Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Shan-e-Bhopal - तेरी खूबसूरती से नजर नही हटती, नजारे हम क्या देखें - ललितपुरी रेलफैन

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sat Jul 31 02:44:58 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 1555496-0

DLW/Dilwa (2 PFs)
دیلوا     दिलवा

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Delwa, Distt.- Hazaribagh, Pin - 805125
State: Jharkhand

Elevation: 345 m above sea level
Zone: ECR/East Central   Division: Dhanbad

No Recent News for DLW/Dilwa
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 10
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: NaN/5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 12 of 12 News Items  
Jul 05 (13:52) सेमी हाईस्पीड ट्रेन दौड़ाने के लिए झारखंड के कोडरमा में ट्रैकों को किया जा रहा दुरुस्त (m.jagran.com)
IR Affairs
ECR/East Central
0 Followers
8811 views

News Entry# 458291  Blog Entry# 5005183   
  Past Edits
Jul 05 2021 (13:52)
Station Tag: Gurpa/GAP added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 05 2021 (13:52)
Station Tag: Dilwa/DLW added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 05 2021 (13:52)
Station Tag: Koderma Junction/KQR added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Koderma Junction/KQR   Gurpa/GAP   Dilwa/DLW  
ग्रैंड कॉर्ड सेक्सन में 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से सेमी हाईस्पीड ट्रेन चलाने की तैयारी जोरशोर से शुरू हो गई है। रेलवे की योजना 2024 तक हावड़ा से नई दिल्ली तक 160 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेनों को चलाने की है।
झुमरीतिलैया, (कोडरमा), [अरविंद चौधरी]। ग्रैंड कॉर्ड सेक्सन में 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से सेमी हाईस्पीड ट्रेन चलाने की तैयारी जोरशोर से शुरू हो गई है। रेलवे की योजना 2024 तक हावड़ा से नई दिल्ली तक 160 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेनों को चलाने की है। इसी के मद्देनजर गझंडी में पिछले कई दिनों से रेल ट्रैक पर से पुराने पत्थरों को हटाकर मशीन के जरिए नए पत्थर लगाए जा रहे हैं, ताकि पटरी दुरुस्त हो
...
more...
सके। इसके लिए प्रतिदिन दोपहर 3 बजे के बाद से तीन घंटे का ब्लॉक लिया जा रहा है। इस समय काफी कम यात्री ट्रेनों के गुजरने का समय है। इसी बात को ध्यान में रखकर इस समय का चयन किया गया है।
हालांकि मेगा ब्लॉक के कारण कई मालगाड़ियां प्रभावित हो रही है। रेलवे अभियंताओं के अनुसार प्रतिदिन 300 मीटर तक ट्रैक को दुरुस्त करने का काम किया जा रहा है। वहीं आनेवाले दिनों में गझंडी स्टेश के पूर्वी व पश्चिमी केबिन में पुराने लीवर पैनल को बदलकर नए केंद्रीयकृत लीवर पैनल लगाए जा रहे हैं। इससे मैन्यूअल काम करनेवाले कर्मी पर निर्भरता भी कम होगी। अभियंताओं के अनुसार गझंडी के पूर्वी व पश्चिमी केबिन में वर्तमान में 8 एसएम तीन शिफ्ट में ड्यूटी करते हैं। केंद्रीयकृत पैनल व्यवस्था लागू होने के बाद एक स्टेशन मास्टर सीमित कर्मचािरियों के जरिये ट्रेनों का परिचालन करा सकेंगे। वहीं ट्रेनों को मेन लाइन व लूप लाइन में सीधे आवागमन हो सकेगा। इधर कार्य को लेकर गंझंडी में सहायक मंडल अभियंता एनएन दिवाकर, पीडब्ल्यूआइ इंचार्ज राजेश कुमार, आनंद मोहन के अलावा 30 कर्मचारी लगे हैं।
चुनौतीपूर्ण होगा घाट सेक्सन में 160 किमी की रफ्तार से परिचालन
दिलवा से गुरपा तक घाट सेक्सन में 160 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेनों का परिचालन करना रेलवे के लिए काफी चुनौती पूर्ण होगा। जंगलों व पहाड़ों के बीच यहां तीन रेलवे सुरंग हैं। बारिश के दिनों में अक्सर यहां चट्टान खिसकने की घटनाएं होती है। इसके लिए रेलवे में मंथन शुरू हो गया है। वर्तमान में यहां ट्रेनों की गतिसीमा कम हो जाती है।
ऊंची पहाड़ी और नक्सलियों की चहल कदमी से यह इलाका दुर्गम है। लेकिन इस स्‍टेशन से यात्रा रोमांचक व सुहाना हाेता है। नवादा जिले का यह रेलवे स्‍टेशन बिहार और झारखंड के बीच बटा है। डेलवा स्‍टेशन साझी संस्कृति के रूप में जाना जाता है।


रजौली (नवादा), राहुल कुमार। नवादा जिले के रजौली प्रखंड के हरदिया पंचायत में दिलवा (प्रचलित नाम डेलवा
...
more...
) स्टेशन है। इस स्टेशन की अनोखी और दिलचस्प कहानी है। इस स्टेशन का एक रेलवे ट्रैक बिहार के नवादा जिले में है, तो दूसरा ट्रैक झारखंड के कोडरमा जिले में है। यह स्टेशन पर बिहार-झारखंड की सीमा एक दूसरे से मुलाकात करती है,और कुछ दूर पर अलग भी हो जाती है। इससे काफी आकर्षण पैदा होता है। गया से धनबाद की ओर जाने वाली यह रेलखंड ग्रैंड कार्ड के नाम से जानी जाती है।

एक कदम बिहार में दूसरा झारखंड में

डेलवा रेलवे स्टेशन से गुजरने वाली रेलवे लाइन दो राज्यों के बीच बंटती है। बिहार के गया की ओर से आने वाले यात्रियों के कदम बिहार के नवादा जिले के रेलवे स्टेशन पर उतरता है, तो वहीं अगर झारखंड के धनबाद की ओर से इस स्‍टेशन पर आते हैं, तो यात्रियों के कदम झारखंड की सीमा में उतरता है। अगर इस स्टेशन पर आप मूंगफली खरीदने के लिए भी इधर-उधर घूम गए तो दूसरे राज्य में आप प्रवेश कर जाएंगे।

 सफर होता है रोमांचक और सुहाना

 इस स्टेशन पर पहुंचने के लिए नवादा जिले के रजौली प्रखंड के लोगों को दुर्गम रास्ता का सहारा लेना पड़ता है। यहां 24 घंटा नक्सलियों का खतरा होता है। क्योंकि स्टेशन के पास ही घने जंगल और ऊंचे-ऊंचे पहाड़ी इलाके हैं। इस स्टेशन से ट्रेन से गुजरने वाले यात्रियों खासकर बच्चों के लिए सफर बड़ा रोमांचक और सुहाना हो जाता है। क्योंकि जंगल और पहाड़ के बीच से जब ट्रेन गुजरती है,तो यात्री काफी सुकून महसूस करते हैं। इस रेलवे ट्रैक पर कई गुफाएं भी हैं, जिसके बीच से सड़क बनाया गया है। दो राज्यों के बीच बंटा स्टेशन खास आकर्षण पैदा करता है। यह एक ऐतिहासिक क्षेत्र है, जहां बोर्ड लगाकर रेलवे ने झारखंड और बिहार की सीमा तय किया है।

बताते चलें कि इस स्टेशन से नवादा जिले के रजौली प्रखंड के डेलवा, नावाडीह, झराही और चोरडीहा गांव नजदीक पड़ता है। इसके अलावा इस स्टेशन से सभी गांव काफी दूर है। अधिकांश लोगों को तो यह भी नहीं पता है, कि बिहार में एक ऐसा भी रेलवे स्टेशन है।

Rail News
7154 views
Jul 17 (21:54)
Viper587
Rajdhani_in_KG_line~   964 blog posts
Re# 5003235-1            Tags   Past Edits
This is great piece of article that sums up the unique geographical location of this beautiful station
Jun 24 (15:10) एक ऐसा रेलवे स्टेशन जो है दो राज्यों की सीमा में, अप लाइन झारखंड तो डाउन लाइन बिहार में; जानें (m-jagran-com.cdn.ampproject.org)
0 Followers
4927 views

News Entry# 457088  Blog Entry# 4994029   
  Past Edits
Jun 24 2021 (15:21)
Station Tag: Dilwa/DLW added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688
Stations:  Dilwa/DLW  
Jharkhand Koderma News, [अनूप कुमार]। दोनों तरफ घने जंगल व वनाच्छादित पहाड़। प्रकृति की शांत व सुरम्य वादियों के बीच से गुजरती देश की सबसे महत्वपूर्ण हावड़ा-नई दिल्ली ग्रैंड कार्ड सेक्‍शन रेलवे लाइन। बिहार के गया जंक्शन से झारखंड के कोडरमा में आने के दौरान गुरपा स्टेशन पार करते ही करीब दो-तीन किलोमीटर की दूरी के अंतराल पर इन्हीं पहाड़ों के बीच से ट्रेन तीन सुरंगों से होकर गुजरती है। अंतिम सुरंग पार करते ही आता है एक छोटा सा रेलवे स्टेशन दिलवा। भौगोलिक दृष्टिकोण से इस स्टेशन की स्थिति बड़ी अजीबोगरीब है।
यहां से गुजरनेवाली ग्रैंड कार्ड रेलवे लाइन दो राज्यों की सीमा में है। स्टेशन पर अप लाइन और अप लूप लाइन झारखंड की सीमा में है, जबकि डाउन लाइन
...
more...
और डाउन लूप लाइन बिहार राज्य की सीमा में। डाउन लाइन के बगल में स्टेशन का भवन है जो बिहार राज्य में पड़ता है। यहां दोनों लाइन के बीच में दोनों राज्यों की सीमा का बोर्ड भी लगा है। इसमें तीर के निशान से एक तरफ झारखंड और दूसरी तरफ बिहार की सीमा दर्शाई गई है।
बिहार में यह नवादा जिलांतर्गत रजौली थाना की सीमा को छूता है। वहीं दूसरी तरफ झारखंड के कोडरमा जिलांतर्गत चंदवारा की थाना की सीमा को। स्टेशन के करीब 600 मीटर की दूरी पर ऊंची पहाड़ी को काटकर ब्रिटिश शासन काल के दौरान ही यह सुरंग बना था। सुरंग में से केवल दो लाइन गुजरती है। यहां अप लाइन झारखंड की सीमा में और डाउनलाइन बिहार की सीमा में है। लेकिन सुरंग को पार करते ही बिहार के गया जिला की सीमा शुरू हो जाती है। दिलवा स्टेशन से 3.89 किमी की दूरी पर नाथगंज हाल्ट बिहार के गया जिला में पड़ता है।
दिलवा के स्टेशन मास्टर प्रवीण कुमार बताते हैं कि दो राज्यों की सीमा पर होने के कारण किसी तरह की घटना होने पर दोनों राज्यों की पुलिस पहुंच जाती है और कहीं-कहीं सीमा का निर्धारण एक चुनौती बन जाती है। फिलहाल यहां स्टेशन के बगल में ही कोडरमा तिलैया रेलवे लाइन का कार्य चल रहा है, जिसकी ब्लास्टिंग के कारण पत्थर के टुकड़े स्टेशन भवन पर आकर गिरते हैं। इससे स्टेशन भवन कई जगहों पर क्षतिग्रस्त हो गया है। स्थानीय पोर्टर व रेलकर्मियों के अनुसार पूर्व में यहां आसपास के इलाके में उग्रवादियों का बसेरा होता था, लेकिन अब वैसी बात नहीं है।
दो दर्जन गांवों के लोगों के आवागमन का साधन है रेल
वैसे तो दिलवा स्टेशन पर मात्र दो पैसेंजर ट्रेन का ही ठहराव है। इनमें आसनसोल-वाराणसी पैसेंजर और धनबाद-गया ईएमयू पैसेंजर। गया-धनबाद इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का ठहराव केवल अप लाइन में है। यानी इससे केवल धनबाद की ओर जा सकते हैं। यह सुविधा मुख्यत: रेलकर्मियों के लिए दी गई है। स्टेशन के आसपास बिहार व झारखंड के करीब दो दर्जन छोटे-छोटे गांव अवस्थित हैं। यहां के लोगों के लिए आने-जाने का एकमात्र साधन रेलवे ही है। यहां ठहरने वाले पैसेंजर ट्रेनों के माध्यम से ही लोग कोडरमा स्टेशन आते-जाते हैं।
स्थानीय भाजपा नेता और लंबे समय से इलाके में राजनीति कर रहे चंद्रभूषण साव बताते हैं कि यहां रेलवे लाइन के एक तरफ चंदवारा (झारखंड) का बेंदी पंचायत है। बेंदी पंचायत के घोड़टप्पी, बेंदी, सिंदरी, ओकरचुआं, चोरीचट्टान, बोंगादाग जैसे गांव स्टेशन के आसपास हैं। दूसरी तरफ बिहार के रजौली प्रखंड का हल्दिया पंचायत का दिलवा, चोरडीहा, नावाडीह, झराही जमुंदाहा जैसे गांव हैं। लोगों की आजीविका का मुख्य साधन जंगल से माइका चुनना और लकड़ी चुनना है।
Jharkhand Koderma News Railway Updates हावड़ा-नई दिल्ली ग्रैंड कार्ड सेक्‍शन का दिलवा रेलवे स्टेशन दो राज्यों की भौगोलिक सीमा में स्थित है। दोनों लाइन के बीच सीमा का बोर्ड गड़ा हुआ है। स्टेशन के करीब 600 मीटर की दूरी पर सुरंग बना हुआ है।


कोडरमा, [अनूप कुमार]। दोनों तरफ घने जंगल व वनाच्छादित पहाड़। प्रकृति की शांत व सुरम्य वादियों के बीच
...
more...
से गुजरती देश की सबसे महत्वपूर्ण हावड़ा-नई दिल्ली ग्रैंड कार्ड सेक्‍शन रेलवे लाइन। बिहार के गया जंक्शन से झारखंड के कोडरमा में आने के दौरान गुरपा स्टेशन पार करते ही करीब दो-तीन किलोमीटर की दूरी के अंतराल पर इन्हीं पहाड़ों के बीच से ट्रेन तीन सुरंगों से होकर गुजरती है। अंतिम सुरंग पार करते ही आता है एक छोटा सा रेलवे स्टेशन दिलवा। भौगोलिक दृष्टिकोण से इस स्टेशन की स्थिति बड़ी अजीबोगरीब है।.
यहां से गुजरनेवाली ग्रैंड कार्ड रेलवे लाइन दो राज्यों की सीमा में है। स्टेशन पर अप लाइन और अप लूप लाइन झारखंड की सीमा में है, जबकि डाउन लाइन और डाउन लूप लाइन बिहार राज्य की सीमा में। डाउन लाइन के बगल में स्टेशन का भवन है जो बिहार राज्य में पड़ता है। यहां दोनों लाइन के बीच में दोनों राज्यों की सीमा का बोर्ड भी लगा है। इसमें तीर के निशान से एक तरफ झारखंड और दूसरी तरफ बिहार की सीमा दर्शाई गई है।

बिहार में यह नवादा जिलांतर्गत रजौली थाना की सीमा को छूता है। वहीं दूसरी तरफ झारखंड के कोडरमा जिलांतर्गत चंदवारा की थाना की सीमा को। स्टेशन के करीब 600 मीटर की दूरी पर ऊंची पहाड़ी को काटकर ब्रिटिश शासन काल के दौरान ही यह सुरंग बना था। सुरंग में से केवल दो लाइन गुजरती है। यहां अप लाइन झारखंड की सीमा में और डाउनलाइन बिहार की सीमा में है। लेकिन सुरंग को पार करते ही बिहार के गया जिला की सीमा शुरू हो जाती है। दिलवा स्टेशन से 3.89 किमी की दूरी पर नाथगंज हाल्ट बिहार के गया जिला में पड़ता है।

दिलवा के स्टेशन मास्टर प्रवीण कुमार बताते हैं कि दो राज्यों की सीमा पर होने के कारण किसी तरह की घटना होने पर दोनों राज्यों की पुलिस पहुंच जाती है और कहीं-कहीं सीमा का निर्धारण एक चुनौती बन जाती है। फिलहाल यहां स्टेशन के बगल में ही कोडरमा तिलैया रेलवे लाइन का कार्य चल रहा है, जिसकी ब्लास्टिंग के कारण पत्थर के टुकड़े स्टेशन भवन पर आकर गिरते हैं। इससे स्टेशन भवन कई जगहों पर क्षतिग्रस्त हो गया है। स्थानीय पोर्टर व रेलकर्मियों के अनुसार पूर्व में यहां आसपास के इलाके में उग्रवादियों का बसेरा होता था, लेकिन अब वैसी बात नहीं है।

दो दर्जन गांवों के लोगों के आवागमन का साधन है रेल
वैसे तो दिलवा स्टेशन पर मात्र दो पैसेंजर ट्रेन का ही ठहराव है। इनमें आसनसोल-वाराणसी पैसेंजर और धनबाद-गया ईएमयू पैसेंजर। गया-धनबाद इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का ठहराव केवल अप लाइन में है। यानी इससे केवल धनबाद की ओर जा सकते हैं। यह सुविधा मुख्यत: रेलकर्मियों के लिए दी गई है। स्टेशन के आसपास बिहार व झारखंड के करीब दो दर्जन छोटे-छोटे गांव अवस्थित हैं। यहां के लोगों के लिए आने-जाने का एकमात्र साधन रेलवे ही है। यहां ठहरने वाले पैसेंजर ट्रेनों के माध्यम से ही लोग कोडरमा स्टेशन आते-जाते हैं।

स्थानीय भाजपा नेता और लंबे समय से इलाके में राजनीति कर रहे चंद्रभूषण साव बताते हैं कि यहां रेलवे लाइन के एक तरफ चंदवारा (झारखंड) का बेंदी पंचायत है। बेंदी पंचायत के घोड़टप्पी, बेंदी, सिंदरी, ओकरचुआं, चोरीचट्टान, बोंगादाग जैसे गांव स्टेशन के आसपास हैं। दूसरी तरफ बिहार के रजौली प्रखंड का हल्दिया पंचायत का दिलवा, चोरडीहा, नावाडीह, झराही जमुंदाहा जैसे गांव हैं। लोगों की आजीविका का मुख्य साधन जंगल से माइका चुनना और लकड़ी चुनना है।
L
Jun 18 (18:46) ठेके पर रेल टिकट बेचने के लिए निकला टेंडर (www.livehindustan.com)
IR Affairs
ECR/East Central
0 Followers
42003 views

News Entry# 456448  Blog Entry# 4989006   
  Past Edits
Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Kansar Nawadah/KSNA added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Karmahat/KMHT added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Phaphrakund/PPKD added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Krishnashilla/KRSL added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Khuldil Road/KDRD added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Kuju/KUJU added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Charhi/CHRI added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Gurmura/GMX added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Dumri Bihar/DMBR added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Chaudhribandh/CDB added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Jharokhas/JRQ added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Jogidih/JGF added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Dilwa/DLW added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Chainpur/CNPR added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Bhandaridah/BHME added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Rakhitpur/RKJE added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Sindri Block Hut/SDBH added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Bansjora/BZS added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 18 2021 (18:46)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by Adittyaa Sharma/1421836
धनबाद।
धनबाद रेल मंडल के स्टेशनों पर रेल टिकट बेचने का काम तेजी से निजी हाथों को सौंपा जा रहा है। धनबाद डिवीजन के 22 छोटे स्टेशनों पर रेल टिकट बेचने के लिए टेंडर आमंत्रित किया गया है। टेंडर भरने के इच्छुक चार जुलाई तक आवेदन दे सकते हैं। पांच जुलाई को टेंडर ओपन होगा। स्टेशन टिकट बुकिंग एजेंटों के बहाल होने पर टिकट बेचने का पूरा अधिकार उन्हें ही दे दिया जाएगा। रेलवे ने बांसजोड़ा, सिंदरी ब्लॉक हाल्ट, रखितपुर, भंडारीदह, चैनपुर, दिलवा, जोगीडीह, झरोखास, चौधरीबांध, डुमरीविहार, गुरमुरा, चरही, कुजू, खुलदिल रोड, कृष्णशीला, फफराकुंड, कर्माहाट, कंसार नवादा आदि हाल्टों के लिए निविद आमंत्रित की है।
...
more...
Page#    Showing 1 to 12 of 12 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy