News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
IR Press Release:

Search
  Go  

Disclaimer   
 
Sun Dec 21, 2014 11:41:36 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsMembersLoginFeedback
Modify Search
Trains in the News    Stations in the News    show english news only

News Posts by pappunakhat

Page#    Showing 1 to 10 of 107 news entries  next>>
  
Feb 14 2014 (7:32PM)  गरीब नवाज एक्सप्रेस में लड़की के साथ दुष्कर्म (www.bhaskar.com)
back to top
Crime/AccidentsNFR/Northeast Frontier  -  

News Entry# 168275     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: pappunakhat  107 news posts  
न्यू जलपाईगुड़ी/किशनगंज/पटना. चलती ट्रेन में दुष्कर्म का मामला समाने आया है। मामला गुरुवार की देर रात न्यू जलपाईगुड़ी से किशनगंज रेल मार्ग की है। न्यू जलपाई गुड़ी में अजमेरशरीफ गरीब नवाज एक्सप्रेस से प्रिया (बदला हुआ नाम) किशनगंज जाने के लिए एसी कोच में सवार हुई।

ट्रेन जैसे ही न्यू जलपाईगुड़ी से निकली कोच अटेंडेंट विश्वेशवर दास ने प्रिया को अकेला पाकर छेड़खानी शुरू कर दी। प्रिया की ओर से इसका विरोध करने पर दास ने उसके साथ मारपीट की और जबरन उसके साथ दुष्कर्म किया।

ट्रेन जब मांगुर से गुजर रही थी तो यहां के स्टेशन मास्टर ने पीड़िता की आवाज सुनी। उन्होंने तत्काल इसकी सूचना अलवार स्टेशन को दी
...
Read more...
फिर अलवार स्टेशन मास्टर ने ट्रेन रोक कर आरपीएफ और जीआरपीएफ की सहायता से एसी कोच का निरीक्षण किया तो घायल अवस्था में पीड़िता ट्रेन में लेटी हुई मिली, जबकि अटेंडेंट पास में ही खड़ा था।

पुलिस ने पीड़िता को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है, जबकि दुष्कर्मी को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की जा रही है।।

इस मामले में वरीय रेल मंडल सुरक्षा आयुक्त संजय मिश्रा ने बताया कि पीड़ित लड़की की मेडिकल जांच कराई जा रही है। इसके बाद इसपर कार्रवाई की जाएगी। विभाग के स्तर पर रेल प्रशासन और पुलिस अपने स्तर पर इसपर कार्रवाई करेगी।
  
किशनगंजः किशनगंज से अजमेर शरीफ होते हुए दिल्ली तक जाने वाली गरीब नवाज एक्सप्रेस में शुक्रवार की सुबह एक युवती के साथ चलती ट्रेन में दुष्कर्म हुआ. दुष्कर्म के बाद युवती ने चलती ट्रेन से ही छलांग लगाने की कोशिश की, लेकिन आरोपी ने उसे अपनी ओर खींचने का प्रयास किया जिससे युवती बोगी के गेट पर झूलने लगी. मांगुरजान स्टेशन के पास स्टेशन मास्टर की नजर ट्रेन से लटक रही युवती पर पड़ी और उन्होंने इसकी सूचना अलुआबाड़ी स्टेशन मास्टर को दी. अलुआबाड़ी स्टेशन पर ट्रेन रोक कर युवती को नीचे उतारा गया. युवती की शिकायत पर दुष्कर्म के आरोपी कोच अटेंडेंट को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.
प्राप्त जानकारी के अनुसार पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी भक्ति नगर निवासी उत्तम प्रसाद की पुत्री सोनिया कुमारी (काल्पनिक नाम) अपनी मां के साथ किशनगंज आने के लिए एनजेपी
...
Read more...
स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रही थी. इस बीच साफ-सफाई के लिए एनजीपी स्टेशन पहुंची गरीब नवाज एक्सप्रेस प्लेट फार्म संख्या दो पर रुकी. ट्रेन किशनगंज से खुलती है, इसलिए एसी बोगी को छोड़ शेष सभी बोगी बंद थे. सोनिया एसी बोगी के निकट अपनी मां के साथ जाकर खड़ी हो गयी. उसने कोच एटेंडेंट विशेश्वर दास, पिता परमेश्वर दास (दिन हाटा कूच बिहार निवासी) से किशनगंज ले चलने का आग्रह किया. लेकिन विशेश्वर ने उसे बुरी तरह से झिड़क दिया. इसी बीच ट्रेन जैसे ही किशनगंज के लिए खुली विशेश्वर ने सोनिया को बोगी के अंदर खींच लिया और अपनी हवस का शिकार बना लिया. पीड़िता बचाव के लिए बोगी के अंदर चीखती-चिल्लाती रही, लेकिन उसकी आवाज ट्रेन की आवाज के नीचे दब कर रह गयी. . जीआरपी ने आरोपी को अपने कब्जे ले लिया है और कार्रवाई के लिए एनजेपी जीआरपी को सौंप दिया. एनजेपी जीआरपी आरोपी युवक से पूछताछ कर रही है. पीड़िता को चिकित्सीय जांच के लिए सिलीगुड़ी मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया है. वहीं मामले की पुष्टि करते हुए एनजेपी जीआरपी के एसएचओ केएस राय ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी.
  
Aug 11 2013 (1:57PM)  न्यू-माल जंक्शन के ढांचे के विकास की मांग (www.jagran.com)
back to top
Other News

News Entry# 144613     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: pappunakhat  107 news posts  
मालबाजार, संवाद सूत्र : डुवार्स के महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन न्यू-माल जंक्शन के ढांचे की विकास की मांग जोर पकड़ने लगी है। गुरुवार को डुवार्स रेल बचाओ कमेटी की ओर से चार सूत्री मांगों को लेकर एनएफ रेलवे के अलीपुरद्वार डिवीजन के डीआररएम को ज्ञापन सौंपा गया। 12 संगठनों के प्रतिनिधि ज्ञापन में शामिल हुए। रेलवे प्रबंधन ने समस्या के समाधान का आश्वासन दिया है। हाल ही में गठित डुवार्स रेल बचाओ कमेटी के संचालक शांतिरंजन भट्टाचार्य, तेज कुमार टोप्पो एवं कल्याण कांति राय ने बताया कि डुवार्स रूट के महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन है न्यू-माल जंक्शन। अलीपुरद्वार जंक्शन व सिलीगुड़ी जंक्शन के बीच यह फीडर स्टेशन है। माल महकमा व पाश्ववर्ती महाड़ी इलाके के लाखों लोग इस स्टेशन पर निर्भर है। शांतिरंजन, तेजकुमार, कल्याण कांति राय ने बताया कि डिब्रुगढ़-यशवंतपुर, कामाख्या-पुरी, कामाख्या-जयपुर आदि ट्रेनों के स्टापेज न्यू-माल जंक्शन में देने की मांग की गई है। यह निर्णय यात्री सेवा के साथ-साथ...
Read more...
पर्यटन के विकास में भी सहायक होगा। न्यू-माल जंक्शन के प्लेटफार्म के शेड को बढ़ाने, पार्किंग जोन व्यवस्था चालू करने, निर्धारित समय सूची के मुताबिक ट्रेन यातायात आदि मांग भी बातचीत में सामने आई है। शांतिरंजन भट्टाचार्य, तेजकुमार टोप्पो ने बताया कि हमारी लंबें समय की मांग है कि न्यू-माल जंक्शन से चेंगड़ाबांधा के बीच यात्री ट्रेन सेवा चालू की जाए। इसमें मालबाजार, नेउड़ा, लाटागुड़ी, मौलानी, मयनागुड़ी, चेंगड़ाबांधा सहित विस्तृत इलाके के जनपदों को लाभ पहुंचेगा, लेकिन इस रूट में ट्रेन सेवा चालू होने को लेकर टालमटोल चल रहा है। इस रूट पर ट्रेन चलाने की मांग भी की गई है। डुवार्स रेल बचाओ कमेटी के कार्यकर्ताओं ने बताया कि ट्रेन व हाथी के बीच संघर्ष की घटना को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाने की आवश्यकता है। साथ ही डुवार्स रूट पर एक्सप्रेस व मेल ट्रेनों को किसी तरह अन्य रूटों में नहीं घुमाया दिया जाए इस विषय को सुनिश्चित करना होगा। एनएफ रेवले के अलीपुरद्वार डिवीजन के डीआरएम वीरेंद्र कुमार ने बताया कि ज्ञापन मिला है। न्यू-माल जंक्शन में लंबी दूरी के ट्रेनों के स्टॉपेज को लेकर समीक्षा की जाएगी। इसके बाद कदम उठाया जाएगा। इसके अलावा स्टेशन के ढांचे का विकास कार्य चल रहा है। डीआरएम ने बताया कि न्यू-माल जंक्शन से चेंगड़ाबांधा तक ट्रेन लाइन अब रेलवे कंस्ट्रक्शन विभाग के अंतर्गत है। इस रूट पर काम के संबंध में कंस्ट्रक्शन विभाग से खबर
  
May 22 2013 (2:43PM)  लंबी दूरी की ट्रेनों में एक एसी कोच अब जवानों के नाम (www.jagran.com)
back to top
Other News

News Entry# 134494     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: pappunakhat  107 news posts  
जागरण संवाददाता, नई दिल्ली : देश के विभिन्न हिस्सों में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के जवानों को ट्रेन से आने-जाने में परेशानी नहीं होगी। पहले जहां ट्रेनों में कुछ सीटें आरक्षित हुआ करती थीं वहीं गृह मंत्रालय के आदेश पर पूरब से पश्चिम तथा उत्तर से दक्षिण की ओर जाने वाली सात ट्रेनों में इनके लिए थर्ड एसी का एक कोच हमेशा के लिए आरक्षित रखने का फैसला लिया गया है।
इन सात ट्रेनों में चार प्रतिदिन चलने वाली ट्रेनें तो तीन साप्ताहिक ट्रेन हैं। व्यवहारिक रूप से गत 16 मई से सभी ट्रेन अतिरिक्त कोच के साथ पटरी पर दौड़ रही हैं। मगर बुधवार को इस सुविधा का औपचारिक रूप से सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के विशेष महानिदेशक दिलीप त्रिवेदी शुभारंभ करेंगे। जम्मू से चेन्नई को जाने वाली अंडमान एक्सप्रेस में थर्ड एसी का जो अतिरिक्त आरक्षित कोच केंद्रीय सशस्त्र
...
Read more...
पुलिस बल के लिए दिल्ली में जोड़ा जाएगा इसे नई दिल्ली प्लेटफार्म पर झंडा दिखा कर त्रिवेदी रवाना करेंगे।
जवानों के लिए विशेष सुविधा लालकिला एक्सप्रेस, अमृतसर कोचिवली एक्सप्रेस, अंडमान एक्सप्रेस, अवध असम व अन्य तीन रेलगाड़ियों में उपलब्ध होगी। कोलकता, जम्मू, गुवाहाटी, दिल्ली, चेन्नई, मैंगलोर, बीकानेर, अमृतसर, कोचिवल्ली, देहरादून से चलने वाली ट्रेनों में अतिरिक्त कोच सिर्फ सशस्त्र पुलिस बल के लिए आरक्षित होगा। बीएसएफ इस विशेष सेवा के लिए नोडल एजेंसी के रूप में काम करेगा। बीएसएफ के अधिकारी बताते हैं चूंकि जवानों को ट्रेन में यात्रा करने के लिए सुविधा तो पहले से मिली हुई है। वह वारंट दिखा टिकट ले सकते हैं। मगर गत कुछ वर्षो से जिस तरह टिकट के लिए मारामारी हो रही है सीआइएसएफ, बीएसएफ, आइटीबीपी व अन्य सशस्त्र पुलिस बल के जवानों को अचानक किसी कारण से अपने घर या अन्य कहीं जाना पड़े तो उसे यात्रा करने में परेशानी होती है। कन्फर्म टिकट मिलने में इस परेशानी को देखते हुए गृह मंत्रालय ने रेलवे से समस्या को निदान करने के इस तरीके के बारे में बताया। नियमित रूप से कोच आरक्षित होने से जवानों को टिकट मिलने में काफी आसानी होगी। रेलवे को इसके लिए प्रतिवर्ष 38 करोड़ रुपये का मंत्रालय भुगतान करेगा।
मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर
  
Feb 26 2013 (10:07PM)  रेल बजट को लेकर लोस में हंगामा, स्थगित (prabhatkhabar.com)
back to top
Other News

News Entry# 122408     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: pappunakhat  107 news posts  
नयी दिल्ली : संप्रग दो सरकार के अंतिम रेल बजट पेश करते समय रेल मंत्री पवन कुमार बंसल को आज लोकसभा में अडचनों का सामना करना पडा क्योंकि सरकार को बाहर से समर्थन दे रही समाजवादी पार्टी तथा विपक्षी दलों ने भारी हंगामा किया. हंगामे के कारण रेल मंत्री अपना बजट भाषण भी पूरा नहीं पढ पाए.
बंसल ने दोपहर 12 बजकर दस मिनट पर अपना रेल बजट भाषण शुरु किया लेकिन एक बजकर करीब 25 मिनट पर विपक्षी दलों के सदस्य बजट के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आसन के समक्ष आ गए और बजट प्रस्तावों को वापस लिए जाने की मांग करने लगे.
सरकार को बाहर से समर्थन दे रही समाजवादी पार्टी के सदस्यों तथा तृणमूल कांग्रेस, अन्नाद्रमुक और जनता दल यू सदस्य रेल बजट की घोषणाओं को अपर्याप्त बताते हुए
...
Read more...
तथा अपने अपने क्षेत्रों की उपेक्षा किए जाने का आरोप लगाते हुए आसन के समक्ष आ गए.
तृणमूल कांग्रेस के सदस्य रेल बजट के प्रस्तावों के खिलाफ नारेबाजी करते देखे गए. उधर, मुख्य विपक्षी दल भाजपा तथा वाम मोर्चा सदस्य भी अपने स्थान पर खडे होकर विरोध क
  
Feb 26 2013 (10:02PM)  67 नयी एक्सप्रेस ट्रेनें,झारखंड के हिस्से में जीरो (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Other News

News Entry# 122400     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: pappunakhat  107 news posts  
नयी दिल्ली : रेल मंत्री पवन कुमार बंसल ने आज लोकसभा में अपना पहला रेल बजट पेश करते हुए 67 नयी एक्सप्रेस गाडियों, 26 सवारी गाडियों, पांच मेमू, आठ डेमू गाडियों का ऐलान किया. रेल मंत्री ने 57 गाडियों का विस्तार करने की घोषणा की. 24 गाडियों के फेरों में बढोतरी की गयी है.
जो नयी एक्सप्रेस गाडियां चलायी जाएंगी, उनके नाम इस प्रकार हैं : 1. अहमदाबाद-जोधपुर एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया समदडी भिलडी 2. अजनी : नागपुर :-लोकमान्य तिलक टी एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया हिंगोली 3. अमृतसर-लालकुआं एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया चंडीगढ
4. बांद्रा टर्मिनस-रामनगर एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया नागदा-मथुरा-कानपुर-लखनऊ-रामपुर? 5. बांद्रा टर्मिनस-जैसलमेर एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया मारवाड जोधपुर 6. बांद्रा टर्मिनस-हिसार एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया अहमदाबाद पालनपुर मारवाड जोधपुर डेगाना 7. ब्रांदा टर्मिनस-हरिद्वार एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया वालसाड 8. बेंगलूरु-मंगलौर एक्सप्रेस साप्ताहिक 9. बठिंडा-जम्मूतवी एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया
...
Read more...
पटियाला राजपुरा 10. भुवनेश्वर-हजरत निजामुददीन एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया संबलपुर
11. बीकानेर-चेन्नई एसी एक्सप्रेस साप्ताहिक
  
Feb 26 2013 (10:01PM)  षेत्रीय असंतुलन बढ़ाने वाला है रेल बजट : नीतीश (www.jagran.com)
back to top
Other News

News Entry# 122398     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: pappunakhat  107 news posts  
रेल बजट की तीखी आलोचना करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह क्षेत्रीय असंतुलन बढ़ाएगा। उनके अनुसार बिहार सहित सभी पिछड़े राज्यों को नजरअंदाज किया गया है। सूबे की लंबित परियोजनाओं पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। पिछले दरवाजे से किराया बढ़ाकर रेल मंत्री ने लोगों की आंखों में धूल झोंका है। रेलवे का पतन दरअसल यूपीए-1 से ही आरंभ हो गया था।
कुमार ने कहा कि जनवरी में किराया बढ़ा दिया, और अब कहते हैं नहीं बढ़ाया है। पिछले दिनों मैं बिहार की दो परियोजनाओं-दीघा एवं मुंगेर रेल पुल, के सिलसिले में रेल मंत्री पवन कुमार बंसल से मिला था। बजट में इन पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। रेल मंत्री पूरक बजट की बात कर रहे हैं। यह तो तब होता है जब राशि खर्च हो जाती है। यह सरप्लस बजट नहीं, बल्कि वित्तीय कुप्रबंधन की निशानी
...
Read more...
है। रेलवे सेफ्टी पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। चाहे नई रेल लाइन बिछाने की बात हो या अन्य काम, रेलवे के टारगेट को ही घटा दिया गया है। बंसल ने परंपरा को तोड़ते हुए बिना वित्त आयोग एवं योजना आयोग की स्वीकृति के नई योजनाओं की घोषणा की है। यह गलत परिपाटी की शुरुआत है। कई योजनाओं को पीपीपी मोड में शुरू करने का एलान किया है। हम भी रेल मंत्री थे। पैसा नहीं रहने पर राशि का इंतजाम करते थे। अब तो केंद्
  
Feb 26 2013 (10:00PM)  रेल बजट में बिहार की घोर उपेक्षा : लालू (www.jagran.com)
back to top
Other News

News Entry# 122397     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: pappunakhat  107 news posts  
राजद सुप्रीमो व पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद ने कहा कि रेल बजट में बिहार की घोर उपेक्षा हुई है। रेल मंत्री पवन बंसल ने जनता का हाथ मरोड़कर पैसा वसूल लिया। लालू के मुताबिक रेल भाड़ा में 40 रुपये तक की अद्भुत वृद्धि हुई है।
मंगलवार को लोकसभा में पेश रेल बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि हमने अपने रेल मंत्रित्वकाल में रेलवे को घाटे से उबारकर ऊंचाई पर पहुंचाया था। यह स्थिति बदल गई। हमलोग बिहार के लिए भीख नहीं मांग रहे हैं, बल्कि रेलवे की परियोजनाओं के लिए राशि मिलनी चाहिए थी। उनके मुताबिक रेल मंत्री ने अपने बजट भाषण में बिहार के रेलवे प्रोजेक्ट पर एक शब्द भी नहीं बोला। मधेपुरा, मढ़ौरा, डेहरी आन सोन, दीघा रेल पुल सहित नई रेलवे लाइन के लिए कोई राशि की व्यवस्था नहीं की गई। लालू ने
...
Read more...
कहा कि रेल मंत्री मात्र पैसा बटोर रहे हैं।
  
Feb 26 2013 (9:58PM)  बिहार के साथ अब तक की सर्वाधिक नाइंसाफी : मोदी (www.jagran.com)
back to top
Other News

News Entry# 122395     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: pappunakhat  107 news posts  
पमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने रेल बजट को जनता की दशा बिगाड़ने वाला करार दिया है। इसमें बिहार की उपेक्षा पर असंतोष जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि आजादी के बाद शायद ही किसी रेल मंत्री ने बिहार के साथ इतनी नाइंसाफी की होगी। ऐसे में यूपीए-2 को भी अपना समर्थन जारी रखने वाले दो पूर्व बिहारी रेल मंत्रियों लालू प्रसाद एवं रामविलास पासवान को बिहार की जनता को बताना चाहिए कि अब भी उनका मन कांग्रेस से भरा या नहीं?
मोदी के अनुसार अपने कार्यकाल में लालू प्रसाद ने थावे को रेल मंडल बनाने तथा बिहटा-बारूल रेल परियोजना की घोषणा की थी, उनका क्या हुआ, लालू प्रसाद को बताना चाहिए। आज रेल मंत्री ने अपने बजट भाषण में वर्ष 2013-14 के लिए लंबित कुल रेल परियोजनाओं की संख्या 136 बताई में उसमें बिहार की सिर्फ एक परियोजना हाजीपुर-रामदयालुनगर रेल-दोहरीकरण शामिल
...
Read more...
की गई है। 67 नई ट्रेनों में 6 बिहार से जुड़ी बताई गई हैं। उनमें भी 5 ट्रेनें साप्ताहिक हैं और अधिकतर गाड़ियां बिहार के कम इलाके से गुजरने वाली हैं। रेल सर्वे में बिहार की एक भी परियोजना को शामिल न कर रेल मंत्री न साफ संकेत दिया है कि कांग्रेस सत्ता में काबिज रही तो बिहार को आने वाले वर्षो में भी रेलवे से कुछ हासिल नहीं होने वाला है। मोदी ने कहा कि रेल मंत्री के आज के वक्तव्य से जाहिर हो गया कि रेलवे की माली हालत दयनीय है। ऐसे में रेलवे के नए कल-कारखाने समृद्ध राज्यों में ही स्थापित हो पाएंगे। बिहार जैसे गरीब राज्य उपेक्षित रह जाएंगे। रेल फुट ओव
  
Dec 24 2012 (11:34AM)  बिहार की ओर कब देखेंगे रेल मंत्री! (prabhatkhabar.com)
back to top
Other News

News Entry# 111051     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: pappunakhat  107 news posts  
पटना: बिहार से रेल मंत्री का पद क्या गया, पूर्व मध्य रेल की सभी योजनाएं बेपटरी हो गयीं. बिहारी कोटे के रेलमंत्रियों ने अपने कार्यकाल में 52 हजार करोड़ की योजनाएं स्वीकृत कीं. रेल बजट में इन योजनाओं की घोषणाएं की गयी थीं.
संसद में इसे पास भी कराया गया, लेकिन बिहारी कोटे से रेलमंत्री का पद गया कि इस ओर रेल मंत्रलय ने इन योजनाओं से मुंह फेर लिया. बड़ी-बड़ी परियोजनाओं की कौन कहे, यात्री सुविधाओं के लिए छोटी-मोटी योजनाओं पर भी काम नहीं किया गया.
पूर्व मध्य रेल में पटना जंकशन को ए वन ग्रेड का दर्जा प्राप्त है. पटना के साथ ही गया को वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाने की घोषणा की गयी. ये घोषणाएं आज किसी फाइलों में धूल फांक रही हैं. हद तो यह कि अन्य स्टेशनों की
...
Read more...
कौन कहे, पटना जैसे स्टेशनों पर भी ट्रेनों के आने-जाने की सूचना देनेवाला डिस्प्ले या ट्रेन इंडिकेटर बोर्ड पूरी तरह ध्वस्त हो चुके हैं.
मधेपुरा व मढ़ौरा की परियोजनाओं को पहले पीपीपी मोड पर बनाने की बात कही गयी. फिर इसे रेलवे मंत्रलय के स्तर पर बनाने पर सहमति बनी. लेकिन, बिहारी कोटे के रेलमंत्री का पद जाते ही इसे फिर से पीपीपी मोड में बनाने की बात कह ठंडे बस्ते में डाल दिया गया. रेल मंत्रलय की उदासीनता का ही परिणाम है कि पूमरे की कई परियोजनाएं लंबी अवधि में बन कर तैयार हो चुकी हैं, पर उसे चालू नहीं किया जा सका है. पूमरे प्रशासन रेलवे बोर्ड के आलाधिकारी या मंत्री के आदेश का प्रतीक्षा कर रहा है कि इसे कब चालू किया जाये.
Page#    107 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site