Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
Search Trains
 ↓ 
×
DOJ:
Dep:
SunMonTueWedThuFriSat
Class:
2SSLCCEx3AFC2A1A3EEA
Type:
 

Train Details
Words:
LHB/ICF:
Pantry:
In-Coach Catering/Pantry Car
Loco:
Reversal:
Rake Reversal at Any Stn
Rake:
RSA:
With RSA
Inaug:
 to 
# Halts: to 
Trvl Time: to  (in hrs)
Distance: to  (in kms)
Speed: to  (in km/h)

Departure Details
Include nearby Stations:      ONLY this Station:
Dep Between:    
Dep PF#:
Reversal:
Rake Reversal at Dep Stn

Arrival Details
Include nearby Stations:      ONLY this Station:
Arr Days:
SunMonTueWedThuFriSat
Arr Between:    
Arr PF#:
Reversal:
Rake Reversal at Arr Stn

Search
4-month Availability Calendar
  Go  

Shiv Ganga Express: mera bhola hai bhandari, karta Shiv Ganga ki sawari... Kashi Vishwanath Re, ohh bholenath Re... - Divyanshu Gupta

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Jul 4 17:17:52 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
Close-up; Side View; Small TB; UnReserved; Outside of Train; Standing at Station;
Entry# 2946296-0
Side View; Small TB; UnReserved; Outside of Train; Standing at Station;
Entry# 3688093-0

14633/Ravi Express (UnReserved)
ਰਾਵੀ ਐਕਸਪ੍ਰੈਸ     रावी एक्सप्रेस

ASR/Amritsar Junction --> PTK/Pathankot Junction

Latest News
(You need to double-check/verify this info yourself)
➡ Journey commencing on 27/07/2018 to 31/07/2018 will be fully cancelled
Wed Jul 18, 2018 (09:16AM)
Pantry/Catering
✕ Pantry Car
✕ On-board Catering
✕ E-Catering
Updated: Jul 02 2019 (17:13) by eXplorerDKG^~
Dep:
Arr:
Rating: 3.6/5 (11 votes)
cleanliness - good (2)
punctuality - good (2)
food - average (2)
ticket avbl - average (1)
u/r coach - average (2)
railfanning - good (2)
safety - excellent (2)
ICF Rake

Rake/Coach Position

  0
  L
  1
SLR
  2
GEN
  3
GEN
  4
GEN
  5
GEN
  6
GEN
  7
GEN
  8
GEN
  9
SLR
News
PNR
Forum
Time-Table
Availability
Fare Chart
Map
Arr/Dep History
Trips
Gallery
ΣChains
X/O
Timeline
Train Pics
Tips

Train News

Page#    10 News Items  
आईआरसीटीसी किचनों ने 1 लाख से अधिक ऐसे पके भोजन तैयार किए आरपीएफ का भी सहयोग, भोजन वितरण में अग्रणी भूमिका निभाने के अतिरिक्त आरपीएफ ने अपने संसाधनों से लगभग 38600 भोजन उपलब्ध कराया
भारतीय रेल ने आरपीएफ, जीआरपी, जोनों के वाणिज्यिक विभागों, राज्य सरकारों एवं एनजीओ की सहायता से आईआरसीटीसी के बेस किचनों के जरिये जरुरतमंद लोगों को लंच के लिए पेपर प्लेट एवं डिनर के लिए फूड पैकेट के साथ बड़ी मात्रा में पका भोजन उपलब्ध कराना जारी रखा है।
आरपीएफ एवं विभिन्न रेल जोनों में अन्य रेल विभागों के साथ
...
more...
एक टीम के रूप में कार्य कर रही आईआरसीटीसी जरुरतमंद लोगों को लंच के लिए पेपर प्लेट एवं डिनर के लिए फूड पैकेट के साथ पके भोजन की आपूर्ति कर रही है।
जरुरतमंद लोगों को भोजन की आपूर्ति करने के दौरान सोशल डिस्टंसिंग एवं स्वच्छता का पालन किया जा रहा है। संबंधित जोन एवं डिवीजन के जीएम/डीआरएम भी जिला प्रशासनों एवं एनजीओ की सहायता से रेलवे स्टेशनों के आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले जरुरतमंद लोगों की भोजन की आवश्यकता की पूर्ति करने के लिए स्टेशन के निकट के क्षेत्र से आगे भी आईआरसीटीसी के इन प्रयासों की पहुंच को बढ़ाने के लिए आईआरसीटीसी के अधिकारियों के निरंतर संपर्क में हैं।
आईआरसीटीसी ने उत्तरी, पश्चिमी, पूर्वी, दक्षिणी एवं दक्षिण मध्य जैसे विभिन्न जोनों में फैले नई दिल्ली, बंगलुरू, हुबली, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद, भुसावल, हावड़ा, पटना, गया, रांची, कटिहार, दीन दयाल उपाध्याय नगर, बालासोर, विजयवाड़ा, खुर्दा, काडपाली, तिरुचिरापल्ली, धनबाद, गुवाहाटी एवं समस्तीपुर में अपने किचनों से आरपीएफ, अन्य सरकारी विभागों एवं एनजीओ की सहायता से 28 मार्च, 2020 से गरीबों एवं जरुरतमंद लोगों को अब तक लगभग 102,937 पके भोजनों को वितरित किया है।
28 मार्च को, 2700 पके भोजनों के साथ आरंभ कर, आईआरसीटीसी ने 23 स्थानों पर 29 मार्च को 11530, 30 को 20487, 31 मार्च को 30850 एवं आज 37370 पके भोजन वितरित किए।
रेलवे सुरक्षा बल भारतीय रेल द्वारा जरुरतमंद लोगों को भोजन वितरण कराने में व्यापक रूप से शामिल है।
28.03.2020 को आरपीएफ द्वारा 74 स्थानों पर 5419 जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया। आईआरसीटीसी के किचनों में तैयार भोजन के अतिरिक्त, 2719 व्यक्तियों के लिए भोजन आरपीएफ के आंतरिक संसाधनों से सोर्स किया गया।
29.03.2020 को आरपीएफ द्वारा 146 स्थानों पर 21568 जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया। आईआरसीटीसी के किचनों में तैयार भोजन के अतिरिक्त, 8790 व्यक्तियों के लिए भोजन आरपीएफ के आंतरिक संसाधनों से सोर्स किया गया, जबकि 4150 व्यक्तियों के लिए भोजन एनजीओ के सहयोग से वितरित किया गया।
30.03.2020 को आरपीएफ द्वारा 186 स्थानों पर 30741 जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया। आईआरसीटीसी के किचनों में तैयार भोजन के अतिरिक्त, 12453 व्यक्तियों के लिए भोजन आरपीएफ के आंतरिक संसाधनों से सोर्स किया गया, जबकि 3746 व्यक्तियों के लिए भोजन एनजीओ के सहयोग से वितरित किया गया।
31.03.2020 को आरपीएफ द्वारा 196 स्थानों पर 38045 जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया। आईआरसीटीसी के किचनों में तैयार भोजन के अतिरिक्त, 14633 व्यक्तियों के लिए भोजन आरपीएफ के आंतरिक संसाधनों से सोर्स किया गया, जबकि 4072 व्यक्तियों के लिए भोजन एनजीओ के सहयोग से वितरित किया गया।
रेल तथा वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने भारतीय रेल के अधिकारियों को अपनी सर्वश्रेष्ठ मानवीय क्षमताओं एवं संसाधनों के अनुसार भोजन एवं अन्य सहायता के साथ जरुरतमंद लोगों के पास पहुंचने का निर्देश दिया है। मंत्री ने कहा कि रेलवे को अपने प्रयासों का दायरा बढ़ाना चाहिए और जिला अधिकारियों तथा एनजीओ आदि के परामर्श से रेलवे स्टेशनों से दूर के क्षेत्रों तक पहुंचना चाहिए।
उल्लेखनीय है कि रेल मंत्रालय लाक डाउन के समय, जो कोविड -19 के प्रसार को रोकने के लिए लगाया गया है, जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराने की किसी भी भारी मांग को पूरा करने के लिए तैयार है। भारतीय रेल किसी भी आपातकालीन स्थिति के लिए तैयार है और खाद्यान्नों एवं अन्य कच्चे मालों का पर्याप्त भंडार बना कर रखा जा रहा है।
***
एएम/एसकेजे

(Release ID 88056)
Downloadविज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
IRCTC kitchens have prepared more than 1 lakh of these cooked meals RPF also chips in; In addition to playing a leading role in food distribution, RPF provides about 38600 meals from its own resources
Indian Railways continues to provide bulk cooked food with paper plates for lunch and food packets for dinner to needy people through base kitchens of IRCTC with the help of RPF, GRP, commercial departments of Zones, State Governments and NGOs.
Working in a team, IRCTC along with RPF and other Railway Departments in various Railway Zones is
...
more...
supplying cooked food with paper plates and Food Packets for dinner to needy people. While delivering the food to needy persons, social distancing and hygiene is being observed. GMs/DRMs of concerned Zone and division are also in continuous touch with IRCTC officials to enhance the outreach of these efforts of IRCTC even beyond the station vicinity to cater to the food requirements of needy people in areas surrounding the railway stations with the help of District Administrations and NGOs.
From its kitchens in New Delhi, Bangalore, Hubli, Mumbai Central, Ahmedabad, Bhusaval, Howrah, Patna, Gaya, Ranchi, Katihar, Deen Dayal Upadhyaya Nagar, Balasore, Vijaywada, Khurda, Kaadpali, Tiruchirapalli, Dhanbad, Guwahati and Samastipur spread over various zones such as Northern, Western, Eastern, Southern and South Central, IRCTC has so far distributed about 102,937 meals to the poor and the needy from 28th March 2020 with the help of RPF, other government departments and NGOs.
Starting with 2700 meals on 28th March, IRCTC has prepared and distributed 11530 meals on 29th March, 20487 meals on 30th, 30850 meals on 31st March and 37370 meals today at 23 locations.
The Railway Protection Force has been involved in a big way in the food distribution to needy people by Indian Railways.
• 5419 needy persons were provided food by RPF over 74 locations on 28.03.2020. In addition to food prepared in IRCTC kitchens, food for 2719 persons was sourced from internal resources of RPF.
• 21568 needy persons were provided food by RPF over 146 locations on 29.03.2020. In addition to food prepared in IRCTC kitchens, food for 8790 persons was sourced from internal resources of RPF while food for 4150 persons was distributed in association with NGOs.
• 30741 needy persons were provided food by RPF over 186 locations on 30.03.2020. In addition to food prepared in IRCTC kitchens, food for 12453 persons was sourced from internal resources of RPF while food for 3746 persons was distributed in association with NGOs.
• 38045 needy persons were provided food by RPF over 196 locations on 31.3.2020. In addition to food prepared in IRCTC kitchens, food for 14633 persons was sourced from internal resources of RPF while food for 4072 persons was distributed in association with NGOs.
Minister of Railways and Commerce & Industry Shri Piyush Goyal had also directed the officials of Indian Railways to reach out to needy people with food and other assistance to the best of their human abilities and resources. The Minister had said that Railways should widen the outreach of their efforts and go beyond the proximities of railways stations to deeper areas in consultation with district authorities and NGOs etc.
It may be noted that Indian Railways is gearing up to meet any higher demand to provide food to needy in the times of lock down, which has been imposed to prevent the spread of COVID-19. Indian Railways is ready for any contingency and adequate stocks of foodgrains and other raw material are being maintained.
****
SG/MKV
(Release ID :200893)
जागरण संवाददाता, पठानकोट : रेलगाड़ी में बिना टिकट यात्रा करने वाले यात्रियों को रेलवे अधिकारियों ने सबक सिखाया। पठानकोट कैंट और रेलवे स्टेशन पर रेलवे की टीमों की दबिश में 45 यात्री पकड़े गए। मौके पर यात्रियों से 15680 रुपये जुर्माना वसूलने के साथ ही भविष्य में ऐसी कोताही न करने की माफी मांगने के साथ छोड़ा गया। रेलवे अधिकारियों के बेटिकट यात्रियों को दबोचने के अभियान का जैसे ही सवारियों को पता चला तो अफरा-तफरी मच गई। नैरोगेज में पठानकोट-बैजनाथ और पठानकोट कैंट में
अमृतसर ट्रेन में सफर कर रहे बिना टिकट यात्रियों ने बचने के लिए इधर - उधर भागना शुरू कर दिया। इनको पकड़ने के लिए अधिकारियों ने रेलवे पुलिस फोर्स के साथ पीछे दौड़ लगा दी। यात्रियों
...
more...
के स्टेशन में मौजूद लोगों के बीच जाने के बाद टीमों एक-एक व्यक्ति से पूछताछ की और बिना टिकट वालों को पकड़ा। जबकि, ट्रेन के भीतर जाकर सवारियों की जांच की, इसके साथ ही उन्हें टिकट के साथ यात्रा करने को लेकर चेतावनी दी। रेलवे की मानें तो बिना टिकट सफर करने वालों पर शिकंजा कसने के लिए चेकिग अभियान आगे भी जारी रहेगा।
इन ट्रेनों में हुई चेकिंग
मंडल वाणिज्य प्रबंधक त्रिलोक सिंह की अगुवाई में स्पेशल टिकट चेकिग अभियान चलाया गया। चेकिग टीम ने अमृतसर-पठानकोट तथा पठानकोट-जोगिदरनगर सेक्शन के बीच 19225, 54612, 54614, 54613, 54611, 52465, 14633, 74901 तथा 18102 इत्यादि ट्रेनों में टिकट चेक किए। चेकिग टीम में वाणिज्य निरीक्षक/अमृतसर प्रदीप कुमार सिंह, वाणिज्य निरीक्षक/पठानकोट राजिदर लौ तथा शैलेंदर कुमार ने दल के साथ पठानकोट-जोगिदरनगर सेक्शन के बीच नूरपुर, डलहौजी सहित अमृतसर-पठानकोट सेक्शन के बीच सरना, झाकोलरी, गुरदासपुर इत्यादि स्टेशनों पर चेकिग की।
कोट्स
बिना टिकट लेकर यात्रा करना कानूनन जुर्म है। यात्रियों से अपील है कि टिकट के साथ यात्रा करें। स्पेशल टिकट चेकिग अभियान फिरोजपुर मंडल के स्टेशनों तथा ट्रेनों में जारी रहेगा। यात्री अगर काउंटर पर टिकट नहीं ले सकते हैं तो आनलाइन प्रक्रिया का लाभ उठाएं। टिकट न होने पर रेलवे सख्त कार्रवाई करेगा।
विवेक शर्मा, प्रबंधक वरिष्ठ मंडल वाणिज्य
पठानकोट
रविवार को पठानकोट से अमृतसर जाने वाले यात्रियों को चार ट्रेनें कैंसिल होने के कारण दिक्कतों का सामना करना पड़ा। जबकि मूरी एक्सप्रेस को वाया अमृतसर की बजाय मुकेरियां के रास्ते चलाया गया। वहीं पठानकोट से वेरका तक जाने वाली डीएमयू को भी बटाला तक ही चलाया गया। पठानकोट-अमृतसर ट्रैक पर कत्थूनंगल-वेरका के बीच बन रहे पुल के कारण ट्रेनों को कैंसिल किया गया है। इस कारण पठानकोट से गुरदासपुर, धारीवाल, बटाला व अमृतसर जाने वाले यात्रियों को भी गर्मी के मौसम परेशानी का सामना करना पड़ा। यात्रियों का कहना है कि पिछले रविवार को भी विभाग ने बिना कोई सूचना बोर्ड लगाए ट्रेनें को कैंसिल कर दिया था। इस बार भी वही काम हुआ जिस कारण लोगों में भारी
...
more...
रोष पाया जा रहा है। यात्रियों ने कहा कि ट्रेनें कैंसिल करनी है तो इसकी एडवांस में सूचना होनी चाहिए या फिर टिकट खिड़की पर ही एक-दो दिन पहले ट्रेनों के कैंसिल का बोर्ड लगा देना चाहिए ताकि लोग परेशान न हो।
ये ट्रेनें रहीं कैंसिल
जानकारी अनुसार रविवार को सुबह 7:30 बजे अमृतसर से पठानकोट आने वाली ट्रेन (54611) पठानकोट से सुबह 8 बजे अमृतसर जाने वाली (54614 ) तथा सायं 5:15 बजे पठानकोट से अमृतसर जाने वाली पैसेंजर (54614 ) को कैंसिल कर दिया गया। इसके इलावा सुबह 11:35 बजे अमृतसर से पठानकोट आने वाली रावी एक्सप्रेस (14633) कैंसिल रही। जबकि, सुबह 9:30 बजे अमृतसर से पहुंची पैसेंजर ट्रेन को दोपहर 2:05 बजे पठानकोट से रावी एक्सप्रेस (14634) बनाकर यात्रियों को थोड़ी राहत पहुंचाई गई। इसके इलावा अमृतसर के रास्ते पठानकोट पहुंचने वाली मूरी एक्सप्रेस (18101) को वाया मुकेरियां के रास्ते पहुंचाया गया तथा पठानकोट से वेरका जाने वाली डीएमयू (74674) को आज वेरका की बजाय बटाला तक चलाया गया।
ट्रेन कौंसिल संबंधी स्टेशन पर नहीं लगा है कोई बोर्ड, यात्रियों में रोष
बटाला किसी रिश्तेदार के फंक्शन पर जाने वाले पवन कांगला, गुरदासपुर जाने वाले भंवर, साहिल शर्मा, जोधराज, दीनानगर जाने वाले दर्शन लाल, सत्या देवी ने बताया कि सुबह 8 बजे जाने वाली पैसेंजर ट्रेन के लिए टिकट काउंटर से टिकट मांगी तो जबाव मिला कि ट्रेन कैंसिल है। उन्होंने कहा कि इस संबंधी स्टेशन के नोटिस बोर्ड पर कोई जानकारी थी ओर न ही टिकट खिड़की पर। लिहाजा, उनके पास बस में सफर करने के सिवाय कोई चारा नहीं था। थक हार कर वह दोबारा बस स्टैंड पर गए। इसी प्रकार डीएमयू से अमृतसर जाने वाले अरविद कुमार, विनोद कुमार सोनी व सोम राज ने बताया कि जबाव मिला कि ट्रेन आज बटाला तक ही जाएगी। इसके बाद रावी एक्स्प्रेस अमृतसर जाएगी। उन्होंने कहा कि बस में जाते तो समय के साथ-साथ किराया भी अधिक लगता। जिस कारण उन्होंने एक घंटा स्टेशन पर ही बैठ कर गुजारा। उन्होंने कहा कि गर्मी में हाल बेहाल हो गया है। विभाग को चाहिए कि जो ट्रेनें कैंसिल हैं उनकी जानकारी नोटिस बोर्ड पर जरुर लगानी चाहिए।
फिरोजपुर मंडल से मिला आदेश
सिटी रेलवे स्टेशन के स्टेशन मास्टर ने बताया कि पठानकोट- अमृतसर ट्रैक पर कत्थूनंगल-वेरका के बीच बने रहे पुल के कारण फिरोजपुर मंडल से चार ट्रेनों के कैंसिल और एक के रूट बदलने का आदेश मिला था। मूरी एक्सप्रेस को वाया मुकेरियां और वेरका तक जाने वाली डीएमयू को बटाला तक ही चलाया गया।
अमृतसर रेल हादसे के बाद तीसरे दिन भी अमृतसर-जालंधर रेल सेक्शन पर ट्रेनें नहीं दौड़ी। रेल प्रशासन प्रदेश सरकार की स्वीकृति मिलने पर ही ट्रेनें चलाने की बात कह रहा है। रेलवे की प्राथमिकता यात्रियों और स्टाफ की सुरक्षा है। प्रदेश सरकार की स्वीकृति नहीं मिलने पर तीसरे दिन अमृतसर-जालंधर सेक्शन पर रेल डिवीजन फिरोजपुर से चलने और अंबाला डिवीजन से आने वाली तकरीबन 32 ट्रेनें रद्द रहीं, 17 ट्रेनों के रूट बदले गए और 10 ट्रेनों को उनके निश्चित स्टेशनों के बजाय अन्य स्टेशनों पर ही रोक दिया।
रेल डिवीजन फिरोजपुर के एडीआरएम एनके वर्मा ने बताया कि शुक्रवार को अमृतसर हादसे के बाद से वहां के लोग गुस्साए हुए हैं। प्रदर्शनकारी जोड़ा रेलवे क्रॉसिंग फाटक पर गेटमैन को बैठने नहीं
...
more...
दे रहे हैं और गेट को भी काफी नुकसान पहुंचाया है। ऐसी स्थिति में रेलवे उक्त सेक्शन पर ट्रेनें नहीं चला सकता है, जबकि उनका ट्रैक बिल्कुल ठीक है। जब तक रेल प्रशासन को प्रदेश सरकार से सिक्योरिटी क्लीयरेंस नहीं मिलता, तब तक रेलवे उक्त सेक्शन पर ट्रेनें नहीं चलाएगा। वर्मा ने कहा कि पैसेंजर ट्रेनों के अलावा मालगाड़ियों को भी रद्द करना पड़ा है, इससे रेलवे को करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है। इसका आंकलन ट्रेनें चलने के बाद ही लगाया जा सकेगा।वर्मा ने कहा कि दशहरा कमेटी यदि उनसे समारोह करने की अनुमति मांगती तो भी वह नहीं दे सकते थे, क्योंकि वह लोग रेलवे की जगह पर समारोह नहीं कर रहे थे। दशहरा कमेटी जिला प्रशासन से अनुमति मांगती और जिला प्रशासन ट्रैक पर पुलिस मुलाजिम तैनात करवाता ताकि लोग ट्रैक की तरफ न जाते। ट्रैक क्रॉस करना कानूनन गलत है। ट्रैक सिर्फ रेलवे फाटक के जरिए ही क्रॉस कर सकते हैं। अमृतसर हादसे में रेलवे की कोई जिम्मेदारी नहीं बनती है, क्योंकि रेलवे फाटक बंद था और ग्रीन सिग्नल दिया हुआ था। ट्रैक पर ट्रेन अपनी निश्चित रफ्तार पर थी। रेलवे को तीसरे दिन भी 32 ट्रेनें रद्द करनी पड़ी, 17 ट्रेनों के रूट बदले और दस ट्रेनों को अन्य स्टेशन पर ही रोक दिया गया। वर्मा ने कहा कि ट्रेनें नहीं चलने के कारण दूर-दराज के लोग अमृतसर नहीं आ पा रहे हैं।हादसे के तीसरे दिन भी ठप रहा पठानकोट-अमृतसर रेलमार्गअमृतसर ट्रेन हादसाअमृतसर रेल हादसे के तीसरे दिन भी पठानकोट-अमृतसर और पठानकोट-जालंधर रेलमार्ग ठप रहा। इन रूटों पर चलने वाली 20 से अधिक अपडाऊन ट्रेनें नहीं चलीं। पठानकोट-जालंधर रूट पर पैसेंजर ट्रेनें रद्द रहीं। पठानकोट कैंट से ट्रेनों का संचालन पहले की तरह रहा। सिटी स्टेशन से जम्मूतवी-अहमदाबाद को छोड़ कोई ट्रेन नहीं चली। वहीं, दिल्ली-पठानकोट और मूरी एक्सप्रेस जो अमृतसर के रास्ते जाती थी, उन्हें वाया मुकेरियां-जालंधर भेजा गया।रेलवे ने अगले दो दिन का भी शेडयूल जारी कर रेट बंद रखने के आदेश दिए हैं। पठानकोट-अमृतसर रूट पर सुबह 4:15 बजे जाने वाली 74672, सुबह 5:15 बजे जाने वाली 54612, सुबह 8 बजे जाने वाली 54614, 12 बजे जाने वाली 74674, दोपहर 2:05 बजे जाने वाली 14634 रावी एक्सप्रेस, दोपहर 12 बजे जाने वाली डीईएमयू 74641, शाम 5:15 बजे जाने वाली 54616 तथा सायं 6:40 बजे जाने वाली 74676 ट्रेन शनिवार को रवाना नहीं हो पाई।वहीं, सुबह 8:30 पर जालंधर जाने वाली 54622, जालंधर से शाम साढ़े 5 बजे आने वाली 54621, अमृतसर से सुबह 4:40 बजे पठानकोट के लिए रवाना होने वाली 54611, सुबह 6:20 बजे चलने वाली 54613, 9:15 बजे चलने वाली 14633 रावी एक्स्प्रेस, 12 बजे चलने वाली 74671, दोपहर 3:40 बजे चलने वाली 74673, शाम 5:25 बजे चलने वाली 54615 और रात 8:30 बजे चलने वाली 74675 ट्रेन कैंसल रही।ये ट्रेनें हुई डायवर्ट train- फोटो : डेमो मंडल की ओर से पठानकोट-दिल्ली के बीच चलने वाली 22430 पठानकोट-दिल्ली एक्सप्रेस, दिल्ली से पठानकोट आने वाली 22429, संभल से जम्मूतवी जाने वाली 18101 मूरी एक्सप्रेस और जम्मूतवी से संभल जाने वाली 18102 मूरी एक्सप्रेस को अमृतसर के बजाय मुकेरियां के रास्ते रवाना किया गया। वहीं फिरोजपुर से जारी शेडयूल के मुताबिक पठानकोट से जालंधर जाने वाली 54622, जालंधर से पठानकोट आने वाली 54621, पठानकोट-अमृतसर 54612, पठानकोट-अमृतसर54616 को सोमवार और मंगलवार को कैंसल रखा जाएगा।     
कैंसल ट्रेनें फिरोजपुर मंडल से आदेश मिलते ही चलेंगी      
सिटी रेलवे स्टेशन के उप स्टेशन अधीक्षक दिलबाग सिंह ने कहा कि रेलवे ने देर रात ही पठानकोट-अमृतसर-जालंधर सेक्शन पर चलने वाली ट्रेनों को कैंसल करने का आदेश जारी कर दिया था। उन्होंने कहा कि मंडल अधिकारियों के आदेश मिलते ही ट्रेनें शुरू कर दी जाएंगी।
Page#    10 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy