Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

तो क्या हुआ , जो एक ट्रेन निकल गयी तुम्हारी, जिंदगी के ट्रैक मे अगली ट्रेन भी आएगी। - karthik

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sat Oct 16 16:30:50 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Medium; Large Station Board;
Entry# 2360183-0
Front Entrance - Outside; Large Station Board;
Entry# 4225538-0


ET/Itarsi Junction (8 PFs)
     इटारसी जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Jn. Pt. BPL/JBP/AMLA/KNW, Foot Over Bridge, Venkatesh Colony, PIN - 461111, Itarsi, District Hoshangabad
State: Madhya Pradesh


Zone: WCR/West Central   Division: Bhopal

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 8
Number of Halting Trains: 617
Number of Originating Trains: 10
Number of Terminating Trains: 10
Rating: 3.4/5 (315 votes)
cleanliness - average (42)
porters/escalators - good (39)
food - good (40)
transportation - good (40)
lodging - good (35)
railfanning - good (42)
sightseeing - good (37)
safety - average (40)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 853 News Items  next>>
Yesterday (18:17) Bhopal Railway News: ट्रेनें खाली, दीपावली पर घर जाना हो तो अभी से करा लें बुकिंग (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
6499 views

News Entry# 467606  Blog Entry# 5095960   
  Past Edits
Oct 15 2021 (18:17)
Station Tag: HabibGanj/HBJ added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 15 2021 (18:17)
Station Tag: Sant Hirdaram Nagar/SHRN added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 15 2021 (18:17)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 15 2021 (18:17)
Station Tag: Prayagraj Junction (Allahabad)/PRYJ added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 15 2021 (18:17)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 15 2021 (18:17)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
Bhopal Railway News: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। दीपावली पर घर जाना हो तो ट्रेनों में अभी से टिकट बुक करा लें। अगले सप्ताह से वेटिंग की स्थिति बनने लगेंगी। दीपावली को अभी काफी दिन बाकी है। रेलवे के नेशनल ट्रेन इंक्वायरी सिस्टम (एनटीईएस) के अनुसार अभी ट्रेनों में दीपावली केे आसपास की यात्रा के टिकट कन्फर्म मिल रहे हैं। अगले सप्ताह से ट्रेनों में वेटिंग शुरू हो जाएगी। खासकर दीपावली के आपास के टिकट बुक हो जाएंगे और वेटिंग शुरू हो जाएगी। अभी भोपाल से गोरखपुर व प्रयागराज की तरफ जाने वाली ट्रेनों में इसी सप्ताह के टिकट कन्फर्म नहीं मिल रहे हैं। लगभग सभी ट्रेनों में वेटिंग की स्थिति है। इन दो दिशाओं में जाने वाले यात्री इटारसी जंक्शन से गुजरने वाली ट्रेनों में बुकिंग करा सकते हैं वहां से अधिक ट्रेनें हैं। भोपाल, हबीबगंज, संत हिरदाराम नगर स्टेशन से पर्याप्त ट्रेनें हैं। भोपाल व हबीबगंज से गिनी-चुनी ट्रेनें ही गुजरती...
more...
हैं जिसमें हमेशा वेटिंग रहती हैं। इसके अलावा बाकी के शहरों के लिए चलने वाली ट्रेनों में सचखंड, कुशीनगर, पुष्पक स्पेशल एक्सप्रेस जैसी कुछ ट्रेनों को छोड़कर सभी ट्रेनों में बर्थ खाली है। दिल्ली की तरफ आना-जाना सबसे आसान हैं। इस रेल मार्ग पर भोपाल से रोजाना 32 ट्रेनें हैं जिनमें से अधिकतर में कन्फर्म बर्थ मिल रही है।
ट्रेन टिकट बुक कराने से पहले यह जरूर करें
- नेशनल ट्रेन इंक्वायरी सिस्टम के पोर्टल पर जाकर संबंधित ट्रेनो में वेटिंग की स्थिति देख लें। इस आधार पर ऑनलाइन व रेलवे टिकट काउंटरों से टिकट लें। बिना जानकारी के बुकिंग कराने से परेशानी हो सकती है।
- रेलवे के सुविधा नंबर 139 का उपयोग कर सकते हैं। यदि रेलवे स्टेशन से टिकट ले रहे हैं तो पूछताछ केंद्र से मदद लें।
यह भी ध्यान रखें
- ऑनलाइन खरीदा गया टिकट कन्फर्म नहीं हुआ तो किराया स्वत: वापस हो जाता है। ऐसे टिकट पर यात्रा नहीं कर सकते। रेलवे बिना टिकट मानता है और कई गुना जुर्माना भरना पड़ता है।
- यदि टिकट रेलवे काउंटर से लिया है और चार्ट बनने के बाद भी वह कन्फर्म नहीं हुआ है तो किराया राशि वापस नहीं होती है। ऐसे टिकट पर यात्रा कर सकते हैं। रेलवे ऐसे टिकटधारी से जुर्माना नहीं वसूलता। ऐसे यात्रियों को ट्रेन के अंदर बर्थ नहीं मिलती है। यात्री बर्थ के लिए दावा भी नहीं कर सकते। कोरोना संक्रमण के चलतेे रेलवे यात्रियों को सलाह देता रहा है कि टिकट कन्फर्म होने पर ही यात्रा करें।
Oct 12 (18:05) Bhopal Railway News: रेलवे की अनदेखी से हजारों अप-डाउनर्स को गंवाना पड़ा रोजगार (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
8337 views

News Entry# 467357  Blog Entry# 5093353   
  Past Edits
Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: GulabGanj/GLG added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Mandi Bamora/MABA added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Ganj Basoda/BAQ added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Ghoradongri/GDYA added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Pipariya/PPI added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Sehore/SEH added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Hoshangabad/HBD added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Harda/HD added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Betul/BZU added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Vidisha/BHS added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Guna Junction/GUNA added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Bina Junction/BINA added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 12 2021 (18:05)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
Bhopal Railway News: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। ट्रेनों में मासिक सीजन टिकट (एमएसटी) और जनरल टिकट बंद होने से कामकाज के सिलसिले में डेली अप-डाउन करने वाले हजारों लोगों को रोजगार खोना पड़ा है। अब ऐसे लोग छोटा-मोटा व्यवसाय कर रहे हैं। कुछ तो अभी भी बेरोजगार हैं। ये अप-डाउनर् हैं जो बीना, विदिशा, होशंगाबाद, हरदा, बैतूल, पिपरिया, सीहोर समेत आसपास के क्षेत्रों से ट्रेनों के जरिए भोपाल आते थे। यहां छोटी-मोटी नौकरी करते थे और शाम को दूसरी ट्रेनों से वापस लौट जाते थे।
पिछले साल मार्च में कोरोना की दस्‍तक से पहले तक इनका कामकाज ठीक चल रहा था। जब कोरोना में ट्रेनें बंद की गईं तो इनका आना-जाना भी बंद हो गया। रेलवे ने धीरे-धीरे ट्रेनों को पुन: शुरू कर
...
more...
दिया, लेकिन अनेक पैसेंजर ट्रेनें अभी भी शुरू नहीं की गई हैं। इतना ही नहीं, ट्रेनों में सफर के लिए मासिक सीजन टिकट की बिक्री शुरू नहीं की है। जिसके कारण इन्हें ट्रेनों में चढ़ने नहीं दिया जा रहा है। चढ़ते हैं तो मूल किराया से कई गुना अधिक जुर्माना लग जाता है। यहां तक की ट्रेनों में सामान्य टिकट की बिक्री भी बंद कर दी है, रिजर्वेशन कराना पड़ता है जो अपडाउनरों के लिए रोज-रोज करा पाना आसान नहीं है। मासिक सीजन टिकट की तुलना में रिजर्वेशन कराना काफी महंगा भी पड़ता है। ज्यादातर अपडाउनर पैसेंजर ट्रेनों से आते-जाते थे जिन्हें कोरोना में बंद करने के बाद अब तक चालू नहीं किया गया है। जिसके कारण इन अप-डाउनर्स का शहर तक आना पूरी तरह बंद हो गया है। इनमें किसान, मजदूर, नौकरीपेशा से जुड़े लोग शामिल हैं।
रेलवे अप-डाउनर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष अरुण अवस्थी ने बताया कि विदिशा और बीना क्षेत्र से रोजाना 10 हजार से अधिक अप-डाउनर्स भोपाल आते थे। यहां नौकरी करते थे। इसमें वे खुद भी शामिल है। वे सुबह लैब से नमूने लेकर आते थे। शाम को जांच कराने के बाद वापस लौट जाते थे। इस तरह उनके सैंकड़ों परिचित दुकानों, कारखानों में काम करने के लिए भोपाल आते थे, जो कि ट्रेनों में एमएसटी बंद करने, पैसेंजर ट्रेनों का संचालन बंद करने के कारण नहीं आ पा रहे हैं। वे बताते हैं कि इस तरह होशंगाबाद, इटारसी, पिपरिया, हरदा, बैतूल क्षेत्र से भी रोजाना आठ से दस हजार अप-डाउनर विभिन्न ट्रेनों में बैठकर भोपाल आते थे। एसोसिएशन प्रतिनिधियों ने अनुमान जताया कि भोपाल से रोजाना 25 हजार से अधिक लोग नौकरी करने के लिए बीना, गुना, विदिशा, बैतूल, हरदा, होशंगाबाद, सीहोर, पिपरिया, इटारसी, घोड़ाडोंगरी, गंजबासौदा, मंडीबामोरा, गुलाबगंज जाते थे। ये लगभग सभी शासकीय नौकरी में हैं जो अब निजी साधनों से जा रहे हैं। कुछ तो मकान किराए से लेकर नौकरी स्थल या आसपास के जिला मुख्यालयों पर ही रहने लगे हैं। जबकि गांव, कस्बे व जिलों से भोपाल आने वाले अप-डाउनर निजी काम धंधे करते थे या प्राइवेट नौकरी में थे, जो निजी बसों का किराया वहन नहीं कर पा रहे हैं। मजबूरन उन्हें भोपाल में काम-धंधा छोड़ना पड़ा है। अरुण अवस्थी का कहना है कि इस तरह मप्र के सभी क्षेत्रों के अप-डाउनर्स को काउंट किया जाए तो हजारों की संख्या में लोग प्रभावित हुए हैं। बता दें कि एसोसिएशन के प्रतिनिधि इन सभी बातों को केंद्रीय रेल राज्यमंत्री, स्थानीय जनप्रतिनिधि और रेलवे के अधिकारियों के पास रख चुके हैं।
Oct 11 (07:23) चोरों ने दो दिन में केरला एक्सप्रेस से चुराए छह मोबाइल (www.naidunia.com)
Other News
WCR/West Central
0 Followers
4173 views

News Entry# 467242  Blog Entry# 5092108   
  Past Edits
Oct 11 2021 (07:23)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688

Oct 11 2021 (07:23)
Train Tag: Kerala Special/02625 added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688
Trains:  Kerala Special/02625  
Stations:  Itarsi Junction/ET  
इटारसी नवदुनिया प्रतिनिधि।
चलती ट्रेनों में यात्रियों के कीमती मोबाइल चुराने वाली अंतरराज्यीय गैंग का पर्दाफाश करते हुए जीआरपी ने चार आरोपितों से करीब सवा लाख रूपये कीमती 8 मोबाइल एवं नकदी बरामद करने में सफलता हासिल की है। खास बात यह है कि कुल जब्त 8 में से छह मोबाइल केरला एक्सप्रेस को टारगेट कर 1-2 अक्टूबर को रात में ही चोरी किए गए थे।
मोबाइल चुराने वाले बदमाशों ने अधिकांश घटनाएं शयनयान श्रेणी की बोगियों में की। कई बार टीसी के आने पर चोर जुर्माना देकर रसीद बनवा
...
more...
लेते थे, जिससे किसी को शक न हो। रात में गहरी नींद में डूबे ऐसे यात्री जिनके मोबाइल चार्जिंग पर लगे हैं, या असुरक्षित रखे हैं, उन्हें बदमाश चुराकर आउटर पर ट्रेन धीमी होते ही कूद जाते थे। सात मामलों में 8 मोबाइल बरामद किए गए हैं। चोरी हुए मोबाइल अन्य प्रदेशों में जाकर मोबाइल दुकान पर बेच देते थे।
ऐसे पकड़े गए चोरः पुलिस का दावा है कि सेमरी हरचंद निवासी 30 वर्षीय प्रकाश पुत्र लालचंद ठाकुर, चरयावल मुजफ्फरनगर उप्र निवासी रज्जाक पिता हनीफ त्यागी, सहारनपुर उप्र निवासी मुजामिल पिता इरफान खान एवं सरदार वार्ड पिपरिया निवासी अशोक पिता चंदन कीर प्लेटफार्म सात के फुटब्रिज के नीचे बैठे थे, पुलिस टीम को देखते ही बदमाश भागने लगे। संदेह होने पर चारों को पकड़कर पूछताछ की गई, जिसके बाद मामले का पर्दाफाश हुआ। आरोपितों से लोहे की प्लास, पेंचकश के अलावा मुजामिल एवं रज्जाक से 4-4 मोबाइल बदामद किए गए। आरोपितों ने कहा कि 1 अक्टूबर को केरला एक्स. में मोबाइल चोरी किया है।
2 दिन में उड़ाए छह मोबाइलः आरोपितों से बरामद किए गए छह मोबाइल 1-2 अक्टूबर को केरला एक्सप्रेस से ही चोरी किए गए हैं, जिनमें यात्रियों द्वारा अपराध दर्ज कराया गया है, इसके अलावा दो अन्य मोबाइल भी मिले हैं।
Oct 11 (07:22) तकलीफ दे रही रेलवे क्रासिंग रोड (www.naidunia.com)
Other News
WCR/West Central
0 Followers
3713 views

News Entry# 467241  Blog Entry# 5092107   
  Past Edits
Oct 11 2021 (07:22)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688
Stations:  Itarsi Junction/ET  
शहर के यातायात को हाइवे से जोड़ने वाली सोनासांवरी रेलवे क्रासिंग रोड की बदहाली वाहन चालकों को तकलीफ दे रही है। रेलवे गेट सोनासांवरी से लेकर खेड़ा पेट्रोल पंप तक सड़क इतनी ज्यादा संकरी और बदहाल हो गई है कि यहां रोजाना हादसे हो रहे हैं। गेट खुलने के बाद भारी वाहनों की वजह से सड़क पर जाम लग रहा है। लंबे समय से इस मार्ग के निर्माण की मांग की जा रही है, लेकिन अभी तक शासन ने इसकी मंजूरी नहीं दी है।
इसलिए रहता है दबावः दरअसल शहर के ओवर ब्रिज की जगह न्यास बायपास होकर कृषि उपज मंडी, औद्योगिक क्षेत्र खेड़ा होकर हाइवे पर जाने वाले वाहन चालक इसी मार्ग से आवाजाही करते हैं। मोथिया, साकेत, बम्हनगांव
...
more...
समेत करीब एक दर्जन एवं होशंगाबाद-हरदा बायपास भी इसी मार्ग से जुड़ा हुआ है। इस वजह से ग्रामीण किसान अपनी उपज लेकर भी इसी मार्ग से मंडी पहुंचते हैं।
सोल्डर गायब सड़क बदहालः
सड़क के दोनों ओर सोल्डर धंसने से बड़े गड्डे हो गए हैं, इसी तरह सड़क पर भी गड्डे ज्यादा होने से आवाजाही में दिक्कत होती है। वाहन चालक बताते हैं कि खराब सड़क की वजह से वाहनों की पासिंग में देरी लगती है, इस वजह से पीछे वाहनों की रेलमपेल मचती है। रोजाना 24 घंटे में करीब 15-20 बार गेट बंद होता है। नागरिकों का कहना है कि रेलवे गेट से लेकर हाइवे तक इस मार्ग का चौड़ीकरण एवं सीसी रोड का निर्माण होना चाहिए।
पूर्व विधायक पं. गिरिजाशंकर शर्मा के कार्यकाल में एक बार इस मार्ग का काम हुआ था, इसके बाद से लगातार सड़क की हालत खराब होती गई। इस बायपास से हेवी लोडेड वाहन, डंपर और वेयर हाउस आने वाले ट्रक आते हैं, इन वाहनों के बोझ से सड़क धंस रही हैं। करीब डेढ़ किमी. की सड़क पूरी तरह उखड़ चुकी है।
ओवर ब्रिज पर राहतः न्यास बायपास बनने से पहले सिर्फ सोनासांवरी होकर इस मार्ग पर आवाजाही कर सकते थे, लेकिन बायपास बनने के बाद अब शहर का करीब 60 फीसदी ट्रेफिक यहां से बायपास होकर हाइवे जाता है, इससे ब्रिज पर ट्रेफिक स्मूथ हुआ है, साथ ही सड़क हादसो में कमी आई है।
सांकरिया रोड निर्माण अटकाः इधर सांकरिया पुल के नीचे से खेड़ा स्टेडियम होकर निकाली जाने वाली सड़क का दूसरा हिस्सा रेलवे की अनुमति न मिलने के कारण अटका हुआ है। पुल के इस ओर की सड़क तो बन चुकी है, लेकिन रेलवे पुल क्रासिंग से अंडरपास सड़क की अनुमति नहीं होने के कारण नगर पालिका ने अभी तक दूसरी ओर सड़क का काम नहीं कराया है, पुल के नीचे से जान जोखिम में डालकर किसी तरह दोपहिया वाहन निकाले जा रहे हैं, हालांकि बारिश के चार महीने यह विकल्प भी बंद हो जाता है।
वर्जन
औद्योगिक क्षेत्र खेड़ा के अलावा कृषि उपज मंडी एवं हाइवे पर आने वाले सारे वाहन चालक यहीं से आवाजाही करते हैं। बीच में सड़क बेहद संकरी और जर्जर हो गई है, इसका चौड़ीकरण एवं निर्माण होना चाहिए।
चुटई महाराज, मंडी कारोबारी।
हादसे होते हैं:
रेलवे गेट बंद होने एवं खुलने के बाद वाहनों के कारण जाम लग जाता है। इस मार्ग पर हमेशा दबाव रहता है। इस मार्ग पर बहुत ज्यादा गड्डे हो गए हैं, इससे किसान-व्यापारी और ग्रामीण परेशान होते हैं।
मंटू ओसवाल, व्यापारी।
निर्माण कराएंगेः
इस मार्ग की बदहाली की जानकारी हमारे पास है, दो साल कोविड के चलते कई विकास कार्य शुरू नहीं हो सके। भविष्य में लोनिवि से प्रस्ताव तैयार कराया जाएगा, किसी भी मद में बजट लेकर इस मार्ग का विस्तारीकरण और सीसी रोड के रूप में निर्माण होगा।
डॉ. सीतासरन शर्मा, विधायक।
Oct 11 (07:21) सर्वर टर्मिनल में खराबी आइ, शाम तक बंद रहा आरक्षण काउंटर (www.naidunia.com)
Major Accidents/Disruptions
WCR/West Central
0 Followers
4079 views

News Entry# 467240  Blog Entry# 5092106   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Stations:  Itarsi Junction/ET  
शनिवार सुबह रेलवे स्टेशन के आरक्षण कार्यालय के सर्वर टर्मिनल में खराबी आने से पूरा सिस्टम करीब 10 घंटे के लिए बैठ गया, इस दौरान एक भी टिकट नहीं बन सके। टिकट लेने आए यात्रियों को घंटों इतंजार के बाद खाली हाथ वापस लौटना पड़ा। मजबूरी में कई यात्रियों ने बुकिंग एजेंट्स की मदद लेकर अपने टिकट कराए। खराबी के चलते शयनयान, वातानुकूलित श्रेणी के आरक्षित टिकट नहीं बनने से यात्रियों को परेशानी हुई। इधर अधिकारी भी सर्वर डाउन होने के बाद काम सुचारू करने को लेकर परेशान होते हुए नजर आए।
ऐसे आइ खराबीः जानकारी के अनुसार सुबह रोजाना की तरह रेलवे स्टेशन का आरक्षण काउंटर चालू हो गया था, यात्रियों की भीड़ भी थी, लेकिन जैसे ही बुकिंग
...
more...
क्लर्क ने काम शुरू किया, टिकट जारी नहीं हुए। काफी मशक्कत के बाद जब अधिकारियों को जानकारी दी गई तो पता चला कि सर्वर टर्मिनल काम नहीं कर रहा है और पूरी तरह बंद पड़ा है, इस वजह से टिकट जारी नहीं हो रहे हैं। अधिकारियों के अनुसार दोपहर में 12 बजे तक बमुश्किल एक-दो टिकट ही बन सके थे, इसके बाद शाम 5 बजे तक काउंटर पूरी तरह बंद रहा।
भोपाल से आया टर्मिनलः जिस उपकरण में खराबी आई थी, उसे तत्काल अधिकारियों को सूचना देकर नया उपकरण भोपाल से बुलाया गया। भोपाल से शाम को अमरकंटक एक्सप्रेस से टर्मिनल बुलाकर ऑफिस का कामकाज सामान्य किया जा सका, हालांकि शाम तक इसे लोड करने में भी अधिकारियों को परेशानी का का सामना करना पड़ा, इस वजह से बाकी यात्री भी वापस चले गए।
यात्री हुए परेशानः दीवाली एवं दशहरा पर्व को लेकर ट्रेनों में पहले से ही ज्यादा त्योहारी भीड़ बढ़ गई है, रोजाना यात्री अपने कामकाज और छुट्टियां मनाने के लिए घर लौट रहे हैं, इस वजह से काउंटर पर दर्जनों यात्री अपने टिकट बुक कराने पहुंचे थे, लेकिन सर्वर डाउन होने से यात्रियों को खाली हाथ लौटना पड़ा। मुबंई जा रही रिशीकांत यादव ने कहा कि उन्हें दशहरा से पहले का टिकट कराना था, यहां आए तो पता चला कि मशीनें खराब हैं, इसी तरह अन्य यात्री भी टिकट के लिए परेशान होते रहे। पथरोटा निवासी रवि पांडेय ने बताया कि वे अपनी मां का इलाज कराने नागपुर का टिकट लेने आए थे, लेकिन दोपहर तक सारे काउंटर बंद थे, इस वजह से वापस लौट गए।
एक अनुमान के मुताबिक सुबह से शाम तक करीब 200 से ज्यादा टिकट सामान्य दिनों में बनते हैं, लेकिन शनिवार को यह काम नहीं होने से रेलवे को भी राजस्व का नुकसान उठाना पड़ा। डीसीआई बीएल मीणा ने बताया कि शाम 5 बजे सिस्टम सामान्य रूप से काम करने लगा है और यात्रियों के टिकट बनना शुरू हो गए हैं।
Page#    Showing 1 to 20 of 853 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy