Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

Vivek Express: ऊंचे नीचे रास्ते और मंज़िल तेरी दूर.

Full Site Search
  Full Site Search  
Just PNR - Post PNRs, Predict PNRs, Stats, ...
 
Mon Aug 8 15:25:29 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search
Medium; Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 2929516-0
Medium; Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 3794018-0


MDDP/Mandideep (3 PFs)
     मन्डीदीप

Track: Triple Electric-Line

Show ALL Trains
N.H. 12/69, Hoshangabad Road Mandideep District Raisen
State: Madhya Pradesh

Elevation: 455 m above sea level
Zone: WCR/West Central   Division: Bhopal

No Recent News for MDDP/Mandideep
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 8
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
0 Follows
Rating: 3.4/5 (16 votes)
cleanliness - good (2)
porters/escalators - average (2)
food - average (2)
transportation - good (2)
lodging - good (2)
railfanning - good (2)
sightseeing - good (2)
safety - good (2)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 61 News Items  next>>
Mar 22 (12:56) Bhopal Railway News: सूती कपड़ों व धागों का दूसरे प्रदेशों और बांग्लादेश तक परिवहन कर भोपाल रेल मंडल ने की खासी कमाई (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
14999 views

News Entry# 481062  Blog Entry# 5250148   
  Past Edits
Mar 22 2022 (12:57)
Station Tag: Benepole/BEN added by Adittyaa Sharma/1421836

Mar 22 2022 (12:57)
Station Tag: Mandideep/MDDP added by Adittyaa Sharma/1421836

Mar 22 2022 (12:57)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। भोपाल रेल मंडल व्यापारियों को मदद करने में अव्वल रहा है। कोरोना संक्रमण काल में रेलवे इन व्यापारियों को सूती कपड़ा, सूती धागा और अन्य सामान देश के अन्य प्रदेशों व बांग्लादेश के बेनापोल भेजने में मदद कर रहा है। ये सामान औद्योगिक क्षेत्र मंडीदीप से भेजा जा रहा है। चालू वित्‍त वर्ष में मंडीदीप से 3007 टन सामान बेनापोल व 556 टन सामान संकरैल (हावड़ा) भेजकर भोपाल मंडल ने 1.69 करोड़ रुपये कमाए।
डीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय के मार्गदर्शन में भोपाल मंडल यात्रियों के लिए लगातार सुविधाएं बढ़ा रहा हैहै। इन सुविधाओं के लिए रुपयों की जरुरत होती है। इसकी भरपाई के लिए रेलवे विभाग व्यापारियों को अपनी तरफ लुभाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। माल परिवहन
...
more...
में व्यापारियों को आने वाली कठिनाईयों को दूर किया जा रहा है। रेलवे ने इसके लिए प्रोत्साहन योजना चालू कर रखी है। ऐसी योजनाओं के जरिए व्यापारियों को माल परिवहन भाड़े में विभिन्न शर्तों पर छूट दी जा रही है। ये छूट अलग-अलग राज्यों में मप्र के जिलों से माल परिवहन कराने वाले व्यापारी, किसान, दुकानदार और आम नागरिकों को दी जा रही है।
रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी सूबेदार सिंह ने बताया कि चालू वित्त वर्ष 2021-22 में अप्रैल 2021 से 21 मार्च 2022 तक 3007 टन सामान भेजा गया है, जिसमें सूती धागे, सूती कपड़ा, प्राक्टर एंड गैम्बल्स के समान एवं रोजमर्रा की वस्तु शामिल है। मंडीदीप स्टेशन से 103 वीपीयू व सात एसएलआर में लोड कर बेनापोल परिवहन किए गए। इस परिवहन से रेलवे को 1,49,28,849 रुपये का राजस्व मिला है। इसके अतिरिक्त 556 टन समान 24 वीपीयू एवं एक एसएलआर में लोड कर पश्चिम बंगाल के संकरैल भेजा गय है। रेलवे ने इस परिवहन से 19,82,990 रुपये कमाए है।
सूबेदार सिंह ने बताया कि मंडीदीप से बेनापोल व संकरैल के लिए परिवहन किए गए कुल 127 वीपीयू व आठ एसएलआर में 3563 टन समान से रेल राजस्व में 1,69, 11,839 रुपये की बढोत्तरी हुई है। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबन्धक प्रियंका दीक्षित ने बताया कि यह प्रयास जारी रखते हुए रेलवे के जरिए माल/पार्सल परिवहन के लिए रेलवे बोर्ड द्वारा लागू की गई प्रोत्साहन योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है।
Nov 09 2021 (23:52) रेलवे ने हासिल की एक और उपलब्धि, भोपाल-इटारसी के बीच 47 किमी की तीसरी लाइन का काम पूरा (www.abplive.com)
New Facilities/Technology
WCR/West Central
0 Followers
32410 views

News Entry# 469584  Blog Entry# 5117956   
  Past Edits
Nov 09 2021 (23:52)
Station Tag: Mandideep/MDDP added by Pankaj/1718748

Nov 09 2021 (23:52)
Station Tag: HabibGanj/HBJ added by Pankaj/1718748

Nov 09 2021 (23:52)
Station Tag: Barkhera/BKA added by Pankaj/1718748

Nov 09 2021 (23:52)
Station Tag: Obaidulla Ganj/ODG added by Pankaj/1718748

Nov 09 2021 (23:52)
Station Tag: Misrod/MSO added by Pankaj/1718748

Nov 09 2021 (23:52)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by Pankaj/1718748

Nov 09 2021 (23:52)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Pankaj/1718748
भारतीय रेलवे के खाते में एक और उपलब्धि जुड़ गई है. रेलवे ने भोपाल-इटारसी के बीच 47 किलोमीटर की तीसरी लाइन बिछाने की सुपर क्रिटिकल परियोजना को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है. पश्चिम मध्य रेल का भोपाल-इटारसी मार्ग भारतीय रेलवे का एक महत्वपूर्ण और व्यस्त रेल खंड है. वर्तमान में इस खंड पर प्रतिदिन औसतन 34 मालगाड़ियों के साथ 80 से अधिक जोड़ी मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें चल रही हैं. इस प्रकार इस रेलखंड की उपयोगिता 117 फीसद होती है.
हबीबगंज-बरखेड़ा के बीच 47 किमी तीसरी लाइन की चुनौती पार
हबीबगंज-बरखेड़ा के बीच 47 किमी
...
more...
तीसरी लाइन बिछाने की सुपर क्रिटिकल परियोजना एक चुनौती थी. इस चुनौती को कोविड-19 अवधि के दौरान सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया. सुपर क्रिटिकल परियोजना की सफलता से रेलवे क्षमता में वृद्धि हुई है जिससे अधिक से अधिक ट्रेनों का संचालन किया जा सकता है. पश्चिम मध्य रेल, जबलपुर के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राहुल जयपुरियार का कहना है कि इस रेलखंड पर स्थित मध्य प्रदेश के प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र मंडीदीप का भी विकास होगा. उसके अलावा भोपाल और हबीबगंज के प्रमुख स्टेशनों से ट्रेनों के आगमन और प्रस्थान के लिए प्लेटफार्म की उपलब्धता बढ़ जाएगी. इस तरह ये रेलखंड अब हमारे देश के सभी दिशाओं से रेल संपर्क प्रदान करेगा.
यात्री सुविधाओं के साथ विकसित कर स्टेशनों को मिला नया रूप
हबीबगंज-बरखेड़ा तीसरी लाइन परियोजना की कई मुख्य विशेषताएं हैं. हबीबगंज-बरखेड़ा तीसरी लाइन भोपाल-इटारसी रेलखंड का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. तीसरी लाइन की परियोजना के साथ विद्युतीकरण कार्य को 491 करोड़ रुपये की लागत से अंजाम दिया गया है. इस रेलखंड पर 6 रेलवे स्टेशन हैं, जिनमें सभी प्रमुख क्रॉसिंग स्टेशन हैं. सभी 6 स्टेशन भोपाल जंक्शन, हबीबगंज, मंडीदीप, मिसरोद, औबेदुल्लागंज, बरखेड़ा को प्लेटफॉर्म, फुटओवर ब्रिज और पुनर्निर्मित स्टेशन बिल्डिंग जैसी उन्नत यात्री सुविधाओं के साथ विकसित कर नया रूप दिया गया है. इस खंड में महत्वपूर्ण 8 बड़े पुल, 45 छोटे पुल और 8 रोड ओवर ब्रिज हैं. इसके अलावा इस तीसरी लाइन रेल खंड पर 48 कर्व भी शामिल हैं.
Nov 09 2021 (19:44) राहत की खबर:सबसे क्रिटिकल हबीबगंज-बरखेड़ा के बीच तीसरी लाइन का काम पूरा (www.bhaskar.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
18816 views

News Entry# 469571  Blog Entry# 5117694   
  Past Edits
Nov 09 2021 (19:44)
Station Tag: Mandideep/MDDP added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688

Nov 09 2021 (19:44)
Station Tag: Barkhera/BKA added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688

Nov 09 2021 (19:44)
Station Tag: HabibGanj/HBJ added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688
Stations:  HabibGanj/HBJ   Mandideep/MDDP   Barkhera/BKA  
पश्चिम-मध्य रेल जोन के तहत आने वाले भोपाल-इटारसी रूट पर अब कुल 47 किमी में यात्री ट्रेनों और मालगाड़ी का संचालन होने लगा है। इस रूट पर अब प्रतिदिन औसतन 34 मालगाड़ियों के साथ 80 से अधिक जोड़ी मेल/ एक्सप्रेस ट्रेनें चल रही है। इस सेक्शन की उपयोगिता 117% तक पर पहुंच गई है।
हबीबगंज-बरखेड़ा (47 किमी) तीसरी लाइन एक सुपर क्रिटिकल परियोजना थी। इस चुनौतीपूर्ण कार्य को कोविड-19 अवधि के दौरान पूरा किया गया। इस रेल सेक्शन पर स्थित प्रदेश का प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र मंडीदीप को भी खासा फायदा मिलने लगा है। इसी तरह भोपाल और हबीबगंज जैसे स्टेशनों पर ट्रेनों के लिए प्लेटफॉर्म की उपलब्धता में बढ़ोतरी होगी। यह सेक्शन अब निर्बाध रेल संपर्क प्रदान करेगा।
प्रोजेक्ट
...
more...
की मुख्य विशेषताएं
1. हबीबगंज-बरखेड़ा तीसरी लाइन भोपाल-इटारसी रेल सेक्शन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इस परियोजना को तीसरी लाइन के साथ इलेक्ट्रिफिकेशन सहित 491 करोड़ रुपए की लागत से पूरा किया गया है।
2. सेक्शन में 6 स्टेशन हैं, जिनमें सभी प्रमुख क्रॉसिंग स्टेशन हैं। ये स्टेशन भोपाल, हबीबगंज, मंडीदीप, मिसरोद, औबेदुल्लागंज, बरखेड़ा हैं और सभी स्टेशनों को प्लेटफॉर्म, फुटओवर ब्रिज और री-डेवलप स्टेशन बिल्डिंग जैसी उन्नत सुविधाओं के साथ नया रूप दिया है।
3. इस खंड में महत्वपूर्ण 8 बड़े पुल, 45 छोटे पुल और 8 रोड ओवरब्रिज हैं। इसके अलावा इस तीसरी लाइन के सेक्शन पर 48 कर्व भी हैं।
Oct 26 2021 (17:15) Bhopal Railway News: कोरोना काल में बंद एक भी पैसेंजर ट्रेनें नहीं चलाई, छोटे स्‍टेशनों के रहवासी निराश (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
41821 views

News Entry# 468565  Blog Entry# 5103824   
  Past Edits
Oct 26 2021 (17:15)
Station Tag: Sukhisewaniyan/SUW added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (17:15)
Station Tag: Budni/BNI added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (17:15)
Station Tag: Barkhera/BKA added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (17:15)
Station Tag: Powarkheda/PRKD added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (17:15)
Station Tag: Obaidulla Ganj/ODG added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (17:15)
Station Tag: Mandideep/MDDP added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (17:15)
Station Tag: Nishatpura Junction Cabin/NSZ added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (17:15)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। पिछले साल मार्च में कोरोना की दस्‍तक के बाद बंद की गई एक भी पैसेंजर ट्रेन को रेलवे ने अब तक बहाल नहीं किया है। इसके कारण मजदूर, किसान और निम्न आय वाले लोगों का गांवों व कस्बों से शहरों तक आना-जाना मुश्किल हो गया है। खासकर किसान, मजदूर वर्ग के लोग शहरों से कटे हुए हैं या फिर निजी बसों व साधनों से अधिक रुपये खर्च कर शहर पहुंच रहे हैं। कोरोना संक्रमण के चलते मार्च 2020 में मेल, एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेनों को एक साथ बंद कर दिया था। इसमें से रेलवे ने मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों को तो बहाल कर दिया है, लेकिन भोपाल मंडल से गुजरने वाली 25 से अधिक पैसेंजर ट्रेनों को चालू नहीं किया है। ये वे ट्रेनें थी जो छोटे-छोटे स्टेशनों पर ठहराव लेकर चलती थीं। इनका किराया मामूली था, इनमें निम्न आय वर्ग के यात्री सफर करते थे। अप-डाउनरों के...
more...
लिए ये ट्रेनें वरदान थीं, जिन्हें रेलवे चालू नहीं कर रहा है।
मेल-एक्सप्रेस चालू की, लेकिन छोटे स्टेशनों पर नहीं ठहरती
रेलवे ने कोरोना संक्रमण के दौरान बंद की मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों को तो चालू कर दिया है, लेकिन इनमें से एक भी ट्रेन निशातपुरा, मंडीदीप, मिसरोद, औबेदुल्लागंज, पवारखेड़ा, बरखेड़ा, बुधनी, सूखीसेवनिया जैसे स्टेशनों पर नहीं ठहरती हैं। ये ऐसे स्टेशन हैं जहां से रोजाना दर्जनों लोग शहरों के तक आना-जाना करते थे। इनका नुकसान हो गया है।
अप-डाउनर्स पर ज्यादा मार
पैसेंजर ट्रेनों में किराया कम होता था। ये प्रत्येक छोटे स्टेशन पर ठहराव लेकर चलती थीं। इसलिए इनमें अप-डाउनर बड़ी संख्या में सफर करते थे। ये गरीबों की ट्रेनें कहलाती थीं, क्योंकि किराया सबसे कम लगता था। अप-डाउनर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष अरुण अवस्थी का कहना है कि रेलवे के अधिकारियों को सभी समस्याएं बार-बार बता चुके हैं। कोई सुनवाई करने के लिए तैयार ही नहीं है। पैसेंजर जैसी ट्रेनों को बंद करके रखा है।
इन मार्गों पर चलती थी पैसेंजर ट्रेनें
भोपाल से उज्जैन, इंदौर, दिल्ली, नागपुर, इटारसी, भुसावल, पिपरिया के लिए पैसेंजर ट्रेनें मिलती थीं। कोरोना के पहले तक इनकी संख्या 25 से अधिक थी। ये भोपाल मंडल के संबंधित स्टेशनों से होकर गुजरती थीं।
रेलवे का तर्क
रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि पैसेंजर ट्रेनों की जगह मेमू ट्रेनें चलाईं जाएंगी। ये ट्रेनें अधिक गति से चलेंगी, जो छोटे-छोटे स्टेशनों पर कम समय में ठहरेंगी और जल्द गति पकड़ लेंगी। इन्हें मंडल के एक से दूसरे स्टेशनों के बीच चलाया जाएगा। एक मंडल से दूसरे मंडल के बीच भी ये ट्रेन चलाई जा सकती है। आम यात्रियों का कहना है कि मेमू ट्रेन से काम नहीं चलने वाला है, क्योंकि ये कम दूरी के लिए होंगी। जबकि पैसेंजर ट्रेनें लंबी दूरी तक चलती थीं।
Bhopal Railway News: कोरोना का खतरा, भोपाल समेत सभी स्टेशनों पर जांच को लेकर सख्ती बढ़ाई
संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर गुरुवार को 16 यात्री पाए गए थे कोरोना पॉजिटिव।
भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता देख भोपाल रेल मंडल के स्टेशनों पर कोरोना जांच की सुविधा बढ़ा दी है। प्रत्येक स्टेशनों पर प्रतिदिन सख्ती से जांच करने के निर्देश दिए हैं। स्टेशन पर प्रवेश करने और बाहर निकलने वाले यात्रियों से भी कहा जा रहा है कि वे जांच में मदद करें। यह सख्ती गुरुवार संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर
...
more...
16 यात्रियों के संक्रमित मिलने के बाद बरती जा रही है। इसके दो हफ्ते पहले भोपाल रेलवे स्टेशन पर भी 16 संक्रमित मिल चुके थे।
बता दें कि संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर इंदौर-पटना स्पेशल एक्सप्रेस में सवार होने के पहले प्रवेश करने वाले यात्रियों की रैपिड एंटीजन किट से जांच की जा रही थी। इनमें से 16 यात्रियों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई। हालांकि रिपोर्ट आने के पूर्व ही यात्री ट्रेन में सवार होकर यात्रा शुरु कर चुके थे। जिन यात्रियों की जांच की गई, उनमें से ज्यादातर बिहार और उत्तर प्रदेश के हैं। अब उनकी कांटेक्‍ट ट्रेसिंग की जा रही है। इसी तरह पूर्व में भोपाल रेलवे स्टेशन पर 16 यात्री कोरोना संक्रमित मिले थे। जिला प्रशासन और रेलवे ने इन मरीजों के मिलने के बाद जांच का दायरा बढ़ाने का निर्णय लिया है।
यह भी पढ़ें
उल्लेखनीय है कि अभी भोपाल रेलवे स्टेशन पर रोजाना 2500 यात्रियों के सैंपल लिए जाते हैं, जबकि स्टेशन से चौबीस घंटे में 30 हजार से अधिक यात्री होकर गुजरते हैं। इनमें स्टेशन पर प्रवेश करने और ट्रेनों से प्‍लेटफार्म पर उतरने वाल यात्री शामिल है। स्थानीय प्रशासन का लक्ष्य है कि जिस हिसाब से संक्रमित मिल रहे हैं, उसके अनुरूप कम से कम रोजाना 5000 यात्रियों के नमूने लिए जाएं। हबीबगंज, संत हिरदाराम नगर, बीना, इटारसी, गुना, हरदा, विदिशा, मंडीदीप, औबेदुल्लागंज स्टेशनों पर भी कोरोना जांच बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।
यह सख्ती भी बरती जाएगी
- यात्रियों के प्रवेश को पूरी तरह नियंत्रित किया जाएगा। मुख्य प्रवेश द्वारों से ही प्रवेश दिया जाएगा। यात्रियों को ऐनवक्त से पहले पहुंचना होगा।
- कतार में प्रवेश करना होगा, ताकि बारी-बारी से यात्रियों के सैंपल लिए जा सकें।
- मास्क का उपयोग अनिवार्य करना होगा। ट्रेनों के अंदर बिना मास्क के मिलने पर जुर्माना भरना पड़ेगा।
Page#    Showing 1 to 20 of 61 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy