Disclaimer   
News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Sun Jan 22, 2017 01:20:54 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Sun Jan 22, 2017 01:20:54 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
Page#    18841 news entries  <<prev  next>>
  
Jan 20 2017 (14:03)  Thousands of passengers stranded as trains stop at Dindigul (www.thehindu.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsSR/Southern  -  

News Entry# 291654     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  124865 news posts
Railway officials ask them to reach Karur and Tiruchi to board trains
Thousands of passengers were stranded at Dindigul railway station on Thursday night as the southern railway cancelled two passenger trains and diverted all Chennai-bound express trains from southern districts through Manamadurai and Tiruchi owing the train blockade by a section of jallikattu supporters in Madurai.
Passengers rushed to Dindigul Central Bus Stand to reach Karur and Tiruchi to board trains to Bangalore and Chennai respectively.
Already,
...
more...
Tiruchendur-Palghat passenger train and Madurai-Dindigul passenger train were cancelled. Gurvayur-bound Guruvayur Express coming from Chennai got stranded at Dindigul railway station since 3.20 p.m. Similarly, Madurai-bound Vaigai Express and Mayiladuthurai-Tirunelveli fast passenger trains too stopped at Dindigul railway station.
With no additional platforms, Mumbai-Nagercoil Express was stopped Karur railway station. Palani-Chennai Express was the only train that departed from Dindigul station at 8.10 p.m.
Several passengers going to Bangalore and Chennai were stranded at Dindigul station. As all food items at railway canteens were sold out, passengers were searching for food. Uppuma was selling like a hot cake at the railway station. Some youths going to Nagercoil to attend a competitive exam also got stuck at the station.
With no intimation from Madurai office, railway officials were keeping their fingers crossed. Trains were halted in all the three platforms. They advised passengers to take alternative mode of transport to reach the nearest railway station to board trains.
While passengers going to Bangalore were advised to reach Karur to board Tuticorin-Mysore Express, passengers going to Channai were asked to go to Tiruchi to board Chennai-bound trains.
Southern railway had already diverted Tirunelveli- Tiruchi Intercity Express, Tiruchendur- Chengleput Suvitha Express, Tuticorin- Mysore Express, Rameswaram- Tirupathi Express and Jammu Tavi Express from Tirunelveli to Jammu through Manamadurai and Tiruchi to reach their destinations.
  
Jan 20 2017 (06:12)  ISI may have engineered train accidents to avenge surgical strikes (timesofindia.indiatimes.com)
back to top
Major Accidents/Disruptions

News Entry# 291617     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  124865 news posts
HIGHLIGHTS
The derailments of the Indore-Patna Express and Sealdah-Ajmer Express were allegedly engineered by Pakistan's spy agency ISI.
It is being claimed this was an attempt to avenge the Indian Army's surgical strikes in Pak-Occupied Kashmir on September 29.
The Indore-Patna train derailment is said to be one of two train accidents allegedly engineered by Pakistan's spy agency ISI. (PTI Photo)The Indore-Patna train derailment
...
more...
is said to be one of two train accidents allegedly engineered by Pakistan's ... Read More
PATNA: Security agencies are investigating the claims of the three Bihar criminals arrested in connection with two train accidents last year that the same were engineered by Pakistan's spy agency ISI to avenge the Indian Army's surgical strikes in Pak-Occupied Kashmir on September 29. Over 150 passengers were killed after Indore-Patna Express and Sealdah-Ajmer Express trains had derailed near Kanpur.
Umashankar Patel, Motilal Paswan and Mukesh Yadav were arrested from Motihari on Tuesday for allegedly placing a cooker bomb on the railway track near Ghorasahan station in Bihar on October 1. However, upon interrogation, they confessed that they had also planted explosives which led to the derailment of the two trains near Kanpur. The trio was picked up after the arrest of their ISI handler, Brijkishore Giri, and two others, Shambhu Giri and Mujahir Ansari, in Nepal.
Giri was funded by ISI operative Shamsul Huda, a fellow Nepalese who had gone to Dubai two years ago, to carry out subversive activities in India through local agents. Nepal has already initiated the process for Huda's extradition from Dubai.
An intelligence officer who was among those who interrogated the Bihar criminals told TOI: "Umashankar told us that soon after the surgical strike, Giri asked his team to do something immediately to avenge it."
Meanwhile, the Bihar criminals' handlers arrested in Nepal have also indicated to the police there that the Kanpur derailments were engineered to avenge the surgical strikes. "Ansari has told Nepalese interrogators that they were asked by Huda on phone on September 29 to do something big," Inspector Arun Kumar Kushwaha, posted in the office of Bara district SP in Nepal told TOI on phone.
  
Jan 18 2017 (21:57)  ISI behind Kanpur train accident, claim suspects (www.thehindu.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291569     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  124865 news posts
Three persons arrested by the Bihar police have claimed that Pakistan’s Inter-Services Intelligence (ISI) was behind the recent train accident in Kanpur and the bomb that failed to explode on a railway track in Ghorasahan in East Champaran district of the State.
Fifteen coaches of the Ajmer-Sealdah Express (no.12987) derailed near Rura, around 70 kilometres from Kanpur, on December 28. Though there were no deaths, 44 persons were injured in the accident.
Earlier, on November 20, Indore-Patna Express train derailed near Kanpur, killing over a hundred passengers and injuring many more. On October
...
more...
1, a powerful Improvised Explosive Device (IED) was detected on a railway track in Ghorasahan and it was safely defused by the police.
“In the course of our investigation into the Ghorasahan IED, we arrested three persons who confessed to their involvement. They said they were acting on the instructions of people based in foreign countries… It’s the subject of an investigation, but they have said they had links with Pakistan’s ISI,” Jitendra Rana, Superintendent of Police, East Champaran, told journalists in Motihari, district headquarters, on Tuesday.
Agencies informed
Mr. Rana said intelligence agencies had been informed about the arrests and the foreign links of the accused.
The arrested persons were identified as Uma Shankar Prasad, Moti Paswan and Mukesh Yadav. Moti Paswan, police said, claimed that the ISI was involved in the Kanpur rail accident and that he and some others from Kanpur had executed the job.
Two of his accomplices, Zubair and Ziyaullah, had already been arrested in Delhi. “Moti Paswan identified both of them from photographs shown to him,” said Mr Rana.
‘₹3 lakh to plant bomb’
Moti Paswan told the police one Braj Kishore Giri, who was recently arrested in Nepal, had given ₹3 lakh to Dipak Ram and Arun of Adapur village to plant a powerful IED on a railway track in Ghorasahan. “When they failed to trigger the explosion, Giri killed them in the jungles of Nepal,” he said.
Information had also come from the Nepal police that the ISI had paid Braj Kishore Giri ₹30 lakh to blow up railway tracks in India, police said.
“They may also have been involved in the Indore-Patna Express accident on November 20 last year. But this can only be confirmed after a thorough investigation,” said Mr. Rana.
  
Jan 18 2017 (21:18)  इंदौर-पटना ट्रेन दुर्घटना में बड़ा खुलासा, ISI ने इस तरह लिखी 164 लोगों के मौत की दास्तान (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291566     
   Tags   Past Edits
Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Rura/RURA added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Ghorasahan/GRH added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Raxaul Junction/RXL added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Adapur/ADX added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Chauradano/CAO added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 18 2017 (21:18)
Station Tag: Bapudham Motihari/BMKI added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ ने कानपुर रेल हादसे की साजिश रची थी. यह खुलासा नेपाल व मोतिहारी पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में पकड़े गये आइएसआइ एजेंट मोती पासवान ने किया है. मंगलवार को आइएसआइ के कुल छह एजेंटों को गिरफ्तार किया गया. इनमें तीन को नेपाल व तीन को मोतिहारी पुलिस ने पकड़ा. गिरफ्तार एजेंटों में एक आदापुर बखरी के मोती पासवान ने खुलासा किया है कि कानपुर में ट्रैक का फिश प्लेट खोल कर ट्रेन को दुर्घटनाग्रस्त कराया गया था. फिश प्लेट उसने खुद खोला था. कुछ और भी साथ थे. इसके लिए नेपाल के ब्रजकिशोर गिरि ने उसे आदेश दिया था. ब्रजकिशोर दुबई में बैठे समसूल होदा से गाइड होता है. इस खुलासे के बाद एटीएस व रॉ के अधिकारी मोतिहारी के लिए रवाना हो चुके हैं. बुधवार को वे मोतिहारी पहुंचेंगे.21 नवंबर, 2016 की आधी रात...
more...
को कानपुर के पास इंदौर-पटना एक्सप्रेस बेपटरी हो गयी थी, जिससे 164 यात्री मारे गये थे.आइएसआइ के एजेंटों ने ही घोड़ासहन में ट्रैक पर आइइडी लगाया था. गिरफ्तार एंजेटों का आका नेपाल का समसूल होदा है. फिलहाल वह दुबई में छुपा हुआ है. पूर्वी चंपारण के एसपी जितेंद्र राणा ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि समसुल का साथी ब्रजकिशोर गिरि उर्फ बाबा को नेपाल पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार किया. उसकी गिरफ्तारी के बाद नेपाल पुलिस ने शंभु उर्फ लड्डू व मुजाहिद्दीन अंसारी को पकड़ा. नेपाल पुलिस की जानकारी पर मोतिहारी पुलिस ने रक्सौल गम्हरिया से उमाशंकर पटेल, आदापुर झिटकहिया के मुकेश यादव व आदापुर बखरी के मोती पासवान को गिरफ्तार किया है. समसुल होदा के इशारे पर काम करनेवाले गजेंद्र शर्मा व राकेश यादव की तलाश में छापेमारी की जा रही है. दोनों आदापुर बखरी के हैं.

एसपी के अनुसार, समसुल होदा आइएसआइ के इशारे पर भारत में हमला करने के फिराक में था. इसके लिए उसने नेपाल व उसके सीमावर्ती इलाकों के युवाओं को संगठन से जोड़ने की जिम्मेवारी नेपाल के ब्रजकिशोर गिरि को सौंपी. इस दौरान घोड़ासहन में ट्रैक को उड़ाने के लिए उसने लक्ष्मीपुर पोखरिया के दीपक राम व अरुण कुमार को तीन लाख रुपये का लालच दिया. दोनों ने ट्रैक पर आइइडी तो लगाया, लेकिन उसे ब्लास्ट नहीं करा पाये. घटना के बाद दोनों नेपाल गये.

जुबैर व शफीक ने फोटो देख मोती को पहचाना था

मोतिहारी. पाक आतंकी संगठन के लिए जुबैर व शफीक भी काम करते हैं. दिल्ली में एटीएस ने कुछ दिन पहले दोनों को गिरफ्तार किया था. उनके मोबाइल में मोती पासवान का फोटो था. पूछताछ में दोनों ने फोटो दिखा कहा कि इसी ने कानपुर में ट्रैक का फिश प्लेट खोला था. इस खुलासे के बाद जांच एजेंसियों के कान खड़े हुए. मोतिहारी व नेपाल पुलिस से संपर्क किया गया.
  
Jan 18 2017 (18:02)  Pakistan ISI's Role Suspected In Kanpur Train Tragedy In Which 150 Died (www.ndtv.com)
back to top
Major Accidents/Disruptions

News Entry# 291561     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Gopal*^~  3437 news posts
Pakistan ISI's Role Suspected In Kanpur Train Tragedy In Which 150 Died All India | 150 people were killed when the Indore-Patna Express rolled off the tracks on November 20.
PATNA:  The role of Pakistan's Inter-Services Intelligence or ISI is being suspected in the train accident in Kanpur in November after the arrest in Bihar of three men yesterday. 150 people were killed when 14 coaches of the Indore-Patna Express rolled off the tracks around 100 km from Kanpur on November 20. At the time, a fault in the tracks was thought to be the cause of the accident. The three arrested yesterday have allegedly told the police that they were working for the Pakistani intelligence agency to target Indian
...
more...
railways. Here are the latest developments in the story: The man behind the Kanpur train accident is believed to be a man called Shamsul Hoda, who stays in Delhi, and Brajkishore Giri, a resident of Nepal. On Hoda's order, Brajkishore Giri and a few other men allegedly planted IEDs on the track which the Indore Patna Express was to take, and also used gas cutters to damage it. Shamsul Hoda is allegedly linked to the ISI.   His role was allegedly corroborated by three men arrested in Bihar - Moti Paswan, Uma Shankar Patel and Mukesh Yadav. These men were paid by Brajkishore Giri. They were arrested in connection with the murder of two young men in Motihari around 150 km from Patna. Sources say Moti Paswan "confessed" that the men, Arun and Deepak Ram, were killed on October 1 by Brajkishore Giri because they had failed to trigger bombs on railway tracks in Champaram near the Nepal border as planned, and backed out at the last minute when a passenger train was passing. That bombing was allegedly also ordered by Shamsul Hoda, who reportedly paid around 20-25 lakhs for it. Moti Paswan has allegedly told the police that a furious Hoda ordered the killing of Arun and Deepak Ram for failing him and asked for their murders to be filmed and sent to him. The Bihar police say during their interrogation, the arrested men have provided "positive leads" about the train accident, which have been conveyed to central agencies. In the Kanpur accident, most of the train's coaches were smashed as they tumbled off the track one after the other, some left on their side.
  
Jan 18 2017 (16:37)  Sealdah-Ajmer express derailment: Korean team visits Rura railway station to investigate cause of accident (timesofindia.indiatimes.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291543     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  124865 news posts
KANPUR: An expert team from South Korea visited the Rura railway station on Tuesday to investigate the cause of derailment of Sealdah-Ajmer express which had occurred on December 28 last year, leaving 62 passengers injured. The team which comprised of six experts, first inspected the accident spot and also did videography of the site and the mangled remains of the coaches. They even took measurement of the broken tracks and closely observed the signal system at the railway station.
The team, after collecting the evidences, also spoke to the railway officials and staff including section engineers and tried gathering more details into the accident. The sources also stated that this expert team may also visit Pukhrayan in Kanpur Dehat where Indore-Rajendra Nagar
...
more...
Patna express had derailed on November 20 last year, killing 152 passengers and leaving 300 passengers injured. It had turned out to be one of the deadliest train accidents in the past five years.The railways termed the investigation by the Korean team as 'audit by third party'.
Though the cause of the accident would be concluded by the Korean team later, sources stated that the track fracture could be the reason for the Sealdah-Ajmer express to derail. A team of IIT-Kanpur experts which had visited Rura soon after the derailment incident had concluded that the track fracture was the most probable reason for Sealdah-Ajmer express to derail.
Talking to TOI, Chief Public Relations Officer (CPRO), North Central Railways, Bijay Kumar said that the Korean team had come to Rura railway station to carry out audit of the accident site, tracks and the mangled remains of the coaches. This expert team had been sent by the Railway ministry and they would be submitting their report with the ministry after completing their investigation, he added. "This was 'audit by third party' which the railways get done to know about lapses if any."
Train no. 12987 Sealdah-Ajmer Express went off the tracks between Rura and Metha railway stations, about 50kms from Kanpur. During the accident, 15 coaches of the train derailed and left more than 60 people injured.
  
Jan 18 2017 (16:30)  असफल होने पर अरुण राम व दीपक राम को नेपाल में बुलाकर हत्या कर दी (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsECR/East Central  -  

News Entry# 291536   Blog Entry# 2131566     
   Tags   Past Edits
Jan 18 2017 (16:30)
Station Tag: Ghorasahan/GRH added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
घोड़ासहन के पश्चिमी सिग्नल के समीप 01 अक्टूबर 16 को रेलवे ट्रैक को बम से उड़ाने के प्रयास में असफल होने पर अरुण राम व दीपक राम को नेपाल में बुलाकर हत्या कर दी गयी। दोनों युवक आदापुर थाने के लक्ष्मीपुर पोखरिया गांव के निवासी थे। आईईडी विस्फोट की जिम्मेवारी दोनों युवकों को दी गयी थी। दोनों युवकों की लापरवाही से विस्फोट नहीं हो सका तो दोनों को सजा ए मौत दी गयी। दोनों आपस में चाचा भतीजा थे। सफल विस्फोट करने के लिए दस लाख रुपये दिये गये थे। विस्फोट नहीं होने के बाद दोनों को फोन कर नेपाल बुलाया गया और 27 दिसम्बर को हत्याकांड को अंजाम दिया गया। दोनों के पॉकेट से बरामद आईडी के आधार पर पहचान हुई। चाचा-भतीजे की हत्या को अंजाम देने के बाद महागढ़ी माई नगरपालिका के सेमरा तेगछिया के निवासी बृजकिशोर गिरि अपनी ससुराल पर्सा जिले के बिजबनिया गढैया में अजय गिरि के...
more...
यहां छिपकर रहने लगा। छापेमारी अभियान का नेतृत्व कर रहे नेपाल के डीएसपी चक्रराज जोशी के अनुसार इस मामले में पर्सा व बारा जिला के पुलिस टीम ने अपराधियों की खोज में छापेमारी की। छापेमारी के दौरान बदमाशों के साथ मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में बृजकिशोर गिरि को पैर में गोली लगी। नेपाल पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। उसके निशानदेही पर कलेया के मुजाहिदीन अंसारी व शंभू गिरि उर्फ लड्ड को भी नेपाल पुलिस ने गिरफ्तार किया। जख्मी बृजकिशोर को वीरगंज के नारायणी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। तीनों बदमाशों की नेपाल में गिरफ्तारी के बाद भारतीय पुलिस वहां पूछताछ के लिए गयी थी तो मोती पासवान का सुराग मिला। मोती पासवान की गिरफ्तारी के बाद कानपुर बम ब्लास्ट का खुलासा हुआ।बृजकिशोर गिरि का है आतंकी कनेक्शन: नेपाल का बृजकिशोर गिरि का आतंकी संगठन से कनेक्शन है। नेपाली बदमाशों से पूछताछ के आधार पर भारतीय पुलिस ने आदापुर थाने के गम्हरिया रक्सौल के उमाशंकर पटेल उर्फ राजू पटेल, मुकेश यादव व मोती पासवान को भारतीय पुलिस ने गिरफ्तार किया। मोती पासवान ने पूछताछ में खुलासा किया है कि बृजकिशोर गिरि का दुबई के शमसुल होदा से कनेक्शन है। शमसुल ने बृजकिशोर गिरि को रेलवे ट्रैक पर बम प्लांट करने के लिए उमाशंकर पटेल को 20 लाख रुपये व बम प्लांट करने में शामिल सभी सदस्यों को स्कॉर्पियो देने का प्रलोभन दिया। उमाशंकर पटेल ने अरुण राम, दीपक राम, मुकेश यादव, गजेन्द्र शर्मा, राकेश यादव,मुजाहिदीन अंसारी व शंभू गिरि को मिलाकर एक टीम बनायी। घोड़ासहन रेल ट्रैक पर आईईडी फिट कर अरुण राम व दीपक राम को ब्लास्ट करने की जिम्मेवारी दी गयी थी। यह ब्लास्ट उस समय करना था जब क ोई यात्री ट्रेन गुजरने वाली हो। 01 अक्टूबर 16 को ब्लास्ट करना था। ऐसी चर्चा है कि अरुण व दीपक का विस्फोट करने का हृदय स्वीकार नहीं किया। वह दोनों युवक ब्लास्ट नहीं कर सके। जब ब्लास्ट नहीं हुआ तो इसकी सूचना बृजकिशोर गिरि को मिली, तो वह आक्रोशित हो गया। उमाशंकर पटेल को फोन पर कई तरह की धमकी दी। शीघ्र रुपये वापस करो नहीं तो अंजाम खराब होगा। फोन का रेकाडिंग भारतीय पुलिस के पास उपलब्ध है। इसी बातचीत के दौरान कानपुर में भी बम प्लांट करने की बात का खुलासा हुआ था। फिर नयी योजना बनी और मोती पासवान को कानपुर में बम प्लांट करने के लिए बुलाकर ले जाया गया। कानपुर हादसे के बाद बृजकिशोर गिरि जब लौट कर नेपाल आया तो दीपक व अरुण को बुलकार हत्या कर दी।

  
971 views
Jan 18 2017 (17:42)
For Better Managed Indian Railways~   1859 blog posts
Re# 2131566-1            Tags   Past Edits
Aatankiyon ki kayra paddhati- "Karo ya maro"!
  
नई दिल्ली। रेल मंत्री सुरेश प्रभु भारतीय रेल की आर्थिक सेहत दुरुस्त करने के लिए खचरें को सीमित करने के प्रयास में जुट गए हैं। इसके तहत एक दशक में ऊर्जा बचाने का रोडमैप तैयार किया है। इससे रेलवे को 41,000 करोड़ की बचत होगी, जबकि ट्रेन परिचालन में 90 फीसदी कार्बन कम होगा।रेल भवन में ऊर्जा दक्षता पर आयोजित ‘गोलमेज सम्मेलन’ में सुरेश प्रभु ने कहा कि रेलवे बिजली और डीजल खरीद के लिए नई प्रणाली अपनाने जा रहा है। साथ ही नवीन ऊर्जा स्नेत्रों का उपयोग बढ़ाया जाएगा। इस काम में नई प्रौद्योगिकी के साथ रेलवे के हितधारकों का सहयोग चाहिए तभी योजना को साकार किया जा सकेगा। प्रभु ने सम्मेलन में उपस्थित देश-विदेश के हितधारकों का आह्वान किया कि रेलवे के ऊर्जा बिल को कम करने के लिए अपने इनोवेटिव विचार साझा करें।प्रभु ने कहा कि अगले पांच साल में 24 हजार किलोमीटर के रेलवे ट्रैक का विद्युतीकरण...
more...
किया जाएगा। इससे 90 प्रतिशत यातायात डीजल के बजाए बिजली से कर सकेंगे। वर्तमान में करीब 50 फीसदी रेलवे ट्रैक का विद्युतीकरण है और इस पर लगभग 60 फीसदी माल ढुलाई होती है। विद्युतीकरण खरीद के लिए नई प्रणाली से वर्तमान खपत के स्तर पर करीब 4000 करोड़ रुपये की बचत का अनुमान है। आगामी 10 सालों में 41 हजार करोड़ रुपये की बचत संभव है। इसी क्रम में रेलवे डीजल खरीद प्रणाली में सुधार करेगी। अब सीधे कच्चे तेल की खरीद की जाएगी, इस मद में रेलवे 1000 करोड़ की बचत करेगी।
  
दानापुर स्टेशन पर परिचालन विभाग के कर्मियों की लापरवाही उजागर हुई है। सोमवार की शाम एक तरफ जहां पूर्व-मध्य रेल के जीएम सहित अन्य बड़े अधिकारी संरक्षा के नियमों की चर्चा कर रहे थे, वहीं दूसरी तरफ चंद कदमों की दूरी पर आधे घंटे के अंदर ही संरक्षा में लापरवाही की दो घटनाएं हुईं। इनमें से एक घटना को घंटों वरीय अधिकारियों से छिपाए रखा गया, जिसे लेकर जिम्मेवार अधिकारियों और कर्मियों को वरीय अधिकारी ने कड़ी फटकार लगाई।
टल गई बड़ी दुर्घटना
प्वाइंट द्वारा ट्रेन को एक ट्रैक से दूसरी ट्रैक पर
...
more...
ले जाया जाता है। प्वाइंट और लॉक के टूटने से गाड़ी निर्धारित ट्रैक से अलग ट्रैक पर जाने से एक बड़ी दुर्घटना हो सकती थी। दानापुर मंडल के जनसंपर्क अधिकारी आरके सिंह ने बताया कि जानकरी होने के बाद संबंधित अधिकारियों द्वारा जांच कर कार्रवाई की जा रही है।
ट्रैक का क्षतिग्रस्त प्वाइंट व लॉक
दूसरी घटना
महीनों से दानापुर स्टेशन पर खड़ी रोल ऑन रोल ऑफ रैक को मुगलसराय भेजने से पहले मेंटेनेंस के लिए बिना पूरी तरह निरीक्षण किए शाम को डाउन रिसीविंग लाइन से अप लाइन होते हुए पिट लाइन पर लाया जा रहा था। इस दौरान भूलवश रैकों से लटक रही लोहे की मोटी जंजीरें 42 नंबर प्वाइंट में फंस गईं और प्वाइंट और 34 नंबर लॉक को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर डाला। शाम 17:30 बजे के करीब वहां से गुजरने वाली 13008 डाउन तूफान एक्सप्रेस के लिए प्वाइंट नहीं बनने पर रेलकर्मियों को इसकी जानकारी हुई। इस दौरान दर्जन भर से ज्यादा गाड़ियों का परिचालन प्रभावित हुआ, जिन्हें प्वाइंट पर अस्थाई तौर पर क्लैंप लगा मेमो देते हुए नियंत्रित रफ्तार से चलाया गया। रात बारह बजे के करीब प्वाइंट और लॉक को ठीक किया गया।
पहली घटना
शाम करीब 17:15 बजे बहुउपयोगी यूटीवी मशीन को साइडिंग पर ले जाया रहा था। इस दौरान प्लेटफॉर्म पांच से पूर्व यूटीवी मशीन के पहिए पटरी से उतर गए। घटना के बाद नियमों के तहत न तो वरीय अधिकारियों को सूचना दी गई और न ही मौजूदा संरक्षा नियमों के तहत रेलकर्मियों को अलर्ट करनेवाला हूटर बजाया गया। आनन-फानन में दुर्घटना राहत ट्रेन को लाकर यूटीवी मशीन को उठाते हुए पटरी पर लाया गया और चुपचाप साइडिंग में भेज दिया गया।

  
1053 views
Jan 18 2017 (09:35)
22481 जोधपुर दिल्ली सराय रोहिल्ला सुपरफास्ट^~   2147 blog posts   244 correct pred (56% accurate)
Re# 2131052-1            Tags   Past Edits
so sad IR
  
Jan 18 2017 (08:02)  कानपुर में आइएसआइ ने कराया था रेल हादसा! (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291478     
   Tags   Past Edits
Jan 18 2017 (08:02)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by Pp*^~/36064

Jan 18 2017 (08:02)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by Pp*^~/36064

Jan 18 2017 (08:02)
Station Tag: Ghorasahan/GRH added by Pp*^~/36064

Posted by: Pp*^~  5969 news posts
उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए रेल हादसे व पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन स्टेशन के पास इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइईडी) लगाने की साजिश पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ ने रची थी। यह खुलासा मंगलवार को मोतिहारी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर बदमाशों में शामिल आदापुर निवासी मोती पासवान ने पुलिस के समक्ष किया। उसने बताया कि कानपुर में 21 नवंबर 2016 को हुए रेल हादसे की साजिश आइएसआइ ने ही की थी। इसमें में मैं भी शामिल था। मेरे साथ कानपुर में कई अन्य भी थे, जिनमें दिल्ली में पकड़े गए बदमाश जुबैर व जियायुल शामिल थे। एसपी जितेन्द्र राणा के समक्ष उसने उन दोनों की तस्वीरों से पहचान की। मोती ने बताया कि कानपुर से पहले पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन स्टेशन के पास रेल ट्रैक व चलती ट्रेन को उड़ाने की साजिश भी उसी संगठन ने रची थी। इसके लिए नेपाल में गिरफ्तार ब्रजकिशोर गिरी ने आदापुर निवासी अरुण व...
more...
दीपक राम को तीन लाख रुपये दिए थे। लेकिन, इन्होंने आइईडी लगाने के बाद भी रिमोट का बटन नहीं दबाया। इस कारण वह विस्फोट नहीं हो सका। इस कारण नेपाल बुलाकर ब्रजकिशोर ने अरुण व दीपक की हत्या कर शव फेंक दिया। देखें पेज 3 भी।’>>पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में भी आइईडी लगाने में था आइएसआइ का हाथ1’>>रिमोट नहीं दबाने वाले लोगों की नेपाल में बुलाकर कर दी गई हत्या 1पकड़े गए लोग नेपाल के ब्रजकिशोर गिरी के माध्यम से आइएसआइ के लिए काम कर रहे थे। इस कड़ी में मोती पासवान कानपुर में रेल हादसे को अंजाम देने के लिए गया था। 1जितेंद्र राणा, एसपी, मोतिहारी, पूच.’2009मोतिहारी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर बदमाशों में शामिल आदापुर के मोती पासवान ने किया खुलासा1’2009कहा-दिल्ली में गिरफ्तार जुबैर व जियायुल भी थे कानपुर में मेरे साथ1’2009घोड़ासहन में रेल ट्रैक उड़ाने के लिए नेपाल में गिरफ्तार ब्रजकिशोर गिरी ने अरुण व दीपक राम को दिए थे तीन लाख रुपये, विस्फोट नहीं होने के बाद नेपाल बुलाया और कर दी हत्या
Page#    18841 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site