Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Darjeeling Mail - উত্তরবঙ্গের ঐতিহ্য - Joydeep Roy

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Tue Mar 19 13:18:08 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Parmeshwar Jat

Page#    Showing 1 to 2 of 2 news entries  
  
Mar 15 (23:03) सीनियर डीसीएम ने कहा - एलएचबी कोच से चलाई जा रही ट्रेन (www.bhaskar.com)
New/Special Trains
WCR/West Central
0 Followers
1892 views

News Entry# 378836  Blog Entry# 4261841   
  Past Edits
Mar 15 2019 (23:04)
Station Tag: Shri Ganganagar Junction/SGNR added by Parmeshwar jat/1978231

Mar 15 2019 (23:04)
Station Tag: Kota Junction/KOTA added by Parmeshwar jat/1978231

Mar 15 2019 (23:04)
Station Tag: Jhalawar City/JLWC added by Parmeshwar jat/1978231

Mar 15 2019 (23:04)
Train Tag: Jhalawar City- Shri Ganganagar SF Express/22981 added by Parmeshwar jat/1978231

Mar 15 2019 (23:04)
Train Tag: Shri Ganganagar - Jhalawar city SF Express/22982 added by Parmeshwar jat/1978231
कोटा|श्रीगंगानगर-कोटा-ट्रेन को अब झालावाड़ तक बढ़ाया जा चुका है।
ट्रेन बढ़ाने का फैसला लेने से पहले ट्रेन के लिए एलएचबी कोच का रैक उपलब्ध करवाया गया। क्योंकि आधुनिक एलएचबी कोच का 4000 किमी चलने के बाद प्राइमरी परीक्षण की आवश्यकता होती है। जबकि पूर्व के रैक के कोच का प्राइमरी परीक्षण 3500 किमी के बाद ही होता था। एक समाचार पत्र ने सुरक्षा इंतजामों को ताक में रखकर ट्रेन दौड़ाए जाने की खबर प्रकाशित की है। ट्रेन के रखरखाव को देखते हुए ट्रेन का संचालन सप्ताह में तीन दिन झालावाड़ तक किया जाएगा।
रेलवे
...
more...
ने श्रीगंगानगर-कोटा ट्रेन को झालावाड़ तक 13 मार्च से बढ़ा दिया है। ये ट्रेन सप्ताह में तीन दिन बुधवार, गुरुवार व रविवार को झालावाड़ सिटी तक चलेगी। चार दिन कोटा मेें ट्रेन रहने पर उसका प्राइमरी एग्जामिनेशन होगा। ट्रेन में पूर्व में आईसीएफ इंट्रीगल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) में निर्मित ट्रेशिनल कोच लगते थे। इन कोच को 3500 किमी चलने के बाद प्राइमरी परीक्षण किया जाना आवश्यक था। लेकिन, ट्रेन को कोटा से आगे झालावाड़ सिटी तक बढ़ाने की तैयारी के तहत एलएचबी कोच का एक रैक दिया गया। ऐसी स्थिति मेंं ट्रेन को एक दिन एलएचबी कोच से तथा दूसरे दिन आईसीएफ कोच से चलाया जाता था। एलएचबी कोच के दो रैक होने के बाद कोच के रखरखाव को देखते हुए सप्ताह में तीन दिन तक चलाने का फैसला किया गया। रेलवे प्रशासन का कहना है कि ट्रेन के रखरखाव को लेकर किसी प्रकार की अनदेखी का सवाल ही नहीं हैं।
  
Mar 07 (15:27) लोको पायलट व सहायक अब ट्रेन नहीं केवल इंजन चलाएंगे (www.bhaskar.com)
Other News
NWR/North Western
0 Followers
2881 views

News Entry# 378158  Blog Entry# 4252996   
  Past Edits
Mar 07 2019 (15:27)
Station Tag: Choti Khatu/CTKT added by Parmeshwar jat/1978231

Mar 07 2019 (15:27)
Train Tag: Jodhpur - Delhi Sarai Rohilla Superfast Express/22481 added by Parmeshwar jat/1978231
एक सप्ताह पहले यात्रियों को लिए बिना स्टेशन से दनदनाती निकली ट्रेन के लोको पायलट व सहायक लोको पायलट को दोषी मानते हुए रेलवे ने ऐसी सजा सुनाई है कि वे अब अपनी बाकी की नौकरी में ट्रेन नहीं चला सकेंगे। उन्हें अब शंटिंग के लिए इंजन को ही इधर-उधर लेकर जाना होगा। इस मामले में रेलवे ने ट्रेन के गार्ड को दोषमुक्त करते हुए पुन: ड्यूटी पर ले लिया है। दरअसल, गत 25 फरवरी को ट्रेन संख्या 22481 शाम 7:07 बजे जोधपुर से रवाना हुई थी।
लोको पायलट अब्दुल वहीद व गार्ड ओमकार कटारिया ट्रेन लेकर डेगाना-रतनगढ़ रेल खंड में आगे बढ़ रहे थे। डेगाना से ट्रेन रात 9:30 बजे निकली। आगे छोटी खाटू स्टेशन पर यात्री ट्रेन का इंतजार
...
more...
कर रहे थे तो इस ट्रेन से यात्रियों को उतरना भी था। लेकिन रात करीब 10 बजे जब ट्रेन इस स्टेशन से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दनदनाती हुई निकल गई तो यात्री चिल्लाने लगे। इस पर लोको पायलट को लगा कुछ गड़बड़ है। उसने ट्रेन रोकी। तब तक स्टेशन करीब 10 किमी दूर छूट गया था। ट्रेन के गार्ड ओर लोको पायलट ने आपस में बात कर ट्रेन को पीछे लेकर यात्रियों को लिया, तब आगे बढ़ी। हॉल्ट स्टेशन होने के कारण इस पर न तो सिग्नल व्यवस्था है और न ही कोई रेलवे कर्मचारी तैनात रहता है। ऐसे में लोको पायलट व सहायक लोको पायलट की ही जिम्मेदारी होती है कि वे स्टेशन आने से पहले ट्रेन को धीमे कर स्टेशन पर रोके।
Page#    2 news entries  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy