Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Everyone is a gangster (Rajdhani, Shatabdi, Tejas) until the real Gangsta (Vande Bharat) walks in 😂 - Mushfique Khalid

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sun Jun 13 16:45:38 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search

KNW/Khandwa Junction (5 PFs)
کھنڈوا جنکشن     खंडवा जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Bada Pul Road, Khandwa PIN 450001
State: Madhya Pradesh


Zone: CR/Central   Division: Bhusaval

No Recent News for KNW/Khandwa Junction
Nearby Stations in the News
Type of Station: Junction
Number of Platforms: 5
Number of Halting Trains: 185
Number of Originating Trains: 3
Number of Terminating Trains: 3
Rating: 3.8/5 (90 votes)
cleanliness - good (14)
porters/escalators - good (11)
food - good (11)
transportation - good (11)
lodging - good (11)
railfanning - good (12)
sightseeing - good (10)
safety - good (10)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 271 News Items  next>>
Jun 10 (02:51) रेलवे व पीडब्ल्यूडी के बीच फंसी सड़क, मरम्मत का इंतजार (www.naidunia.com)
Commentary/Human Interest
CR/Central
0 Followers
4650 views

News Entry# 455610  Blog Entry# 4981851   
  Past Edits
Jun 10 2021 (02:51)
Station Tag: Khandwa Junction/KNW added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Khandwa Junction/KNW  
खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। लाल चौकी रेलवे क्रासिंग के आसपास सौ फीट सड़क के हिस्से की मरम्मत के लिए लोग पिछले डेढ़ साल से इंतजार कर रहे हैं। रोजाना ही इस मार्ग से आसपास के दस गांव व 15 से अधिक कालोनियों के रहवासियों का आना-जाना लगा रहता है। रेलवे व पीडब्ल्यूडी के विभाग के बीच फंसी इस सड़क की जर्जर स्थिति की सुध कोई नहीं ले रहा। यहां तक कि जनप्रतिनिधि भी इसकी मरम्मत को लेकर आगे नहीं आए हैं। नईदुनिया ने वहां जाकर लोगों से चर्चा की तो सभी ने इसके जल्द ठीक होने के लिए मांग की।
नागचून रोड पर लाल चौकी रेलवे क्रासिंग के दोनों ओर पीडब्ल्यूडी विभाग के अधीन यह सड़क आती है।
...
more...
सौ फीट के लगभग सड़क का यह हिस्सा पार करने में वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लाल चौकी फिल्टर प्लांट से रोजाना टैंकरों की आवाजाही होने पर इस हिस्से में टैंकर का पानी गिरता है। जिससे गर्मी के समय भी कीचड़ बना रहता है। कई वाहन चालक वाहन सहित स्लीप होकर गिरने से गंभीर दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। पीडब्ल्यूडी के अधिकारी रेलवे के हिस्से में बगैर अनुमति कार्य करने से बच रहे हैं। उनके अनुसार रेलवे इस पर आपत्ति ले सकता है। इस कारण इस रोड की मरम्मत तक नहीं हो पा रही जबकि मीटर गेज ट्रेक को ब्राडगेज करने की वजह से यहां रेलवे लाइन उखडी हुई है। शहर के आसपास मुख्य गांवों को जोड़ने वाली इस सड़क पर सुबह चार बजे से आवाजाही शुरू होती है व रात को भी 12 बजे तक लोग आना जाना करते हैं। ऐसे में इस सड़क की मरम्मत पर ध्यान देना जरूरी है। बारिश में फिसलन दुर्घटनाओं का कारण बन सकती है।
आधी सड़क पर कांक्रीट
आधी पर पेवर ब्लाक
लगभग डेढ़ साल पहले सड़क खराब होने पर इसका पेचवर्क किया गया था। जिसमें उर्दू स्कूल के सामने कांक्रीट सड़क व रेलवे वाले हिस्से में ब्लाक लगाए गए थे। उर्दू स्कूल की तरफ से एक साइट की सड़क पूरी तरह उखड़ चुकी है, वहीं रेलवे क्रासिंग के हिस्से के ब्लाक भी उखड़ चुके हैं। इसके अलावा लालचौकी की तरफ वाले हिस्से में भी गड्ढे हो चुके हैं।
इन गांवों के लोगों का है आनाजाना
नागचून, अहमदपुर खैगांव, अजंटी, टेमीकला, कालमुखी, सिर्रा, टोकड़खेड़ा, दोंदवाड़ा, रोहणी, सहेजला, सुरगांव जोशी, सुरगांव बंजारी, बड़गांव भीला सहित आसपास के अन्य गांव के लोग आवाजाही करते हैं।
संत सिंगाजी ताप विद्युत परियोजना में कोयला परिवहन के लिए रेल लाइन बिछाने के लिए जमीन अधिग्रहित की गई। किसानों को अन्य स्थान से उनके खेत तक पहुंच मार्ग बनाने के आश्वासन के बाद जमीन देने को किसान राजी हो गए, बावजूद वे अब भी खेत तक जाने के लिए रास्ता बनवाने के लिए गुहार लगा रहे हैं।
किसानों का कहना है मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी ने उनके साथ धोखा किया है, झूठा आश्वासन देकर जमीन ले ली है। उधर एक किसान ने चेतावनी दे दी कि यदि मप्र पावर जनरेटिंग कंपनी ने रास्ता नहीं दिया तो आत्महत्या जैसा कदम उठाना पड़ेगा। कोयला परिवहन के लिए सुरगांवबंजारी से बीड़ रेलवे स्टेशन की रेल लाइन बिछाने के लिए कई किसानों की जमीन अधिग्रहित
...
more...
की गई, लेकिन आठ ऐसे किसान है, जिनके खेतों में जाने का रास्ता भी नहीं दिया गया। इस वजह से किसान परेशान है। बताया जा रहा है कि बीड़ से कुछ दूरी पर 26 नंबर ओवरब्रिज बनाया है। इसे साइड से ही मप्र पावर जनरेटिंग कंपनी ने एक किसान की जमीन अधिग्रहित कर मुआवजा दे दिया था लेकिन किसानों को रास्ता नहीं दिया गया है। .
इतना ही नहीं मप्र पावर जनरेटिंग कंपनी की सबसे बड़ी लापरवाही तो यह है कि इन किसानों को जाने के लिए इस जमीन को अधिग्रहण किया गया था उस पर से रास्ता नहीं बनाया गया। इस कारण किसान किसान इस मार्ग पर निकलने नहीं देता है। क्योंकि बड़े-बड़े पत्थर पड़े हुए है, जबकि जमीन अधिग्रहण करते समय किसानों को कहा गया था कि खेत तक रास्ता बनाकर दिया जाएगा।
किसान बोले- ट्रैक्टर-ट्राली व बैल गाड़ी खेत तक ले जाने में हो रही है मुश्किलरेलवे का काम देखने वाले सिकरवार मनमानी कर रहे है। कई बार उन्हें भी अवगत कराया लेकिन वे सुन नहीं रहे है। किसान राजू मालवीय ने बताया कई बार मैंने अवगत कराया है लेकिन कोई नहीं सुनने वाला है। यदि समस्या का समाधान नहीं हुआ तो मैं अब आत्महत्या कर लूंगा। क्योंकि रास्ता नहीं मिलने के कारण हम किसानों को ट्रैक्टर-ट्राली व गाड़ी बैल भी खेत में ले जाना मुश्किल हो रहा है। ऐसे 8 किसान हैं जिनकी 50 एकड़ से अधिक जमीन है। इसे लेकर किसानों ने कई बार 181 पर शिकायत की। मप्र पावर जनरेटिंग कंपनी के अधिकारियों को भी अवगत कराया लेकिन नतीजा शून्य ही निकला।रास्ता निकालने का समाधान नहीं हुआ तो अब कोयले की रैक को रोकेंगेजमीन अधिग्रहण के समय कहा गया था कि किसानों को खेतों में जाने के लिए रास्ता दिया जाएगा लेकिन यहां पर किसी प्रकार का कोई रास्ता नहीं है। रेलवे लाइन के पार मोहनलाल अग्रवाल, ओम अग्रवाल, राधाबाई, डिग्री लाल मालवीय, पूनमचंद मालवीय, कलाबाई मालवीय जैसे अन्य किसान है।
जब से कोयला परिवहन के लिए रेल लाइन बिछाई है, जब से लेकर आज तक समस्या उठाना पड़ रही है। पांच साल में कई बार मप्र पावर जनरेटिंग कंपनी व जिला प्रशासन को रास्ता निकालने को लेकर शिकायत की लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला। अब आक्रोशित किसानों ने समस्या का समाधान नहीं होने पर कोयले की रैक को खेतों के सामने ही रोक देने की चेतावनी दी।उच्च अधिकारियों को अवगत करा देता हूंमुझे आपके द्वारा जानकारी मिली है। इसे लेकर में वरिष्ठ अधिकारियों को यह जानकारी दे देता हूं। किसानों को जाने के लिए रास्ता का जो मामला है वह मेरे संज्ञान में नहीं है। जिस विभाग का है उन्हें में अवगत करा देता हूं। साथ ही उच्च अधिकारियों को भी अवगत करा देता हूं।-आरके पांडे, पीआरओ मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी
May 29 (15:12) ट्रेनों के फेरे बढ़ाए:मिलेगी सुविधा, गाेरखपुर, छपरा, दरभंगा और दानापुर जाने वाले यात्रियों को मिलेगी भीड़ से निजात (www.bhaskar.com)
New/Special Trains
WCR/West Central
0 Followers
3516 views

News Entry# 453351  Blog Entry# 4972285   
  Past Edits
May 29 2021 (15:12)
Station Tag: Khandwa Junction/KNW added by Saurabh®/1294142
Trains:  Mumbai LTT - Gorakhpur AC SF Special Fare Special (via Mau)/01355   Mumbai CSMT - Darbhanga Special Fare Special/01363   Mumbai CSMT - Gorakhpur Summer Special Fare Special/01359   Gorakhpur - Mumbai CSMT Summer Special Fare Special/01360   Pune - Bhagalpur Summer Special Fare Special/01335   Bhagalpur - Pune Summer Special Fare Special/01336   Pune - Gorakhpur Summer Special (via Lucknow)/01329   Gorakhpur - Pune Special Fare Special (via Lucknow)/01330   Pune - Danapur Special Fare Special/01331   Danapur - Pune Special Fare Special/01332   Mumbai CSMT - Danapur Special Fare Special/01361   Danapur - Mumbai CSMT Special Fare Special/01362   Chhapra - Mumbai CSMT Special Fare Special/01366   Mumbai CSMT - Chhapra Special Fare Special/01365   Pune - Darbhanga Special Fare Special/01333   Darbhanga - Pune Special Fare Special/01334   Darbhanga - Mumbai CSMT Special Fare Special/01364  
Stations:  Khandwa Junction/KNW  
रेलवे ने यात्रियों की अतिरिक्त भीड़ को कम करने के लिए समर स्पेशल ट्रेनों के फेरे बढ़ाए। इसमें पुणे व मुंबई से यूपी-बिहार की ओर जाने वाली ट्रेनें शामिल है।
ट्रेन नंबर- 01329 पुणे-गोरखपुर स्पेशल को 1,3,5,8,10, 12 व 15 जून (7 ट्रिप), ट्रेन नंबर- 01330 गोरखपुर-पुणे स्पेशल को 3,5,7,10,12, 14 व 17 जून (7 ट्रिप), ट्रेन नंबर- 01331 पुणे - दानापुर स्पेशल 4,7,11 और 14 जून (4 ट्रिप), 01332 दानापुर-पुणे सुपरफास्ट स्पेशल को 5, 8, 12 और 15 (4 ट्रिप), ट्रेन नंबर- 01333 पुणे-दरभंगा स्पेशल को 3 व 10 जून (2 ट्रिप), 01334 दरभंगा-पुणे स्पेशल को 5 व 12 जून (2 ट्रिप), ट्रेन नंबर 01335 पुणे - भागलपुर स्पेशल को 6 व 13 (2 ट्रिप), 01336 भागलपुर-पुणे स्पेशल को 8 व
...
more...
12 (2 ट्रिप),
01359 सीएमएसटी मुंबई-गोरखपुर स्पेशल को 2, 4, 6, 7, 9, 11, 13 और 14 जून (8 ट्रिप), 01360 गोरखपुर-सीएमएसटी मुंबई 4,6,8,9,11,13,15 और 16 जून (8 ट्रिप), 01361 सीएमएसटी मुंबई - दानापुर सुपरफास्ट स्पेशल को 3 व 10 जून (2 ट्रिप), 01362 दानापुर-सीएमएसटी मुंबई सुपरफास्ट स्पेशल 4 व 11 जून (2 ट्रिप), 01363 सीएमसटी मुंबई-दरभंगा स्पेशल 1,8 व 15 जून (3 ट्रिप) ,
01364 दरभंगा-सीएमएसटी मुंबई स्पेशल को 3,10 व 17 जून (3 ट्रिप), 01365 सीएमएसटी मुंबई-छपरा स्पेशल को 5 व 12 जून (2 ट्रिप), 01366 छपरा - सीएमएसटी मुंबई सुपरफास्ट स्पेशल को 7 व 14 जून (2 ट्रिप), 01355 एलटीटी -गोरखपुर स्पेशल को 1,8 व 15 जून (3 ट्रिप), 01330 गोरखपुर-एलटीटी को 3,10 व 17 जून (3 ट्रिप) तक विस्तारित किया गया है।
May 27 (07:43) खंडवा-अकोला ब्रॉडगेज:नदी के पानी को दोनों ओर से गणगौर घाट पर रोका (www.bhaskar.com)
Commentary/Human Interest
CR/Central
0 Followers
4889 views

News Entry# 452848  Blog Entry# 4970450   
  Past Edits
May 27 2021 (07:44)
Station Tag: Akot/AKOT added by Adittyaa Sharma/1421836

May 27 2021 (07:43)
Station Tag: Akola Junction/AK added by Adittyaa Sharma/1421836

May 27 2021 (07:43)
Station Tag: Khandwa Junction/KNW added by Adittyaa Sharma/1421836
जहां एक ओर कोरोना संक्रमण का हवाला देकर अन्य निर्माण कार्य बंद हैं। वहीं दूसरी ओर रेलवे खंडवा-अकोला (आकोट) 120 किमी ब्रॉडगेज ट्रैक को पूरा करने में जुटा हुआ है। गणगौर घाट पर मीटरगेज के पुराने ब्रिज को तोड़कर नए हाई लेवल ब्रिज के पिलर बनाए जा रहे हैं। नदी के बीच में पिलर बनाने के लिए रेलवे ने पानी को दोनों ओर से रोक दिया है। नदी के बीच में आने वाले पिलर को बारिश से पहले बनाने पर रेलवे अधिकारियों का जोर है। क्योंकि.. बारिश के दौरान नदी में बाढ़ की स्थिति बनने पर लगभग दो महीने तक काम नहीं होगा। वहीं दूसरी ओर रेलवे द्वारा अपने उपयोग के लिए बारिश का पानी रोके जाने से भी नदी के बीच में बन रहे पिलर निर्माण में देरी होगी।
इधर,
...
more...
साउथ सेंट्रल रेलवे ने इस ट्रैक पर अकोला से आकोट तक पहले ही ट्रैक का काम पूरा कर ट्रेन का ट्रायल भी कर लिया है। बाकी बचे हिस्से में रेलवे प्रशासन 2022 तक ट्रेन चलाने के लिए तैयारी कर रहा है। हालांकि 120 किमी मीटरगेज ट्रैक के ब्रॉडगेज कन्वर्जन में वन विभाग की जमीन का पेंच आ रहा है।
May 27 (07:42) गफलत:खरगोन कलेक्टर से अनुमति लेकर बंद किया खंडवा का रेलवे गेट (www.bhaskar.com)
Commentary/Human Interest
CR/Central
0 Followers
2824 views

News Entry# 452847  Blog Entry# 4970449   
  Past Edits
May 27 2021 (07:42)
Station Tag: Khandwa Junction/KNW added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Khandwa Junction/KNW  
खंडवा जिले के ग्राम सुलगांव, मथेला, निमाड़खेडी के ग्रामीणों का खंडवा जिले की सीमा में रेलवे गेट से करीब डेढ़ सौ साल के बेरोकटोक आवागमन को खरगोन कलेक्टर की अनुमति लेकर रेलवे विभाग ने गेट नंबर 278 को बंद कर दिया। जबकि इस गेट काे बंद करने के लिए खंडवा कलेक्टर की अनुमति लेना था। वहीं रेलवे के अफसरों ने सीमा से लगे खरगोन जिले के कलेक्टर की अनुमति लेकर गेट बंद कर दिया। इससे ग्रामीणों में आक्रोश है।सुलगांव के ग्रामीणों ने बताया इस रेलवे गेट से गांव के लोग करीब डेढ़ सौ साल से आवागमन कर रहे हैं लोगों को विकल्प दिए बिना गेट बंद कर दिया है। ग्रामवासी इस गेट से पार मवेशियों को नदी में पानी पिलाते थे। कृषि कार्यों के लिए आवागमन, कृषि उपज का परिवहन भी करते हैं। गांव के कई किसानों की पटरी के उस पार भी कृषि भूमि है। किसानों ने बुधवार को इस...
more...
समस्या को लेकर एसडीएम को भी अवगत कराया है। भारतीय किसान संघ ने भी विरोध दर्ज कराया है।रेलवे गेट के उस पार है श्मशान घाटग्रामीणों ने बताया रेलवे गेट के उस पार सोनगीर नदी के पास श्मशान घाट है। जहां मथेला, निमाड़खेडी, सुलगांव के ग्रामीण अंतिम संस्कार के लिए जाते हैं। कोरोना काल में ग्रामीणों को गेट बंद होने के कारण परेशानी हो रही है। पत्र अनुसार रेलवे विभाग ने एक कर्मचारी का वेतन बचाने के लिए यह गेट बंद करने का मनमाना निर्णय ले लिया। जबकि रेलवे गेट के पास इतना स्थान पर्याप्त रूप से है कि वहां विकल्प के रूप में अंडर पास बनाकर ग्रामीणों काे सुविधा दी जा सकती है। ग्रामीणों ने आवागमन के लिए मार्ग बनाने की मांग की है। मांग पूरी नहीं होने पर ग्रामीणों द्वारा आंदोलन किया जाएगा।8 किमी दूर है दूसरा गेटकिसान ताराचंद पटेल ने बताया रेलवे विभाग ने किसानों को खेती करने से रोक दिया है। 278 नंबर का गेट बंद करके कहा जाता है कि गेट नंबर 277 से निकला करो जबकि 277 नंबर का गेट 278 से करीब 8 किमी दूर है। उन्होंने बताया क्षेत्रीय विधायक नारायण पटेल ने उस गेट का निरीक्षण किया और एसडीएम पुनासा को समस्या के समाधान के लिए निर्देशित किया। उसके बाद एसडीएम पुनासा ने भी निरीक्षण किया है।खरगोन कलेक्टर के निर्देश पर बंद किया गेटकिसानों की शिकायत पर एसडीएम पुनासा ने मौके का निरीक्षण किया तो देखा सीमा खंडवा जिले की है। यहां पर प्रतिबंध खरगोन कलेक्टर ने लगाया है। पटवारी ने बताया यह क्षेत्र तहसील पुनासा अंतर्गत खंडवा जिले में आता है। रेलवे गेट नंबर 278 के उस पार खंडवा जिले के 70 खातेदार हैं। खरगोन कलेक्टर के आदेश से रेलवे विभाग ने रोक लगाई है।टीम ने गलत सर्वे कियाखरगोन जिले की राजस्व टीम ने गलत सर्वे किया। खरगोन कलेक्टर के आदेश से खंडवा जिले का गेट बंद करा दिया है। पत्र के माध्यम से कलेक्टर को अवगत करा दिया है। वहां से रतलाम मंडल को पत्र भेजा है।चंदर सिंह सोलंकी, एसडीएम पुनासा
Page#    Showing 1 to 20 of 271 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy