Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Fri Mar 24, 2017 23:57:24 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Fri Mar 24, 2017 23:57:24 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 289259
  
Dec 21 2016 (10:20)  सहजनवां से दोहरीघाट तक रेल लाइन जल्द (epaper.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNER/North Eastern  -  

News Entry# 289259     
   Tags   Past Edits
Dec 21 2016 (10:21AM)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Dec 21 2016 (10:21AM)
Station Tag: Sahjanwa/SWA added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5246 news posts
6फाइनल लोकेशन सर्वे पूरा जनवरी में भेजेंगे डीपीआर 16फरवरी में भेजेंगे अंतिम रिपोर्ट
रेल मंत्रलय की हरी झंडी का इंतजार
प्रेम नारायण द्विवेदी, गोरखपुर 1बांसगांव क्षेत्र के लोगों को ट्रेन पकड़ने के लिए अब 50 किमी की दूरी नहीं तय करनी पड़ेगी। रेल मंत्रलय की पहल पर पूवरेत्तर रेलवे प्रशासन ने सहजनवां से दोहरीघाट तक रेल लाइन बिछाने के लिए फाइनल लोकेशन सर्वे पूरा कर लिया है। रिपोर्ट तैयार की जा रही है। उम्मीद है कि 2017 में इस नए रूट पर रेल लाइन बिछाने का काम शुरू हो जाएगा। सूत्रों का कहना
...
more...
है कि फाइनल लोकेशन सर्वे रिपोर्ट के आधार पर ही विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार की जाएगी, जिसे जनवरी में हर हाल में रेलवे बोर्ड को भेज दिया जाएगा। फरवरी से मार्च तक नए रेल लाइन क्षेत्र का फाइनल सर्वे रिपोर्ट भी तैयार कर लिया जाएगा। रेल मंत्रलय की हरी झंडी के बाद निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा। आम जनता और जनप्रतिनिधियों की मांग पर पिछले रेल बजट में रेलमंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने सहजनवां से दोहरीघाट तक (70 किमी) नई रेल लाइन बिछाने की स्वीकृति प्रदान कर दी थी। इसके लिए 743.55 करोड़ रुपये स्वीकृत भी कर दिया गया है। फिलहाल, सर्वे की तेजी एवं रेलवे की गतिविधियां बता रही हैं कि कि वर्ष 2017 में नई रेल लाइन बिछाने का कार्य शुरू हो जाएगा। 1चार बार हो चुका है सर्वे : सत्तर के दशक से ही सहजनवां और दोहरीघाट को रेलमार्ग से जोड़ने की मांग विभिन्न मंचों पर उठती रही है। इसके लिए राजनीतिक दलों के बीच भी सहमति बन गई थी। जनभावनाओं को देखते हुए रेलवे ने रेल लाइन बिछाने के लिए अब तक चार बार सर्वे भी कराया, पर आगे की कार्रवाई ठप पड़ गई। 1 वर्ष 1988- 89 में बांसगांव के सांसद एवं तत्कालीन रेल राज्यमंत्री महावीर प्रसाद ने भी इस क्षेत्र को रेलमार्ग से जोड़ने की पहल शुरू की। तीसरी बार सहजनवां से कौड़ीराम होते हुए दोहरीघाट को जोड़ने के लिए सर्वे हुआ, पर यह मामला भी ठंडे बस्ते में चला गया। सर्वे के दौरान क्षेत्र में जगह- जगह गड़े रेलवे के पत्थर आज भी लोगों के दिलों में टीस पैदा करते हैं। इस बार शुरू की गई पहल से लोगों में रेल लाइन बिछाने का काम शुरू होने की उम्मीद बंधी है।
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site