Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

NCR - maar bhi, raftaar bhi - Harshit Sharma

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat May 30 07:37:03 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    387146 news entries  next>>
Today (01:39) जल्द शुरू होगा मेरठ में रैपिड रेल का काम (m-jagran-com.cdn.ampproject.org)
Metro
RRTS/Rapid Train
0 Followers
2040 views

News Entry# 409574  Blog Entry# 4639986   
  Past Edits
May 30 2020 (01:39)
Station Tag: Ghaziabad Junction/GZB added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

May 30 2020 (01:39)
Station Tag: Meerut City Junction/MTC added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693
मेरठ, जेएनएन। रैपिड रेल से संबंधित कार्य जल्द ही मेरठ क्षेत्र में भी शुरू होगा। एनसीआरटीसी कार्य की अनुमति के लिए प्रशासन के संपर्क में है। इस संबंध में एनसीआरटीसी के साकेत यूनिट के चीफ प्रोजेक्ट हेड पंकज त्यागी ने सांसद राजेंद्र अग्रवाल के घर पर भेंट की। उन्होंने बताया कि मेरठ शहर में पाइल लोड टेस्ट लॉकडाउन से पहले चल रहा था जोकि रुका हुआ है। इसमें बेहद कम श्रमिक लगते हैं और शारीरिक दूरी का पालन वैसे भी रहता है। क्योंकि इसका मुख्य कार्य मशीनों से होता है। ऐसे में इसकी वजह से कोरोना संक्रमण पर कोई असर नहीं पड़ेगा। जिस तरह से गाजियाबाद में सभी नियमों के पालन के साथ कार्य हो रहा है उसी तरह से यहां भी होगा। सांसद ने बताया कि जल्द ही मेरठ में भी कार्य शुरू हो जाएगा ताकि प्रोजेक्ट को गति मिल सके। केंद्र सरकार की अतिमहत्वाकांक्षी परियोजना है इस संबंध में...
more...
प्रशासन को अवगत भी कराया गया है। गौरतलब है कि भूड़बराल तक का क्षेत्र मोदीनगर यूनिट के पास है जबकि परतापुर से मोदीपुरम तक साकेत यूनिट के पास। एमडीए में काम तेज, 89 आवेदन निस्तारित

मेरठ, जेएनएन। एमडीए में मंगलवार को तेजी से काम हुआ। एकमुश्त समाधान योजना के तहत प्राप्त 318 आवेदनों में से 89 को निस्तारित कर दिया गया। यह आवेदन लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन प्राप्त हुए हैं। जब से कार्यालय में ठीक से कार्य करने की अनुमति मिली है तब से तमाम कार्य तेजी से निपटाए जा रहे हैं। वैसे तो एमडीए का स्टाफ पहले से ही आ रहा था लेकिन तब ड्यूटी अन्य कार्यों में लगी थी। जब से धीरे धीरे स्टाफ बढ़ाने की अनुमति मिली है तब से कार्यालय से संबंधित कार्य निपटाए जा रहे हैं। वीसी राजेश पांडेय ने बताया कि ओटीएस के तहत आवंटियों ने आवेदन किए थे जिसका निस्तारण कर दिया गया है। वैसे तो अभी इस योजना के तहत आवंटियों को समय दिया गया है। इसकी अंतिम तिथि फिर से एक बार घोषित की जाएगी लेकिन जो लोग लॉकडाउन के दौरान भी भुगतान करना चाह रहे हैं उनके आवेदन आ रहे हैं। उन्होंने अपील की कि जो भी कार्य ऑनलाइन तरीके से हो सकते हैं उसका आवेदन ऑनलाइन करें। तेजी से कार्य किया जाएगा। संक्रमण से बचाव के लिए ऑनलाइन पद्धति को अपनाएं।
Today (01:37) सपने अपने : एनसीआरटीसी की गैरजरूरी गोपनीयता, अब लौट आओ बाबू Meerut News (m-jagran-com.cdn.ampproject.org)
Metro
RRTS/Rapid Train
0 Followers
2110 views

News Entry# 409573  Blog Entry# 4639984   
  Past Edits
May 30 2020 (01:37)
Station Tag: Panipat Junction/PNP added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

May 30 2020 (01:37)
Station Tag: Alwar Junction/AWR added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

May 30 2020 (01:37)
Station Tag: Ghaziabad Junction/GZB added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

May 30 2020 (01:37)
Station Tag: Meerut City Junction/MTC added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693
मेरठ, [प्रदीप द्विवेदी]। एनसीआरटीसी यानी राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम पर देश की पहली रीजनल रैपिड रेल संचालित करने का जिम्मा है। यह रेल, एनसीआर के आसपास के शहरों गाजियाबाद, मेरठ, पानीपत, अलवर आदि को कुछ मिनटों की दूरी से दिल्ली से जोड़ देगी। विकास का परिदृश्य बदल देने वाली इस महत्वाकांक्षी परियोजना के बारे में पूरा एनसीआर ही नहीं, दूर-दराज तक के लोग हर नया अपडेट जानना चाहते हैं। विकास से अछूता रहा मेरठ तो इसकी हर दिन की गतिविधि का बेसब्री से इंतजार करता है। हालांकि अधिकारी सुरक्षा वाले विभाग से भी ज्यादा गोपनीय हैं। मीडिया को सकारात्मक जानकारी देने से दूर भागते हैं। यह शायद इकलौती ऐसी परियोजना है जिसके अधिकारी खुद जानकारी देने के बजाय भारी खर्च कर पीआर एजेंसी के माध्यम से बात रखते हैं पर उन्हें भी नहीं पता रहता कि कहां क्या चल रहा। खैर, गैरजरूरी गोपनीयता भी ठीक, लेकिन अच्छा करें तो।
...
more...

अब लौट आओ बाबू
दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के प्लांट के ठेकेदार ने फोन मिलाया बिहार। पत्नी ने फोन पकड़ाया तो श्रमिक से ठेकेदार बोले, बाबू लौट आओ। बहुत दिन हो गए, अब तो एक्सप्रेस-वे शुरू होने वाला है। इसकी शुरुआत तुम सबने की, उसे क्या अधूरा छोड़ दोगे। अब किसे ढूंढेंगे, तुम्हें भी तो परिवार चलाना है। ऐसे ही फोन लगभग सभी को किया गया। दरअसल, मेरठ से डासना तक के हिस्से के निर्माण में 1400 श्रमिक लगाए गए थे। करीब 70 फीसद काम भी हो गया है। जब लॉकडाउन की घोषणा हुई थी तब जिन्हें जाने का साधन मिला, वे चले गए। प्लांट के क्वार्टर में 400 श्रमिक पूरी एहतियात के साथ इस पूरे लॉकडाउन तक रुके रहे। ठेकेदार अब इन्हें रोकने को ढांढस देते हैं। इनसे ही कहा जा रहा है कि अपने जानने वालों को फोन करके उन्हें बुला लो। श्रमिक नहीं आए तो प्रोजेक्ट ज्यादा पिछड़ जाएगा।

बादशाह प्रशासन गिड़गिड़ाते मैनेजर
इन दिनों जिला प्रशासन का रुतबा इतना ज्यादा है कि वरिष्ठ अधिकारी बादशाह की भूमिका में हैं। कोरोना संक्रमण की चेन व इलाज की व्यवस्था तो खैर अपनी जगह है मगर आजकल साहबों को शायद बड़े-बड़े प्रोजेक्ट के मैनेजरों की गिड़गिड़ाहट सुनने में ज्यादा आनंद आ रहा है। इतनी मनुहार तो इन मैनेजरों ने अपने नए रिश्तेदार से भी नाराजगी पर न की होगी। बड़े-बड़े उद्यमी और उद्योग संगठन आजकल एड़ियां घिस रहे हैं जबकि रहम किस्तों में दी जा रही है। डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के लिए एक उद्योग चलना था, जिसके लिए ग्रुप जनरल मैनेजर तक को अपील करनी पड़ी। एक्सप्रेस-वे, एनएचएआइ के साथ भी ऐसा रहा। वे व्यापारी संगठन जो हुंकार भरते थे, वे धरने पर बैठे। आइटी पार्क के लिए लखनऊ से डीजीएम ने फोन किया फिर भी बात नहीं बनी। सरकारी सिस्टम से जूझने का मैनेजरों का यह नए तरह का अनुभव है।

प्रबंधन सोनू सूद का
सोनू सूद अभिनेता हैं। उन्हें सरकारी व्यवस्था का नजदीक से परिचय नहीं होगा। आपातकाल में कैसे प्रबंध किया जाता है इसका भी उनका कोई प्रशिक्षण नहीं होगा पर मेरठ की अव्यवस्था पर कई शखिसयतों ने जिला प्रशासन को उनसे सीख लेने की जरूरत बतलाई है। जिस तरह से अपने परिचितों व स्टाफ की मदद से सोनू सूद ने सब काम आसान कर दिया वह काबिले तारीफ है। यहां की व्ववस्था ऐसी कि सामुदायिक रसोई में सड़े आलू मिले। मंडी, बाजार का हाल सबने देखा ही है। मेडिकल कॉलेज की फजीहत में तब सुधार हुआ जब मुख्यमंत्री ने सीधा एक्शन लिया। वरना बड़े-बड़े एक्सपर्ट धराशायी थे। बढ़ते केस पर लापरवाही चलती रही मगर सुधार वाले सख्त कदम तब उठाए गए जब समय बीत गया ..वह भी तब, जब लोग बाहर निकलने को व्याकुल हैं, व्यापारी धनाभाव से तरस रहे हैं और टकराने की धमकी दे रहे हैं।
Today (01:34) रैपिड रेल, एक्सप्रेस-वे सहित 70 प्रोजेक्ट को मंजूरी (m-livehindustan-com.cdn.ampproject.org)
Metro
RRTS/Rapid Train
0 Followers
2002 views

News Entry# 409572  Blog Entry# 4639977   
  Past Edits
May 30 2020 (01:34)
Station Tag: Meerut City Junction/MTC added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

May 30 2020 (01:34)
Station Tag: Ghaziabad Junction/GZB added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693
कैंटेनमेंट एरिया से बाहर परतापुर क्षेत्र में दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल, एक्सप्रेस -वे के कार्य को डीएम की समिति ने प्रारंभ करने को हरी झंडी दे दी। बुधवार को कुल 70 निर्माण कार्यों से संबंधित प्रोजेक्ट को मंजूरी दी गई। वहीं अब तक कैंटेनमेंट एरिया से बाहर कुल 260 निर्माण कार्यों से संबंधित प्रोजेक्ट को मंजूरी दी गई है।
डीएम के आदेश पर एडीएम प्रशासन रामचंद्र की अध्यक्षता में एक समिति को निर्माण कार्यो के लिए अनुमति देने की जिम्मेदारी दी गई है। डीएम स्तर से मंजूरी के बाद समिति अनुमति जारी करती है। एनसीआरटीसी की ओर से रैपिड रेल के लिए बिजली के खंभों को शिफ्टिंग कार्य के लिए अनुमति मांगी गई थी। समिति ने कैंटेनमेंट एरिया को छोड़कर इस कार्य के
...
more...
लिए अनुमति प्रदान कर दी है। उधर, एनएचएआई ने एक्सप्रेस-वे के लिए काशी, अछरौंडा, परतापुर में निर्माण कार्यों की अनुमति मांगी गई थी। इसे भी सशर्त अनुमति प्रदान कर दी गई है। वहीं पीडब्लूडी के मेरठ-बागपत मार्ग से संबंधित कार्ये किठौर, फलावदा, खरखौदा क्षेत्र में निर्माण कार्यो की अनुमति मांगी गई थी। इन सभी को मिलाकर 70 प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी गई। वहीं 190 प्रोजेक्ट को पहले मंजूरी मिल चुकी है।
टॉप न्यूज़
संबंधित खबरें
{{title}}
Today (01:33) केंद्र सरकार के प्रोजेक्ट ने पकड़ी रफ्तार, एक्‍प्रेस-वे, रैपिड रेल समेत कई प्रोजेक्‍ट पर हुआ काम तेज Meerut News (m-jagran-com.cdn.ampproject.org)
Metro
RRTS/Rapid Train
0 Followers
2393 views

News Entry# 409571  Blog Entry# 4639975   
  Past Edits
May 30 2020 (01:33)
Station Tag: Ghaziabad Junction/GZB added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

May 30 2020 (01:33)
Station Tag: Meerut City Junction/MTC added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693
मेरठ, जेएनएन। मेरठ को जिन विकास योजनाओं की दरकार दशकों पहले थी और उन्हें तभी मिल जाना चाहिए था पर मेरठ के सपनों को धरातल पर साकार करने के लिए मोदी सरकार की दृढ़ इच्छाशक्ति अब होते हुए दिखाई दे रही है। कहने को तो बहुत से प्रोजेक्ट बहुत पुराने हैं पर वह अब हो रहे हैं । प्रोजेक्ट धरातल पर साकार हो रहे हैं क्योंकि केंद्र सरकार ने प्रोजेक्ट के राह में जो जो बाधाएं थी उसे दूर करने की कोशिश की। मोदी सरकार 2.0 का एक साल पूरा हो चुका है। ऐसे में किस प्रोजेक्ट पर पर केंद्र सरकार ने कितना ध्यान दिया इसका आकलन भी हो जाना चाहिए। सबसे बड़ी बात यह है कि है कि इस साल सरकार ने अपने सभी परियोजनाओं पर जितना ध्यान दिया उतना ही उसे पूरा करने के लिए मॉनिटङ्क्षरग भी उतनी ही सख्त की। इस साल मेरठ को कई तोहफे भी मिले।...
more...
आइए देखते हैं कौन-कौन से प्रोजेक्ट केंद्र सरकार के हैं। और उसे इस साल कैसे किक मिली।

दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे की बाधाएं की दूर
दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे राह में तमाम बाधाएं आती गई । बहुत सी बाधाएं तो प्राकृतिक थी, पर कुछ ऐसी बाधाएं भी थीं जो स्थानीय स्तर पर लोगों द्वारा उत्पन्न की गई थी। ऐसी परिस्थिति आई मुआवजा की। किसानों को पहले ही मुआवजा मिल चुका था पर बाद में किसानों ने नए सिरे से मुआवजा की मांग कर दी। इन सब वजह से लगातार काम प्रभावित रहा। किसान काम रुकवाते रहे। हालांकि केंद्र सरकार की ओर से लगातार मार्केटिंग की गई। स्थानीय सांसदों के साथ ही जिलाधिकारियों को आदेश आते रहे जिस पर किसानों से संपर्क भी हुआ। उनकी कई मांगों पर विचार भी हुआ। जो मांगे पूरी नहीं की जा सकती थी उसके लिए किसानों से बैठकर बात हुई। तब जाकर किसान मशीनों के आगे से हटे और काम चला। वैसे तो यह प्रोजेक्ट इसी साल मिलने वाला था पर बेमौसम बारिश और अब लॉकडाउन ने इस लक्ष्य को आगे बढ़ाने पर मजबूर कर दिया है। फिलहाल केंद्र सरकार ने छह महीने का वक्त दिया है यानी अभी कोई बाधा नहीं आई तो दिसंबर तक पूरा होने की उम्मीद है।

हर बजट में रैपिड रेल को धन देती रही सरकार
केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना रैपिड रेल वैसे तो काफी पहले प्रस्तावित हो गई थी पर इसका शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। उन्होंने जिस तरह से इसे विकास का इंजन बताया था उसी तरह से उनकी सरकार ने हर साल बजट में इसके लिए धन आवंटित करती रही। इस साल भी केंद्र सरकार ने इसके लिए धनराशि उपलब्ध कराई। केंद्र सरकार का अभियान है मेक इन इंडिया। इसके तहत रैपिड रेल के डिब्बे भी देश में ही बनेंगे। इसकी घोषणा इसी साल हुई।

बुलंदशहर हाईवे को भी दी महत्ता
मेरठ- बुलंदशहर हाईवे यानी एनएच 235 बहुत ही जल्द आवागमन के लिए खोल दिया जाएगा। इस प्रोजेक्ट में भी मुआवजा से लेकर के अन्य कई बाधाएं समय-समय पर आती रही जिसका समाधान केंद्र सरकार ने बड़ी तेजी से किया। जिसकी बदौलत मुआवजा प्रकरण हल हुआ और काम आगे बढ़ा। इसी का नतीजा है कि अब इस साल इसके थोड़े बहुत रुके हुए काम भी पूरे हो जाएंगे और हाईवे खोल दिया जाएगा।
आईटी पार्क अब रोजगार देने वाला है
वेदव्यास पुरी में आईटी पार्क निर्माणाधीन है। यह केंद्र सरकार का प्रोजेक्ट है। इसकी भी मानिटङ्क्षरग केंद्र सरकार की ओर से लगातार की जाती रही है जिसकी बदौलत तमाम बाधाओं के बाद कार्य चलता रहा। यहां भी मुआवजे का प्रकरण बाधा पहुंचाता रहा जिसका समाधान निकाला गया। केंद्र सरकार की संस्था सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क ऑफ इंडिया जल्दी यहां पर कंपनियों को आमंत्रित करेगी। वैसे तो लॉकडाउन न होता तो अब तक यहां रोजगार के दरवाजे खुल जाते पर थोड़ी देरी हो जाएगी।
राष्ट्रीय संग्रहालय का मिला तोहफा
हस्तिनापुर हमेशा से उपेक्षित रहा पर इस साल मोदी सरकार ने सभी का दिल खुश कर दिया। यहां पर राष्ट्रीय संग्रहालय खोलने और उसके लिए धनराशि आवंटित किया। इससे मेरठ वैश्विक पटल पर स्थान बना पाएगा और ऐतिहासिक विरासत को संजोया जा सकेगा।
मोदी सरकार केंद्रीय प्रोजेक्ट को समझ पर पूरा करने के लिए लगातार प्रयास करती रही। मोनिटरिंग हुई। केंद्रीय मंत्री और अधिकारियों ने समीक्षा की। जिसके लिए धनाभाव था उसे धन आवंटित किया। इसी साल हस्तिनापुर को तोहफा मिला। लॉक डाउन न होता तो जून तक एक्सप्रेस वे शुरू भी हो जाता। आइटी पार्क का मैं खुद कई बार निरीक्षण करने गया। सरकार का यह साल भी मेरठ के लिए स्वागत योग्य रहा। -राजेंद्र अग्रवाल, सांसद
Today (01:30) शामली से गुजरी इंजीनियरिंग विभाग की मिनी ट्रेन (m-jagran-com.cdn.ampproject.org)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
2150 views

News Entry# 409570  Blog Entry# 4639973   
  Past Edits
May 30 2020 (01:31)
Station Tag: Shamli/SMQL added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693
Stations:  Shamli/SMQL  
शामली, जेएनएन। दोपहर के समय गुरुवार को नगर की रेलवे लाइन से इंजीनियरिंग विभाग की मिनी ट्रेन गुजरी तो लोगों को जल्द ही शामली रेलमार्ग पर ट्रेनों के संचालन की उम्मीद जगी है। शामली रेलवे के डिप्टी स्टेशन अधीक्षक पवन कुमार ने बताया कि रेलवे के इंजिनियरिंग विभाग की एक मिनी ट्रेन जिसमें चार डिब्बे और एक इंजन था। इंजीनियरों ने इनमें से दो डिब्बों को रामपुर मनिहारान छोड़ा है और दो डिब्बों को वापस दिल्ली ले जाया गया है। लोगों का कहना है कि ट्रेनों के संचालन के लिए इंजिनियरों द्वारा रेलवे ट्रेक को चेक किया जाता है। संभवत: शामली रेलमार्ग पर जल्द ही ट्रेनों का संचालन शुरु होगा और गुरुवार की यह कार्रवाई इसी का एक हिस्सा है।
Page#    387146 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy