Timeline UpdatesTrip UpdatesNews PostsPvt Posts♥♥Travel TipsAdmin PostsConv PostsFollowed PostsChat RequestsBlog PostsPNR Posts

Disclaimer
Search
 
 
Sat Nov 22, 2014 22:09:14 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsMembersLoginFeedback
Trains in the News **new    Stations in the News **new

News Super Search        show english news only
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 84412  

Today (10:04PM)  तीन दिन बाधित रहेगा हरिद्वार- देहरादून के बीच रेल यातायात (www.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestNR/Northern  -  

News Entry# 202166     
   Tags   Past Edits
Nov 22 2014 (10:05PM)
Station Tag: Motichur/MOTC removed by Vaibhav Agarwal*^/432532

Nov 22 2014 (10:04PM)
Station Tag: Motichur/MOTC added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Nov 22 2014 (10:04PM)
Station Tag: Dehradun/DDN added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Posted by: Vaibhav Agarwal*^  491 news posts   
मुरादाबाद। देहरादून के मोतीपुर के पास गेट नंबर 18 पर बन रहे ओवरब्रिज के कारण 30 नवंबर से दो दिसंबर तक रेल यातायात बाधित रहेगा। अपर मंडल रेल प्रबंधक हितेंद्र मल्होत्रा ने बताया कि इस ओवरब्रिज के लिए रेलवे लाइन के ऊपर गार्डर डाले जाने हैं। इसके चलते सुबह साढ़े आठ से साढ़े 11 बजे के बीच रेल यातायात बाधित रहेगा। इसके चलते इलाहाबाद से देहरादून जाने वाली 14113 लिंक एक्सप्रेस को हरिद्वार में आधा घंटा अतिरिक्त रोका जाएगा। ये ट्रेन निर्धारित वक्त से आधा घंटा लेट देहरादून पहुंचेगी। हरिद्वार-ऋषिकेश के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन 54482-54483 तीनों दिन निरस्त रहेगी। देहरादून-हरिद्वार के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन संख्या 54342 भी निरस्त रहेगी।

Today (9:52PM)  नोएडा से आगरा तक दौड़ेगी मोनो रेल (www.jagran.com)
back to top
Other News

News Entry# 202165     
   Tags   Past Edits
Nov 22 2014 (9:52PM)
Station Tag: Agra Cantt./AGC added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Posted by: Vaibhav Agarwal*^  491 news posts   
अमित दीक्षित, आगरा। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ताजनगरी पर मेहरबान हैं। सड़क मार्ग के बाद नोएडा से आगरा का सफर आसान होने जा रहा है। दोनों शहरों को जोड़ने के लिए सिडनी (आस्ट्रेलिया) की तर्ज पर नोएडा से आगरा तक मोनो रेल चलाने की तैयारी है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री ने सैद्धांतिक मंजूरी दे दी थी, जिस पर अब प्रयास तेज हो गए हैं।
ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे (आगरा-लखनऊ) से ग्रेटर नोएडा से लखनऊ से वैसे भी छह लेन से जुड़ जाएगा। इसका निर्माण दो साल के भीतर पूरा हो जाएगा। जबकि रहनकलां, आगरा में थीम पार्क भी प्रस्तावित है। फिलहाल, जमीन की अधिग्रहण का कार्य चल रहा है। इस सबके बीच प्रदेश सरकार नोएडा से आगरा तक मोनो रेल चलाने जा रही है।
मोनो रेल का ट्रैक यमुना नदी के पूर्वी तट से
...
Read more...
होकर बिछाया जाएगा, जो करीब 200 किलोमीटर का होगा। 19 नवंबर को लखनऊ में बोर्ड की बैठक के बाद हाई पॉवर कमेटी की बैठक हुई। जिसमें मोनो रेल के प्रस्ताव पर मंथन किया गया। मोनो रेल से नोएडा स्थित महामाया फ्लाई ओवर को लिंकअप किया जाएगा, फिर यह नाइट सफारी, बुद्धा इंटरनेशनल सर्किट, इंटरनेशनल क्रिकेट ग्राउंड, मथुरा होते हुए आगरा तक आएगी। इसके लिए ट्रैक बिछाया जाएगा।
मोनो रेल चलने से आगरा के आसपास और तेजी से विकास होगा। कुछ माह पहले ही सरकार ने नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एनएमआरसी) का गठन किया है। एनएमआरसी नोएडा में मेट्रो रेल के बाद मोनो रेल को आगे बढ़ाएगा। इसके लिए मुख्यमंत्री ने सैद्धांतिक सहमति दे दी है। जिसके बाद एनएमआरसी ने मोनो रेल की प्रक्रिया तेज कर रही है।
इन्होंने कहाः
सबसे पहले ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे पर काम चल रहा है। फिर नोएडा से आगरा तक मोनो रेल पर ध्यान दिया जाएगा। मोनो रेल से आगरा को फायदा होगा।
आलोक रंजन, मुख्य सचिव

मुरादाबाद । ट्रेन से गिरने वाले मृत यात्रियों की जानकारी अब जीआरपी द्वारा शुरू की गई वेबसाइट 'मिस पर्सन' सेवा पर मौजूद रहेगी। इस सेवा के शुरू होने से ट्रेन से गिरने वाला व्यक्ति अज्ञात नहीं रहेगा। वेबसाइट पर अज्ञात लोगों के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी।
मुरादाबाद रेल मंडल में प्रत्येक माह रेल लाइन के किनारे ट्रेन से गिरकर 10 यात्रियों की मौत होती है। जीआरपी या सिविल पुलिस शव को बरामद कर पोस्टमार्टम कराती है। शिनाख्त के लिए 72 घंटे तक इंतजार किया जाता है। जब कोई परिजन नहीं पहुंचता है तो शव का अंतिम संस्कार कर दिया जाता है। जीआरपी ने अज्ञात मृत यात्रियों का संदेश परिजन पहुंचने के लिए 'उत्तर प्रदेश जीआरपी मिस पर्सन' वेब साइट शुरू की। जीआरपी मृतक यात्रियों का फोटो वेबसाइट पर डालेगी। इंटरनेट पर उत्तर प्रदेश जीआरपी मिस पर्सन सर्च कर कई भी
...
Read more...
व्यक्ति ट्रेन से गिरकर मरने वालों की फोटो देख सकता है। इस वेबसाइट पर संबंधित व्यक्ति के ट्रेन से गिरने की तिथि, पोस्टमार्टम करने वाले जीआरपी थाने का नाम, मृतक से मिले सामान की जानकारी भी रहेगी। शिनाख्त होने के बाद परिजन संबंधित जीआरपी थाने में पहुंचकर मृतक परिजन से संबंधित कपड़ा सामान लिया जा सकता है। जीआरपी सीओ राजन त्यागी ने बताया कि मंडल भर के सभी थाने से अज्ञात मृतक की फोटो प्रत्येक माह एसपी रेल कार्यालय भेजी जाती है। उक्त फोटो को वेबसाइट पर डाल दिया जाता है।

Today (9:46PM)  30 नवंबर से बढ़नी से आसनसोल के लिए चलेगी ट्रेन (www.jagran.com)
back to top
New/Special TrainsNER/North Eastern  -  

News Entry# 202163     
   Tags   Past Edits
Nov 22 2014 (9:46PM)
Station Tag: Asansol Junction/ASN added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Nov 22 2014 (9:46PM)
Station Tag: Barhni/BNY added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Posted by: Vaibhav Agarwal*^  491 news posts   
सिद्धार्थनगर : डुमरियागंज सांसद जगदम्बिका पाल ने कहा कि आगामी 30 नवंबर से बढ़नी से असमसोल तक के लिए ट्रेन चलायी जायेगी। इसकी स्वीकृति मिल चुकी है। इसके उद्घाटन के लिए रेल राज्यमंत्री मनोज सिंहा विशेष ट्रेन से बढ़नी आयेंगे। उस दिन वहां पूर्वाह्न 11.30 से कार्यक्रम रखा गया है। बढ़नी से चलकर वह नौगढ़ रेलवे स्टेशन पर फ्लैग आफ करेंगे।
.
सांसद पाल शुक्रवार को नौगढ़ रेलवे स्टेशन पर तैयारियों का निरीक्षण करने गए थे। इस अवसर पर कहा कि यह क्षेत्र अपने आप में बेहद समृद्धिशाली है। नई सरकार में तेजी से काम हो रहे हैं। बढ़नी को गोंडा तक ब्राडगेज का काम दिसंबर तक पूरा हो जाना था। यह मार्च तक पूरा हो जायेगा। इसके बाद इस रूट पर ट्रेनों की कोई नहीं रहेगी। प्रयास होगा कि गोरखपुर से
...
Read more...
इस रूट से होते हुए एक इंटरसिटी चलायी जाये, ताकि यहां के नागरिक दिनभर में लखनऊ से अपना काम निपटा कर यहां रात को घर आ जायें। इतना ही नहीं यह प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है कि गोरखपुर से लखनऊ होकर जाने वाली अधिकांश ट्रेनें संतकबीरनगर-बस्ती के बजाय नौगढ़-बढ़नी की तरफ से होकर जायें। इससे महराजगंज, सिद्धार्थनगर, बलरामपुर के यात्रियों को सुविधा मिलेगी। मार्च के बाद यहां से कई विशेष ट्रेनें चलायी जायेंगी। इससे यहां के नागरिक आसानी से दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता, चेन्नई जैसे महानगरों को जा सकेंगे। आवागमन की व्यवस्था बेहतर होगी तो यहां का विकास भी बेहतर होगा। इस दौरान सीनियर डीएन क्वार्डिनेशन जीतेन्द्र सिंह, सिजनल डिवीजनल इंजीनियर इलेक्ट्रिकल लखनऊ ओ.पी.सिंह, डी.एन. ए.के.सिंह, आई.आर.डब्लू आर.डी.पाण्डेय, ए.बी.एम. ए.के.मिश्रा आदि उपस्थित रहे।
------------------
शिकायतों की बाढ़ में नौगढ़ रेलवे स्टेशन
सांसद पाल दोपहर एक बजे की बजाय सायं 4.45 पर नौगढ़ रेलवे स्टेशन पहुंचे। थोड़ी ही देर में स्टेशन पर आम नागरिकों की भीड़ लग गई। हर किसी ने आरोप लगाया कि यहां रेल यात्रियों के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। शौचालय, विश्रामालय सदैव बंद रहता है। जनरेटर चलता ही नहीं है। दलालों के आगे नागरिक टिकट ही नहीं पाते। स्टेशन पर मौजूद नागरिकों की पीड़ा को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने तत्काल डीआरएम अनूप कुमार को फोन पर इसकी जानकारी दी। सांसद पाल ने इसके लिए एएसएम केशव श्रीवास्तव को इसके लिए जिम्मेदार बताया। डीआरएम ने सीनियर डीएन को शीघ्र समस्याओं के निस्तारण का आदेश दिया। रेल अधिकारियों ने इससे पूर्व शोहरतगढ़ व बढ़नी का निरीक्षण किया।
--------------
अधिकारियों के पहुंचने के बाद केबिन से उठे एएसएम
सांसद पाल व रेल अधिकारियों के स्टेशन पहुंचने के बाद भी एएसएम केशव श्रीवास्तव केबिन से न उठे। थोड़ी देर बाद वह आराम से सामने आये तो सांसद ने उन्हें फटकार लगाई और कहा कि जब वह अपने मंडल स्तर के अधिकारियों की इस प्रकार अवहेलना कर रहे हैं तो आम इंसान के साथ बर्ताव कैसा होगा, सहज अंदाजा लगाया जा सकता है। कहा कि उन्होंने क्षेत्रीय सांसद की भी उपेक्षा की है। उनकी शिकायत पर डीआरएम ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
-------------
समय से दो घंटा पूर्व चलेगी डेमू
स्टेशन पर मौजूद रेल यात्रियों ने यह भी शिकायत की कि यहां अधिकांश ट्रेनें एक ही समय पर हैं। एक के पीछे दूसरी गाड़ी है। ऐसे में एक गाड़ी सदैव खाली जाती है। इससे यात्रियों का भी भला नहीं होता। सांसद पाल के कहने पर रेल अधिकारियों ने इसे नोट किया और भरोसा दिलाया कि डेमू अपने समय से दो घंटा पूर्व चलेगी।

Today (9:43PM)  Pvt operators take cars off road, into rly hospital (www.punemirror.in)
back to top
Commentary/Human InterestCR/Central  -  

News Entry# 202162     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb**  89537 news posts  
To escape fines imposed by traffic cops for parking on station road, tourist operators now park inside the hospital premises free of cost, inconveniencing ambulances and patientsThe Railway Protection Force (RPF) has been given the job of protecting railway property and prohibiting any trespassing. However, the Pune RPF seems to have forgotten that bit. Private tourist operators are not only trespassing railway property, but are blatantly using the railway hospital premises to park their tourist vehicles —for free.The railway hospital, falling under Central Railway's Pune division, is situated inside the Pune station premises which is a very busy location. Adding to the chaos is the Pune ST stand, which is located next to the hospital.Due to the constant passenger flow, the area is always crowded. Not to be deterred, private tourist operators add to the confusion with their presence.To ease the congestion leading to the station, traffic cops have started...
Read more...
taking action against vehicles parked on the approach road for the past six months. Not one to be bogged down, the private tourist operators have picked the inside of the railway hospital premises to escape the cops.
According to the traffic police, there are nearly 70 to 80 private tourists in the area. Senior police inspector V Gangalwad, in charge of the Bund Garden traffic division, told Mirror, "Private tourist operators' menace is reaching new heights outside the station area. Every day, we take action against at least five vehicles. As a result, they must have adopted a strategy of parking their vehicles inside railway premises. We are now going to send a letter to the railway administration, requesting them to discourage private operators from using their premises."
Reeling under a manpower crunch, RPF is currently taking help of a private security agency to look after railway property. Now, a private security guard has been appointed at the railway hospital, but a lone guard does not stand a chance in front of all the private operators. According to the employees of the hospital, the vehicles begin to come in from early morning. The private operators crack their deals outside the station area and as soon as it is finalised, one of them returns to take the vehicle away. As one vehicle goes out, another takes its place. "It has become a daily menace for patients and medical staff. Sometimes, these vehicles end up blocking the movement of ambulances," said a staffer.
Pleading ignorance regarding the issue, assistant security commissioner of RPF's Pune division L B Singh said, "I am not aware of the issue, but if private tourist operators are using the railway premises to park their vehicles, it is illegal. I will immediately ask my staff to verify the situation and take necessary action."
Surprisingly, even the railway administration claims to be unaware of the issue. "I will look into the issue and precautionary action will be taken in this regard," said additional divisional railway manager AB Gangalwad.

Today (9:37PM)  फरवरी से रनिंग ट्रेन में मिलने लगेगा आरओ वाटर (www.bhaskar.com)
back to top
New Facilities/TechnologyWCR/West Central  -  

News Entry# 202161     
   Tags   Past Edits
Nov 22 2014 (9:37PM)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Nov 22 2014 (9:37PM)
Train Tag: Amarkantak SF Express/12854 added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Nov 22 2014 (9:37PM)
Train Tag: Amarkantak SF Express/12853 added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Nov 22 2014 (9:37PM)
Train Tag: Rewanchal Express/12186 added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Nov 22 2014 (9:37PM)
Train Tag: Rewanchal Express/12185 added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Nov 22 2014 (9:37PM)
Train Tag: Shaan E Bhopal SF Express/12156 added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Nov 22 2014 (9:37PM)
Train Tag: Shaan-E-Bhopal SF Express/12155 added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Posted by: Vaibhav Agarwal*^  491 news posts   
भोपाल|भोपाल एक्सप्रेस,रेवांचल, हबीबगंज इंटरसिटी और अमरकंटक ट्रेन में यात्रियों को रिवर्स ऑस्मोसिस (आरओ) प्रक्रिया से शुद्ध किया गया पानी मिलेगा। उन्हें पांच रुपए में एक लीटर पानी दिया जाएगा। रेलवे ने पश्चिम-मध्य रेलवे के जबलपुर स्थित मुख्यालय को इसका प्रस्ताव भेज दिया है। वहां से मंजूरी मिलने पर फरवरी से यह व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। रेलवे पूर्व में यह भी तय कर चुका है कि जनवरी से भोपाल रेलवे स्टेशन के सभी प्लेटफॉर्म पर यात्रियों को मुफ्त आरओ वाटर उपलब्ध कराया जाएगा।

Today (9:33PM)  AC बोगी के ऊपर चढ़ा दिया जनरल डब्बा, हादसा नहीं ये है ट्रेनिंग का तरीका (www.bhaskar.com)
back to top
IR AffairsSER/South Eastern  -  

News Entry# 202160   Blog Entry# 1284268 **new     
   Tags   Past Edits
Nov 22 2014 (9:33PM)
Station Tag: Hatia/HTE added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Posted by: Vaibhav Agarwal*^  491 news posts   
रांची. यह दृश्य हटिया रेलवे स्टेशन के यार्ड का है। यहां शुक्रवार को रांची रेल मंडल और एनडीआरएफ कोलकाता बटालियन ने संयुक्त रूप से भीषण ट्रेन दुर्घटना के दौरान बचाव के तरीके पर मॉक ड्रिल किया। इस दौरान ज्यों ही दुर्घटना की सूचना रेल मंडल को मिली, राहत ट्रेन रवाना हो गई। रेलवे के डीआरएम सहित कई अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचे। एसी बोगी के ऊपर सामान्य कोच काे रखा गया था, ताकि दुर्घटना बड़ी लगे।


59 views
Today (9:54PM)        

Koush   47509 blog posts   2824 correct pred (77% accurate)  
Re# 1284268-1               Tags   Past Edits
This is a new feature showing the full history of past edits to this Blog Post. All members will now be able to Edit and refine their past and future Blog Posts with NO time limit.
Lol.. Nice way to scrap 88 made coach

Today (9:32PM)  Urban Development Minister Venkaiah Naidu reviews metro projects, regularisation of colonies issue (www.dnaindia.com)
back to top
Commentary/Human InterestDMRC/Delhi Metro  -  

News Entry# 202159     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb**  89537 news posts  
Urban Development Minister Venkaiah Naidu today reviewed various issues like regularisation of unauthorised colonies, drinking water problem in Dwarka area, land availability issues and metro projects.
Members of Parliament Meenakshi Lekhi, Udit Raj, Parvesh Verma, Ramesh Bidhuri, Mayors and chief executives of municipal bodies and vice-chairman of DDA, and managing director of DMRC reviewed the urban matters during a two-and-a half-hour-long meeting.
According to a senior UD Ministry official about 40 issues were discussed during the meeting including regularisation of unauthorised colonies, drinking water issue in Dwarka area, provision of amenities in unauthorised colonies, night shelters for homeless and notification of 351 roads for allowing commercial mixed land use.
Extension of Delhi Special Provisions Act, decongestion of Delhi, allocation of about 22,000 houses
...
Read more...
built under the JNNURM scheme, finalisatiion of simplified building bye-laws, land related issues, construction of foot over bridges, desealing of properties, construction of parking spaces by DDA, rehabilitation of transport workers were also taken up for discussion.
After taking stock of progress in respect of various issues, Naidu directed all the concerned to speed up works in respect of ongoing projects and put up firm proposals on issues requiring inter-agency consultations at the earliest for further discussion with Delhi's Lt Governor Najeeb Jung.
Naidu was informed that Simplified Building Bye-Laws would be finalised by the end of December and will be submitted to the ministry for notification. Allocation of houses built under JNNURM would begin in December and will be completed by February next year.
Naidu directed DDA and Delhi Jal Board to complete transfer of assets to DJB as soon as possible. The issue of Munak canal will be taken up with Haryana chief minister, who would be in Delhi next week, the official said.
Naidu asked the Delhi Government to acquire buildings on rent if required, for sheltering the homeless during the winter season. According to the official, he has asked the Delhi government and municipal bodies to implement 'Swachh Bharat Mission' with more vigour and enthusiasm.
Chief Secretary of Delhi Government, Secretaries of Urban Development and HUPA of central government, besides other senior officials of central and Delhi governments attended the meet.

Today (9:31PM)  Railway guard missing from Raxaul station (timesofindia.indiatimes.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 202158     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb**  89537 news posts  
MOTIHARI: Anand Mohan Singh, a guard of Delhi-Raxaul Sadbhawna Express, has been missing since Tuesday from Raxaul station. Nilam Singh, wife of the missing guard, lodged a case of kidnapping of her husband on Thursday with the GRP, Raxaul.
The rail police and district police teams are investigating this case and raids are on to recover Singh. However, no demand of ransom has been made to the family members so far by the kidnapper on phone. East Champaran SP Sushil Kumar after inspecting the place of occurrence at Raxaul on Thursday, discussed this case with local police officers and asked them to recover the railway guard.
Rail SP Vinod Kumar, Muzaffarpur, and DSP Harendra Prasad Singh are camping in East Champaran district and investigating this case with the help of
...
Read more...
local police. According to rail police sources, guard Anand Mohan Singh has a close friend Sunil Singh, who was living with him for the last six months. On November 18, the guard had come to Raxaul with Sunil Singh. Guard Singh, his friend Sunil Singh with two others boarded a tonga to go to Birganj, Nepal, the same day and after that the guard is missing.
Bordering town Raxaul has become a haven for kidnappers and extortionists and around half-a-dozen gang of criminals are operating in Raxaul and Birganj for long. The extortionists of Motihari and Raxaul have unleashed terror in Birganj and recently three extortionists of Raxaul and Motihari were arrested by Birganj police and sent them to jail. The rail police are hunting for Sunil, friend of the kidnapped guard. TNN

Today (9:26PM)  हाई स्पीड ट्रेन के लिए आरसीएफ ने बनाए फुली साउंडप्रूफ कोच , नए कोचों के बेस पहले से मजबूत (www.bhaskar.com)
back to top
IR AffairsNR/Northern  -  

News Entry# 202157     
   Tags   Past Edits
Nov 22 2014 (9:26PM)
Station Tag: Kapurthala Rail Coach Factory/RCF added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Posted by: Vaibhav Agarwal*^  491 news posts   
भास्कर न्यूज| कपूरथला जालंधर
रेलकोचफैक्ट्री कपूरथला के इंजीनियरों ने हाई स्पीड ट्रेन के कोच बनाकर रेलवे बोर्ड को हैंडओवर कर दिए हैं। जुलाई में जब इंजीनियरों को यह काम मिला था तो उनके सामने सबसे बड़ा सवाल यह था कि कोच में ऐसा क्या बदलाव किया जाए, जिससे इन्हें हाई स्पीड ट्रेन के कोच में बदला जा सके। इसके लिए आरडीएसओ की टीम ने कई बार आरसीएफ का दौरा किया। इंजीनियरों के बीच कई दौर में मीटिंग हुई। अंत में यह तय हुआ कि शताब्दी और राजधानी के एलएचबी कोच में तीन बदलाव करके उसे हाई स्पीड ट्रेन के कोच में कनवर्ट किया जा सकता है। तीन बदलाव में जो सबसे महत्वपूर्ण था वह था कोच को पूरी तरह से साउंडप्रूफ बनाया जाए। क्योंकि जब ट्रेन 160 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चलेगी तो बाहर बहुत आवाज होगी। यह आवाज
...
Read more...
अगर अंदर जाती है तो यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। इसलिए कोच को साउंडप्रूफ बनाए जाने के लिए साउंड इंसूलेशन को इंप्रूव किया गया। इसके लिए साउंड इंसूलेशन पेंट का प्रयोग किया। इस पेंट की खासियत यह है कि इसे जब स्प्रे किया जाता है तो थोड़ी देर बाद यह ब्रेड केक की तरफ फूल जाता है। इसके फूलने से बाहर की साउंड अंदर नहीं जाती है और यात्री आराम से सफर कर सकते हैं। हाई स्पीड ट्रेन को बनाते समय इसी बात का ध्यान रखा गया है। हाई स्पीड ट्रेन के 17 कोचों की पहली खेप को आरसीएफ ने रेलवे बोर्ड को भेज दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना को आरसीएफ के इंजीनियरों ने दिन-रात एक करके पूरा किया है।
नए कोचों के बेस पहले से मजबूत हैं।
शताब्दी के कोच और हाई स्पीड ट्रेन के कोच में खास अंतर नहीं है। आरसीएफ के इंजीनियर बताते हैं कि हमारे शताब्दी के एलएचबी कोच को भी 160 किमी. प्रतिघंटे की रफ्तार से दौड़ाया जा सकता है। इसके लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है कि आपका ट्रैक इस सिस्टम के अनुरूप बना होना चाहिए। शताब्दी के कोच भी साउंडप्रूफ हैं, लेकिन वे सेमी हैं। हाई स्पीड के कोच फुली साउंडप्रूफ हैं। आरसीएफ के सीनियर पीआरओ वरिंदर विज ने बताया कि शताब्दी और राजधानी के कोच की क्षमता 160 से 200 किमी. के बीच की है। हाई स्पीड ट्रेन के जो कोच नए बनाए गए है उनके बेस को मजबूत किया गया है। इनकी कीमत शताब्दी के एलएचबी कोच के बराबर करीब ढाई करोड़ रुपए है।
इन कोचों में आरसीएफ ने ये बदलाव किए हैं
Scroll to Top
Scroll to Bottom