Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

Sri Jagannath Express is as good as Abada Prasad - Brandon Buffard

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sat Jan 22 20:01:09 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Advanced Search

News Posts by Haryana Steelers 😎

Page#    Showing 1 to 5 of 24 news entries  next>>
शायद आप ऐड ब्लॉकर का इस्तेमाल कर रहे हैं। पढ़ना जारी रखने के लिए ऐड ब्लॉकर को बंद करके पेज रिफ्रेश करें।

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें →

इस
...
more...
खबर को सुनें

स्वदेशी तकनीक से निर्मित सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस अगले साल नए अवतार में 44 रूट पर दौड़ेंगी। रेलवे ने मार्च तक दो वंदे भारत एक्सप्रेस (प्रोटोटाइप) चलाने की तैयारी पूरी कर ली है। जबकि वित्तीय वर्ष 2022-23 तक 42 वंदे भारत दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, पटना, लखनऊ, देहरादून, रांची, भोपाल, चेन्नई, जयपुर आदि बड़े शहरों के बीच दौड़ने लगेंगी। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने प्रोटोटाइप चलाने की तैयारी पूरी कर ली है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2021 को लाल किले से 75 हफ्तों (लगभग डेढ़ साल) में 75 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन (ट्रेन-18) देश के हर कोने से जोड़ने की घोषणा की थी। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने भारतीय कंपनियों को तकनीकी-वित्तीय योग्यता के अनुरूप टेंडर प्रक्रिया में बदलाव किए थे। रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वंदे भारत एक्सप्रेस के कोच उत्पादन के लिए नौ कंपनियों ने दिलचस्पी दिखाई है। चयन प्रक्रिया पूरी होने के बाद कोच का निर्माण शुरू हो जाएगा।

उन्होंने बताया कि चालू वित्तीय वर्ष में दो प्रोटोटाइप वंदे भारत ट्रायल के लिए पटरी पर दौड़ने लगेंगी। इसके बाद रेल संरक्षा आयुक्त से मंजूरी मिलने के बाद अगस्त 2022 में पूरी क्षमता से कोच का उत्पादन शुरू कर दिया जाएगा। वित्तीय वर्ष 2022-23 में 42 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन महानगरों और बड़े शहरों के बीच दौड़ने लगेंगी। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शेष 31 वंदे भारत ट्रेन को वित्तीय वर्ष 2023-24 के अगस्त माह तक चलाने का लक्ष्य रखा है।

इन रूट पर दौड़ेंगीरेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि सेमी हाई स्पीड (160-200 किलोमीटर की रफ्तार) वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों को दिल्ली-हावड़ा, दिल्ली-मुंबई, दिल्ली-जम्मू, दिल्ली-देहरादून, दिल्ली-भोपाल व दक्षिण भारत के प्रमुख रेल मार्गों पर चलाया जाएगा। इन ट्रेन के कोच का उत्पादन रेलवे की आईसीएफ-चेन्नई, एमसीएफ-रायबरेली एवं आरसीएफ-कपूरथला की फैक्ट्रियों में किया जाएगा।

आग लगने पर भी दरवाजे-खिड़कियां खुल सकेंगीनई वंदे भारत में यात्रियों की सुविधा की खातिर कई बदलाव किए गए हैं। इसमें पुशबैक सीटें होंगी। जिसे खिसकाकर सुविधानुसार आगे-पीछे किया जा सकेगा। अभी रेक्लाइनिंग सीटें हैं। ट्रेन में केंद्रीकृत कोच होंगे, जिससे एक ही जगह से पूरी ट्रेन पर नजर रखी जा सकेगी। बिजली चली जाने पर वेंटिलेशन और लाइटिंग के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। तीन घंटे तक वेंटिलेशन काम करेगा। हर कोच में चार इमरजेंसी खिड़कियां होंगी। पूरी ट्रेन जीवाणु रहित वातानुकूलित प्रणाली से लैस होगी। दरवाजे और खिड़कियों पर फायर सर्वाइवल केबल का इस्तेमाल होगा, जिससे आग लगने पर उनको आसानी से खोला जा सकेगा।

21 Posts

9307 views
Dec 31 2021 (19:40)
T Sameer
Prometheus~   9176 blog posts
Re# 5178071-22            Tags   Past Edits
IR Should think about New HRP Technology bcs Old HRP Technology are failing continuously

7142 views
Dec 31 2021 (21:18)
Exodus
eXplorerDKG^~   99822 blog posts
Re# 5178071-23            Tags   Past Edits
Politics

4171 views
Jan 01 (15:39)
a2z
A2Z~   17416 blog posts
Re# 5178071-24            Tags   Past Edits
** Reports of HWH-RNC, HWH-Puri etc has appeared earlier.
** NDLS -BPL/HBJ route desperately need faster train like VB to maintain time (leaving Bhopal in morning and return at night)

3770 views
Jan 01 (15:42)
a2z
A2Z~   17416 blog posts
Re# 5178071-25            Tags   Past Edits
** VB should preferably be operated on 130kmph routes.
** Performance of VB on Kasara & Lonavala ghats would be worth worth noticing. If successful CSTM-Pune/SUR, CSTM-NK-AWB/AK would be a nice option.

3433 views
Jan 01 (15:45)
a2z
A2Z~   17416 blog posts
Re# 5178071-26            Tags   Past Edits
Scope of fully AC VBs is limited. After the announced 102 fully AC VBs of chaircar & sleeper version are introduced by 2024, IR would have to go for VB trainsets with non ac coaches with 130kmph potential.
Dec 28 2021 (10:35) खुशखबरी:लखनऊ से जयपुर और आनंद विहार के लिए जल्द शुरू होगा डबल डेकर ट्रेन,किराया होगा बेहद कम (upnewsnow.com)
0 Followers
10051 views

News Entry# 473329  Blog Entry# 5175733   
  Past Edits
Dec 28 2021 (10:38)
Station Tag: Lucknow Junction NER/LJN added by Jai Bholenath ki 🕉/2079821

Dec 28 2021 (10:38)
Train Tag: Lucknow Jn. - Anand Vihar Terminal AC Double Decker Express/12583 added by Jai Bholenath ki 🕉/2079821
काफी लंबे समय से लखनऊ के लोग जयपुर और दिल्ली के लिए डबल डेकर ट्रेन का इंतजार कर रहे थे. लखनऊ वासियों को इंतजार था कि कब लखनऊ से आनंद विहार तक चलने वाली ट्रेनों में डबल डेकर ट्रेन की सुविधा मिलेगी. आपको बता दें कि जल्द ही लखनऊ वासियों को जयपुर और आनंद विहार के लिए डबल डेकर ट्रेन का आनंद लेने का मौका मिलेगा.रेलवे बोर्ड के मोहर के साथ यह डबल डेकर ट्रेन एक बार फिर से लखनऊ और आनंद विहार टर्मिनल पर चलने को तैयार हो जायेगी.
आपको बता दें कि बहुत पहले ही लखनऊ से जयपुर जाने वाली डबल डेकर ट्रेन का ट्रायल के साथ में समय सारणी तय कर दिया गया था. लेकिन कागजी तौर पर यह
...
more...
काम नहीं हो पाया था. लेकिन अब जल्दी बोर्ड की मंजूरी मिल जाएगी. सूत्रों से जानकारी मिली है कि जल्दी रेलवे डबल डेकर ट्रेन को हरी झंडी दिखा देगा.
दो साल पहले तक लखनऊ से आनंद विहार टर्मिनल डबल डेकर ट्रेन का संचालन सुचारू रूप से होता था. यह ट्रेन 8 घंटों में लखनऊ से आनंद विहार टर्मिनल पहुंचती थी. इस ट्रेन का किराया ₹645 था.
लखनऊ से आनंद विहार तथा सराय रोहिल्ला से जयपुर जाने वाली डबल डेकर ट्रेन को किया जाएगा एक-
आपको बता दें कि ट्रेन नम्बर 12565 ट्रेन संख्या 12501 लखनऊ स्टेशन से आनंद विहार जाने वाली डबल डेकर ट्रेन को इस योजना के तहत जयपुर तक चलाया जाएगा. आपको बता दें कि बहुत पहले ही लखनऊ जयपुर डबल डेकर ट्रेन प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो गया था लेकिन बाद में यह काम बंद हो गया. लेकिन एक बार फिर से यात्रियों की मांग के बाद रेलवे ने इस प्रोजेक्ट को शुरू करने का फैसला लिया है. अब लखनऊ से आसानी से जयपुर और आनंद विहार जा पाएंगे.
रेलवे के अफसरों के तरफ से जानकारी मिली है कि जल्द ही रेलवे से हरी झंडी दिखाएगा. उन्होंने बताया कि इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गई है बस रेलवे की इजाजत की अब जरूरत है. जैसे ही रेलवे इसके लिए आदेश देता है डबल डेकर ट्रेन का सुचारू रूप से संचालन शुरू हो जाएगा.
तेजस, शताब्दी गोमती एक्सप्रेस से किराया होगा काम-
आपको बता दें कि लखनऊ से जयपुर और आनंद विहार तक चलने वाले तेजस और शताब्दी का किराया बहुत ज्यादा है. यह ट्रेन शताब्दी और तेजस को टक्कर दे सकती है. डबल डेकर ट्रेन मात्र 8 घंटे में लखनऊ से जयपुर का सफर पूरा करती है और इसका किराया ₹647 होगा. यात्रियों के लिए काफी किफायती होगा.
Dec 17 2021 (07:13) लापरवाही: तेजस एक्सप्रेस के पटरी पर आते ही डिरेल हो गई डबल डेकर एक्सप्रेस, ढाई साल से बेकार खड़ी है ट्रेन (www.amarujala.com)
IR Affairs
NER/North Eastern
0 Followers
15797 views

News Entry# 472475  Blog Entry# 5164657   
  Past Edits
Dec 17 2021 (09:40)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 17 2021 (09:40)
Station Tag: Lucknow Junction NER/LJN added by Adittyaa Sharma/1421836
तेजस एक्सप्रेस के उतरते ही डबलडेकर की बदहाली की कहानी शुरू हो गई। डबलडेकर न तो लखनऊ से जयपुर के लिए चल पाई, न ही सीतापुर रूट के रास्ते दौड़ाने की फाइलों में तेजी आई। डबलडेकर का रैक पहले ऐशबाग कोचिंग डिपो में खड़ा था, जिसे वहां से शिफ्ट कर डालीगंज स्टेशन पर खड़ा करवा दिया गया है। ढाई साल बाद भी डबलडेकर पटरी पर नहीं लौट सकी है। हालांकि, रेलवे अधिकारी बोर्ड की अनुमति के इंतजार में हैं।गाड़ी संख्या 12583/84 लखनऊ जंक्शन आनंदविहार डबलडेकर एक्सप्रेस पूर्वोत्तर रेलवे की वीआईपी ट्रेनों में शुमार थी। यह हफ्ते में दो दिन शुक्रवार व रविवार को सुबह पांच बजे के आसपास रवाना होती थी। शुरुआती दौर में इस एसी चेयरकार ट्रेन को यात्रियों को खासा रिस्पॉन्स मिला। लेकिन करीब ढाई साल से ट्रेन खड़ी है और यात्री तेजस व शताब्दी के महंगे टिकट पर सफर करने को मजबूर हैं।डबलडेकर का कद बढ़ाने के लिए...
more...
रेलवे अधिकारियों ने एक योजना बनाई। इसके तहत लखनऊ से आनंदविहार व सरायरोहिला से जयपुर के बीच चलने वाली डबलडेकरों को मिलाकर एक ट्रेन किया जाना था। लखनऊ से जयपुर के बीच चलने वाली इस डबलडेकर का ट्रायल भी हुआ। समयसारिणी भी तैयार हो गई, लेकिन अप्रत्याशित कारणों से इसमें अड़ंगा लग गया और ट्रेन नहीं चल सकी। इसके बाद रेलवे अधिकारियों ने डबलडेकर को सीतापुर के रास्ते दिल्ली के लिए चलाने का खाका तैयार किया। मंथन भी हुआ। लेकिन बात फाइलों से आगे नहीं निकल सकी।
डबलडेकर चली तो तेजस को नहीं मिलेंगे यात्रीदैनिक यात्री एसोसिएशन के अध्यक्ष एसएस उप्पल ने बताया कि लखनऊ से दिल्ली के बीच गोमती एक्सप्रेस, तेजस एक्सप्रेस व शताब्दी एक्सप्रेस चेयरकार ट्रेनें हैं। डबलडेकर भी एसी चेयरकार है। ऐसे में तेजस एक्सप्रेस की सफलता ही अन्य चेयरकार ट्रेनों की विफलता पर निर्भर है। कैटरिंग बेतहाशा महंगी कर शताब्दी को फ्लॉप करने पर अधिकारी तुले हैं। फिर तेजस के फेल होने से निजी ट्रेनों के चलाने में भी अड़ंगे लगेंगे। चूंकि डबलडेकर की टाइमिंग सुबह पांच बजे की है, जबकि तेजस छह बजे चलती है। ऐसे में अगर डबलडेकर चला दी गई तो तेजस को यात्री नहीं मिलेंगे।
तेजस, शताब्दी से सस्ती थी डबलडेकरशताब्दी एक्सप्रेस में डायनेमिक फेयर सिस्टम लागू है, जिससे चेयरकार का सामान्य टिकट 1400 रुपये तथा एग्जीक्यूटिव का 2400 रुपये तक रहता है। वहीं, तेजस एक्सप्रेस कारपोरेट ट्रेन होने के कारण महंगी है। इसका बेस फेयर ही हाई रहता है, जिसका टिकट शताब्दी से अमूमन महंगा रहता है। लेकिन डबलडेकर एक्सप्रेस से यात्रियों को सस्ता सफर मिलता था। पांच से छह सौ रुपये में यात्रियों को टिकट मिल जाता था। लेकिन अब चेयरकार से दिल्ली जाने वाले महंगे टिकट लेने को मजबूर हो रहे हैं।
दिल्ली की चेयरकार ट्रेनेंश्रेणी          डबलडेकर              शताब्दी                तेजसटाइमिंग        8 घंटे                   6.45 घंटे            6.15 घंटेस्टॉपेज        3 स्टेशनों पर            5 स्टेशनों पर         2 स्टेशनों परकिराया        510 रुपये              1,315 रुपये         1,475 रुपयेसंचालन     शुक्र व रवि               रोजाना                शुक्र से सोमवार तककैटरिंग          -                     275 रुपये              -(नोट: तेजस व शताब्दी के चेयरकार का शुक्रवार का किराया है।)
पूर्वोत्तर रेलवे के डीआरएम डॉ. मोनिका अग्निहोत्री का कहना है कि काफी समय से बंद डबलडेकर एक्सप्रेस को चलाने के लिए बोर्ड से अनुमति का इंतजार है। पहले कोहरे, फिर कोविड की वजह से ट्रेन का संचालन बंद करना पड़ा था। अनुमति मिलते ही ट्रेन पटरी पर लौट आएगी।’

1 Posts

11075 views
Dec 17 2021 (17:01)
Subrat Shrivastava~   29152 blog posts
Re# 5164657-2            Tags   Past Edits
Tejus Express ko lko delhi route par introduce kiya hi kyu kiya jab Ac SF, Shatabdi , Gomti Express and many more trains available thi. Obiviously Lko to Delhi itna demand to hai nahi ki har Train pure waiting me chale.
हरियाणा के रेवाड़ी जिले में जल्द ही 2 रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण कार्य शुरू होने की उम्मीद है। रेवाड़ी-नारनौल फाटक एलसी-3 पर फोरलेन और रेवाड़ी-महेंद्रगढ़ फाटक एलसी-59ए पर टू लेन ओवरब्रिज बनेगा। इंतजार जनरल अरेंजमेंट ड्राइंग की मंजूरी का है, क्योंकि पिछले दिनों रेलवे ने इन दोनों लाइनों पर ओवरब्रिज मंजूर किए थे। करोड़ों की लागत से दोनों पुल का निर्माण होगा।
कई सालों से उठ रही थी मांगरेवाड़ी के नारनौल व महेंद्रगढ़ फाटक पर रेलवे ओवरब्रिज बनाने की मांग पिछले कई सालों से उठ रही है, क्योंकि यहां अकसर जाम लगा रहता है। कई बार तो जाम घंटों लगा रहता है। 2017 में रेलवे की ओर से यहां एक सर्वेक्षण भी कराया था। जिसमें सामने आया था कि दोनों ही लाइनों
...
more...
पर यातायात ज्यादा है। फिलहाल की बात करें तो यातायात और भी बढ़ चुका है।
जनरल अरेंजमेंट ड्राइंग की मंजूरी का इंतजार
रेलवे बोर्ड की मंजूरी के बाद ओवरब्रिज का काम शुरू होने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी उत्तर पश्चिम रेलवे की ओर से बनने वाले ओवरब्रिज की जनरल अरेंजमेंट ड्राइंग की मंजूरी है। जीएडी को मंजूरी मिलने के बाद ही ओवरब्रिज निर्माण का टेंडर छोड़ा जा सकता है।
बड़ी बात यह है कि प्रदेश सरकार की ओर से इस काम में कोई देरी नहीं की जा रही है। हरियाणा राज्य सड़क एवं पुल विकास निगम लिमिटेड की ओर से वर्ष 2019 में ही रेलवे के पास जीएडी मंजूरी के लिए भेजी जा चुकी हैं, लेकिन तब यह प्रोजेक्ट रेलवे बोर्ड ने मंजूर नहीं किया था।
इसलिए जीएडी मंजूरी की फाइल को रेलवे अधिकारियों ने एक तरह से रद्दी में डाले रखा, लेकिन अब रेलवे बोर्ड की मंजूरी के बाद जीएडी की फाइल वापस टेबल पर आने की उम्मीद बन चुकी है। रेलवे के सूत्रों के अनुसार, जीएडी की फाइल को मंजूर कराने के लिए केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह के प्रयास काम आ सकते हैं।
वरना रेलवे सालों साल तक प्रोजेक्टों को जीएडी के चक्कर में ही अटकाए भी रख सकता है, क्योंकि रेवाड़ी के ही भाड़ावास फाटक के मामले में रेलवे ने 4 साल तक जीएडी ही मंजूर नहीं किया था, जिसके चलते काम शुरू नहीं हो पाया था।
81 करोड़ रुपए मंजूररेवाड़ी-नारनौल और रेवाड़ी-महेन्द्रगढ़ रेलवे लाइन साथ-साथ शहर से गुजर रही है। शहर का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है, जिसकी वजह से दोनों ही रेलवे फाटक पर जाम के हालात बने रहते हैं। बड़ी तादाद में ट्रेनें इन लाइनों से गुजरती हैं, जिसके चलते दिनभर में कई बार फाटक बंद होते हैं।
इन दोनों फाटकों के दूसरी ओर दर्जनों गांव पड़ते हैं, जहां रहने वाले ग्रामीण सालों से परेशानियां झेल रहे हैं। हरियाणा सरकार ने यहां बनने वाले ओवरब्रिज के लिए करीब 81 करोड़ रुपए की राशि पहले ही मंजूर की हुई है। रेलवे की ओर से अपने हिस्से की राशि अलग से खर्च की जाएगी।

Rail News
13890 views
Dec 04 2021 (10:52)
Haryana Steelers 😎
Haryanvi~   5845 blog posts
Re# 5153496-1            Tags   Past Edits
1 compliments
कर तो रहें है कुछ।
Rewari/GGN MP rewari and gurgaon city me sbhi fatako par bridge bnwaate hue🤣🤣😜

Inke alawa unko kuch aur dhyan nhi ha😁

More Posts
अब फैजाबाद रेलवे स्टेशन का नया नाम अयोध्या कैंट कर दिया है। भाजपा के सांसद लल्लू सिंह के प्रस्ताव को रेलवे बोर्ड ने मंजूरी दे दी है। दरअसल शनिवार को वाराणसी पहुंचे लखनऊ के डीआरएम ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि फैजाबाद स्टेशन का नाम अयोध्या कैंट होगा। अयोध्या, अयोध्या कैंट और रामघाट स्टेशनों को विकसित भी किया जाएगा। डीआरएम का कहना है कि इससे अयोध्या जाने वाले श्रद्धालुओं को आसानी होगी। डीआरएम ने बताया कि रेलवे की ओर से अयोध्या के स्टेशनों को कुछ इस तरह विकसित करने की योजना बन रही है कि स्टेशन से ही श्रदालुओं को अयोध्या के धार्मिक महत्व का एहसास हो सके।

आपको
...
more...
बता दें कि वाराणसी के मंडुवाडीह और इससे सटे चंदौली जिले के मुगलसराय स्टेशन का नाम बदला जा चुका है। मंडुवाडीह को बनारस और मुगलसराय स्टेशन को अब पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन के नाम से जाना जाता है। इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने के बाद यहां के भी कई स्टेशनों का नाम बदला गया है। इलाहाबाद जंक्शन का नाम प्रयागराज जंक्शन, इलाहाबाद सिटी स्टेशन का नाम प्रयागराज रामबाग, इलाहाबाद छिवकी का नाम प्रयागराज छिवकी और प्रयागराज घाट का नाम परिवर्तित कर प्रयागराज संगम कर दिया गया है।

उत्तर प्रदेश से और

इन स्टेशनों का बदला है नाम:तब                        अबवाराणसी का मंडुवाडीह स्टेश          बनारस स्टेशन चंदौली जिले के मुगलसराय स्टेशन     पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शनइलाहाबाद जंक्शन                          प्रयागराज जंक्शनइलाहाबाद सिटी स्टेशन                   प्रयागराज रामबागइलाहाबाद छिवकी                            प्रयागराज छिवकीप्रयागराज घाट
Page#    24 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy