Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Mangala Lakshadweep: meri raah tujhse, meri chaah tujhse; mujhe bas yahin reh jaana - Kirti Solanki

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sun Oct 25 11:10:50 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

SNP/Sonipat Junction (5 PFs)
     सोनीपत जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Jn. Pt. GHNA/PNP/ANDI, Aggarsain Nagar 131304
State: Haryana


Zone: NR/Northern   Division: Delhi

No Recent News for SNP/Sonipat Junction
Nearby Stations in the News
Type of Station: Junction
Number of Platforms: 5
Number of Halting Trains: 71
Number of Originating Trains: 3
Number of Terminating Trains: 3
Rating: 2.3/5 (103 votes)
cleanliness - average (13)
porters/escalators - average (13)
food - average (13)
transportation - average (13)
lodging - average (13)
railfanning - average (12)
sightseeing - poor (13)
safety - average (13)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 127 News Items  next>>
Oct 06 (11:02) केएमपी के साथ पलवल से सोनीपत तक रेल कॉरिडोर में बाधा बन रही बिजली की हाईटेंशन लाइनें हटेंगी, 8.63 करोड़ का टेंडर लगाया (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
8876 views

News Entry# 420378  Blog Entry# 4735577   
  Past Edits
Oct 06 2020 (11:02)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 06 2020 (11:02)
Station Tag: Palwal/PWL added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Sonipat Junction/SNP   Palwal/PWL  
कृष्ण वशिष्ठ , बहादुरगढ़ : पलवल से सोनीपत के बीच केएमपी(कुंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेस वे) के साथ 5556 करोड़ से बिछाई जाने वाली नई रेलवे लाइन को संसद की कैबिनेट कमेटी की मंजूरी मिलते ही इस प्रोजेक्ट की अड़चनों को दूर करने का काम तेज हो गया है। प्रोजेक्ट के लिए जमीन अधिग्रहण का काम अब तेज हो गया है। साथ ही हरियाणा रेल इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचआरआइडीसी) ने अब इस रेल लाइन में बाधा बन रही बिजली की हाईटेंशन व लो टेंशन लाइनों को हटाने की दिशा में भी काम शुरू कर दिया है। इस लाइन पर 33 केवी व 11 केवी क्षमता की 90 से ज्यादा लाइनें आ रही हैं। इन लाइनों को हटाने के लिए एचआरआइडीसी की ओर से 8.63 करोड़ का टेंडर लगा दिया है। 21 अक्टूबर को यह टेंडर खोला जाएगा। टेंडर लेने वाली एजेंसी को 18 माह में सभी लाइनों को हटाना होगा। कहीं...
more...
पर बिजली की ये लाइनें जमीन के अंदर से हैं तो कहीं पर ऊपर से गुजर रही हैं। ऐसे में बिजली निगम व एचआरआइडीसी के दिशा-निर्देशों पर इन लाइटों को यहां से हटाकर दूसरे स्थानों पर शिफ्ट किया जाएगा। रेल लाइन के लिए चल रही जमीन अधिग्रहण का काम
केएमपी के साथ बिछाई जाने वाली इस रेल लाइन के लिए पलवल, नूंह, गुरुग्राम, झज्जर व सोनीपत जिले की में जमीन अधिग्रहण का काम चल रहा है। गुरुग्राम की ओर से जमीन का प्रपोजल आ चुका है। अन्य जिलों में प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। झज्जर के बादली व बहादुरगढ़ उपमंडल के 19 गांवों की जमीन अधिग्रहित की जाएगी। प्रोजेक्ट के लिए कुल करीब 655.92 हेक्टेयर जमीन चाहिए। इसमें से करीब 97 हेक्टेयर जमीन सरकार की विभिन्न एजेंसियों ने पहले ही अधिग्रहित कर रखी है। केएमपी के साथ 150 से 200 फीट जगह में यह रेल लाइन बिछाई जाएगी। इसके लिए जमीन को चिह्नित कर लिया गया है। निशानदेही करके पिलर भी लगा दिए गए हैं। हरियाणा आर्बिटल रेल कॉरिडोर के नाम से बनने वाले इस प्रोजेक्ट को तीन साल में पूरा करने का लक्ष्य है। डीपीआर के अनुसार यहां पर 2023-24 में रेल चलाने का लक्ष्य है। सोनीपत से न्यू पलवल के बीच डबल रेल लाइन पूरी तरह बिजली पर आधारित होगी। नई रेलवे लाइन के लिए जरूरी जमीन का ब्योरा:
जमीन विवरण एरिया हेक्टेयर
कुल जमीन की जरूरत 655.92
आइएमटी सोहना 10
आइएमटी मानेसर 38
आइएमटी खरखौदा 22
डीएफसीसीआइएल जमीन 19.67
रेलवे जमीन 8
अधिग्रहण के लिए जरूरी जमीन 558.25 बहादुरगढ़ के इन गांवों की जमीन का होगा अधिग्रहण
- डाबौदा खुर्द
- मेहंदीपुर
- मांडोठी
- जाखौदा
- सादपुर
- आसौदा टोडराण
- जसौर खेड़ी
- खेड़ी जसौर
- निलौठी पलवल से सोनीपत के बीच रेल लाइन के कुछ तथ्य:
1. पलवल से सोनीपत तक हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट को एचआरआइडीसी, रेल मंत्रालय और राज्य सरकार के संयुक्त उपक्रम द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। परियोजना की कुल लंबाई करीब 130 किलोमीटर किलोमीटर है और भूमि अधिग्रहण और निर्माण के दौरान ब्याज सहित कुल परियोजना लागत 5,566 करोड़ रुपये है।
2. इसमें 14 नए स्टेशन और तीन मौजूदा स्टेशन, 23 प्रमुख जलमार्ग पुल, 195 मामूली जलमार्ग पुल और तीन नए फ्लाईओवर सहित 17 स्टेशन होंगे। इसके अलावा इसमें दो रोड ओवर ब्रिज और 153 रोड अंडर ब्रिज होंगे।
3. इस रेल मार्ग पर यात्री ट्रेनों के साथ मालगाड़ी भी चलेंगी, जो सीधे गुरुग्राम के क्षेत्र को दिल्ली के बाहर से राज्य की राजधानी चंडीगढ़ से जोड़ेंगी। यह मार्ग यात्रा के समय को कम करेगा। दिल्ली को बाईपास करते हुए इस रेल मार्ग पर शताब्दी, सुपरफास्ट एक्सप्रेस जैसी ट्रेनें चलेंगी ताकि राज्य के लोगों को तेज, विश्वसनीय, सुरक्षित और आरामदायक यात्रा प्रदान की जा सके। इसके अलावा यह परियोजना गुरुग्राम या फरीदाबाद से राज्य के विभिन्न हिस्सों में ट्रेनों को चलाने की सुविधा प्रदान करेगी।
4. इस परियोजना से दिल्ली में भारी वाहनों का लोड कम होगा। हरियाणा के एनसीआर क्षेत्र में मल्टीमॉडल हब विकसित करने में मदद मिलेगी। यह राज्य के अनछुए क्षेत्रों में प्रगति के द्वार खोलेगा, जिससे राज्य की आर्थिक और सामाजिक गतिविधि बढ़ेगी।
5. यह रेल मार्ग राज्य के सभी प्रमुख औद्योगिक शहरों को जोड़ने वाला होगा। इसके 3 साल में पूरा होने की उम्मीद है। यह दिल्ली से पलवल और सोनीपत के बीच सीधी रेल कनेक्टिविटी और असावटी (दिल्ली-मथुरा मार्ग पर), पाटली (दिल्ली-रेवाड़ी मार्ग पर), आसौदा (दिल्ली-रोहतक मार्ग पर) और हरसाना कलां (दिल्ली-अंबाला मार्ग) को जोड़ने का काम करेगा।
6. हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट एक ज्वाइंट वेंचर के रूप में विकसित किया जाएगा। इसमें भारतीय रेलवे, हरियाणा सरकार, एचआरआइडीसी, कॉनकोर, डेडीकेटिड फ्रेट कॉरिडोर, एचएसआइआइडीसी, मारुति सुजुकी, मॉडल इकोनॉमिक टाउनशिप लिमिटेड (रिलायंस एसइजेड), ऑलकार्गो और अन्य को इसकी लागत वहन करनी होगी।
7. सोहना के पास पहाड़ी होने की वजह से करीब चार किलोमीटर लंबी टनल बनाई जाएगी।
8. बहादुरगढ़ के आसौदा रेलवे स्टेशन को जोड़ने के लिए मेन लाइन से अलग लाइन बिछाई जाएगी।
ये होंगे स्टेशन:
- न्यू पलवल
- सिलानी
- सोहना
- धूलावत
- चंदला डूंगरवास
- मानसेर
- न्यू पाटली
- बाढ़सा
- देवरखाना
- बादली
- मांडोठी
- जसौर खेड़ी
- खरखौदा
- तुर्कपुर
- हरसाना कलां पलवल से हरसाना कला तक बिछाई जाने वाली रेल लाइन को बिजली की 92 एचटी व एलटी लाइनें क्रॉस कर रही हैं। इन लाइनों को हटाने के लिए टेंडर लगाया गया है। 18 माह में यह काम पूरा होना है। 21 अक्टूबर को यह टेंडर ओपन होगा। उसके बाद इस पर काम शुरू होगा।
टिकू राम चौधरी, सह महाप्रबंधक इलेक्ट्रिकल, एचआरआइडीसी।
Oct 03 (09:33) 450 करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट:कंटेनर डिपो और रेल कोच फैक्ट्री का ट्रैक तैयार, जल्द होगी ढुलाई (www.bhaskar.com)
New Facilities/Technology
NR/Northern
0 Followers
8679 views

News Entry# 420138  Blog Entry# 4732420   
  Past Edits
Oct 03 2020 (09:33)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by Rohtak junction/1962877
Stations:  Sonipat Junction/SNP  
सोनीपत | रेलवे ट्रैक के ट्रायल के दौरान दौड़ाता इंजन।
कंटेनर कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया (कॉनकोर) द्वारा बड़ी में 67 एकड़ जमीन पर डिपो बनाया गया है। जहां से मालवाहक ट्रेनों के द्वारा इंडस्ट्रीज से सामान को देश और विश्व के किसी भी कोने में आसानी से लाया व भेजा जा सकता है। करीब 450 करोड़ रुपए खर्च कर इस डिपो का निर्माण किया है। वहीं करीब 65 एकड़ जमीन में रेल कोच नवीनीकरण फैक्ट्री का निर्माण कार्य किया जा रहा है।
रेलवे लाइन तैयार, ट्रायल के बाद इसी सप्ताह चलेगी
कंटेनर
...
more...
डिपो और रेलकोच फैक्ट्री के कॉनकोर द्वारा पहले से ही राजलुगढ़ी स्टेशन से दिल्ली चंडीगढ़ अंबाला रेल लाइन को क्रॉस करते हुए ट्रैक बिछाने का कार्य किया जा रहा था। दोनों विभागों के अधिकारियों ने मिलकर के यह निर्णय लिया एक ही लाइन से दोनों का काम हो सकता है। इसलिए यार्ड से ही फैक्ट्री के लिए भी दूसरी लाइन बिछा दी जाएगी। जबकि मेन लाइन स्टेशन को आने के लिए एक ही रहेगी।
इंडस्ट्रीज को रेलमार्ग से माल ढुलाई पर फायदाजिले के उद्योगों में पैदा होने वाले सामान की आवाजाही अब सरल और सस्ती हो सकेगी। जिले में साढ़े नौ हजार से अधिक छोटे-बड़े उद्योग है, जो देश व विदेश में अपने नाम से जाने जाते हैं। सभी उद्योगपतियों को बहुत ही फायदा होगा। ट्रकों से दूरदराज अपना माल भेजते थे। सभी को रेलवे के वैगनआर से माल भेजने में सहूलियत होगी
Sep 23 (21:15) हरियाणा में पलवल-सोनीपत के बाद अब झज्जर-नारनौल रेल लाइन की तैयारी (www.google.co.in)
New Facilities/Technology
NR/Northern
0 Followers
17800 views

News Entry# 419340  Blog Entry# 4723652   
  Past Edits
Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Narwana Junction/NRW added by Pankaj/1718748

Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Narwana Junction/NRW added by Pankaj/1718748

Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Kurukshetra Junction/KKDE added by Pankaj/1718748

Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Kaithal/KLE added by Pankaj/1718748

Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Kosli/KSI added by Pankaj/1718748

Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Jhajjar/JHJ added by Pankaj/1718748

Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Kanina Khas/KNNK added by Pankaj/1718748

Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Narnaul/NNL added by Pankaj/1718748

Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by Pankaj/1718748

Sep 23 2020 (21:15)
Station Tag: Palwal/PWL added by Pankaj/1718748
चंडीगढ़। हरियाणा में रेले नेटवर्क का विस्‍तार होगा। पलवल से सोनीपत तक हरियाणा ऑरबिट रेल कॉरिडोर की 121.742 किलोमीटर लंबी दोहरी विद्युतीकरण ब्रॉड गेज लाइन की स्वीकृति मिल चुकी है। इसके बाद अब हरियाणा सरकार रेलवे को दो नई परियोजनाओं पर काम करेगी। झज्जर-कोसली-कनीना-नारनौल नई रेलवे लाइन के लिए सरकार प्रस्ताव तैयार कर रही है। इसके साथ ही कैथल शहर में एलिवेटेड रेलवे ट्रैक के निर्माण के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार बनाकर केंद्र को मंजूरी के लिए भेजी जा चुकी है।
कैथल शहर में एलिवेटेड रेलवे ट्रैक के निर्माण की परियोजना रिपोर्ट तैयार
झज्जर
...
more...
से नारनौल के लिए सीधी रेल कनेक्टिविटी उपलब्ध होने से दक्षिण हरियाणा में विकास के नए युग का सूत्रपात होगा। 85 किलोमीटर लंबी यह रेलवे लाइन उत्तर हरियाणा व दक्षिण हरियाणा को आपस में जोड़ेगी तथा पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर और नंगल चौधरी में स्थापित किए जा रहे एकीकृत मल्टी-मॉडल लॉजिस्टिक हब को भी जोड़ेगी।
हरियाणा रेल इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास निगम लिमिटेड के निदेशक मंडल ने दोनों प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान कर मुख्यमंत्री मनोहर लाल से इन्हें अनुमोदित करा लिया है। अब इन्हें केंद्र को भेजा जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में गठित आर्थिक मामलों की केंद्रीय कैबिनेट कमेटी ने 5617.69 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत की हरियाणा ऑरबिट रेल कॉरिडोर परियोजना को स्वीकृति प्रदान की थी।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल की मंजूरी के बाद केंद्र को भेजी गई दोनों रिपोर्ट
हरियाणा में सडक़ व रेल कनेक्टिविटी में निरंतर सुधार के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सोच हरियाणा रेल इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास निगम लिमिटेड द्वारा तैयार परियोजनाओं को चरणबद्ध तरीके से लागू करने की है। हरियाणा रेल इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास निगम लिमिटेड के अध्यक्ष एवं लोक निर्माण (भवन एवं सडक़ें) विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने मंगलवार को एक बैठक में कहा कि मुख्यमंत्री की पहल पर हरियाणा सरकार ने रेलवे के साथ समझौता कर अपनी कंपनी बनाई है, जिसके माध्यम से हरियाणा में सार्वजनिक-निजी भागीदारी में विभिन्न रेल प्रोजेक्ट क्रियान्वित किए जाएंगे।
राजीव अरोड़ा के अनुसार रोहतक के बाद कैथल हरियाणा का ऐसा दूसरा शहर होगा, जहां पर एलिवेटेड रेलवे ट्रैक का निर्माण कराया जाएगा। कैथल शहर में यातायात के दबाव को कम करने के लिए कुरुक्षेत्र-नरवाना रेलवे लाइन पर यह एलिवेटेड रेलवे ट्रैक बनाया जाएगा, जिसकी कुल लंबाई 3.89 किलोमीटर होगी तथा इसकी 191.73 करोड़ रुपये की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार की गई है।
उन्‍होंने बताया कि यह कुरुक्षेत्र-नरवाना रेलवे लाइन पर मौजूद कैथल सिटी में तीन नंबर की क्रॉसिंग (एलसी 33 सी, 34 ए और 34 बी) को समाप्त करने में सक्षम होगी। इस कार्य को रेलवे के मौजूदा आरओडब्ल्यू के भीतर पूरा किया जाएगा और कोई भी भूमि अधिग्रहण नहीं होगा। मौजूदा कैथल हॉल्ट स्टेशन पर भी यात्रियों की आवाजाही को सुगम बनाया जाएगा। इस एलिवेटेड रेलवे लाइन के निर्माण से लंबे समय से चली आ रही कैथल के लोगों की मांग को भी पूरा किया जाएगा।
Sep 15 (23:21) Haryana Orbital Rail Corridor project from Palwal to Sonipat via Sohna-Manesar-Kharkhauda gets cabinet approval (zeenews.india.com)
New Facilities/Technology
NR/Northern
0 Followers
12819 views

News Entry# 418515  Blog Entry# 4716949   
  Past Edits
Sep 15 2020 (23:35)
Station Tag: Asaudah/ASE added by Saurabh®/1294142

Sep 15 2020 (23:35)
Station Tag: Patli/PT added by Saurabh®/1294142

Sep 15 2020 (23:35)
Station Tag: Sultanpur Kaliawas/STKW added by Saurabh®/1294142

Sep 15 2020 (23:21)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by Saurabh®/1294142

Sep 15 2020 (23:21)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by Saurabh®/1294142

Sep 15 2020 (23:21)
Station Tag: Palwal/PWL added by Saurabh®/1294142
The estimated completion cost of the project is reportedly Rs 5,617 crore and it is likely to be completed in 5 years.
New Delhi: The Cabinet Committee on Economic Affairs chaired by Prime Minister Narendra Modi on Monday (September 14, 2020) gave approval to the Haryana Orbital Rail Corridor Project from Palwal to Sonipat via Sohna-Manesar-Kharkhauda. 
This Rail Line will start from Palwal and end at existing Harsana Kalan station (On Delhi-Ambala section) and will also give connectivity en route to existing Patli Station (on Delhi-Rewari line), Sultanpur station (on Garhi Harsaru-Farukhnagar Line)
...
more...
and Asaudha Station (on Delhi Rohtak Line). 
The project will be implemented by Haryana Rail Infrastructure Development Corporation Limited (HRIDC) which is a joint venture company set up by the Ministry of Railways with Government of Haryana.
The estimated completion cost of the project is reportedly Rs 5,617 crore and it is likely to be completed in 5 years.
As per the Ministry of Railways, Palwal, Nuh, Gurugram, Jhajjar and Sonipat districts of Haryana will be benefitted through this rail line.
This will facilitate diversion of traffic not meant for Delhi thus decongesting NCR and will help in developing multimodal logistics hubs in Haryana State sub-region of NCR. It will also provide high-speed seamless connectivity of this region to Dedicated Freight Corridor network resulting in the reduction of cost and time of transportation for EXIM traffic from NCR to ports of India, making exports of goods more competitive. 
The project will connect unserved areas of the state of Haryana and will result in boosting economic and social activities in Haryana. 
"This multipurpose transport project will also facilitate affordable and faster commuter travel, long-distance travel in different directions from Gurugram and the industrial regions of Manesar, Sohna, Farukhnagar, Kharkhauda and Sonipat," said the Ministry of Railways.
"Approximately 20,000 passengers each day will be travelling through this line and 50 Million Tonnes of goods traffic would also be carried out every year," they added.
Sep 15 (22:33) Government approves crucial Palwal-Sonipat rail project, will decongest NCR network (www.deccanherald.com)
New Facilities/Technology
NCR/North Central
0 Followers
12083 views

News Entry# 418510  Blog Entry# 4716905   
  Past Edits
Sep 15 2020 (22:33)
Station Tag: Kundli/KDI added by Covid break an reforming opportunity to IR/48335

Sep 15 2020 (22:33)
Station Tag: Farrukh Nagar/FN added by Covid break an reforming opportunity to IR/48335

Sep 15 2020 (22:33)
Station Tag: Sohwal/SLW added by Covid break an reforming opportunity to IR/48335

Sep 15 2020 (22:33)
Station Tag: Kharkhauda/KXK added by Covid break an reforming opportunity to IR/48335

Sep 15 2020 (22:33)
Station Tag: Maneswar/MANE added by Covid break an reforming opportunity to IR/48335

Sep 15 2020 (22:33)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by Covid break an reforming opportunity to IR/48335

Sep 15 2020 (22:33)
Station Tag: Palwal/PWL added by Covid break an reforming opportunity to IR/48335
The government Tuesday approved construction of the crucial Haryana Orbital Rail Corridor Project from Palwal to Sonipat which will decongest the railway network in the National Capital Region and connect unserved areas of the state.
The Cabinet Committee on Economic Affairs (CCEA) cleared the project to be completed at an estimated cost of Rs 5,617 crore and with a likely completion time of five years.
This rail line will facilitate diversion of traffic not meant for Delhi, thus decongesting the NCR network and will also help in developing multimodal logistics hubs in Haryana,
...
more...
the statement said.
The project runs via Sohna-Manesar-Kharkhauda and will have connectivity with all the existing railway routes originating from Delhi and passing through Haryana as well as with the Dedicated Freight Corridor network.
This rail line will start from Palwal and end at the existing Harsana Kalan station (On the Delhi-Ambala section).
This will also give connectivity en route to existing Patli Station (On Delhi-Rewari line), Sultanpur station (On Garhi Harsaru-Farukhnagar Line) and Asaudha Station (On Delhi Rohtak Line).
It will be implemented by the Haryana Rail Infrastructure Development Corporation Limited (HRIDC), a Joint Venture of the Ministry of Railways and the government of Haryana.
The project will have joint participation of the Railways, the Haryana government and private stakeholders.
Once completed, the project will benefit Palwal, Nuh, Gurugram, Jhajjar and Sonipat districts of Haryana.
It will provide high-speed seamless connectivity of this region to the dedicated freight corridor network resulting in the reduction of cost and time of transportation for EXIM traffic from NCR to the ports of India, making exports of goods more competitive, the statement said.
¨This efficient transport corridor along with other initiatives will provide enabling infrastructure to attract multinational industries to set up manufacturing units to fulfil the 'Make in India' mission,” the statement said.
The project will connect unserved areas of Haryana, thereby boosting economic and social activities in the state.
This multipurpose transport project will also facilitate affordable and faster commuter travel, long-distance travel in different directions from Gurugram and the industrial regions of Manesar, Sohna, Farukhnagar, Kharkhauda and Sonipat.
¨Approximately 20,000 passengers each day will be travelling through this line and 50 Million Tonnes goods traffic would also be carried out every year,¨ the statement said.
The alignment of this project is adjacent to the western peripheral (Kundli-Manesar-Palwal) Expressway and has been under consideration for some time.
Page#    Showing 1 to 20 of 127 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy