Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language: **new
IR Press Release:

Search
  Go  
 
Wed Mar 4, 2015 12:29:37 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsMembersLoginFeedback
Wed Mar 4, 2015 12:29:37 IST
Modify Search
Trains in the News    Stations in the News     **new
Page#    201267 news entries  next>>
  
Today (12:17PM)  पंद्रह ट्रेन सेट से हाईस्पीड की शुरुआत करेगा रेलवे (epaper.amarujala.com)
back to top
Other NewsNCR/North Central  -  

News Entry# 215417     
   Tags   Past Edits
Mar 04 2015 (12:17PM)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by Saurabh*^/15807

Posted by: Saurabh*^  1665 news posts  
-25 सौ करोड़ रुपये का हुआ है आवंटन, आरसीएफ बनाएगा सेट
-160 से 200 किमी की होगी रफ्तार दो साल में मिलेगी पहली ट्रेन
इलाहाबाद। ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने के लिए रेलवे का रोडमैप आकार लेने लगा है। 160-200 किमी की रफ्तार दिलाने के लिए रेलवे 15 ट्रेन सेट बनाएगा। यह सेट रेल कोच फैक्टरी कपूरथला और रायबरेली में बनाए जा सकते हैं। यह ट्रेन सेट रेल बजट में हुई घोषणा के अनुसार दिल्ली-हावड़ा और दिल्ली-मुंबई रूट पर चलाए जाएंगे। रेलवे अफसरों का दावा है कि ट्रेन सेट तेजी से रुकते और चलते हैं। कॉशन वाले स्थानों पर भी इन्हें रफ्तार पकड़ने में कुछ मिनट ही लगते हैं। रेलवे ने इस कार्य के लिए 25 सौ करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। हालांकि, कोचों को पटरी पर उतारने से पहले ट्रैक और सिगनल
...
Read more...
सुधार के कई कार्य कराने होंगे।
मोदी सरकार आने के बाद रेलवे ने हाईस्पीड ट्रेनों को चलाने के लिए कदम बढ़ाए हैं। ट्रेन सेट चलाने का ऐलान इसी का हिस्सा है। हालांकि, सालभर पहले ही रेलवे ने ट्रेन सेट की तकनीक लाने को लेकर विचार-विमर्श शुरू कर दिया था। अफसरों का दावा है कि बजट में इसे शामिल करने और अनुमानित खर्च की मंजूरी के बाद इस प्रक्रिया में तेजी आएगी। ट्रेन सेट की लंबाई और बर्थ को लेकर रेलवे को कई चुनौतियों से भी जूझना होगा। वर्तमान में ज्यादातर लंबी दूरी की ट्रेनें 20 से 22 कोच की हो चुकी हैं। राजधानी एक्सप्रेस में भी 19 कोच तक लगने लगे हैं। जबकि, ट्रेन सेट में मोटर के साथ चार डिब्बे जुड़ते हैं। अभी चार मोटर वाले ट्रेन सेट यानी 16 कोचों की ट्रेन बनाने की तैयारी है। ट्रेन सेट में इंजन नहीं होते। एक ही डिब्बे में मोटर और सवारियों के बैठने की व्यवस्था होती है। इन्हें दोनों ओर से समान गति से चलाया जा सकता है।
मेट्रो में चलाए जा रहे ट्रेन सेट में सिर्फ बैठने के लिए कुर्सियां हैं, जबकि ओवरनाइट सेवा में लगने वाली ट्रेन सेट में बर्थ के इंतजाम करने होंगे। रेलवे अफसर बताते हैं कि लंबी दूरी के लिए ट्रेन सेट के डिजाइन और विकास में ही सालभर का वक्त लग सकता है।उत्तर मध्य रेलवे के अफसरों का दावा है कि इनका उत्पादन शुरू होने के बाद जंक्शन से चलने वाली दिल्ली दूरंतो एक्सप्रेस के कोचों को भी ट्रेन सेट में बदलने की कोशिश की जाएगी।
  
Today (11:48AM)  अब IRCTC से बुक कराएं कुली और कैब (www.patrika.com)
back to top
Other NewsNR/Northern  -  

News Entry# 215416     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: ankur_gupta0602  801 news posts   
नई दिल्ली। आईआरसीटीसी ने यात्रियों की सुविधा के लिए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर एक नई सुविधा शुरू की है। इस नई सुविधा का नाम "कंसीअर्ज सर्विस" है। इस सुविधा के तहत अब रेलवे यात्रियों को कुली, ट्रेनों की जानकारी और उनको घर तक पहुंचाने के लिए टैक्सी जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराएगी। - See more at: click here
  
Today (11:02AM)  कंफर्म तत्काल टिकट लेने के 7 अचूक टिप्स (aajtak.intoday.in)
News Entry# 215415     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Happy Holi  1355 news posts  
1. अपने कंप्यूटर या लैपटॉप पर एडब्लॉकर इंस्टॉल करें:
सबसे पहले अपने कंप्यूटर या लैपटॉप पर एडब्लॉकर इंस्टॉल करें. अब आप सोचेंगे कि इसका टिकट कटाने से क्या मतलब, तो हम आपको बताते हैं. आपने ध्यान दिया होगा कि जब भी आप Chrome या Mozilla के जरिए कोई भी वेबसाइट खोलते हैं तो उसे कई तरह के ऐड अपने आप आने लगते हैं. कुछ ऐसा ही www.irctc.co.in पर भी होता है. ऐसे ऐड तत्काल टिकट कटाने के दौरान आपके लिए मुसीबत खड़ी कर सकते हैं क्योंकि इससे आपका समय बर्बाद होता है. तो इससे अच्छा है कि ऐसे ऐड्स को ब्लॉक कर दिया जाए ताकि टिकट कटाने के दौरान इसके पॉप अप आपको परेशान ना करें.
2. दो ID का इस्तेमाल करें:
हमेशा
...
Read more...
दो ID का इस्तेमाल करें. अगर आपके पास IRCTC पर सिर्फ एक ही अकाउंट है तो अपने दोस्त या रिश्तेदार ये एक दूसरे अकाउंट का पासवर्ड मांग लें. फिर दोनों ID को लॉग इन कर लें लेकिन ध्यान रहे कि दोनों ID अलग अलग ब्राउजर पर खुले हों नहीं तो आपकी दोनों ID अपने आप लॉग आउट हो जाएगी और सारा खेल बिगड़ सकता है.
3. पता करें, तत्काल खुल कब रहा है:
वैसे तो किसी भी ट्रेन में तत्काल कोटा 24 घंटे पहले खुलता है. लेकिन हम आपको बता दें कि अगर कोई ट्रेन अपने गंत्वय से खुलकर दूसरे दिन आपके स्टेशन पर पहुंचती है तो वैसी ट्रेनों का तत्काल कोटा उस ट्रेन के गंत्व्य से खुलने के 24 घंटे पहले खुल जाता है. ऐसे में आपके पास 48 घंटे का समय होता है. तो तत्काल टिकट लेने के पहले कोशिश करें कि पहले ऐसी ट्रेनों का पता किया जाए जिसमें 48 घंटे पहले तत्काल कोटा खुलता हो. इस फॉर्मूले का इस्तेमाल कर के आप फायदे में रह सकते हैं.
4. पैसेंजर इन्फॉरमेशन पहले भर लें:
जैसा कि हम जानते हैं कि तत्काल कोटा सुबह 10 बजे खुलता है. आप कोशिश करें कि पैसेंजर इन्फॉरमेशन लिस्ट को पहले भर लें. क्योंकि अगर ये काम आप 10 बजे शुरू करेंगे तो आपका समय बर्बाद होगा और यहां तो सेकेंड्स में तत्काल कोटा फुल हो जाता है. पैसेंजर इन्फॉरमेंशन लिस्ट भरने के भी दो तरीके हैं.
पहला तरीका: आप पैसेंजर लिस्ट में जाकर एक बार सारी इन्फॉरमेशन को 10 बजे से पहले भर लें ताकि जब आप टिकट कटाने जाएं तो सारे डिटेल्स ड्रॉप डाउन में अपने आप रिफ्लेक्ट करने लगे. आपको बस उसे सेलेक्ट करना होगा. इससे आपका समय बचेगा.
दूसरा तरीका: ये तरीका है मास्टर लिस्ट का. IRCTC में ये एक ऐसी सुविधा है जहां जाकर आप पहले ही सारे इन्फॉरमेशन भर सकते हैं. आपको बाद में बस उसे सेलेक्ट करना होगा. ऐसा करके आप अपने कई मिनट बचा सकते हैं.
5. सारे डॉक्यूमेंट पहले से तैयार रखें:
टिकट कटाने से पहले अपना सारे डॉक्यूमेंट तैयार रखें. मसलन, ID नंबर, Debit/Credit Card नंबर या NetBanking नंबर. कोशिश करें कि ये सारे नंबर्स आपको याद हों ताकि वक्त बर्बाद ना हो.
6. पहले 2nd AC ट्राई करें:
अगर आप AC का टिकट कटा रहे हैं तो पहले 2nd AC ट्राई करें. क्योंकि ज्यादातर रूट पर 2AC की तुलना में 3AC ज्यादा तेजी से भरता है. ऐसे में आपके लिए 2AC में टिकट मिलने की संभावना बढ़ जाती है. वैसी ट्रेनों में तत्काल टिकट कटाने की बिल्कुल कोशिश ना करें जिसमें टिकट मिलने की संभावना कम हो.
7. पेमेंट के लिए हमेशा NetBanking का इस्तेमाल करें:
ये सुनकर आपको थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन ये सच है कि Debit/Credit Card की तुलना में NetBanking में पेमेंट ज्यादा तेजी से होता है. क्योंकि Debit/Credit कार्ड में आपको कार्ड नंबर और बाकी डिटेल भरना पड़ता है. लेकिन NetBanking में ऐसा कुछ नहीं करना पड़ता. पेमेंट हमेशा HDFC/ICICI का पेमेंट गेटवे इस्तेमाल करें. ये बाकि गेटवे से ज्यादा तेजी से प्रोसेस होता है.
तो ये हैं कुछ टिप्स जो आपको कन्फर्म तत्काल टिकट दिलाने में मदद कर सकते हैं. दुआ है इन टिप्स की मदद से आप इस साल होली में अपने परिवार और दोस्तों के साथ अपने घर पर मौजूद रहें. बाकी हैप्पी होली तो है ही.. :)
  
Today (10:36AM)  होली के लिए विशेष ट्रेन चलाने अभार (www.patrika.com)
back to top
Other NewsSER/South Eastern  -  

News Entry# 215414     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: ankur_gupta0602  801 news posts   
जमशेदपुर। होली को देखते हुए पटना और छपरा के लिए विशेष ट्रेन चलाने के लिए भोजपुरी संस्कृति मंच ने रेलवे के प्रति आभार व्यक्त किया है। साकची सुपरवाइजर फ्लैट में सोमवार को हुई बैठक में डॉ. अनिल कुमार सिंह ने कहा कि एक माह पूर्व चक्रधरपुर में डीआरएम से मुलाकात कर उन्हें मांग पत्र सौंपा गया था। - See more at: click here
  
Today (9:12AM)  പാലക്കാട് ഡിവിഷന് പുതിയ പിറ്റ്‌ലൈനില്ല: കൂടുതല്‍ തീവണ്ടികള്‍ തുടങ്ങാനാവില്ല (www.mathrubhumi.com)
back to top
Other NewsSR/Southern  -  

News Entry# 215413   Blog Entry# 1385942 **new     
   Tags   Past Edits
Mar 04 2015 (9:12AM)
Station Tag: Shoranur Junction/SRR added by Nalumani/261443

Mar 04 2015 (9:12AM)
Station Tag: Kozhikode Main/CLT added by Nalumani/261443

Mar 04 2015 (9:12AM)
Station Tag: Kannur Main/CAN added by Nalumani/261443

Posted by: Nalumani  97 news posts  
പാലക്കാട് ഡിവിഷന് പുതിയ പിറ്റ്‌ലൈനില്ല: കൂടുതല്‍ തീവണ്ടികള്‍ തുടങ്ങാനാവില്ല.
ഷാറണൂര്‍: റെയില്‍വേബജറ്റില്‍ എറണാകുളത്ത് പുതിയ പിറ്റ്‌ലൈനിന് മൂന്നുകോടി വകയിരുത്തിയപ്പോള്‍ പാലക്കാട് ഡിവിഷന്റെ പ്രതീക്ഷകള്‍ക്ക് വേണ്ടപരിഗണന ലഭിച്ചില്ല. തീവണ്ടികളുടെ അറ്റകുറ്റപ്പണി നടത്താനായി സ്റ്റേഷനില്‍ പ്രത്യേകം തയ്യാറാക്കുന്ന പാളമാണ് പിറ്റ്‌ലൈന്‍. തിരുവനന്തപുരം ഡിവിഷനില്‍ എറണാകുളം-തിരുവനന്തപുരം റെയില്‍വേസ്റ്റേഷനുകളില്‍ നിലവില്‍ പിറ്റ് ലൈനുകളുണ്ട്. ഇതിനുപുറമെ പുതുതായി അനുവദിച്ചതുകൂടിയാകുമ്പോള്‍ കൂടുതല്‍വണ്ടികള്‍ കൈകാര്യംചെയ്യാന്‍ തിരുവനന്തപുരം ഡിവിഷന് കഴിയും. എന്നാല്‍, പിറ്റ്‌ലൈനുകളുടെ അഭാവം പാലക്കാട് ഡിവിഷന് കൂടുതല്‍ വണ്ടികള്‍ കിട്ടാതിരിക്കാനിടയാക്കും. അതുകൊണ്ടുതന്നെ മലബാറിലെ യാത്രാക്ലേശം പരിഹരിക്കപ്പെടുകയുമില്ല.
നിലവില്‍ പാലക്കാട് ഡിവിഷനില്‍ മംഗലാപുരത്ത് മാത്രമാണ് പിറ്റ്‌ലൈന്‍ ഉള്ളത്. ഇതാകട്ടെ ഡിവിഷനുകീഴിലുള്ള എല്ലാ വണ്ടികളുടെയും അറ്റകുറ്റപ്പണിനടത്താന്‍ പര്യാപ്തവുമല്ല. മംഗലാപുരം ആസ്ഥാനമായി പുതിയ ഡിവിഷന്‍ രൂപവത്കരിച്ചാല്‍ ഇതും നഷ്ടപ്പെടും. നേരത്തെയുള്ള ഡിവിഷനുകളില്‍ ആസ്ഥാനത്ത് പിറ്റ്‌ലൈനില്ലാത്തത് പാലക്കാട്ട് മാത്രമാണ്. കോഴിക്കോട് വെസ്റ്റ്ഹില്ലിലും കണ്ണൂരും പിറ്റ്‌ലൈനുകള്‍ സ്ഥാപിക്കണമെന്നത് പാസഞ്ചര്‍ അസോസിയേഷനുകളുടെ കാലങ്ങളായുള്ള ആവശ്യമാണ്. എങ്കില്‍മാത്രമേ ഇവിടങ്ങളില്‍നിന്ന് കൂടുതല്‍ ദീര്‍ഘദൂര-പാസഞ്ചര്‍ സര്‍വീസുകള്‍ തുടങ്ങാനാകൂ.
യാത്രക്കാരുടെ തിരക്ക് പരിഗണിക്കുമ്പോള്‍ മലബാറില്‍നിന്ന് കൂടുതല്‍ ബാംഗ്ലൂര്‍, ചെന്നൈ സര്‍വീസുകള്‍ ആവശ്യമാണ്. ഇത് യാഥാര്‍ഥ്യമാകണമെങ്കിലും പിറ്റ്‌ലൈന്‍ വേണം. വണ്ടികള്‍ സര്‍വീസ് തുടങ്ങുന്ന സ്റ്റേഷനിലുള്ള പിറ്റ്‌ലൈനില്‍ത്തന്നെ അവയുടെ അറ്റകുറ്റപ്പണി നടത്തണമെന്നാണ് വ്യവസ്ഥ. അതിനാല്‍, ഈ സൗകര്യമുണ്ടെങ്കിലേ പുതിയ സര്‍വീസ് തുടങ്ങാനാകൂ.
...
Read more...
പിറ്റ്‌ലൈന്‍ സൗകര്യമില്ലാതെ കോഴിക്കോട്-തിരുവനന്തപുരം ജനശതാബ്ദി എക്‌സ്പ്രസ് തുടങ്ങിയത് റെയില്‍വേക്ക് 15.81 കോടി രൂപയുടെ നഷ്ടമുണ്ടാക്കിയതായി സി.എ.ജി. റിപ്പോര്‍ട്ടില്‍ പരാമര്‍ശിച്ചിട്ടുണ്ട്.
ഇ. അഹമ്മദ് കേന്ദ്ര റെയില്‍വേ സഹമന്ത്രിയായിരുന്നപ്പോള്‍ കണ്ണൂര്‍ റെയില്‍വേ സ്റ്റേഷനോടനുബന്ധിച്ച് പിറ്റ്‌ലൈന്‍ പണിയാന്‍ പദ്ധതിയുണ്ടായിരുന്നു. ഷൊറണൂര്‍-മംഗലാപുരം പാത ഇരട്ടിപ്പിക്കലിനോടനുബന്ധിച്ച് പിറ്റ്‌ലൈന്‍ നിര്‍മിക്കാനായിരുന്നു പദ്ധതി. 900 കോടിയോളം ചെലവഴിച്ച് പാത ഇരട്ടിപ്പിക്കല്‍ നടപ്പാക്കിയെങ്കിലും അഹമ്മദ് മന്ത്രിസ്ഥാനം മാറിയതിനാല്‍ പിറ്റ്‌ലൈന്‍ നിര്‍മാണം നടന്നില്ല. ഇപ്പോഴും പിറ്റ്‌ലൈന്‍ പണിയാന്‍ സാധ്യത കല്പിക്കപ്പെടുന്നത് കണ്ണൂരിനുതന്നെയാണ്. റെയില്‍വേക്ക് കണ്ണൂരില്‍ ആവശ്യത്തിന് സ്ഥലമുണ്ടെന്നതുതന്നെ കാരണം.

  
205 views
Today (11:30AM)        

emailconnect2hari   431 blog posts   1 correct pred (100% accurate)  
Re# 1385942-1               Tags   Past Edits
This is a new feature showing the full history of past edits to this Blog Post. All members will now be able to Edit and refine their past and future Blog Posts with NO time limit.
Could u pls translate it in english what it is?
  
Today (9:05AM)  भोपाल-इंदौर के बीच बनेगा इकोनॉमिक सुपर कॉरिडोर, हाईस्पीड ट्रेन चलाने का प्रस्ताव (www.bhaskar.com)
back to top
Other News

News Entry# 215412   Blog Entry# 1385763 **new     
   Tags   Past Edits
Mar 04 2015 (9:05AM)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by rajatbhopalkar/340701

Mar 04 2015 (9:05AM)
Station Tag: Indore Junction BG/INDB added by rajatbhopalkar/340701

Posted by: rajatbhopalkar  27 news posts  
भोपाल. दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर की तर्ज पर राज्य सरकार ने भोपाल और इंदौर के बीच इकोनॉमिक सुपर कॉरिडोर बनाने की तैयारियां शुरू कर दी है। कॉरिडोर में स्मार्ट सिटी जैसे छह नए शहर बनाने का प्रस्ताव है। मौजूदा फोरलेन रोड के दोनों ओर आधे से एक किमी के दायरे में कॉरिडोर बनाया जाएगा। कॉरिडोर पर ढाई से तीन लाख करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है।
पिछले साल अक्टूबर में हुई ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में इस कॉरिडोर का प्रेजेंटेशन किया गया था। इसके बाद विश्व बैंक के साथ हुई चर्चा में इसे प्रारंभिक मंजूरी मिल गई है। इसका विस्तृत सर्वे करने के लिए वर्ल्ड बैंक की तीन सदस्यीय टीम बुधवार से प्रदेश के दौरे पर आ रही है।
यह टीम बुधवार को इंदौर में और गुरुवार को भोपाल में उच्चस्तरीय बैठकें कर
...
Read more...
भोपाल- इंदौर रोड का जायजा लेगी। टीम में वर्ल्ड बैंक की कंट्री डायरेक्टर ओन्नी रूही, लीड अर्बन स्पेशलिस्ट बरजोर मेहता सीनियर अर्बन प्लानर अभिजीत रे शामिल हैं।
दौरे के बाद पांच मार्च को मुख्य सचिव अंटोनी डिसा से मुलाकात कर प्रोजेक्ट की संभावनाओं पर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी। इसके बाद प्रोजेक्ट की विस्तृत सर्वे रिपोर्ट बनाने का काम शुरू होगा। इसमें ही तय होगा कि इसकी लागत कितनी होगी और कितने वक्त में यह प्रोजेक्ट बनकर तैयार होगा।
फोरलेन बनेगा सिक्स से एट लेन
कॉरिडोर के लिए जमीन का अधिग्रहण करने की बजाए आपसी करार किया जाएगा। इसमें मौजूद फोरलेन रोड को छह से आठ लेन में बदला जाएगा। स्मार्ट सिटी वाली जमीनों पर नए शहर की बसाहट होगी।
यह भी फायदा
कॉरिडोर के आसपास रहने वाली एक करोड़ की आबादी पर इसका असर होगा।
20 लाख प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर बनेंगे।
30 हजार एकड़ जमीन का विकास, तीन लाख करोड़ का निवेश होगा।
हाईस्पीड ट्रेन
सीहोर से देवास के बीच नया ट्रैक बिछाकर भोपाल-इंदौर के बीच हाईस्पीड ट्रेन चलाने की भी योजना है। भोपाल से इंदौर का सफर महज दो से ढाई घंटे में तय हो सकेगा।
कनेक्टिविटी और इंफ्रास्ट्रक्चर बेहतर
देश के केंद्र में होने से यहां की लोकेशन इंडस्ट्री के लिहाज से मुफीद है। यहां लॉजिस्टिक हब और मैन्यूफैक्चरिंग हब बनने पर परिवहन लागत कम होगी। प्रदेश के दो बड़े शहरों के बीच कॉरिडोर होने से कनेक्टिविटी और इंफ्रास्ट्रक्चर बेहतर है।
वर्ल्ड बैंक से लोन लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने का काम प्रदेश सरकार करेगी। इसके लिए बीआईईएससीओ का गठन किया जाएगा, जो कि निजी कंपनी के सहयोग से योजना पूरी करेगी।

  
614 views
Today (9:06AM)        

rajatbhopalkar   86 blog posts   1583 correct pred (74% accurate)  
Re# 1385763-1               Tags   Past Edits
This is a new feature showing the full history of past edits to this Blog Post. All members will now be able to Edit and refine their past and future Blog Posts with NO time limit.
high speed corridor between Indore-Bhopal...great news!!!
#indorenews
  
Today (8:19AM)  फ्रेट कॉरिडोर के लिए ली जाएगी वन विभाग की जमीन (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 215411     
   Tags   Past Edits
Mar 04 2015 (8:22AM)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by অনুপম**/401739

Posted by: অনুপম**  4081 news posts  
जासं, धनबाद : डानकुनी से लुधियाना तक बनने वाली पूर्वी डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर को लेकर रेल प्रबंधन ने कवायद शुरू कर दी है। मंगलवार को जिले में जमीन अधिग्रहण को लेकर वन विभाग के अधिकारियों के साथ फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के सहायक परियोजना अभियंता प्रवीण कुमार की बैठक हुई। जिले में रेल लाइन किनारे वन भूमि की क्या स्थिति है। इस पर नक्शा के माध्यम से जानकारी ली गई। डीएफओ सतीश चंद्र राय ने बताया कि चिरकुंडा से लेकर तोपचांची तक वन प्रमंडल धनबाद का क्षेत्र पड़ता है। वन भूमि की स्थिति क्या है इस पर अध्ययन के बाद ही प्रस्ताव पर कुछ कहा जा सकता है। रेल प्रबंधन की ओर से भेजे गए प्रस्ताव पर विभाग गंभीरता से विचार करेगी। केंद्र सरकार इस योजना को जल्द से जल्द धरातल पर उतारने की दिशा में विभाग पूरा सहयोग करेगी। जल्द ही टीम को भेजकर भौतिक सत्यापन रिपोर्ट तैयार...
Read more...
की जाएगी। राज्य सरकार की जमीन भी इस कार्य में अधिग्रहण की जाएगी। रेल लाइन किनारे रैयती जमीन का भी नक्शा तैयार किया जाएगा। जमीन अधिग्रहण करने को लेकर राज्य व केंद्र सरकार की संयुक्त टीम दौरा कर पूरी स्थिति का जायजा लेगी।
  
Today (8:15AM)  क्षमता विस्तार के बाद चलेंगी नई टेनें : महाप्रबंधक, 150 करोड़ से अधिक की योजना को स्वीकृति दे सकेंगे जीएम, 26 कोच वाली टेनों के लिए तैयार करने होंगे प्लेटफॉर्म (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 215410     
   Tags   Past Edits
Mar 04 2015 (8:25AM)
Station Tag: Netaji SC Bose Gomoh Junction/GMO added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:25AM)
Station Tag: Sindri Town/SNDT added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:25AM)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by অনুপম**/401739

Posted by: অনুপম**  4081 news posts  
जासं, धनबाद : रेलवे महाप्रबंधक ने कहा कि बजट में नई टेनों की घोषणा न होने से निराश होने की जरूरत नहीं। रेलवे ने क्षमता विस्तार को प्राथमिकता देते हुए टैक दोहरीकरण और तीसरी लाइन बिछाने को राशि उपलब्ध करायी है। उन्होंने कहा कि अब तक जीएम स्तर पर 150 करोड़ तक की योजनाओं को मंजूर करने की अनुमति थी। रेलवे ने इस सीमा को खत्म कर दिया है। जीएम इससे अधिक की योजनाओं को भी मंजूर कर सकते हैं। इसका लाभ धनबाद मंडल की योजनाओं को भी मिलेगा। बजट में घोषित लोकप्रिय टेनों में 26 कोच से जुड़े सवाल पर कहा कि इसका अध्ययन किया जाएगा। 26 कोच ट्रेन के लिए प्लेटफॉर्म का विस्तार करना होगा। सिंदरी-गोमो के बीच डेमू के बारे में कहा कि कई टेनें उपलब्ध हैं। स्पेशल ट्रेनों के परिचालन में धनबाद के साथ भेदभाव पर कहा कि यात्रियों की प्रतीक्षा सूची के अनुसार निर्णय लिया...
Read more...
जाता है। उन्होंने सौ तक प्रतीक्षा सूची के बाद नो रूम होने की स्थिति की समीक्षा करने की बात कही। रेलवे बोर्ड तय करेगा डबलडेकर का भविष्य : धनबाद-हावड़ा डबलडेकर के परिचालन का निर्णय रेलवे बोर्ड स्तर पर ही लिया जाएगा। महाप्रबंधक ने कहा कि उनके पूर्व रेलवे में सेवाकाल के दौरान ही सर्वे रिपोर्ट आयी थी, जिसमें पाया गया था कि औसत 20 प्रतिशत यात्री ही इस टेन पर सफर कर रहे हैं। यात्रियों की कम संख्या के कारण परिचालन बंद करने का निर्णय लिया गया है। यात्री सुविधाओं के विकास को सांसद से लेंगे मदद : महाप्रबंधक ने कहा कि यात्री सुविधाओं के विकास के लिए सांसदों से भी मदद का आग्रह किया जाएगा। स्टेशनों में चेयर, बेंच, वाटर बूथ जैसी सुविधाओं के लिए सांसद निधि उपलब्ध कराने की मांग की जाएगी।
  
Today (8:11AM)  धनबाद-रांची के बीच बढ़ेगी ट्रेनों की रफ्तार (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 215409     
   Tags   Past Edits
Mar 04 2015 (8:27AM)
Station Tag: Hazaribagh Town/HZME added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:27AM)
Station Tag: Barkakana Junction/BRKA added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:27AM)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:27AM)
Station Tag: Chandrapura Junction/CRP added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:27AM)
Station Tag: Bokaro Steel City/BKSC added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:27AM)
Station Tag: Muri Junction/MURI added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:27AM)
Station Tag: Ranchi Junction/RNC added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:27AM)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by অনুপম**/401739

Posted by: অনুপম**  4081 news posts  
जासं, धनबाद : धनबाद-रांची के बीच अग्नि प्रभावित क्षेत्र में टेनों की औसत गति 50 किमी प्रतिघंटा है। इस रेलखंड के आधुनिकीकरण का कार्य शुरू हो गया है। पैनल इंटरलॉकिंग भी शुरू की गई है। तकनीकी प्रक्रिया पूरी होने के बाद इस रेलखंड पर टेनों की गति बढ़ायी जाएगी। यह बातें पूर्व मध्य रेल महाप्रबंधक एके मित्तल ने कही। वार्षिक निरीक्षण करने पहुंचे जीएम मंगलवार शाम डीआरएम कार्यालय के सभागार में बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस बजट में धनबाद मंडल को बहुत कुछ मिला है। उग्रवाद प्रभावित सीआइसी सेक्शन के 298 किमी टैक के दोहरीकरण को मंजूरी मिली है, जिससे पूरे रेलखंड की सभी लाइनों का दोहरीकरण संभव होगा। धनबाद से सोननगर के बीच 198 किमी लंबी तीसरी लाइन बिछायी जाएगी। साथ ही एक बड़े रेलखंड का विद्युतीकरण भी होगा। उन्होंने कहा कि कोडरमा-हजारीबाग के बीच रेलसेवा शुरू हो गई है। वित्तीय वर्ष 2015-16 के समापन तक...
Read more...
हजारीबाग से बरकाकाना तक 57 किमी हिस्से में रेलवे लाइन बिछाने का काम पूरा कर लिया जाएगा। जीएम ने कहा कि यात्री सुविधाएं उनकी प्राथमिकता हैं। धनबाद में यात्री सुविधाओं के लिए धन की कमी नहीं होने देंगे। आवश्यकता के अनुसार पर्याप्त धनराशि दी जाएगी। मौके पर मुख्यालय के अधिकारियों के साथ-साथ डीआरएम बीबी सिंह, एडीआरएम हिरेंद्र कुमार रघु, सीनियर डीसीएम दयानंद, सीनियर डीईएनसी अभय कुमार, सीनियर डीपीओ मनोज कुमार सहित अन्य सभी विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
  
Today (8:05AM)  चंद्रपुरा-राजाबेड़ा रेल लाइन दोहरीकरण जून तक (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 215408     
   Tags   Past Edits
Mar 04 2015 (8:29AM)
Station Tag: Bhandaridah/BHME added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:29AM)
Station Tag: Rajabera/RJB added by অনুপম**/401739

Mar 04 2015 (8:29AM)
Station Tag: Chandrapura Junction/CRP added by অনুপম**/401739

Posted by: অনুপম**  4081 news posts  
बेरमो : पूर्व मध्य रेलवे महाप्रबंधक एके मित्तल अधिकारियों के साथ धनबाद रेल मंडल के कई स्टेशनों का निरीक्षण किया। जीएम एके मित्तल ने कहा कि वे यह देखने आए हैं कि रेलवे अधिकारी व कर्मचारी नक्सल प्रभावित क्षेत्र में किस तरह 24 घंटे काम करते हैं। इस काम के लिए उनका हौसला बढ़ाने और उनकी परेशानियों को दूर करने आए हैं। जीएम ने बताया कि पहले चरण में चंद्रपुरा-राजाबेड़ा रेल लाइन की दोहरीकरण का कार्य जून 2015 तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके पूरा होने के तीन महीने बाद चंद्रपुरा-भंडारीदह रेलखंड के बीच रेललाइन को दोहरीकरण करने की योजना है।
Page#    201267 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site