Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

Did you know that the Ganga & Kaveri rivers are connected? ... by Mysore Varanasi Express - Vishwanath Joshi

Full Site Search
  Full Site Search  
Just PNR - Post PNRs, Predict PNRs, Stats, ...
 
Sun Jun 26 01:16:43 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search

GNU/Ganaur (3 PFs)
     गन्नौर

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
MDR 121, Ganaur
State: Haryana


Zone: NR/Northern   Division: Delhi

No Recent News for GNU/Ganaur
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 36
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
0 Follows
Rating: 1.4/5 (65 votes)
cleanliness - average (9)
porters/escalators - poor (8)
food - poor (8)
transportation - poor (8)
lodging - poor (8)
railfanning - poor (8)
sightseeing - poor (8)
safety - poor (8)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 18 of 18 News Items  
सोनीपत। गन्नौर में बनाई जा रही एशिया की सबसे बड़ी अंतरराष्ट्रीय बागवानी मंडी को रेलवे लाइन से जोड़ा जाएगा। बागवानी मंडी तक रेलवे लाइन बिछने के बाद किसान रेल चलाई जाएगी और वह देश के 14 राज्यों से माल लाएगी। बागवानी मंडी तक रेलवे लाइन बिछाने की संभावनाएं तलाश करने के लिए रेलवे दिल्ली मंडल के चीफ इंजीनियर शिवओम द्विवेदी ने निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने मंडी तक रेलवे लाइन बिछाने को गन्नौर रेलवे स्टेशन व बड़ी में निर्माणाधीन रेल कोच फैक्टरी का निरीक्षण भी किया।विज्ञापनगन्नौर में जीटी रोड के साथ 537 एकड़ में बनने वाली अंतरराष्ट्रीय फल, फूल एवं बागवानी मार्केट एशिया की सबसे बड़ी मार्केट होगी। इसका शिलान्यास फरवरी 2014 में किया गया था और वहां बागवानी मार्केट की जमीन की चहारदीवारी का निर्माण किया जा चुका है। अभी मार्केट परिसर में चार शेड भी बने हुए हैं। जिसमें दो शेड कवर्ड हैं और दो खुले हुए हैं। कृषि...
more...
मंत्रालय की ओर से हरियाणा इंटरनेशनल हॉर्टिकल्चर मार्केटिंग कार्पोरेशन लिमिटेड के प्रस्ताव को तीन माह पहले मंजूरी दी जा चुकी है। जिसके तहत मंडी को विकसित करने के लिए तीन हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे। मंडी के विकसित होने पर रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। इससे मंडी के आसपास क्षेत्र में रहने वाले लोगों को काफी रोजगार मुहैया होगा।अंतरराष्ट्रीय बागवानी मंडी के विकसित होने के बाद देश के विभिन्न राज्यों से यहां तक किसान रेल चलाई जाएगी। इसके लिए बागवानी मंडी को दिल्ली-अंबाला रेलवे लाइन से जोड़ा जाएगा। बागवानी मंडी तक रेलवे लाइन बिछाने की संभावनाएं तलाशने के लिए शनिवार को रेलवे के चीफ इंजीनियर शिवओम द्विवेदी ने गन्नौर क्षेत्र का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने मंडी परिसर के अलावा गन्नौर रेलवे स्टेशन, बड़ी औद्योगिक क्षेत्र में निर्माणाधीन रेल कोच फैक्टरी व कॉनकोर की ओर बनाए गए रेल यार्ड का निरीक्षण किया। रेलवे लाइन बिछाने के लिए चीफ इंजीनियर शिवओम द्विवेदी जल्द ही रिपोर्ट बनाकर सरकार को सौंपेंगे।किसान रेल के माध्यम से 14 राज्यों से आएगा मालअंतरराष्ट्रीय बागवानी मंडी में किसान रेल के माध्यम से 14 राज्यों से माल पहुंचेगा। मंडी परिसर में महाराष्ट्र से प्याज, अंगूर, अनार, केला, गुजरात से चीकू व केला, कर्नाटक से अदरक, अंगूर, आलू, अनार, मध्यप्रदेश से बेर, राजस्थान से किन्नू, संतरा व सब्जियां, छत्तीसगढ़ से सब्जियां, आसाम से अनानास, नींबू व अदरक, आंध्र प्रदेश से मौसमी, उत्तर प्रदेश से आम, अमरुद, लीची व सब्जियां, हिमाचल प्रदेश व जम्मू कश्मीर से सेब, अनाशपत्ती, आलूबुखारा, बिहार से लीची, अंगूर मखाना, उत्तराखंड से आम, लीची, पंजाब के अलावा हरियाणा व दिल्ली से भी सब्जियां आएगी।वर्जनगन्नौर में बनने वाली अंतरराष्ट्रीय बागवानी मंडी को रेलवे लाइन से जोड़ा जाएगा। इसको लेकर मंडी में किसान रेल 14 राज्यों से माल लेकर पहुंचेगी। बागवानी मंडी तक रेलवे लाइन बिछाने के लिए 20 दिन पहले रेलवे को पत्र लिखा था। रेलवे लाइन बिछाने की संभावनाएं तलाशने के लिए रेलवे के चीफ इंजीनियर शिवओम द्विवेदी ने निरीक्षण किया है।- जेएस यादव, एमडी हरियाणा इंटरनेशनल हॉर्टिकल्चर मार्केटिंग कार्पोरेशन लिमिटेड
Jan 29 2020 (03:32) कौशिक ने की रेल कोच नवीनीकरण फैक्टरी के निर्माण कार्य की समीक्षा (www.nayaindia.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
41244 views

News Entry# 399992  Blog Entry# 4551914   
  Past Edits
Jan 29 2020 (03:32)
Station Tag: Ganaur/GNU added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Jan 29 2020 (03:32)
Station Tag: Rajlu Garhi/RUG added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Jan 29 2020 (03:32)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
गन्नौर। सांसद रमेश कौशिक ने रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एचएसआईआईडीसी बढ़ी में स्थापित किये जा रहे रेल कोच नवीनीकरण कारखाना के निर्माण की प्रगति की आज समीक्षा की।
कौशिक ने कहा कि हरियाणा के गठन के बाद प्रदेश को रेलवे की यह पहली सौगात मिली है जिससे गन्नौर और सोनीपत समेत समस्त प्रदेश के विकास को नई दिशा मिलेगी विशेषकर सोनीपत के विकास में यह मील का पत्थर साबित होगा।
रेल कोच नवीनीकरण कारखाना का ले-आउट प्लान देखते हुए सांसद रमेश कौशिक ने जरूरी दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने निर्माण परिसर का दौरा
...
more...
किया साथ ही गुणवत्ता और निर्माण कार्य की गति आदि की गम्भीरता से समीक्षा की।
इस दौरान उन्होंने रेलवे के आला अधिकारियों के साथ विशेष बैठक कर पूरी परियोजना के निर्माण की समीक्षा की। साथ ही उन्होंने पत्रकारों से भी विशेष बातचीत कर महत्वपूर्ण जानकारी साझा की। उन्होंने कहा कि रेल कोच नवीनीकरण कारखाना स्थापित करने के लिए एचएसआईआईडीसी ने 165 एकड़ भूमि लीज पर दी है जिसमें से 150 एकड़ भूमि पर कारखाना बनाया जा रहा है। कारखाने में शुरुआती चरण में एलएचबी प्रकार के उच्च गति वाले 250 डिब्बों (कोच) का नवीनीकरण किया जाएगा।
एक डिब्बे के नवीनीकरण पर एक करोड़ रुपये की लागत आएगी अर्थात् 250 करोड़ रुपये का टर्न ओवर मिलेगा। इसके बाद आगामी वर्षों में इसे विस्तार देते हुए प्रति वर्ष 1000 डिब्बों का नवीनीकरण किया जाएगा। इस प्रकार रेल कोच फैक्टरी से 1000 करोड़ रुपये प्रति वर्ष का टर्न ओवर होगा। सांसद ने कहा कि इस कारखाने के लगने से सम्बंधित छोटे उद्योगों को विशेष बल मिलेगा। खासतौर से रोजगार के अवसर मुहैया कराने में रेल कोच फैक्टरी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगी।
यह कारखाना एक औद्योगिक केंद्र के रूप में कार्य करेगा जिससे गन्नौर और सोनीपत के आर्थिक विकास को अत्यधिक मजबूती मिलेगी। कारखाने के निर्माण में अत्याधुनिक तकनीक के उपकरण स्थापित किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि परियोजना पूर्ण करने का निर्धारित समय दिसम्बर 2020 है लेकिन प्रयास है कि इसे निर्धारित समय से पहले ही पूरा किया जाए।
कौशिक ने बताया कि दिल्ली-अम्बाला रेलमार्ग पर प्रतिदिन करीब 189 ट्रेनों का आना-जाना होता है। इस रेलमार्ग पर रेलगाड़ियों की गति में वृद्धि की जाएगी, ताकि रेलयात्री और जल्द अपने गंतव्य तक पहुंच सकेें। साथ ही उन्होंने कहा कि रेलवे कंटेनर डिपो का निर्माण कार्य भी अति शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा। जीटी रोड पर स्थापित की जा रही अंतरराष्ट्रीय फल, फूल, सब्जियां एवं डेयरी उद्योग टर्मिनल (बागवानी मंडी) भी शीघ्र शुरु की जाएगी। इससे गन्नौर क्षेत्र विकास की नई ऊंचाइयां छुएगा।
उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक टीपी सिंह ने बताया कि रेल कोच नवीनीकरण कारखाना पूर्ण रूप से पर्यावरण अनुकूल होगा। यह ग्रीन प्लांट के रूप में स्थापित किया जा रहा है जिसमें सौर ऊर्जा का विशेष रूप से प्रयोग किया जाएगा। इसे प्लेटिनम रेटिंग दी जाएगी। साथ ही चार स्टैंडर्ड इंडस्ट्रीयल मानक स्थापित करेंगे। यहां बाहर से किसी भी प्रकार की एनर्जी नहीं ली जाएगी। न ही यहां से किसी भी तरह का कचरा (तरल/ठोस) बाहर भेजा जाएगा।
इस मौके पर सांसद ने रेलवे के आला अधिकारियों के साथ कारखाना परिसर में पौधारोपण भी किया। इस अवसर पर विधायक मोहनलाल बड़ौली, अतिरिक्त उपायुक्त दिनेश यादव, एसडीएम स्वप्निल रविंद्र पाटिल, उत्तर रेलवे के पीसीएमई अरूण अरोड़ा, रेल विकास निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक प्रदीप गौड़, उत्तर रेलवे दिल्ली के डीआरएम एस.सी.जैन, तथा अन्य गणमान्य उपस्थित थे।
Jul 08 2019 (11:26) बठिंडा एक्सप्रेस की पावर फेल, 50 मिनट गन्नौर में खड़ी रही ट्रेन (www.amarujala.com)
Other News
NR/Northern
0 Followers
31373 views

News Entry# 386222  Blog Entry# 4372341   
  Past Edits
Jul 08 2019 (11:27)
Station Tag: Ganaur/GNU added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
गन्नौर। गन्नौर रेलवे स्टेशन पर रविवार को बठिंडा एक्सप्रेस ट्रेन के ईंजन की पावर फेल हो गई। जिसके चलते ट्रेन स्टेशन पर खड़ी रही। करीब 50 मिनट के इंतजार के बाद दूसरा इंजन पहुंचा तब जाकर ट्रेन को गंतव्य की तरफ भेजा गया। जिसके बाद यात्रियों ने राहत की सांस ली। गर्मी के कारण यात्रियों को खासी परेशानी हुई। गन्नौर रेलवे स्टेशन पर रविवार सुबह 14732 बठिंडा एक्सप्रेस ट्रेन अपने निर्धारित समय से करीब 20 मिनट लेट 11 बजकर 40 मिनट पर पहुंची थी। ट्रेन फाजिल्का, पंजाब से दिल्ली जा रही थी। गन्नौर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के इंजन में तकनीकी खराबी के कारण उसने काम करना बंद कर दिया। जिसके बाद दिल्ली से दूसरा ईंजन लाया गया। करीब 50 मिनट के इंतजार के बाद ट्रेन को दूसरे इंजन से जोडक़र दिल्ली की तरफ रवाना...
more...
किया गया। ट्रेन दोपहर 12 बजकर 30 मिनट पर दिल्ली के लिए रवाना हो सकी। यात्रियों की बढ़ी मुसीबत ट्रेन के इंजन में खराबी के बाद कई यात्री तो बसों व अन्य वाहनों में सवार होकर दिल्ली के लिए रवाना हो गए। बहुत से यात्री ट्रेन के चालू होने का इंतजार करते रहे। भीषण गर्मी के चलते उन्हें खासी मशक्कत हुई। रेल यात्री जगदीप, कपिल, शैलेंद्र ने बताया कि ट्रेन के इंजन में आई दिक्कत ने उन्हें बहुत परेशान किया।.
Jan 07 2019 (15:25) मुख्यमंत्री 11 को करेंगे रेल कोच फैक्ट्री का भूमि पूजन (m.jagran.com)
New Facilities/Technology
NR/Northern
0 Followers
24486 views

News Entry# 373364  Blog Entry# 4189910   
  Past Edits
Jan 07 2019 (15:25)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by SP Sharma^~/1833693

Jan 07 2019 (15:25)
Station Tag: Ganaur/GNU added by SP Sharma^~/1833693
Stations:  Sonipat Junction/SNP   Ganaur/GNU  
जागरण संवाददाता, गन्नौर (सोनीपत): मुख्यमंत्री मनोहर लाल 11 जनवरी को एचएसआइआइडीसी परिसर में रेल कोच नवीनीकरण कारखाना निर्माण के लिए भूमि पूजन करेंगे। सांसद रमेश कौशिक ने शनिवार को मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लिया व अधिकारियों संग बैठक की।
सांसद ने कहा मुख्यमंत्री रेलकोच कारखाना के शिलान्यास के अलावा एचएसआइआइडीसी परिसर में स्थापित होने जा रहे 220 केवी के पावर स्टेशन, अपग्रेड किए गए क्रेडिट ट्रांसफर पॉलिसी (सीटीपी), फायर स्टेशन, किसान बाजार व सोनीपत में श्रम विभाग के तहत बनाई जाने वाली एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग की बिल्डिंग का लोकार्पण भी करेंगे। वह एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे। सांसद ने जनसभा स्थल का निरीक्षण भी किया, इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त जयबीर आर्य, एसडीएम सुरेंद्रपाल, डीएसपी
...
more...
संदीप मलिक, आरके राणा, शमशेर शर्मा, एक्सईएन दीपक वर्मा आदि मौजूद रहे।
-----------
500 करोड़ की लागत से बनेगी रेल कोच फैक्ट्री
रेल कोच फैक्ट्री गन्नौर क्षेत्र के एचएसआइआइडीसी बड़ी औद्योगिक क्षेत्र में करीब 162 एकड़ में 500 करोड़ रुपये से बनेगी। पिछले साल 9 अक्टूबर को इसकी आधारशिला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोहतक जिले के गांव सांपला में आयोजित रैली में रखी थी। अब इसका भूमि पूजन सीएम मनोहर लाल करेंगे। इस कारखाने में प्रतिवर्ष 250 रेल के डिब्बों का नवीनीकरण व सुधारीकरण होगा और भविष्य में इसे एक हजार तक बढ़ाया जाएगा। इसके निर्माण के बाद दिल्ली व आसपास के क्षेत्रों के रेल के डिब्बों को सुधार के लिए दूर-दराज के कारखानों में नहीं भेजना पड़ेगा। रेल कोच फैक्ट्री के साथ में जो सहायक उद्योग स्थापित होंगे उनमें पंखा, पेंट, बिजली फि¨टग सहित कई सहायक फैक्ट्री होंगी, जो क्षेत्र के लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार देंगे।
Aug 09 2018 (18:24) गन्नौर के बड़ी में तैयार होगी रेल कोच फैक्ट्री, 484 करोड़ रुपए हुए मंजूर (www.bhaskar.com)
Coach Augmentations
NR/Northern
0 Followers
25441 views

News Entry# 350286  Blog Entry# 3697759   
  Past Edits
Aug 09 2018 (18:31)
Station Tag: Ganaur/GNU added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Aug 09 2018 (18:24)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by Subhash/746156
Stations:  Sonipat Junction/SNP   Ganaur/GNU  
सोनीपत.रेल कोच फैक्ट्री अब अगर-मगर के फेर से निकल हकीकत का रूप लेने को तैयार है। रेल कोच की सहायक फैक्ट्री को लेकर अब तक की सबसे ठोस कार्रवाई अंजाम दी गई है। जिसके तहत संसद ने 484 करोड़ रुपए ग्रांट ऑन डिमांड बजट को मंजूरी दे दी है। अब अगले महीने 172 एकड़ में लगने वाली इस उप फैक्ट्री का शिलान्यास सीएम मनोहर लाल खट्‌टर व रेल मंत्री पीयूष गोयल करेंगे। इसकी पुष्टि सांसद एवं रेल मंत्रालय की कमेटी के सदस्य रमेश कौशिक ने भी की है।एक महीने में शुरू होगा काम:सांसद ने कहा कि अब एक महीने के अंदर रेल कोच फैक्ट्री का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। सोनीपत में बनने वाले इस फैक्ट्री में ट्रेन के डिब्बों की सजावट और नवीकरण संबंधित काम होंगे। इस फैक्ट्री से सालाना करीब 700 रेल कोच के नवीनीकरण और पुनर्वास होंगे। पूर्व में विपक्ष की ओर से दावा किया गया रेल...
more...
कोच फैक्ट्री बनारस अथवा गुजरात में शिफ्ट हो गई है। प्रदेश के सीएम मनोहरलाल खट्‌टर ने रेल कोच फैक्ट्री के लिए 600 करोड़ रुपए का बजट की बात कही थी, लेकिन अब जब संसद ने बजट को मंजूरी दी है तो वह 484 करोड़ रुपए का है। जबकि सोनीपत ने जमीन आवंटन में डिमांड 161 के बजाए 172 एकड़ दी है।पहले गोहाना के पास फैक्ट्री लगाने की थी योजना:यूपीए सरकार में फरवरी 2013 में संसद में पेश किए रेल बजट के दौरान तत्कालीन रेलमंत्री पवन बंसल ने सोनीपत के लिए रेल कोच फैक्ट्री लगाने की घोषणा की थी। तब पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के कार्यकाल में लाठ, जौली, कटवाल, बीधल और भैंसवाल की करीब 6600 एकड़ भूमि अधिग्रहण की तैयारी की गई थी। पहले फेज के तहत चार गांव की तीन हजार एकड़ से ज्यादा भूमि पर सरकार ने सेक्शन नौ लगाने की घोषणा की थी। यहां आईएमटी के साथ-साथ रेल कोच फैक्ट्री तक लगाने की प्लानिंग थी, जिसको लेकर पूर्व हुड्डा सरकार सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन के साथ अधिग्रहीत जमीन पर रेल कोच फैक्ट्री का निर्माण कराने की बात कर रही थी। हालांकि बाद में केंद्र में आई भाजपा सरकार ने रेल बजट में सोनीपत में लगने वाली रेल कोच फैक्ट्री की बात रिकॉर्ड में नहीं होने की बात कही थी।ऐसे तलाश की गई जमीन : 2015 में गुरुग्राम में हुए ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट के दौरान तत्कालीन केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने रेल कोच फैक्ट्री को सोनीपत में ही लगाने का आश्वासन दिया था। इसके बाद अक्टूबर 2015 में रेल मंत्रालय ने फैक्ट्री के लिए नई जमीन तलाश करने की कार्रवाई शुरू की थी। प्रशासन ने अक्टूबर 2016 के प्रथम सप्ताह में 12 जगह की सूची रेलवे को भेजी गई थी, जिसमें सोनीपत में दिल्ली-अम्बाला रेलवे लाइन किनारे कामी रोड स्थित बड़ी, सांदल कलां के साथ साथ सोनीपत-गोहाना-जींद रेलवे लाइन पर नैनाततारपुर, लाठ-जौली, सिरसाढ़ की 80 से 100 एकड़ पंचायती जमीन की सूची तैयार कर मंत्रालय को भेजी थी, लेकिन रेलवे ने गन्नौर के पास बड़ी में फैक्ट्री लगाने का फैसला लिया है।हमने रेल कोच फैक्ट्री के लिए प्रयास किया :सोनीपत को सांसद रमेश कौशिक ने कहा कि पिछली सरकार के समय में रेल कोच फैक्ट्री सिर्फ घोषणा हुई थी। उसके लिए न तो जगह थी और न ही बजट व अन्य योजनाएं। भाजपा सरकार बनने के बाद हमने रेल कोच फैक्ट्री के लिए प्रयास शुरू किए। यह रेल कोच फैक्ट्री गन्नौर व सोनीपत जिला के लोगों के लिए विकास के नए रास्ते खोलेगी।
Page#    Showing 1 to 18 of 18 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy