PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Who says South India does not have Gatimaan. It is called Vaigai Express. - Thamizh Maran

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Nov 25 11:04:44 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 816351-0

KRE/Kartarpur (2 PFs)
ਕਰਤਾਰਪੁਰ     करतारपुर

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
GT road, Kartarpur
State: Punjab


Zone: NR/Northern   Division: Firozpur

No Recent News for KRE/Kartarpur
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 23
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 4.1/5 (7 votes)
cleanliness - good (1)
porters/escalators - good (1)
food - n/a (0)
transportation - good (1)
lodging - good (1)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - excellent (1)
safety - good (1)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 6 of 6 News Items  
Oct 22 (06:09) मालगाड़ियों को नहीं रोकेंगे : लिट्टा (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
2588 views

News Entry# 422281  Blog Entry# 4754829   
  Past Edits
Oct 22 2020 (06:09)
Station Tag: Kartarpur/KRE added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Kartarpur/KRE  
संवाद सहयोगी, करतारपुर : कृषि सुधार कानून के विरोध में भारती किसान यूनियन द्वारा रेलवे स्टेशन पर जिला प्रधान जसवीर सिंह लिट्टा की अगुआई में लगाया गया धरना 21वें दिन भी जारी रहा। इस दौरान किसानों ने कृषि सुधार कानून को रद करने की मांग की। उन्होंने कहा कि उक्त कानून किसानों के हक में नहीं है और किसानों को खत्म करके रख देगा। इस दौरान लिट्टा ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर चल रहा धरना पांच नवंबर तक जारी रहेगा। इस दौरान मालगाड़ियों को निकलने दिया जाएगा और बाकी सभी ट्रेनें, मॉल एवं पेट्रोल पंप बंद रखेंगे। इस संबंध में चार नवंबर को एक यूनियन की बैठक भी बुलाई गई है जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा की जाएगी। प्रदर्शन के दौरान ब्लाक प्रधान बहादुर सिंह, सरबजीत सिंह बाठ, चरणजीत सिंह, कुलविदर सिंह, कश्मीर सिंह, जोगिदर सिंह, बलवीर सिंह, बलराज सिंह, दलजीत सिंह, सुखदेव सिंह, शमशेर सिंह, शिंगारा सिंह, सुखदेव,...
more...
सरबजीत, हरसिमरन सिंह, जगतार सिंह, बलविदर सिंह मौजूद थे।
Dec 19 2019 (11:49) Saryu-Yamuna Express Fire: करतारपुर स्टेशन पर देर रात तक मची रही अफरा-तफरी (m.jagran.com)
Crime/Accidents
NR/Northern
0 Followers
17021 views

News Entry# 396911  Blog Entry# 4517653   
  Past Edits
Dec 19 2019 (11:49)
Station Tag: Sura Nussi/SRX added by Shaurya117^~/306448

Dec 19 2019 (11:49)
Station Tag: Kartarpur/KRE added by Shaurya117^~/306448

Dec 19 2019 (11:49)
Train Tag: Saryu Yamuna Express/14649 added by Shaurya117^~/306448
Stations:  Kartarpur/KRE   Sura Nussi/SRX  
जालंधर (करतारपुर), जेएनएन। जालंधर के सूरानुस्सी और करतारपुर स्टेशन के बीच सरयू-यमुना एक्सप्रेस () में बुधवार देर रात आग लगने से करतारपुर रेलवे स्टेशन पर हड़कंप मच गया। रात 10.30 बजे से लेकर 1.55 बजे तक लाइन ब्लॉक रही। इस दौरान कोई भी ट्रेन यहां से नहीं गुजरी। ऐसे में दिल्ली से आने वाली रेलगाडिय़ों को लुधियाना, फिल्लौर और जालंधर रेलवे स्टेशनों पर रोक दिया गया था। वहीं, अमृतसर से आने वाली रेलगाडिय़ों को ब्यास स्टेशन पर रोक दिया गया था।
इस दौरान इलेक्ट्रिफिकेशन पावर को काट दिया गया था। देर रात फायर ब्रिगेड ने लिखकर दिया कि आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया गया है। इसके बाद करीब 1.55 बजे अमृतसर से रेल ट्रैफिक चालू कर दिया गया। अमृतसर
...
more...
से दिल्ली की ओर एक मालगाड़ी को गुजारा गया।
पहले एस2 में लगी आग
सबसे पहले S2 में लगी थी आग। जब तक ट्रेन को रोककर डब्बों को अलग किया जाता, आग फैल चुकी थी। डब्बों को अलग करने में लगे समय के कारण आग निरंतर फैलती गई। ट्रेन के S1 S2 S3 में लगी आग तीनों ही स्लीपर कोच थे। S1 में सवार सुखदेव सिंह ने बताया कि वह टॉयलेट जाने के लिए उठे थे। ट्रेन के अंदर से जलने की बदबू आ रही थी। आग की आशंका को देखते हुए भाइयों को उठाया और शोर मचाना शुरू कर दिया कि कोच में आग लग गई है। सुखदेव की मुताबिक आग खिड़की के एक तरफ जलना शुरू हुई थी।
जालंधरः सरयू-यमुना ट्रेन के कोच एस१ में सवार सुखदेव सिंह के अनुसार आग खिड़की ओर से लगनी शुरू हुई थी।
कोच S4 सवार ओम प्रकाश कहते हैं कि वे आजमगढ़ से आ रहे हैं और करतारपुर स्टेशन से पहले ही कुछ समय ट्रेन को रोका गया था।  कुछ जलने की की दुर्गंध आ रही थी। जब आग लगने का पता चला तो अफरा-तफरी मच गई। गाजियाबाद से S5 में बैठी पूजा चोपड़ा ने कहा कि जैसे ही ट्रेन स्टेशन पर रुकी, चिल्लाते हुए लोग बाहर भागे। बोला- फटाफट से ट्रेन से उतरो, आग लग गई है।
एस5 में सवार पूजा चोपड़ा व अन्य दुर्घटना के बारे में जानकारी देते हुए।
 
1853 में शुरू हुई थी फ्लाइंग मेल
दिल्ली से अमृतसर के बीच चलने वाली सरयू-यमुना एक्सप्रेस भारत के विभाजन से पहले दिल्ली और कराची के बीच फ्लाइंग मेल के नाम से चलती थी। यह ट्रेन 1853 में शुरू हुई थी। विभाजन से पहले फ्लाइंग मेल कराची से लाहौर होते हुए दिल्ली तक जाती थी और दो शहरों के बीच सबसे तेज ट्रेन थी। 2001 में इसे बंद कर दिया गया था। बाद में इसे सरयू-यमुना एक्सप्रेस और शहीद एक्सप्रेस के नाम से शुरू किया गया। इसे अमृतसर तक विस्तारित किया गया। यह हफ्ते में चार दिन बिहार के जयनगर और अमृतसर के बीच चलती है।

15822 views
Dec 19 2019 (11:50)
Shaurya117
Shaurya117^~   7065 blog posts
Re# 4517653-1            Tags   Past Edits
Sir, is the information about "Flying Mail" authentic ?
(Mentioned in last paragraph)

Dec 20 2019 (06:05)
CircarExpress
TheMadrasMail^~   6067 blog posts
Re# 4517653-2            Tags   Past Edits
Thanks for bringing this up.
No, the information in the paragraph is incorrect. The most obvious mistake is the year of introduction - 1853 - which is wrong and even nonsensical. The first public railway in the country was opened in April 1853 in Bombay.
Delhi did not have any railways till 1866. The route to Lahore (via SRE) was opened by 1870 and the Delhi-Panipat-Ambala route was opened only in 1891. There is absolutely no possibility of having any train from Delhi to Karachi in 1853. Both places didn't even have
...
more...
railway tracks then!
In fact, there were no dedicated trains between Delhi and Karachi at anytime in history. Passengers always had to change trains at Lahore.
However, there was a train named the 'Flying Mail' which used to run between Delhi and Amritsar until the 90's. This train was cancelled and the Shaheed/ Saryu-Yamuna expresses were extended to Amritsar from Delhi, running roughly with the same schedule as the old 'Flying mail'.
However, contrary to the article's claims, the Flying mail never went to Karachi. It was introduced after independence and was terminating at Amritsar right from it's introduction. It was introduced shortly after the formation of NR in 1952. At that time, it was just called 'Amritsar mail'. It was renamed to 'Flying mail' sometime around 1959.

14390 views
Dec 20 2019 (06:05)
CircarExpress
TheMadrasMail^~   6067 blog posts
Re# 4517653-3            Tags   Past Edits
The article seems to have pulled the content from the Wikipedia article about the Flying mail, which has a lot of wrong information.
Dec 19 2019 (08:05) पंजाब के करतारपुर रेलवे स्टेशन पर खड़ी ट्रेन में लगी आग, तीन बोगियां जलकर खाक (hindi.news18.com)
0 Followers
23278 views

News Entry# 396882  Blog Entry# 4517433   
  Past Edits
Dec 19 2019 (08:06)
Station Tag: Kartarpur/KRE added by ᏕᏬᎮᏋᏒᎷᏗᏁ🚩^~/1480955

Dec 19 2019 (08:06)
Train Tag: Saryu Yamuna Express/14650 added by ᏕᏬᎮᏋᏒᎷᏗᏁ🚩^~/1480955
Stations:  Kartarpur/KRE  
पंजाब के करतारपुर रेलवे स्टेशन पर खड़ी ट्रेन में लगी आग. ((प्रतिकात्मक फोटो) ...
more...
आग इतनी तेज थी कि तीन बोगियां इसकी चपेट में आ गईं. आग लगने के बाद यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. इस हादसे में किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है.
नई दिल्ली. पंजाब (Punjab) के करतारपुर रेलवे स्टेशन (Kartarpur railway station) पर खड़ी सरयू यमुना एक्सप्रेस ट्रेन (Saryu Yamuna Express train) में गुरुवार सुबह आग लग गई. आग इतनी तेज थी कि तीन बोगियां इसकी चपेट में आ गईं. आग लगने के बाद यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. इस हादसे में किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पाने का काम तेज कर दिया है.जानकारी के मुताबिक गुरुवार को पंजाब के करतारपुर रेलवे स्टेशन पर सरयू यमुना एक्सप्रेस ट्रेन में आग लग गई. आग ट्रेन में कैसे लगी अभी तक इसकी जानकारी नहीं लग सकी है. बताया जाता है कि जिस समय आग लगी उस वक्त ट्रेन में लोग सो रहे थे. आग की सूचना पाते ही हर तरफ अफरा-तफरी मच गई. रेलवे अधिकारियों ने सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला. आग इतनी तेज थी कि तीन बोगियां इसकी चपेट में आ गईं. ट्रेन में आग लगने की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने आग बुझाने का काम तेज कर दिया है.अभी तक इस घटना किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं है. मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने ट्रेन में आग लगने की जांच शुरू कर दी है.इसे भी पढ़ें :- Railway ने कैंसिल की 458 ट्रेनें, UP और बिहार सहित इन रूटों की गाड़ियां शामिल, यहां देखें पूरी लिस्टमामले की होगी फॉरेंसिक जांचस्टेशन मास्टर जंग बहादुर के मुताबिक हादसे के कारण ट्रैक नंबर 1, 3 और 4 पूरी तरह प्रभावित रही. फिरोजपुर डिवीजन के डीआरएम ने ट्वीट करके जानकारी दी कि सभी यात्री सुरक्षित हैं और सभी को अमृतसर पहुंचाया जा रहा है. इसके बाद रात करीब 1:30 बजे ट्रैक नंबर 2 और 3 को अन्य ट्रेनों की आवाजाही के लिए एक बार फिर से शुरू कर दिया गया. रेलवे अधिकारियों का कहना है कि मामले की फॉरेंसिक जांच की जाएगी.इसे भी पढ़ें :- अब रेल का सफर होगा ज्यादा आरामदायक, रेलवे लगा रही ट्रेनों में ये खास कोच News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें. Fireindian railwayPunjabpunjab newsrailway First published: December 19, 2019, 7:33 AM IST
नई दिल्ली. पंजाब (Punjab) के करतारपुर रेलवे स्टेशन (Kartarpur railway station) पर खड़ी सरयू यमुना एक्सप्रेस ट्रेन (Saryu Yamuna Express train) में गुरुवार सुबह आग लग गई. आग इतनी तेज थी कि तीन बोगियां इसकी चपेट में आ गईं. आग लगने के बाद यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. इस हादसे में किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पाने का काम तेज कर दिया है.जानकारी के मुताबिक गुरुवार को पंजाब के करतारपुर रेलवे स्टेशन पर सरयू यमुना एक्सप्रेस ट्रेन में आग लग गई. आग ट्रेन में कैसे लगी अभी तक इसकी जानकारी नहीं लग सकी है. बताया जाता है कि जिस समय आग लगी उस वक्त ट्रेन में लोग सो रहे थे. आग की सूचना पाते ही हर तरफ अफरा-तफरी मच गई. रेलवे अधिकारियों ने सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला. आग इतनी तेज थी कि तीन बोगियां इसकी चपेट में आ गईं. ट्रेन में आग लगने की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने आग बुझाने का काम तेज कर दिया है.अभी तक इस घटना किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं है. मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने ट्रेन में आग लगने की जांच शुरू कर दी है.इसे भी पढ़ें :- Railway ने कैंसिल की 458 ट्रेनें, UP और बिहार सहित इन रूटों की गाड़ियां शामिल, यहां देखें पूरी लिस्टमामले की होगी फॉरेंसिक जांचस्टेशन मास्टर जंग बहादुर के मुताबिक हादसे के कारण ट्रैक नंबर 1, 3 और 4 पूरी तरह प्रभावित रही. फिरोजपुर डिवीजन के डीआरएम ने ट्वीट करके जानकारी दी कि सभी यात्री सुरक्षित हैं और सभी को अमृतसर पहुंचाया जा रहा है. इसके बाद रात करीब 1:30 बजे ट्रैक नंबर 2 और 3 को अन्य ट्रेनों की आवाजाही के लिए एक बार फिर से शुरू कर दिया गया. रेलवे अधिकारियों का कहना है कि मामले की फॉरेंसिक जांच की जाएगी.इसे भी पढ़ें :- अब रेल का सफर होगा ज्यादा आरामदायक, रेलवे लगा रही ट्रेनों में ये खास कोच
Aug 31 2019 (21:43) अमृतसर में 450 से ज्यादा यात्रियों को जबरन तीन घंटे Waiting room में बैठाए रखा, ये बताई वजह (m.jagran.com)
NR/Northern
0 Followers
45898 views

News Entry# 389948  Blog Entry# 4415060   
  Past Edits
Aug 31 2019 (21:43)
Station Tag: Kartarpur/KRE added by 🚂ਰੇਲਗੱਡੀਆਂ ਮੇਰੀ ਬਚਪਨ ਦੀ ਸਾਥੀ🚂^~/1694799

Aug 31 2019 (21:43)
Station Tag: Jalandhar City Junction/JUC added by 🚂ਰੇਲਗੱਡੀਆਂ ਮੇਰੀ ਬਚਪਨ ਦੀ ਸਾਥੀ🚂^~/1694799

Aug 31 2019 (21:43)
Station Tag: Amritsar Junction/ASR added by 🚂ਰੇਲਗੱਡੀਆਂ ਮੇਰੀ ਬਚਪਨ ਦੀ ਸਾਥੀ🚂^~/1694799

Aug 31 2019 (21:43)
Station Tag: Beas Junction/BEAS added by 🚂ਰੇਲਗੱਡੀਆਂ ਮੇਰੀ ਬਚਪਨ ਦੀ ਸਾਥੀ🚂^~/1694799

Aug 31 2019 (21:43)
Train Tag: Sambalpur - Jammu Tawi Express/18309 added by 🚂ਰੇਲਗੱਡੀਆਂ ਮੇਰੀ ਬਚਪਨ ਦੀ ਸਾਥੀ🚂^~/1694799

Aug 31 2019 (21:43)
Train Tag: Howrah - Amritsar Express/13049 added by 🚂ਰੇਲਗੱਡੀਆਂ ਮੇਰੀ ਬਚਪਨ ਦੀ ਸਾਥੀ🚂^~/1694799
Posted by: Sonu^~ 63 news posts
जेएनएन, अमृतसर। रेलवे प्रशासन ने जालंधर से ब्यास व अमृतसर सफर करने वाले 450 यात्रियों को अमृतसर रेलवे स्टेशन के वेटिंग रूम में तीन घंटे तक जबरन बैठाकर रखा। ये सभी यात्री डुप्लीकेट हावड़ा व टाटा मूरी ट्रेन में सफर कर रहे थे। रेलवे ने इन पर आरोप लगाया कि मासिक सीजन टिकट (एमएसटी) वाले व अन्य यात्री साधारण टिकट पर स्लिपर श्रेणी में सफर कर रहे थे, जबकि दूसरी तरफ यात्रियों का कहना है कि जनरल डिब्बों में जगह नहीं होने के कारण वे स्लिपर में सवार हो गए थे।
करतारपुर के पास टीटीई, जीआरपी और आरपीएफ की टीमों ने उन्हें घेर लिया और जुर्माना करने की बात कहने लगीं। वे जुर्माना भरने को भी तैयार थे। बावजूद इसके रेलवे प्रबंधन
...
more...
ने उनकी एक नहीं सुनी और जबरन अमृतसर रेलवे स्टेशन पर ले आए। इनमें से कई यात्रियों ने ब्यास स्टेशन पर भी उतरना था। पीड़ित रेल यात्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगाई है कि रेलवे की व्यवस्था को अपग्रेड किया जाए, ताकि टीटीई, जीआरपी और आरपीएफ के अधिकारी यात्रियों का शोषण ना कर सकें।
जालंधर के अर्जुन नगर निवासी राजेश कुमार, कबीर पार्क निवासी रोहित और संसारपुर निवासी विजय प्रसाद ने बताया कि रेल में भारी भीड़ होने के कारण वह स्लिपर में चढ़ गए। करतारपुर के पास दो दर्जन से ज्यादा टीटीई और पुलिस की टीम ने उन्हें घेर लिया और मजिस्ट्रेट चेकिंग का हवाला देकर जुर्माना करने की बात कही। वह जुर्माना मौके पर देने को तैयार थे। बावजूद उन्हें ब्यास रेलवे स्टेशन पर नहीं उतरने दिया गया। रेल में कोई मजिस्ट्रेट भी नहीं थे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि रेलवे के मुलाजिमों ने अवैध वसूली के बाद कुछ यात्रियों को छोड़ दिया।
महिला प्रतिक्षालय को करवाया खाली
यात्रियों ने आरोप लगाया कि रेलवे की उक्त टीम के पास इतने सारे यात्रियों को एक जगह रखने की जगह नहीं थी। उसी कारण 50-60 यात्रियों को महिला प्रतीक्षालय खाली करवाकर वहां बंद कर दिया। हालांकि महिला प्रतीक्षालय में बच्चों को ब्रेस्ट फीड करवाने वाले सेक्शन को भी खाली करवाया गया।
हर रोज रात को करते थे ट्रैक पर चेकिंग
जालंधर. जालंधर जिले के करतारपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर रविवार देर रात करीब ढाई बजे करतारपुर के ही स्टेशन मास्टर अमनदीप सिंह (31) की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। सारी रात स्टेशन मास्टर के शव से ट्रेनें गुजरती रही।
 स्टेशन मास्टर जेवी पटेल ने बताया कि वह छुट्‌टी पर थे। उन्हें सूचना मिली थी कि स्टेशन पर कोई नहीं है। उन्होंने आकर ट्रेनों की लिस्ट चेक की। करतारपुर के दोनों तरफ के फाटक आधे घंटे से बंद पड़े हुए
...
more...
थे। सिग्नल की लाइटें बंद होने के कारण ही फाटकों को खोला नहीं जा रहा था। स्टेशन पर पहुंचकर उन्होंने सबसे पहले लाइटें शुरू करवाई और फाटक खुलवाए।
स्टेशन मास्टर जेवी पटेल ने बताया कि जब उन्होंने स्टेशन मास्टर अमनदीप सिंह को ढूंढना शुरू किया तो वह मिले नहीं। सुबह 6 बजे के करीब दूर ट्रैक पर एक व्यक्ति की लाश देखी। जब पास जाकर देखा तो उसकी पहचान अमनदीप के रूप में हुई। उन्होंने उसी समय इसकी जानकारी डीओएम ऐके सलारिया, जीआरपी एसएचओ धर्मेंद्र कल्याण को दी, जिन्होंने मौके पर आकर जांच शुरू की। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि मृतक अमनदीप सिंह के पिता पहले रेलवे में नौकरी करते थे। उनके गुजरने के बाद अमनदीप सिंह को नौकरी दी गई। मां और पिता की पहले ही मौत हो चुकी थी और अमनदीप अपनी बहन के साथ सूरानुस्सी रेलवे क्वार्टर में रहते थे। अमनदीप सिंह की अभी शादी नहीं हुई।
 जीआरपी एसएचओ ध्रमेंद्र कल्याण ने कहा कि जांच में ऐसा कुछ सामने नहीं आया है। स्टेशन मास्टर अमनदीप सिंह का व्यवहार बहुत ही शांत और मिलनसार था। ये रेल एक्सीडेंट है। स्टाफ से पूछा तो पता लगा कि अमनदीप हर रोज ट्रैक की चेकिंग करता था। ट्रेन के आने का पता नहीं लगा। इस कारण वह ट्रेन की चपेट में आ गए।
 

 
Page#    Showing 1 to 6 of 6 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy