Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Kanchan Kanya Express: ডুয়ার্সের রাণী - Joydeep Roy

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Apr 14 11:40:57 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by

Page#    Showing 1 to 5 of 8 news entries  next>>
नाम- चन्द्रभान अहाके। उम्र-42 साल। निवासी-अर्जुन वार्ड बैतूल। मौजूदा पता- हमीदिया अस्पताल के कोविड वार्ड में बेड नंबर दो का मरीज। वह न तो कोई कोरोना वाॅरियर है, न ही कोई नामचीन शख्स। वह कहने को तो सामान्य ड्राइवर है। बावजूद हजारों लोगों की जान बचाने में बिना रुके व थके योगदान दिया है। देश में लॉकडाउन के दिन 24 मार्च 2020 से लगातार वह काम में जुटा है। वह बैतूल जिला अस्पताल में अनुबंधित जीप से कोरोना के सैंपल बैतूल से भोपाल स्थित लैब पहुंचाने और रिपोर्ट लेकर रोजाना बैतूल आता था। अब एक साल बाद चंद्रभान यानी 24 मार्च 2021 को उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

उसे
...
more...
भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां वह जिंदगी और मौत से जूझ रहा है। फेफड़ों में ज्यादा संक्रमण होने से उसे सांस लेने में तकलीफ है। वह ठीक से बोल भी नहीं पा रहा।

इसके पहले रोजाना करीब 360 किलोमीटर का सफर तय कर रहा था। इस तरह सालभर में करीब एक लाख 40 हजार किमी का सफर बिना रुके तय कर चुका है। चंद्रभान ने भास्कर को बताया, कोरोना संक्रमण की जद में आने के बाद सामान्य मरीज की तरह 28 मार्च को हमीदिया अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। हालांकि, मेरी कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट देरी से आई थी।

एम्स से भर्ती कराने की गुहार कीकोरोना संक्रमित चन्द्रभान ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, सांसद डीडी उइके, आमला विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे समेत प्रशासन से गुहार की है, उसे बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। संभव हो सके, तो एम्स में शिफ्ट कराया जाए, ताकि जीवन बच सके।

774 views
Apr 07 (21:38)
Guest: 6cdd9f59   show all posts
Re# 4932396-1            Tags   Past Edits
🙏
Apr 06 (17:34) Reliance Jio ties up with Bharti Airtel in Delhi, Mumbai, Andhra; buys Rs 1,500 cr telecom spectrum (www.financialexpress.com)
*current-affairs
0 Followers
1457 views

News Entry# 448002  Blog Entry# 4931313   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Mukesh Ambani-led RIL's telecom subsidiary Reliance Jio has signed a definitive agreement with Bharti Airtel for the acquisition of right to use spectrum in the 800MHz band.

Mukesh Ambani-led RIL’s telecom subsidiary Reliance Jio has signed a definitive agreement with Bharti Airtel for the acquisition of right to use spectrum in the 800MHz band in three circles through spectrum trading. The transferred spectrum comprises those in Andhra Pradesh (3.75 MHz), Delhi (1.25 MHz) and Mumbai (2.50 MHz). With this trading of the right to use spectrum, Reliance Jio will have 2X15MHz of
...
more...
spectrum in the 800MHz band in Mumbai circle and 2X10MHz of spectrum in the 800MHz band in Andhra Pradesh and Delhi circles. The aggregate value for the right to use this spectrum is Rs 1,497 crore.

Through this agreement, Sunil Mittal’s Airtel will receive a consideration of Rs 1,037.6 crore from Reliance Jio for the proposed transfer. Moreover, Reliance Industries’ subsidiary, Jio, will assume future liabilities of Rs 459 crore relating to the spectrum. “The sale of the 800 MHz blocks in these three circles has enabled us to unlock value from the spectrum that was utilised. This is aligned to our overall network strategy,” said Gopal Vittal, MD & CEO (India and South Asia), Bharti Airtel.

Reliance Jio has increased its network capacity with the enhanced spectrum footprint, especially contiguous spectrum, and superior infrastructure deployed. It may be noted that this agreement is subject to statutory approvals. Reliance Jio is the only network that has been conceived as a Mobile Video Network from the ground up and supporting Voice over LTE technology.

Last month, auctions were held where Mukesh Ambani’s Reliance Jio spent the most, and picked up 488.35 MHz spectrum in bands such as 800 MHz, 1800 MHz and 2300 MHz for over Rs 57,100 crore. While Sunil Mittal-led Bharti Airtel won the right to use spectrum, the total value of which was about Rs 18,700 crore. For Vodafone Idea, the value of spectrum bought in auctions was pegged at Rs 1,993.4 crore.
दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर सुबह करीब 7.15 बजे एक ट्रक ड्राइवर ने नशे की हालत में ट्रक को रेलवे ट्रैक पर चढ़ा दिया। इसी दौरान अप-डाउन दोनों ही ट्रैक पर यात्री गाड़ियां आ रही थीं। ट्रैक पर फंसे ट्रक को देख दो गैंगमैन ने अलग-अलग दिशाओं में दौड़ते हुए ट्रेनों को रुकवाया।

गैंगमैन की सक्रियता से बड़ा हादसा होने से टल गया। घटनाक्रम के दौरान रेलवे ट्रैक पर करीब 1 घंटे तक रेल यातायात बंद रहा। वहीं मौके पर पहुंचे रेल अधिकारियों ने हाइड्रा मशीन की मदद से ट्रक को रेलवे ट्रैक
...
more...
से बाहर निकलवाया। इसके बाद ट्रैक पर रेल यातायात शुरू हो पाया। मौके पर पहुंची आरपीएफ ने ट्रक को जब्त कर ड्राइवर को हिरासत में लिया है।

हाइड्रा मशीन की मदद से ट्रैक पर फंसे ट्रक को निकाला

सूचना के अनुसार सोमवार को ट्रक क्रमांक MP 15 G 2686 सागर की ओर से आ रहा था। ट्रक के ड्राइवर हीरालाल पटेल ने शराब पी रखी थी। इस वजह से सुबह 7:15 बजे उसने नशे की हालत में पुराने झांसी गेट के पास से ट्रक को रेलवे ट्रैक पर चढ़ा दिया। उसी दौरान अप लाइन से कुशीनगर एक्सप्रेस और डाउन लाइन पर सुल्तानपुर एक्सप्रेस आ रही थीं।

ट्रैक पर दूर से ट्रेनों को देखकर रेलवे ट्रैक पर मौजूद गैंगमैन महेश व नंदकिशोर अलग-अलग दिशाओं में दौड़ लगाई और लाल झंडी दिखाकर ट्रेनों को करीब 300-300 मीटर दूरी पर रुकवाया। इससे बड़ा हादसा होने से टल गया। वहीं घटना की जानकारी लगते ही एडीईएन अरविंद कुमार अन्य अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे। तुरंत ट्रक को हाइड्रा मशीन की मदद से सुबह 8.16 बजे तक रेलवे ट्रैक से बाहर निकाला गया। फिर कहीं जाकर रेल यातायात शुरू हो पाया।

50 मिनट तक खड़ी रही ट्रेनें

इस दौरान कुशीनगर एक्सप्रेस एवं सुल्तानपुर एक्सप्रेस करीब 50 मिनट तक रेलवे ट्रैक पर दोनों तरफ खड़ी रही। इसके अलावा साबरमती एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेन भी प्रभावित हुई है। ट्रेनों के खड़े होने से यात्रियों को परेशानी हुई। वहीं घटना की सूचना लगते ही शहर से बड़ी संख्या में लोग रेलवे ट्रैक पर पहुंच गए। जिन्हें हटाने के लिए आरपीएफ एवं जीआरपी को बड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी।
Apr 03 (21:14) Mukesh Ambani buys majority stake in skyTran: What's the futuristic transport tech he's placed his bets on? (www.timesnownews.com)
*current-affairs
0 Followers
1585 views

News Entry# 447766  Blog Entry# 4928648   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
The company has, reportedly, developed magnetic levitation and propulsion technology geared towards revolutionising the personal transportation space.
Reliance Industries Chairman Mukesh Ambani.
Photo Credit: PTIReliance Industries Chairman Mukesh Ambani.Key HighlightsThe latest purchase has suggested RIL was keen on identifying potential plays to address the huge traffic congestion problem that continues to plague the average IndianThe technology is, effectively, a pod-like taxi – a driver-less cable vehicle that runs entirely on electricity and is a net-zero polluterHowever, while these may function in cities where space for experimenting is possible, it remains to be seen how
...
more...
feasible they will be for Indian roads
On Sunday, billionaire Mukesh Ambani's Reliance Industries Ltd (RIL) declared that it had purchased an additional stake in the US-based company, skyTran taking RIL's share in the outfit to a majority 54.5 per cent. RIL had originally purchased a 12.7 per cent stake in skyTran in 2018, buying further shares of the enterprise in 2019 and 2020.

All the stock purchases have, reportedly, been made through RIL's subsidiary Reliance Strategic Business Ventures which, in recent years, has displayed an increasing attraction to tech-related outfits having already launched the WhatsApp-based grocery vertical JioMart and video-calling app, JioMeet.


But the latest purchase has suggested RIL was keen on identifying potential plays to address the huge traffic congestion problem that continues to plague the average Indian. SkyTran, founded in 2009, was, reportedly, incubated at the National Aeronautics and Space Administration (NASA).

According to its website, “a skyTran vehicle only stops at your chosen destination. Bypassing stations along the way, you travel at high-speed for the duration of your trip. This is the very definition of seamless point-to-point travel.”


The company has, reportedly, developed magnetic levitation and propulsion technology geared towards revolutionising the personal transportation space. The technology is, effectively, a pod-like taxi – a driver-less cable vehicle that runs entirely on electricity and is a net-zero polluter.



Each cable car can, reportedly, carry up to six people on a single trip. The pods move along pre-fabricated tracks on a cushion of air and the company has noted that the fact that none of its lines interfere with each other means the networks can have huge capacity.

However, while these may function in cities where space for experimenting is possible, it remains to be seen how feasible they will be for Indian roads. The concept of a pod-taxi first flew onto the Indian radar in 2017 when NITI Aayog approved the Centre's proposal to test three rapid transport systems, each of which incorporated pod taxis. But since then, there has been little news of any prototypes developed.

All this, however, appears to fit quite seamlessly into RIL's plan to become a dominant player in India's electric vehicle space. Reliance BP Mobility Ltd (RBML), in collaboration with the UK's BP Plc, is, reportedly, planning to set up battery swapping stations at each of its fuel outlets, while spending roughly Rs 3,000 crore to expand the existing fuel retail network. At Reliance's last annual general meeting, Ambani also noted, “We will replace transportation fuels with clean electricity and hydrogen.”

RIL has also, reportedly, already set up a pilot skyTran network at its Navi Mumbai headquarters. SkyTran has suggested that its lightweight vehicles, the minimal concrete foundations required and the fact that tracks are fabricated and assembled off-site, make it a viable solution for India.

1460 views
Apr 03 (21:19)
TATA WAG9H twins
Soumik_BWN~   6279 blog posts
Group Recipients: *current-affairs
Re# 4928648-1            Tags   Past Edits
Article mein photo credit.. fotu kaha hain 🤣🤣🤣🤣 Lagta hain ambani ne khariid liya fotu🤣🤣

1448 views
Apr 03 (21:21)
Guest: 6cdde006   show all posts
Re# 4928648-2            Tags   Past Edits
1 compliments
Sed
Maine manually copy Kiya, IRI ne extract nahi Kiya 😷
Sed
Apr 02 (08:31) भोपाल रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों का लोड कम:12 ट्रेनों को भोपाल स्टेशन के बजाय निशातपुरा में हाल्ट देंगे, इसलिए यहां प्लेटफॉर्म-एफओबी बनेगा (dainik-b.in)
WCR/West Central
0 Followers
14095 views

News Entry# 447590  Blog Entry# 4926924   
  Past Edits
Apr 02 2021 (08:31)
Station Tag: Nishatpura Junction Cabin/NSZ added by Find me on YouTube as TheRailQuale/2106624

Apr 02 2021 (08:31)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Find me on YouTube as TheRailQuale/2106624
इंदौर-उज्जैन तरफ से आवागमन करने वाली मालवा, हावड़ा, अजमेर-कोलकाता एक्सप्रेस सहित 12 ट्रेनों को भोपाल स्टेशन की जगह निशातपुरा में हाल्ट दिया जाएगा। इसके लिए निशातपुरा में दो प्लेटफार्म का छोटा स्टेशन बनेगा। यह निर्णय भोपाल रेलवे स्टेशन पर पड़ रहे ट्रेनों के दबाव को कम करने के लिए हुआ है। वहां फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) का निर्माण भी कराया जाएगा।
लेकिन आम यात्रियों को भोपाल स्टेशन से करीब 8 किमी दूर ट्रेनें पकड़ने जाने के लिए आवागमन के साधन कैसे मिलेंगे? इस बारे में अब तक नहीं सोचा गया है। निशातपुरा में बन रहे प्लेटफॉर्म पर जाने के लिए माल गोदाम के नजदीक से रास्ता बनाया जाएगा। वहां मौजूद आरपीएफ की चौकी की बिल्डिंग को हटाकर नई सड़क बनेगी, जो भीतर
...
more...
तक जाएगी। डीआरएम उदय बोरवणकर ने रेलवे ने निशातपुरा में बनने वाले प्लेटफॉर्म और एफओबी के निर्माण की डेडलाइन 30 जून तक निर्धारित की है। यह निर्माण कार्य करीब तीन करोड़ रुपए की लागत से होगा।
यह फायदा होगा
यह समस्याएं भी होंगी
क्यों बन रहा प्लेटफार्म
भोपाल स्टेशन पर इंदौर-उज्जैन तरफ से आने-जाने वाली ट्रेनों का इंजन बदलने में 25 से 30 मिनट तक का समय लग जाता है। इससे ट्रेनों की पंक्चुएलिटी बिगड़ती है और कई बार तो वे लेट भी हो जाती है। इन कारणों को देखते हुए निशातपुरा में प्लेटफॉर्म व एफओबी का निर्माण करवाया जा रहा है। नया प्लेटफॉर्म मालगोदाम वाले ट्रैक के पास बनाया जा रहा है। इसलिए आम लोगों को ट्रैक पार न करना पड़े, इसलिए एफओबी बनाया जा रहा है।
विभागों से बात करेंगे^निशातपुरा में प्लेटफॉर्म बनने के पहले वहां तक यात्रियों को आवागमन में समस्या न हो, उसके लिए परिवहन विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों के अफसरों से बातचीत करेंगे। सड़क व आने-जाने के एप्रोच रोड की अच्छी व्यवस्था की जाएगी।-विजय प्रकाश, सीनियर डीसीएम भोपाल

5 Public Posts - Fri Apr 02, 2021

7670 views
Apr 02 (11:22)
TATA WAG9H twins
Soumik_BWN~   6279 blog posts
Re# 4926924-6            Tags   Past Edits
Uzeful newz

7579 views
Apr 02 (11:26)
MKS
MKS^~   23494 blog posts
Re# 4926924-7            Tags   Past Edits
But Bairagarh ke liye BRTS bus mil jati hai..SR5, TR1, SR1 etc..Nishatpura ke liye bus chalti hai kya ? Ek coach factory wali bus udhar jati thi.

6018 views
Apr 02 (12:05)
Guest: 6cdd358e   show all posts
Re# 4926924-8            Tags   Past Edits
Trains dono jagah rukegi kya ?
SHRN and Nishatpura ?

5821 views
Apr 02 (12:11)
Saurabh®
Saurabhdubey_86~   24320 blog posts
Re# 4926924-9            Tags   Past Edits
Pata nahi kya karna chahte hain...waise ek train ko dono jagah Rokne ka matlab nahi banta. Shayad kuch trains ko nishatpura aur kuch ko bairagarh roke.
Abhi to kaam start hoga fir basic facilities dene mein bhi time lagega

860 views
Apr 07 (23:15)
HardikPathak
MojoJojoe~   63 blog posts
Re# 4926924-10            Tags   Past Edits
Bairagarh is too far for people from south bhopal..aur main population abhi south bhopal mai hi hain..
toh Bhopal ke pass hi bana rahy hai NSZ..
Page#    8 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy