Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

हाटे-बाजारे एक्सप्रेस : चलती - फिरती मछली बाजार - Piyush Singh

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri May 14 19:30:49 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
no description available
Entry# 2229270-0

BQW/Barakalan Halt (2 PFs)
باراکلاں ہالٹ     बाराकला हाल्ट

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Harkaranpur, Distt.- Ghazipur, Pin - 232325
State: Uttar Pradesh

Elevation: 68 m above sea level
Zone: ECR/East Central   Division: Danapur

No Recent News for BQW/Barakalan Halt
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 12
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 4.4/5 (2 votes)
cleanliness - good (1)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - excellent (1)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 6 of 6 News Items  
Nov 23 2020 (07:59) मेमो ट्रेन के परिचालन से हाल्ट व छोटे स्टेशनों की बढ़ी रौनक (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
5025 views

News Entry# 425604  Blog Entry# 4787788   
  Past Edits
Nov 23 2020 (07:59)
Station Tag: Barakalan Halt/BQW added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Barakalan Halt/BQW  
जागरण संवाददाता, बारा (गाजीपुर) : दस दिन ही सही, मगर स्पेशल मेमो ट्रेन का परिचालन शुरू होने से बारा कलां हाल्ट व छोटे स्टेशनों पर रौनक बढ़ गई है। इस ट्रेन के परिचालन से यात्रियों में खुशी की लहर दौड़ गई है। रेल विभाग द्वारा शनिवार से पटना से दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन के लिए कोविड स्पेशल मेमो ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया है।
गौरतलब हो कि विगत 22 मार्च से कोविड के रोकथाम के लिए देशभर में लाकडाउन लगाए जाने से ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया था, जिसके बाद से बारा जैसे हाल्ट स्टेशन वीरान पड़ गए थे। तब से अब तक हाल्ट पर पैसेंजर ट्रेन का ठहराव होता था और न ही यात्री नजर आते थे। अब
...
more...
जबकि आठ माह बाद शनिवार से कोविड स्पेशल ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया है, जिससे हाल्ट व छोटे स्टेशनों की रौनक बढ़ गई है। इस ट्रेन के परिचालन से दैनिक यात्री से लेकर व्यवसायी व किसान भी काफी खुश हैं। हालांकि अभी ट्रेन पकड़ने वालों की संख्या कम है। बारा कलां हाल्ट पर ट्रेन के इंतजार में जुनेद अहमद, संतोष कुमार, शाहिद खां, शैलेंद्र चौहान, अरविद यादव आदि कई लोगों ने बताया कि भदौरा, दिलदारनगर, जमानियां, मुगलसराय, वाराणसी के लिए कोई संसाधन न होने से परेशानी होती थी। इस ट्रेन के परिचालन से थोड़ी बहुत राहत मिली। इस तरह और पैसेंजर मेमो के अलावा, इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन प्रारंभ हो जाता तो वाराणसी-पटना आने-जाने वाले लोगों को सहूलियत मिल जाती।
Nov 01 2020 (23:01) पैसेंजर ट्रेन चले तो बढ़े किसानों की आमदनी (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
13599 views

News Entry# 423492  Blog Entry# 4764750   
  Past Edits
Nov 01 2020 (23:02)
Station Tag: Barakalan Halt/BQW added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Nov 01 2020 (23:01)
Station Tag: Zamania/ZNA added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Nov 01 2020 (23:01)
Station Tag: Darauli/DRV added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Nov 01 2020 (23:01)
Station Tag: Dildarnagar Junction/DLN added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Nov 01 2020 (23:01)
Station Tag: Bhadaura/BWH added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Nov 01 2020 (23:01)
Station Tag: Gahmar/GMR added by Anupam Enosh Sarkar/401739
जागरण संवाददाता, बारा (गाजीपुर) : लाकडाउन में पैसेंजर ट्रेनों के पहिए क्या थमे, बहुत से किसानों की आमदनी ही कम हो गई। पहले वे कम भाड़े में अपने गांव के अलावा आस-पास के जिलों और कस्बों की मंडी तक अपने उत्पाद पहुंचाते थे। ऐसे में अगर पैसेंजर ट्रेनों के साथ किसानों को स्पेशल ट्रेन मिले तो उनकी आमदनी के रास्ते और खुल जाएं। गांव से लगे रेलवे के आसपास कई स्टेशन हैं जो किसानों की पहुंच में हैं। लाकडाउन से पहले पैसेंजर ट्रेनों के माध्यम से हर रोज आस-पास गांवों के किसान हर सुबह इन ट्रेनों में अपना एक-दो बोरी सब्जी आदि भरकर ले जाते थे और शाम को उसी ट्रेन से लौट आते थे। आस-पास के जिलों तक इस आवागमन में बमुश्किल 30 से 50 रुपये खर्च होते थे। ऐसे में उनकी बचत ज्यादा होती थी और सब्जी बेचने के स्थान भी बढ़ जाते थे। बारा, गहमर, भदौरा, दिलदारनगर, दरौली,...
more...
जमानियां आदि ऐसे स्टेशन हैं, जहां पैसेंजर ट्रेन रुकती है। लाकडाउन से पहले यहां से किसान चंदौली, वाराणसी, बिहार के बक्सर, आरा आदि शहरों में सब्जी आदि बेचने जाते थे। दरअसल, सड़क मार्ग से आने - जाने में उन्हें भाड़ा अधिक देना पड़ता है। सब्जी के एक-दो बोरी के परिवहन में सड़क मार्ग और पैसेंजर ट्रेन के भाड़े में तीन से चार गुने का अंतर पड़ता है। ऐसे में पैसेंजर और स्पेशल ट्रेन के चलने से किसानों की आय में इजाफा होगा।
Oct 20 2020 (06:07) पैसेंजर ट्रेनों को चलाने की मांग (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
9389 views

News Entry# 421992  Blog Entry# 4752829   
  Past Edits
Oct 20 2020 (06:08)
Station Tag: Barakalan Halt/BQW added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 20 2020 (06:07)
Station Tag: Dildarnagar Junction/DLN added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 20 2020 (06:07)
Station Tag: Bhadaura/BWH added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 20 2020 (06:07)
Station Tag: Gahmar/GMR added by Anupam Enosh Sarkar/401739
जागरण संवाददाता, बारा (गाजीपुर) : बारा, गहमर, भदौरा, दिलदारनगर से पटना तथा वाराणसी जाने वाले दैनिक रेल यात्रियों ने दानापुर-पीडीडीयू रेल खंड पर पैसेंजर ट्रेनों को चालू कराने की मांग की है। उनका कहना है कि अन्य रेल खंड पर यात्रियों की सुविधा को देखते हुए सवारी गाड़ी का परिचालन शुरू किया गया है। ठीक उसी प्रकार बक्सर से वाराणसी तथा पटना के लिए भी सवारी गाड़ियों का परिचालन बेहद आवश्यक है। धीरे-धीरे अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है। कई माह से कोरोना संकट झेल चुके व्यवसाय को पुनर्जीवित करने के लिए रेल एक सशक्त माध्यम है। व्यवसायी अरुण कुमार सिंह, अशफाक खां, मनान राइन का कहना है कि सामान लाने के लिए उन्हें पटना व वाराणसी जाना पड़ता है। कोरोना काल से ही उन्हें सड़क मार्ग का प्रयोग करना पड़ता है। ऐसे में दैनिक यात्रियों की सुविधा के लिए सवारी गाड़ी का परिचालन बेहद आवश्यक है।
Jun 09 2019 (16:01) पटना-वाराणसी पैसेंजर ट्रेन में विद्युत करंट प्रवाहित होने से यात्रियों के बीच हड़कंप (www.jagran.com)
0 Followers
13659 views

News Entry# 383773  Blog Entry# 4338581   
  Past Edits
Jun 09 2019 (16:39)
Station Tag: Gahmar/GMR added by 🌺Usha🌺^~/1872250

Jun 09 2019 (16:39)
Station Tag: Barakalan Halt/BQW added by 🌺Usha🌺^~/1872250
Stations:  Gahmar/GMR   Barakalan Halt/BQW  
गाजीपुर, जेएनएन। बारा में दानापुर-पीडीडीयू रेल खंड के बारा कलां हाल्ट पर रविवार को पटना-वाराणसी पैसेंजर ट्रेन में उस समय यात्रियों के बीच हड़कंप मच गया जब यात्रियों को ट्रेन की एक बोगी में विद्युत करंट प्रवाहित होने की सूचना मिली। बारा कलां हाल्ट पर रविवार की सुबह 63233 पटना-वाराणसी पैसेंजर ट्रेन जैसे ही रुकी अचानक एक बोगी में करंट प्रवाहित होने की अफवाह से यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई।
इस बीच यात्रियों में भगदड़ भी मच गई और यात्री ट्रेन की बोगी से कूद कर भागने लगे। इससे ट्रेन बारा कलां हाल्ट पर 15 मिनट तक खड़ी रही। हालांकि किसी तरह का कोई हादसा इस दाैरान नहीं हुआ। करीब 15 मिनट ट्रेन रुकने के बाद गहमर स्टेशन के लिए रवाना हुई।
...
more...
इस संबंध में दानापुर रेल मंडल के जनसंपर्क अधिकारी संजय प्रसाद ने बताया कि इस तरह की कंट्रोल को कोई सूचना नहीं मिली है। जानकारी प्राप्त की जा रही है, अगर ट्रेन की बोगी में करंट प्रवाहित होने की बात सही होगी तो जांच किया जाएगा।
Oct 23 2018 (09:07) .और रात को छाया रहता है स्टेशनों पर अंधेरा (www.amarujala.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
78732 views

News Entry# 366052  Blog Entry# 3929505   
  Past Edits
Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Barakalan Halt/BQW added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Bhadaura/BWH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Tajpur Dehma/TJD added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Saiyedpur Bhitri/SYH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Dullahapur/DLR added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Jakhanian/JKN added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Karimuddin Pur/KMDR added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Yusufpur/YFP added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Ghazipur Ghat/GZT added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Shahbaz Kuli/SBK added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: NandGanj/NDJ added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Oct 23 2018 (09:07)
Station Tag: Ankuspur/AKS added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739
गाजीपुर। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने रेलवे में विकास को काफी ऊंचाई दी है। सभी क्षेत्रों में विकास को पर लग गए, लेकिन अब भी दर्जन भर रेलवे स्टेशन रात को अंधेरे में डूब जाते हैं। यहां सबसे बड़ी समस्या रात के समय स्टेशनों पर समुचित प्रकाश की है। यात्री परेशान हैं, लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। मजबूरन वे रात को अंधेरे में ट्रेनों का इंतजार करने को विवश हैं। औड़िहार -मऊ रेल मार्ग पर सादात तक पड़ने वाले रेलवे स्टेशनों अथवा औड़िहार से बलिया रेल मार्ग पर ताजपुर डेहमा तक के छोटे स्टेशन की हालत लगभग यही है। इन रेलमार्गों पर जिले में पड़ने वाले करीब दर्जन भर स्टेशन ऐसे हैं जहां रात को घोर अंधेरा छाया रहता है। इससे जहां यात्रियों को ट्रेन पकड़ने में असुविधा होती है वहीं अंधेरे में आना- जाना भी खतरनाक साबित होता है। कभी-कभी बुजुर्ग लोग गिर कर घायल हो जाते हैं।...
more...
नंदगंज रेलवे स्टेशन पर रात के समय अंधकार छाया रहता है। गाड़ियों के आने-जाने के समय तो जनरेटर चलाया जाता है, लेकिन बाद में उसे बंद कर दिया जाता है। आंकुशपुर स्टेशन पर भी रात को आने वाली मेमू तथा पैसेंजर गाड़ियों को पकड़ने के लिए यात्रियों को अंधेरे में ही इंतजार करना पड़ता है। सहेड़ी हाल्ट का भी यही हालत है। रात को पैसेंजर के गुजर जाने के बाद इन स्टेशनों को कोई देखने वाला नहीं होता। गाजीपुर घाट और शहबाजकुली स्टेशन पर जब गाड़ियों के आने का समय होता है, तो सिर्फ सिग्नल देने के लिए ही जनरेटर चलाया जाता है। बाद में अगर बिजली है तब तो प्रकाश होता है अन्यथा अंधेरा ही कायम रहता है। युसूफपुर स्टेशन पर भी प्लेटफार्म के दोनों किनारों पर प्रकाश की समुचित व्यवस्था नहीं है। मेल तथा एक्सप्रेस गाड़ियों के जनरल डिब्बे अक्सर स्टेशन के बाहरी तथा अंतिम छोर पर रुकते हैं जहां प्रकाश की व्यवस्था नहीं होती। यात्री गिरते पड़ते रहते हैं। दुबिहां संवाददाता के अनुसार करीमुद्दीनपुर स्टेशन पर लगा ट्रांसफार्मर करीब तीन माह से जला पड़ा है। शाम होते ही स्टेशन अंधकार में डूब जाता है। मऊ रुट पर जखनिया, हंसराजपुर, दुल्लहपुर आदि रेलवे स्टेशनों की भी यही दशा है। अंधेरे के कारण सबसे अधिक परेशानी बुजुर्ग तथा महिलाओं को होती है। रात के समय गाड़ी पकड़ना उनके लिए मुश्किल भरा काम होता है। इसी प्रकार पटना रूट पर भी भदौरा, बारा कला आदि स्टेशनों पर अंधकार छाया रहता है। यही हाल ताजपुर डेहमा रेलवे स्टेशन का भी है। यहां घोर अंधेरा छाया रहता है। बिजली गुल होने के बाद स्टेशन पर अंधेेरे के कारण लोग आने से भी कतराते हैं। इतना ही नहीं ढ़ोढ़ाडीह, गाजीपुर घाट, से लेकर सैदपुर भीतरी तक आधी रात को पूरा स्टेशन अंधेेरे में डूब जाता है। बिजली न रहने पर यहां उतरने वाले यात्री किसी तरह घर पहुंचते हैं।
Page#    Showing 1 to 6 of 6 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy