Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

प्रयागराज एक्सप्रेस - जो भी हो तुम खुदा की कसम; लाजवाब हो

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Apr 14 22:11:57 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 608638-0
Scenic; Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 3651035-0

CSA/Chausa (3 PFs)
چوسہ     चौसा

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Nyaypur, State Highway 14, Distt.- Buxar, Pin - 802114
State: Bihar

Elevation: 68 m above sea level
Zone: ECR/East Central   Division: Danapur

No Recent News for CSA/Chausa
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 26
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 5.0/5 (8 votes)
cleanliness - excellent (1)
porters/escalators - excellent (1)
food - excellent (1)
transportation - excellent (1)
lodging - excellent (1)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - excellent (1)
safety - excellent (1)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 17 of 17 News Items  
Jan 30 (22:07) रेलवे लाइन के लिए 147 एकड़ जमीन का होगा अधिग्रहण (www.jagran.com)
New Facilities/Technology
ECR/East Central
0 Followers
10548 views

News Entry# 435904  Blog Entry# 4862080   
  Past Edits
Jan 30 2021 (22:08)
Station Tag: Chausa/CSA added by ANIKET/1490219

Jan 30 2021 (22:08)
Station Tag: Buxar/BXR added by ANIKET/1490219
Stations:  Buxar/BXR   Chausa/CSA  
चौसा ताप बिजली परियेाजना पर तेजी से काम चल रहा है और 2023 तक इसको पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। परियोजना के तहत यहां से 660 मेगावाट के दो प्लांटों से कुल 1320 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा। परियोजना को कोयला आपूर्ति करने के लिए चौसा स्टेशन के पास से अलग से रेलवे लाइन बिछाई जाएगी। इसके लिए 10 मौजे की लगभग 147 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा। रेलवे लाइन के लिए ली जाने वाली जमीन के सामाजिक और आर्थिक प्रभाव का सर्वे पूरा हो गया है और इसे बक्सर प्रशासन के वेबसाइट पर जारी कर दिया गया है। सर्वे के अनुसार रेलवे लाइन के लिए 769 रैयतों से 147.264 एकड़ जमीन लेने की आवश्यकता होगी। रेलवे लाइन जिन मौजा से होगा गुजरेगी, वह काफी उपजाऊ जमीन है और इस वजह से अधिग्रहण के बाद भू-दाताओं को त्वरित मुआवजा देने पर बल दिया गया है।...
more...
जिन किसानों से जमीन ली जानी है, वे मिश्रित वर्ग से आते हैं और अधिकांश का जीवन यापन का आधार खेती ही है। ऐसे में रिपोर्ट में अपनी जमीन गंवाने वाले छोटे रैयतदारों के लिए रोजगार की व्यवस्था करने की भी अनुशंसा की गई है।
रेलवे लाइन से आपूर्ति होगा कोयला ताप बिजली परियोजना में पूरी क्षमता से बिजली उत्पादन के लिए हर सप्ताह दो से तीन रैक कोयले की आवश्यकता होगी। इसका पूरा सप्लाई चेन तैयार होगा और रेलवे की रैक प्लांट के अंदर भंडार तक कोयला लेकर जाएगी। इसलिए प्लांट का निर्माण कार्य पूरा होने से रेलवे लाइन का कार्य पूरा होना आवश्यक बताया जा रहा है। इसे देखते हुए भूमि अधिग्रहण के कार्य में तेजी आई है। परियोजना का खास पहलू यह भी है कि इस मार्ग पर रेलवे लाइन बिछाने से किसी आबादी को विस्थापित होना नहीं पड़ेगा। क्षेत्र का तेजी से होगा विकास परियोजना से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि सामाजिक प्रभाव के आकलन में ताप विद्युत परियोजना और रेलवे लाइन बिछने से प्रभावित क्षेत्र में तेजी से विकास की संभावना जताई गई है। इससे आसपास के क्षेत्रों में जमीन की कीमतें तेजी से बढ़ रही हैं। परियोजना के पूरा होने के बाद क्षेत्र व्यावसायिक क्षेत्र में तब्दील हो जाएगा और रोजगार के अवसर तेजी से बढ़ेंगे। रेलवे लाइन के दोनों तरफ खेतों में किसानो के निर्बाध रूप से आने-जाने के लिए पर्याप्त व्यवस्था करने की अनुशंसा भी रिपोर्ट में की गई है। एसजेवीएन को नेपाल में मिला हाइड्रो प्रोजेक्ट लगाने का काम जागरण संवाददाता, बक्सर : चौसा में बक्सर पॉवर प्लांट का निर्माण कर रही कंपनी एसजेवीएन को नेपाल में हाइड्रो प्रोजेक्ट लगाने का बड़ा काम मिला है। नेपाल में 679 मेगावाट की लोअर अरुण जल विद्युत परियोजना को कंपनी ने अंतरराष्ट्रीय कंपनियों से प्रतिस्पर्धा कर हसिल किया है। इस संबंध में जानकारी देते हुए भारत एवं हिमाचल प्रदेश सरकार का संयुक्त उपक्रम एसजेवीएन के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक नंदलाल शर्मा ने बताया कि शुक्रवार को नेपाल के निवेश बोर्ड की बैठक में प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की उपस्थिति में एसजेवीएन को परियोजना का काम सौंपा गया। कंपनी की उपलब्धि इस लिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें चीनी कंपनी भी दिलचस्पी दिखा रही थी। उन्होंने बताया कि लोअर अरुण जलविद्युत परियोजना नेपाल के सखुंवासवा और भोजपुर जिले में स्थित है। कंपनी के द्वारा नेपाल में पहले से ही 900 मेगावाट के अरुण-3 जल विद्युत परियोजना तथा 217 किलोमीटर 400 केवी के संचरन लाइन पर काम चल रहा है। एसजेवीएन द्वारा वहां विकसित की जा रही परियोजनाओं से भारत और नेपाल के बीच परस्पर रिश्तों में और मजबूती आएगी।
Jan 29 (08:54) ओएचई तार में खराबी से रुकीं ट्रेनें, एक घंटे खड़ी रही राजधानी एक्सप्रेस (www.livehindustan.com)
Major Accidents/Disruptions
ECR/East Central
0 Followers
9151 views

News Entry# 435552  Blog Entry# 4859743   
  Past Edits
Jan 29 2021 (08:54)
Station Tag: Chausa/CSA added by Anupam Enosh Sarkar/401739
नई दिल्ली हाबड़ा रूट पर गुरुवार दोपहर ओएचई तार में तकनीकी खराबी आने के बाद ट्रैक पर ट्रेनों के ब्रेक लग गए। परिचालन के दौरान अचानक स्पार्किंग के बाद ट्रिप होने से कई ट्रेनों के संचालन पर  असर पड़ गया। कट के बाद चौसा स्टेशन के डाउन लाइन पर राजधानी एक्सप्रेस करीब एक घंटे तक खड़ी रही। इस वजह से यात्रियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। बक्सर स्टेशन से टावर बैगन के पहुंचने के बाद तार की मरम्मत की गयी, जिसके बाद ट्रेनों का आवागमन शुरू हो सका। पूर्व मध्य रेलवे अंतर्गत बक्सर-पं. दीनदयाल उपाध्याय रूट पर बक्सर से चौसा स्टेशन के बीच डाउन रूट पर सुबह करीब 9:30 बजे अचानक ओएचई तार में तकनीकी खराबी आ गयी। इसके चलते बक्सर से लेकर चौसा रेलवे स्टेशन के बीच डाउन रूट पर ट्रेनों का आवागमन प्रभावित रहा। इस वजह से चौसा स्टेशन पर 02310 दिल्ली-पटना राजधानी एक्सप्रेस खड़ी हो गयी। इसकी जानकारी होते...
more...
ही रेलकर्मियों में हड़कंप गया। दिलदारनगर रेलवे स्टेशन पर पार्सल ट्रेन भी खड़ी हो गयी। तत्काल इसकी सूचना कंट्रोल रूम को दी गयी। कुछ देर बाद बक्सर से रेल विद्युत विभाग के कर्मचारी टावर बैगन से वहां पहुंचे। इसके बाद ओएचई तार में आयी खराबी को दूर किया जा सका। इसके बाद पूर्वाह्न करीब 10:30 तारों में पुन: करंट प्रवाहित होने लगा। फिर चौसा स्टेशन खड़ी दिल्ली-पटना राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन चौसा से खुलकर बक्सर की ओर रवाना हुई। इसके बाद दिलदारनगर स्टेशन पर खड़ी पार्सल ट्रेन को भी पूर्वाह्न करीब 10:47 बजे रवाना किया गया। इसके बाद स्थानीय स्टेशन के रेल अधिकारियों व कर्मचारियों ने राहत की सांस ली। इस संबंध में दानापुर के जन सम्पर्क अधिकारी पी राज ने बताया कि रेल विद्युत तार में तकनीकी खराबी आने के चलते करीब एक घंटे तक आवागमन प्रभावित रहा। तार को ठीक कर दिया गया है ट्रेनों का आवागमन बहाल करा दिया गया है।

Rail News
7877 views
Jan 29 (08:57)
ANIKET
ELSG^~   39953 blog posts
Re# 4859743-1            Tags   Past Edits
Wow

7842 views
Jan 29 (09:00)
TC4D
TC4D^~   3657 blog posts
Re# 4859743-2            Tags   Past Edits
Sed
Jan 28 (22:37) एक्सप्रेस ट्रेनों को बंदर ने दिखा दी 'लाल झंडी':राजधानी को 1 घंटा और लोकमान्य तिलक को 20 मिनट रुकना पड़ा, भास्कर आपको बता रहा है कैसे हुआ यह सब (www.bhaskar.com)
Major Accidents/Disruptions
ECR/East Central
0 Followers
8113 views

News Entry# 435465  Blog Entry# 4859501   
  Past Edits
Jan 28 2021 (22:38)
Station Tag: Buxar/BXR added by ANIKET/1490219

Jan 28 2021 (22:38)
Station Tag: Chausa/CSA added by ANIKET/1490219

Jan 28 2021 (22:38)
Train Tag: Mumbai LTT - Raxaul Festival Special (Via Patliputra)/05548 added by ANIKET/1490219
गुरुवार को एक बंदर के कारण दो एक्सप्रेस ट्रेनों को रोकना पड़ गया। बंदर ने ऐसा कांड कर दिया कि ट्रेनों को लाल झंडी दिखानी पड़ी। डीयू-दानापुर रेलखंड के डाउन रेलवे ट्रैक पर 1 घंटे से अधिक समय तक परिचालन प्रभावित रहा। बाद में तकनीकी कर्मियों द्वारा खामी को दुरुस्त किया गया, जिससे परिचालन सुचारू हो सका। हुआ यह था कि चौसा और बक्सर रेलवे स्टेशनों के बीच पवनी-कमरपुर हाल्ट से आगे ठोरा नदी के पुल के पास ओवरहेड तार पर एक बंदर कूद गया, जिससे ओवरहेड तार में करंट सप्लाई बंद हो गई। इस कारण राजधानी एक्सप्रेस को तकरीबन 1 घंटे तक चौसा रेलवे स्टेशन पर रोकना पड़ा। वहीं लोकमान्य तिलक-रक्सौल एक्सप्रेस को भी तकरीबन 20 मिनट के लिए चौसा रेलवे स्टेशन पर रोका गया।
गुरुवार
...
more...
की सुबह तकरीबन 9:30 बजे हुई इस घटना के बाद रेलवे स्टेशन प्रबंधक के द्वारा इसकी सूचना TRD मनोज कुमार को दी गई, जिसके बाद उनके द्वारा तकनीकी कर्मियों को भेजकर खराबी को दुरुस्त कराया गया। तकरीबन 10:30 बजे से खराबी को दुरुस्त कर राजधानी एक्सप्रेस को आगे की ओर रवाना किया गया। बाद में तकरीबन 11:00 बजे से परिचालन सुचारू हो गया।
घटना के संदर्भ में TRD मनोज कुमार ने बताया कि बंदर के ओवरहेड तार पर कूद जाने के कारण हुई इस खराबी को दुरुस्त करने में तकरीबन 1 घंटे का समय लगा। डाउन लाइन के पोल संख्या 663 के समीप पवनी-कमरपुर हाल्ट व बक्सर के बीच ठोरा नदी पुल के आसपास यह घटना हुई थी, जिसके बाद एहतियात के तौर पर 02310 डाउन राजधानी एक्सप्रेस को चौसा रेलवे स्टेशन पर 1 घंटे के लिए रोका गया था। इसके अतिरिक्त लोकमान्य तिलक-टर्मिनल रक्सौल एक्सप्रेस को भी तकरीबन 20 मिनट तक रेलवे स्टेशन पर रुकना पड़ा था।
Jan 28 (17:31) ओवरहेड तार पर कूदा बंदर, एक घंटे रुकी रही राजधानी (www.jagran.com)
Major Accidents/Disruptions
ECR/East Central
0 Followers
6286 views

News Entry# 435397  Blog Entry# 4859183   
  Past Edits
Jan 28 2021 (17:32)
Train Tag: New Delhi - Rajendra Nagar Terminal Covid - 19 AC Special/02310 added by ANIKET/1490219

Jan 28 2021 (17:31)
Station Tag: Chausa/CSA added by ANIKET/1490219

Jan 28 2021 (17:31)
Station Tag: Buxar/BXR added by ANIKET/1490219
बक्सर-डीडीयू रेल खंड पर गुरुवार की सुबह 9:30 बजे डाउन लाइन में चौसा-बक्सर स्टेशन के बीच बिहार के ठोरा नदी के पुल के समीप ओवरहेड तार पर बंदर के कूद जाने से तार में विद्युत का प्रवाह बंद हो गया। इससे राजधानी एक्सप्रेस लगभग एक घंटे तथा लोकमान्य तिलक-रक्सौल एक्सप्रेस भी 20 मिनट तक चौसा स्टेशन पर खड़ी रहीं। इस दौरान रेलयात्रियों के बीच अफरा तफरी का माहौल रहा। सभी एक दूसरे से पूछते नजर आ रहे थे कि आखिर इतनी देर से ट्रेन रुकी क्यों है।
तकरीबन एक घंटा बाद टीआरडी विभाग द्वारा तार को दुरुस्त करने पर 10:30 बजे से परिचालन सुचारु
...
more...
हुआ। वहीं दिलदारनगर स्टेशन पर पार्सल स्पेशल पर आधा घंटे खड़ी रही। यह जानकारी राजधानी ट्रेन के चालक द्वारा स्टेशन प्रबंधक को दी गई। प्रबंधक ने इसकी सूचना टीआरडी मनोज कुमार को दी गई। इसके बाद तकनीकी कर्मियों को भेजकर खराबी को दुरुस्त कराया गया। इधर चौसा रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को रोके जाने के कारण राजधानी एक्सप्रेस के यात्रियों के बीच अफरा-तफरी का माहौल बना रहा। जब चालक ने बताया कि क्यों गाड़ी को रोका गया है, तब जाकर यात्रियों ने चैन की सांस ली। टीआरडी मनोज कुमार ने बताया कि बंदर के ओवरहेड तार पर कूद जाने से तार में करेंट प्रवाहित होना बंद हो गया था। इससे राजधानी सहित अन्य ट्रेनें एक घंटा खड़ी रही।
Dec 21 2020 (16:43) चौसा रेलवे स्टेशन बना बकरियों का चारागाह (www.livehindustan.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
6684 views

News Entry# 429386  Blog Entry# 4819220   
  Past Edits
Dec 21 2020 (16:44)
Station Tag: Chausa/CSA added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Chausa/CSA  
चौसा। संवाद सूत्रकोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से केन्द्र सरकार के द्वारा बंद किए गये पैसेंजर और कई एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन अभी तक शुरू नहीं किए जाने से ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित कई रेलवे स्टेशन यात्रियों की आवाजाही नहीं होने के कारण पूरी तरह से वीरान और सूनसान होकर रह गए हैं। ऐसे में इन सुनसान पड़े स्टेशन यात्रियों की अनुपस्थिति में मवेशियों के चारागाह के रूप में तब्दील होते नजर आ रहे हैं। ऐसा ही कुछ नजारा इन दोनों पटना-दीनदयाल उपाध्याय नगर रेलखंड पर स्थित चौसा रेलवे स्टेशन पर दिखाई दे रहा है।
चौसा रेलवे स्टेशन पर पसरा रहता है सन्नाटा:कोराना वायरस के जानलेवा संक्रमण की वजह से इस साल मार्च के महीने में ही केन्द्र सरकार के द्वारा
...
more...
एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन रोक दिया गया था। बाद में स्थिति में कुछ सुधार होने पर सरकार के द्वारा लाॅक डाउन हटाए जाने के बाद कुछ पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया गया। परन्तु कई माह गुजर जाने के बावजूद भी छोटे-छोटे स्टेशनों पर रुकने वाली कई ट्रेनों का परिचालन और ठहराव अभी भी नहीं किए जाने से एकतरफ जहां यात्रियों को कहीं आने-जाने में भारी फजीहत उठानी पड़ रही है, वहीं इस वजह से यात्रियों की अनुपस्थिति में रेलवे स्टेशनों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। कुछ ऐसा ही हाल चौसा रेलवे पर भी देखने को मिल रहा है। इस स्टेशन पर भी रूकने वाली पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन और ठहराव शुरू नहीं किए जाने से बिहार-यूपी की सीमा पर स्थित इस ऐतिहासिक स्टेशन पर भी कई माह से विरानगी छाई हुई है। हालात ऐसे हैं कि कुछ चुनिंदा रेलकर्मियों को छोड़कर इस स्टेशन पर दिनभर कोई नहीं दिखाई देता है।
स्टेशन के प्लेटफार्म पर चरती है बकरियां:चौसा रेलवे स्टेशन पर भी कई पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव पूर्ववत नहीं होने से यहां यात्रियों की अपेक्षा मवेशी ज्यादा दिखाई देते हैं। ट्रेनों का ठहराव नहीं होने की वजह से यात्रियों की आवाजाही कम होने से अब यह स्टेशन मवेशियों का चारागाह बनता नजर आ रहा है। स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या दो पर उग आई घास की वजह से बकरियां यहां आकर बड़े आराम से घास चरती हुई दिखाई देती है। सुनसान पड़े इस स्टेशन पर पशुपालक अपनी बकरियों को चराते हुए यहां भी उनको निवाला उपलब्ध करा देते हैं। ऐसे चौसा रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों का फायदा भले ही लोगों को नहीं मिल रहा है, लेकिन इन ट्रेनों का ठहराव बंद होने से चारागाह के रूप में नजर आ रहे चौसा स्टेशन का प्लेटफार्म बकरियों के लिए फायदेमंद जरुर साबित हो रहे हैं।
Page#    Showing 1 to 17 of 17 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy