Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

मैं अकेला ही चला था जानिब-ए-मंज़िल मगर लोग साथ आते गए और कारवाँ बनता गया - Purnesh Upadhyay

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Thu Dec 9 05:50:46 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRAdvanced Search

BNE/Bohani (2 PFs)
     बोहानी

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Sihora Khulari Road, Bohani, Dis.-Narsinghpur
State: Madhya Pradesh

Elevation: 363 m above sea level
Zone: WCR/West Central   Division: Jabalpur

No Recent News for BNE/Bohani
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 14
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: NaN/5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 11 of 11 News Items  
Aug 17 (13:57) मैमू ने किया निराश यात्रियों ने कहा इससे तो लाख भली थी फास्ट पैसेंजर (www.patrika.com)
Commentary/Human Interest
WCR/West Central
0 Followers
34573 views

News Entry# 462103  Blog Entry# 5043709   
  Past Edits
Aug 17 2021 (13:58)
Station Tag: Karak Bel/KKB added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:58)
Station Tag: Bohani/BNE added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:58)
Station Tag: Shridham/SRID added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:57)
Station Tag: Kareli/KY added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:57)
Station Tag: Narsinghpur/NU added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:57)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:57)
Station Tag: Katni Junction/KTE added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:57)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:57)
Train Tag: Katni - Bina MEMU Inaugural Special/06624 added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:57)
Train Tag: Katni - Bina MEMU Special/06622 added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688

Aug 17 2021 (13:57)
Train Tag: Katni - Itarsi MEMU Special/06620 added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688
नरसिंहपुर. रेलवे द्वारा शुक्रवार से इटारसी कटनी एवं कटनी इटारसी फास्ट पैसेंजर की जगह चलाई गई मैमू ट्रेन ने अपने पहले ही सफर में यात्रियों को निराश किया। बैठने के लिए सीटें संकरी और कम डिब्बे होने के कारण यात्रियों को इसका सफर आरामदायक व सुविधाजनक नहीं लगा और अधिकांश यात्रियों की यही प्रतिक्रिया थी कि इससे तो इटारसी कटनी फास्ट पैसेंजर लाख गुना ज्यादा अच्छी थी। यात्रियों को बैठने के लिए पर्याप्त संख्या में सीटें उपलब्ध थीं और हर डिब्बे में टॉयलेट भी थे। इसमें न तो खिड़कियां हैं और न ही सामान रखने को पर्याप्त जगह। पत्रिका ने इस ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों से बातचीत की तो अधिकांश यात्रियों ने यह कहा कि फास्ट पैसेंजर ज्यादा सुविधाजनक है उसे बंद न किया जाए और यात्रियों को अतिरिक्त सुविधा देने के लिए मैमू को अलग समय पर चलाया जाए। जिससे यहां के छात्रों, छोटे व्यापरियों, अप डाउनर्स व...
more...
छोटे स्टेशनों के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को सुविधा मिलेगी।स्पेशल बनाकर चला रहे फास्ट पैसेंजर की बंदइटारसी -कटनी फास्ट पैसेंजर ०५६७१ एवं कटनी -इटारसी फास्ट पैसेंजर ०५६७२ को कोविड काल में स्पेशल ट्रेन के रूप में चलाया जा रहा था। अब इसकी जगह रेलवे ने शुक्रवार से मैमू ट्रेन ०६६२०-०६६१९ शुरू कर दी है और फास्ट पैसेंजर को बंद कर दिया है। जो पैसेंजर चल रही थी उसमें 14 डिब्बे थे जबकि मैमू में कुल आठ डिब्बे हैं । इसकी सीटें पैंसेंजर की तुलना में कम सुविधाजनक और संकरी हैं जिससे यात्रियों को बैठने में परेशानी महसूस होती है। यात्रियों के लिए खड़े होकर यात्रा करने की भी व्यवस्था की गई है। इस नई नवेली ट्रेन में दरवाजे बड़े हैं जिससे एक साथ कई यात्री सुविधाजनक तरीके से ट्रेन में चढ़ उतर सकते हैं पर डिब्बों में खुली विंडो नहीं है उनमें सुरक्षा जाली लगी है जिससे यात्री स्टेशन के प्लेटफार्म पर वेंडरों से बाहर से कोई सामान चाय नाश्ता पानी की बोतल आदि नहीं खरीद सकते।बाहर से अच्छी लगी पर अंदर जाने पर हुई निराशापहली बार इस ट्रेन से नरसिंहपुर जिले के अलग अलग स्टेशनों से यहां के लोगों ने जबलपुर कटनी व अन्य स्टेशनों के लिए यात्रा की तो नई ट्रेन देखकर उन्हें खुशी हुई और उत्साहपूर्वक ट्रेन के अंदर प्रवेश किया पर जब अंदर बैठने के लिए सीट नहीं मिली तो निराशा हुई। आसपास के २०-३० किमी जाने वालों का सफर तो आसान रहा पर जिन्हें नरसिंहपुर, करेली, गाडरवारा, बोहानी, श्रीधाम करकबेल से कटनी जाना था उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा। लौटते समय कटनी से इटारसी तक जाने वाले कई यात्रियों को सीट न मिलने से खड़े खड़े सफर करना काफी कष्टप्रद साबित हुआ। खासतौर से सीनियर सिटीजन और बीमार व बच्चों के लिए मैमू का सफर कष्टदायक रहा। मैमू का सफर करने वाले यात्रियों की जुबानीपत्रिका टीम ने नरसिंहपुर स्टेशन, श्रीधाम, करेली, गाडरवारा,बोहानी आदि स्टेशनों पर इससे सफर करने वाले मुसाफिरों से बात की तो अधिकांश लोगों ने यह कहा कि यह ट्रेन एक नई सुविधा हो सकती है पर फास्ट पैसेंजर को पहले की तरह चालू रखा जाए और उसे बंद न किया जाए। श्रीधाम स्टेशन पर कालूराम पटेल ने कहा यह ट्रेन फास्ट पैसेंजर की तुलना में अच्छी व आरामदायक नहीं है। फास्ट पैसेंजर को चालू किया जाए, इस ट्रेन को उसके पीछे कुछ देरी के अंतर से चलाया जाए।करेली स्टेशन से ट्रेन से चढ़े अरुण अस्थाना ने कहा इसमें डिब्बों की संख्या कम है जिससे अधिकांश लोगों को सीट नहीं मिली। यह सुविधाजनक नहीं है। इससे अच्छी तो फास्ट पैसेंजर ट्रेन थी।गाडरवारा स्टेशन पर उतरे रामप्रकाश अहिरवार ने बताया उन्हें इटारसी से खड़े होकर आना पड़ा क्योंकि डिब्बे कम होने से सीट नहीं मिल सकी। उन्होंने कहा इसे चालू रखें पर फास्ट पैसेंंजर बंद न करें।नरसिंहपुर स्टेशन पर उतरे अजय दुबे ने बताया कि वे इटारसी से इस ट्रेन में चढ़े थे डिब्बे कम होने से सीटें पहले ही भर गईं गाडरवारा में बैठने के लिए सीट मिली। दुबे का कहना था कि फास्ट पैसेंजर बंद कर मैमू चलाना गलत निर्णय है। त्योहारों के समय होगी परेशानीमैमू ट्रेन में केवल ८ डिब्बे होने की वजह से त्योहारों के समय यात्रियों का सफर काफी परेशानी भरा होगा। इसके पहले चलाई जा रही फास्ट पैसेंजर में १४ डिब्बे होने की वजह से अधिक संख्या में यात्री सफर कर पाते थे। ऊपर की सीट पर भी यात्री बैठ जाते थे। यात्री कम होने पर सीटें खाली होने पर यात्री आराम से सोकर अपनी थकान भी मिटा लेते थे। वर्जनरेलवे ने यात्रियों को और अधिक सुविधाएं देने व आरामदायक सफर के लिए फास्ट पैसेंजर की जगह मैमू ट्रेन चलाई है। फास्ट पैसेंजर को बंद कर दिया गया है।संजय सोनकर स्टेशन मास्टर---------------
May 17 (16:40) Jabalpur Railway News: बोहानी रेल हादसा की एक माह बाद भी जांच अधूरी (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
7774 views

News Entry# 451775  Blog Entry# 4963678   
  Past Edits
May 17 2021 (16:40)
Station Tag: Bohani/BNE added by Adittyaa Sharma/1421836

May 17 2021 (16:40)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Jabalpur Junction/JBP   Bohani/BNE  
जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रेल दुर्घटनाओं के बाद रेलवे हादसे वाली जगह पर राहत कार्य तो समय पर पहुंचा देता है, लेकिन घटना के बाद जांच करने में उसकी रफ्तार इतनी सुस्त है कि महीनों बाद भी घटना के कारणों का पता नहीं चल पाता। दरअसल एक माह पूर्व जबलपुर रेल मंडल के इटारसी-जबलपुर रेल खंड के बोहानी रेलवे स्टेशन पर पैसेंजर ट्रेन के कोच पटरी से उतर गए थे, लेकिन इसका दोषी कौन था, इसका पता अब तक नहीं चल सका है। हालांकि घटना की वजह पटरी पर लोहे का टुकड़ा रखना सामने आया, पर अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि इसे किसने रखा, पटरी के पास लोहा कहां से आया, पटरी की सुरक्षा के लिए गश्त करने वाले कहां थे और पटरी तक लोहा कैसे पहुंचा। यह सवाल रेलवे की संरक्षा और सुरक्षा, दोनों पर सवाल खड़े कर रहे हैं।
रेलवे
...
more...
की जांच पूरी, जीआरपी की अधूरी : जबलपुर रेल मंडल ने मामले की जांच करते हुए यह बताया कि पटरी पर लोहा रखा गया था, लेकिन जैसे ही उसे इस बात का संदेह हुआ कि इस घटना में किसी रेल कर्मचारी के शामिल होने संदेह है तो उसने विस्तृत जांच का काम जीआरपी को सौंप दिया। इधर जीआरपी ने भी मामले की जांच करते हुए कई सवालों के जवाब हासिल कर लिए हैं, लेकिन अब तक इसकी जांच पूरी नहीं हो सकी है। जीआरपी का कहना है कि वह दोषियों तक पहुंच चुका है, लेकिन अभी कुछ और सवालों के जवाब लेना बाकी है, इसलिए अभी जांच पूरी नहीं हो सकी।
कर्मचारियों के बीच का विवाद, मुख्य वजह : सूत्रों के मुताबिक इस घटना में जबलपुर रेल मंडल के इंजीनियरिंग विभाग के कुछ कर्मचारियों के शामिल होने की संभावना है। दरअसल घटना के कुछ दिन पूर्व इंजीनियरिंग विभाग के कुछ कर्मचारियों के बीच विवाद हुआ, जिसके कुछ दिन बाद यह घटना हो गई। इतना ही नहीं जिस व्यक्ति ने पटरी पर लोहा रखा, उसने प्वाइंट लॉक होने के दौरान ही लोहा रखा। उसे इसका पता था कि ट्रेन आ रही है। इतना ही नहीं लोहा रखने के पहले मेन लाइन से एक सुपरफास्ट ट्रेन भी गुजरी थी।
------------------
रेल दुर्घटना की जांच करने के लिए एडिशनल एसी जांच कर रहे हैं। सभी पहलुओं को खास तौर पर जांचा जा रहा है ताकि घटना की वजह और दोषी को सबूत के साथ पकड़ा जा सके। जल्द ही हम इस मामले की जांच पूरी कर लेंगे।
- एसके जैन, एसआरपी, जीआरपी जबलपुर
Apr 19 (18:06) Jabalpur Railway News: बोहाना रेल दुर्घटना का पता नहीं लगा पाया जबलपुर रेल मंडल (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
9097 views

News Entry# 449058  Blog Entry# 4943118   
  Past Edits
Apr 19 2021 (18:07)
Station Tag: Bohani/BNE added by Adittyaa Sharma/1421836

Apr 19 2021 (18:07)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Jabalpur Junction/JBP   Bohani/BNE  
जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जबलपुर रेल मंडल की सीमा से लगे बोहानी रेलवे स्टेशन पर पैसेंजर ट्रेन के कोच का पहिया ट्रक से उतर गया। इस घटना को तकरीबन एक माह हो गया है, इसके बाद भी जबलपुर रेल मंडल के अनुभवी अधिकारी और जानकार घटना की सही वजह का पता नहीं लगा सके हैं ।
सूत्रों की मानें तो यह घटना इंजीनियरिंग विभाग के कुछ अधिकारियों के बीच चल रहे विवाद की वजह बताई जा रही है। ट्रैक मेंटेनेंस को लेकर इंजीनियरिंग विभाग के कर्मचारी और अधिकारियों के बीच चल रही तनातनी की वजह से यह घटना हुई। यह बात जांच में भी सामने आई है, हालांकि रेलवे अभी भी इस घटना की दूसरी वजह तलाशने में जुटा है। जबलपुर रेल मंडल
...
more...
की जांच टीम को अब तक इस मामले में पुख्ता जानकारी नहीं मिली है। जांच के सभी पहलुओं को अभी भी संभावित माना जा रहा है।
आरपीएफ-जीआरपी कर रही जांच : इस मामले में जबलपुर रेल मंडल ने एक ओर विभागीय जांच बैठाई है तो वहीं दूसरी ओर आरपीएफ-जीआरपी भी इस मामले की जांच कर रही है। रेल मंडल ने इस जांच में स्थानीय पुलिस की भी मदद ली थी। रेलवे की प्रारंभिक जांच में होम सिग्नल से प्लेटफार्म की ओर आने वाले ट्रैक पर लोहे का टुकड़ा रखा गया था, जिस वजह से कोच के पहिए पटरी से उतरे, लेकिन यह टुकड़ा यहां आया कैसे। रेलवे का शक है कि यह काम रेलवे ट्रैक के आस-पास बसे गांव में रहने वालों से पूछताछ की जा रही है। रेलवे स्टेशन से महज पांच सौ मीटर दूर रेलवे ट्रैक पर लोहे का टुकड़ा रख दिया गया, लेकिन इसकी खबर रेलवे और जीआरपी- आरपीएफ किसी को नहीं लगी। जानकारों का कहना है कि घटना के वक्त ट्रेन प्लेटफार्म पर आ रही थी, जिससे उसकी स्पीड कम थी।
Apr 08 (11:13) Jabalpur News: एक सप्ताह बाद भी नहीं पता चली दुर्घटना की वजह (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
12810 views

News Entry# 448125  Blog Entry# 4932858   
  Past Edits
Apr 08 2021 (11:13)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by Adittyaa Sharma/1421836

Apr 08 2021 (11:13)
Station Tag: Bohani/BNE added by Adittyaa Sharma/1421836

Apr 08 2021 (11:13)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma/1421836
जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जबलपुर-इटारसी रेलवे ट्रैक के बोहानी रेलवे स्टेशन के पास पैसेंजर ट्रेन के कोच के पहिए पटरी से उतरने के मामले की जांच पिछले एक सप्ताह से चल रही है, लेकिन जबलपुर रेल मंडल की जांच टीम को अब तक इस मामले में पुख्ता जानकारी नहीं मिली है। जांच के सभी पहलुओं को अभी भी संभावित माना जा रहा है।
दरअसल इस मामले में जबलपुर रेल मंडल ने एक ओर विभागीय जांच बैठाई है तो वहीं दूसरी ओर आरपीएफ-जीआरपी भी इस मामले की जांच कर रही है। रेल मंडल ने इस जांच में स्थानीय पुलिस की भी मदद मांगी है। रेलवे की प्रारंभिक जांच में होम सिग्नल से प्लेटफार्म की ओर आने वाले ट्रैक पर लोहे का टुकड़ा रखा गया
...
more...
था, जिस वजह से कोच के पहिए पटरी से उतरे, लेकिन यह टुकड़ा यहां आया कैसे। रेलवे का शक है कि यह काम रेलवे ट्रैक के आस-पास बसे गांव में रहने वालों ने किया। इस बारे में पूछताछ की जा रही है।
इंजीनियरिंग विभाग की है जिम्मेदारी : रेलवे ट्रैक की सुरक्षा की जिम्मेदारी इंजीनियरिंग विभाग की है। उसके प्वाइंटमेन, ट्रैकमेन और पेट्रोलमेन इस जिम्मेदारी को संभालते हैं। इसके बाद भी रेलवे स्टेशन से महज पांच सौ मीटर दूर रेलवे ट्रैक पर लोहे का टुकड़ा रख दिया गया, लेकिन इसकी खबर रेलवे और जीआरपी-आरपीएफ किसी को नहीं लगी। जानकारों का कहना है कि घटना के वक्त ट्रेन प्लेटफार्म पर आ रही थी, जिससे उसकी स्पीड कम थी। मेन लाइन पर लोहे का टुकड़ा रखा गया होता दो हादसा बड़ा हो सकता था। अभी तक की गई जांच में यह बात भी सामने आई है कि जिस लोहे के टुकड़े को ट्रैक पर रखा गया, वह रेलवे पटरी से निकला हुआ टुकड़ा था।
मध्यप्रदेश में बोहानी रेलवे स्टेशन के पास इटारसी-छिवकी (प्रयागराज) विशेष पैसेंजर ट्रेन की एक एसएलआर कोच बुधवार को पटरी से उतर गई। इससे जबलपुर-इटारसी सेक्शन में डाउन लाइन पर रेल यातायात प्रभावित हुआ है।विज्ञापनहालांकि, इससे किसी व्यक्ति के हताहत होने की खबर नहीं है। पश्चिम-मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राहुल जयपुरिया ने बताया, इटारसी-छिवकी (प्रयागराज) विशेष पैसेंजर ट्रेन नंबर 01117 का एक एसएलआर कोच बोहानी रेलवे स्टेशन के पास बुधवार रात को करीब पौने नौ बजे पटरी से उतर गया। उन्होंने कहा, इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। जयपुरिया ने बताया कि यह कोच इंजन के बाद लगा हुआ था। उन्होंने कहा कि हादसे के कारण का पता लगाया जा रहा है।जयपुरिया ने बताया कि हादसे के कारण जबलपुर-इटारसी सेक्शन में डाउन लाइन पर रेल यातायात प्रभावित हुआ है। बोहानी रेलवे स्टेशन पश्चिम-मध्य रेलवे के जबलपुर-इटारसी सेक्शन में आता है।
Page#    Showing 1 to 11 of 11 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy