Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Indian Railways: Divided By Zones, United By Railfans - Karthik

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon May 17 03:22:11 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 1726616-0
Large Station Board;
Entry# 2100183-0

CPDR/Chhipadohar (2 PFs)
چھيپادوهر     छीपादोहर

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Chipadohar Bypass, Chhipadohar, Dist Latehar 829204
State: Jharkhand

Elevation: 338 m above sea level
Zone: ECR/East Central   Division: Dhanbad

No Recent News for CPDR/Chhipadohar
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 12
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 1.9/5 (8 votes)
cleanliness - poor (1)
porters/escalators - poor (1)
food - poor (1)
transportation - poor (1)
lodging - poor (1)
railfanning - good (1)
sightseeing - good (1)
safety - poor (1)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 10 of 10 News Items  
Feb 11 (06:49) ट्रेनों का परिचालन सामान्य नहीं होने से यात्रियों की उम्मीदों को लगा झटका (www.livehindustan.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
3689 views

News Entry# 438307  Blog Entry# 4873398   
  Past Edits
Feb 11 2021 (06:49)
Station Tag: Hehegara Halt/HHG added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Feb 11 2021 (06:49)
Station Tag: Chhipadohar/CPDR added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Chhipadohar/CPDR   Hehegara Halt/HHG  
छिपादोहर प्रतिनिधि।रेल प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण को देखते हुए यात्री ट्रेनों को पटरी पर उतारने की बात कही गयी थी। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर विचार कर इस रेलखंड से गुजरने वाली मेमू व पैसेंजर ट्रेनों के नियमित परिचालन पर अब तक कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है । इस मार्ग की लाइफ लाइन समझी जाने वाली बीडीएम सवारी गाड़ी, गोमो चोपन सवारी गाड़ी का नियमित परिचालन न होने से यात्रियों में घोर निराशा है । कोरोना संक्रमण काल से पूर्व इस स्टेशन पर पलामू व शक्तिपुंज एक्सप्रेस का नियमित ठहराव होता था । यात्रियों द्वारा रेल प्रशासन को अवगत कराने के बावजूद भी ये ट्रेनें अब तक सामान्य नहीं हो सकी हैं । ऐसे में छिपादोहर, हेहेगड़ा, कुमण्डी, रिचुघुटा, देमु सहित छोटे स्टेशन के यात्रियों व स्टेशन पर अवस्थित दुकानदारों व वेंडरों का जीवन यापन संकट में पड़ गया है ।रेलवे द्वारा विशेष ट्रेन चलाने के बाद स्थानीय स्टेशन...
more...
परिसर में यात्रियों की संख्या तो दिखाई पड़ती है ।परन्तु पहले की अपेक्षा काफी कम।जब कि स्टेशन परिसर में साफ सफाई और कोरोना गाइड लाइन का समुचित अनुपालन किया जा रहा है।22 मार्च, 2020 से ठप है यात्री ट्रेनों का परिचालन :22 मार्च, 2020 से इस मार्ग पर ट्रेनों का परिचालन बंद है। रेलवे ने पुनः इस मार्ग की यात्रियों की सुविधा को दरकिनार कर दिया । कोरोना संक्रमण के मद्देनजर विभिन्न मार्गों पर मेमू सहित कई पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन सामान्य होने के बावजूद इस रेलमार्ग पर ट्रेनों को अभी नहीं चलाने का फैसला दुर्भाग्यपूर्ण है। इस बाबत यात्रियों द्वारा केंद्र सरकार व धनबाद रेल मंडल के अधिकारियों से गुहार भी लगाई गई है।ट्रेनों का ठहराव नहीं होने से लोगों में आक्रोश :छिपादोहर रेलवे स्टेशन में शक्तिपुंज व पलामू एक्सप्रेस का ठहराव नहीं होने से स्थानीय लोगों में आक्रोश है। छिपादोहर बाजार के व्यवसाय पर भी बुरा असर पड़ रहा है। प्रवासी मजदूरों को भी दूसरे प्रदेश जाने एवं आने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसे लेकर छिपादोहर के कई युवा एवं प्रबुद्ध लोगों ने अपने विचार व्यक्त कर केंद्र व राज्य सरकार समेत स्थानीय जनप्रतिनिधियों से इस स्टेशन की पुरानी साख बचाए रखने की मांग की है।ज्ञात हो कि छिपादोहर स्टेशन से 4 प्रखंडो के हजारों यात्री प्रतिदिन आना जाना करते है। वही हेहेगड़ा, कुमंडीह आदि स्टेशनों की बात करें तो यहां आने जाने का एकमात्र विकल्प रेल ही है। ऐसे मे रेल परिचालन सामान्य नही होने से यात्रियों की समस्याओं को सहज ही समझा जा सकता है।स्थानीय नागरिक डॉक्टर सुशील कुमार बताते हैं कि बरकाकाना - बरवाडीह रेलखण्ड पर पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन नहीं होने से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं होटल चलाने वाले व्यवसायी मुना गुप्ता ने कहा कि रेलवे स्थानीय लोगों की भावनाओं को समझते हुए पूर्व की भांति सभी ट्रेनों का परिचालन और ठहराव चालू करे।वहीं व्यव्सायी सत्यनाराय प्रसाद ने कहा कि इस स्टेशन पर ट्रेनों का ठहराव नहीं होने से प्रवासी मजदूरों को भी एक बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। लोगों को यात्रा करने के लिए मेदिनीनगर, टोरी, डेहरी जैसे स्टेशन का सहारा लेना पड़ रहा है।क्या कहते हैं स्टेशन प्रबंधक:स्टेशन प्रबंधक ने बताया कि नियमित ट्रेन कब से चलेगी इसकी जानकारी विभाग स्तर पर अब तक प्राप्त नही हुई है।परन्तु जब भी ट्रेन चलाने की घोषणा होगी उसके लिये सारी तैयारी पूर्ण है।रेलकर्मी अपने अपने काम मे पूरी तरह से लगे हुए हैं।
Dec 05 2020 (19:45) लातेहारः बरवाडीह, केचकी, छिपादोहर में ट्रेनों के ठहराव को लेकर 10 को धरना प्रदर्शन, 15 से चक्का जाम (newswing.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
9236 views

News Entry# 427270  Blog Entry# 4803549   
  Past Edits
Dec 05 2020 (19:45)
Station Tag: Chhipadohar/CPDR added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Dec 05 2020 (19:45)
Station Tag: Kechki/KCKI added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Dec 05 2020 (19:45)
Station Tag: Barwadih Junction/BRWD added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Palamu/Latehar : कोरोना काल के बीच आम लोगों के लिए सवारी ट्रेनों का परिचालन की शुरुआत की गयी थी, लेकिन सीआईसी सेक्शन से गुजरने वाली किसी भी ट्रेन का ठहराव धनबाद रेल मंडल के महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशनों बरवाडीह, केचकी, छिपादोहर में नहीं दिया गया.
वहीं इस स्टेशनों पर ट्रेन ठहराव को लेकर चतरा सांसद, विधायक के द्वारा रेल मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखा गया. इसके बावजूद अब तक किसी स्तर से सार्थक परिणाम नहीं निकला.
इस बात से आक्रोशित लोगों ने ट्रेन के ठहराव को लेकर आंदोलन करने के लिए शनिवार
...
more...
को पुराने ब्लॉक परिसर बैठक की. बैठक के बाद मांगों से संबंधित ज्ञापन स्टेशन कर्मियों को सौंपा गया.
मांग पूरी होने पर ये होगी आगामी रणनीति
मौके पर सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ-साथ धनबाद रेल मंडल के डीआरएम, स्थानीय सांसद और विधायक के नाम बीडीओ राकेश सहाय और रेलवे स्टेशन प्रबंधक अनिल कुमार द्विवेदी को ज्ञापन दिया जायेगा.
साथ ही 10 दिसंबर को ट्रेन के ठहराव कराने की मांग को लेकर रेलवे स्टेशन परिसर बरवाडीह में एक दिवसीय धरना सह उपवास कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. अगर मांगें नहीं मानी गयीं तो 15 दिसम्बर को रेल चक्का जाम किया जाएगा.
मांगें पूरी नहीं होने तक आंदोलन जारी रखने की भी चेतावनी दी गयी. सामाजिक कार्यकर्ता कन्हाई सिंह ने कहा कि क्षेत्र के लोगों के साथ रेल सेवा के नाम पर अनदेखी किसी हालत में बर्दाश्त नहीं की जायेगी.
मौके पर इनका रहा योगदान
ज्ञापन सौंपने वालों में दिलीप सिंह यादव, पलामू प्रमंडल के समन्वयक हिमांशु गुप्ता, रिक्की, आजसू पार्टी के जिला संयोजक वीरेंद्र ठाकुर, झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता और व्यवसायिक संघ के उपाध्यक्ष गुलाम अनवर, गुलाम असगर, साजन सिंह, प्रभाकर दीपक राज, दीपू, हर्षित सिंह, आविनाश कुमार, नमित सिंह चैहान, अजय कुमार, वारिस खान सुबोध सोनी, विनोद पासवान, गौतम पांड, जैकी चंद्रा, फिरोज अहमद, सतीश कुमार यादव, पुनीत सिंह अन्य शामिल थे.
Oct 11 2020 (06:31) शक्तिपुंज ठहराव की सांसद की मांग भी हुआ बेअसर (m.livehindustan.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
19488 views

News Entry# 420988  Blog Entry# 4742110   
  Past Edits
Oct 11 2020 (06:31)
Station Tag: Chhipadohar/CPDR added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 11 2020 (06:31)
Station Tag: Latehar/LTHR added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 11 2020 (06:31)
Station Tag: Barwadih Junction/BRWD added by Anupam Enosh Sarkar/401739
बरवाडीह ,लातेहार और छिपादोहर स्टेशन पर शक्तिपुंज एक्सप्रेस का ठहराव की सांसद सुनील सिंह की मांग अभी तक बेअसर साबित हुआ है। उनकी इस मांग को अभी तक रेल मंत्रालय और रेलवे विभाग के जीएम ने गम्भीरता से नही लिया है। तभी तो उन स्टेशनों पर शक्तिपुंज एक्सप्रेस के ठहराव में देरी की जा रही है। जबकि शक्तिपुंज एक्सप्रेस का परिचालन सात अक्टूबर से आरम्भ हो गया है। इस ट्रेन के आरम्भ होने एक सप्ताह पहले 30 सितम्बर को ही क्षेत्र के सांसद सुनील सिंह ने शक्तिपुंज एक्सप्रेस का ठहराव इन स्टेशनो पर करने के लिए रेल मंत्री पीयूष गोयल,पूर्व मध्य रेलवे के जीएम और जबलपुर के जीएम को पत्र लिखकर मांग की थी। उन्हें अवगत भी पत्र के माध्यम से करते हुए कहा कि मेरे इस संसदीय क्षेत्र बरवाडीह , लातेहार और छिपादोहर स्टेशन पर इस एक्सप्रेस का...
more...
ठहराव नही किया गया है। जबकि पूर्व में इस एक्सप्रेस का ठहराव उन स्टेशनों पर था। इसके अलावे बरवाडीह स्टेशन और बीडीओ को भी स्थानीय लोगो ने ज्ञापन सौंप कर शक्तिपुंज के ठहराव की मांग कर चुके हैं,लेकिन बावजूद सांसद सहित स्थानीय लोगो की इस मांग को पूरा अभी तक करना जरूरी नही समझा गया है,जो इस क्षेत्र की जनता के साथ सौतेला व्यवहार जैसा प्रतीत हो रहा है। बताते चलें कि करीब सात महीने के बाद जब एक एक्सप्रेस शक्तिपुंज का परिचालन सात अक्टूबर से आरम्भ भी किया गया तो इस क्षेत्र के लोगो को यात्री ट्रेन की सेवा लाभ से वंचित कर दिया गया है।

Rail News
11881 views
Oct 11 2020 (19:09)
Babai~   813 blog posts
Re# 4742110-1            Tags   Past Edits
Bahut badiya . Stoppages restore bhi nahi hona chahiye . Agar aisa krke har 10-15 km mein Exp train rukne lage toh isse accha MEMU train chalwa do.
Sep 30 2020 (07:46) बरकाकाना- बरवाडीह रेलखंड पर कोयला लदी मालगाड़ी दो हिस्से में बंटी, दो घंटे तक परिचालन ठप (m.jagran.com)
Major Accidents/Disruptions
ECR/East Central
0 Followers
18734 views

News Entry# 419896  Blog Entry# 4729007   
  Past Edits
Sep 30 2020 (07:47)
Station Tag: Chhipadohar/CPDR added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 30 2020 (07:47)
Station Tag: Barwadih Junction/BRWD added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 30 2020 (07:47)
Station Tag: Barkakana Junction/BRKA added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 30 2020 (07:47)
Station Tag: Latehar/LTHR added by Adittyaa Sharma/1421836
लातेहार (जासं) । बरकाकाना- बरवाडीह रेलखंड पर बरवाडीह से छिपादोहर के बीच मंगलवार की शाम कोयले से लदी चलती अप मालगाड़ी नकल टूटने से हिस्से में बंट गई। इससे मालगाड़ी दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल -बाल बच गई। दो हिस्से में मालगाड़ी बंटने के कारण दो घंटे तक अप लाइन पर मालगाड़ियों का परिचालन ठप रहा। बरवाडीह के स्टेशन अधीक्षक एके द्विवेदी ने बताया कि शिवपुर स्टेशन से उक्त मालगाड़ी कोयला लेकर यूपी के लपंगा स्टेशन के पावर प्लांट के लिए जा रही थी।
छिपादोहर स्टेशन से गुजरने के बाद पोल संख्या 255/ 25 के पास अचानक मालगाड़ी के बीच का नकल टूट गया और आगे के इंजन से कोयले का 30 वैगन अलग हो गया। किसी तरह मालगाड़ी को ब्रेक लगाकर
...
more...
रोका गया। इसकी सूचना मिलने पर मैं और यार्ड मास्टर अरुण कुमार, आरओएच रेल कर्मियों की टीम के साथ स्थल पर पहुंचे। इसके बाद टूटे हुए नकल को मालगाड़ी से बाहर निकाला गया और नया नकल मालगाड़ी में लगाया गया। उन्होंने बताया कि नकल लगाने के बाद मालगाड़ी को बरवाडीह लाकर गंतव्य की ओर रवाना किया गया।
उन्होंने कहा कि समय रहते नकल टूटने से मालगाड़ी को दो हिस्से में बंटने के बाद रोक लिया गया तो अन्यथा बड़ी रेल दुर्घटना हो सकती थी। बरवाडीह -छिपादोहर के बीच मालगाड़ी के टूटे नकल की गुणवत्ता की जांच रेल विभाग के द्वारा की जाएगी। स्टेशन अधीक्षक एके द्विवेदी ने बताया कि टूटे हुए नकल को स्टेशन में सुरक्षित रखा गया है। उक्त नकल किस कारण कमजोर होकर टूटा, इसकी विभागीय स्तर पर जांच की जाएगी।
डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस
सनराइज़र्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को 15 रनों से हराया
राजस्थान vs कोलकाता
30-Sep-2020
Active:9,47,447
Death:96,336
Sep 03 2020 (04:19) Jharkhand News: हिरणों की मौत से चेते वनकर्मी, थामेंगे ट्रेनों की रफ्तार (m.jagran.com)
IR Affairs
ECR/East Central
0 Followers
17718 views

News Entry# 417453  Blog Entry# 4703140   
  Past Edits
Sep 03 2020 (04:19)
Station Tag: Kokpara/KKPR added by TATA JAT Express Will Run Independently/1421836

Sep 03 2020 (04:19)
Station Tag: Chakulia/CKU added by TATA JAT Express Will Run Independently/1421836

Sep 03 2020 (04:19)
Station Tag: Kechki/KCKI added by TATA JAT Express Will Run Independently/1421836

Sep 03 2020 (04:19)
Station Tag: Barkakana Junction/BRKA added by TATA JAT Express Will Run Independently/1421836

Sep 03 2020 (04:19)
Station Tag: DaltonGanj/DTO added by TATA JAT Express Will Run Independently/1421836

Sep 03 2020 (04:19)
Station Tag: Chhipadohar/CPDR added by TATA JAT Express Will Run Independently/1421836

Sep 03 2020 (04:19)
Station Tag: Chhipadohar/CPDR added by TATA JAT Express Will Run Independently/1421836

Sep 03 2020 (04:19)
Station Tag: Latehar/LTHR added by TATA JAT Express Will Run Independently/1421836
मेदिनीनगर (पलामू) जासं । पलामू व्याघ्र परियोजना क्षेत्र में 31 अगस्त को मालगाड़ी की चपेट में आने से छह हिरणों (दो गर्भस्थ शावकों समेत) की कटकर मौत हो जाने के बाद अब वन विभाग इस मुद्दे पर गंभीर हो गया है। वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए विभाग ने एक साथ कई कदम उठाए जाने का निर्णय लिया है। पलामू व्याघ्र परियोजना से होकर गुजरने वाली ट्रेनों की रफ्तार नियंत्रित करने के लिए जहां ट्रेन रफ्तार मापक यंत्र लगाए जाएंगे।
वहीं वन क्षेत्र के कई इलाकों से रेल पटरी हटाने के लिए भी रेलवे को प्रस्ताव भेजा जाएगा। फिलहाल ट्रेन रफ्तार मापक यंत्र के जरिए 11.5 किलोमीटर लंबी रेल पटरी की निगरानी की योजना को शीघ्र अमल में लाने की तैयारी है। क्षेत्र
...
more...
में 20 किलोमीटर से अधिक रफ्तार से ट्रेन चलाने पर चालकों, रेलवे कर्मचारियों व पदाधिकारियों पर वन विभाग कानूनी कार्रवाई भी करेगा। पलामू व्याघ्र परियोजना के निदेशक वाइ के दास ने बुधवार को बताया कि स्पीड मापक यंत्र (स्पीडोमीटर) के साथ क्षेत्र में वन सुरक्षा कर्मचारी तैनात किए जाएंगे।
ये समय-समय पर क्षेत्र से गुजरने वाली ट्रेनों की रफ्तार मापेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व में वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए बैरिकेडिंग की गई थी, लेकिन यह प्रयोग सफल नहीं रहा। इसमें फंसने के बाद जानवर भाग नहीं पाते थे। इसलिए बैरिकेडिंग हटा दी गई। उन्होंने बताया कि रेलवे को प्रस्ताव भेजा जाएगा कि लातेहार के छिपादोहर जंगल के बीच से रेल पटरी हटा कर दूसरी तरफ कर दी जाए। इसमें भले ही राशि खर्च होगी, लेकिन यह परियोजना क्षेत्र काफी सुरक्षित हो जाएगा।
31 अगस्त की सुबह 5.30 से छह बजे के बीच डालटनगंज-बरकाकाना रेल खंड के केचकी रेलवे स्टेशन के पास मालगाड़ी की चपेट में आने से एक नर व तीन मादा हिरणों की मौत हो गई थी। इनमें दो मादा हिरण गर्भवती थीं। दुर्घटना में मौके पर ही एक गर्भवती हिरण का बच्चा पेट से बाहर निकल आया था, जबकि दूसरी गर्भवती हिरण का पोस्टमार्टम कर एक बच्चा निकाला गया था। परियोजना के रेंजर ने लातेहार के बरवाडीह थाने में वन्य अधिनियम 1972 के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसमें चालक व गार्ड समेत 10 लोग आरोपित बनाए गए हैं।
वन विभाग ने धनबाद डीआरएम से की बैठक बुलाने की मांग
उधर, परियोजना के उपनिदेशक कुमार आशीष ने बताया कि धनबाद रेलमंडल के डीआरएम को घटना की जानकारी दी गई है। उन्हें पत्र भेजा गया है। वन विभाग व रेलवे की साझा बैठक बुलाने की मांग की गई है। इसमें विभिन्न बिंदुओं पर सुझाव रखे जाएंगे।
बोले विशेषज्ञ
ट्रेनों की गति नियंत्रित करने के साथ लगातार हॉर्न भी बजाएं चालक वन्य प्राणी विशेषज्ञ डॉ. डीएस श्रीवास्तव ने कहा कि परियोजना क्षेत्र के जानवरों की इस तरह मौत चिंता की बात है। रेलवे को ट्रेनों की गति नियंत्रित करते हुए जंगल क्षेत्र से गुजरते समय लगातार हॉर्न बजाते रहना चाहिए। साथ ही वन विभाग के अधिकारी अपने स्तर से ऐसी घटनाएं रोकने के लिए जरूरी कदम उठाएं।
क्या कहता है भारतीय वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972
- केंद्र सरकार ने 1972 में भारतीय वन्य जीव संरक्षण अधिनियम पारित किया था। यह अधिनियम जंगली जानवरों, पक्षियों व पौधों को संरक्षण प्रदान करता है। इसमें कुल छह अनुसूची है, जो अलग-अलग तरह से सुरक्षा प्रदान करता है।
- वर्ष 2003 में संशोधित कर इसका नाम भारतीय वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 2002 रखा गया। इसमें दंड व जुर्माना और कठोर कर दिया गया। 
- अनुसूची-1 व अनुसूची-2 के द्वितीय भाग वन्यजीवन को पूर्ण सुरक्षा प्रदान करते हैं। इनके तहत अपराधों के लिए उच्चतम दंड निर्धारित है। इसके तहत कम से कम तीन वर्ष जेल की सजा हो सकती है। इसे सात वर्ष की अवधि के लिए बढ़ाया जा सकता है। कम से कम जुर्माना 10 हजार रुपये और अधिकतम 25 हजार रुपये है। दूसरी बार अपराध करने पर तीन साल जेल का प्रावधान है।
वर्ष 2005 में गोइलकेरा-मनोहरपुर रेल खंड पर कराई गई थी पटरी की घेराबंदी
उधर, चक्रधरपुर रेल मंडल में भी ट्रेन से हाथियों के कटकर मरने की घटनाएं होती रही हैं। पोसैता गोइलकेरा रेलखंड पर वर्ष 2000 में चार हाथी कट कर मर गए थे। इसी वर्ष अहमदाबाद-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस से डेरोवां व सारंडा रेलवे सुरंग के बीच तीन हाथी चपेट में आ गए थे। तीनों की मौत हो गई थी। दूसरे दिन हाथियों ने उसी ट्रेन को हावड़ा से लौटने के क्रम में घेर लिया था।
इसमें एक और हाथी की मौत हो गई थी। चालक व गार्ड ट्रेन छोड़ कर भाग गए थे। इससे पूर्व सारंडा रेलवे सुरंग में वर्ष 1993 में हावड़ा-कुर्ला ट्रेन की चपेट में आने से एक हाथी की मौत हो गई थी। इन घटनाओं से सबक लेते हुए केंद्रीय वन मंत्रालय ने वर्ष 2005 में गोइलकेरा मनोहरपुर रेलखंड को एलिफेंट जोन घोषित कर पटरी के दोनों ओर लोहे का घेरा बना दिया था।
उधर, चाकुलिया वन क्षेत्र अंतर्गत चाकुलिया व कोकपाड़ा स्टेशन के बीच 26 फरवरी, 2020 को ट्रेन से कट तीन जंगली हाथियों की मौत हो गई थी। इस मामले में वन विभाग ने रेलवे पर कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई। रेलवे ने जंगल से गुजरने वाली ट्रेनों की रफ्तार कम कर दी थी।
डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस
Active:8,01,340
Death:66,333
Page#    Showing 1 to 10 of 10 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy