Disclaimer   
Forum Super Search
 ♦ 
×
HashTag:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Train Type:
Train:
Station:
ONLY with Pic/Vid:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    RailFan Club:    

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Thu Mar 30, 2017 04:57:34 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Thu Mar 30, 2017 04:57:34 IST
PostPostPost Trn TipPost Trn TipPost Stn TipPost Stn TipAdvanced Search
Filters:

Blog Posts by ░▒▓█ RAILROAD █▓▒░
Page#    147 Blog Entries  next>>
  
कहीं रेलवे को बेचने की तैयारी तो नहीं!... आज रेलवे की भयानक अराजकता और रेल कर्मचारियों की लापरवाही के साक्षात दर्शन हुए। सुबह मुझे कानपुर शताब्दी (12033) पकड़कर वापस गाजियाबाद आना था। कानपुर स्टेशन से यह गाड़ी सुबह छह बजे खुलती है। कानपुर में मैं वहां जहां रुका था, वह जूही कलाँ दो के विवेक विहार डब्लू-टू का इलाका स्टेशन से करीब सात किमी होगा। सुबह पहले तो बुकिंग के बावजूद ओला ने धोखा दे दिया। वह कैब आई ही नहीं और ड्राइवर ने फोन तक नहीं रिसीव किया। तब मेरे बहनोई स्वयं मुझे छोडऩे आए। इस तरह दो लोगों की नींद में खलल पड़ा।
हम घर से साढ़े पांच पर निकले थे और रास्ते भर यही सोचकर परेशान रहे कि कहीं
...
more...
टाटमिल चौराहे पर जाम न मिल जाए। खैर जब स्टेशन पहुंचे तो 5.48 हो रहा था। अपना सामान उठाए मैं भागता हुआ प्लेटफार्म में दाखिल हुआ तो गाड़ी का कहीं पता नहीं जबकि नियमत: उसे साढ़े पांच पर प्लेटफार्म पर लग जाना चाहिए। आखिर वहीं से यह ट्रेन चलती है। मगर ट्रेन प्लेटफार्म पर आई ही छह बजे। पूरी भीड़ ट्रेन के दरवाजों पर टूट पड़ी। मगर दरवाजे अंदर से ही बंद थे। सब उनके खुलने का इंतजार करते रहे। अब एक आदमी था जिसने एक के बाद एक कोच के दरवाजे खोलने शुरू किए। तेरह कोचों वाली इस ट्रेन के दरवाजे खुलने में ही 15 मिनट लग गए। सारे लोग एकदम से भड़भड़ा कर चढऩे लगे। और ट्रेन पांच मिनट बाद चल दी। अब जो चढ़ाने आए थे वे तो ट्रेन के अंदर तथा जिनको चढऩा था वे बाहर। हंगामा हुआ ट्रेन फिर रुकी और चली।
हमारा कोच सी-7 था। गाड़ी में बैठते ही मच्छरों ने घेर लिया। वृहदाकार के मच्छर जो भनभनाते तो डिस्टर्ब करते और चुप रहते तो हाथों-पांवों में काट लेते। हमे जो इंडियन एक्सप्रेस अखबार दिया गया उसे पढऩे की बजाय हम मच्छरों का शिकार करते रहे। मगर मच्छरों की संख्या इतनी ज्यादा थी कि ट्रेन में चढ़ा हर मनुष्य परेशान हो गया। औरतें, बच्चे सब तंग। तब मैने अपना रौद्र रूप दिखाया और टिकट चेक करने आए बाबू से कंप्लेंट बुक लाने को कहा। बुक आ तो गई मगर उसमें पहले से जो शिकायतें थीं उन पर ही कोई जवाब नहीं आया था। दूसरी सवारियां भी उखड़ पड़ीं तब एक सफाई कर्मी आया और फर्श पर पोछा लगा गया। फिर जो चाय आई लाई गई उसका पानी ठंडा था। फिर टीटी बाबू को बुलाकर शिकायत की गई तो वेटर ने बताया कि ब्वायलर काम नहीं कर रहा। एक तो ट्रेन वैसे भी डिले थी उस पर उसकी गति ऐसी जैसे बारात चल रही हो।
कानपुर से इटावा आने में ही दो घंटे लग गए। उस शताब्दी से जिसकी स्पीड कम से कम 130 रखी जाती है। और कानपुर-इटावा की दूरी महज 133 किमी की है। फिर राम-राम करते ट्रेन चली तो जो नाश्ता आया वह भी ठंडा और ऊपर से मच्छरों की भरमार। टूंडला पार करने के बाद वह कर्मचारी आया जिसके कंधे पर ट्रेन की सफाई का भार था। उसने बताया कि मच्छर तो आएंगे ही ट्रेन रात को जंगल में खड़ी की जाती है। और हमारे पास हिट है नहीं। उसकी शैली से लग रहा था कि रेलवे सफाई के वास्ते जो सामान इसे मुहैया करवाता होगा उसे यह जरूर बाजार में बेच देता होगा। मजे से गुटखा खाते हुए और खूब फूला पेट लेकर वह जैसे आया था वैसे चला गया।
अलीगढ़ में स्टाप न होते हुए भी ट्रेन रोकी गई और तब कोच में एक अधिकारी आया और उसने हिट उसी कर्मचारी से मंगवाई और छिड़काव करवाया। उसके बाद ट्रेन चली मगर स्पीड वही साठ-सत्तर वाली। इस तरह जिस गाजियाबाद में हमें साढ़े दस पर पहुंच जाना था उस पर हम साढ़े बारह पर उतरे और एक बजे घर आए। समझ में नहीं आता कि रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने शताब्दी में तमाम तरह के सुविधा शुल्क लगाकर कानपुर तक का किराया लगभग 11 सौ रुपये कर दिया है मगर न तो कोई सुविधा बढ़ाई न खानपान की गुणवत्ता ही सुधारी। जबकि दस साल के मनमोहन राज और उसके पहले की सरकारों के वक्त भी शताब्दी जाड़ों के कोहरे के दौरान को छोड़ दिया जाए तो कभी लेट नहीं होती थी।
खाने का हाल यह है कि शताब्दी खाने और नाश्ते के नाम पर दो सौ रुपये और चार सौ रुपये वसूलती है पर नाश्ता ऐसा था कि उसे खाना दूभर। दो स्लाइस और एक डिब्बी मक्खन। न नमक न कालीमिर्च पाउडर। दो ही विकल्प थे या तो दो पीस कटलेट अथवा आमलेट। दोनों ही बेस्वाद और एकरस। पिछले 28 वर्षों से यही परोसते आ रहे हैं। प्रभु ने जब पैसे बढ़ाए थे तो कहा था कि खाने की क्वालिटी सुधरेगी। मगर क्वालिटी तो और गिरी। मजे की बात कि कानपुर और लखनऊ शताब्दी में इतनी भीड़ होती है कि कभी भी दो दिन पहले टिकट नहीं मिल पाती। पर इसका फायदा रेलवे उठाता है कि जो कुछ दे दो खा ही लेंगे। क्या ट्रेन को इस तरह लेट करने तथा साफ-सफाई न करने के पीछे रेलवे को निजी हाथों में देने की तैयारी तो नहीं चल रही है।

3 posts - Wed Mar 22, 2017

  
352 views
Mar 22 2017 (22:37)
©The Dark Lord™~   5849 blog posts
Re# 2207014-4            Tags   Past Edits
Punctuality to train ki besak kharaab hui hai, Jo trains pehle 1-2 ghante delay se chalti thi wo ab 10-12 ghante ki deeri se chalti hai, pata nahi Surveys me Punctuality improve hote kaise dhikti hai!!

7 posts are hidden.

  
946 views
Mar 23 2017 (00:43)
भारतीय रेल के लिए मोदी राज है नर्क काल   18 blog posts   45 correct pred (76% accurate)
Re# 2207014-12            Tags   Past Edits
100% sahi bat kahi hain aapne agar dynamic fare dene ke bad bhi train time par nahi pahucha rahi hain to prabhu ji ke shashan kal railway ke liye nark kal hain
har train ka yahi haal hain chahe wo gatiman express ho ya 12003 /12004 /12033 shatabdi ho ya hamsafar jaisi train
3 saal ke shasan kal me koi bhi aisi train nahi chalayi jisame passenger ko rahat di gayi ho kiraye me kuchh
jitani
...
more...
bhi train chalayi gayi sabhi dynamic fare base par

antyoday jaisi train me bhi 15% adhik kiraya le rahe hain

  
1016 views
Mar 23 2017 (01:23)
DhnEcr~   4960 blog posts
Re# 2207014-13            Tags   Past Edits
क्या ट्रेन को इस तरह लेट करने तथा साफ-सफाई न करने के पीछे रेलवे को निजी हाथों में देने की तैयारी तो नहीं चल रही है।
Privatise kar hi de to acha. Atleast Premier trains segment can be best managed by them. IF not atleast Catering to chhod hi de GOVT unke bas ka nahi hai.

  
528 views
Mar 23 2017 (17:22)
a2z~   400 blog posts
Re# 2207014-14            Tags   Past Edits
Senior journalist really has a bad day as many unusual things have concurrently happened to him, so my sympathies are with him.
(1) Ola cab driver not arriving is not common thing
(2) He have ask his behnoi to take pain of dropping him at RS (highly undesirable))
(3) However just 20 minutes stoppage with closed doors and just 5 minutes stoppage with
...
more...
open doors of a train before departing at originating station is not usual
(4) Shatabdi getting delayed by 2:30 hrs as against normal 15 minute delay.
(5) Boiler not working so food was not hot. Boilers are not defunct, may be not working on that day.
(6) He has to pay Rs 1100 against normal fare of 800 i.e. flexifare
-
The report appears to be biased and exaggerated as inadvertently he has reported some good things like
(1) Cleaner coming on the running train and cleaned the coach (credit to RM)
(2) Complaint book was given on demand (many a times it is not given in old days)
(3) the explanation of the way mosquitos greeted them is hard to believe
(4) Train given unscheduled stop and Rly officials and got the hit sprayed at Aligarh by same on board worker (most probably the contractor's worker). This indicate contractor's fault, to which IR officials have swiftly acted and got the spray done by giving train an unscheduled stoppage. This is a great thing which happens under the leadership of Mr.Prabhu/Modi. बुक आ तो गई मगर उसमें पहले से जो शिकायतें थीं उन पर ही कोई जवाब नहीं आया था। -Whom did he expect to give reply to his complaint- RM ?or PM??.
Today Media is very powerful and many journalists consider themselves no less than MP/Minister and expect VVIP treatment (they already get VIP treatment).
(5) All the things Newspaper, meals (although not hot) were timely served.
(6) He presumed that the obese on train staff is corrupt and swindled the money given to him for hit spray.
-
Lessons for IR
(1) One thing that might have prompted the reporter to write so harshly about IR/RM/ModiRaj is very high Flexi fare of 1100Rs paid by him, for ac chaircar travel between CNB & Delhi, which ac buses might have provided for less than 400 Rs. Rly ministry must understand that any fare cannot be charged from paxs in the name of premium service, the economic value of the service provided has to be kept in mind.
(2) However what action IR has taken on the worker/contractor is not known. IR must take stern action against the erring persons so that such things are not repeated.

2 posts are hidden.

  
304 views
Mar 24 2017 (12:58)
Kishor*^~   4628 blog posts   123 correct pred (63% accurate)
Re# 2207014-17            Tags   Past Edits
Your fears have some validity in this.. Please read news : /blog/post/2209024
  
कहीं रेलवे को बेचने की तैयारी तो नहीं!... आज रेलवे की भयानक अराजकता और रेल कर्मचारियों की लापरवाही के साक्षात दर्शन हुए। सुबह मुझे कानपुर शताब्दी (12033) पकड़कर वापस गाजियाबाद आना था। कानपुर स्टेशन से यह गाड़ी सुबह छह बजे खुलती है। कानपुर में मैं वहां जहां रुका था, वह जूही कलाँ दो के विवेक विहार डब्लू-टू का इलाका स्टेशन से करीब सात किमी होगा। सुबह पहले तो बुकिंग के बावजूद ओला ने धोखा दे दिया। वह कैब आई ही नहीं और ड्राइवर ने फोन तक नहीं रिसीव किया। तब मेरे बहनोई स्वयं मुझे छोडऩे आए। इस तरह दो लोगों की नींद में खलल पड़ा।
हम घर से साढ़े पांच पर निकले थे और रास्ते भर यही सोचकर परेशान रहे कि कहीं
...
more...
टाटमिल चौराहे पर जाम न मिल जाए। खैर जब स्टेशन पहुंचे तो 5.48 हो रहा था। अपना सामान उठाए मैं भागता हुआ प्लेटफार्म में दाखिल हुआ तो गाड़ी का कहीं पता नहीं जबकि नियमत: उसे साढ़े पांच पर प्लेटफार्म पर लग जाना चाहिए। आखिर वहीं से यह ट्रेन चलती है। मगर ट्रेन प्लेटफार्म पर आई ही छह बजे। पूरी भीड़ ट्रेन के दरवाजों पर टूट पड़ी। मगर दरवाजे अंदर से ही बंद थे। सब उनके खुलने का इंतजार करते रहे। अब एक आदमी था जिसने एक के बाद एक कोच के दरवाजे खोलने शुरू किए। तेरह कोचों वाली इस ट्रेन के दरवाजे खुलने में ही 15 मिनट लग गए। सारे लोग एकदम से भड़भड़ा कर चढऩे लगे। और ट्रेन पांच मिनट बाद चल दी। अब जो चढ़ाने आए थे वे तो ट्रेन के अंदर तथा जिनको चढऩा था वे बाहर। हंगामा हुआ ट्रेन फिर रुकी और चली।
हमारा कोच सी-7 था। गाड़ी में बैठते ही मच्छरों ने घेर लिया। वृहदाकार के मच्छर जो भनभनाते तो डिस्टर्ब करते और चुप रहते तो हाथों-पांवों में काट लेते। हमे जो इंडियन एक्सप्रेस अखबार दिया गया उसे पढऩे की बजाय हम मच्छरों का शिकार करते रहे। मगर मच्छरों की संख्या इतनी ज्यादा थी कि ट्रेन में चढ़ा हर मनुष्य परेशान हो गया। औरतें, बच्चे सब तंग। तब मैने अपना रौद्र रूप दिखाया और टिकट चेक करने आए बाबू से कंप्लेंट बुक लाने को कहा। बुक आ तो गई मगर उसमें पहले से जो शिकायतें थीं उन पर ही कोई जवाब नहीं आया था। दूसरी सवारियां भी उखड़ पड़ीं तब एक सफाई कर्मी आया और फर्श पर पोछा लगा गया। फिर जो चाय आई लाई गई उसका पानी ठंडा था। फिर टीटी बाबू को बुलाकर शिकायत की गई तो वेटर ने बताया कि ब्वायलर काम नहीं कर रहा। एक तो ट्रेन वैसे भी डिले थी उस पर उसकी गति ऐसी जैसे बारात चल रही हो।
कानपुर से इटावा आने में ही दो घंटे लग गए। उस शताब्दी से जिसकी स्पीड कम से कम 130 रखी जाती है। और कानपुर-इटावा की दूरी महज 133 किमी की है। फिर राम-राम करते ट्रेन चली तो जो नाश्ता आया वह भी ठंडा और ऊपर से मच्छरों की भरमार। टूंडला पार करने के बाद वह कर्मचारी आया जिसके कंधे पर ट्रेन की सफाई का भार था। उसने बताया कि मच्छर तो आएंगे ही ट्रेन रात को जंगल में खड़ी की जाती है। और हमारे पास हिट है नहीं। उसकी शैली से लग रहा था कि रेलवे सफाई के वास्ते जो सामान इसे मुहैया करवाता होगा उसे यह जरूर बाजार में बेच देता होगा। मजे से गुटखा खाते हुए और खूब फूला पेट लेकर वह जैसे आया था वैसे चला गया।
अलीगढ़ में स्टाप न होते हुए भी ट्रेन रोकी गई और तब कोच में एक अधिकारी आया और उसने हिट उसी कर्मचारी से मंगवाई और छिड़काव करवाया। उसके बाद ट्रेन चली मगर स्पीड वही साठ-सत्तर वाली। इस तरह जिस गाजियाबाद में हमें साढ़े दस पर पहुंच जाना था उस पर हम साढ़े बारह पर उतरे और एक बजे घर आए। समझ में नहीं आता कि रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने शताब्दी में तमाम तरह के सुविधा शुल्क लगाकर कानपुर तक का किराया लगभग 11 सौ रुपये कर दिया है मगर न तो कोई सुविधा बढ़ाई न खानपान की गुणवत्ता ही सुधारी। जबकि दस साल के मनमोहन राज और उसके पहले की सरकारों के वक्त भी शताब्दी जाड़ों के कोहरे के दौरान को छोड़ दिया जाए तो कभी लेट नहीं होती थी।
खाने का हाल यह है कि शताब्दी खाने और नाश्ते के नाम पर दो सौ रुपये और चार सौ रुपये वसूलती है पर नाश्ता ऐसा था कि उसे खाना दूभर। दो स्लाइस और एक डिब्बी मक्खन। न नमक न कालीमिर्च पाउडर। दो ही विकल्प थे या तो दो पीस कटलेट अथवा आमलेट। दोनों ही बेस्वाद और एकरस। पिछले 28 वर्षों से यही परोसते आ रहे हैं। प्रभु ने जब पैसे बढ़ाए थे तो कहा था कि खाने की क्वालिटी सुधरेगी। मगर क्वालिटी तो और गिरी। मजे की बात कि कानपुर और लखनऊ शताब्दी में इतनी भीड़ होती है कि कभी भी दो दिन पहले टिकट नहीं मिल पाती। पर इसका फायदा रेलवे उठाता है कि जो कुछ दे दो खा ही लेंगे। क्या ट्रेन को इस तरह लेट करने तथा साफ-सफाई न करने के पीछे रेलवे को निजी हाथों में देने की तैयारी तो नहीं चल रही है।

  
161 views
Mar 22 2017 (22:03)
Indian Railways the life line of our Nation   13201 blog posts   137 correct pred (82% accurate)
Re# 2207013-1            Tags   Past Edits
News hai ki Travelouge samajh hi nahi aa raha
  
According to data, railways collected Rs4,072 crore from October 1 to 10 this year which declined by Rs232 crore in 2015-16. Last year, railways' revenue during this period was Rs4,304 crore. Sources said the ministry was expecting to generate Rs1,000 crore from surge pricing in one year of which Rs200 crore was expected in the month of October alone. However, the airline companies have made a significant dent into railways' passenger share. The Indian Railways runs around 12,000 trains with 22 million passengers and operates 8,000 trains to ferry around 3 million tonnes of freight per day.The much-criticised flexi fare scheme in premium trains to increase railways' revenue has done just the opposite. Despite surge pricing in Rajdhani, Shatabdi and Duronto Express trains during the festive season, railways' revenue collection in the first half of October had declined by Rs232 crores as compared to the previous year.
The
...
more...
trend is likely to continue during the winter vacations Christmas and New Year - as a majority of seats in Rajdhani and Shatabdi Express trains are vacant for the months of December and January. These include trains to destinations like Goa, Kerala, Mumbai, Kolkata, Amritsar, Lucknow and Chennai, among others.A senior railway ministry official said occupancy in these trains has been hit by 15 to 20 per cent after flexi fare scheme was introduced. The ministry was expecting a significant rise in revenue collection but the result has been quite disappointing. "The flexi fare scheme has backfired. Occupancy in trains has gone down substantially as passengers are getting flight tickets at cheaper rates. The railway ministry will review the scheme only after three months," said the official.
A number of trains like Mumbai Rajdhani, August Kranti Rajdhani, Sealdah Rajdhani and Trivandrum Rajdhani have a large number of vacant seats during mid-December. Normally these trains would have a long wait list but airline companies have been offering tickets to destinations like Goa, Kochi and Mumbai at prices as low as Rs3,000. Similarly, Shatabdi trains to Amritsar, Lucknow and Kanpur have shown low occupancy during this period.A comprehensive data also shows that railways' income from all sources has reduced by Rs3,854 crore so far this financial year. This includes income from freight which is a major source of railways' revenue. During the first six months of 2015-16, the railways had collected Rs84,747 crore but this year the income has reduced to Rs80,893 crore during the same period. Officials said the decline in revenue collection is a cause of worry for the railway ministry as it comes despite introducing alternative measures to augment revenue collection. While railways has planned largescale commercial exploitation of its unused properties, it has also created a directorate of non-fare revenue. The mandate of the directorate is to explore new ways of generating money, mainly by harnessing its advertisement potential, without interfering with the passenger fares. However, a major loss in freight revenue forced the railways to introduce surge pricing in premium trains from September 9 this year.Under the surge pricing scheme, fares will increase with every 10 per cent of the tickets sold in Rajdhani, Duronto and Shatabdi trains. It will translate into a fare hike of up to 50 per cent in such premium trains and may fetch Indian Railways Rs1,000 crore every year. The flexifare system is applicable in AC 2 tier, AC 3 tier, and AC chair car in the three trains, besides sleeper class in Duronto express trains. First AC and Executive Class have been kept out of the new system because of its prevailing high tariffs.
Close on the heels of surge pricing, luxury trains like Humsafar and Tejas Express trains, likely to be launched in a couple of months, will have fares that nearly 20 per cent higher than the normal Mail and Express trains. This, experts believe, may also be a deterrent for passengers as is evident from poor occupancy in India's fastest Gatimaan Express.

1 posts are hidden.

  
1033 views
Oct 24 2016 (21:02)
░▒▓█ RAILROAD █▓▒░   170 blog posts   14854 correct pred (71% accurate)
Re# 2033511-2            Tags   Past Edits
Another Failure..
This scheme was not brought to increase revenues of train travelers but to make a/c travelers use air travel..
  
Rail News
0 Followers
2295 views
IR AffairsNR/Northern  -  
Sep 08 2016 (20:01)   डिमांड के साथ किराया बढ़ेगा शताब्दी, दूरंतो में,किराया बढ़ाने के लिए 10-10 फीसदी के स्लैब होंगे।
 

☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   5286 news posts
Entry# 1985095   News Entry# 279449         Tags   Past Edits
•पहली 10 फीसदी सीटों पर बेस किराया लिया जाएगा।
•इनके फुल होते ही अगली 10 फीसदी सीटों पर 10 फीसदी ज्यादा किराया लगेगा।
•यह किराया तब तक बढ़ता रहेगा, जब तक यह 50 फीसदी सीटों तक न पहुंच जाए।
•इस तरह ट्रेन के आधे पैसेंजरों को ही 50 फीसदी ज्यादा किराया देना होगा।
•राजधानी
...
more...
और दूरंतों के सेकंड एसी, स्लीपर क्लास और शताब्दी की चेयरकार के लिए यह नियम लागू होगा, जबकि थर्ड एसी के लिए अधिकतम बढ़ोतरी 40 फीसदी होगी।
फ्लेक्सी किराया
कल से लागू होंगी किराए की नई दरें• एनबीटी ब्यूरो, नई दिल्ली
शताब्दी, दुरंतो और राजधानी ट्रेनों के पैसेंजरों को 9 सितंबर से ज्यादा किराया चुकाना होगा। रेलवे ने इन ट्रेनों में फ्लेक्सी किराया सिस्टम लागू करने का ऐलान किया है। अगर किसी ने पहले ही टिकट बुक करा रखा है तो उसे अतिरिक्त किराया नहीं
देना होगा।
इस किराया सिस्टम में फर्स्ट एसी और एग्जिक्युटिव क्लास पर अतिरिक्त बोझ नहीं डाला गया है। इन दोनों ही कैटिगरी के किराए में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। इंडियन रेलवे का कहना है कि बेस किराए के साथ ही रिजर्वेशन चार्जेज, सुपरफास्ट चार्जेज, कैटरिंग चार्जेज और सर्विस टैक्स भी पहले की तरह ही देना होगा। टैक्स नए किराए के आधार पर चुकाना होगा। रेलवे ने साफ किया कि जो भी टिकट कैंसल होंगे, उनके लिए करंट रेट पर ही किराया लिया जाएगा यानी उस वक्त ट्रेन में जो किराया चल रहा होगा, वही लागू होगा। अगर चार्ट बनने के बाद टिकट कैंसल होता है तो उस वक्त करंट काउंटर पर ये टिकट उपलब्ध होंगे, लेकिन इसके लिए वही किराया लिया जाएगा, जो अंतिम टिकटों के लिए लिया गया होगा। इन ट्रेनों में प्रीमियम तत्काल कोटा लागू नहीं किया जाएगा। जिन पैसेंजरों को किराए में छूट मिलती है, उन्हें यह छूट उसी टिकट की दर पर मिलेगी, जो उस वक्त चल रहा होगा।

  
970 views
Sep 08 2016 (20:21)
░▒▓█ RAILROAD █▓▒░   170 blog posts   14854 correct pred (71% accurate)
Re# 1985095-1            Tags   Past Edits
सुरेश प्रभु एक चार्टर्ड एकाउंटेन्ट हैं जिनका पहला और अंतिम उद्देश्य बैलेंस शीट को मुनाफे में दिखाना है जनता और उसकी सुविधाएँ जाएँ भाँड में ।

  
978 views
Sep 08 2016 (20:29)
☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   12438 blog posts   3041 correct pred (65% accurate)
Re# 1985095-2            Tags   Past Edits
prabhu twitter twitter khel ke aam admi ke le liye ache se....na service sudhri na spd bs wait karte raho ye soch ke ki 1 saal may kya hoga aur time chaiye abhi rly ko :)

17 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
2651 views
Commentary/Human Interest
Sep 07 2016 (22:14)   राजधानी / दुरंतो और शताब्दी ट्रेनों के लिए फ्लेक्सी किराया प्रणाली की शुरूआत
 

rdb*^   127280 news posts
Entry# 1984288   News Entry# 279343         Tags   Past Edits
रेल मंत्रालय ने राजधानी / दुरंतो और शताब्दी ट्रेनों के लिए फ्लेक्सी किराया प्रणाली शुरू करने का निर्णय लिया है जिसका विवरण इस प्रकार है : -

1. राजधानी, दुरंतो और शताब्दी श्रेणी की ट्रेनों का आधार किराया फ्लेक्सी किराया प्रणाली में होगा।

2
...
more...
(ए) यह आधार किराया निर्धारित सीमा के अधीन बेचे गए प्रत्येक हर 10% बर्थ पर 10% की वृद्धि होगी जैसा की नीचे तालिका में दर्शाया गया है। यात्रा के फस्ट ए.सी और ई.सी. श्रेणी की यात्रा के मौजूदा किराया में कोई बदलाव नहीं होगा। नीचे दी गई तालिका में ' X ' मौजूदा आधार किराये को दर्शाता है -

राजधानी और दुरंतो श्रेणी की ट्रेनों का किराया ढांचा
बर्थों का प्रभार %
10%
10%
10%
10%
10%
10%
10%
10%
10%
10%
2 स्लीपर
1X
1.1X
1.2X
1.3X
1.4X
1.5X
1.5X
1.5X
1.5X
1.5X
स्लीपर
1X
1.1X
1.2X
1.3X
1.4X
1.5X
1.5X
1.5X
1.5X
1.5X
3ए
1X
1.1X
1.2X
1.3X
1.4X
1.4X
1.4X
1.4X
1.4X
1.4X
2ए
1X
1.1X
1.2X
1.3X
1.4X
1.5X
1.5X
1.5X
1.5X
1.5X
1ए
1X
1X
1X
1X
1X
1X
1X
1X
1X
1X
X= आधार किराया

शताब्दी श्रेणी की ट्रेनों का किराया ढांचा
बर्थों का प्रभार %
10%
10%
10%
10%
10%
10%
10%
10%
10%
10%
सीसी
1X
1.1X
1.2X
1.3X
1.4X
1.5X
1.5X
1.5X
1.5X
1.5X
ईसी
1X
1X
1X
1X
1X
1X
1X
1X
1X
1X
X= आधार किराया

आरक्षण शुल्क, सुपरफास्ट चार्ज, कैटरिंग शुल्क, सेवा कर आदि जैसे अन्य पूरक प्रभार, अलग से लागू किये जायेंगा।

(बी) चार्ट बनाते समय खाली रही बर्थ की करंट बुकिंग की जाएगी। वर्तमान बुकिंग के तहत टिकटों की ब्रिकी उस श्रेणी के अंतिम मूल्य पर की जाएगी। आरक्षण शुल्क, सुपरफास्ट चार्ज, कैटरिंग शुल्क, सेवा कर आदि जैसे अन्य पूरक प्रभार, अलग से पूरे के पूरे लागू किये जायेंगे।

(सी) उच्च श्रेणी की यात्रा का विकल्प अपनाने पर जब लोअर क्लास का किराया उच्च श्रेणी से अधिक हो जाता है उस मामले में बुकिंग के दौरान इसकी जानकारी यात्री को दी जानी चाहिए।

(डी) किसी विशेष ट्रेन के लिए प्रत्येक श्रेणी के अंतिम मूल्यों को आरक्षण चार्ट पर प्रिंट किया जाना चाहिए।

3. इन श्रेणी की ट्रेनों में उपलब्ध विभिन्न कोटे इस प्रकार होंगे :

(ए) तत्काल कोटा : इन ट्रेनों में तत्काल कोटे के लिए निर्धारित बर्थ की वर्तमान सीमा को मौजूदा दिशा निर्देशों के अनुसार संचालित किया जाएगा। हालांकि "तत्काल प्रभार" के रूप में कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगाया जाएगा। तत्काल कोटे के तहत आवंटित बर्थों को सभी श्रेणियों के लिए (2एस, एसएल, 2ए, 3ए और सी सी) के आधार मूल्य के 1.5 गुना की दर पर बुक किया जा जाएगा। आरक्षण शुल्क, सुपरफास्ट शुल्क, खानपान शुल्क, सेवा कर आदि जैसे अन्य पूरक प्रभारों को पूर्ण रूप से लागू किया जाएगा।

(बी) इन रेल सेवाओं में कोई प्रीमियम तत्काल कोटा नहीं होगा।

4. रियायत : संबंधित रियायती टिकट के लिए के रूप में लागू सामान्य रियायत उपरोक्त तालिका के अनुसार प्रत्येक चरण में टिकट के आधार किराये पर स्वीकार्य होगी।

5. रिफंड नियम : मौजूदा रिफंड के नियमों में कोई बदलाव नहीं होगा।

6. अन्य शुल्क : आरक्षण शुल्क, सुपरफास्ट सरचार्ज आदि प्रभारों के लिए शुल्क में कोई परिवर्तन नहीं किया जाएगा, ऐसे प्रभार जहां हैं, उन्हें मौजूदा निर्देशों के अनुसार अतिरिक्त रूप से लगाया जाना जारी रहेगा।

7. सेवा कर : इस संबंध में जारी निर्देश के अनुसार सेवा कर जारी रहेगा।

8. उपरोक्त श्रेणी की ट्रेनों के संबंध में अन्य सभी नियम और शर्तें बिना किसी बदलाव के जारी रहेंगी।

9. किराये में उक्त परिवर्तन 09/09/2016 से प्रभावी होंगे।

***
आईपीएस/सीएस-4233

9 posts are hidden.

  
1660 views
Sep 08 2016 (08:46)
░▒▓█ RAILROAD █▓▒░   170 blog posts   14854 correct pred (71% accurate)
Re# 1984288-10            Tags   Past Edits
एक राजा था बहुत ही ज़ालिम रोज़ नए नए तरीके ढूंढता था ज़ुल्म करने के एक बार उस ने एक पुल बनाया और क़ानून यह बनाया की जो भी उस पुल से गुज़रेगा उसे पांच जूते मारे जायेंगे और ये सिलसिला चलता रहा सिपाही भी तैनात कर दिए गए भीड़ ज़्यादा होने की वजह से लोगों को लाइन में देर तक खड़ा होना पड़ता था मगर अचानक एक दिन भीड़ महल के सामने जमा हो गई राजा घबरा गया बाहर निकला और डरते डरते पूछा की क्या बात है तुम सब क्यों जमा हुए हो तो लोगों ने धीमी आवाज़ में कहा की बादशाह सलामत आप पुल पर ज़्यादा सिपाही तैनात कर दें ताकि वो जल्दी जल्दी जूते मारें इस से हमें लाइन में ज़्यादा देर नहीं लगना पड़ेगा इस पोस्ट को रेलवे से जोड़ के ना देखा जाये

1 posts are hidden.
  
General Travel
0 Followers
2321 views
May 11 2016 (19:58)  
 

░▒▓█ RAILROAD █▓▒░   170 blog posts   14854 correct pred (71% accurate)
Entry# 1841990            Tags   Past Edits
Right now I am out of India while accessing to the click here receiving this notification (“Firewall Notification Your access has been blocked by firewall policy 861.
If you have any further concerns, please contact your network administrator for more information.“
Any clue?

8 posts - Wed May 11, 2016

  
1474 views
May 11 2016 (20:42)
UP me Yogi Raj*^~   30693 blog posts   67821 correct pred (81% accurate)
Re# 1841990-9            Tags   Past Edits
Try following links if current one not working
/
/

  
1383 views
May 11 2016 (20:44)
Pran Pratim Ghosh   20310 blog posts   94961 correct pred (75% accurate)
Re# 1841990-10            Tags   Past Edits
me too..
pls pvt msg to mod sir.

  
1371 views
May 11 2016 (21:29)
12817 Jharkhand Swarna Jayanti 12818~   1355 blog posts   45 correct pred (76% accurate)
Re# 1841990-11            Tags   Past Edits
switch off data saver from chrome browser.. it may help u

  
1345 views
May 11 2016 (21:49)
░▒▓█ RAILROAD █▓▒░   170 blog posts   14854 correct pred (71% accurate)
Re# 1841990-12            Tags   Past Edits
Not having data saver in my chrome browser.

  
1274 views
May 11 2016 (22:24)
12817 Jharkhand Swarna Jayanti 12818~   1355 blog posts   45 correct pred (76% accurate)
Re# 1841990-13            Tags   Past Edits
mera problem isi se solve hua tha... which browser u using???
  
Rail News
0 Followers
1852 views
Apr 15 2016 (12:16)   यूपी में रेलवे के वि‍कास पर पांच हजार करोड़ रुपए होंगे खर्च: मनोज सि‍न्‍हा

Bhiwani*^   3626 news posts
Entry# 1804361   News Entry# 264624         Tags   Past Edits
गाजीपुर.मोदी सरकार के पहले रेलवे में पांच साल में औसत अड़तालीस हजार करोड़ रुपए का निवेश होता था। अब पहले साल में ही एक लाख इक्कीस हजार करोड़ रुपए का निवेश हुआ। इस साल केंद्र सरकार यूपी में रेलवे पर पांच हजार करोड़ रुपए खर्च करेगी। ये दावा रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने बुधवार को गाजीपुर में किया। वे गाजीपुर-आनंद विहार जाने वाली नई ट्रेन का शुभारंभ करने पहुंचे थे।
नई ट्रेन सप्ताह में तीन दिन गाजीपुर से दिल्ली और दिल्ली से गाजीपुर चलेगी। इस दौरान पूर्वोत्तर रेलवे के जीएम राजीव मिश्रा भी मौजूद रहे। सुहेलदेव सुपरफास्ट ट्रेन शुरू होने से इस इलाके के लोगों को यात्रा में काफी सहूलियत मिलेगी। मनोज सि‍न्‍हा ने कहा कि‍ मोदी सरकार में रेल नेटवर्क के
...
more...
विस्तार को प्राथमिकता दी गई है। 2022 तक सभी मालगाड़ियों का टाइम टेबल फिक्स कि‍या जाएगा। साथ ही 130 किलोमीटर प्रति घंटा चलने वाली ट्रेनों को बढ़ाया जाएगा।
उन्होंने रेलवे की ओर से गरीब और सामान्य लोगों के लिए पूरी तरह से अनारक्षित ट्रेन जल्द शुरू करने के साथ सभी ट्रेनों में अतिरिक्त बोगियां लगाने का दावा कि‍या। उन्‍होंने कहा कि रेल मुसाफिरों की सुविधाओं के विस्तार के मद्देनजर ऑन डिमांड रिजर्वेशन व्यवस्था पर भी तेजी से काम चल रहा है।

2 posts are hidden.

  
2224 views
Apr 15 2016 (12:49)
░▒▓█ RAILROAD █▓▒░   170 blog posts   14854 correct pred (71% accurate)
Re# 1804361-3            Tags   Past Edits
Bhai aap ko pata hona chahiye ki UP me election hone wale hain.

1 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
2317 views
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  
Apr 14 2016 (20:52)   गर्मियों में हर रूटपर समर स्पेशल ट्रेन,बनारस में ट्रेन से ज्यादा जरूरी सुविधायें
 

☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   5286 news posts
Entry# 1803585   News Entry# 264571         Tags   Past Edits
डीरेका में वेलिं्डग की ट्रेनिंग
14 लाख रुपये की होगी बचत
50
01
कैंट स्टेशन पर अधिकारी गेस्ट हाउस का उद्घाटन
रेल
...
more...
राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने डीरेका में सोलर प्लांट और वेलिं्डग अनुसंधान भवन का किया लोकार्पण, सोलर प्लांट से बचेगी 14 लाख रुपये की बिजली
तीन महीने में चार सौ युवाओं को करेंगे प्रशिक्षित
Click here to enlarge image
-50 किलोवाट के दो और 45 किलोवाट का एक प्लांट लगाया गया
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र को जल्द ही एक और ट्रेन मिलेगी। अगले महीने तक इसकी घोषणा रेल मंत्रलय कर देगा। इस बार गर्मियों में हर रूटपर समर स्पेशल ट्रेन की सुविधा मिलेगी। यह जानकारी रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने डीजल रेल इंजन कारखाना में पत्रकारों को दी। रेल राज्यमंत्री ने कहा कि पूर्वांचल के लोगों को गर्मी की छुट्टियों में घर आने में तकलीफ नहीं होगी। दिल्ली, मुम्बई, हैदराबाद, बंगलुरू, चेन्नई, कोलकाता सहित सभी रूटों पर समर स्पेशल ट्रेन चलाने की तैयारी है। कुछ रूटों पर शुरू भी हो चुकी है। इसके पहले रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने डीरेका में साढ़े तीन करोड़ की लागत से बने भारतीय रेल वेलिं्डग अनुसंधान भवन व 145 किलोवाट के सोलर प्लांट का लोकार्पण किया। कहा कि रेलवे मूलभूत सुविधाओं को बढ़ाने के लिए स्टेशन भवनों से लेकर ट्रेनों तक काम कर रहा है। कई नई ट्रेनें चलाई गई हैं। बनारस से कुछ और ट्रेन चलाने की तैयारी है। एक ट्रेन की घोषणा अगले महीने तक कर दी जायेगी।
कैंट स्टेशन पर बने अधिकारी गेस्ट हाउस का उद्घाटन बुधवार को उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक एके पुठिया ने किया। पहले इस गेस्ट हाउस में अफसरों के लिए सिर्फ दो कमरे थे। अब इनकी संख्या बढ़कर आठ हो गई है।उत्तर रेलवे के जीएम एके पुठिया ने बुधवार को कैंट स्टेशन के विकास कार्यों की जांच की। उन्होंने यार्ड रिमाडलिंग कार्य के लिए आवश्यक निर्देश दिया। अधिकारी गेस्ट हाउस में चली एक घंटे की बैठक में यात्री सुविधाओं, वेटिंग रूम, रिटायरिंग रूम, पीने का पानी, सफाई सहित कई मुद्दों पर चर्चा हुई। इसके पूर्व लखनऊ और वाराणसी के बीच हो रहे रेल खंड विस्तार कार्य का निरीक्षण किया। यात्रियों की सहूलियत के लिए सभी प्लेटफॉर्म पर एस्केलेटर और लिफ्ट लगाया जाना है। इसके लिए जीएम एके पुठिया ने प्लेटफॉर्म नंबर दो और तीन का निरीक्षण किया। बताया कि प्लेटफॉर्म छोटा है। इससे दोनों तरफ से एस्केलेटर व लिफ्ट लगाने में यात्रियों को परेशानी हो सकती है।
जीएम एके पुठिया ने कहा कि बनारस में ट्रेन से ज्यादा बुनियादी सुविधायें बढ़ाने की जरूरत है। इस रूट पर ट्रेनें ज्यादा हो गई है।इस दौरान डीआरएम एके लाहोटी, चीफ एरिया मैनेजर रविप्रकाश चतुर्वेदी, सीनियर डीसीएम अजीत सिन्हा आदि थे।
रेल राज्यमंत्री ने कहा कि अनुसंधान संस्थान में प्रधानमंत्री की कौशल विकास योजना के तहत युवाओं को प्रशिक्षित किया जायेगा। तीन महीने में 100 युवाओं के चार बैच चलाये जायेंगे। तीन सप्ताह का प्रशिक्षण दिया जायेगा। इनका चयन मेरिट के आधार पर होगा। इसके लिए कमेटी बना दी गई है। इसके अलावा पूर्वोत्तर रेलवे, उत्तर रेलवे, पूर्व मध्य रेलवे के तकनीकी कर्मचारियों को भी ट्रेनिंग दी जायेगी।
करोड़ 15 लाख रुपये खर्च हुए हैं डीरेका में लगे सोलर प्लांट पर
डीरेका में 145 किलोवॉट सोलर प्लांट शुरू हुआ। इसे तीन भागों में बांटकर प्रशासनिक भवन पर लगाया गया है। 50-50 किलोवाट के दो व 45 कि.वा. के एक प्लांट लगाया गया है। रेल राज्यमंत्री ने बताया कि हर साल 14 लाख रुपये के बिजली की बचत होगी।
वाराणसी कार्यालय संवाददाता
डीरेका में नवनिर्मित भारतीय रेल वेलिं्डग अनुसंधान संस्थान भवन का निर्माण ढाई करोड़ रुपये से किया गया। रेल राज्मयंत्री ने बताया कि यहां रेल इंजन और कोच के उत्पादन में वेलिं्डग काफी महत्वपूर्ण है। ऐसे में कर्मचारियों को इसका प्रशिक्षण दिया जाना जरूरी है।

  
3264 views
Apr 14 2016 (21:13)
░▒▓█ RAILROAD █▓▒░   170 blog posts   14854 correct pred (71% accurate)
Re# 1803585-1            Tags   Past Edits
Special nahi...Premium.....loot machi hai bas loot.

  
3471 views
Apr 14 2016 (21:14)
☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   12438 blog posts   3041 correct pred (65% accurate)
Re# 1803585-2            Tags   Past Edits
Regular trains ko limited karke Special par dhyan de raha rly ab bs

3 posts are hidden.

  
3203 views
Apr 14 2016 (22:17)
Aditya Immortal ™ ©~   2978 blog posts   186 correct pred (54% accurate)
Re# 1803585-6            Tags   Past Edits
Haa bhai lootne ka bhaut aacha tarika hai...
  
Rail News
0 Followers
1781 views
Apr 12 2016 (09:00)   EXCLUSIVE: डकैतों ने हौज पाइप काट रोकी ट्रेन, यात्रियों ने बरसाए पत्थर
 

Bhiwani*^   3626 news posts
Entry# 1799818   News Entry# 264293         Tags   Past Edits
जबलपुर। एलटीटी मुंबई से बिहार के दरभंगा जा रही 11065 डाउन पवन एक्सप्रेस को रविवार देर रात डकैतों ने रोक लिया। यात्रियों ने तत्काल इरादा भांपा और डकैतों पर पथराव शुरू कर दिया। यात्रियों की एकजुटता व साहस के आगे डकैतों के पास भागने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं बचा। घटना इटारसी-जबलपुर खण्ड में सोनतलाई-बागरातवा के बीच की है। आरपीएफ ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
इटारसी से हुए थे सवार
ट्रेन के यात्रियों से पूछताछ व जांच में सामने आया है कि आधा दर्जन से ज्यादा हथियारबंद डकैत इटारसी
...
more...
स्टेशन सेट्रेनके जनरल कोच 93412 में सवार हुए थे। इस कोच से लगा फर्स्ट एसी कोच 00056 उनके निशाने पर था। रविवार रात 01.01 बजे ट्रेन सोनतलाई स्टेशन से रवाना हुई, इसके बाद डकैत दोनों कोच के बीच में पहुंच गए और हौज पाइप काटकरट्रेनको रोक दिया। तब आधीट्रेनबोगदे के भीतर और आधी बाहर तवा ब्रिज पर थी।
CLICK करें: सिंहस्थ के रंग देखें तस्वीरों के संग
यात्रियों ने दिखाया दम
ट्रेन रोकने के बाद डकैत अपने इरादों को अंजाम दे पाते इससे पहले हीट्रेनके यात्रियों ने हौसला दिखाते हुए पथराव शुरू कर दिया। बताया गया कि एक सैकड़ा से ज्यादा यात्री टे्रन से उतर गए और उन्होंने डकैतों पर पथराव शुरू कर दिया। यात्रियों की भीड़ और अचानक हुए इस पलटवार से घबराकर डकैत अंधेरे में गायब हो गए।
फैल गई दहशत
होज पाइप काटे जाने सेट्रेनएक घंटे से भी ज्यादा समय तक खड़ी रही। इस दौरान यात्री दहशत में थे कि कहीं डकैत वापस न आ जाएं। बोगदे के भीतर टे्रन के खड़ी रहने से दमे के मरीजों को घुटन के चलते संभालना मुश्किल हो रहा था।
सीसीटीवी फुटेज निकाले
आरपीएफ इटारसी स्टेशन के सीसीटीवी फुटेज निकलवाकर छानबीन में जुटी है। यह पता लगाया जा रहा है कि इटारसी सेट्रेनकी किस बोगी में कौन-कौन सवार हुआ था। एसी फर्स्ट कोच से लगे जनरल कोच में सवार होने वाले यात्रियों के फुटेज निकालकर उनकी भी पहचान की कवायद शुरू कर दी गई है। आरपीएफ ने प्रकरण दर्ज कर कई यात्रियों के बयान दर्ज किए हैं।
खोजबीन कर रही आरपीएफ
अज्ञात बदमाशों ने होज पाइप काटकर पवन एक्सप्रेस को रोक लिया था। यात्रियों के एकजुट होकर पथराव करने से बदमाश अपने इरादों में नाकाम हो गए। प्रकरण दर्ज कर बदमाशों की खोज की जा रही है। इटारसी स्टेशन से सीसीटीवी फुटेज निकलवाए गए हैं।
- राजीव कुमार मलिक, सीएससी, आरपीएफ

  
4478 views
Apr 12 2016 (12:08)
░▒▓█ RAILROAD █▓▒░   170 blog posts   14854 correct pred (71% accurate)
Re# 1799818-1            Tags   Past Edits
इसे कहते हैं ईंट का जवाब पत्थर से !
अच्छा सबक़.

  
4500 views
Apr 12 2016 (12:17)
GMO WAP 7 We miss u~   811 blog posts   2 correct pred (67% accurate)
Re# 1799818-2            Tags   Past Edits
Pta nahi kab safety aayegi Indian railway.....me
Log khud apne bharose travel kar rahe hai.

4 posts are hidden.
  
Social
0 Followers
967 views
Mar 31 2016 (21:02)  
 

░▒▓█ RAILROAD █▓▒░   170 blog posts   14854 correct pred (71% accurate)
Entry# 1786167            Tags   Past Edits
ऐसा सुनने में आया है की सिवान जंक्शन में प्लेटफार्म संख्या 5 के बनने का कार्य प्रगति पर है,
ये तस्वीर तो कुछ ऐसा ही प्रतीत करती है। अपने विचार व्यक्त करें?
Page#    147 Blog Entries  next>>

ARP (Advanced Reservation Period) Calculator

Reservations Open Today @ 8am for:
Trains with ARP 10 Dep on: Sun Apr 9
Trains with ARP 15 Dep on: Fri Apr 14
Trains with ARP 30 Dep on: Sat Apr 29
Trains with ARP 120 Dep on: Fri Jul 28

  
  

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 2175399
    Feb 23 2017 (01:22PM)


    There has recently been a lot of frustration among RFs when their Station Pics, Loco Pics, Train Pics get rejected because the "number is not showing", "shed is not visible", the loco/train is at a distance, Train Board is too small, "better pic available", etc. . To address this issue, effective tomorrow, ALL...
  • Entry# 2165159
    Feb 15 2017 (09:53AM)


    A minor update, but may impact many members: Hereafter, FMs will be able to delete invalid Red Flags on Imaginary trains. Red Flags can be removed by FMs, only against specific complaints filed against the blog. This does not give all members the right to complain against EVERY single red flag they...
  • Entry# 2155798
    Feb 08 2017 (11:40AM)


    -@all members: As of recently, there has been a trend whereby minor name updates of Trains/Stations - whether such and such regional name should be there or not, whether the train should be called "Abc Express" or "Abc Superfast Express", etc. are threatening to take over the majority of Timeline entries. Also,...
  • Entry# 2147631
    Feb 01 2017 (11:05AM)


    A new experimental feature is being introduced called BotD - "Blog of the Day". The rules are: . 1. Replies are not eligible - only the Top Blog. 2. ONLY Blogs posted today (the day of the vote) are eligible. 3. Every member has ONE vote. In the course of the day, you may keep...
  • Entry# 2136570
    Jan 23 2017 (12:25AM)


    Several new features have been introduced recently to the Forum, and we are forever striving to make Member experience here more productive and satisfying. With the recent introduction and success of the new FM System, it has been observed that small groups of highly involved and enthusiastic members are far more...
  • Entry# 2134907
    Jan 21 2017 (02:46PM)


    It has been over 2 weeks since the appointment of the current batch of FMs and 750 Complaints have been handled so far. It gives me immense pleasure in congratulating them for running the team diligently, professionally, competently and above all, without a shred of controversy or bias. The FM position...
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site