Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Sun Apr 30, 2017 10:58:17 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Sun Apr 30, 2017 10:58:17 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 287094
  
आचार्या ने सही रिपोर्ट न देने पर दोनों को फटकारा,सीएसओ को कभी भी सहयोग कमेटी में इन दोनों अधिकारियों को न शामिल करने के भी निर्देश दिये
ट्रैक की देखरेख में कर्मचारी बरत रहे थे लापरवाही
झांसी। सीआरएस को “सेट करने में असफल रहे अधिकारियों ने उनहे गुमराह करने की काफी कोशिशें कीं। गलत रिपोर्टिंग से बौखलाये सीआरएस आर्चाया ने मण्डल के दो वरिष्ठ अधिकारियों की हालत खराब कर दी। इन दोनों पर न सिर्फ जमकर भड़ास निकाली बल्कि फटकार से सख्ते में आये सीनीयर डीईएन अनुराग यादव व सुपरवाईजर ट्रैनिंग कालेज के
...
more...
प्रिसींपल करूणेश श्रीवास्तव यहां-वहां बगलें झाकते हुये दिखाई दिये। सीआरएस ने दोनों को हड़काते हुये सही रिपोर्ट देने का निर्देश दिया। साथ ही उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य संरक्षा अधिकारी को इन दोनों को भविष्य मेें कभी भी सहयोग कमेटी में न शामिल करने के भी निर्देश दिये।
“पुखरायां रेल हादसे की वजह तलाश कर रहे मुख्य संरक्षा आयुक्त ने दुर्घटना के कारणों की जांच में सहयोग देने के लिए करुणेश श्रीवास्तव, सीनियर डीईएन अनुराग यादव व डीसीएफओ राजेश कुमार की तीन सदस्यीय समिति बनाई गई है। जांच के दौरान करुणेश श्रीवास्तव, सीनियर डीईएन अनुराग यादव ने पक्षपात करते हुए गलत रिपोर्ट आचार्या को दी। रिपोर्ट देखते ही सीआरएस भड़क गए। प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार यह देख अधिकारियों ने अपनी सफाई देना शुरू कर दिया। जिस पर सीआरएस ने दोनों अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि बहस न करें तथा सही रिपोर्ट दें। मुख्य संरक्षा आयुक्त ने मौके पर मौजूद मुख्य सुरक्षा अधिकारी से फिर कभी इन अधिकारियों को सहयोग कमेटी में न शामिल करने के भी निर्देश दिए।
ट्रैक की देखरेख में कर्मचारी लापरवाही बरत रहे हैं। इसकी रिपोर्ट सरकार को दी जाएगी। इसका हवाला जांच रिपोर्ट के साथ दिया जाएगा। यह बात रेल हादसे की जांच कर रहे रेल संरक्षा आयुक्त पीके आचार्या ने कहीं। दूसरी ओर श्री आचार्या ने कहा कि कानपुर-झांसी रेलखंड के पुखरायां-मलासा रेलवे स्टेशन के बीच जब तक ट्रैक पूरी तरह से दुरुस्त नहीं हो जाता तब तक सभी ट्रेनें 30 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ही चलेंगी। पुखरायां व मलासा स्टेशनों के बीच रेल ट्रैक पर कई स्थानों पर स्लीपर टूटे हैं। ट्रैक की चाभियां भी गायब हैं इसलिए ट्रेनें तेज गति से चलाना संभव नहीं है। उन्होंने ट्रैक ठीक करने के लिए रेल विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होनें कहा कि इस सैक्शन में कर्मचारी ठीक से काम नहीं कर रहे थे।
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site