Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

Kolkata Metro: The only Metro of IR. কলকাতা মেট্রো : তিলোত্তমার জীবন রেখা ।। - PPG

Full Site Search
  Full Site Search  
Just PNR - Post PNRs, Predict PNRs, Stats, ...
 
Tue Jun 28 06:38:53 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 922613-0
Night Pic; Front Entrance - Outside; Large Station Board;
Entry# 1785889-0


FZR/Firozpur Cantt. Junction (6 PFs)
ਫਿਰੋਜ਼ਪੁਰ ਛਾਉਣੀ ਜੰਕਸ਼ਨ     फिरोज़पुर छावनी जंक्शन

Track: Construction - Single-Line Electrification

Show ALL Trains
Jn point - BTI/JUC/LDH/FZP , Station Road Near Mittal Chowk, Firozpur Cantt 152001
State: Punjab


Zone: NR/Northern   Division: Firozpur

No Recent News for FZR/Firozpur Cantt. Junction
Nearby Stations in the News
Type of Station: Junction
Number of Platforms: 6
Number of Halting Trains: 10
Number of Originating Trains: 20
Number of Terminating Trains: 20
1 Follows
Rating: 3.8/5 (72 votes)
cleanliness - good (9)
porters/escalators - good (9)
food - good (9)
transportation - good (9)
lodging - good (9)
railfanning - good (9)
sightseeing - good (9)
safety - good (9)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 281 News Items  next>>
पंजाब में लगातार माहौल खराब करने की कोशिशों में शरारती तत्व लगे हैं। पिछले काफी समय से खालिस्तान समर्थक कई बार रेल रोकने की धमकियां देते रहे हैं। फिरोजपुर मंडल के रेलवे स्टेशनों को उड़ाने की धमकियां मिल चुकी हैं। आज रेलवे फिरोजपुर मंडल की DRM सीमा शर्मा के ऑफिस की दीवार पर किसी अज्ञात व्यक्ति द्व‌ारा खालिस्तान जिंदाबाद का नारा लिख दिया गया।
जैसे ही सुबह लोगों ने दीवार पर लिखा नारा पढ़ा तो पूरी डिविजन में हड़कंप मच गया। खालिस्तान जिंदाबाद के साथ-साथ SFJ भी लिखा हुआ था। SFJ (सिक्ख फार जस्टिस) द्व‌ारा अभी हाल ही में 3 जून को पत्र भेज कर कहा गया था कि वह ट्रेनें रोकेंगे। डीआरएम दफ्तर की दीवार पर खालिस्तान जिंदाबाद लिखे जाने का
...
more...
जैसे ही अधिकारियों को पता चला तो मौके पर जीआरपी और जिला पुलिस के उच्चाधिकारी पहुंचे।
सीसीटीवी की हो रही जांच
बताया जा रहा है कि मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी घटनास्थल का जायजा ले रहे हैं। दफ्तर के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। वहीं कुछ संदिग्ध लोगों की पहचान भी करने की कोशिश पुलिस हो रही है। इस घटनाक्रम के बाद डिविजन की पुलिस अलर्ट पर है। अधिकारियों ने जीआरपी और आरपीएफ को सख्त आदेश दिए हैं कि स्टेशन पर आने जाने वाले हर यात्री पर नजर रखें। जो संदिग्ध व्यक्ति लगेगा, उसकी पड़ताल की जाएगी। लिस ने घटना की जांच के बाद नारे मिटा दिए।
जीआरपी लुधियाना के खंगाला स्टेशन
जैसे ही इस घटना के बारे थाना जीआरपी और आरपीएफ लुधियाना को पता चला तो डीएसपी बलराम राणा, इंस्पेक्टर जसकरण सिंह और पोस्ट इंस्पेक्टर सेलेश कुमार ने फोर्स सहित पूरा स्टेशन खंगाला। डीएसपी बलराम राणा ने कहा कि स्टेशन पर प्रत्येक व्यक्ति की चैकिंग की जा रही है। 24 घंटे जवान तैनात हैं। स्टेशन का माहौल खराब नहीं होने देगे। चैकिंग रुटीन में चल रही है।
Jun 04 (11:36) फिरोजपुर-अमृतसर रेल ट्रैक: 121 एकड़ जमीन के लिए जारी नोटिस पर भड़के किसान, मार्केट से चार गुणा ज्यादा दाम देने की मांग (www.google.com)
0 Followers
6672 views

News Entry# 488170  Blog Entry# 5366800   
  Past Edits
Jun 04 2022 (11:36)
Station Tag: Firozpur Cantt. Junction/FZR added by भारतीय/778285

Jun 04 2022 (11:36)
Station Tag: Amritsar Junction/ASR added by भारतीय/778285
विस्तार फिरोजपुर-अमृतसर के बीच रेल पटरी बिछाई जानी है, इसके लिए पंजाब सरकार ने जिले के गांव कुतबद्दीन, दुल्ला सिंह वाला व कालेके हिठाड़ की 121 एकड़ जमीन लेनी है। इस संबंधी किसानों को नोटिस जारी किए गए हैं। उक्त नोटिस मिलने के बाद किसानों का कहना है कि सरकार उन्हें मार्केट रेट से चार गुणा ज्यादा जमीनों के दाम दे। सरकार उन्हें डीसी रेट से दो गुणा ज्यादा दाम दे रही है। जिससे किसान खुश नहीं है।विज्ञापनकिसानों का कहना है कि जमीन उनके बुजुर्गों की है, इसी से उनके परिवार का पालन-पोषण चलता है। उल्लेखनीय है कि ये प्रोजेक्ट बहुत पुराना है, पट्टी साइड से रेलवे को जमीन लगभग मिल चुकी है, सिर्फ फिरोजपुर जिले की साइड से अभी तक पंजाब सरकार रेलवे को जमीन नहीं दिलवा सकी है।किसान रविंदर सिंह वासी गांव कुतबद्दीन ने कहा कि फिरोजपुर-अमृतसर के बीच रेल पटरी बिछाई जा रही है। गांव कुतबद्दीन, दुल्ला सिंह...
more...
वाला व कालेके हिठाड़ की लगभग 121 एकड़ जमीन रेलवे को चाहिए। इसके लिए पंजाब सरकार ने किसानों को नोटिस जारी किया है। किसानों का कहना है कि लगभग चालीस घर हैं जो उक्त जमीन के बीच में आते हैं। धुस्सी बांध के अंदरूनी साइड जमीन का डीसी रेट तीन लाख 53 हजार रुपये है, जबकि धुस्सी बांध से बाहर की जमीन का डीसी रेट चार लाख 58 हजार रुपये के करीब है। सरकार उन्हें डीसी रेट से दो गुणा दाम दे रही है। किसानों की मांग है कि मार्केट रेट बीस से 25 लाख रुपये चल रहा है, इसके मुताबिक सरकार उन्हें चार गुणा दाम दे।  मल्लांवाला से घड़ियाला के बीच बिछेगा 25.7 किमी लंबा रेलवे ट्रैक मल्लांवाला और घड़ियाला के बीच 25.7 किमी लंबी रेल पटरी बिछने का कार्य शुरू हो चुका है। इसके बनते ही फिरोजपुर और अमृतसर आपस में जुड़ जाएंगे। अभी तक लोगों को ट्रेन के माध्यम से वाया जालंधर होकर अमृतसर का लगभग 185 किमी का सफर तय करना पड़ता है। नई रेल पटरी बिछने से ये दूरी महज 85 किमी के करीब रह जाएगी। यही नहीं राजस्थान सीधा जम्मू-कश्मीर से जुड़ जाएगा।जानकारी के मुताबिक वर्ष 2004 में रेलवे ने मल्लांवाला-घड़ियाला के बीच रेल पटरी बिछाने के सर्वे की अनुमति दी थी। जिला तरनतारन ने अपने हिस्से की 95.65 हेक्टेयर जमीन खरीद कर रेलवे को सौंप दी थी। जिला फिरोजपुर अपने हिस्से की 70.01 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहण कर रेलवे को सौंपने जा रहा है। उक्त जमीन फिरोजपुर के गांव मल्लांवाला, दुल्ला सिंह वाला, कुत्तबदीन व कालेके हिठाड़ से अधिग्रहित की जानी है। इस प्रोजेक्ट में कई रुकावटें आई हैं लेकिन ये प्रोजेक्ट फिरोजपुर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। हालांकि अब किसान अपनी जमीन के लिए मार्केट दाम से चार गुणा मांग रहे हैं। ये पंजाब सरकार के लिए मुसीबत खड़ी करेगा। रेल पटरी के बनने से राजस्थान और जम्मू-कश्मीर सीधे जुड़ेंगे और रोजगार के साधन बढ़ेंगे। इस ट्रैक के बनने से फिरोजपुर और अमृतसर की दूरी लगभग 85 किमी. रह जाएगी। वर्ष 2017 में उक्त प्रोजेक्ट के लिए रेलवे ने 299.74 करोड़ रुपये का बजट रखा था लेकिन अब ये कई गुणा बढ़ चुका है। तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने उक्त ट्रैक के सर्वे की अनुमति दी थी। उसके बाद इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया। फिर रेल मंत्री पवन बंसल ने उक्त ट्रैक बिछाने की हरी झंडी दी। इसके बाद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को जमीन अधिग्रहण संबंधी पत्र लिखा तो जिला तरनतारन व फिरोजपुर में जमीन अधिग्रहण का कार्य शुरू हुआ है।विज्ञापन
Jun 04 (11:35) 9 years on, Ferozepur-Patti rail link project stuck in land hurdles (www.google.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
10513 views

News Entry# 488168  Blog Entry# 5366797   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Ferozepur: Nine years after the ambitious 25.47km Ferozepur-Patti rail link project was given a green signal in the rail budget, the Punjab government has failed to acquire land required for the project.
The rail link, vital from the commercial point of view, will shorten the distance between the northern states, including Punjab and capitals of Gujarat and Maharashtra. The rail link will also shorten the distance between Ferozepur and Amritsar from 118km to 86km. It would also inter-connect the Malwa and Majha regions of Punjab and shorten the distance between Jammu and Mumbai by 267km.
People
...
more...
familiar to the matter said the state government has failed to provide land (70.1 hectares in Tarn Taran and 95.68 hectares in Ferozepur) for the project. Ferozepur deputy commissioner Girish Dayalan said notification to acquire the land has been published and the process will be completed soon.
“The then Union railway minister, Pawan Kumar Bansal, gave nod to the Ferozepur-Patti rail link in 2013, but nothing has been done so far due to indifferent attitude of the Punjab government,” said an official.
The rail link will also interconnect Srinagar, Anantnag, Udhampur, Jammu, Pathankot, Gurdaspur, Batala, Amritsar, Tarn Taran, Patti, Ferozepur, Guru Har Sahai, Jalalabad, Fazilka and Abohar to Mumbai via Sri Ganganagar (Rajasthan), which would be a boon for the people living in the border belt of Jammu and Kashmir, Punjab and Rajasthan.
“Time will be saved after the project is completed. Perishable fruits and vegetables will be delivered in Gujarat and Mumbai within 48 to 72 hours. It will also facilitate export of basmati rice and other items from this region via Kandla port in Gujarat,” said Sushil Mittal, a businessman.
“The rail link is also vital from the defence point of view as it would connect two strategically located border districts of Ferozepur and Amritsar, besides connecting them to Rajasthan, Maharashtra and Gujarat,’’ Subhash Sharma, state BJP general secretary said, demanding early acquisition of land for the project.

Rail News
9912 views
Jun 04 (11:41)
न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु
SmallTownTraveller^~   8683 blog posts
Re# 5366797-1            Tags   Past Edits
very imp project decrease distance of asr to south india

9704 views
Jun 04 (11:43)
भारतीय
mannunrw1976~   7337 blog posts
Re# 5366797-2            Tags   Past Edits
लेकिन पंजाब में शायद राजनीतिक कारणों से ये काम समय पर नहीं हो रहा है

9778 views
Jun 04 (11:46)
न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु
SmallTownTraveller^~   8683 blog posts
Re# 5366797-3            Tags   Past Edits
Center agar isko banwa deta to bahut faayda milta

Rail News
5131 views
Jun 05 (22:41)
punjabraillove   135 blog posts
Re# 5366797-4            Tags   Past Edits
connectivity bdane se koi fayda railway ko use mein lena chahiye . 2012 se fazilka abohar rail line start hui hai but koi fayda nahi pure din sirf 2 trains chalti hai . pehle bolte the iske opertational hone se mumbai ka distance kam ho jaaye ga aaj tak kuch nahi hua . ek train approve huii thi amritsar bikaner 3 saal pehle aaj tak nahi chali . even fazilka is important district in punjab but there is no connectivity to jammu , mumbai , chandigarh , delhi.. kuch nahi hota
Jun 04 (11:34) Land acquisition for Ferozepur-Patti rail link: Farmers seek higher compensation (www.google.com)
0 Followers
5149 views

News Entry# 488167  Blog Entry# 5366793   
  Past Edits
Jun 04 2022 (11:34)
Station Tag: Firozpur Cantt. Junction/FZR added by भारतीय/778285
Farmers of three villages, whose lands are being acquired for the proposed Ferozepur-Patti railway track, on Monday demanded the district administration to ensure higher compensation for their land from the Railways.
An estimated 121 acres and more than five dozen houses, besides a few religious buildings, will be acquired for the project.
Farmers from Qutub-Ud-in Wala, Kale Ke Hithar and Dula Singh Wala villages of Ferozepur district in a memorandum to the deputy commissioner, Amrit Singh, demand higher compensation for their land.
“The
...
more...
government wants to acquire our land at throwaway prices. The laying of the rail track on our land will not only affect our livelihood but also make farming difficult on the adjoining land,” said Ravinder Singh of Dula Singh Wala village.
“The threat of flood looms large as our village is located on the banks of the Sutlej. Now the acquisition of land for the rail track will hit our livelihood badly. Therefore, one member of the family should be given a job,” demanded Nasib Singh of Kale Ke Hithar village.
“We can’t accept the meagre compensation of ₹10-15 lakh per acre. Farmers should be paid ₹80-90 lakh per acre,” said Parwinder Singh, another farmer whose land will be acquired.
The farmers said in case if the government did not listen to their demands, they will be left with no other option but to launch an agitation.
Meanwhile, officials said the rate will be fixed according to the price of an acre of land sold or purchased in the last three years. Keeping the same price as the base rate, farmers will be getting four times more than the base rate as compensation.
Nine years have passed since the 25.47-km Ferozepur-Patti rail link project was given a green signal; the Punjab government has failed to acquire the land for the project.
Om Parkash, sub-divisional magistrate, Ferozepur, acknowledged the demands raised by farmers and added that they were trying to resolve the matter and discussions were on with the farmers and hopefully it would be resolved soon.
The rail link, vital from the commercial point of view, will shorten the distance between the northern states, including Punjab and the capitals of Gujarat and Maharashtra. It will also shorten the distance between Ferozepur and Amritsar. It would also inter-connect the Malwa and Majha regions of Punjab and shorten the distance between Jammu and Mumbai by 267 km.
विस्तार रेल डिवीजन फिरोजपुर ने आमदनी नहीं होने के चलते पंजाब के 11 और हिमाचल प्रदेश के दो स्टेशन बंद कर दिए हैं, अब इन स्टेशनों पर ट्रेनें नहीं रुकेंगी। इनमें हिमाचल प्रदेश और पंजाब का एक-एक धार्मिक स्टेशन भी शामिल है। 63 साल पुराने रेलवे स्टेशन को भी बंद कर दिया है। रेलवे के इस फैसले से उक्त स्टेशनों से लगते गांवों के लोग बहुत नाराज हैं। ये स्टेशन तरनतारन, अमृतसर, फिरोजपुर, लुधियाना और पठानकोट रेल सेक्शन पर बने हैं।विज्ञापनरेलवे के उच्चपदस्थ सूत्रों के मुताबिक रेलवे ने आमदनी नहीं होने के चलते पंजाब में पड़ते रेलवे स्टेशन वैनपोईं, दुखना वारन, भलोजाला, घंद्रण, जांडोक, चौंतड़ा भटेड (हिमाचल प्रदेश), कोटला गुजरा, संग्राना साहिब (गुरुद्वारा), भनोहड़ पंजाब, वरपाल (जीआरवी), मालमोहरी, बैजनाथ मंदिर (हिमाचल प्रदेश) व मंदहाली को पूर्ण तौर पर बंद कर दिया है। जिन लोगों ने टिकट बेचने का ठेका लिया था उन्हें स्टेशन बंद करने संबंधी पत्र जारी कर दिया गया...
more...
है। कई स्टेशन बहुत पुराने हैं उन्हें भी रेलवे ने बंद कर दिया है। इन स्टेशनों के साथ कई गांव लगते हैं, ऐसे में यहां के ग्रामीण स्टेशन बंद करने से नाराज है, क्योंकि अब ट्रेनें उक्त स्टेशनों पर नहीं रुकेंगी। 1958 में बनाया गया था भनोहड़ स्टेशनफिरोजपुर और लुधियाना के बीच स्थित भनोहड़ स्टेशन हैं, जो आठ दिसंबर 1958 में लोगों की सुविधाओं को देखते हुए बनाया था। यहां के ज्यादातर नौजवान सेना में कार्यरत हैं। यहां के निवासी दर्शन सिंह व रेशम सिंह का कहना है कि इस स्टेशन को बने 63 साल हो चुके हैं। रेल डिवीजन फिरोजपुर ने वर्ष 2002 में उक्त स्टेशन को तोड़ना शुरू किया था। गांव के सरपंच समेत सभी ग्रामीण इक्ट्ठे होकर फिरोजपुर मंडल कार्यालय गए थे और डीआरएम से मिले और इसे फिर से शुरू करवाया था। लेकिन अब 31 मार्च को एक पत्र जारी कर इसे बंद करने का आदेश दिया गया है। अब यहां पर ट्रेनें नहीं रुक रही हैं। ग्रामीणों ने बताया कि यहां से रोजाना करीब सौ लोग ट्रेनों में सफर करते हैं। कोविड-19 के दौरान दो साल तक ट्रेनें बंद रही और अब भी पूरी ट्रेनें नहीं चल रही हैं। ग्रामीणों ने कहा कि रेलवे बहुत बड़ी संस्था है, उसे ऐसे स्टेशनों से कमाई नहीं बल्कि लोगों को सुविधा प्रदान करनी चाहिए। लोगों की मांग है कि बंद किए सभी स्टेशन दोबारा से शुरू किए जाएं और ट्रेनों का स्टापेज निश्चित किया जाए। इस संबंध में वे दिल्ली स्थित रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों से भी मिलेंगे। उक्त स्टेशन बंद करने के आदेश रेल डिवीजन फिरोजपुर के डिवीजनल कामर्शियल मैनेजर अजय कुमार ने जारी किए हैं। सभी स्टेशन को पत्र भेज कर बंद करने की बात कही है।
Page#    Showing 1 to 20 of 281 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy