774932   
  Past Edits
Nov 11 2020 (11:34)
Station Tag: Patiala/PTA added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 11 2020 (11:34)
Station Tag: Bathinda Junction/BTI added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 11 2020 (11:34)
Station Tag: Firozpur Cantt. Junction/FZR added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 11 2020 (11:34)
Station Tag: Pathankot Cantt/PTKC added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 11 2020 (11:34)
Station Tag: Jalandhar Cantt. Junction/JRC added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 11 2020 (11:34)
Station Tag: Amritsar Junction/ASR added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 11 2020 (11:34)
Station Tag: Ludhiana Junction/LDH added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 11 2020 (11:34)
Station Tag: Chandigarh Junction/CDG added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276
Agriculture, railways ministers to meet farm leaders
Posted: Nov 10, 2020
...
more...
05:58 PM (IST)
Updated : 4 hours ago
Ruchika M. Khanna
Tribune News Service
Chandigarh, November 10
A two-member ministerial delegation of the BJP-led NDA government is all set to hold talks with the leaders of protesting farmer unions of Punjab on Friday.
A letter from Secretary, Agriculture, Sudhanshu Panday, inviting the union leaders for talks with Agriculture Minister Narinder Singh Tomar and Railways Minister Piyush Goyal has been sent to the farmer unions on Wednesday evening.
Though the date of the meeting was announced by the state BJP leaders yesterday, the farmer unions had not received a formal invite.
“We will be holding a meeting of all 30 unions, who have joined hands for the protest, at Chandigarh on Thursday. The entire strategy for the meeting with the Centre will be jointly decided, before we go to Delhi,” said Balbir Singh Rajewal, president of BKU Rajewal.
Jagmohan Singh Patiala, general secretary of BKU Dakaunda, said they remained steadfast in their demand that the laws passed by the Centre had to be repealed.
Farmers in Punjab have been protesting against the three agriculture laws passed by the Parliament in September, saying these laws are aimed at corporatising the agriculture sector. While farmers held a Rail Roko protest, sitting on the railway tracks from October 1 to November 3, they have also been holding protests outside the residences of BJP leaders and businesses run by corporate houses.
The farmer unions have only allowed passage to the goods services trains, while they remain adamant that passenger trains would not be allowed to run. The Centre has decided to keep all rail services suspended. As train services in the state remain suspended, the state has suffered huge economic losses.

Rail News
18385 views
Nov 11 (11:38)
भारतीय रेल प्रशंसक
Bhartiya_rail~   5319 blog posts
Re# 4774932-1            Tags   Past Edits
If everything works fine, all travellers of Punjab,J&K and HP can finally have trains running again to serve them. Also would be a life saver for many industries.

13504 views
Nov 12 (03:35)
OM SAI RAM ਆਦਿਤਯ ਕੁਮਾਰ ਚੌਧਰੀ 😊😊
TravelBahanaYou^~   3749 blog posts
Re# 4774932-2            Tags   Past Edits
hope so!!
Nov 01 (19:01) Punjab: Railways dismisses rumours on start of some goods trains (m.timesofindia.com)
Politics
NR/Northern
0 Followers
13419 views

News Entry# 423460  Blog Entry# 4764479   
  Past Edits
Nov 01 2020 (19:02)
Station Tag: Patiala/PTA added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 01 2020 (19:02)
Station Tag: Bathinda Junction/BTI added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 01 2020 (19:02)
Station Tag: Jalandhar Cantt. Junction/JRC added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276

Nov 01 2020 (19:02)
Station Tag: Ludhiana Junction/LDH added by भारतीय रेल प्रशंसक/1306276
TOI
LUDHIANA: Dismissing the rumours that some goods trains might be resumed to and fro from Punjab, the railways on Thursday clarified that there is no such plan as of now to start operations. The development has increased the fear among businessmen, who have been pleading before farmer organisations and the government to end the ‘rail roko andolan’ and resume train service at the earliest.
In the latest development, Ludhiana industrialists have issued a warning to both state and central governments that if the train operations do not start by next week, then
...
more...
about 90% of factories will have to shut down operations completely in Ludhiana alone due to shortage of raw material. Meanwhile, additional divisional railway manager (ADRM), Ferozepur, Sukhwinder Singh said, “Same status quo on running of trains on Friday. We don’t have any orders for running of trains, but we are ready for it as soon as the issue is sorted out.”
Giving more information, Gurmeet Singh Kular, president of Federation of Industrial and Commercial Organisations (FICO), said, “Farmers have been protesting against the farm laws and have blocked the rail tracks at several spots, thereby leading to a complete halt of inbound and outbound trains in Punjab. This has led to disruptions in the the supply chain and industry has been hit the most as due to non-operation of goods and container trains, there has been no supply of raw material into Punjab from India and abroad and the same applies for supply of finished products to other parts of the country and world.”
Kular added that, “The biggest jolt to our industry has been the severe shortage of raw material, especially steel, in Punjab. The major plants manufacturing secondary form of steel like Aarti Steels, Avon Steels, Hero Steels, Avon Ispat & Power, which are based in Ludhiana, have closed operations as there is no raw material with them due to non-operation of trains. If this situation continues it will result in closure of 90% units in Ludhiana which are dependant on these manufacturers for supplies. It is our request to the government that it should immediately resolve the dispute with the farmers, so that normalcy could be restored.”
According to Baldev Singh Amar, leading agriculture and engineering product manufacturer, “Non-movement of trains has affected the imports and exports very badly as there are piles of containers stuck up at ports and total import-export has come to a standstill, causing huge losses to trade and industry. The government should at least arrange the movement of trains, so that the stuck-up goods may reach destinations. There are containers loaded with both raw material and finished goods, which is causing two-way problem as we are neither getting raw material for production, nor we are able to supply our finished products.”
According to Rajiv Jain, bicycle parts manufacturer, “After demonetization, GST and lockdown, rail roko is the biggest problem being faced by us. Break in the supply chain for raw material, especially steel, is affecting Ludhiana’s industry very badly. Both Centre and the state governments should remember that if this crisis of ‘rail roko andolan’ is not resolved, not only will factories shut down, but the revenue of governments will take a record hit. Therefore, it’s in best interest of the state and country and economy to end this problem."
लुधियाना(सलूजा): केन्द्र सरकार के कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग को लेकर चल रहे किसान आंदोलन की वजह से पंजाब के बिजली उत्पादन थर्मल प्लांटों में कोयले की सप्लाई ठप्प होकर रह गई है जिससे आने वाले दिनों में पंजाब में ब्लैक आऊट होने का खतरा मंडराने लगा है, जिसको लेकर पंजाब की इंडस्ट्री में अभी से हाहाकार मच गई है। इंडस्ट्रीयलिस्ट्स का कहना है कि यदि पंजाब में ब्लैक आऊट हुआ तो इंडस्ट्री को पक्के तौर पर ताले लग जाएंगे। 

यदि पंजाब में ब्लैक आऊट जैसे हालात पैदा होते हैं
...
more...
तो फिर इंडस्ट्री का बच पाना मुश्किल होगा क्योंकि केवल 5 फीसदी इंडस्ट्री के पास ही जैनरेटर की सुविधा है जबकि 95 फीसदी इंडस्ट्री आज भी पूरी तरह बिजली सप्लाई पर ही निर्भर है। लगभग 35 लाख लोग इंडस्ट्री के साथ रोजगार के रूप में जुड़े हुए हैं। इस बार इंडस्ट्री को पक्के तौर पर ही ताले लगेंगे। क्योंकि इससे पहले कोरोना महामारी की वजह से इंडस्ट्री को लगभग 4 महीनों तक आर्थिक तौर पर नुक्सान उठाना पड़ा। बिना कामकाज के लेबर को तनख्वाह व अन्य सुविधाएं प्रदान करने को मजबूर होना पड़ा। किसानी आंदोलन को देश में केवल पंजाब की ही सरकार समर्थन देकर रा’य का नुक्सान करवा रही है। यदि किसानों ने अपना रोष ही जताना है तो फिर दिल्ली जाकर केंद्रीय मंत्रियों के घरों के समक्ष धरने लगाएं। ऐसे रेलवे ट्रैकों पर बैठ कर कृषि कानून रद्द होने वाले नहीं हैं।—बदीश जिंदल, प्रधान ऑल इंडिया इंडस्ट्री एंड ट्रेड फोरमरेल रोको आंदोलन से देश की भरोसेयोग्यता पर सवालिया निशान लगने लगा है। विदेशी कस्टमर किस तरह इस बात का भरोसा करेगा कि उन्होंने जो माल का आर्डर दिया है, वह आपको समय पर मिल जाएगा। ट्रेन न चलने से न तो क‘चा माल आ रहा है और न ही तैयार माल जा रहा है। इससे देश, पंजाब व इंडस्ट्री को भारी नुक्सान हो रहा है। राजनीति की आड़ में अपने निजी स्वार्थों की पूर्ति करने वाले लोग इसके लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं। आज भारत के पास हर इंडस्ट्री में आगे बढऩे का मौका था। क्योंकि चीन के साथ चल रहे विवाद के बाद भारत ने हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर होने का संकल्प लिया लेकिन मौजूदा हालातों ने तो इंडस्ट्री को कई वर्ष पीछे धकेल कर रख दिया। यदि ब्लैक आऊट हो जाता है तो फिर हर इंडस्ट्री के लिए यह संभव नहीं होगा कि वह जैनरेटर से काम चलाए।’—अजीत लाकड़ा, प्रधान लुधियाना निटर्ज एसो.इंडस्ट्री तो पहले ही बंद है। न तैयार हुआ माल जा रहा है और न ही पैसा आ रहा है। यदि किसानों के रेल रोको आंदोलन की वजह से पंजाब में ब्लैक आऊट होता है तो फिर पंजाब की इंडस्ट्री खड़ी नहीं हो सकेगी। लॉकडाऊन के दौरान लेबर अपने- अपने रा’यों में शिफ्ट हो गई थी। अब जब काम चलने लगा तो किसानी आंदोलन ने फिर हाशिए पर लाकर खड़ा कर दिया। इसलिए सरकारों को चाहिए कि इस आंदोलन को खत्म करवा कर इंडस्ट्री को बचाया जाए। नहीं तो पंजाब की आर्थिकता के साथ देश की आर्थिकता का डगमगाना यकीनी है।—जसविंदर सिंह ठुकराल, प्रधान जनता नगर स्मॉल स्केल मैन्यूफैक्चरर्ज एसो.

एन.डी.ए. व कैप्टन सरकार की कशमकश के बीच इंडस्ट्री पिस रही है। आखिर इस आंदोलन का दी एंड कब होगा। एक दिन तो करना ही पड़ेगा। हर रोज व्यापक स्तर पर नुक्सान क्यों करवा रहे हो। कोयले की डिलीवरी न होने से ब्लैक आऊट पंजाब की इंडस्ट्री को तबाह करके रख देगा। यदि आंदोलन को जारी ही रखना है तो फिर उस समय तक इंडस्ट्री को बिजली बिल, लेबर को तनख्वाह, बैंकों के ब्याज व अन्य टैक्सों से छूट देने का ऐलान कर दिया जाए। क्योंकि मौजूदा हालातों में इंडस्ट्री आर्थिक तौर पर बोझ उठाने को तैयार नहीं है। —डी.एस. चावला, प्रधान यूनाइटिड साइकिल पार्ट्स इंडस्ट्री एंड मैन्युफैक्चरर्ज एसो.

केन्द्र व पंजाब सरकार किसानों के आंदोलन को जितनी जल्दी हो सकता है, खत्म करवा दें। यदि विदेशों से मिलने वाले आर्डर कैंसिल हो गए तो फिर लुधियाना समेत पंजाब की इंडस्ट्री बच नहीं पाएगी। इंडस्ट्री पहले ही कोरोना की मार झेल रही है। —उपकार सिंह आहूजा, प्रधान चैम्बर ऑफ  इंडस्ट्रीज  एंड कमॢशयल अंडर टेकिंग
पंजाब में मालगाड़ियों की आवाजाही बंद होने के कारण राज्य के थर्मल प्लांट कोयले की भारी किल्लत से जूझ रहे हैं। इसके चलते राज्य में बिजली का गंभीर संकट खड़ा होने के आसार पैदा हो गए हैं। पीएसपीसीएल के सीएमडी ए वेणु प्रसाद ने बताया कि अधिकांश थर्मल प्लांटों के पास इस समय दो-चार दिन का ही कोयला बचा है। ...
more...
विज्ञापन थर्मल प्लांट अपनी न्यूनतम क्षमता के साथ चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोयले की आपूर्ति बहाल न हुई तो राज्य में बिजली का गंभीर संकट पैदा हो सकता है। उन्होंने बताया कि राज्य में प्रतिदिन 6000 मेगावाट बिजली की जरूरत है और सरकार अन्य स्त्रोतों से 5000 मेगावाट बिजली की व्यवस्था कर रही है। राज्य सरकार ने अपने स्वामित्व वाले रोपड़ और लहरा मोहब्बत थर्मल प्लांटों को बंद कर दिया गया है और फिलहाल राजपुरा, तलवंडी साबो और गोइंदवाल के निजी थर्मल प्लांटों से बिजली हासिल कर रही है।  सीएम ने रेल मंत्री को लिखा पत्र  दो दिन पहले मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर पंजाब में मालगाड़ियों की आवाजाही बहाल करने की मांग की है। उन्होंने रेलों की आवाजाही रुकने से पैदा हो रहे बिजली संकट का भी जिक्र अपने पत्र में किया है और चेतावनी दी है कि आंदोलनकारी किसानों ने राज्य सरकार की अपील मानते हुए मालगाड़ियों को रेल रोको आंदोलन से छूट दे दी थी। लेकिन केंद्र सरकार द्वारा बिना किसी कारण के अचानक पंजाब में मालगाड़ियां रोककर आंदोलनरत किसानों को भड़काने की कोशिश की है।

Rail News
28193 views
Oct 29 (21:17)
Tamil Nadu Express
MR_INDIANRAILIN~   16809 blog posts
Re# 4762127-1            Tags   Past Edits
Bina dimag ka kaam hoga to aisa hi hoga 🤣🤣🤣

25996 views
Oct 29 (23:16)
Vaibhav Agra
Vaibhav~   1622 blog posts
Re# 4762127-2            Tags   Past Edits
Sahi kaha

25775 views
Oct 29 (23:43)
OM SAI RAM ਆਦਿਤਯ ਕੁਮਾਰ ਚੌਧਰੀ 😊😊
TravelBahanaYou^~   3749 blog posts
Re# 4762127-3            Tags   Past Edits
center should not allow the coal trains until unless they stop there protest on rail lines.
Page#    15 news entries  next>>

News Activity

MemberNewsReplies
Anupam Enosh Sarka...155416
AdittyaaSharma^~42925
Saurabhdubey_86^~21547
Harsh12345ER~94143
JigyasuSinghRF^~109104
ELSG^~11922
sanjay070135
KarthikCG^~778
Jayashree^810
Karthik.iyer27^~722
Nawaaz^~463
MR_INDIANRAILIN~1250
AmishKumar^~3625
ANKITSRIVASTAVA12....1737
SakshamMaheshwa^~149
Rajesh2475~050
amit1407^~342
Chetan~403
Jai Sri Krishna~1525
arunjoshi028037
Rai_abhi^~324
Vcpl Jbp360
Goawaychinaviru033
Railway Fan~1220
Brandon12663^~030
tanu1995^~290
Subrat Shrivastava...027
Shiva_Mani260
Riteshwer_2001^~420
Poor_People^~221
IlovemyINDIA~023
Arvind.Chaurasiya^...023
SUBHASH220
WorldWar3~022
sachinature~1012
TC4D^~912
Lokesh9304020
PRAYAGRAJ1234~317
IrtaquaAkhter~190
irifan2015018
Amogh^~97
Kaushik Sinha015
MdAsifIqbal~015
Vishwanath_BAY^~213
RAEBARELIRAILWAY~410
Pankaj0915~113
aryan89~95
azharsdd786^~68
Epiphany^~86
VijaySai123^~112
Boxerbhai_432~013
KhagariaJn^~49
SmallTownTraveller...120
Sanjaygaya012
Pankaj~012
Aayush B Pal012
HARSHR.^~011
MKS^~011
Soumik_BWN~19
Railsaharsa100
x-under SW-x010
akhileshchauras~010
Req.directtrainbew...82
HSTrainAction~09
Ayushman198~09
RamganjMandi^~72
PankajMishra^~36
sajid.akhtar~09
Naman~08
VARANGURJAR08
IMKRS08
Vinay Kumar~08
Vicky~08
SrimatiR.KavyaMeno...70
IrfSda94~25
aendri198807
Govindsingh~07
Venky63~07
Rajeshkrsbokaro~06
Bhartiya_rail~24
Dr.AtulSinha~06
AmanGupta^~60
surjitbasu~06
Rahul^~33
Piyush_Kumar_Singh...24
SGupta2003^~51
Haryanvi~06
ankur769441
Desiincanada~05
colossal_wreck_^~05
12611_MAS_GARIB^~05
Mishraji~05
Knight Rider~05
SinghsamrinRain^~14
Sonugaya~05
JRLE_KOAA_EXP~41
Atmathew8004
Thanjavur smart ci...04
s27sidharthgmai~04
Zakrimo~04
promethsuresh^~04
satyajeet~04
PilibhitTigerReser...04
Jodhpur_Junction^~04
Shaurya117^~04
Junaid04
Subhojyoti^~22
VIJAY~03
Aniket Anand03
A2Z~03
ayushkamal^~30
Railfan_RF~03
MCPNBR~21
Shahiindian~03
Centralrailtravell...03
Rang De Basanti^21
Sandeep Sharma^~12
moderator^~12
hizmzm^~03
Rohittkarwal^~12
CWA_corn_city~30
Ravi~30
TravelBahanaYou^~12
Irshad13~03
pujanandan03
Skumar^~30
uks1955yahoo.co~03
Parneet Singh^~30
Vaibhav~03
Sahug~03
Railhub02
Deepesh_Choudhary^...02
Rajdhani_in_KG_lin...02
Jammu_Mail^11
Rohtakjunction~11
PURVANCHALEXPRE~02
SPSingh~20
amisankrit~02
x-under SW-x02
Traintraveler21~02
sanguinsaurabh02
Hp2553~02
ShivnathExpress~02
Kumaon_Tiger^~20
GBK~02
Manish_Arya~02
Piyush~02
rhythmsofrail^~11
YogiRaj^~02
SparshSaxena~02
Balgobind Mishra~02
Jordan~02
rvchaubey~02
AdityaImmortal^~20
Sanz~02
snkt17~02
Rohit_2912~02
SBC~02
Roshan Bhat^~20
TravelwithNiketKar...02
NAWABShatabdi~02
bh4rtiy4r4il^~11
bishnujaiswal~02
July18_1982~02
TUSHAR AGUR20
333~11
Surjit~02
devsaab02
Vikas.Pandey~02
Somanko_ELST^~02
Ash19G02
csikram201
AW25392~01
Aditya01
mrkishan209~01
Prakhar Yadav^~01
Gourav Jha01
arishabh1819~01
JayShah^~01
SoumoBabu~01
gt109201
PramodBhandari~01
RailKingdom01
vinay12987~01
SidharthRai01
Shakil01
Sonuhasan~01
Unani1971~01
RAMESH01
aarrppiitt~01
Sanjayjamnekar01
deepakyerr01
SSRFanForever~01
Tito~01
anujmishra15601
krnt_vskp_express~01
SRG^~01
shuk^~01
saikarthik148~01
rahulbanerjeee^~10
Abdul19041~01
AVI_RAJPUT^~01
IsupportCAAMumb01
furquan_ashraf^~01
GondiaSamnapurE~10
eXplorerDKG^~01
arunaugustine9701
Silapathar01
skm16100101
SUPERMAN^~01
Krishna.Kushwah~01
SHivangTAndon^~10
EC93TheRedRagingSt...01
13Cajay^~10
Srikar_lucky^~10
ranjitg370~01
ShivamDubey~10
jamesss14301
Sri^~10
VishuBhusal~01
ShriKaalBhairav~10
blupirate~10
Babai~01
IamRaj01
VijayawadaJunction...01
Aman2002~01
Faraz_IIT_Roorkee01
railfan^~01
s.r.k_1007^~01
SaifAliSalmani30^~01
harshadkate01
TheRailCity~10
RFaman01
Asis01
gaurav01
RajuK~10
RF_Mateen01
mazhar.nfr~01
budweiser~01
sriramgandur01
MAREECH_HA1NKS~10
cadet_yash_gt46^~10
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy